GLIBS
10-09-2020
भू-राजस्व संहिता की आड़ में कहीं 5वीं अनुसूची की आत्मा का खात्मा तो नहीं चाहती सरकार : विष्णुदेव साय

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय ने आदिवासियों की जमीन को गैर-आदिवासियों को सौंपने के लिए भू-राजस्व संहिता में बदलाव लाने राज्य सरकार की ओर से उपसमिति गठित करने पर तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की है। उन्होंने कहा है कि, आदिवासियों के जल, जंगल और जमीन और आदिवासी हित की बात करने वाली प्रदेश सरकार का असली चेहरा उजागर हो गया है। आदिवासियों की जमीन गैर आदिवासियों को हस्तांतरित करने को प्रतिबंधित करने वाले भू-राजस्व संहिता के प्रावधानों में बदलाव का प्रस्ताव प्रदेश में बैठी कांग्रेस सरकार की आदिवासी विरोधी मानसिकता का प्रमाण हैं। उन्होंने प्रदेश के मुख्यमंत्री को चेतावनी दी है कि, भू-राजस्व संहिता में यदि किसी भी प्रकार के संसोधन से आदिवासी वनवासी भाइयों बहनों का अहित हुआ, उनके जनजीवन को अस्तव्यस्त करने का प्रयास किया गया या किसी भी दृष्टि से संसोधन आदिवासी भाईयों बहनों के लिए अहितकारी घातक नजर आया तो भाजपा चुप नहीं बैठेगी। उन्होंने सरकार से संसोधन के विषय में स्तिथि स्पष्ट करने की मांग की हैं।
साय ने कहा है कि, भूपेश सरकार से 'भू ' का बड़ा गहरा संबंध नजर आ रहा हैं। भूपेश सरकार में 'भू ' अर्थात भूमि का खेल चल रहा हैं। कभी 'भू '-माफिया, कभी  सरकारी 'भूमि', कभी 'भू '-राजस्व संहिता के नाम पर प्रदेश की भूमि को माफिया के हाथ सौंपने का खेल खेला जा रहा हैं। क्या 'भू ' का खेल खेलने सत्ता में आई हैं भूपेश सरकार?
साय ने सवाल खड़े किए हैं कि, कहीं भू-राजस्व संहिता प्रस्ताव की आड़ में प्रदेश सरकार 5वीं अनुसूची की आत्मा का खात्मा करना तो नहीं चाह रही हैं? सरकार को यह स्पष्ट करना चाहिए। कहीं बदलाव करवा कर आदिवासियों के पास बची जमीन की लूट शुरू करवा कर माफिया को लाभ पहुंचाने का इरादा तो नहीं हैं? आदिवासियों की जमीन गैर आदिवासियों को हस्तांतरित करने पर प्रतिबंध करने वाले भू- राजस्व संहिता के प्रावधानों में बदलाव के प्रस्ताव की आवश्यकता आखिर क्यों और किस मंशा के चलते पड़ी? यह प्रदेश सरकार को प्रदेश की जनता और आदिवासी समाज को बताना चाहिए और आदिवासी वनवासी समाज के लिए भविष्य की क्या योजना सरकार के पास है विशेष रूप से आदिवासी समाज व उनकी भूमि के संरक्षण के लिए सरकार को अपनी स्तिथि स्पष्ट करनी चाहिए।

03-09-2020
कुपोषण और भूख से हुई मौत की तत्काल उच्चस्तरीय जांच करा दोषियों पर कार्रवाई करें सरकार : साय 

