GLIBS
20-06-2020
छत्तीसगढ़ नागरिक अधिकार समिति ने चिटफंड निवेशकों के भुगतान की मांग की

रायपुर। प्रदेशभर में सांकेतिक विरोध प्रदर्शन के माध्यम से छत्तीसगढ़ नागरिक अधिकार समिति ने चिटफंड के मुद्दे पर फिर से हल्ला मचाया। विगत 10 वर्षों से जारी आंदोलन को तेज करने की चेतावनी देते हुए निवेशकों ने कहा कि प्रदेश में सत्ता परिवर्तन में इस मुद्दे ने प्रमुख भूमिका निभाई थी लेकिन अब सत्ताधीश लोग अपने चुनावी घोषणा पत्र में किए गए वायदों को भूल गए है। दोपहर बाद शुभम साहू के नेतृत्व में राजधानी में मुख्यमंत्री के नाम कलेक्ट्रेट में तहसीलदार  दीपक भारद्वाज से मुलाकात कर ज्ञापन सौंपा गया। इस अवसर पर वक्ता मंच के पदाधिकारी भी उपस्थित थे। ज्ञापन सौंपने गए प्रतिनिधिमंडल में शुभम साहू, दुष्यन्त साहू, धनेश्वरी नारंग, अरविंद, हेमलाल पटेल, प्रमोद देवांगन, विकास तंबोली, मनोज साहू, मनीष पटेल, गोपी निषाद, लोचन साहू, ओमप्रकाश साहू शामिल थे। इस क्रम में आज प्रदेशभर में निवेशकों एवं अभिकर्ताओं ने दोपहर 12 बजे अपने घर व कार्यस्थल के सामने पोस्टर उठाकर भूपेश सरकार से अपने चुनावी वायदे पूरा करने की मांग की। प्रदर्शनकारियों ने प्रेस को बताया कि लॉक डाउन के नियमों का पूर्ण पालन करते हुए की गई इस सांकेतिक कार्यवाही में 20 लाख निवेशकों का आक्रोश प्रदर्शित हो रहा है।

सामान्य स्थिति बहाल होते ही एक विराट कार्यवाही के माध्यम से बड़ी लड़ाई छेड़ी जायेगी जिसकी व्यापक रूप से तैयारियां की जा रही है। नागरिक अधिकार समिति द्वारा आज सौंपे गये ज्ञापन में रकम वापसी की सारी प्रक्रिया को लंबे प्रशासनिक एवं कानूनी दांव पेंचों में उलझाये जाने की तीव्र भर्त्सना की गई है। ज्ञापन में मांग की गई है कि 50000 करोड़ के अनुमानित भुगतान के​ लिए राज्य सरकार आवश्यक वित्तीय प्रबन्ध कर रकम वापसी का समयबद्ध कार्यक्रम प्रस्तुत करें। आंदोलनकारियों ने यह भी मांग की है कि फर्जी चिटफंड कंपनियों के समस्त फरार डायरेक्टरों को गिरफ्तार किया जाएं। इस के लिए विशेष पुलिस सेल की स्थापना हो। समस्त फरार कंपनियों की चल अचल संपत्तियों को राजसात किया जाए। 8 महीने में प्रकरण की सुनवाई पूर्ण कर फैसले दिए जाएं। प्रदेश में चिटफंड व्यवसाय पर पूर्ण रोक लगाई जाए। इसके लिए बनाए गए निक्षेपको का हित अधिनियम के प्रावधानों का पूर्ण पालन सुनिश्चित हो। समिति ने इन मुद्दों पर व्यापक जन जागरण अभियान चलाने की घोषणा की है। आज रायपुर, धमतरी, कुरूद, चाम्पा, बिलासपुर, राजनांदगांव, महासमुंद सहित प्रदेश के अनेक हिस्सों में सांकेतिक विरोध कार्यवाही सफल रही।

03-06-2020
पहले पुलिस प्रशासन मुर्दाबाद के नारे फिर बाद में पुलिस को धन्यवाद...

