GLIBS
22-10-2020
होम आइसोलेशन में रह रहे पॉजिटिव मरीजों के घरों को चिन्हित कर लगाया जा रहा स्टीकर

भिलाई। कोरोना संक्रमित व्यक्तियों के कांटेक्ट ट्रेसिंग एवं होम आइसोलेशन में रह रहे पॉजिटिव मरीजों के घर स्टीकर चस्पा करने कलेक्टर डॉ. सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे से प्राप्त निर्देश के तहत नगर पालिक निगम आयुक्त  ऋतुराज रघुवंशी ने इसके बेहतर क्रियान्वयन के लिए समस्त जोन आयुक्तों को निर्देश दिए हैं। निर्देशानुसार होम आइसोलेशन में रह रहे कोरोना पॉजिटिव वाले व्यक्तियों के मकानों को चिन्हित करने का कार्य किया जा रहा है। निगम एवं स्वास्थ्य विभाग के संयुक्त कर्मचारी घरों के बाहर दीवारों पर लाल रंग के स्टीकर चस्पा कर होम आइसोलेशन में रह रहे कोविड-19 के पॉजिटिव मरीजों की संख्या सहित अन्य जानकारी एकत्रित कर रहे हैं। जिससे स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों को मानिटरिंग करने में किसी भी प्रकार की दिक्कत न हो। स्टीकर लगाने संबंधी कार्य के लिए स्वास्थ्य विभाग के सुपरवाइजर, ग्रामीण स्वास्थ्य संयोजक एवं निगम के राजस्व विभाग की टीम प्रशिक्षित हो चुके हैं। लक्षण युक्त मरीज, गंभीर मरीज और बिना लक्षण वाले मरीजों को वर्ग वार अलग कर सूचीबद्ध करते हुए रिपोर्ट तैयार की जा रही है।

मरीज के संपर्क में आए हुए हाई रिस्क कांटेक्ट एवं लो रिस्क प्राइमरी कांटेक्ट के बारे में भी जानकारी एकत्रित की जा रही है।
 होम आइसोलेशन में रह रहे पॉजिटिव मरीज के घरों में जोन क्रमांक 1 के 928 घर, जोन क्रमांक 2 के 177 घर, जोन क्रमांक 3 के 244 घर, जोन क्रमांक 4 के 135 घर एवं जोन क्रमांक 5 के 532 घरों में स्टीकर चस्पा किया जा चुका है। जिले में लागू गाइडलाइन के अनुसार कोविड-19 के मरीजों को होम आइसोलेशन में रहने की सुविधा दी गई है। इस व्यवस्था के अंतर्गत निगम क्षेत्र में कोविड-19 के पॉजिटिव कई मरीज अपने घरों में रह कर इलाज करा रहे हैं। स्टीकर लगाने संबंधी कार्य के लिए आयुक्त रघुवंशी ने फील्ड में कार्य करने वाले राजस्व और स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों की जिम्मेदारी तय किया है। इसके अतिरिक्त कर्मचारियों की ड्यूटी निगम क्षेत्र में संचालित फीवर क्लीनिक सेंटर, प्राथमिक चिकित्सालय और जिला चिकित्सालय से कोविड-19 पॉजिटिव मरीजों की प्रतिदिन की जानकारी जुटाने में लगाई गई हैं। उसी रिपोर्ट के अनुसार ही निगम के कर्मचारी होम आइसोलेशन वाले मकानों का सर्वे करने घरों में पहुंच रहे हैं और घरों में स्टीकर लगाने का कार्य कर रहे हैं।

 

 

06-10-2020
31 पॉजिटिव मरीज हुए स्वस्थ,39 नए मरीज भर्ती,248 मरीजों का उपचार जारी,810 बेड रिक्त

