GLIBS
21-07-2020
अनियमित कर्मचारी 23 जुलाई को मनाएंगे क्रांति दिवस, 50 हजार से अधिक शामिल होंगे वर्चुअल रैली में

रायपुर। छत्तीसगढ़ संयुक्त अनियमित कर्मचारी महासंघ अपनी 5 सूत्रीय मांग को लेकर प्रदेश में 23 जुलाई को क्रांति दिवस मनाने जा रहा है। क्रांति दिवस के अवसर पर महासंघ वर्चुअल रैली की शुरुआत करेगा। इस रैली के माध्यम से 50 हजार अनियमित कर्मचारियों को सोशल मीडिया से जोड़ा जाएगा। वर्चुअल रैली में प्रतिदिन अनियमित कर्मचारियों के प्रांतीय, जिला और पीड़ित अनियमित कर्मचारियों द्वारा फेसबुक पर लाइव प्रसारण किया जायगा। इसमें वे अपनी मांग और समस्याओं को सोशल मीडिया पर रखेंगे। गोपाल प्रसाद साहू संयोजक छत्तीसगढ़ संयुक्त अनियमित कर्मचारी महासंघ ने बताया कि महासंघ की प्रमुख मांग प्रदेश के कार्यरत समस्त अनियमित कर्मचारियों की नियमितिकरण, विगत 4-5 वर्षों से निकाले गए अनियमित कर्मचारियों की बहाली, शासकीय सेवाओं में आउटसोर्सिंग/ठेका प्रथा को पूर्णत: समाप्त कर कर्मचारियों का समायोजन, अंशकालिक कर्मचारियों को पूर्णकालीन करने संबंधित हैं।

उन्होंने कहा कि तत्कालीन मुख्यमंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ जनप्रतिनिधि हमारे संघर्ष के दिनों में हमारे मंच पर आये और उनकी सरकार बनने पर 10 दिवस के भीतर नियमित करने का वादा किया था तथा हमारी मांगों को कांग्रेस के जन-घोषणा (वचन) पत्र दूर दृष्टि, पक्का इरादा, कांग्रेस करेगी पूरा वादा के बिंदु क्रमांक 11 एवं 30 में अनियमित कर्मचारियों के नियमितीकरण करने, छटनी न करने और आउट सोर्सिंग बंद करने का वादा किया गया है। इसी प्रकार 14 फरवरी 2019 को आयोजित कार्यक्रम में मुख्यमंत्री द्वारा इस वर्ष किसानों के लिए है आगामी वर्ष कर्मचारियों का होगा कहा गया था किंतु महासंघ की मांग पूर्ति नहीं होने पर प्रदेश के समस्त अनियमित कर्मचारियों में काफी निराशा है। इधर प्रशासन द्वारा अनियमित कर्मचारियों की लगातार छटनी ने अनियमित कर्मचारियों की धैर्य की परीक्षा ली है जो उचित नहीं है। गोपाल प्रसाद साहू ने कहा कि महासंघ अपनी माँगों को सरकार के समक्ष मजबूती से रखने प्रदेश के समस्त अनियमित कर्मचारियों को सोशल मीडिया से जोड़ रही है ताकि अपनी मांग और समस्या प्रदेश के सभी नागरिकों तक पहुंचाई जा सके। महासंघ अपने समस्त अनियमित कर्मचारियों से अपील करता है, कि वे अधिक से अधिक संख्या में वर्चुअल रैली में सम्मिलित होने के लिए महासंघ की फेसबुक आईडी छत्तीसगढ संयुक्त अनियमित कर्मचारी महासंघ से जुड़ें और अपनी मांग और समस्या फेसबुक के माध्यम से रखें।

 

29-06-2020
वर्चुअल रैली की सफलता से बौखलाए भूपेश बघेल, क्या कांग्रेस के राष्ट्रीय नेतृत्व पर भरोसा नहीं? : राजेश मूणत