रायपुर/बिलासपुर। सरकंडा क्षेत्र के इमलीभांटा-बंधवापारा में रहने वाले करीब दो सौ बेजा—कब्जाधारी जिन्हें ट्रांजिट हॉस्टल से बेदखल करने पर वे कलेक्ट्रेट के सामने मुख्य मार्ग को जाम कर धरने पर बैठ गए। इसके बाद पुलिस प्रशासन और एसडीएम द्वारा समझाईश देने पर वे चक्काजाम और प्रदर्शन को खत्म कर वापस लौटने के लिए साधन की राह देख रहे थे। प्रदर्शनकारी कुछ देर पहले पुलिस प्रशासन मुर्दाबाद के नारे लगा रहे थे। ​लेकिन धरना खत्म होते ही पुलिस ने उन्हें डग्गा मंगाकर महिलाओं और बच्चों को बंधवापारा तक छुड़वाया। गाड़ी में बैठते समय प्रदर्शनकारियों ने पुलिस को धन्यवाद और साधुवाद दिया।

03-06-2020
ट्रांजिट हॉस्टल खाली कराना प्रशासन को पड़ा महंगा, मुख्य मार्ग पर धरने पर बैठे सैकड़ों लोग

रायपुर/बिलासपुर। निगम प्रशासन द्वारा सरकंडा क्षेत्र के बंधवा पारा इमलीभाठा में रहने वाले लोगों को वहां से बेदखल करने की कार्रवाई के खिलाफ आज सबुह साढ़े 11 बजे बजे सैकड़ों पुरुष और महिलाएं कलेक्ट्रेट के सामने मुख्य मार्ग जाम कर बीच सड़क पर धरने में बैठ गए। निगम प्रशासन के द्वारा इमली भांठा सरकंडा के ट्रांजिट हॉस्टल में बेजा कब्जा कर रहने वाले सैकड़ों परिवारों को आज सुबह एकाएक वहां से बेदखल कर दिया गया। करीब 200 घरों में रहने वाले लोगों पर हुई कार्रवाई के खिलाफ बड़ी संख्या में वहां रहने वाले पुरुष और महिलाएं पहले कलेक्ट्रेट पहुंचे। फिर कमिश्नर दफ्तर पहुंच गए। जब कोई अधिकारी नहीं मिला तब वे कलेक्ट्रेट के सामने मुख्य मार्ग को जाम कर सड़क पर ही धरने पर बैठ गए। एकाएक हुए सड़क जाम और धरने से प्रशासन में हडकंप मच गया है। पुलिस प्रशासन और जिला प्रशासन के एसडीएम के द्वारा दी गई समझाइश के बाद चक्का जाम खत्म हुआ और गाड़ियों की आवाजाही शुरू हो गई।

01-06-2020
प्लांटेशन को लेकर छेड़ी जाएगी बड़ी मुहिम, महत्वपूर्ण सड़कें होंगी बरगद, पीपल से गुलजार

दुर्ग। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की मंशानुरूप राज्य में व्यापक पौधरोपण की मुहिम चलाई जानी है। दुर्ग जिले में भी इसे लेकर व्यापक तैयारियां की जा रही हैं। सोमवार को कलेक्ट्रेट में हुई बैठक में इसकी रणनीति बनाई गई। प्लांटेशन को लेकर फोकस दो तरह से होगा। पहला महत्वपूर्ण सड़कों के किनारे दोनों ओर पौधरोपण किए जाएंगे। इसके लिए बरगद, पीपल आदि के पौधे लगाए जाएंगे। बरगद और पीपल तेजी से बढ़ते हैं और बहुत दीर्घजीवी भी होते हैं। दूसरा फोकस मुनगा और नींबू की सामूहिक फार्मिंग पर होगा। इसके लिए जिले में बड़े पैच चिन्हांकित किए जाएंगे,जहां कम से कम एक ही प्रजाति के 5000 पौधों का रोपण होगा। जगहों का चिन्हांकन कल ही कर लिया जाएगा। कलेक्टर डॉ. सर्वेश्वर नरेंद्र भूरे ने इस संबंध में विस्तार से निर्देश अधिकारियों को दिए। उन्होंने कहा कि पौधरोपण और हरियाली का दायरा बढ़ाना शासन की सर्वोच्च प्राथमिकताओं में से है और इसे पूरा करने तुंरत जुटना है। पौधों की सुरक्षा के लिए ट्री गार्ड की व्यवस्था होगी। ट्री गार्ड की सप्लाई का काम स्वसहायता समूह करेंगे। इससे स्वसहायता समूहों की भी आय बढ़ेगी। कलेक्टर ने आज इस संबंध में वनमंडलाधिकारी, जिला पंचायत सीईओ, कार्यपालन अभियंता पीडब्ल्यूडी, एसडीएम एवं उद्यानिकी अधिकारी से विस्तृत चर्चा की। चर्चा में उन फलदार पौधों को रोपण पर जोर दिया गया जो दुर्ग जिले के वातावरण के अनुकूल हैं। इनमें मुनगा, नींबू और आंवला के पौधों पर ज्यादा जोर रहा। इनमें भी मुनगा और नींबू पर सबसे ज्यादा जोर देने का निर्णय लिया गया। इनके लिए चयनित की गई जमीन पर बड़े पैमाने पर फलोद्यान लगाए जाएंगे। बैठक में पौधरोपण के पश्चात उसे सहेजने तथा बड़ा करने तक की प्रक्रिया के संबंध में विस्तार से योजना बनाई गई।

