GLIBS
12-02-2020
राजिम पुन्नी मेला: कलेक्टर,एडिशनल एसपी ने तुवेलंगरची,भौंरा में आजमाया हाथ

राजिम। राजिम माघी पुन्नी मेला में छत्तीसगढ़ी लोककला खेल ने ऐसा जादू किया है कि बच्चे से लेकर बड़े तक छत्तीसगढ़ी खेल में हाथ आजमाने से नहीं चुक रहे हैं। वे राजिम पुन्नी मेला के मुख्यमंच के समीप छत्तीसगढ़ी लोक खेल के मंच में आयोजित खेलों में उत्साहपूर्वक भाग ले रहे हैं। यहां बुधवार शाम एक अनोखा नजारा देखने को मिला। जब जिले के मुखिया श्याम धावड़े, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सुखनंदन राठौर, एसडीएम जीडी वाहिले और जिले के आला अधिकारियों ने गेंड़ी चढ़कर सबको अचंभित कर दिया। अधिकारी यहीं नहीं रूके बल्कि तुवेलंगरची को टीम के साथ खेलकर सबको हतप्रभ कर दिया। अधिकारियों के इस छत्तीसगढ़ी विलुप्त खेलों के प्रति सम्मान और रूचि को देखकर दर्शक भी वाह वाह करने लगे और कलेक्टर की प्रशंसा खुले दिल से करने लगे। बुधवार शाम गरियाबंद जिले के कलेक्टर धावड़े और अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सुखनंदन राठौर ने गिल्ली एवं भौंरा खेलकर लोगों का उत्साह बढ़ाया। हाथ में भौंरा को लेकर खूब देर तक चलाया तो उपस्थित जनसमूह एकटक उनकी हाथ की ओर ही देखते रहे। इसके साथ ही आज पूर्व माध्यमिक शाला दमौवापारा के 60 बच्चे भी लोक खेल सीखने व जानने पहुंचे थे। छत्तीसगढ़ लोक खेल एसोसिऐशन रायपुर से 30 लोगों की टीम खेल के संबंध में जानकारी दी। लोक खेल में अठारह गोंटिया,पच्चीस गोंटिया, तिग्गा, गेंड़ी, गोंटा, भौंरा, बिल्लस, फल्ली, लंगड़ी आदि सीखा। इन खेलों को जानकार बच्चे बहुत प्रफुल्लित दिख रहे थे।

 

12-02-2020
जल संसाधन विभाग ने की सिंचाई योजनाओं के लिए 96 करोड़ से अधिक राशि स्वीकृत
 

रायपुर। राज्य शासन ने विभिन्न सिंचाई योजनाओं के लिए 96 करोड़ एक लाख 84 हजार रूपए की प्रशासकीय स्वीकृति दी है। जल संसाधन विभाग द्वारा मंत्रालय महानदी भवन से प्रशासकीय स्वीकृति जारी कर दिया गया है। गरियाबंद जिले के विकासखण्ड छुरा की रानीडोंगरी जलाशय योजना के निर्माण के लिए 8 करोड़ 57 लाख 60 हजार रूपए की प्रशासकीय स्वीकृति प्रदान की गई है। इस योजना का निर्माण कार्य पूर्ण हो जाने पर क्षेत्र में कुल 191 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा मिल सकेगी। महासमुंद जिले के विकासखण्ड बागबाहरा की दरबेकेरा व्यपवर्तन योजना के निर्माण के लिए 73 करोड़ 13 लाख 57 हजार रूपए की प्रशासकीय स्वीकृति प्रदान की गई है। इस योजना के निर्माण हो जाने पर क्षेत्र में 1956 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा उपलब्ध होगी।

बस्तर जिले के विकासखण्ड दरभा की मुनगाबहार व्यपवर्तन योजना के लिए नौ करोड़ 65 लाख 46 हजार रूपए की स्वीकृति दी गई है। इस योजना से 372 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा हो जाएगी। बालोद जिले के विकासखण्ड डौंडीलोहारा की मुड़खुसरा व्यपवर्तन योजना के विभिन्न कार्यो के लिए 65 लाख 68 हजार रूपए की स्वीकृति दी गई है, योजना के कार्यो को पूर्ण हो जाने पर क्षेत्र में 31 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई प्रस्तावित है। रायपुर जिले के विकासखण्ड आरंग के नवागांव जलाशय के जीर्णोद्धार तथा नहर लाईनिंग कार्य के लिए 3 करोड़ 99 लाख 13 हजार रूपए की प्रशासकीय स्वीकृति जारी की गई है, इस योजना के इन कार्यो का निर्माण कार्य पूरा हो जाने पर 300 हेक्टेयर क्षेत्र में और सिंचाई सुविधा का विस्तार हो जाएगा। 