रायपुर। पूर्व मंत्री राजेश मूणत ने चीन के संबंध में दिए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के बयान को थोथा चना बाजे घना कहा है। मूणत ने कहा कि सीएम बघेल के पास कितना अतिरिक्त समय है,जो जनता द्वारा दी गई राज्य की जिम्मेदारी को छोड़ दिन-रात दिल्ली के पीछे लगे रहते हैं। उन्होंने सवाल किया कि क्या भूपेश बघेल को भी कांग्रेस के अपने राष्ट्रीय नेतृत्व पर भरोसा नहीं है, जो अपना सारा कामकाज छोड़ कर चंद सलाहकारों के ड्राफ्ट किये प्रेस विज्ञप्तियों पर राष्ट्रीय विषयों पर अपना समय बर्बाद करते रहते हैं? मूणत ने कहा कि प्रदेश भाजपा अनेक बार यह कह चुकी है कि छत्तीसगढ़ में सत्ता में होने के कारण मुख्यमंत्री यहां की जनता और विपक्ष के सवालों के प्रति जवाबदेह हैं। उन्हें जवाबदेह बनना है न कि सवाल उठाने हैं। मूणत ने कहा कि भाजपा की ऐतिहासिक रूप से सफल अनूठे वर्चुअल रैली और जनसंवादों की सफलता से भूपेश बघेल बौखला गए हैं। उन्हें कुछ जवाब नहीं सूझ रहा तो जो काम राहुल गांधी को करना चाहिये उसे करने की कोशिश में अपना समय काट रहे हैं, उन्हें प्रदेश के सवालों और सरोकारों के साथ आना चाहिए। जवाबदेह होने के बदले गैर-जिम्मेदाराना बयान उन्हें शोभा नहीं देता। मूणत ने कहा कि एक ऐसा प्रदेश जहां कोविड-19 की महामारी रोज चिंताजनक होती जा रही है। ऐसा पहला प्रदेश जहां कोरोना से कई गुना ज्यादा कोरेंटाइन सेंटर्स में जानें जा रही हैं, उसकी व्यवस्था छोड़ कर प्रदेश से इतर के मुद्दे उठाने में लगे रहना वास्तव में बघेल द्वारा अपनी विफलता से ध्यान भटकाने की कवायद के अलावा और कुछ नहीं है। कांग्रेस के भीतर लाल बत्ती को लेकर सिर फुटव्वल है।

 

28-06-2020
भूपेश बघेल के रहते डॉ.रमन और सरोज पांडेय  कभी मुख्यमंत्री नहीं बन सकते :  विकास उपाध्याय

रायपुर। पूर्व मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह और भाजपा नेत्री डॉ.सरोज पांडये का वर्चुअल रैली के जरिए भूपेश सरकार पर हमला करने की असल वजह ये नहीं है कि कांग्रेस सरकार असफल है। इस बात को वो भी समझ रहे हैं। असल वजह तो ये है कि दोनों को लगने लगा है कि भूपेश बघेल के रहते छत्तीसगढ़ में अब वे कभी मुख्यमंत्री नहीं बन सकते। ये चिन्ता उन्हें रोज सताए जा रही है। ये कहना है कांग्रेस विधायक विकास उपाध्याय का। विधायक उपाध्याय ने कहा है कि भूपेश सरकार बहुत कम समय में अपने कार्यप्रणाली के दम पर साबित कर दिया है कि यह आम लोगों की, किसानों,मजदूरों की सरकार है। उन्होंने मोदी सरकार पर प्रहार करते हुए कहा है कि दशकों बाद भारत की अर्थव्यवस्था मंदी में है, भारत सरकार इसे स्वीकार करने के लिए तैयार नहीं थी। हालांकि,अब अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) ने इसकी घोषणा कर दी है, जो साल 2020 में भारतीय अर्थव्यवस्था 4.5 प्रतिशत की नकारात्मक वृद्धि दर्ज करेगी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोविड-19 की महामारी से पैदा हुए संकट से निबटने के लिए 12 मई को 20 लाख करोड़ रुपए के आर्थिक पैकेज की घोषणा की थी। उन्होंने कहा था कि इस पैकेज के जरिए देश के विभिन्न वर्गों को सहायता मिलेगी और यह 'आत्मनिर्भर भारत अभियान' को नई गति देगा। तो क्या अभी तक किसी को इसका फायदा होते दिखा है क्या? उन्होंने कहा "इससे जब फायदा होगा तब होगा लेकिन अभी तत्काल राहत देने वाली इसमें बात कम हुई है। बुरी तरह से प्रभावित जरुरतमंद लोगों को सीधे फायदा पहुंचाने वाली घोषणाएं बहुत कम हुई है।" नतीजन देश की जनता इसे भुगत रही है। उपाध्याय ने कहा कि ऐसे हालात में महंगाई चरम सीमा पर है, तो ऊपर से तेल के दामों में बेतहाशा रोज हो रही वृद्धि लोगों की कमर तोड़ कर रख दी है। डॉ.रमन सिंह और सरोज पांडेय इस बारे में क्यों कुछ नहीं बोलते। विकास उपाध्याय ने नसीहत देते हुए कहा कि भाजपा के नेता भूपेश बघेल के कार्यो की आलोचना करना छोड़, छत्तीसगढ़ के विकास में सकारात्मक विपक्ष की भूमिका निभाना सीख जाएं अन्यथा प्रदेश की जनता उन्हें दीर्घकालिक सबक सिखाने से पीछे नहीं हटेगी।

