GLIBS
23-11-2020
अब तक कोरिया जिले के 3190 लोगों ने दी कोरोना को मात

कोरिया। कोविड-19 के संक्रमण से रोकथाम एवं बचाव के लिए जिला प्रशासन सतत रूप से प्रयासरत है। कलेक्टर एसएन राठौर के मार्गदर्शन में स्वास्थ्य विभाग द्वारा अथक मेहनत करते हुए मरीजों का उपचार किया जा रहा है। इसी का परिणाम है कि कोरिया जिले के 3190 लोगों ने कोरोना को मात दे दी है। वहीं कलेक्टर के निर्देश पर जिले के स्वास्थ्य विभाग द्वारा प्रतिदिन मेडिकल बुलेटिन जारी किया जा रहा है। इसके अनुसार कुल 20 कोरोना मरीज स्वस्थ होकर डिस्चार्ज किये गये हैं। इसमें से 2 मरीज कोविड हास्पिटल तथा 18 मरीज होम आइसोलेशन में थे। जिले में अब तक कुल 3642 कोरोना पाजीटिव मरीजों की पहचान की गई है। वहीं आज की स्थिति में कुल 1073 सैंपल कलेक्शन किया गया,जिसमें कुल 23 एक्टिव केस की पहचान की गई है, तथा जिले में 201 एक्टिव केस का इलाज जारी है। साथ ही 188 मरीजों का होम आइसोलेशन में उपचार किया जा रहा है। कोविड अस्पताल, बैकुण्ठपुर में 100 बेड एवं 7 आईसीयू, एचडीयू 10 आईसीयू, 6 वेंटीलेटर उपलब्ध हैं।

आज की स्थिति में यहां भर्ती मरीजों की संख्या 13 तथा 87 बेड उपलब्ध हैं। इसी तरह एसईसीएल हास्पिटल, चरचा में बेड की संख्या 50 है। यहां भर्ती मरीजों की संख्या 0 तथा 50 बेड उपलब्ध हैं। होम आइसोलेट किए गए कोरोना संक्रमित मरीजों को स्वास्थ्य विभाग के द्वारा निशुल्क होम केयर आइसोलेशन किट का वितरण किया जा रहा है। साथ ही मरीजों से वीडियो कॉल के जरिए बातचीत कर उनकी देख-रेख की जा रही है। उल्लेखनीय है कि जिले में लगातार कोरोना सर्वे भी संचालित जारी रखा गया है। जिले में अब तक जिले में आरटीपीसीआर के द्वारा 11138, ट्रूनाट के द्वारा 6781 तथा रैपिड एंटिजन के द्वारा 39223 टेस्ट किये जा चुके हैं। स्वास्थ्य विभाग द्वारा कोरोना मरीजो को लाने के लिए एंबुलेंस की सुविधा भी दी जा रही है।

 

11-11-2020
दो नवजातों ने दी कोरोना को मात, एम्स के डॉक्टरों के प्रयास से हुए स्वस्थ

रायपुर। नवजात शिशुओं ने कोरोने को मात दी है। दोनों शिशु पैदा होने के तुरंत बाद पॉजिटिव पाए गए थे। एम्स के डॉक्टरों के अथक प्रयास से दोनों शिशु संक्रमण से मुक्त हुए। एम्स ने उन्हें डिस्चार्ज कर दिया। अस्पताल प्रबंधन से मिली जानकारी के अुनसार ने दोनों कोरोना पॉजिटिव गर्भवतियों को एम्स में भर्ती किया गया था। स्त्री रोग विभाग के चिकित्सकों ने डॉ.सरिता अग्रवाल के निर्देशन में इनका प्रसव कराया। राजधानी निवासी 23 वर्षीय महिला का सामान्य प्रसव हुआ। जन्म के दूसरे दिन शिशु कोरोना पॉजिटिव आया,जिसके बाद उसे आईसीयू में शिफ्ट किया गया था।डॉ.फाल्गुनी पाढ़ी और बाल रोग विभागाध्यक्ष डॉ.एके गोयल के निर्देशन में शिशु का उपचार किया गया।