 

31-01-2020
कलेक्टर,एसपी ने गांव के साप्ताहिक बाजार से खरीदी सब्जी

गरियाबंद। जिले के कलेक्टर श्याम धावड़े एवं एसपी एमआर आहिरे शुक्रवार को अपने चुनावी भ्रमण व सुरक्षा व्यवस्था के निरीक्षण के दौरान अचानक साप्ताहिक बाजार रानी परतेवा  में कार से उतर कर सब्जी खरीदते दिखे। बाजार में लोगों का आश्चर्य का ठिकाना नहीं रहा। कलेक्टर ने  प्रति सप्ताह शुक्रवार को लगने वाले  बाजार में देसी पद्धति से उगाए टमाटर,सेमी,मूली,मिर्ची, मेथी,भाटा,गोभी और करेला खरीदा। एसपी आहिरे ने भी धनिया, मिर्च, भाजी और टमाटर की खरीदी की।

जिले के उच्च अधिकारियों को इस तरह आम व्यक्ति की तरह खरीदारी करते हुए देख लोग आश्चर्य व्यक्त करते रहे। सब्जी बेचने के लिए आई पुन्नी बाई ने कहा कि यह उनके जीवन का अविस्मरणीय क्षण है। पहली बार जिले के दो बड़े अधिकारी आम व्यक्ति की तरह जमीन मे बैठकर मुझसे सब्जी खरीदे हैं। मेरे लिए सौभाग्य की बात है। रानीपरतेवा के ही जानकीबाई और केकती बाई से कलेक्टर ने कुम्हड़ा और गोभी खरीदी। बाज़ार में फल्ली,चना,मुर्रा बेचने आए घनश्याम निषाद ने कहा कि वे शुरू में तो कलेक्टर को पहचान नहीं रहे थे क्योंकि वे सहज रूप से छत्तीसगढ़ बोली में बात कर रहे थे। उनके हावभाव से बिल्कुल भी नहीं लगा कि वे कलेक्टर हैं। किंतु जब बाद में उनके चारों ओर बंदूकधारी के नजर आए तो कुछ शंका हुई तब पूछने पर पता चला कि ये गरियाबंद के कलेक्टर  हैं। 

 

21-12-2019
कलेक्टर और एसपी ने किया मतदान  की बढ़ चढ़कर हिस्सा लेने की अपील

गरियाबंद। कलेक्टर और एसपी ने सिविल लाइन मतदान केंद्र में पहुंचकर मतदान किया। कलेक्टर श्याम धावड़े ने लोगों से मतदान में बढ़-चढ़कर हिस्सा लेने और अच्छे प्रत्याशी को चुनने की अपील की वहीं एसपी एमआर अहिरे ने सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम के बारे में बताया कलेक्टर इसके बाद सभी मतदान केंद्रों के निरीक्षण के लिए निकले हैं। गरियाबंद के बाद कलेक्टर नगर पंचायत के मतदान केंद्रों के निरीक्षण के लिए राजिम की ओर रवाना हुए। इसके  अलावा गरियाबंद में मतदान के कई रंग देखने को मिले बुजुर्ग व्हीलचेयर पर मतदान करने ले जाए जा रहे थे। वहीं युवा भी मतदान को लेकर खासे उत्साहित नजर आए। मतदान केंद्रों में खासी भीड़ देखी जा सकती है और मतदान केंद्र के बाहर प्रत्याशी भी कई तरह की चिंताओं के बीच खड़े नजर आ रहे हैं। गरियाबंद जिले के 4 नगरीय निकायों के लिए 30508 मतदाता आज 242 प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला करने वोटिंग कर रहे हैं। सुबह के पहले घंटे में वोटिंग 10.45%रही। गरियाबंद में मतदान संपन्न कराने 270 कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई गई है। 4 नगरीय निकायों के 60 वार्डों के लिए 60 मतदान केंद्र बनाए गए हैं, जहां सुबह के पहले घंटे में लोगों की भीड़ जुट रही है। 

10-12-2019
उच्च शिक्षा के क्षेत्र में यूएसए और छत्तीसगढ़ के बीच चलाया जाए एक्सचेंज प्रोग्राम: राज्यपाल