 

28-06-2020
Video: जनसंवाद रैली में दुर्ग के भाजपा कार्यकर्ता जुड़े शिवराज सिंह चौहान की वर्चुअल रैली

दुर्ग। भाजपा की जनसंवाद रैली के तहत रविवार को प्रदेश भाजपा ने वर्चुअल रैली आयोजित  की। इसमें मुख्यवक्ता शिवराज सिंह चौहान ने लाइव रैली को संबोधित किया। इसमें दुर्ग जिले से बड़ी संख्या में भाजपा, भाजयुमो के पदाधिकारी व कार्यकर्ताओं तथा जनप्रतिनिधियों ने अपने अपने मंडलों में कार्यकर्ताओं के साथ वर्चुअल रैली से जुड़कर शामिल हुए। रैली में दुर्ग जिला भाजपा कार्यालय को भी सीधे जोड़ा गया था,जहां जिला भाजपा अध्यक्ष उषा टावरी,पूर्व महापौर चंद्रिका चंद्राकर,पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष माया बेलचंदन, महामंत्री डोमार सिंह वर्मा,कांतिलाल बोथरा,सुरेन्द्र पाटनी,उपाध्यक्ष कांतिलाल जैन,रजा खोखर,संतोष सोनी सहित अन्य पदाधिकारी कार्यकर्ता मौजूद थे। इसी प्रकार गया नगर में जिला भाजयुमो अध्यक्ष दिनेश देवांगन की प्रमुख उपस्थिति में युवा मोर्चा कार्यकर्ताओं ने अपने मोबाइल से वर्चुअल रैली में जुड़कर मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान सहित सभी नेताओं का उद्बोधन सुनकर उन्हें लाइक कमेंट व शेयर किए।

 

 

27-06-2020
बिहार में  यशवंत सिन्हा ने की नए राजनीतिक विकल्प की घोषणा

पटना। पूर्व केंद्रीय मंत्री वित्त मंत्री यशवंत सिन्हा ने शनिवार को बिहार में एक नए राजनीतिक विकल्प की घोषणा की। उन्होंने कहा कि उनका फ्रंट बिहार विधानसभा का चुनाव लड़ेगा। उन्होंने खुद के भी चुनाव लड़ने की संकेत दिया। पटना के होटल में आयोजित प्रेसवार्ता में यशवंत सिन्हा ने कहा कि उनका फ्रंट मजबूती से चुनाव लड़ेगा। यह भविष्य बताएगा कि वे तीसरे फ्रंट हैं कि पहले फ्रंट हैं। पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कहा कि बिहार में वर्चुअल रैली या वर्चुअल चुनाव अभियान संभव नहीं है। परंपरागत ढंग से ही चुनाव अभियान चलाया जाना चाहिए। चुनाव आयोग को सारे मामले पर विचार करना चाहिए।दलीय राजनीति से संन्यास ले चुके यशवंत सिन्हा ने कहा कि गैर राजद और गैर राजग के खिलाफ उनका गठबंधन एक मजबूत विकल्प देगा। उनके गठबंधन का नारा है 'इस बार बदलें बिहार' है। सिन्हा ने कहा कि राजद और राजग को बिहार के लोगों ने 15-15 साल तक काम करने का मौका दिया लेकिन दोनों ही अपने चुनावी घोषणा पत्र में किए गए किसी वादे पर खरा नहीं उतर पाए। उन्होंने कहा कि प्रदेश की तस्वीर बदलने के लिए 15 वर्ष का कार्यकाल किसी भी सरकार के लिए काफी होता है।

