GLIBS
01-08-2020
गोधन न्याय योजना के तहत पशुपालकों को 5 अगस्त तक भुगतान की तैयारियों का जायजा लिया कलेक्टर भीम सिंह ने

रायपुर/रायगढ़। खरसिया क्षेत्र के प्रवास के दौरान ग्राम-जोबी में आदर्श गोठान और बाड़ी का कलेक्टर भीम सिंह ने निरीक्षण किया। गोधन न्याय योजना के तहत 20 जुलाई से 1 अगस्त  तक किसानों और पशुपालकों से क्रय किए गए गोबर का भुगतान 5 अगस्त को किये जाने वाली तैयारियों का जायजा लिया।कलेक्टर सिंह ने बाड़ी में आम का पौधा लगाया और बाड़ी में लगाये गये जीमी कांदा के पौधों का निरीक्षण किया। उन्होंने अधिकारियों को निर्देशित किया कि ग्रामीण क्षेत्र में रहने वाले ऐसे व्यक्ति और किसान जिनके पास बाड़ी विकसित किये जाने की जगह है उन्हें बाड़ी में लगाये जाने वाले फल व सब्जी के बीज उपलब्ध करावे। शासन की ओर से प्रदान की जाने वाली सभी सुविधाओं का लाभ दिलावे।
कलेक्टर सिंह ने ग्राम जोबी में निवास करने वाले कुल परिवारों की संख्या तथा कुल पशुओं की संख्या के बारे में जानकारी प्राप्त किया और गौठान में आने वाले पशुओं की भी जानकारी प्राप्त की। उन्होंने कुल पशुओं की संख्या की तुलना प्रतिदिन गोबर खरीदी की मात्रा को बहुत कम बताया, गोबर खरीदी की मात्रा बढ़ाने के लिए पशुपालकों को प्रेरित करने और गोठान से पशुपालकों के घरों की दूरी ज्यादा होने की स्थिति में बैलगाड़ी, रिक्शा या अन्य वैकल्पिक व्यवस्थाओं से गोबर गौठान में प्रतिदिन मंगाने के निर्देश दिये।

इस व्यवस्था से कम से कम एक स्थानीय व्यक्ति को रोजगार उपलब्ध होगा और उसे 25 पैसे प्रति किलो गोबर की दर से भुगतान प्राप्त होगा। कलेक्टर सिंह ने गोठान के चरवाहा अतुल सिंह और उसके सहयोगी को गौठान में आने वाले पशुओं का गोबर एकत्र करने और उसकी तौल कराकर अपने नाम से दर्ज करवाने की समझाइश देकर बताया कि उसे प्रतिमाह 6 से 8 हजार रुपए तक की अतिरिक्त आमदनी हो सकती है। कलेक्टर सिंह ने गोठान में गोबर को व्यवस्थित ढंग से रखने और अतिरिक्त पिट का तत्काल निर्माण प्रारंभ करने के निर्देश दिये।कलेक्टर सिंह ने ग्राम सरपंच, गोठान समिति के अध्यक्ष और सदस्यों से उनकी समस्याओं के बारे में पूछताछ की और स्थानीय युवाओं और युवतियों को गोठान समिति में जोडऩे के निर्देश दिये। उन्होंने ग्राम वासियों की मांग पर स्वच्छ पेयजल उपलब्ध कराने एसडीएम को निर्देशित किया और गांव के स्थानीय निवासी विकलांग व्यक्ति को शासन की ओर से प्राप्त होने वाली सहायता राशि व पेंशन तत्काल स्वीकृत करने और भुगतान करने के निर्देश दिये।

कलेक्टर सिंह ने अपने प्रवास के दौरान खरसिया क्षेत्र के ग्राम-चोढ़ा में 14 करोड़ 34 लाख रूपये की लागत से निर्माणाधीन आदर्श आदिवासी छात्रावास (500 बालक/बालिकाओं ) भवन का निरीक्षण किया और निर्माण एजेंसी को भवन में फिनिशिंग का कार्य शीघ्र पूरा करने। और भवन हेण्डओव्हर करने के निर्देश दिये। उन्होंने आदिवासी विभाग के अधिकारियों को आदिवासी छात्रों का प्रवेश पूर्ण करने के भी निर्देश दिये। कलेक्टर सिंह ने ग्राम चोढ़ा में निर्माणाधीन धान चबूतरा के निर्माण की प्रगति का भी जायजा लिया और संबंधित अधिकारियों को शासकीय अभिलेख में समिति का नाम सुधारने के भी निर्देश दिये। इस अवसर पर जिला पंचायत रायगढ़ के अतिरिक्त मुख्य कार्यपालन अधिकारी बी.तिग्गा, एसडीएम, जनपद पंचायत सीईओ सहित कृषि, पशुपालन और राजस्व विभाग के अधिकारी उपस्थित थे।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804