GLIBS
07-06-2020
जानें पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने क्यों कहा कि भारत में लोग भूख से मर रहे

नई दिल्ली। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान ख़ान ने एक बार फिर लॉक डाउन के ख़िलाफ़ बयान दिया है। जब से कोरोना की महामारी फैली है वो पूरी तरह लॉक डाउन का विरोध करते रहे हैं। खबरों के अनुसार इमरान ख़ान ने कहा कि मुल्क अब और लॉक डाउन बर्दाश्त नहीं कर सकता। इमरान ख़ान ने कहा कि लॉक डाउन की वजह से पाकिस्तान के राजस्व में 800 अरब रुपए का घाटा हुआ है। उन्होंने कहा कोरोना को फैलने से नहीं रोक सकते, न लॉकडाउन की तरफ़ वापस जा सकते हैं और न मुल्क अब और लॉक डाउन बर्दाश्त कर सकता है। ग़रीब मुल्कों में लॉक डाउन से तबाही मच गई। इमरान ख़ान का कहना था हमें पता था कि लॉक डाउन से ग़रीबी बढ़ेगी। ये पाबंदी लोगों पर मुश्किल है। अब दुनिया स्मार्ट लॉक डाउन की तरफ़ जा रही है। इमरान ख़ान ने आगे कहा कि भारत में लोग भूख से मर रहे हैं। अमरीका जैसे अमीर देश में लाइनों में खड़े लोगों को खाना दिया जा रहा है, लेकिन पाकिस्तान में उतना नुक़सान नहीं हुआ। खबरों के अनुसार पाकिस्तान के वित्त मंत्रालय ने कहा है कि कोरोना के कारण 30 लाख लोगों के बेरोज़गार होने और ग़रीबी के 33.5 फ़ीसदी होने का अंदेशा है।

22-11-2019
राजनीती की पिच पर गुगली करेंगे मुरलीधरन, बड़ा पद दे सकती है सरकार

नई दिल्ली। क्रिकेट के मैदान से बाहर राजनीति की पिच पर कई खिलाड़ी सफल बैटिंग कर रहे हैं। पाकिस्तान के इमरान खान हों, भारत के नवजोत सिंह सिद्धू और चेतन चौहान हों। ये सब राजनीति की फिल्ड पर अपनी गुगली कर रहे हैं। इसी कड़ी में अब श्रीलंका के खिलाड़ी मुथैया मुरलीधरन का नाम भी जुड़ने जा रहा है।

सरकार कर रही राज्यपाल बनाने की तैयारी
श्रीलंका के 47 वर्षीय ऑफ स्पिनर उतरी राज्य में गवर्नर बनाए जा सकते हैं। खबरों के मुताबिक मुथैया मुरलीधरन को गोटाबाया राजपक्षे की सरकार में अहम जिम्मेदारी मिलने वाली है। उन्हें तमिल बाहुल्य सूबे में राज्यपाल बनाने पर विचार किया जा रहा है। हालांकि इस सिलसिले में आधिकारिक जानकारी सामने नहीं आई है। दूसरी तरफ उनकी नियुक्ति को लेकर स्थानीय तमिल विरोध कर रहे हैं। क्योंकि पूर्व क्रिकेटर ने गोटाबाया के रक्षा सचिव रहते उनका समर्थन किया था। गोटाबाया पर 2005 से 2015 के दरम्यान युद्ध अपराध का आरोप लग चुका है। चुनाव बाद भारतीय तमिल और श्रीलंका के तमिल गोटाबाया के राष्ट्रपति बनने से आशंकित हैं। इससे पहले उन्होंने उनकी गिरफ्तारी की मांग की थी। लेकिन श्रीलंका की सरकार ने उनकी गिरफ्तारी से इनकार कर दिया।
मुथैया मुरलीधरन के खाते में 80 टेस्ट विकेट लेने का इतिहास है। मुरलीधरन 1996 के वर्ल्ड कैप मैच में श्रीलंका की तरफ से खेल चुके हैं। श्रीलंका की आबादी में स्थानीय तमिल और भारतीय तमिल की तादाद 12 फीसद है। तमिल उनकी नियुक्ति का विरोध इसलिए भी कर रहे हैं क्योंकि उन्हें लगता है कि सरकार उनकी नियुक्ति कर उनके जख्मों पर नमक छिड़क रही है। चुनाव में जीत के बाद राष्ट्रपति गोटाबाया मुरलीधरन को सम्मान देना चाहते हैं। क्या उन्हें उत्तरी सूबे का राज्यपाल या राजदूर बनाया जाएगा या फिर कई दूसरा पद दिया जाएगा? कहा ये जा रहा है कि इसके जरिए सरकार लोगों लोगों का मूड भांपना चाहती है।

