GLIBS
21-10-2020
अग्रगमन ने खोली सफलता की राह, नीट में मिली रंजीता को कामयाबी

कोरबा। जिला प्रशासन गरीब, मेधावी बच्चों के डाक्टर-इंजीनियर बनने के सपने को साकार कर रहा है। जिला प्रशासन द्वारा संचालित अग्रगमन कोचिंग योजना में इस वर्ष नीट परीक्षा की तैयारी करने वाली बैच में रंजीता बिंझवार ने पहला स्थान हासिल किया है। देश की सर्वोच्च मेडिकल प्रवेश परीक्षा नीट को रंजीता ने 385 अंकों के साथ क्वालीफाई किया है। रंजीता डाॅक्टर बनकर समाज और देश की सेवा करना चाहती है। नीट क्वालीफाई होने के बाद रंजीता ने अपनी सफलता का श्रेय जिला प्रशासन की अग्रगमन कोचिंग को दिया है। उन्होंने कहा कि अग्रगमन में रहकर पढ़ाई करने से ही मुझे कामयाबी मिल पाई। रंजीता ने बताया कि गांव के बच्चों के लिए उच्च स्तर के परीक्षा की तैयारी करना चुनौती भरा और कठिन रहता है। अग्रगमन के शिक्षकों द्वारा दी गई सही शिक्षा और लगातार पढ़ाई की बदौलत नीट परीक्षा क्वालीफाई होने में सफलता मिली। रंजीता ने बताया कि अग्रगमन में मुफ्त में रहने, खाने-पीने के साथ पढ़ाई का अच्छा माहौल भी प्रदान किया जाता हे। रंजीता ने अग्रगमन के शिक्षकों द्वारा लगातार विद्यार्थियों को परीक्षा के लिए प्रोत्साहित करने का भी नीट परीक्षा में कामयाबी का कारण बताया।विकासखंड कटघोरा के ग्राम मनगांव निवासी नीट परीक्षा में अग्रगमन से 28 क्वालीफाईड बच्चों में पहला स्थान प्राप्त करने वाली रंजीता बिंझवार ने बताया कि उनकी तीन बहन और दो भाई हैं। रंजीता के पिताजी एसईसीएल छुराकछार में कार्यरत हैं तथा उनकी मां गृहणी है। स्कूली कक्षाओं में अव्वल रहने वाली रंजीता ने कक्षा दसवीं में 88 प्रतिशत और कक्षा 12 वीं में 81 प्रतिशत अंकों के साथ उत्तीर्ण की है।

कक्षा दसवी पास करने के बाद रंजीता को जिला प्रशासन के अग्रगमन कोचिंग योजना के बारे में शिक्षकों से जानकारी प्राप्त हुई। रंजीता बताती है कि अग्रगमन में चयन होने से बड़े कोचिंग संस्थानों के महंगे फीस और रहने खाने की चिंता दूर हो गई। रंजीता ने बताया कि अग्रगमन में पढ़ाई का अच्छा माहौल और शिक्षकों द्वारा लगातार प्रोत्साहित करने के साथ खुद 10-11 घंटों की पढ़ाई के बदौलत नीट परीक्षा में कामयाबी मिल पाई। डाक्टर-इंजीनियर बनने के सपने के बीच गरीबी, आर्थिक स्थिति, पढ़ाई के संसाधन तथा पढ़ाई का उच्चतम माहौल आड़े आती है। अग्रगमन जिले के बच्चों के लिए मेडिकल-इंजीनियर की तैयारी के लिए बहुत ही अच्छा जरिया है। कोरबा जिला प्रशासन ऐसे गरीब, मेधावी बच्चों को इंजीनियर-डाक्टर बनाने के लिए सफलता की राह दिखा रहा है। अग्रगमन में दसवीं पास मेधावी विद्यार्थियों को रखकर मेडिकल और इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षाओं की तैयारी करवाई जा रही है। अग्रगमन में मुफ्त में रहने, खाने-पीने की व्यवस्था सुनिश्चित की जाती है। अग्रगमन में विषयवार शिक्षकों द्वारा प्रवेश परीक्षा की पूरी तैयारी करवाई जाती है। इस वर्ष नीट परीक्षा में अग्रगमन के 28 क्वालीफाइड बच्चों में पहला स्थान प्राप्त करने वाली रंजीता जिला प्रशासन द्वारा प्रदान की जाने वाली पढ़ाई की सुविधा से बेहद खुश है। उन्होंने नीट परीक्षा पास करने में अग्रगमन के शिक्षकों का बहुत बड़ा योगदान बताया। रंजीता कहती है कि अग्रगमन के शिक्षकों द्वारा विशेष रूप से तैयारी करवाने, लगातार लिये गये टेस्ट, नीट परीक्षा के लिए प्रश्न हल करने के तरीके, समय प्रबंधन के बताये गुर के कारण ही नीट जैसे अखिल भारतीय स्तर के परीक्षा को पास करने में सफलता हासिल कर पाई।