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय ने सरगुजा संभाग के बलरामपुर जिले के भगवानपुर गांव में विशेष संरक्षित जनजाति के दो वर्षीय बच्चे की कुपोषण व भूख से हुई मौत के मामले में प्रदेश सरकार पर तीखा हमला बोला है। साय ने कुपोषण व भूख से हुई इस मौत की तत्काल उच्चस्तरीय जांच करा दोषियों पर दंडात्मक कार्रवाई करने कहा है। उन्होंने कहा है कि, प्रदेश सरकार एक तरफ कोरोना संक्रमण के कारण लोगों पर कहर बरपा रही है, तो दूसरी तरफ उसकी कुनीतियों व नासमझी भरे फैसलों से भूख और कुपोषण के चलते बच्चे अपनी जान से हाथ धो रहे हैं। शर्मनाक तो यह है कि, प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल अब भी आंकड़ेबाजी के खेल में मशगूल हो आत्ममुग्धता से उबरने को तैयार ही नहीं हैं।
साय ने कहा है कि, कुपोषण के खिलाफ अभियान चलाने वाली प्रदेश की ढिंढोरची सरकार को इस बात पर जरा भी शर्म महसूस नहीं हो रही है कि उसके तमाम दावे झूठे साबित हो रहे हैं। प्रदेश की आर्थिक सेहत को बेहतर बताते फिर रहे मुख्यमंत्री बघेल जरा प्रदेश की जमीनी सच्चाई से रूबरू हों, यह जरूरी है। कुपोषण और भूख के खिलाफ प्रदेश सरकार के कथित अभियान की क्रूर सच्चाई यह है कि मृत बच्चे के परिजन केवल इसलिए भीख मांगकर गुजारा करने विवश हैं, क्योंकि इस परिवार के पास राशन कार्ड नहीं होने के कारण उसे राशन नहीं मिल पा रहा है। कुपोषण और भूख से एक मासूम बच्चे की मौत का कलंक ढो रही यह सरकार इतनी संवेदनहीन हो चली है कि, अपने वादे और दावे के बावजूद न तो सबके लिए राशन कार्ड अब तक बनवा सकी है।  न ही नियमानुसार किसी जरुरतमंद परिवार को बतौर राहत अनाज उपलब्ध करा रही है। 
साय ने कहा कि किसानों से खरीदे गए धान की मिलिंग और उठाव नहीं करा सकी प्रदेश सरकार सैकड़ों करोड़ रुपए मूल्य के धान को बारिश में सड़ा रही है, लेकिन भूख से लड़ते परिवारों के लिए वह निशुल्क अनाज का इंतजाम तक करने को तैयार नहीं है। इतना ही नहीं, केंद्र सरकार को पत्र लिखकर गरीबों के लिए निशुल्क राशन की अवधि तीन माह और बढ़ाने की प्रदेश सरकार की मांग पर जब केंद्र सरकार ने पाँच माह के लिए निशुल्क राशन देने का ऐलान किया, तो प्रदेश सरकार यह कहकर कि, हमारे पास पर्याप्त अनाज है, अब अनाज नहीं उठा रही है। साय ने पीड़ित परिवार को हर स्तर पर हरसंभव सहायता मुहैया कराने की शासन से मांग की है। उन्होंने कहा है कि, योजनाओं के नाम पर चल रही मनमानी पर रोक लगाई जाए और कुपोषण व भूख से हुई इस मौत की तत्काल उच्चस्तरीय जाँच करा दोषियों पर दंडात्मक कार्रवाई की जाए।

14-08-2020
राष्ट्रवाद के प्रखर आलोक में निरंतर प्रगति और लोक कल्याण के उच्चतम शिखर तक पहुँचें : भाजपा

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय ने स्वाधीनता दिवस की वर्षगाँठ पर छत्तीसगढ़वासियों को बधाई दी है। उन्होंने प्रदेश के राष्ट्रवाद के प्रखर आलोक में निरंतर प्रगति और लोक कल्याण के उच्चतम शिखर तक पहुँचने की शुभकामना व्यक्त की है।साय ने कहा कि स्वतंत्रता के 73 वर्षों में भारत ने प्रगति के नित-नए आयाम गढ़े हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में देश ने विश्व मंच पर अपनी धाक जमाकर स्वाभिमानी, समृद्ध और शक्तिसंपन्न राष्ट्र के रूप अपनी पहचान स्थापित की है।

विश्वव्यापी कोरोना संक्रमण के इस भयावह आपदाकाल में भी भारत ने प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में इस महामारी को परास्त करने की जो जीवटता दिखाई है, उससे हर एक भारतीय में न केवल आत्मसम्मान का भाव जागा है, अपितु आत्मनिर्भर भारत के संकल्प के साथ भारत एक नए युग की शुरुआत भी करने जा रहा है। साय ने चीन और पाकिस्तान से मिल रही चुनौतियों का दृढ़तापूर्वक सामना करने को भी भारत की एकता,अखंडता व संप्रभुता के प्रति देशवासियों की संकल्पित शक्ति का सुपरिणाम बताया। स्वतंत्रता दिवस की यह बेला हमें अपने बलिदानी वीर सपूतों और पूर्वजों को कृतज्ञतापूर्वक स्मरण कर उनके सपनों का भारत गढ़ने की प्रेरणा और संकल्प शक्ति प्रदान करे।