26-06-2020
भारतीय जनता पार्टी के वर्चुअल रैली को लेकर हुई प्रेसवार्ता

कोरबा। भारतीय जनता पार्टी की 28 जून को होने वाली वर्चुअल रैली को लेकर शु्क्रवार को कोरबा जिले में भाजपा कार्यालय में प्रेसवार्ता आयोजित की गई। प्रेसवार्ता में बीजेपी के जिला अध्यक्ष अशोक चावलानी सहित वरिष्ठ पदाधिकारी व कार्यकर्ता उपस्थित रहे। प्रेसवार्ता में पूर्व महापौर जोगेश लांबा ने बताया कि होने वाली इस रैली का संबोधन राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान करेंगे। इसमें मोदी सरकार की ऐतिहासिक उपलब्धियों के बारे में कार्यकर्ता और जनता को बताने की जो श्रंखला चल रही है उसी कड़ी में 28 जून को छत्तीसगढ़ प्रदेश में वर्चुअल रैली का आयोजन होना है।रैली में सोशल मीडिया के माध्यम से 30 लाख से अधिक और छत्तीसगढ़ एवं कोरबा में 20 हजार का लक्ष्य दिया गया है। इसमें सभी पदाधिकारियों को रैली सफल बनाने जिम्मेदारियां सौंपी गई है। रैली को सोशल मीडिया में सिस्को रिपेक्स ऐप से जोड़कर शेयर किया जाएगा। इस ऐप का लिंक पार्टी कार्यकर्ताओं के पास से लेकर ट्विटर एवं फेसबुक के माध्यम से लोग जुड़ सकेंगे। अलग अलग जिम्मेदारियां जिला अध्यक्ष अशोक चावलानी ने बाकी अन्य लोगों को दी।

25-06-2020
वर्चुअल रैली की तैयारियों को लेकर जिला भाजपा की हुई बैठक, कार्यकर्ताओं को दी गई जिम्मेदारी  

कोरबा। भारतीय जनता पार्टी जिला कोरबा की अहम बैठक जिला पाली कार्यालय में संपन्न हुई। इसमें 28 जून को दोपहर 12:30 बजे भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवराज सिंह चौहान वर्चुअल रैली को डिजिटल प्लेटफॉर्म से संबोधित करेंगे। इसके लिए संगठनात्मक कार्य योजना बनी जिसमें जिला स्तर वर्चुअल रैली के प्रभारियों का कार्य विभाजन हुआ। दीपका मंडल के लिए प्रभारी के रूप में दीपक जायसवाल को जिम्मेदारी सौंपी गई है। बैठक में कोरबा जिला के जिला अध्यक्ष अशोक चावला, पूर्व संसदीय सचिव लखन लाल देवांगन, पूर्व महापौर जोगेश लांबा सहित जनप्रतिनिधी उपस्थित थे।

24-06-2020
28 जून को प्रदेश स्तरीय वर्चुअल रैली को संबोधित करेंगे शिवराज सिंह चौहान

