GLIBS
08-09-2020
विकास उपाध्याय प्रदेश के पहले 'फीवर क्लीनिक' का कल करेंगे शुभारंभ,एलईडी से लैस 5 गाड़ियां करेंगी लोगों को जागरुक  

रायपुर।। संसदीय सचिव विकास उपाध्याय रायपुर में बढ़ते कोविड-19 संक्रमण से बचाव के लिए हर स्तर पर इसे रोकने काम कर रहे हैं। उन्होंने मंगलवार को 5 एलईडी से लैस 5 गाड़ियों की जागरुकता लाने झंडी दिखाकर शुरुआत की। विकास उपाध्याय पूरे प्रदेश में पहले फीवर क्लीनिक की शुरुआत अपने विधानसभा से बुधवार से करने जा रहे हैं। इस क्लीनिक में कोविड-19 के प्रारंभिक लक्षण से संबंधित जांच कर मुफ्त में दवाई का वितरण किया जाएगा। इसकी शुरुआत पहले 2 वार्डों से की जा रही है,इसके बाद मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से इसके सार्थक परिणाम की चर्चा कर पूरे वार्डों में शुरुआत करने की योजना है। इस क्लीनिक में सर्दी,जुकाम व बुखार की जांच की जाएगी। विकास उपाध्याय ने ई-रिक्शा के माध्यम से आयुर्वेद काढ़ा वितरण का काम भी सोमवार से ही शुरू कर दिया है। उन्होंने कहा कि इस क्लीनिक में प्रारंभिक जांच से कोई व्यक्ति संक्रमित है या संक्रमित होने की स्थिति में आ गया है,उसे बुखार या सर्दी जुकाम है,पता चलने पर दवाई दी जाएगी। सामान्य व्यक्ति जिसे थोड़ी भी अपनी शारीरिक स्वस्थता को लेकर बदलाव महसूस कर रहा है वह इस क्लिनिक में आकर दवाई मुफ्त में ले सकता है।

विकास उपाध्याय ने कहा कि सरदार वल्लभ भाई पटेल वार्ड क्रमांक 25 के साहू भवन और ठक्कर बापा वार्ड क्रमांक17 कर्मा विद्यालय, दीक्षा नगर, गुढ़ियारी में क्लिनिक की शुरुआत की जा रही है। इसकी सारी तैयारियां पूर्ण कर ली गई हैं। इस फीवर क्लीनिक में वार्ड का कोई भी व्यक्ति जिसे बुखार, सर्दी जुकाम की आशंका हो आवश्यक जांच कराकर संक्रमण को रोकने जरूरी दवाई ले सकता है। अपने तरह के इस  फीवर क्लीनिक में जांच को लेकर लैब के साथ आक्सीमीटर, थमार्मीटर, पीपीई कीट और इसके रोकथाम के लिए आवश्यक दवाईयां पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध रहेंगी। इस क्लीनिक में आने वाले सभी व्यक्तियों की जांच करने विशेषज्ञ, चिकित्सक और लैब टैक्निशियन मौके पर ही पूरे समय उपलब्ध रहेंगे। विकास उपाध्याय ने कहा कि उन सभी व्यक्तियों को इसका लाभ मिलेगा, जिनकों यह शिकायत है कि उनकी शिकायतों पर स्वास्थ्य विभाग ध्यान नहीं देता। संबंधित चिकित्सक किसी तरह की जांच करने से बचते हैं। इस तरह के जांच से प्रारंभिक लक्षण वाले मरीजों को चिन्हांकित करने मदद मिलेगी, जिन्हें आवश्यक संक्रमण पूर्व दवाई के आवश्यक डोज देकर रोकने का प्रयास किया जाएगा। उन्होंने कहा कि, इसके सार्थक परिणाम आते हैं, तो मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को रिपोर्ट प्रस्तुत कर पूरे 70 वार्डों में इसकी शुरुआत अविलंब की जाएगी।

 