शिशु को शुरुआत में बुखार था और सामान्य रूप से दूध नहीं पी पा रहा था। शिशु को आक्सीजन सपोर्ट की आवश्यकता पड़ी। लगातार 10 दिनों तक चिकित्सकों की निगरानी में उपचार पाने के बाद शिशु को कोरोना से मुक्त हुआ। 14 दिन बाद शिशु को डिस्चार्ज कर दिया गया है।एक अन्य केस में गरियाबंद निवासी 29 वर्षीय महिला का प्रसव हुआ। शिशु कोरोना पॉजिटिव पाया गया। इसे भी तीन दिन तक आक्सीजन सपोर्ट पर रखा गया। चिकित्सकों की टीम ने  उपचार किया और सात दिन बाद डिस्चार्ज कर दिया गया।

 

07-10-2020
छत्तीसगढ़ में 1 लाख से अधिक मरीजों ने दी कोरोना को मात,अब प्रदेश की रिकवरी दर 78 प्रतिशत

रायपुर। छत्तीसगढ़ में कोरोना संक्रमित मरीज तेजी से स्वस्थ हो रहे हैं। राज्य शासन की ओर से संचालित कोविड अस्पतालों, कोविड केयर सेंटर्स, निजी अस्पतालों और होम आइसोलेशन में इलाज के बाद स्वस्थ होने वाले मरीजों की संख्या 1 लाख से अधिक हो गई है। प्रदेश में अब तक 1 लाख 551 मरीज कोरोना को मात दे चुके हैं। इनमें विभिन्न अस्पतालों और कोविड केयर सेंटर्स में ठीक हुए 57 हजार 998 और होम आइसोलेशन में उपचार के बाद स्वस्थ हुए 42 हजार 553 मरीज शामिल हैं। कोरोना की जंग जीतने वाले मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ने के कारण अब प्रदेश की रिकवरी दर 78 प्रतिशत हो गई है। मृत्यु दर 0.86 प्रतिशत है। कोविड-19 से होने वाली मौतों का राष्ट्रीय औसत 1.55 प्रतिशत और रिकवरी दर 85 प्रतिशत है।

प्रदेश में सर्वाधिक रायपुर जिले में 25 हजार 853 मरीजों ने कोरोना को मात दी है। दुर्ग में दस हजार 199, बिलासपुर में 7673, राजनांदगांव में 7152, रायगढ़ में 6213, जांजगीर-चांपा में 4328, बलौदाबाजार-भाटापारा में 3221, बस्तर में 2743, कोरबा में 2688, धमतरी में 2545, सरगुजा में 2240, महासमुंद में 2196, दंतेवाड़ा में 2150, बालोद में 2109 और कबीरधाम में 2057 मरीज कोरोना से स्वस्थ हुए हैं।कांकेर जिले में 1823, बीजापुर में 1758, सुकमा में 1619, सूरजपुर में 1555, कोरिया में 1444, गरियाबंद में 1421, मुंगेली में 1376, बेमेतरा में 1368, कोंडागांव में 1231, नारायणपुर में 1226, जशपुर में 971, बलरामपुर-रामानुजगंज में 949 तथा गोरेला-पेंड्रा-मरवाही में 302 लोगों ने कोरोना पर विजय प्राप्त की है। प्रदेश में वर्तमान में सक्रिय मरीजों की संख्या 27 हजार 238 है।

06-10-2020
देश में 61267 नए मरीज, अब तक 56 लाख 62 हजार से ज्यादा संक्रमितों ने दी कोरोना को मात

नई दिल्ली। देश में कोरोना संक्रमण का प्रकोप लगातार बढ़ता ही जा रहा है। पिछले 24 घंटों में कोविड-19 के 61,267 नए मामले सामने आए और 884 लोगों की मौत हुई। केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय की ओर से मंगलवार को जारी आंकड़ों के मुताबिक पिछले 24 घंटों में 75,787 कोरोना संक्रमितों के स्वास्थ्य में सुधार हुआ, जिन्हें विभिन्न अस्पतालों से छुट्टी दे दी गई। देश में अब तक 56,62,490 मरीजों ने कोरोना को मात दी है। इसी अवधि में 61,267 लोगों के कोरोना से संक्रमित होने की पुष्टि होने के बाद संक्रमण का आंकड़ा 66,85,082 हो गया।

इससे पहले रविवार को 82,259 कोरोना मरीज स्वस्थ हुए थे जबकि संक्रमण के 75,829 मामले आए थे। इसी तरह सोमवार को रिकवरी और संक्रमण के मामलों की संख्या क्रमश: 76,737 और 74,442 रही। पिछले 24 घंटों में 884 संक्रमित अपनी जान गंवा बैठे और इस बीमारी से मरने वालों की संख्या 1,03,569 हो गई है। कोरोना संक्रमण के नए मामलों में कमी आने के कारण सक्रिय मामले 15,404 घटकर 91,90,23 हो गए। देश में अभी सक्रिय मामलों का प्रतिशत 13.75 और रोगमुक्त होने वालों की दर 84.70 प्रतिशत है जबकि मृत्यु दर 1.55 फीसदी रह गई है।

