GLIBS
17-01-2021
जाने आज आपकी राशि में क्या है विशेष



मेष : मेष राशि वालों को धन की प्राप्ति होगी। साथ ही भेंट व उपहार मिलने की संभावना है। जोखिम न उठाएं। किसी बड़े कार्य के होने से प्रसन्नता व उत्साह में वृद्धि होगी। काम में मन लगेगा। जीवन सुखमय व्यतीत होगा। दूसरों की बातों में न आएं। नुकसान हो सकता है। भय रहेगा। प्रतिद्वंद्विता में वृद्धि होगी। व्यावसायिक यात्रा मनोनुकूल लाभ देगी।

वृष : वृष राशि वालों की आय में निश्चितता रहेगी। मित्रों का सहयोग मिलेगा। जल्दबाजी न करें। अर्थव्यवस्था बिगड़ सकती है। कुसंगति से बचें। व्ययवृद्धि होगी। कर्ज लेना पड़ सकता है। स्वास्थ्य खराब रहेगा। काम में मन नहीं लगेगा। चिंता रहेगी। कीमती वस्तु गुम हो सकती है। व्यवसाय ठीक चलेगा।

मिथुन : मिथुन राशि वालों को बुरी खबर मिलने से खिन्नता रहेगी। किसी व्यक्ति के व्यवहार से दिल को चोट पहुंच सकती है। नकारात्मकता रहेगी। काम में मन नहीं लगेगा। दूसरों के उकसावे में नहीं आएं। व्यापार-व्यवसाय ठीक चलेगा। आय में निश्चितता रहेगी। वरिष्ठ व्यक्ति सहयोग करेंगे। वाणी पर नियंत्रण रखें। जल्दबाजी से काम में विघ्न आ सकते हैं। कानूनी समस्या हो सकती है।

कर्क : कर्क राशि वालों से नौकरी में अधिकारी प्रसन्न रहेंगे। व्यापार मनोनुकूल लाभ देगा। उत्साह व प्रसन्नता में वृद्धि होगी। व्यावसायिक यात्रा सफल रहेगी। कमजोरी महसूस होगी। विवाद न करें। मित्र व संबंधी मिलेंगे। मनोरंजन के मौके प्राप्त होंगे। जल्दबाजी न करें। रुका हुआ पैसा मिल सकता है। पराक्रम बढ़ेगा। घर-बाहर पूछ-परख रहेगी।

सिंह : सिंह राशि वालों की योजना फलीभूत होगी। ऐश्वर्य के साधन प्राप्त हो सकते हैं। घर-बाहर पूछ-परख रहेगी। आय में वृद्धि होगी। घर-बाहर सभी ओर से सहयोग प्राप्त होगा। पारिवारिक चिंता रहेगी। ईर्ष्यालु व्यक्तियों से सावधान रहें। व्यवसाय मनोनुकूल लाभ देगा। व्यस्तता के चलते स्वास्थ्य खराब होगा। सावधान रहें।

कन्या : कन्या राशि वालों का पार्टी व पिकनिक का कार्यक्रम बनेगा। प्रेम-प्रसंग में अनुकूलता रहेगी। बौद्धिक कार्य सफल रहेंगे। समय पर काम होने से प्रसन्नता तथा संतुष्टि रहेगी। थकान व कमजोरी महसूस हो सकती है। जोखिम व जमानत के कार्य टालें। मेहनत अधिक होगी।

तुला : तुला राशि वालों को लाभ के अवसर हाथ आएंगे। राजकीय बाधा दूर होगी। नौकरी में मातहतों का सहयोग प्राप्त होगा। कार्य पूर्ण होंगे। कारोबार से लाभ होगा। आवश्यक वस्तु गुम हो सकती है। स्वास्थ्य का ध्यान रखें। चोट व दुर्घटना से हानि संभव है। भ्रम की स्थिति बन सकती है। समय अनुकूल है, प्रयास करें। वैवाहिक प्रस्ताव मिल सकता है।

वृश्चिक : वृश्चिक राशि वालों को घर-बाहर प्रसन्नता का माहौल रहेगा। किसी भी तरह के विवाद से दूर रहें। शारीरिक कष्ट से बाधा संभव है। तीर्थदर्शन की योजना बनेगी। साधु-संत का आशीर्वाद मिल सकता है। आय बनी रहेगी। काम में गति आएगी। व्यवसाय लाभदायक रहेगा। नौकरी में उच्चाधिकारी प्रसन्न रहेंगे। कार्य की प्रशंसा होगी। प्रमाद न करें।