 

30-05-2020
रिसाली निगम आयुक्त ने एडिशनल कलेक्टर का पदभार किया ग्रहण 

दुर्ग। विगत दिनों राज्य शासन ने बड़े स्तर पर आईएएस और राज्य प्रशासनिक सेवा के अधिकारियों का तबादला किया था। इसमें दुर्ग जिला अतिरिक्त दंडाधिकारी गजेंद्र सिंह ठाकुर का भी तबादला हुआ था और उनके स्थान पर रिसाली निगमायुक्त प्रकाश कुमार सर्वे को दुर्ग एडीएम का अतिरिक्त प्रभार सौंपा गया था। शुक्रवार को प्रकाश सर्वे ने कलेक्ट्रेट पहुंच पदभार ग्रहण किया।

12-05-2020
युवाओंं ने बनाई टचलेस सैनिटाइजर मशीन, कलेक्ट्रेट में लगाई गई

दुर्ग। कलेक्ट्रेट में हैंड सैनिटाइजर मशीन लगाई गई। इसकी खासियत यह है कि यह टचलेस आटोमेटिक मशीन है अर्थात बिना स्पर्श किए ही सैनिटाइजर हाथ में आ जाता है। इसे दुर्ग की ही प्रियंक यादव और कृष्णा नामक युवाओं ने बनाया है। उन्होंने यह मशीन दुर्ग कलेक्ट्रेट और भिलाई छावनी पुलिस स्टेशन को भेंट की है।

 

02-05-2020
श्रमिक पहुंचे कलेक्ट्रेट कार्यालय, प्रशासन से लगाई वापसी की गुहार

रायगढ़। केंद्र सरकार ने 3 मई के बाद लॉक डाउन खत्म नहीं होने की घोषणा की है। इसपर प्रवासी मजदूरों के सब्र का बांध टूट गया। रायगढ़ आकर काम करने वाले दर्जनों श्रमिक शनिवार को कलेक्ट्रेट कार्यालय पहुंचे, जहां उन्होंने घर वापसी की गुहार लगाई। अपर कलेक्टर आरए कुरुवंशी के पास अपनी समस्या लेकर पहुंचे मजदूरों ने बताया कि एक महीने से अधिक समय से वह अपना रोजगार छोड़ के रायगढ़ में रह रहे हैं। पैसो की तंगी और परिवार की चिंता से सभी घिरे हुए हैं ऐसे में मज़दूरों ने अपने गृहग्राम जाने की गुहार जिला प्रशासन से लगाई है। मज़दूरों की घर वापसी की प्रक्रिया राज्य सरकार द्वारा की जानी है। भूपेश सरकार ने अपने प्रदेश के मज़दूरों की घर वापसी की प्रक्रिया शुरू कर दी है। सैकड़ो मज़दूर विशेष बस में सवार होकर छत्तीसगढ़ पहुंच चुके हैं। अन्य राज्य भी इसी तरह अपने-अपने प्रदेश के मज़दूरों को वापस बुलाने की योजना बनाएंगे,जिसके बाद ही सभी प्रवासी मज़दूर अपने घर वापस लौट पाएंगे।

 