20-09-2020
Breaking : विकास निकले खुली गाड़ी में जनता से अपील करने, कहा-मिलकर कोरोना को देंगे मात

रायपुर। संसदीय सचिव व विधायक विकास उपाध्याय रविवार को खुली गाड़ी में सवार होकर निकले हैं। वे रायपुर में लागू होने जा रहे लॉक डाउन को सफल बनाने जनता से अपील कर रहे हैं। खुली गाड़ी में सवार होकर लाउडस्पीकर में एलाउंस कर वे जनता से कोरोना की चेन को तोड़ने में सहभगिता निभाने की अपील कर रहे हैं। विकास उपाध्याय 21 सितंबर रात 9.00 बजे से लेकर 28 सितंबर तक लागू होने वाले सम्पूर्ण लॉक डाउन का पालन कराने रविवार सुबह से सोमवार तक शहर भर में घूमेंगे। उन्होंने कहा है कि, बढ़ते संक्रमण की गति को कम करने जनता का साथ जरूरी है। इसलिए जनता के समक्ष आकर अपील कर रहे हैं।

18-08-2020
प्रदेश में अब तक 10,598 मरीजों ने दी कोरोना को मात, पिछले एक सप्ताह में 1581 मरीज डिस्चार्ज

रायपुर। कोविड-19 के बढ़ते मामलों के बीच राहत की भी खबर है। प्रदेश के विभिन्न कोविड अस्पतालों और आइसोलेशन सेंटर्स (कोविड केयर सेंटर्स) से पिछले एक सप्ताह में 1581 मरीजों को स्वस्थ होने के बाद डिस्चार्ज किया गया है। वहीं प्रदेश में अब तक कुल दस हजार 598 मरीज कोरोना को मात दे चुके हैं। इनमें से 3296 मरीज रायपुर जिले के हैं। पिछले एक हफ्ते में रायपुर जिले से 620, राजनांदगांव से 153, बिलासपुर से 127, दुर्ग से 95 और जांजगीर-चांपा जिले से 53 मरीज स्वस्थ होकर अपने घर लौट चुके हैं। अस्पताल से घर लौटने वाले मरीजों को सावधानीपूर्वक दस दिनों के होम आइसोलेशन में रहने कहा गया है। राज्य शासन द्वारा कोविड-19 पर नियंत्रण के लिए लगातार जांच और इलाज की सुविधाओं का विस्तार किया जा रहा है। सरकार द्वारा तत्परता से उठाए जा रहे कदमों की वजह से रोज बड़ी संख्या में मरीज स्वस्थ होकर घर लौट रहे हैं।

कोरोना संक्रमितों की पहचान के लिए सभी जिलों में सैंपल जांच की संख्या लगातार बढ़ाई जा रही है। रोजाना दस हजार से अधिक सैंपलों की जांच की जा रही है। राज्य में अब तक दस हजार 598 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं। इनमें रायपुर जिले के 3296, राजनांदगांव के 888, दुर्ग के 865, बिलासपुर के 788, जांजगीर-चांपा के 526, बलौदाबाजार-भाटापार के 428, कोरबा के 421, रायगढ़ के 291, जशपुर के 266, कांकेर के 260, सरगुजा के 252, बलरामपुर-रामानुजगंज के 245 तथा बस्तर के 231 मरीज शामिल हैं। कोविड अस्पतालों और कोविड केयर सेंटर्स में इलाज के बाद कबीरधाम जिले के 192, मुंगेली के 174, नारायणपुर के 172, महासमुंद के 171, दंतेवाड़ा के 144, बेमेतरा और कोरिया के 138-138, गरियाबंद के 118, कोंडागांव के 109, बालोद के 108, सूरजपुर के 101, सुकमा के 91, बीजापुर के 86, धमतरी के 62 और गौरेला-पेंड्रा-मरवाही के 31 मरीज पूर्णतः स्वस्थ हो चुके हैं। प्रदेश में वर्तमान में कोविड-19 की मृत्यु दर 0.94 प्रतिशत एवं रिकवरी दर 66.14 प्रतिशत है, जबकि इनका राष्ट्रीय औसत क्रमशः 1.93 प्रतिशत और 72.51 प्रतिशत है।