धनु : धनु राशि वालों के सुख के साधन जुटेंगे। संपत्ति के कार्य बड़ा लाभ दे सकते हैं। उन्नति के मार्ग प्रशस्त होंगे। साक्षात्कार आदि में सफलता प्राप्त होगी। घर-बाहर सभी ओर सफलता प्राप्त होगी। उत्साह व प्रसन्नता में वृद्धि होगी। शत्रुता में वृद्धि हो सकती है। जोखिम न उठाएं। व्यवसाय मनोनुकूल रहेगा। जल्दबाजी न करें।

मकर : मकर राशि वालों को मुश्किलों का सामना करना पड़ सकता है। आय में निश्चितता रहेगी। नकारात्मकता रहेगी। पार्टनरों से संबंध तनावपूर्ण हो सकते हैं। गृह क्लेश हो सकता है। कुसंगति से बचें। क्रोध व उत्तेजना पर नियंत्रण रखें। वाहन व मशीनरी के प्रयोग में विशेष सावधानी की आवश्यकता है। कार्य की गति धीमी रहेगी।

कुंभ : कुंभ राशि वालों को मित्रों का मिलेगा। घर में अतिथियों का आगमन होगा। अच्छे समाचार प्राप्त होंगे। प्रसन्नता रहेगी। फालतू खर्च होगा। क्रोध न करें। व्यवसाय ठीक चलेगा। जोखिम उठाने का साहस कर पाएंगे। निवेश शुभ रहेगा। चोट व दुर्घटना से हानि संभव है। थकान व कमजोरी महसूस होगी। चिंता रहेगी।

मीन : मीन राशि वालों की मेहनत रंग लाएगी। घर-बाहर पूछ-परख रहेगी। आय में वृद्धि होगी। नौकरी में अनुकूलता रहेगी। निवेश शुभ रहेगा। आय के नए स्रोत प्राप्त हो सकते हैं। बड़ा काम करने का मन बनेगा। विरोध हो सकता है। पार्टनरों का सहयोग मिलेगा। जल्दबाजी न करें। दौड़धूप रहेगी। थकान महसूस होगी।

10-01-2021
दुकान के सामने सामान फैलाकर व्यवसाय करने वालों से लिया गया अर्थदंड

भिलाई। नगर पालिक निगम भिलाई क्षेत्र के जवाहर मार्केट में सड़क पर सामान बढ़ाकर व्यवसाय करने वाले व्यापारियों के खिलाफ कार्यवाही की गई। जोन 3 की आयुक्त प्रीति सिंह के निर्देश पर जोन के राजस्व विभाग द्वारा की गई कार्यवाही में दुकान के सड़क के सामने कॉफी दूर तक सामान व स्टैण्डी होर्डिंग्स रखने की वजह से आवागमन में परेशानी होने के साथ ही पार्किंग की समस्या बढ़ गई थी, जिसके चलते कार्यवाही करते हुए होर्डिंग्स और दुकान के सामने सड़क पर सामान फैलाकर व्यवसाय करने वालों को हटवाने की कार्यवाही करते हुए सड़क बाधा करने वाले 12 दुकानदारों से 10500 रूपए अर्थदंड वसूला गया। जोन के कर्मचारियों द्वारा शाम को की गई कार्यवाही में दुकान के सामने लगे टेबल कुर्सी हटवाई गई। जोन 03 मदर टेरेसा नगर के पॉवर हाउस के जवाहर मार्केट में दुकानदारों के द्वारा सामान फैलाकर व्यवसाय करने की वजह से शाम को जाम की स्थिति बन जाती है। इसके चलते मार्केट में आने वाले लोगों को समस्या होती है।