12-08-2020
छत्तीसगढ़ में राजनीतिक संरक्षण में अपराधियों के हौसले बुलंदी पर हैं : भाजपा

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी ने प्रदेश की कानून व्यवस्था के मुद्दे पर सरकार को निशाने पर लिया है। प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय ने कहा कि आज प्रदेश में कहीं भी कोई सुरक्षित नहीं है। सरेआम महिलाओं और नाबालिग किशोरियों की अस्मिता से खिलवाड़ हो रहा है। कोरोना काल में ही घरेलू हिंसा और बलात्कार के मामलों की संख्या सरकार के महिला सशक्तिकरण और सुरक्षा के दावों की पोल खोलने के लिए पर्याप्त हैं।साय ने कहा कि खुद मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू के गृह जिले में बेमेतरा के बाद मंगलवार को एक ही दिन में सामने आया भिलाई में एक किशोरी को बंधक बनाकर दुष्कर्म करने का मामला हो या फिर भिलाई में एक मासूम बच्चे के सामने उसके माता-पिता को चाकू-तलवार से काटकर मार डालने का मामला, ये घटनाएँ प्रदेश सरकार के कार्यकाल को कलंकित साबित करने वाली हैं।

साय ने कहा कि राह चलते लूट, हत्या,मारपीट जैसी वारदातों ने भी नागरिक सुरक्षा के तमाम सरकारी दावों की धज्जियाँ उड़ रखी है। राजनीतिक संरक्षण में अपराधियों के हौसले बुलंदी पर हैं, वहीं रेत, शराब और जमीन माफियाओं का आतंक सिर चढ़कर बोल बोल रहा है और वे सरेआम आपराधिक गतिविधियों को अंजाम दे रहे हैं।

 

10-08-2020
कांग्रेस सरकार ने किसानों से कदम-कदम पर धोखाधड़ी कर आत्म-सम्मान को किया लहूलुहान : साय

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय ने कहा कि केद्र सरकार द्वारा कृषि क्षेत्र में किए गए सुधार छोटे किसानों के सशक्तिकरण पर केंद्रित हैं और किसानों के कल्याण और बेहतर जीवन की पूरी चिंता केंद्र सरकार कर रही है। साय ने कहा कि कोरोना संकट काल में भी केंद्र सरकार ने किसानों की पूरी चिंता करते हुए उनके कल्याण और बेहतर आर्थिक स्थिति के लिए प्रयास किए हैं। कोरोना काल में देश के गरीब-मजदूर और किसानों की चिंता करके केंद्र सरकार ने 20 लाख करोड़ रुपए का आर्थिक पैकेज घोषित करके कृषि क्षेत्र में सुधार और किसानों के सशक्तिकरण से ही आत्मनिर्भर भारत का संकल्प संजोया है।साय ने कहा कि किसानों के साथ वादाखिलाफी करके दगाबाजी करने वाली छत्तीसगढ़ की सरकार है,जिसने किसानों के साथ कदम-कदम पर न केवल धोखाधड़ी की अपितु किसानों के आत्मसम्मान को लहूलुहान किया।

न्याय के नाम पर योजना घोषित करके किसानों के साथ अन्याय और छलावा करने वाली प्रदेश सरकार जन-विश्वास खो चुकी है।साय ने कहा कि एक लोक-कल्याणकारी सरकार जनता के कल्याण, उसके बेहतर व सुरक्षित जीवनयापन और विकास के काम में अपनी प्रामाणिकता के कारण जन-विश्वास अर्जित करती है और इंडिया टुडे-आजतक के हाल ही हुए सर्वे इस बात की साक्षी दे रहे हैं,जिसमें प्रधानमंत्री मोदी के कामकाज पर देश की 76 प्रतिशत जनता ने भरोसा जताया जबकि कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी को महज 24 फीसदी लोगों ने भरोसे के काबिल माना है।

 

09-08-2020
भाजपा ने डॉ. राजीव सिंह को कोरबा जिलाध्यक्ष नियुक्त किया

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी ने डॉ. राजीव सिंह को कोरबा का जिलाध्यक्ष नियुक्त किया है। प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय ने राजीव सिंह को नियुक्त किया है।