रायपुर। राज्यपाल अनुसुईया उइके से मंगलावर को राजभवन में अमेरिका के काउंसलेट जनरल डेविड रेंज ने मुलाकात की। उनके बीच उच्च शिक्षा, पर्यावरण एवं नक्सल मामलों सहित अन्य मुद्दों पर चर्चा हुई। राज्यपाल ने उनका छत्तीसगढ़ आगमन पर स्वागत किया। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ में अनेक संभावनाएं हैं। उच्च शिक्षा के क्षेत्र में प्रदेश के विश्वविद्यालय और यूनाइटेड स्टेट ऑफ अमेरिका के मध्य एक्सचेंज प्रोग्राम चलाया जाना चाहिए, जिससे छत्तीसगढ़ और यूएसए के विद्यार्थियों को एक दूसरे की संस्कृति और परम्पराओं का ज्ञान होगा और उसके साथ ही प्रदेश के विशेषकर आदिवासी वर्ग के विद्यार्थियों को नए अवसर प्राप्त होंगे। मुलाकात के दौरान राज्यपाल ने यूएसए में फुल ब्राइट स्कॉलर भेजने, आदिवासी विद्यार्थियों को शोध और उच्च शिक्षा में फेलोशिप के लिए यूएसए के शैक्षणिक संस्थानों में भेजने और जलवायु परिवर्तन एवं कुपोषण से लड़ाई जैसे विषयों पर सहयोगिता बढ़ाने पर जोर दिया।
राज्यपाल ने कहा कि छत्तीसगढ़ में स्वच्छ पर्यावरण और वायु की गुणवत्ता में सुधार के क्षेत्र में भी कार्य करने की आवश्यकता है। इसके लिए यूएसए के विशेषज्ञों से प्रदेश को मदद मिल सकती है। उन्होंने गरियाबंद जिले के सुपेबेड़ा में किडनी की बीमारी की जानकारी दी और उक्त बीमारी के कारणों की जांच के लिए यूएसए से चिकित्सकीय विशेषज्ञ भेजने का आग्रह किया। इस पर काउंसलेट जनरल ने आवश्यक मदद का आश्वासन दिया। राज्यपाल ने नक्सल मुद्दों पर चर्चा करते हुए कहा कि यह अंतर्राज्यीय समस्या है, जिसका समाधान केन्द्र और राज्य सरकार के समन्वय से किया जा सकता है। केन्द्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने इसके समाधान के लिए कार्ययोजना बनाई है।

उइके ने कहा कि आदिवासी समाज के प्रतिनिधिमण्डल से चर्चा के दौरान यह सुझाव सामने आया था कि संबंधित क्षेत्रों में सड़क, बिजली और शिक्षा संबंधी क्षेत्रों में विकास होना चाहिए। उन्हें मुख्यधारा में लाने के लिए युवाओं को रोजगार से जोड़ना आवश्यक है। साथ ही नक्सल समस्या के समाधान में चर्चा के लिए स्थानीय नेतृत्व की सहभागिता भी होनी चाहिए। उइके ने कहा कि जो सामान्य मामलों में और जो निर्दोष आदिवासी जेलों में बंद हैं, उन्हें रिहा करने के लिए राज्य सरकार से चर्चा हुई है और इस दिशा में कदम उठाए जा रहे हैं। आत्मसमर्पित नक्सलियों के पुनर्वास के लिए और नक्सल प्रभावितों के राहत के लिए आवास प्रदान करने सहित कार्ययोजना भी बनाई गई है। रेंज ने कहा कि छत्तीसगढ़ नैसर्गिक संसाधनों से भरपूर प्रदेश है। उच्च शिक्षा के क्षेत्र में बेहतर कार्य किए जा सकते हैं। इस अवसर पर राज्यपाल के सचिव सोनमणि बोरा और डेविड रेंज के बीच भी मुलाकात हुई। इस अवसर पर इकोनॉमिक एवं पालिटिक अफेयर के काउंसलर क्रिस्टोफर ग्रासमेन, राजनीतिक मामलों के विशेषज्ञ आयशा खान एवं सांस्कृतिक मामलों के विशेषज्ञ कश्यप पण्डया भी उपस्थित थे। 

 

29-11-2019
समर्थन मूल्य को लेकर किसान असमंजस में, सरकार पर लगा रहे वादाखिलाफी का आरोप

गरियाबंद। प्रदेशभर के साथ ही गरियाबंद जिले में एक दिसंबर से समर्थन मूल्य पर धान खरीदी शुरू होने जा रही है। सरकार ने धान खरीदी की तैयारी पूरी करने का दावा किया है। धान बेचने के लिए समितियो में किसानों को टोकन जारी करने का काम चल रहा है। सरकार ने फिलहाल किसानों को समर्थन मूल्य 1835 रुपए की राशि का भुगतान करने का दावा किया है। साथ ही 2500 रुपए के अंतर की राशि बाद में बोनस के तौर पर देने का भरोसा दिया है। हालांकि इसके बावजूद फिलहाल गरियाबंद में किसानों के बीच संशय की स्थिति बनी हुई है,। किसानों का कहना है कि जब सरकार ने 2500 रुपए में धान खरीदने का दावा किया था तो उनका धान 2500 रुपए में ही खरीदा जाए और उसका भुगतान भी एक मुश्त 2500 रुपए के हिसाब से किया जाए। किसान सरकार के फैसले से नाराज हैं और वादाखिलाफी का आरोप लगा रहे हैं।