निगम आयुक्त श्री ऋतुराज रघुवंशी ने निगम क्षेत्र के सभी बाजार में दुकान के अतिरिक्त सामान फैलाकर व्यवसाय करने वालों के खिलाफ कार्यवाही करने के निर्देश दिए है। इसके परिपालन में जोन 3 आयुक्त की टीम सहायक राजस्व अधिकारी परमेश्वर चंद्राकर के साथ शाम को जवाहर मार्केट पहुंची और सड़क बाधा करने वाले दुकानदारों के खिलाफ अर्थदंड वसूलने की कार्यवाही किए। उन्होंने बताया कि बहुत से व्यापारियों द्वारा दुकान के सामने बोर्ड एवं स्टेण्डी होर्डिंग्स लगाने तथा दुकान के सामने काफी दूर तक सामान रखने से सड़क में आवागमन बाधित होता है। इन लोगों के सामान को हटवाया गया तथा दोबारा ऐसा न करने की समझाइश दी गई अन्यथा कठोर कार्यवाही की चेतावनी भी दी गई है। इसके अलावा सड़क किनारे फास्ट फूड का व्यवसाय, ठेला लगाने वालों एक किनारे व्यवसाय करने की हिदायत दी गई। कार्यवाही में सड़क बाधा करने वाले अपना बाजार से 2000 रूपए, वीआईपी बैग हाउस से 500 रूपए, आर्मी स्टोर से 2000 रूपए, शिव बेकरी से 500 रूपए, अरिहंत बैग से 500 रूपए, सांई कलेक्शन से 2000 रूपए, केजीएन ज्वेलर्स से 500 रूपए, राजा ड्राईफू्रटस से 500 रूपए, और मुकेश जनरल स्टोर्स से 500 रूपए अर्थदंड वसूलते हुए समझाइश दी गई।

 

31-12-2020
सक्षम योजना से 11 महिलांएं हुई आत्मनिर्भर, कर रहीं खुद का व्यवसाय

रायपुर/दंतेवाड़ा। सक्षम योजना से जिले के 11 महिलां आत्मनिर्भर हुई है,जिसमें सुनिता कश्यप मोटर मेकेनीक, हेमलता रजक बुटिक, सावित्री सिंह किराना दुकान, जामदई बघेल किराना दुकान, लक्ष्मीबाई किराना दुकान, मलिका मजूमदार फर्नीचर दुकान, मेहतरीन नेताम किराना दुकान, सुनिता उईके किराना दुकान, फुलाना बाई सोनी होटल संचालन कार्य, स्वाति सिंह कपड़ा व्यवसाय, सरस्वती नाग कपड़ा सिलाई और सिलाई मशीन कार्य कर स्वावलम्बी बनी है। सभी 10 हजार रूपये से अधिक प्रतिमाह आय प्राप्त कर रही है।

महिला बाल विकास विभाग से योजना की जानकारी मिलने से सभी को कुल 9 लाख 40 हजार का ऋण प्राप्त हुआ। जिससे वो अपने रूचि अनुसार व्यवसाय शुरू कर पाये और अब समाज में सम्मानजनक जीवनयापन कर रही है। इस मदद के लिये महिला और बाल विकास और छत्तीसगढ शासन को सभी ने धन्यवाद दिया है और अाभार व्यक्त करते हुये कहा कि यह योजना जरूरतमंद महिला के लिये वरदान है।राज्य शासन के माध्यम से छत्तीसगढ महिला कोष के अंतर्गत संचालित महत्वाकांक्षी योजना सक्षम योजना का मुख्य उद्देश प्रदेश में गरीबी रेखा के नीचे जीवन यापन करने वाली महिलाओं अथवा जिनके पति की मृत्यु हो चुकी है अथवा 35 से 45 आयु वर्ग की अविवाहित अथवा कानूनी तौर पर तालाकशुदा महिलायें अथवा ग्राम पंचायत या सामाजिक संस्था के माध्यम से जारी प्रमाणपत्र के आधार पर परित्यकता महिलायें जो कि संकट ग्रस्त परिस्थितियों में जीवन यापन कर रही है। उन्हें स्वयं का व्यवसाय आरंभ करने के लिए ऋण प्रदायकर आर्थिक रुप से आत्मनिर्भर तथा सामाजिक रुप से सम्मानजनकए स्वावलम्बी व समृद्य जीवन के अवसर उपलब्ध कराना है। इस योजना में 6.50 प्रतिशत साधारण ब्याज की दर पर रुपये 1 लाख रुपये तक का ऋण 5 वर्गों के लिये आसान किस्तों के लिए स्वीकृत किया जाता है।

 

 