13-11-2019
पाक कर रहा आर्मी एक्ट में कई बदलाव, कुलभूषण जाधव पर लेगा बड़ा फैसला

लाहौर। पाकिस्तान की जेल में बंद भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव मामले में इमरान खान सरकार बहुत जल्द बड़ा फैसला लेने जा रही है। सूत्रों के मुताबिक जाधव के मामले को सिविल कोर्ट में भेजने की तैयारी की गई है। इसके लिए पाकिस्तान सरकार ने आर्मी एक्ट में कई बदलाव करने का निर्णय लिया है। इस बदलाव के बाद जाधव को अपनी गिरफ्तारी के खिलाफ सिविल कोर्ट में अपील करनी होगी। कुलभूषण जाधव पर अभी तक आर्मी कोर्ट में मुकदमा चलाया जा रहा है। आर्मी एक्ट के तहत ऐसे व्यक्तियों या समूह को जिसका मुकदमा आर्मी कोर्ट में चल रहा हो, उसे सिविल कोर्ट में अपील करने की इजाजत नहीं दी जाती है। लेकिन कुलभूषण जाधव मामले को लेकर पाकिस्तान आर्मी कोर्ट के इस एक्ट में संशोधन करेगा। गौरतलब है कि कुलभूषण जाधव मामले में पाकिस्तान को हाल में ही बड़ी शिकस्त मिली है। इंटरनेशनल जस्टिस कोर्ट के प्रेसिडेंट जज ने कहा कि इस मामले में पाकिस्तान ने वियना संधि के नियमों की अनदेखी की है। आईसीजे ने कहा कि इस गिरफ्तारी की सूचना भारतीय दूतावास को भी नहीं दी गई थी। यहां तक कि भारत के कई बार अपील के बाद भी कुलभूषण जाधव को काउंसुलर एक्सेस नहीं दिया गया। 

 

06-11-2019
पंजाब : अमृतसर की सड़कों पर लगे इमरान-सिद्धू के पोस्‍टर, लिखी गई ये बात...

नई दिल्ली। पाकिस्‍तान सीमा में स्थित सिखों के प्रमुख धार्मिक स्‍थल करतारपुर साहिब तक जाने वाले कॉरिडोर का उद्घाटन 9 नवंबर को होना है। पाकिस्‍तान द्वारा इस कार्यक्रम में नवजोत सिंह सिद्धू सहित कई भारतीय नेताओं को आमंत्रित किया गया है। इस पर पहले से ही विवाद हो रहा था, लेकिन इस बीच अमृतसर में लगे पोस्‍टरों ने नए सिरे से विवाद शुरू कर दिया है। अमृतसर की सड़कों पर लगे पोस्‍टरों में पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री इमरान खान और पूर्व क्रिकेटर एवं कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू की तस्‍वीरें दिखाई दे रही हैं। इसके साथ ही इस पोस्‍टर में करतारपुर कॉरिडोर के लिए दोनों को धन्‍यवाद देते हुए दोनों को 'असली हीरो' बताया गया है। बता दें कि 12 नवंबर को गुरु नानक देव जी की जयंती मनाई जाएगी।

जारी की गई तस्‍वीरों के अनुसार इन पोस्टरों में लिखा गया है कि नवजोत सिंह सिद्धू और इमरान खान करतारपुर कॉरिडोर खुलवाने वाले असली हीरो हैं। अमृतसर की सड़कों पर ये पोस्‍टर वेरका के पार्षद मास्टर हरपाल सिंह ने लगवाए हैं। हरपाल सिंह कहते हैं, 'हम उन लोगों को धन्यवाद देने चाहते हैं, जिन्होंने इसे संभव किया। इसे हकीकत बनाने वाले हैं सिद्धू साहब और इमरान खान। कल तक और पोस्टर लगाए जाने हैं।' इस बीच पाकिस्‍तान से मिले निमंत्रण पर नवजोत सिंह सिद्धू ने विदेश मंत्री एस जयशंकर को संबोधित खत में लिखा है। इस पत्र में उन्‍होंने कहा है कि '9 नवंबर को करतारपुर साहिब कॉरिडोर के उद्घाटन कार्यक्रम में पाकिस्तान सरकार ने मुझे आमंत्रित किया है। एक सिख होने के नाते अपने महान गुरु बाबा नानक के प्रति श्रद्धा अर्पित करने का सम्मान मिलना और अपनी जड़ों से जुड़ने का यह एक ऐतिहासिक मौका है। इस खास अवसर पर पाकिस्तान यात्रा के लिए मुझे इजाजत दी जाए।'