कोरिया। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में केन्द्र सरकार के दूसरे कार्यकाल का प्रथम वर्ष 30 मई 2020 को पूर्ण हुआ है। जिले में 28 जून को प्रदेश स्तरीय वर्चुअल रैली का आयोजन किया जा रहा है। इसमें प्रमुख वक्ता के रूप में मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का मार्गदर्शन प्राप्त होगा। कोरोना वाॅयरस महामारी के मद्देनजर यह कार्यक्रम डिजिटल तकनीकी से संपन्न होगा। भाजपा जिलाध्यक्ष कृष्णबिहारी जायसवाल ने उक्ताशय की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि 28 जून को प्रदेश स्तरीय वर्चुअल रैली में जिले के प्रत्येक बूथ स्तर तक के पार्टी कार्यकर्ताओं को सोशल मीडिया वेबेक्स एप्प, फेसबुक, ट्वीटर, यूटयूब के माध्यम से कार्यक्रम में शामिल करने की कार्ययोजना तैयार की जा रही है।

18-06-2020
Video: कांग्रेस ने किया भाजपा की वर्चुअल रैली का विरोध

दुर्ग। भाजपा द्वारा चुनावी रैलियों के लिए 70000 एलईडी स्क्रीन लगाकर वर्चुअल रैली करने के विरोध कांग्रेस ने किया है। इसी विरोध के स्वरूप गुरूवार को कांग्रेस प्रदेश महामंत्री राजेंद्र साहू ने कहा है कि जिस तरह भाजपा द्वारा पूरे प्रदेश में एलईडी स्क्रीन के माध्यम से वर्चुअल रैली की जा रही है। इसमें कितना खर्चा आ रहा है और कैसे किया जा रहा है यह जांच का विषय होना चाहिए। राजेंद्र साहू ने कहा कि वर्चुअल रैली के माध्यम से जनता के पैसों का दुरुपयोग किया जा रहा है, जिसका उन्होंने विरोध किया जाना चाहिए।

15-06-2020
17 जून को वर्चुअल रैली के माध्यम से सरोज पांडे करेंगी दर्री के कार्यकर्ताओं को संबोधित

कोरबा। भाजपा मंडल दर्री की आवश्यक बैठक मंगल भवन दर्री में हुई। बैठक में पूर्व संसदीय सचिव लखनलाल देवांगन,दर्री मंडल के प्रभारी राजेन्द्र अग्रवाल के मुख्य आतिथ्य में हुई। बैठक का प्रमुख उद्देश्य 17 जून को भाजपा की राष्ट्रीय महामंत्री एवं राज्यसभा सांसद सरोज पांडे के द्वारा वर्चुअल रैली के माध्यम से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 2.0 कार्यकाल के 1 वर्ष पूर्ण होने पर आम जनता में उपलब्धियों की जानकारी एवं जन जागरण अभियान के माध्यम से 17 जून को प्रातः 11 संबोधित किया जाएगा। इस संबंध में रणनीति बनाने के लिए बैठक रखी गई। बैठक के पश्चात दर्री मंडल में मोदी के कार्यकाल के उपलब्धियों को पांपलेट के माध्यम से घर घर पहुंचा कर जानकारी दी गई। बैठक में मंडल के पदाधिकारी सहित वार्ड के पार्षद एवं मंडल के सदस्य उपस्थित थे।

15-06-2020
16 जून को दुर्ग, रायगढ़ और गरियाबंद में भाजपा करेगी जनसंवाद

रायपुर। केंद्र सरकार के दूसरे कार्यकाल के निर्णयों और उपलब्धियों के एक वर्ष पूर्ण होने पर भाजपा की जन संवाद कार्यक्रम कर रही है। 16 जून को प्रदेश के दुर्ग, रायगढ़ और गरियाबंद में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से जनसंवाद किया जाएगा। भाजपा वर्चुअल रैली के प्रदेश संयोजक राजेश मूणत ने बताया कि सुबह 11 बजे पूर्व भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विक्रम उसेंडी दुर्ग जिले की, दोपहर 2 बजे पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह रायगढ़ जिले की और शाम 4.30 बजे प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय गरियाबंद जिले की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग सभाओं को बतौर मुख्य वक्ता संबोधित करेंगे। भाजपा की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग सभाओं का यह क्रम 22 जून तक चलेगा जिसमें प्रतिदिन तीन सभा होगी।

 

13-06-2020
भाजयुमो की वर्चुअल रैली में बोले सुनील सोनी, मुस्लिम महिलाओं को तीन तलाक की तलवार से मिली मुक्ति