24-12-2020
मत्स्य पालन से कृषक के परिवार को मिला रोजगार, आय में हुई वृद्धि

रायपुर। प्रदेश शासन मत्स्य पालन को बढ़ावा देने के लिए मत्स्य पालकों को सभी जरूरी सहायता उपलब्ध करा रही है। मत्स्य पालकों को मत्स्य पालन की उच्च तकनीकी प्रशिक्षण और मार्गदर्शनए मत्स्य बीज उपलब्ध कराने के साथ मत्स्य पालन के लिए उपकरण और सामग्री उपलब्ध कराई जा रही है। दंतेवाड़ा जिले के कुआकोण्डा विकासखण्ड के ग्राम टिकनपाल के पोदियाराम ताती ने राज्य शासन के मछली पालन विभाग की सहायता से मत्स्य पालन का कार्य शुरू किया है। वे इससे अच्छा फायदा कमा रहे हैं।  
पोदियाराम खेती के साथ साथ अपनी आजीविका चलाने के लिये गांव में मजदूरी का काम भी करते थे। उनकी रूचि मछली पालन में थी। मछली पालन विभाग ने उनकी रूचि को देखते हुए कृषक पोदियाराम को दस दिवसीय विभागीय मछुआ प्रशिक्षण के लिए राज्य के बाहर अपनायी जाने वाली उत्कृष्ट तकनीक का प्रत्यक्ष अनुभव के लिए अध्ययन भ्रमण पर भेजा।

अध्ययन भ्रमण पश्चात मछली पालन विभाग की सहायता से उन्होंने अपनी स्वयं की भूमि में मछलीपालन के लिए एक हेक्टेयर पर तालाब निर्माण कराकर मछलीपालन का कार्य प्रारंभ किया। कृषकों को विभागीय योजना से मत्स्य बीज, परिपूरक आहार, जाल, आईस बाक्स, झींगा बीज, सीफेक्स आदि सहायता का लाभ प्रदाय कर उन्नत तकनीक और विभागीय मार्गदर्शन में मछलीपालन करने का सलाह दी जा रही है।

जिससे वर्तमान में कृषक पोदियाराम के माध्यम से मछलियों का उत्पादन के साथ ही झींगा, देशी मांगूर का पालन कर उससे 2 लाख से 2.5 लाख रूपये की आमदनी वर्ष में प्राप्त कर रहा है। प्राप्त आय से तालाब के पास एक मकान बनवाया है। इस तरह मत्स्य पालन व्यवसाय को अपनाने से कृषक के परिवार को रोजगार का साधन प्राप्त हुआ और उसकी आर्थिक स्थिति में सुधार हुआ। कृषक पोदियाराम सतत् रूप से जिले के मत्स्य पालन विभाग के सम्पर्क में रह कर नई नई तकनीकों से मछली पालन का कार्य कर रहे हैं। वे दूसरे कृषकों के लिए मत्स्य पालन के लिए प्रेरणा स्त्रोत बने हुए हैं।

23-12-2020
राष्ट्रीय किसान दिवस आज, किसानों के लिए नई नीति लागू करने वाले चौधरी चरण सिंह के जन्म दिन पर मनाया जाता है

रायपुर। भारत में हर साल राष्ट्रीय किसान दिवस 23 दिसंबर यानि आज मनाया जाता है। बता दें कि इसी दिन भारत के पांचवें प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह का जन्म हुआ था, जिन्होंने किसानों के जीवन और स्थितियों को बेहतर बनाने के लिए कई नीतियों की शुरुआत की थी। चौधरी चरण सिंह ने देश में किसानों के जीवन और स्थितियों को बेहतर बनाने के लिए कई नीतियों की शुरुआत की थी। साथ ही उन्होंने किसानों के सुधारों के बिल प्रस्तुत कर देश के कृषि क्षेत्र में भी अग्रणी भूमिका निभाई थी। भारत सरकार ने वर्ष 2001 में चौधरी चरण सिंह के सम्मान में हर साल 23 दिसंबर को किसान दिवस के रूप में मनाने का फैसला किया।

क्योंकि त्याग और तपस्या का दूसरा नाम है किसान। वह जीवन भर मिट्टी से सोना उत्पन्न करने की तपस्या करता रहता है। तपती धूप, कड़ाके की ठंड तथा मूसलाधार बारिश भी उसकी इस साधना को तोड़ नहीं पाते। हमारे देश की लगभग 70 प्रतिशत आबादी आज भी गांवों में निवास करती है, जिनका मुख्य व्यवसाय कृषि है।