29-11-2019
गरियाबंद जिले में मवेशियों में फैली अज्ञात बीमारी, पशुपालक दहशत में

गरियाबंद। गरियाबंद जिले में बीते एक महीने से पशुओं में अज्ञात बीमारी फैली हुई है और यह पशु मालिकों में भारी दहशत का कारण बनी हुई है। बीमारी की शुरुआत पशुओं के शरीर में सूजन से होती है जो धीरे धीरे घाव में तब्दील हो जाती है। फिर कुछ दिन बाद पशु चारा खाना छोड़ देता है। किसानों के मुताबिक इस बीमारी से अब तक कई जानवरों की मौत  हो गई है। सरकारी आंकड़ों के मुताबिक ओडि़शा सीमा से लगे 20 गांवों में 100 से अधिक जानवर इस बीमारी से पीडि़त हैं, हालांकि जमीनी हकीकत इससे कहीं अलग है। ग्रामीणों की मानें तो देवभोग और मैनपुर इलाके के अधिकांश गांवों में ये बीमारी अपनी दस्तक दे चुकी है। पशु चिकित्सक भी बीमारी को लेकर फिलहाल असमंजस की स्थिति में है, अभी तक वे बीमारी का नाम भी पता नहीं लगा पाए हैं। पशु चिकित्सकों ने बीमार पशुओं के सैंपल जांच के लिए भेजे हैं और जांच रिपोर्ट आने के बाद ही सही इलाज होने की बात कह रहे है। फिलहाल डॉक्टर मक्खियों और मच्छरों से ये बीमारी फैलने का दावा कर रहे हैं और इसकी रोकथाम के लिए बीमार पशुओं को एंटीबायटिक दवाइयां दे रहे है।


 

20-11-2019
कलेक्टर-एसपी की सबसे बड़ी कार्रवाई, 1 करोड़ 55 लाख का ओडि़शा का धान जब्त

गरियाबन्द। अब तक की सबसे बड़ी कार्रवाई में ओडि़शा के धान माफियाओं के यहां छापे मारकर गरियाबंद कलेक्टर और एसपी ने 1 करोड़ 55 लाख रुपए का धान बरामद किया है। जब्त धान को ओडि़शा से आधी कीमत पर लाकर यहां समर्थन मूल्य पर 2500 में खपाने की तैयारी थी। इतनी बड़ी मात्रा में ओडि़शा का धान देखकर कलेक्टर व एसपी हैरान रह गए। अकेले ग्राम पीतलखूंटी के एक धान माफिया के यहां से लगभग 1 करोड़ रुपए का धान बरामद हुआ। कलेक्टर श्याम धावड़े एवं पुलिस अधीक्षक एमआर आहिरे ने ओडि़शा सीमा से लगे गांवों में पहुंचकर लोगों से पूछकर लगभग 7 व्यापारियों के यहां छापा मारा जिनमें से 5 के यहां अवैध रूप से संग्रहित किया गया धान मिला। कुछ व्यापारियों ने पहले उसे अपना धान बताया मगर रिकॉर्ड में उन्होंने धान उगाया ही नहीं था। बता दें कि गरियाबंद जिले की 60 प्रतिशत  सीमा ओडि़शा राज्य से लगती है। ओडि़शा में धान की कीमत काफी कम होने के चलते वहां से लगभग 13 सौ रुपए में खरीद कर गरियाबंद जिले की सीमा पर स्थित धान खरीदी समितियों में खपाने का प्रयास सालों से किया जाता रहा है लेकिन धान का समर्थन मूल्य बढऩे से धान माफियाओं का लाभ कई गुना अधिक बढ़ गया है जिसके फेर में किसी भी स्थिति में यह ओडि़शा का धान लाने के प्रयास में रहते हैं । ऐसे में चोरी-छिपे ओडि़शा से लाए गए 16000 क्विंटल धान आज एक ही दिन में कलेक्टर और एसपी ने छापा मारकर बरामद किया। प्रदेशभर की यह सबसे बड़ी कार्रवाई है। कलेक्टर और एसपी ने कार्रवाई आगे और तेज करने की बात कही है और किसी भी शर्त पर गरियाबंद जिले की मंडियों में ओडि़शा का धान नहीं बिकने देने की बात कही है।