जांजगीर चांपा। कोविड अस्पतालों से मंगलवार को 31  कोरोना पॉजिटिव मरीज के सफल इलाज के बाद स्वस्थ होने पर उन्हें डिस्चार्ज किया गया। 39 कोविड-19 पॉजिटिव मरीज इलाज के लिए भर्ती किए गए।  कलेक्टर यशवंत कुमार के मार्गदर्शन में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों के इलाज के लिए कोविड अस्पताल और 09 कोविड केयर सेंटर मे कुल 1058 बेड की व्यवस्था की गई है। इनमें से 248 बेड पर मरीजों का उपचार किया जा रहा है एवं 810 बेड रिक्त है। एक डेडिकेट कोविड केयर अस्पताल और 9 कोविड केयर सेंटर्स में स्वास्थ्य विभाग के प्रोटोकाल अनुसार इलाज की समुचित व्यवस्था की गई है। कोविड केयर सेंटर्स के नोडल अधिकारी ने बताया कि 06 अक्टूबर  को सायं 5.00 बजे की स्थिति मे जिला अस्पताल परिसर के कोविड अस्पताल में 80 बेड उपलब्ध है, 58  बेड में मरीज भर्ती है। इसी प्रकार आईटीआई कुलीपोटा में 150 बेड हैं इनमें 65 मरीजों का उपचार जारी हैं।

आकांक्षा परिसर जर्वे में 100 बेड की क्षमता है, वहां पर 22 मरीजो का उपचार जारी है। शासकीय क्रांति कुमार भारती महाविद्यालय जेठा सक्ती में 60 बेड उपलब्ध है, इनमें 39 मरीज भर्ती है। शासकीय अनुसूचित जाति बालक आश्रम धौराभाठा डभरा में 100 बेड है, जिनमें 21 में मरीजों का उपचार किया जा रहा है। आईटीआई अकलतरा में 125 बेड हैं जिनमें 38 मरीज भर्ती हैं और आईटीआई भवन महुदा-बलौदा मे 150 बेड की व्यवस्था की गई है। जिसमे 04 मरीजो का उपचार किया जा रहा है। दिव्यांग स्कूल पेण्ड्रीभाठा में 128 बेड है वहां पर एक मरीज उपचार किया जा रहा है। शासकीय एमएमआर महाविद्यालय चांपा में 130 बेड और कृषि महाविद्यालय बालक छात्रावास में उपलब्ध 35 बेड सभी रिक्त है। कोविड अस्पताल और कोविड केयर सेंटर्स में उपलब्ध बेड की संख्या प्रतिदिन जिले की वेबसाइट https://janjgir-champa.gov.in/   में उपलब्ध कराई जा रही है।

 

29-09-2020
कलेक्टर ने कहा,पॉजिटिव मरीजों की जानकारी भरने में सावधानी रखें,मोबाइल रक्षा एप डाउनलोड करवाने में मदद मिलेगी

जांजगीर चांपा। कलेक्टर यशवंत कुमार ने मंगलवार को जिला स्तरीय कोविड-19 कोर कमेटी की बैठक ली। इसमें उन्होंने कहा कि कोरोना जांच में पाजिटिव मरीजों की संपूर्ण जानकारी भरने में सावधानी रखें। विशेषकर होम आइसोलशन वाले मरीजों से संपर्क के लिए मोबाइल नंबर की एंट्री सही होनी चाहिए। संबंधित डाक्टर फोन के माध्यम से स्वास्थ संबंधी जानकारी ले सकेंगे। इसके अलावा मोबाइल रक्षा एप डाउनलोड करवाने में भी मदद मिलेगी। कलेक्टर ने कहा कि कोरोना जांच में धनात्मक पाए गए मरीजों की जानकरी उसी दिन निर्धारित पोर्टल में दर्ज करें। इससे राज्य स्तरीय नियंत्रण कक्ष को अद्यतन जानकारी तत्काल उपलब्ध हो जाए। पुलिस अधीक्षक पारूल माथुर ने कोविड केयर सेंटर्स के सुरक्षा प्रबंध एवं होमआइसोलेशन के मरीजों  के मोबाइल फोन पर डाउनलोड करवाने के संबंध में जानकारी दी। जिला पंचायत सीईओ तीर्थराज अग्रवाल ने धनात्मक पाए गए मरीजो डाटाएंट्री के संबंध में बताया। जिला स्वास्थ अधिकारी डाॅ पुष्पेन्द्र लहरे ने बताया जिले में 709 मरीज होम आइसोलेशन में है। संबंधित डाॅक्टर प्रतिदिन फोन करके मरीजों से  आक्सीजन लेवल, फिवर आदि की जानकारी चेकलिस्ट के अनुसार प्राप्त कर रहे हैं एवं परामर्श भी दिया जा रहा है। बैठक में कोविड सेंटर्स में उपलब्ध सुविधाओं के संबंध में चर्चा की गई। 