 

01-11-2019
श्रद्धालु बिना पासपोर्ट के दर्शन करने जा सकेंगे करतारपुर, रजिस्ट्रेशन की जरुरत नहीं : इमरान खान

नई दिल्ली। गुरु नानक देव के 550वें प्रकाश पर्व पर गुरुद्वारा श्री करतारपुर साहिब के दर्शनों के लिए जाने वाले सिख श्रद्धालुओं के लिए पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने नियमों में छूट दी है। इसकी जानकारी उन्होंने ट्विटर के जरिए दी। खान ने लिखा, 'भारत से करतारपुर आने वाले सिखों के लिए दो बातें जरूरी हैं। पहला उन्हें पासपोर्ट की जरूरत नहीं है केवल एक वैध पहचान पत्र चाहिए और दूसरा उन्हें 10 दिन पहले रजिस्ट्रेशन कराने की कोई आवश्यकता नहीं है।'

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री ने यह भी कहा कि करतारपुर के उद्घाटन के दिन और गुरू नानक देव के 550वें प्रकाश पर्व के दिन कोई शुल्क नहीं लगेगा। वहीं पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह गुरुवार को करतारपुर कॉरिडोर की तैयारियों का जायजा लेने के लिए डेरा बाबा नानक सीमा पर पहुंचे। जहां उन्होंने कहा कि कैबिनेट मंत्री सुखजिंदर सिंह रंधावा की अगुवाई में 31 लोगों के प्रतिनिधिमंडल को पाकिस्तान ने गुरुद्वारा श्री ननकाना साहिब के दर्शनों की अनुमति नहीं दी।

उन्होंने कहा कि पाकिस्तान ने छोटापन दिखाया है। प्रतिनिधिमंडल ने पाकिस्तान में पहुंच कर अखंड पाठ रखवाना था। कैप्टन ने कहा कि पाकिस्तान एक तरफ कह रहा है कि वह गुरु नानक देव यूनिवर्सिटी बना रहे हैं और कॉरिडोर खोल रहे हैं तो उनके 31 लोग पहले ही वफद के रूप में पुख्ता प्रबंध करने के लिए पाकिस्तान चले जाते तो क्या गलत होता। गुरुवार को कॉरिडोर पर पहुंचे सीएम ने स्थानीय प्रशासनिक अधिकारियों से कार्यों की समीक्षा की।

27-10-2019
नवाज शरीफ को दिल का दौरा : मीडिया के दावों को खारिज किया डॉक्टरों ने

इस्लामाबाद। पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ का स्वास्थ्य बिगड़ता जा रहा है। लाहौर के एक सैन्य अस्पताल में इलाज करा रहे नवाज को शनिवार सुबह माइनर हार्ट अटैक आया। हालांकि नवाज का इलाज कर रहे डॉक्टरों की टीम ने हार्ट अटैक के मीडिया के दावों को खारिज कर दिया। डॉक्टरों ने कहा कि नवाज को एंजानिया पेन की शिकायत थी। सोमवार को तबीयत खराब होने पर नवाज को कोट लखपत जेल से लाकर भर्ती कराया गया था। डॉक्टरों ने नवाज का ईसीजी, कार्डियोग्राफी टेस्ट करवाया है। इसकी रिपोर्ट आने के बाद बीमारी का सही पता चल पाएगा। भ्रष्टाचार के एक मामले में सात साल की सजा काट रहे पूर्व प्रधानमंत्री नवाज पहले से ही गंभीर रूप से बीमार थे। उनका ब्लड प्लेटलेट्स काउंट गिरकर 12 हजार पहुंच गया था। लाहौर हाईकोर्ट ने चौधरी शुगर मिल भ्रष्टाचार मामले में नवाज को मेडिकल आधार पर जमानत दे दी थी। इस बीच नवाज के वकील ख्वाजा हैरिस ने दावा किया कि पूर्व प्रधानमंत्री को शुक्रवार रात को माइनर हार्ट अटैक आया और उनका जीवन खतरे में है। नवाज की तबीयत बिगडऩे के बाद उनके भाई शाहबाज शरीफ ने प्रधानमंत्री इमरान खान पर निशाना साधा था। उन्होंने आरोप लगाया था कि मेरे भाई की देखभाल अच्छे से नहीं हो रही है और उन्हें कुछ भी हुआ तो उसके जिम्मेदार इमरान होंगे। 

 

24-10-2019
पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय में घुसीं ये टिकटॉक स्टार, बनाया वीडियो...