 

18-10-2020
बस्तर संभाग के होनहार बच्चे गांव में डॉक्टर बनकर करेंगे सेवा,विशेष कोचिंग से मिली नीट परीक्षा में सफलता

रायपुर। प्रदेश के बस्तर संभाग के होनहार बच्चे अब खुद डॉक्टर बनकर लोगों की सेवा करेंगे। छत्तीसगढ सरकार की ओर से प्रतिभावान बच्चों को अखिल भारतीय मेडिकल प्रवेश परीक्षा के लिए विशेष कोचिंग की व्यवस्था की गई है। प्रयास विद्यालयों और जिला प्रशासन की पहल पर ऐसे बच्चों की प्रतिभा निखारने के प्रयासों को अच्छी सफलता मिल रही है। नारायणपुर जिले के ताड़ोपाल में रहने वाले हेमंत ने बताया कि वह लघु सीमांत परिवार से ताल्लुक रखते हैं। गांव के अस्पताल में चिकित्सक के अभाव को देखकर खुद डॉक्टर बनने की ठानी और अपने दूसरे प्रयास में सफलता मिली। राज्य शासन की  प्रयास आवासीय विद्यालय गरीब जरुरतमंद और होनहार विद्यार्थियों को सही दिशा  प्रदान कर उनका उनका  तकदीर सुधारने में अत्यंत कारगर साबित हो रही है। इस योजना के अंतर्गत मिले उच्च स्तरीय अध्ययन अध्यापन की सुविधा, परिवेश और प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए मिले प्रशिक्षण के कारण अनेक होनहारों  के सपनों को पंख मिल रहा है।
जगदलपुर विकासखंड के कुम्हरावंड ग्राम पंचायत के पल्लीगांव में रहने वाले शिक्षक लखन कश्यप के पुत्र लुप्तेश्वर ने भी इस बार नीट की परीक्षा में सफलता प्राप्त कर पूरे घर में खुशियां भर दी हैं। लुप्तेश्वर ने अपनी इस सफलता का श्रेय प्रयास आवासीय विद्यालय और इस योजना को दिया है। लुप्तेश्वर चिकित्सक बनकर गरीबों एवम जरुरतमंदों की सेवा करना चाहतें है।