 

29-09-2020
35 पॉजिटिव मरीज हुए डिस्चार्ज, 208 का उपचार जारी, 850 बेड रिक्त, 20 नए भर्ती        

जांजगीर चांपा। कोविड अस्पतालों से मंगलवार को 35 कोरोना पाज़ीटिव मरीज स्वस्थ होकर अपने घरों को लौट गए। 20 कोविड पाज़ीटिव मरीज इलाज़ के लिए भर्ती किए गए। कलेक्टर यशवंत कुमार के मार्गदर्शन में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों के इलाज के लिए कोविड अस्पताल  और 9 कोविड केयर सेंटर मे कुल 1058 बेड की व्यवस्था की गई है। इनमें से 208  बेड पर मरीजों का उपचार किया जा रहा है एवं 850 बेड रिक्त है। कोविड अस्पताल और 9 कोविड केयर सेंटर्स में स्वास्थ्य विभाग के प्रोटोकाल अनुसार इलाज की समुचित व्यवस्था की गई है। सीएमएचओ कार्यालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार जिला अस्पताल सहित कोविड केयर सेंटर्स सें  35 मरीज समुचित उपचार के पश्चात स्वस्थ होने पर डिस्चार्ज किया गया है। साथ ही 5 सेंटर्स मे कुल 20 नए मरीजों की भर्ती की गई है।

कोविड केयर सेंटर्स के नोडल अधिकारी ने बताया कि 29 सितंबर को शाम 4 बजे की स्थिति में जिला अस्पताल परिसर के कोविड अस्पताल में 80 बेड उपलब्ध है,इनमें 67 मरीज भर्ती है। इसी प्रकार आईटीआई कुलीपोटा में 150 बेड हैं इनमें 14 मरीजों का उपचार जारी हैं। आकांक्षा परिसर जर्वे में 100 बेड की क्षमता है, वहां पर 11  मरीजों का उपचार जारी है। दिव्यांग स्कूल पेण्ड्रीभाठा में 128 बेड की व्यवस्था है, जिस पर 13 में मरीज भर्ती हैं। कृषि महाविद्यालय बालक छात्रावास भवन जर्वे के 35 बेड  में सभी रिक्त हैं। शासकीय एमएमआर महाविद्यालय चांपा में 130 बेड की व्यवस्था है,जिनमें 9 पर मरीज भर्ती है। शासकीय क्रांति कुमार भारती महाविद्यालय जेठा सक्ती में 60 बेड उपलब्ध है,इनमें 23 मरीज भर्ती है। शासकीय अनुसूचित जाति बालक आश्रम धौराभाठा डभरा में 100 बेड है,जिनमें 22 में मरीजों का उपचार किया जा रहा है। आईटीआई अकलतरा में 125 बेड हैं,जिनमें 45 मरीज भर्ती हैं और आईटीआई भवन महुदा-बलौदा में 150 बेड की व्यवस्था की गई है। इसमें 4 मरीजों का उपचार किया जा रहा है। कोविड अस्पताल और कोविड केयर सेंटर्स में उपलब्ध बेड की संख्या प्रतिदिन जिले की वेबसाइट  https://janjgir-champa.gov.in/ मे उपलब्ध कराई जा रही है।

 

22-09-2020
कोविड संदिग्ध मरीजों के लिए सीटी स्कैन की दरें पॉजिटिव मरीजों के समान ही निर्धारित, आदेश जारी