इस्लामाबाद। पाकिस्तान की मशहूर टिकटॉक स्टार हरीम शाह एक बार फिर चर्चा में आ गई हैं। इस बार वह इस वजह से ज्यादा चर्चा में हैं क्योंकि उन्होंने अपना विडियो पाकिस्तान विदेश मंत्रालय के कॉन्फ्रेंस रूम में शूट किया है। हरीम का यह विडियो आते ही सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। हरीम इस विडियो में हाई-सिक्यॉरिटी वाले पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय के कॉन्फ्रेंस रूम में दिखाई दे रही हैं। इसमें वह उस कुर्सी पर भी बैठ जाती हैं, जहां पाकिस्तान के विदेश मंत्री बैठते हैं। हरीम ने कहा, 'मैं नैशनल असेंबली भी गई थी। वहां मैंने अपना पास लिया और सही तरीके से ही वहां दाखिल हुई। मुझे वहां किसी सिक्यॉरिटी ने नहीं रोका, मुझे कोई रुकावट नहीं मिली, किसी ने मेरी मदद नहीं की और मैं खुद ही वहां गई थी। हरीम के विडियो पर लोग नाराजगी ही नहीं जता रहे हैं बल्कि इमरान खान की सरकार का मजाक भी उड़ा रहे हैं।

13-10-2019
तुर्की सेना ने सीरिया पर किया हमला, सीमावर्ती शहर को लिया कब्जे में

तुर्की। तुर्की की सेना ने सीरिया के सीमावर्ती शहर रास-अल-ऐन पर हमला कर उसे अपने कब्जे में ले लिया है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक तुर्की ने पूर्वोत्तर सीरिया में कुर्दों के नियंत्रण वाले इलाकों में हवाई हमले किए। तुर्की रक्षा मंत्रालय ने ट्वीट कर कहा कि शांति के लिए चलाए जा रहे अभियान की सफलता के तौर पर फरात के पूर्व में रास अल ऐन के शहरी क्षेत्र को नियंत्रण में ले लिया गया है। हालांकि सीरियाई कुर्दों ने तुर्की रक्षा मंत्रालय के इस दावे को खारिज कर दिया है। पाकिस्तान ने उत्तर सीरिया में कुर्दों के खिलाफ तुर्की सेना की कार्रवाई का समर्थन किया है। तुर्की के राष्ट्रपति रजब तैयब एर्दोआन के इस महीने के अंत में इस्लामाबाद दौर पर आने की खबरों के बीच पाकिस्तान तुर्की की इस कार्रवाई का समर्थन किया है। मालूम हो कि कश्मीर मुद्दों पर पूरी दुनिया में मुंह की खा चुके पाकिस्तान का तुर्की ने संयुक्त राष्ट्र में समर्थन किया था। तुर्की के इसी एहसान का बदला चुकाने के लिए पाकिस्तान सीरिया में तुर्की की कार्रवाई का समर्थन कर रहा है। हालांकि अमेरिका, भारत समेत दुनिया के कई बड़े देशों ने सीरिया पर तुर्की की इस कार्रवाई का विरोध किया है। वहीं अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने तो इस कार्रवाई के लिए तुर्की की अर्तव्यवस्था तबाह करने की धमकी दी है।

दरअसल तुर्की के राष्ट्रपति रजब तैयब एर्दोआन ने कहा था कि उनका देश उत्तर सीरिया के कथित कुर्द चरमपंथियों के खिलाफ कार्रवाई नहीं रोकेगा। साथ ही एर्दोआन ने कार्रवाई रोकने की अन्य देशों की मांग को धमकी करार देते हुए उसे सिरे से खारिज कर दिया। पाकिस्तान सरकार की ओर से जारी बयान में कहा गया कि प्रधानमंत्री इमरान खान ने समर्थन और एकजुटता प्रकट करने के लिए तुर्की के राष्ट्रपति रजब तैयब ऐर्दोआन को फोन किया। इमरान खान ने यह भी कहा है कि वे प्रार्थना करकते हैं कि तुर्की ने सारिया में सुरक्षा, क्षेत्रीय स्थिरता और शांतिपूर्ण समाधान खोजने की जो कोशिश की है वह पूरी तरह से सफल हो। पाकिस्तान आतंकवाद पर तुर्की की चिंताओं, खतरे और चुनौतियों को समझता है जिससे हाल के वर्षों में 40,000 लोगों की मौत हुई है। बता दें कि तुर्की की सीरिया के कुर्द लड़ाकों से लड़ाई एक सदी से भी ज्यादा पुरानी है। तुर्की की 15 से 20 फीसदी आबादी कुर्दों की है। 1920 तक तुर्की में कुर्दों का दमन किया गया और उन्हें मूलभूत अधिकारों से वंचित रखा गया। 1980 में कुर्दिस्तान वर्कर्स पार्टी ने सशस्त्र आंदोलन शुरू किया। 2013 में दोनों के बीच सीजफायर किया गया और 2015 में फिर से इसका उल्लंघन किया जाने लगा। तुर्की ने कुर्दिस्तान वर्कर्स पार्टी को आतंकी संगठन घोषित किया हुआ है।