 

30-07-2020
कोविड केयर सेंटर से देंगे कोरोना को मात, सैनिटाइजिंग के साथ तैयार हुआ अस्पताल

भिलाई। कचांदूर स्थित कोविड केयर सेंटर से कोरोना को मात दी जाएगी। जिले में बढ़ते हुए संक्रमण को ध्यान में रखते हुए जिला और निगम प्रशासन ने कचांदुर स्थित चंदूलाल चंद्राकर मेडिकल काॅलेज और हाॅस्पिटल परिसर को महज चंद दिनों में कोविड केयर सेंटर बनाया है। आज नगर पालिक निगम की टीम ने मेडिकल काॅलेज और हाॅस्पिटल बिल्डिंग के एक-एक वार्ड को सैनिटाइज किया। कलेक्टर डाॅ़.सर्वेश्वर नरेन्द्र भुरे और निगम आयुक्त ऋतुराज रघुवंशी के निर्देश के मुताबिक कोविड केयर सेंटर में बाहरी एवं अन्य लोगों की आवाजाही पर रोक लगाने के लिए बेरिकेटिंग एवं पार्टीशन कर सुरक्षा व्यवस्था बनाई गई। बहुत जल्द यहां कोविड-19 के मरीजों को रखा जाएगा। कोरोना के संक्रमण को रोकने के लिए हास्पिटल परिसर में कई जगहों पर टचलेस सेंसरयुक्त हैंड सैनिटाइजर मशीन लगाई गई है। इसी प्रकार शुद्ध पानी के लिए हर वार्ड में नया आरओ मशीन, टायलेट की अच्छी तरह से सफाई के लिए फ्लश लगाया गया है। इन कार्यों का निगम आयुक्त श्री ऋतुराज रघुवंशी, अधीक्षण अभियंता सत्येन्द्र सिंह, उपायुक्त तरूण पाल लहरे ने निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान जोन आयुक्त पूजा पिल्ले, स्वास्थ्य अधिकारी धर्मेन्द्र मिश्रा, सहायक स्वास्थ्य अधिकारी जावेद अली सहित मौजूद थे।

 

05-07-2020
राहत : देश में चार लाख से अधिक मरीजों ने दी कोरोना को मात,रिकवरी रेट 60.77 प्रतिशत, छत्तीसगढ़ का 80.6 फीसदी

नई दिल्ली। देश में कोरोना वायरस कोविड-19 संक्रमण से मुक्त होने वाले मरीजों की संख्या अब चार लाख के पार पहुंच गई है, जिससे रिकवरी दर 60.77 प्रतिशत हो गई है।केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने रविवार को बताया कि देश में फिलहाल कोरोना संक्रमण के 2,44,814 सक्रिय मामले हैं और 4,09,082 कोरोना संक्रमित मरीज अब तक पूरी तरह ठीक हो चुके हैं, जिससे संक्रमण मुक्ति दर 60.77 प्रतिशत हो गई है। पिछले 24 घंटे में 14,856 कोरोना संक्रमित रोगमुक्त हुए हैं। संक्रमण मुक्त मरीजों और सक्रिय मामलों का फासला बढ़कर अब 1,64, 268 हो गया है। हालांकि पिछले तीन दिन से देश में प्रतिदिन 20,000 से अधिक व्यक्ति कोरोना संक्रमण की चपेट में आ रहे हैं ।
कोरोना संक्रमितों की पहचान के लिए जांच सुविधा उपलब्ध कराने वाले लैब की संख्या भी लगातार बढ़कर 1,100 हो गई है,जिससे नमूना जांच की गति भी तेजी हुई है। देश में अब तक 97,89,066 नमूनों की जांच की जा चुकी है।
देश में सर्वाधिक 85.9 प्रतिशत रिकवरी दर चंडीगढ़ की है। इसके बाद लद्दाख 82.2 प्रतिशत, उत्तराखंड 80.9 प्रतिशत, छत्तीसगढ़ 80.6 प्रतिशत, राजस्थान 80.1 प्रतिशत, मिजोरम 79.3 प्रतिशत, त्रिपुरा 77.7 प्रतिशत, मध्यप्रदेश 76.9 प्रतिशत, झारखंड 74.3 प्रतिशत और बिहार की रिकवरी दर 74.2 प्रतिशत है।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804