16-04-2020
अमर समर्थक भाजपा नेता दस्तगीर भाभा पर प्रशासन ने लगाया जुर्माना

रायपुर/बिलासपुर। लॉक डाउन के नियमों के तहत मास्क पहने बिना कलेक्ट्रेट पहुंचने वाले पूर्व मंत्री अमर अग्रवाल के सम​र्थक दस्तगीर भाभा को अपनी गलती का खामियाजा भुगतना पड़ा। उन्हें प्रशासन ने मास्क नहीं पहनने के एवज में बतौर 1000 रुपय का जुर्माना लगाया। दस्तगीर‌ भाभा को एक हजार रुपय अदा करने पर यह रसीद‌ काट कर‌ दी गई। बता दें कि कलेक्ट्रेट स्थित एडीएम के कक्ष में दस्तगीर भाभा बिना मास्क पहुंचे थे। जबकि उसी समय कमरे में मौजूद भाजपा प्रतिनिधिमंडल के नेताओं एवं यहां तक कि खुद एडीएम ने भी अपने चेहरे पर मास्क लगाया हुआ था। विदित हो कि प्रशासन ने घर के बाहर निकलने पर मास्क पहनना अनिवार्य कर दिया है। इस नियम को तोड़ने के एवज में दस्तगीर भाभा को 1000 का जुर्माना लगाया गया,जिसे उन्होंने नगर निगम को अदा कर इस बाबत रसीद कटवा ली।

11-04-2020
राशन दिलाने के बहाने युवती से छेड़छाड़, मामला दर्ज

कांकेर। कोतवाली थाना अन्तर्गत संजय नगर के युवक द्वारा युवती से छेड़छाड़ का मामला थाना पहुँचा है। पुलिस से मिली जानकारी अनुसार संजयनगर के युवक नवाब खान द्वारा किराये में रह रही 24 वर्षीय युवती को राशन दिलाने के बहाने कलेक्ट्रेट ले जाने की बात कहकर गढ़िया पहाड़ ले जाकर युवती से छेड़छाड़ करने लगा, जिसके बाद युवती ने इसका विरोध करने पर मारपीट करते हुए फिर से छेड़छाड़ करने लगा। इसके बाद युवती सीढ़ी की तरफ से भाग कर नीचे आ गई। इसके बाद युवती ने थाने पहुंचकर मामला दर्ज करवाया, जिस पर पुलिस ने अपराध क्रमांक 354 (के ) 354 (ख) 323 भादवी की धारा के तहत मामला दर्ज की है।

22-02-2020
किसानों के धरना प्रदर्शन में धक्का मुक्की, एसडीएम हुए घायल

कवर्धा। धान खरीदी को लेकर जिले भर में किसान लगातार धरना प्रदर्शन कर रहे है। इसी कड़ी में कलेक्ट्रेट के सामने किसानों ने धरना प्रदर्शन दिया। मिली जानकारी अनुसार किसानों से चर्चा करने कवर्धा एसडीएम पहुंचे थे। चर्चा के दौरान अधिक संख्या में किसान होने से एसडीएम दीवाल की ओर गिर गए। इसी दौरान कवर्धा एसडीएम विपुल गुप्ता को चोट आई है। इससे उनकी रीढ़ की हड्डी में चोटे आई। फिलहाल इलाज   जारी है।  

 

21-02-2020
धान खरीदी को लेकर किसानों का आंदोलन जारी, 18 घण्टे से नेशनल हाइवे जाम

कवर्धा। प्रदेशभर में गुरुवार 20 फरवरी को धान खरीदी का आखिरी दिन था। खरीदी बंद कर दी गई है, लेकिन अभी भी किसान सड़कों पर उतरे हुए हैं क्योंकि किसान अपना धान नहीं बेच पाए है। कवर्धा में बारदाना की कमी के चलते खरीदी नहीं होने से किसानों ने बिरकोना में चक्काजाम कर दिया है, जिससे जबलपुर-रायपुर नेशनल हाइवे पिछले 18 घंटे से जाम है। वाहनों की लंबी कतार लगी हुई है। किसान नगाड़ा बजाकर शासन-प्रशासन को रातभर जगाने की कोशिश करते रहे, लेकिन अधिकारियों के कान में जूं तक नहीं रेंगी। दो दिनों से कलेक्ट्रेट के सामने टेंट लगाकर धरना प्रदर्शन कर रहे है, लेकिन अब तक कोई भी अधिकारी ध्यान नहीं दे रहे है।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804