22-12-2020
केंचुआ और खाद बेचकर स्व सहायता समूह की महिलाएं बनी रोल माडल

रायपुर/बिलासपुर। घर की बाड़ी में छिड़काव करने के लिए छोटी छोटी टंकियों में खाद तैयार कर शुरू किया गया व्यवसाय लाखों के लेनदेन तक पहुंच गया है। शिवतराई की मां महामाया स्व सहायता समूह की महिलाओं ने 362 क्विंटल खाद व 3.60 क्विंटल केंचुआ बेचकर पौने 4 लाख रुपए की आमदनी कर ली है। कोटा विकासखण्ड अंतर्गत घने जंगलों और पहाड़ों से घिरे शिवतराई ग्राम पंचायत की आदिवासी महिलाएं आर्थिक रूप से इतनी आत्मनिर्भर हो जाएंगी कि अन्य महिलाओं के लिए रोल माडल बन जाएगी यह किसी ने भी नहीं सोचा होगा। मां महामाया महिला स्व सहायता समूह की 16 महिलाओं ने कुछ वर्ष पहले अपने घरों में लगाई गई बाड़ी के लिए केंचुआ खाद बनाना शुरू किया। उस समय तो वे अपने उपयोग के लिए ही खाद तैयार करती थी लेकिन आवश्यकतानुसार दूसरे लोगों को भी छोटे रूप में खाद की ब्रिकी करती थी। जब इन्होंने खाद बनाने की विधि सीख ली और इसकी ब्रिकी होने लगी तब इन्होंने अपने गांव के गौठान से 1500 रुपये ट्रेक्टर की दर से चरवाहों से गोबर खरीदना और वृहद रूप में खाद बनाना शुरू किया। इनका सबसे पहला ग्राहक वन विभाग बना। इन्होंने अपनी नर्सरी के लिए इनसे खाद खरीदना चालू किया। समूह से खाद खरीदने वालों में उद्यान विभाग, वन विभाग, फार्म हाउस संचालित करने वाले किसान और स्थानीय किसान शामिल है। शिवतराई गौठान में अब तक 2 हजार 52 क्विंटल गोबर की खरीदी की जा चुकी हैं। समूह के माध्यम से अब तक 380 क्विंटल खाद तैयार किया जा चुका है तथा 362.82 क्विंटल खाद की ब्रिकी भी कर ली है। समूह ने 8 रुपए प्रति किलो की दर से वर्मी खाद की ब्रिकी कर 3 लाख 2 हजार रुपए से अधिक आय अर्जित की है। इसी तरह बिलासपुर नगर निगम ने भी समूह से 360 किलोग्राम केंचुआ खरीदा है, जिससे समूह को 72 हजार रुपए की आमदनी हुई है। जिला पंचायत बिलासपुर के मुख्य कार्यपालन अधिकारी गजेन्द्र सिंह ठाकुर ने समूह की महिलाओं के माध्यम से किए गए प्रयास की सराहना करते हुए इसे औरो के लिए प्रेरणा बताया। उन्होंने कहा कि इस तरह की गतिविधियों में भाग लेने वाले प्रत्येक समूहों को हरसंभव सहायता दी जायेगी ताकि प्रदेश सरकार की योजनाओं को जमीनी स्तर पर मूर्तरूप दिया जा सके।

 

06-12-2020
सुदूर आदिवासी अंचलों की महिलाएं जुड़ रही उद्योग, व्यवसाय से, बना रही सीमेंट खंभे और फेंसिंग जाली