रायपुर। राज्य शासन ने कोविड संदिग्ध मरीजों के उपचार के दौरान हाई रिजाल्यूशन एचआरसीटी इन्वेस्टिगेशन की आवश्यकता होने पर निजी चिकित्सालयों और डायग्नोस्टिक केन्द्रों के लिए भी दरें निर्धारित की हैं। स्वास्थ्य विभाग की ओर से मंगलवार को जारी आदेश के अनुसार कोविड संदिग्ध मरीजों के लिए दरें भी कोविड पॉजिटिव मरीजों के लिए ली जाने वाली दरों जैसी ही लागू होंगी। बता दें कि, दरें सीटी चेस्ट विदाउट कान्ट्रास्ट फार लंग्स के लिए 1870 रुपए, सीटी चेस्ट विद कान्ट्रास्ट फार लंग्स के लिए 2354 रुपए निर्धारित शुल्क रखा गया है। आदेश में कहा गया है कि, उपरोक्त निर्देश का उल्लंघन एपिडेमिक डिसीज एक्ट 1897,छत्तीसगढ़ पब्लिक एक्ट1949 एवं छत्तीसगढ़़ एपिडेमिक डिसीज कोविड 19 रेगुलेशन एक्ट 2020 के तहत दंडनीय होगा।

 

19-09-2020
बिल्हा क्षेत्र के पूर्व घोषित अनेक कंटेनमेंट जोन हुए पाबंदियों से मुक्त

रायपुर/बिलासपुर। प्रदेश की राजधानी रायपुर में 21 सितंबर की रात्रि से 7 दिनों के सख्त लॉक डाउन की घोषणा की गई है। वहीं बिलासपुर में ऐसे ही लॉकडाउन की घोषणा संभव बताई जा रही है। ऐसी विपरीत स्थिति में बिल्हा क्षेत्र के लिए एक राहत खबर यह है कि वहां के पूर्व घोषित अनेक कंटेनमेंट जोन को शनिवार को कंटेनमेंट की पाबंदियों से मुक्त कर दिया गया। वही मस्तूरी विकासखंड के एरमशाही गांव में पॉजिटिव मरीज मिलने के कारण संबंधित क्षेत्र को कंटेनमेंट जोन घोषित कर उससे जुड़ी पाबंदियों को सख्ती से लागू कर दिया गया है। बिल्हा विकासखंड में पूर्व घोषित जिन कंटेनमेंट जोन को विमुक्त घोषित करते हुए पाबंदियों से मुक्त किया गया है।

उनमें बोदरी के वार्ड क्रमांक 11, वार्ड क्रमांक 8, वार्ड क्रमांक 3, वार्ड क्रमांक 14 शामिल हैं। वही बोदरी के ही वार्ड क्रमांक 3 और रामावैली एरिया को भी कंटेनमेंट की पाबंदियों से मुक्त किया गया है। इसी तरह बिल्हा नगर पंचायत के वार्ड क्रमांक 14, बिल्हा के ही वार्ड क्रमांक दो और देव किरारी तथा दगौरी व रहंगी के पूर्व घोषित कंटेनमेंट को कंटेनमेंट संबंधित पाबंदियों से मुक्त कर दिया गया है। जबकि मस्तूरी के एरमशाही में पॉजिटिव मरीज पाए जाने के कारण संबंधित क्षेत्र को कंटेनमेंट जोन घोषित किया गया है।

 

12-09-2020
जिले में आज 44 नए कोरोना संक्रमितों की पहचान

कांकेर। कोरोना मरीजों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। शनिवार को जिले में  44 नए कोरोना मरीजों की पहचान हुई है। कांकेर ब्लाक से 5 मरीजों की पुष्टि हुई है, जिसमें गोविंदपुर से 2, इमलीपारा से 2, ठेलकाबोड़ से 1 कोरोना पॉजिटिव मरीज शामिल हैं। वहीं अंतागढ़ में 15, भानुप्रतापपुर में 14, चारामा में 4, दुर्गुकोंदल में 2, नरहरपुर में 3 तथा कोयलीबेड़ा में 1 संक्रमित मिले है। वहीं अब तक जिले में कुल कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या 1000 पार हो गई है। इसमें से 691 मरीज अस्पतालों से स्वस्थ होकर घर लौट चुके हैं। अभी तक जिले में कोरोना संक्रमित 7 लोगों की मौत भी हो चुकी है। इसकी पुष्टि स्वास्थ्य विभाग ने की है। 

 