बीजापुर जिले में जिला प्रशासन और एनएमडीसी के सहयोग से संचालित कार्यक्रम छुू लो आसमान कार्यक्रम के तहत कृषक परिवारों के 5 बच्चों ने देश की सर्वोच्च मेडिकल प्रवेश परीक्षा नीट को क्वालीफाई कर अपनी मेहनत और लगन को साबित कर दिया है। ये सभी बच्चे साधनों की कमी और दूरस्थ इलाके से होने के वाबजूद इस सर्वोच्च मेडिकल प्रवेश परीक्षा में सफलता हासिल कर अन्य बच्चों के लिए प्रेरणास्त्रोत बन गये हैं। परीक्षा में अजय कलमूम, सुरेश मड़कम, सीमा भगत, शुनू झाड़ी और हरीश एगड़े ने नीट प्रवेश परीक्षा में सफलता हासिल की है। देश की सर्वोच्च मेडिकल प्रवेश परीक्षा नीट क्वालीफाई करने वाले इन बच्चों में उसूर ब्लॉक अंतर्गत कोत्तागुडम निवासी सुरेश मड़कम के पिता का स्वर्गवास हो चुका है। सुरेश ने बताया कि माता शांति सहित दो बड़े भाई संतोष और अर्जुन खेती-किसानी कर उसे पढ़ाई के लिए प्रोत्साहित करते हैं। सुरेश भी 12वीं में 60 प्रतिशत अंक हासिल कर अपने भाईयों के सपने को साकार करने कृतसंकल्पित है। अजय ने बताया कि उसके माता-पिता रामेश्वरी और सोमारू खेती-किसानी कर उसे पढ़ाई करवा रहे हैं, अजय को भरोसा है कि उसे मेडिकल कॉलेज में अवश्य प्रवेश मिलेगी। बीजापुर निवासी सीमा भगत ने बताया कि पिता का स्वर्गवास हो चुका है और बड़े भाई अर्जुन भगत उसकी पढ़ाई पर ध्यान दे रहे हैं। एक छोटा भाई प्रीतम बीएससी द्वितीय वर्ष की पढ़ाई कर रहा है। सीमा ने बताया कि माता बृहस्पति भगत गृहणी हैं और उसकी पढ़ाई पर सतत ध्यान देती हैं। बीजापुर के ही रहने वाले हरीश एगड़े और बीजापुर ब्लाक के पापनपाल निवासी शीनू झाड़ी ने भी देश की मेडिकल प्रवेश परीक्षा नीट क्वालीफाई केर जिले का नाम रौशन किया है।

 

29-09-2020
कलेक्टर ने किया उच्च श्रेणी शिक्षक को निलंबित

धमतरी। कलेक्टर जयप्रकाश मौर्य ने स्थानीय शिवसिंह वर्मा शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय धमतरी के उच्च श्रेणी शिक्षक एवं संकुल समन्वयक शाला क्रमांक-01 राजेश मनवानी को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया। दरअसल एक से छः सितंबर तक राष्ट्रीय स्तर पर आयोजित प्रवेश परीक्षा वर्ष 2020 के तहत जेईई (मेन्स) और 13 सितंबर को नीट परीक्षा के लिए धमतरी जिले के विद्यार्थियों को रायपुर एवं भिलाई के परीक्षा केन्द्रों में सुरक्षित पहुंचाने तथा वापस लाने के नोडल अधिकारी का दायित्व उक्त उच्च श्रेणी शिक्षक को सौंपा गया था।

किन्तु उन्होंने निर्देशों की अवहेलना करते हुए केवल दो सितम्बर को ही उपस्थित हुए। इसके अलावा उनके द्वारा अपने कर्तव्यरत शिक्षकों को कोरोना काल में ड्यूटी नहीं करने संबंधी जिला प्रशासन एवं जिला शिक्षा विभाग के विषय में प्रतिकूल टिप्पणी की गई। इसके मद्देनजर कलेक्टर ने छत्तीसगढ़ सिविल सेवा (वर्गीकरण, नियंत्रण तथा अपील) नियम 1966 की धारा-10 के तहत उन्हें तत्काल प्रभाव से निलंबित किया है। बताया गया है कि निलंबन अवधि में नियमानुसार जीवन निर्वाह भत्ते की पात्रता होगी तथा निलंबन मुख्यालय विकासखण्ड शिक्षा अधिकारी कार्यालय धमतरी होगा।

 

12-09-2020
नीट के परीक्षार्थियों को कलेक्टोरेट परिसर तक लाने 8 स्थानों से मिलेंगे वाहन, लिस्ट जारी