रायपुर। प्रदेश शासन के विभिन्न योजनाओं के माध्यम से महिलाओं का सशक्तिकरण किया जा रहा है। महिलाओं को विभिन्न रोजगार मूलक योजनाओं से लाभान्वित किया जा रहा है। राज्य के सुदूर आदिवासी अंचलों की महिलाएं भी उद्योग, व्यवसाय से जुड़ रही है। दंतेवाड़ा जिले की महिलाएं पुरुषों से कंधे से कंधा मिलाकर काम कर रही हैं। इन दिनों महिलाएं सीमेंट के खंभे और फेंसिंग जाली निर्माण कर रही हैं।महिलाएं इस स्वरोजगार से खुद को सक्षम बनाएंगी और दूसरी महिलाओं को इस व्यवसाय के लिए प्रेरित करेंगी। महिलाएं अब तक सीमेंट पोल व जाली बनाने के लिए महिलाएं आगे नहीं आई थीं, लेकिन जिला पंचायत ने प्रदेश सरकार की महत्वाकांक्षी योजना नरवा, गरूवा, घुरूवा और बाड़ी के तहत जिले के महिला स्व-सहायता समूह को व्यवसाय करने प्रेरित किया गया। परिणाम स्वरूप जिले के 8 महिला स्वसहायता समूहों ने व्यवसाय करने की ठानी और उन्होंने काम शुरू कर दिया। जिले में सभी पंचायतों में देवगुड़ी, गौठान का निमार्ण किया जा रहा है। इसमें घेराव के लिए सीमेंट पोल की आवश्यकता पड़ती है, इसके लिए जिले के 8 स्व-सहायता समूहों के माध्यम से सीमेंट पोल का निमार्ण किया जा रहा है। वर्तमान स्थिति तक 4950 पोल, जिसे 14 लाख 85 हजार रूपये तक बेच चुके है। इस गतिविधि से 80 परिवार लाभान्वित हो रहे है।

जिले में दिशा महिला ग्राम संगठन टेकनार, सीता महिला ग्राम संगठन गंजेनार, रानी लक्ष्मी ग्राम संगठन गाटम, दीपक महिला ग्राम संगठन मैलावाड़ा, जागृति महिला कलस्टर संगठन पेन्टा सीमेंट पोल का निमार्ण कर रही है।जिले में 6 स्व-सहायता समूह के माध्यम से चैन लिंक फेंसिंग का निमार्ण किया जा रहा है। इसमें दिशा महिला ग्राम संगठन भांसी, शांति महिला ग्राम संगठन मटेनार, रानी लक्ष्मी ग्राम संगठन गाटम, रोयेमुंग ग्राम संगठन मासौड़ी, जगदम्बे स्व सहायता समूह नागफनी, माँ शक्ति ग्राम संगठन कुआकोंडा समूहों ने वर्तमान स्थिति तक 1147 बण्डल, जिसे 30 लाख 96 हजार 9 सौ रूपये तक बेच चुके है। चैन लिंक फेंसिंग निर्माण से 58 परिवार तथा सीमेंट पोल निमार्ण से 80 परिवारों लाभान्वित हो रहे है। चैन लिंक फेंसिंग एवं सीमेंट पोल निमार्ण से जोड़ना उस क्षेत्र की महिलाओं के लिए एक बड़ी उपलब्धि है। इससे ना सिर्फ महिलाएं आत्मनिर्भर हो रही हैं, बल्कि अन्य महिलाओं के लिए भी स्व-रोजगार से जुड़ने के अवसर खुल रहे हैं। वर्तमान में महिला समूह के तैयार किए गए सीमेंट पोल को सबसे पहले ग्राम पंचायत के लिए सप्लाई करेंगी।

08-11-2020
महापौर ने 38 हितग्राहियों को सौंपा आवंटन पत्र,सड़क चौड़ीकरण के दौरान हुए थे प्रभावित

भिलाई। नगर पालिक निगम भिलाई क्षेत्र अंतर्गत पावर हाउस ओवर ब्रिज के नीचे कई सालों से अवैध रूप से व्यवसाय करने वाले व्यवसायियों को व्यवस्थापन के तहत महापौर एवं भिलाई नगर विधायक देवेंद्र यादव ने आवंटन पत्र सौंपा। अब बेझिझक यहां पर व्यवसाय कर पाएंगे। विगत 8 साल पूर्व सड़क निर्माण एवं चौड़ीकरण के दौरान पावर हाउस ओवर ब्रिज के नीचे गुमटी के माध्यम से व्यवसाय करने वाले व्यवसायियों के दुकानों को राजस्व विभाग द्वारा हटा दिया गया था। सड़क निर्माण पश्चात पुनः व्यवसायी अवैध रूप से व्यवसाय करने लगे और इसी स्थान पर पुनः आवंटन की मांग करने लगे। मामला संज्ञान में आने पर महापौर  देवेंद्र यादव एवं आयुक्त  ऋतुराज रघुवंशी ने दीनदयाल उपाध्याय योजना के व्यवस्थापन के तहत प्रक्रिया में तेजी लाने के लिए विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिए थे। निगम ने प्रभावित लोगों का सर्वे कराकर 38 व्यवसायियों का चयन किया, जो अतिक्रमण से प्रभावित हुए थे। व्यवस्थापन का प्रकरण तैयार कर जिला चयन समिति दुर्ग को प्रेषित किया गया। स्वीकृति मिलने के पश्चात प्रभावित हितग्राहियों को महापौर ने आबंटन पत्र वितरित कर दिया है। उल्लेखनीय है कि 6*5 साइज की गुमटी का आबंटन हितग्राहियों को पूर्व में किया गया था, वर्ष 2014 में सड़क निर्माण के दौरान इन्हें हटा दिया गया था। अब आवंटन पत्र मिलने से निर्भीक होकर हितग्राही दुकान का संचालन कर पाएंगे। 