04-08-2020
साय का कटाक्ष : मंदिर निर्माण विरोधी अब मंदिर निर्माण के शुभारंभ की तारीख 5 अगस्त 2020 अच्छी तरह नोट कर लें

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय ने कहा कि 5 अगस्त को अयोध्या में श्रीराम जन्मभूमि पर भव्य मंदिर निर्माण के अवसर पर सभी भाजपा कार्यकर्ता और सभी हिन्दू सुबह अपने-अपने घरों और प्रतिष्ठानों में पूजा करेंगे। साय ने कहा कि इस अवसर पर रामायण, सुंदरकांड, बजरंग बाण, हनुमान चालीसा, रामरक्षा स्तोत्र आदि का पाठ कर भगवा ध्वज फहराया जाएगा। शाम को सभी कार्यकर्ता अपने घरों व प्रतिष्ठनों में दीप प्रज्जवलित कर इस अवसर को अविस्मरणीय बनाएंगे। साय ने कहा कि मंदिर निर्माण के कार्य में लगातार अवरोध पैदा करने वाले अब जिस तरह दोहरे राजनीतिक चरित्र का प्रदर्शन करने पर उतारू हुए हैं, वह नितांत हास्यास्पद है। समूचा देश और हिन्दू समाज आज राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ-परिवार, संत-महंत-धमार्चार्यों, भाजपा व हिन्दूवादी संगठनों के संघर्षों को सम्मान देने और भव्य मंदिर निर्माण के संजोए गए लक्ष्य को साकार करेगा। साय ने कटाक्ष किया कि मंदिर निर्माण के विरोधी अब मंदिर निर्माण के शुभारंभ की तारीख 5 अगस्त 2020 अच्छी तरह नोट कर लें क्योंकि वे बार-बार इस तारीख की घोषणा के लिए काफी उतावले हो रहे थे।

 

02-08-2020
सतीश लाटिया भाजपा के नए कांकेर जिलाध्यक्ष नियुक्त

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी ने नए कांकेर का जिला अध्यक्ष की घोषणा की है। प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय के आदेश पर सतीश लाटिया को कांकेर का जिलाध्यक्ष नियुक्त किया गया है।

 

01-08-2020
नियमों को निरस्त कर लोकतंत्र सेनानियों की सम्मान निधि बंद करना तानाशाहीपूर्ण व अलोकतांत्रिक : विष्णुदेव साय

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय ने प्रदेश शासन की ओर से लोकतंत्र सेनानियों की सम्मान निधि बंद करने को तानाशाहीपूर्ण और अलोकतांत्रिक बताया है। साय ने कहा कि आपातकाल के दौरान राजनीतिक व सामाजिक कारणों से नेता व डीआईआर में गिरफ्तार कर जेल में बंद किए गए लोकतंत्र सेनानियों को भाजपा शासन द्वारा वर्ष 2008 से प्रदान की जाने वाली लोकनायक जयप्रकाश नारायण सम्मान निधि के नियमों को निरस्त कर सम्मान निधि बंद किया गया है। साय ने कहा कि मौजूदा प्रदेश शासन ने स्वयं लोकतंत्र सेनानियों के सत्यापन के नाम पर सर्वप्रथम सम्मान निधि देना स्थगित करते हुए सत्यापन के बाद सम्मान निधि यथावत प्रदान करने का आदेश किया था परंतु एक वर्ष तक न तो शासन ने मीसा बंदियों का सत्यापन किया और न ही उन्हें सम्मान निधि प्रदान की। इसके बाद सेनानियों ने छत्तीसगढ़ उच्च न्यायालय में न्याय के लिए याचिकाएं प्रस्तुत कीं। उन याचिकाओं में उच्च न्यायालय ने शासन को आदेशित किया कि सेनानियों को बकाया सम्मान निधि का भुगतान किया जाए व सत्यापन की कार्यवाही की जाए। साय ने कहा कि यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि प्रदेश शासन ने उच्च न्यायालय के आदेश का पालन न कर आज दिनांक तक सेनानियों को आदेशित सम्मान निधि प्रदान करना छोड़, आपातकाल के समान ही न्यायालयीन आदेशों को रद्दी की टोकरी में फेंककर अपनी हठधर्मिता से, जिन नियमों के आधार पर न्यायालयीन आदेश हुए, उन्हें ही भूतलक्षी प्रभाव से निरस्त करने जैसा असंवैधानिक कृत्य किया है।
साय ने प्रदेश सरकार को कहा है कि सरकारें आती-जाती हैं, लेकिन इस प्रकार एक सरकार द्वारा दूसरी सरकार के निर्णय को इस तरह निरस्त नहीं किया जाता। इस निर्णय से प्रदेश सरकार की ओछी मानसिकता ही परिलक्षित हो रही है। तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने अपनी सत्ता बचाने के लिए न्यायालयीन निर्णय को दरकिनार कर आपातकाल लगाया और विरोधी दल के नेताओं, कार्यकर्ताओं, पत्रकारों, संपादकों आदि को लाखों की संख्या में बिना कारण 21 माह तक जेलों में डाल दिया और प्रताड़नाएं दी गई। यदि ऐसे लोकतंत्र सेनानियों को किसी पूर्ववर्ती सरकार ने सम्मान दिया तो उस सम्मान को समाप्त करने का नैतिक व वैधानिक अधिकार बाद में आने वाली सरकार को नहीं है। साय ने इस निर्णय को पूर्णत: अलोकतांत्रिक करार दिया।