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के मंशानुरूप कलेक्टर डॉ. एस. भारतीदासन ने राष्ट्रीय स्तर की नीट परीक्षा में शामिल होने वाले छात्र-छात्राओं के लिए परीक्षा केंद्रों तक पहुंचाने वाहन की व्यवस्था करने के निर्देश दिए हैं। कलेक्टर परिसर से विभिन्न परीक्षा केंद्रों के लिए सुबह 11 बजे से वाहन रवाना होंगे। इससे पहले परीक्षार्थियों को कलेक्टोरेट परिसर तक लाने भी निशुल्क वाहनों की व्यवस्था रहेगी। इसके लिए 8 स्थान तय किए गए हैं। जिला प्रशासन की ओर से सभी 8 स्थानों के नाम, वाहन चालकों के नंबर जारी किए गए हैं।

खबर में संलग्न लिस्ट में विस्तृत जानकारी देखी जा सकती है। बताया गया है कि, एक वाहन को कलेक्टोरेट परिसर घड़ी चौक में रिजर्व रखा जाएगा। इमरजेंसी के वक्त तत्काल मदद मिल सकेगी। इससे पहले जिला प्रशासन की ओर से जारी लिस्ट में कलेक्टोरेट परिसर से परीक्षार्थियों को उनके परीक्षा केन्द्रों तक ले जाने निशुल्क परिवहन सुविधा की जानकारी दी गई थी

12-09-2020
नीट के परीक्षार्थियों के लिए भी निशुल्क परिवहन की सुविधा, कलेक्टोरेट परिसर से मिलेंगे वाहन

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के मंशानुरूप कलेक्टर डॉ. एस. भारतीदासन ने राष्ट्रीय स्तर की नीट परीक्षा में शामिल होने वाले छात्र-छात्राओं के लिए परीक्षा केंद्रों तक पहुंचाने वाहन की व्यवस्था करने के निर्देश दिए हैं। कलेक्टर परिसर से विभिन्न परीक्षा केंद्रों के लिए सुबह 11 बजे धमतरी रोड रूट के बीएसएस प्रणवानंद व्हीआई.पी रोड देवपुरी, कमल विहार डूण्डा, देवपुरी, शंकराचार्य कॉलेज, मुजगहन, दुर्ग रोड  रिंग रोड नं. 1रूट के केव्ही. 2 डीडी नगर, केपीएस सरोना महर्षि विद्या मंदिर टाटीबंध, जीई रोड रूट के महाराजा अग्रसेन कालेज, समता कालोनी, एनआईटी., कांगेर बेली. आरएसयू कैम्पस, छत्तीसगढ़ पब्लिक स्कूल, हीरापुर, रूंगटा स्कूल. वीर सावरकर नगर (नंदनवन के पास) ,बलौदाबाजार रोड रूट.-1 के होली क्रास, स्कूल कापा,  Vicon स्कूल विधान सभा चौक, टेकारी,भवन'स विद्या मंदिर बरौदा सड्डू रोड, बलौदाबाजार रोड रुट- 02 के डी.पी.एस. स्कूल सेमरिया, ज्ञान गंगा स्कूल नरदहा, एन.एच. गोयल स्कूल नरदहा परीक्षा केंद्र के लिए वाहन रवाना होगी।