 

29-09-2019
पीएम इमरान खान को आम यात्रियों की तरह जाना पड़ा पाकिस्तान

नई दिल्ली। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान संयुक्त राष्ट्र महासभा में भाग लेने के लिए न्यूयॉर्क गए तो सऊदी अरब क्राउन प्रिंस सलमान के जेट विमान से लेकिन वापस पाकिस्तान एक आम यात्रियों की तरह कमर्शियल फ्लाइट से आना पड़ा। दरअसल अमेरिका से वापस आते वक्त इमरान खान जिस विमान से आ रहे थे उसमें तकनीकी खराबी आ गई थी।
बता दें कि शनिवार शाम इमरान खान को सऊदी अरब से उधारी में मिले जेट से वापस आना था। इमरान खान शनिवार शाम को न्यूयॉर्क के कैनेडी अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट पहुंचे, वे विमान में सवार हुए, विमान ने उड़ान भी भर ली, लेकिन तत्काल इंजीनियरों को विमान में तकनीकी खराबी का पता चला। इसके बाद फ्लाइट को वापस ले आया गया।
तकनीशियन विमान की खामी को दूर करने का प्रयास करते रहे और इस दौरान इमरान खान को एयरपोर्ट पर इंतजार भी करना पड़ा, लेकिन बाद में पता चला कि यह खामी शनिवार सुबह तक दूर हो सकेगी। एयरपोर्ट पर घंटों इंतजार करने के बाद पाकिस्तान की राजदूत मलीहा लोधी इमरान को वापस रूसवेल्ट होटल ले गईं, जहां वह अपनी सात दिवसीय यात्रा के दौरान ठहरे हुए थे। फिलहाल सच यही है कि अपनी शान बढ़ाने के लिए इमरान वापसी के दौरान जिस उधारी के विमान में बैठे थे उसमें गड़बड़ी आ गई और उन्हें ये विमान भी अमेरिका में छोड़ना पड़ा बाद में वो कमर्शियल फ्लाइट से टिकट खरीदकर वापस पाकिस्तान के लिए रवाना हुए।


 

28-09-2019
कश्मीर से कर्फ्यू हटने पर होगा खून खराबा : इमरान खान

नई दिल्ली। अंतरराष्ट्रीय मंचों पर हर बार मुंह की खाने के बावजूद पाकिस्तानी पीएम इमरान खान ने संयुक्त राष्ट्र महासभा में फिर कश्मीर राग अलापा है। इमरान ने भारत पर शिमला समझौते और भारतीय संविधान के उल्लंघन का आरोप लगाया। उन्होंने कहा, मोदी सरकार ने गैरकानूनी तरीके से कश्मीर का विशेष दर्जा खत्म किया। 80 लाख लोगों को जबरन कर्फ्यू लगाकर घरों में कैद किया गया है। हजारों युवा गायब हैं। लोग जानवरों से बदतर हालात में हैं। घाटी से कर्फ्यू हटने पर खून खराबा होगा। कश्मीरी ज्यादा कट्टर होंगे। पुलवामा जैसे हमले होंगे और भारत हम पर दोष मढ़ेगा। इमरान ने कश्मीर को इस्लाम से जोड़ते हुए कहा, वहां जो हो रहा है, वह मुस्लिमों को हथियार उठाने के लिए उकसाने वाला है।