 

03-10-2020
मछली पालन के नाम पर हो रही ठगी, विभाग ने सावधान रहने की अपील

रायपुर। संचालक मछली पालन छत्तीसगढ़ ने राज्य के मत्स्य पालक कृषकों से मछली पालन के नाम पर होने वाली ठगी से सावधान रहने की अपील की है। संचालक मछली पालन ने कहा है कि प्रदेश में कुछ अशासकीय संस्थाओं और फर्मों की ओर से मत्स्य कृषकों की भूमि पर तालाब निर्माण करवाकर मछली पालन का व्यवसाय करने के संबंध में प्रलोभन दिए जाने की शिकायत विभाग को मिली है। इन संस्थाओं की ओर से मत्स्य कृषकों से एक बड़ी राशि लेकर उनकी भूमि पर मत्स्य पालन का व्यवसाय करने और उन्हें एक निश्चित मासिक आय का भी लालच दिया जा रहा है।

कांट्रेक्ट फार्मिंग या राशि दोगुना करने का प्रस्ताव अशासकीय संस्थाओं और फर्मों की ओर से कृषकों को दिया जा रहा है। संचालक मछली पालन ने कहा है कि छत्तीसगढ़ शासन के मछली पालन विभाग अथवा छत्तीसगढ़ शासन की ओर से ऐसी किसी भी योजना को प्रमाणित नहीं किया गया है। मत्स्य कृषकों से अपील की गई है कि इस तरह के प्रलोभन से बचें। अशासकीय संस्थाओं/फर्मों की किसी भी योजना में स्वयं विचार कर, वैधानिक एवं आर्थिक पक्षों को भली-भांति समझ-बूझ कर ही राशि का निवेश करें अन्यथा शासन या मछली पालन विभाग इसके लिए किसी भी तरह से जिम्मेदार नहीं होगा।

 

20-09-2020
लाॅक डाउन की अवहेलना करने वालों के खिलाफ निगम प्रशासन ने की सख्त कार्रवाई

भिलाई। निगम आयुक्त  ऋतुराज रघुवंशी के निर्देश पर उपायुक्त अशोक द्विवेदी एवं तरुण पाल लहरें, जोन कमिश्नर, कार्यपालन अभियंता, राजस्व विभाग की टीम सहित अन्य अधिकारियों ने शहर का भ्रमण कर लाॅकडाउन की स्थिति का जायजा लिया। रहवासी और मार्केट क्षेत्र का निरीक्षण किया। लोगों से लाॅकडाउन के निर्देशों का कड़ाई से पालन करने का आग्रह किया गया। लॉकडाउन के 1 दिन पूर्व निगम की टीम सतर्क हो गई थी, लॉकडाउन को सफल बनाने के लिए शनिवार को जोन के राजस्व अधिकारियों की बैठक हुई, जिसमें शहर के सभी व्यवसायिक प्रतिष्ठानों, दुकानों पर लॉकडाउन के नियमों के तहत कड़ाई से पालन कराने अधिकारियों ने निर्देशित किया।

सिविक सेंटर में एसडीएम खेमलाल वर्मा एवं उपायुक्त अशोक द्विवेदी के साथ निगम के राजस्व विभाग की टीम ने निर्धारित समय से अधिक देर तक व्यवसाय कर रहे 7 व्यापारियों से 3200 रुपए जुर्माना वसूला।रविवार को निगम के आला अधिकारियों ने खुली हुई कई दुकानों को बंद कराई। निगम के जोन क्षेत्र की टीम ने लॉकडाउन के नियमों का पालन नहीं करने वाले 33 लोगों से 13800 रुपए जुर्माना वसूल किया। अनावश्यक खुले हुए दुकानों को समझाइश देकर बंद कराया गया।

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804