 

22-10-2019
रायपुर कमिश्नर ने आकस्मिक रूप से देवभोग के कार्यालयों का किया निरीक्षण 

रायपुर। कमिश्नर रायपुर संभाग जीआर चुरेन्द्र ने मंगलवार को आकस्मिक रूप से गरियाबंद जिले के देवभोग के अनुविभागीय दंडाधिकारी कार्यालय, तहसील कार्यालय और जनपद कार्यालय का निरीक्षण किया। उन्होेंने इन कार्यालयों में लोक सेवा गांरटी अधिनियम के निष्पादन कार्य पर संतोष व्यक्त किया लेकिन इनके व्यवस्थित पंजीयन एवं रिकॉर्ड नहीं रखे जाने पर नाराजगी व्यक्त की। उन्होंने इसके लिए सभी जिम्मेदार अधिकारियों को तत्काल सभी रिकॉर्ड व्यवस्थित रखनेे के निर्देश दिए। कमिश्नर ने इन कार्यालयों के कैम्पस में साफ- सफाई की व्यवस्था तथा लाईट की व्यवस्था सुधारने के निर्देश भी दिए। उन्होंने इन कार्यालयों के उद्यान को और अधिक बेहतर बनाने तथा हरा-भरा स्वच्छ पर्यावरण बनाने को कहा। उन्होंने इन कार्यालयों में आवेदनों के निराकरण की स्थिति, कार्यालय प्रबंधन और नागरिकों की शिकायतों पर की गई कार्यवाही का जायजा लिया। उन्होंने अधिकारियों को विभिन्न योजनाओं के माध्यम से नागरिकों को अधिक से अधिक लाभान्वित करने को कहा। 
  

03-09-2019
डाभा नहर में युवक की लाश मिलने से फैली सनसनी

धमतरी। धमतरी जिले के मगरलोड विकासखंड के छिपली-मोंहदी मुख्य मार्ग पर डाभा माइनर नहर में एक व्यक्ति की तैरती हुई लाश मिलने से इलाके में सनसनी फैल गई। ग्रमीणों ने इसकी सूचना पुलिस को दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने छानबीन के दौरान मृतक की पहचान फल व्यवसायी ईश्वर निषाद के रूप में की। ईश्वर के परिजनों को मौत की सूचना दी गई। वे भी घटनास्थल पहुंचे हैं। मृतक गरियाबंद जिले के ग्राम कोचवाय का निवासी था जो 10 वर्षों से अपनी ससुराल ग्राम मेघा में अपने परिवार के साथ रहकर मुख्य चौक पर फलों का व्यापार करता था। परिवार वालों का कहना है कि आज सुबह करीब 6 बजे ईश्वर घर से कहीं घूमने निकला था। घर न लौटने पर उसकी खोजबीन की जा रही थी। परिजनों के कहना है कि शायद वह पानी लेने नहर में उतरा होगा। नहर में पानी गहरा है जिसके कारण अपने आप को सम्हाल नहीं पाया होगा। बहरहाल मगरलोड पुलिस मामले की जांच कर रही है।  

 

16-08-2019
मंत्री ताम्रध्वज साहू कल रहेंगे गरियाबंद जिले के दौरे पर 

रायपुर। लोक निर्माण, गृह, जेल, धार्मिक न्यास एवं धर्मस्व तथा पर्यटन मंत्री  ताम्रध्वज साहू 17 अगस्त को गरियाबंद जिले का दौरा करेंगे।  गृहमंत्री साहू 10.30 बजे गरियाबंद पहुंचेंगे। वे गरियाबंद के सर्किट हाउस में सुबह10.30 बजे से 11 बजे तक आम जनता से भेंट करेंगे। इसके बाद वे 11 बजे से 11.45 बजे तक जिला अस्पताल गरियाबंद का निरीक्षण तथा जीवन दीप समिति की बैठक लेंगे। साहू दोपहर 12 से 2 बजे तक संयुक्त जिला कार्यालय गरियाबंद में जिला अधिकारियों की विभागीय समीक्षा बैठक और जिला खनिज न्यास की बैठक लेंगे। वे दोपहर 2.30 बजे से इंडोर स्टेडियम गरियाबंद में आयोजित कृषक ऋण माफी त्यौहार और लोकार्पण तथा वृक्षारोपण कार्यक्रम में शामिल होंगे। मंत्री साहू शाम 4 बजे गरियाबंद से प्रस्थान कर शाम 5.30 बजे रायपुर लौट आएंगे।

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804