GLIBS
29-06-2020
जम्मू-कश्मीर : आतंकियों से मुक्त हुआ डोडा जिला, अनंतनाग में तीन आतंकी ढेर

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर में आतंकियों की शामत आ चुकी है। त्राल के बाद डोडा डिस्ट्रिक्ट को सुरक्षाबलों ने आतंकियों से मुक्त कर दिया है। कश्मीर में आतंक का गढ़ माने जाने वाले त्राल सेक्टर के बाद अब भारतीय सुरक्षाबलों को डोडा जिले में बड़ी कामयाबी हासिल की है। सोमवार को सुरक्षाबलों ने अनंतनाग जिले के खुलचोहर में सोमवार तड़के हिजबुल मुजाहिदीन के तीन आतंकियों को ढेर कर दिया, जिसमें एक कमांडर भी शामिल है। सुरक्षा बलों और जम्मू-कश्मीर पुलिस के संयुक्त अभियान में इन आतंकवादियों को मार गिराया गया है। मारे गए आतंकवादियों के पास से एक एके राइफल और दो पिस्तौल बरामद हुई है। जम्मू-कश्मीर के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) दिलबाग सिंह ने कहा कि हिजबुल मुजाहिदीन (एचएम) के कमांडर मसूद को एनकाउंटर में ढेर कर दिया है, जिसके बाद से डोडा पूरी तरह से 'आतंकवादी मुक्त' जिला बन गया है

सिंह ने कहा ने कहा कि स्थानीय आरआर यूनिट के साथ पुलिस ने अनंतनाग के खुलचोहर क्षेत्र में आज के ऑपरेशन को अंजाम दिया। इसमें एक जिला कमांडर और एक एचएम कमांडर मसूद सहित 2 लश्कर-ए-तैयबा के आतंकवादियों को ढेर कर दिया और जम्मू का डोडा जिला पूरी तरह से एक बार फिर से आतंकवाद मुक्त हो गया। डीजीपी ने कहा कि डोडा जिले का रहने वाला मसूद बलात्कार के मामले में आरोपी था और वह तब से फरार चल रहा था। वह बाद में हिजबुल मुजाहिदीन में शामिल हो गया था और ऑपरेशन के क्षेत्र को कश्मीर में स्थानांतरित कर दिया था। 

इससे पहले त्राल को किया था आतंक मुक्त :

जम्मू-कश्मीर के त्राल क्षेत्र से सुरक्षाबलों ने 26 जून को एक ऑपरेशन में हिजबुल मुजाहिदीन के तीन आंतवादियों को ढेर कर दिया था। कश्मीर पुलिस के आईजीपी ने इसकी जानकारी देते हुए कहा कि त्राल क्षेत्र से हिजबुल मुजाहिदीन के आंतवादियों का खात्मा हो गया और 1989 के बाद ऐसा पहली बार हुआ है।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804