27-06-2020
वेनटिलेटर पर जा पहुंची पालिका को 6 माह में संसाधनों से किया लैस : प्रकाश चन्द्राकर

महासमुंद। नगर पालिका अध्यक्ष प्रकाश चन्द्राकर ने आज पुराना रेस्ट हाऊस में पालिका के सभी पार्षदों, सभापतियों के साथ अपने 6 महीने के कार्यकाल में शहर की सबसे बड़ी समस्या पेयजल आपूर्ति को स्थाई रूप से समाप्त करने में कामयाबी सहित शहर में कराये अन्य विकास कार्यों को पूरे परिषद की कामयाबी बताया।प्रेसवार्ता में चन्द्राकर ने कहा कि 1 जुलाई  से पूर्व निर्धारित समय सुबह साढ़े 6 और शाम साढ़े 5 बजे दो समय पेयजल सप्लाई किया जाएगा। इन 6 महीनों में ही 2 करोड़ के विकास कार्यों को मूर्त रूप दिया गया। इन 6 महीनों में 2 करोड़ रूपए शहर के विकास में खर्च किया गया है। इनमें एक करोड़ 3 लाख रुपए से विभिन्न वार्डों में कांक्रीटीकरण सड़क बनाया गया है। 22 लाख से नाली निर्माण किया गया। इसी प्रकार अलग अलग वार्ड में करीब 25 लाख के पेवर ब्लॉक बिछाई जा रही है। इस गर्मी में पार्षद निधि के 20 लाख से बोर खनन किया गया। वहीं मोटरपंप, पाइपलाइन, संपवेल, 5 हजार लीटर के 10 और 25 सौ लीटर के 8 टंकी में करीब 30 लाख रुपए खर्च किएं गए हैं। पालिका अध्यक्ष ने बताया कि प्रति वर्ष टैंकर से पानी सप्लाई में पालिका द्वारा 20 लाख रुपए का व्यय किया जाता था, लेकिन इस साल  संसाधनों से नगर पालिका को लैस किया और तीन महीने की गर्मी में 20 लाख रुपए की खर्च को बचाने का स्थाई विकल्प चुना गया। नागरिकों को तीन समय पानी देने में कामयाबी हासिल की। इस काम को करने में चुनौतियों का सामना भी करना पड़ा। लेकिन सभी ने हार नहीं मानी, और शहर को टैंकर मुक्त करने में सफल हुए। शहर को स्वछ बनाने के लिए 8 लोगों की एक विशेष कमाण्ड़ो टीम बनाया गया है। जो पहले सुबह 6 से दोपहर 12 बजे तक सफाई अभियान में जुटे थे। उनमें फेरबदल किया गया है। अब ये कमाण्ड़ो दोपहर एक से संध्या 7 बजे तक बस स्टैंड, गोल बाजार, सब्जी बाजार की सफाई में लगाया गया है।कोरोन वायरस (कोविड-19) से बचाव के लिए इन सफाई कमाण्ड़ो को बरसात के लिए रैन कोर्ट और वॉटर बोतल अन्य सुरक्षा उपकरण दिया जाएगा। पालिका अध्यक्ष चंद्राकर ने पत्रकारों को बताया जिन मुद्दों पर चुनाव जीत कर वे आए उनमें से तीन समय पानी देने का बादा को पूरा किया। दूसर फुटपाथ व्यवसायियों का व्यवस्थापन किया जा रहा है। तीसरा है नगर पालिका का नवीन भवन जिसकी तैयारी चल रही है। उन्होंने पत्रकारों से कहा इस परिषद के जितने भी युवा उपाध्यक्ष, सभापति एवं पार्षद, कर्मचारी, खासकर जल विभाग की टीम ने जनता के लिए बेहतर तरीके से काम किया है, और कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि तमाम राजनीतिक दल एवं जिला प्रशासन का प्रत्यक्ष अप्रत्यक्ष रूप से इस परिषद को भरपूर सहयोग मिला है और भविष्य में भी मिलता रहेगा।

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804