09-09-2020
जिले में बुधवार को मिले कोरोना के 46 पॉजिटिव मरीज

कांकेर। छग स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी बुलेटिन में जिले से कोरोना संक्रमण के 46 नये मामले सामने आए हैं। वहीं शहर व आसपास गांवों से ही 17 नये कोरोना संक्रमित मामले की पुष्टि हुई है। सीएमएचओ डॉ.जेएल उयके ने कोरोना संक्रमण के नये मामलों की पुष्टि करते हुए बताया कि शहर में 17 वहीं जिले में 46 मामले सामने आये हैं। इसमें मांझापारा 2, राजापारा 1, फारेस्ट कॉलोनी के पास 2, श्रीरामनगर 1, गोविंदपुर 1,धनेलीकन्हार 1, आरईएस कॉलोनी 2, टिकरापारा 5,आमापारा 1 व क्वारंटाइन सेंटर इमलीपारा में भी एक कोरोना संक्रमित मिला है। जिले में भानुप्रतापपुर से 8,अंतागढ़ से 13,चारामा 3,दुर्गूकोंदल 2,नरहरपुर 2 और कोयलीबेड़ा से 1 संक्रमित मिला है।

 

08-09-2020
किडनी की बीमारी से पीड़ित वेंटिलेटर के साथ इलाजरत कोविड पॉजिटिव मरीज का सफल डायलिसिस

रायपुर। बिलासपुर कोविड अस्पताल में किडनी की गंभीर बीमारी से जूझ रहीं कोरोना संक्रमित और अभी वेंटिलेटर के साथ उपचाररत महिला का सफल डायलिसिस किया गया है। डॉक्टरों ने ऑक्सीजन लगे रहते हुए ही उनका डायलिसिस किया है। बिलासपुर की रहने वाली 36 वर्ष की यह महिला किडनी रोग के साथ ही मधुमेह और हाइपरटेंशन से भी पीड़ित है। पिछले छह दिनों से अस्पताल में भर्ती इस मरीज का डॉक्टरों ने आज दूसरी बार डायलिसिस किया है। बिलासपुर कोविड अस्पताल में शहर की ही एक और कोविड-19 पीड़ित 52 वर्ष की महिला का भी दो बार डायलिसिस किया जा चुका है। सप्ताह में तीन दिन डायलिसिस की जरूरत वाली इस मरीज का 6 सितम्बर को पहले डायलिसिस के बाद आज दूसरी बार डायलिसिस किया गया। दोनों मरीजों की स्थिति अभी अच्छी है। विगत 15 मई से संचालित 100 बिस्तरों वाले बिलासपुर कोविड अस्पताल में कोरोना संक्रमित महिलाओं की सुरक्षित सिजेरियन और सामान्य प्रसव की भी सुविधा है।

वहां अब तक दो महिलाओं की सिजेरियन और तीन महिलाओं की नॉर्मल डिलीवरी करवाई जा चुकी है। कोविड अस्पताल के डॉक्टरों ने आज बिलासपुर के अपोलो अस्पताल में स्टॉफ नर्स 28 वर्षीया युवती की सिजेरियन डिलीवरी कराई है। कोरोना संक्रमित होने के कारण उसे डिलीवरी के लिए अपोलो अस्पताल से बिलासपुर कोविड अस्पताल रिफर किया गया था। जच्चा और बच्चा दोनों की स्थिति अभी अच्छी है। बिलासपुर कोविड अस्पताल में अब तक 819 मरीजों का इलाज किया गया है। इनमें से 697 मरीज स्वस्थ होकर अपने घरों में लौट चुके हैं। अस्पताल में 28 आईसीयू बिस्तरों और सात वेंटिलेटर्स के साथ कुल 100 बिस्तर हैं। अभी वहां 64 मरीजों का इलाज चल रहा है। गंभीर मरीजों के इलाज के लिए ऑक्सीजन सिलेंडरों की पर्याप्त आपूर्ति सुनिश्चित करने स्वास्थ्य विभाग द्वारा अस्पताल को ऑक्सीजन कॉन्सेंट्रेटर भी उपलब्ध कराया गया है।

 

08-09-2020
जिले में मिले 34 कोरोना संक्रमित, कांकेर व नरहरपुर में सर्वाधिक, 5 हुए डिस्चार्ज

कांकेर। जिलेभर में कोरोना संक्रमण के 34 मरीजों की पुष्टि हुई है। मंगलवार शाम 5 बजे जारी बुलेटिन में कांकेर में 11 व नरहरपुर में 10 कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। भानुप्रतापपुर में 7, अन्तागढ़ में 4, चारामा में 2 संक्रमित मरीजों की पुष्टि मुख्यचिकित्सा अधिकारी ने की है। कांकेर जिले में कुल पॉजिटिव मरीजों की संख्या 877 है। अब तक कुल 631 मरीज डिस्चार्ज हो चुके हैं। जिले एक्टिव मरीज 239 और मंगलवार को 5 लोगों को डिस्चार्ज किया गया है।

 

24-08-2020
इस जिले में केवल 10 मरीजों को ही दी जाएगी होम आइसोलेश की अनुमति...