भारत के 18 करोड़ मुस्लिम कश्मीर के चलते कट्टरता की ओर बढ़ेंगे। दुनिया के 1.3 अरब मुस्लिम भी देख रहे हैं। अगर किसी समुदाय के लोगों को ऐसे बंधक बनाकर रखा जाएगा तो बाकी लोगों पर क्या असर होगा। वे हथियार उठाएंगे और ऐसा इस्लाम की वजह से नहीं, बल्कि मुस्लिमों पर अन्याय के कारण होगा। इमरान ने युद्ध की गीदड़भभकी देते हुए कहा, अगर हम परमाणु युद्ध की ओर बढ़ते हैं तो संयुक्त राष्ट्र इसका जिम्मेदार होगा। आपको इसे रोकना होगा। इसलिए 1945 में संयुक्त राष्ट्र का गठन किया गया था। अगर दोनों देशों के बीच परंपरागत युद्ध होता है तो कुछ भी हो सकता है। कोई देश पड़ोसी देश के मुकाबले छोटा है तो उसके सामने दो ही रास्ते होते हैं या सरेंडर करना या लड़ते हुए मरना। हम आखिरी सांस तक लड़ेंगे।

25-09-2019
पाकिस्तानी पीएम पर भड़के सीएम भूपेश, कहा-क्या हैसियत, जो हमारे देश के आंतरिक मामले पर बोले ?

रायपुर। पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान के कांग्रेस पर यूएन में दिए बयान पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने पलटवार किया है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने ट्वीट कर पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान को आड़े हाथ लिया है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने ट्वीट किया कि इमरान खान की क्या हैसियत, जो हमारे देश के आंतरिक मामलों में बोले? वो अपना देश संभाले। हम अपने प्रधानमंत्री की नीतियों से सहमत असहमत होंगे, चर्चा करेंगे, सवाल उठाएंगे, उनसे जवाब मांगेंगे। देश के बाहर प्रधानमंत्री का प्रत्येक कदम देश का कदम होता है और कांग्रेस पार्टी उनके साथ है। यह ट्वीट मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने रायपुर से दिल्ली रवाना होने के पूर्व किया। बुधवार सुबह वे रायपुर से दिल्ली रवाना हुए हैं।

19-09-2019
पाकिस्तान में अत्याचार के खिलाफ सिंधी व सिक्ख समुदाय ने खोला मोर्चा, फूंका इमरान खान का पुतला

दुर्ग। पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों के साथ हो रहे अत्याचार के विरोध में बुधवार को पूज्य सिंधी जनरल पंचायत और गुरुद्वारा गुरुसिंग सभा ने रैली निकालकर आक्रोश जताया। सिंधी जनरल पंचायत द्वारा पटेल चौक में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान का पुतला भी फूंका गया। रैली उपरांत दोनों समुदाय ने कलेक्ट्रेट पहुंचकर भिलाई नगर एसडीएम अरुण वर्मा को कलेक्टर के नाम ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन के माध्यम से उन्होने पाकिस्तान में हिन्दुओं, सिंधीयों एवं सिक्ख समुदायों को सुरक्षा एवं उनके आस्था के केन्द्रों में सुरक्षा व्यवस्था दुरुस्त करने पर जोर दिया गया। पूज्य सिंधी जनरल पंचायत एवं गुरुद्वारा गुरुसिंग सभा ने कहा है कि पाकिस्तान में हिन्दू, सिंधी व सिक्ख समुदाय के लोग अब सुरक्षित नहीं रह गए है।

हमारे आस्था के केन्द्रों में लगातार तोडफ़ोड़ की जा रही है, वहीं हमारे समुदाय की लड़कियों का जर्बदस्ती धर्म परिवर्तन करवाकर उन्हे मुस्लिम बनाया जा रहा है। जो अत्याचार के साथ-साथ हमारी धार्मिक भावनाओं को आघात पहुंचाने वाला कृत्य है। ऐसी घटनाएं बर्दाश्त नहीं की जा सकती है। इसलिए ऐसी घटनाओं पर विराम लगाने केन्द्र सरकार जल्द उचित कदम उठाएं। इस दौरान सिंधी जनरल पंचायत के अध्यक्ष खेमचंद मध्यानी, नरसिंग कुकरेजा, परुमल शोभानी, आसनदास मोहनानी, राजपाल, संजय केसवानी, पवन केशरवानी, चंदर जे कुकरेजा, राजकुमार पाहुजा, हसमत तेजवानी, नामदेव मघनानी, सभापति राजकुमार नारायणी, नरेश तेजवानी, चंद्रभान मघनानी के अलावा गुरुद्वारा गुरुसिंग सभा व पूज्य सिंधी जनरल पंचायत एवं समाज के लोग मौजूद थे।

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804