रायपुर। केन्द्र में मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का एक वर्ष पूरा होने पर उपलब्धियां बताने भाजयुमो वर्चुअल रैली कर रही है। राजधानी के एकात्म परिसर से वर्चुअल रैली में सांसद सुनील सोनी ने कहा कि हमारी मुस्लिम बहनों पर तीन तलाक की तलवार लटकती थी। किसी ने कभी सोचा नहीं था कि तीन तलाक से मुक्ति मिलेगी। इसे मोदी सरकार ने करके दिखाया है। उन्होंने कहा कि हमने भारत को आजाद होते नहीं देखा लेकिन आज कश्मीर और लद्दाख को आजाद होते देखा है। कश्मीर के लोग पैकेज का उपयोग नहीं कर पाते थे और लद्दाख को पैकेज मिल भी नहीं पाता था। कश्मीर केवल चंद लोगों के हाथ में था और देश के धन को लूटने का काम कुछ लोगों के द्वारा किया जाता था।सांसद सुनील सोनी ने कहा कि प्रधानमंत्री और गृहमंत्री की दृढ़ इच्छा शक्ति से काम हुआ है। आम आदमी के जीवन में परिवर्तन आया है। अनेक माता बहनों ने नहीं सोचा था कि उनके घर गैस सिलेंडर पहुंचेगा। गरीब को छत मिली है। लोगों ने जो कल्पना की और सपना देखा था वो पूरा हो रहा है। मोदी सरकार केन्द्र से एक रुपए भेजती है और एक रुपए पहुंचता है। मोदी सरकार ने जनता के बीच में जो कहा उसे पूरा किया।विधायक बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि नामुमकिन को मुमकिन करने का काम केन्द्र सरकार ने किया है। विगत एक वर्ष में सरकार ने जो निर्णय लिया वह इतिहास को बदलने वाला है। हम नारा लगाते थे जहां बलिदान हुए मुखर्जी वो कश्मीर हमारा है। इस सपने को साकार करने का काम मोदी सरकार ने किया है। कश्मीर के जनजीवन को भारत से जोड़ने का काम किया। हमारी आंखों के सामने सरकार ने धारा 370 को समाप्त कर देश की जनता की सोच को अमलीजामा पहनाया है।

बृजमोहन ने कहा बचपन से एक नारा लगाते थे रामलला हम आएंगे मंदिर वहीं बनाएंगे। इसके लिए हमारे पूर्वजों ने लड़ाई लड़ी। प्रभु राम का जहां जन्म हुआ है उस जन्मस्थली का निर्णय कोर्ट के दरवाजों पर अटका रहा। केन्द्र की मोदी सरकार ने अयोध्या में प्रभु राम का मंदिर बनने में आने वाली अड़चनों को दूर किया। अयोध्या में प्रभु श्रीराम का मंदिर बनने का रास्ता बनाया। प्रभु श्रीराम के मंदिर निर्माण का काम हमारी आंखों के सामने प्रभु श्रीराम का मंदिर देखेंगे। छोटी छोटी बात पर मुस्लिम बहनों को तलाक दे दिया जाता था। आज सरकार ने उन्हें सम्मान से जीने का अधिकार दिया है।प्रदेश सरकार पर निशाना साधते हुए बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि आज कोरोना की मार से किसान पीड़ित हैं। सरकार से किसानों ने 2500 रुपए नहीं मांगे थे, कांग्रेस सरकार ने इसका वादा किया था, और उसे पूरा नहीं किया। अंतर की राशि एकमुश्त दी जानी चाहिए थी जिसे किश्तों में दिया जा रहा है। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री केवल पत्र लिखने का काम करते हैं। प्रदेश में अब हाथियों की हत्या हो रही है। अगर छत्तीसगढ़ में जंगली जानवर सुरक्षित नहीं रहेंगे तो जंगल सुरक्षित नहीं रहेंगे।इस वर्चुअल रैली में प्रदेश अध्यक्ष विजय शर्मा, जिला भाजपा अध्यक्ष राजीव अग्रवाल, भाजयुमो जिला अध्यक्ष राजेश पांडेय, सहित अन्य नेता शामिल हुए।

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804