इसी तरह आरंग रोड रूट-1 के केपीएस स्कूल सेक्टर-27 नया रायपुर,ग्रेट इंडियन स्कूल,सैनाथपुरम, मंदिर हसौद, RIT कालेज मंदिर हसौद, मोनेट स्कूल मंदिर हसौद,आरंग रोड रूट-2,के सेंट जोसेफ स्कूल, अमलीडीह, रविग्राम, Ryan स्कूल अवंति विहार, MM स्कूल, नकटी धरमपुरा एयरपोर्ट के पास,बिलासपुर रोड ,केंद्रीय विद्यालय WRS कॉलोनी और रायपुर शहर के होली हर्ट्स,सिविल लाइन, होली क्रॉस स्कूल, पेंशनबड़ा, द्रोणाचार्य स्कूल,राजेन्द्र नगर, एम.जी.एम. गायत्री नगर,शंकर नगर, गुजराती स्कूल, देवेंद्र नगर, आदर्श विद्यालय, सेक्टर 01, देवेंद्र नगर परीक्षा केंद्रों के लिए रवाना होगी। इसी तरह जिले के जनपद पंचायत धरसींवा,आरंग ,तिल्दा खरोरा और अभनपुर तहसील कार्यालय से सुबह 9:30 बजे कलेक्टोरेट, घड़ी चौक रायपुर के लिए वाहन रवाना होगी। इसके साथ ही बस स्टैंड पंडरी और रेलवे स्टेशन रायपुर से कलेक्टोरेट, घड़ी चौक रायपुर के लिए सुबह 9:30 बजे वाहन रवाना होगी। प्रयास गुढ़ियारी से संबंधित केंद्र, प्रयास गुढ़ियारी तथा छात्रावास डीडी. नगर से संबंधित केंद्र के लिए कलेक्टोरेट परिसर रायपुर से सुबह 10:30 बजे वाहन रवाना होगी।

05-05-2020
 जेईई मेन और नीट परीक्षा की तारीखें घोषित, जुलाई में होंगी दोनों परीक्षाएं

नई दिल्ली। नीट और जेईई की तैयारी कर रहे छात्रों के लिए अच्छी खबर है। केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ ने जेईई और नीट परीक्षा की तिथि की घोषणा कर दी है। उन्होंने कहा कि जेईई मेन परीक्षा 19 जुलाई से 23 जुलाई के बीच आयोजिक होगी। जबकि नीट परीक्षा 26 जुलाई को आयोजित किया जाएगा। बता दें कि मेडिकल की पढ़ाई के लिये नीट और इंजीनियरिंग के लिए जेईई का एग्जाम कराया जाता है। नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (एनटीए) के मुताबिक इन दोनों परीक्षाओं के लिए करीब 15 लाख छात्रों ने रजिस्ट्रेशन करवाया है। केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री डॉ. रमेश पोखरियाल निशंक ने छात्रों से ऑनलाइन संवाद में परीक्षाओं की तारीखों सहित अन्य महत्वपूर्ण मुद्दों पर बात की। संवाद में मंत्री ने जेईई और नीट 2020 परीक्षाओं की तिथियां घोषित की। जेईई मेन परीक्षा 19 से 23 जुलाई के बीच आयोजित की जाएंगी।

वहीं नीट 2020 परीक्षा 26 जुलाई 2020 को आयोजित की जाएगी। इसके अलावा मंत्री ने ये भी कहा कि सीबीएस की परीक्षाओं को लेकर फैसला अगले कुछ दिनों में किया जाएगा। इससे पहले स्थिति की समीक्षा की जाएगी। उन्होंने ये भी कहा कि अगले एकेडमिक सत्र के सिलेबस को कम करने का फैसला किया गया है। ऐसे में अगली जेईई मेन और नीट 2021 की परीक्षाएं घटे हुए सिलेबस के आधार पर ही की जाएगी। गौरतलब है कि संयुक्त प्रवेश परीक्षा- मुख्य का आयोजन देश भर के इंजीनियरिंग कॉलेजों में प्रवेश के लिए होता है जबकि राष्ट्रीय पात्रता सह प्रवेश परीक्षा के जरिए देशभर के चिकित्सा महाविद्यालयों में प्रवेश लिया जाता है। देश भर में 15 लाख से अधिक छात्रों ने नीट परीक्षा के लिए पंजीकरण कराया है। यह परीक्षा भारत के चिकित्सा महाविद्यालयों में प्रवेश पाने का रास्ता है। वहीं नौ लाख से अधिक छात्रों ने जेईई परीक्षा के लिए आवेदन किया है, जिसके जरिए भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थानों को छोड़कर देश के अन्य सभी इंजीनियरिंग कॉलेजों में प्रवेश होता है। 

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804