 

31-07-2020
गुटबाजी के कारण भाजपा कार्यकरिणी नहीं बना पा रही : सुशाील आनंद शुक्ला

रायपुर। प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता सुशील आनंद शुक्ला ने कहा है कि गुटबाजी और नेताओं के बीच सिर फुटव्वल के कारण भरतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय न कार्यकरिणी का गठन कर पा रहे और न ही जिलाध्यक्षों की नियुक्ति कर पा रहे हैं। 15 साल तक सत्ता में रहे और भारतीय जनता पार्टी की दुर्गति का कारण बने रमन सिंह भाजपा संगठन में अपने समर्थकों को बैठाना चाह रहे हैं। भाजपा के निष्ठावान कार्यकर्ता रमन सिंह से भाजपा को छुटकारा दिलाने मुहिम छेड़ दिए हैं। भाजपा कार्यकर्ता सोशल मीडिया में 15 साल तक सरकार में काबिज रहे नेताओं को संगठन में पदाधिकारी बनाए जाने का विरोध कर रहे हैं। कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा है कि किसी भी दल के लिए इससे बड़ा दुर्भाग्यपूर्ण और क्या होगा कि उसके प्रदेश अध्यक्ष के लिए उसके ही कार्यकर्ता सोशल मीडिया में "विष्णुदेव साय-रमन सिंह की गाय" जैसे नारों की संज्ञा दे रहे हैं।

 

31-07-2020
विष्णुदेव साय ने नई शिक्षा नीति को बताया सदियों से मानसिक गुलामी से आजादी दिलाने वाला एक ऐतिहासिक कदम

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी की प्रदेश इकाई ने केंद्र सरकार की ओर से घोषित राष्ट्रीय शिक्षा नीति-2019 का स्वागत किया है। भाजपा की प्रदेश इकाई ने कहा है कि यह राष्ट्रीय शिक्षा नीति भारतवर्ष को समय के साथ कदमताल करने की ऊर्जा प्रदान करेगी वहीं आत्मनिर्भर भारत के निर्माण की अवधारणा को एक नया आयाम प्रदान कर देश के शैक्षिक जगत में क्रांतिकारी व युगानुकूल परिवर्तन लाने वाली सिद्ध होगी। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय ने कहा कि केन्द्रीय मंत्रिमण्डल द्वारा नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति को स्वीकृति प्रदान करना महज एक फैसला नहीं है अपितु यह सदियों से विदेशी मानसिकता की गुलामी से आजादी दिलाने वाला एक ऐतिहासिक कदम है। स्वतंत्र भारत की यह तीसरी शिक्षा नीति है किन्तु जहाँ पहले की दोनों शिक्षा नीतियाँ केवल शिक्षा के प्रसार के लिए केवल इसके संख्यात्मक पक्ष पर ही जोर दे रहीं थीं वहीं यह नीति शिक्षा के गुणात्मक पक्ष पर भी जोर दे रही है। इसीलिये एक ओर जहाँ यह नीति स्कूलों में शत-प्रतिशत नामांकन के लक्ष्य के साथ आगे बढ़ने की बात करती हैं तो दूसरी ओर पाठ्यचर्या और पाठ्यक्रम को विषय केन्द्रित न रखते हुए केवल मूल सिद्धान्तों को सिखाने की दृष्टि से पुन: गढ़ने की बात करती है।

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804