अंबिकापुर। अब जिले में भी कोरोना मरीज होम आइसोलेशन में रह सकते हैं। इसके लिए शासन से अनुमति मिल गई है। अनुमति मिलते ही सीएमएचओ डॉ. पीएस सिसोदिया ने जिले में केवल 10 मरीजों को ही अनुमति दी जाएगी। इसके लिए मरीजों को शासन के निर्देशों का पालन करना पड़ेगा और सहमति पत्र देना पड़ेगा। सीएमएचओ ने बताया कि संबंधित व्यक्ति को यह सुविधा तभी प्रदान की जाएगी जब उनके घर पर सेल्फ आइसोलेशन एवं अन्य पारिवारिक संपर्क को क्वारेंटाइन करने की आवश्यक सुविधा उपलब्ध हो। सीएमएचओ ने बताया कि होम आइसोलेशन में रहने वाले पॉजिटिव मरीजों को हमेशा ट्रिपल लेयर मास्क का प्रयोग करना होगा।

मरीज के लिए अगल कमरा एवं बाथरूम की व्यवस्था रहनी चाहिए। यही नहीं निर्जलीकरण से बचाव के लिए ज्यादा से ज्यादा तरल पदार्थ का सेवन एवं हाथों की साबुन अथवा सैनिटाइजर से लगातार सफाई करनी होगी। उन्हें निजी इस्तेमाल की वस्तुओं को अलग रखना होगा, नियमित रूप से तापमान की जांच करनी होगी, कमरे की नियमित सफाई करनी होगी तथा चिकित्सकों द्वारा दिए गए सभी निर्देशों का पालन करना होगा।

इन मरीजों को मिलेगी अनुमति :
1. मरीज लक्षणरहित हो
2. मरीज 5 वर्ष से कम एवं 60 वर्ष से अधिक न हो
3. गर्भवती महिला न हो
4. बीपी शुगर या लंबी अवधि से हृदय रोग से पीड़ित न हो।
5. 3 रूम का घर हो और मरीज के लिए अलग रूम और बाथरूम की व्यवस्था होनी चाहिए।
6. कोई युवा व्यक्ति मरीज की देखभाल के लिए होना चाहिए।
7. मरीज स्वयं के लिए निजी चिकित्सक की व्यवस्था करें जो कि मरीज का प्रतिदिन ऑक्सीजन लेवल, शरीर का तापमान जांच करें एवं कंट्रोल रूम को सूचित करें।

18-08-2020
धमतरी में पैर पसार रहा कोरोना, मिले 5 पॉजिटिव मरीज

धमतरी। प्रदेश के अन्य शहरों की अपेक्षा धमतरी की स्थिति ठीक थी लेकिन अब यहां कोविड-19 वायरस तेजी से पैर पसारने लगा है। मंगलवार को एक साथ 5 पॉजिटिव केस सामने आए है। जिला सर्विलांस अधिकारी डॉ.विजय फूलमाली ने बताया कि 2 पॉजिटिव जिला जेल से, एक शहर के रिसाईपारा वार्ड से, एक बठेनापारा वार्ड से तथा एक मगरलोड से मिला है। सभी प्राइमरी सम्पर्क वाले हैं। जल्द ही इन्हें अस्पताल में भर्ती कराने की कार्यवाही की जाएगी। जिले में कुल कोरोना पॉजिटिव की संख्या अब 80 हो गई है। इसमें 66 स्वस्थ होकर अपने घर जा चुके हैं। वहीं 12 एक्टिव केस है, जिनका का इलाज जारी है। पूर्व में दो लोगों की मृत्यु हो चुकी है।

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804