GLIBS
29-06-2020
राजधानी में हुआ पेट्रोल डीजल के बढ़े दाम का विरोध,युवा कांग्रेस ने निकाली साइकिल रैली

रायपुर। तेल की बढ़ती कीमतों के विरोध में युवा कांग्रेस ने प्रदेश अध्यक्ष पूर्णचंद पाढ़ी(कोको पाढ़ी) के नेतृत्व में बूढ़ातालाब धरना स्थल से सायकल रैली निकाली। तेल की बढ़ती कीमतों को लेकर मोदी सरकार को आड़े हाथों लेते हुए केंद्र सरकार की नीतियों की जमकर भर्त्सना की। इस दौरान छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष मोहन मरकाम ने भी युवा कांग्रेस के साथ साइकिल चला कर कार्यकर्ताओं का मनोबल बढ़ाया।प्रदेश युवा कांग्रेस के अध्यक्ष कोको पाढ़ी ने कहा कि वैश्विक बाजार में कच्चे में कमी आई है, लेकिन भारत मे तेल के दामों को मोदी सरकार लगातार बढ़ा रही है। यूपीए की सरकार के दौरान जब 1 रुपए की भी वृद्धि होती थी, तब डॉक्टर रमन सिंह और भाजपा के नेता घड़ियाली आंसू बहा कर साइकिल रैली निकाला करते थे। आज वे मौन हैं, इसलिए आज हमने साइकिल रैली निकाली।युवा कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता सुबोध हरितवाल ने कहा है कि कोरोना के समय जब लोगों को आमदनी में दिक्कतें आ रही है,तब मोदी सरकार अंतरराष्ट्रीय बाजार में तेल के दाम कम होने के बावजूद पेट्रोल-डीजल के दामों में वृद्धि कर आम जनता की जेब काटने का काम कर रही है। जो साफ करता है कि इस मोदी सरकार की कथनी व करनी में जमीन आसमां का अंतर है। कार्यक्रम के दौरान युवा कांग्रेस अध्यक्ष कोको पाढ़ी, राष्ट्रीय प्रवक्ता सुबोध हरितवाल, राष्ट्रीय सचिव मिलिंद गौतम, प्रदेश महासचिव अशरफ हुसैन, सजमन बाघ, प्रदेश सचिव स्वप्निल मिश्रा, जिला अध्यक्ष आकाशदीप शर्मा, राहुल कर, गोलू मिश्रा, अ

 

26-06-2020
अमरजीत भगत ने कहा, तेल की कीमतों पर हाय तौबा मचाने वाले आज चुप क्यों है

अम्बिकापुर। देशभर में डीज़ल-पेट्रोल की बढ़ती कीमत और मौसमी बीमारियों से बचाव की तैयारी जैसे मुद्दे पर खाद्य मंत्री अमरजीत भगत नें पत्रकारों से चर्चा की। स्थानीय सर्किट हाउस में पत्रकारवार्ता में चर्चा के दौरान खाद्य मंत्री नें कहा कि इस देश में लगातार पेट्रोल डीजल का दाम बढ़ता जा रहा है। पूरे विश्व में कोरोना महामारी से उपजे संकट से लोग परेशान हैं। इस परेशानी से देश भर के लोग परेशान है। अंतरराष्ट्रीय बाजार में क्रूड आयल की कीमत घट रही है,उसके बावजूद भारत में तेल की कीमतें आसमान छू रही है। यही नहीं बाज़ार में आवशयक वस्तु की कीमत बढ़ रही है। उन्होनें केंद्र सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि अप्रेल 2008 से जुलाई 2018 के बीच 11 बार पेट्रोल डीज़ल की कीमतों मे बढ़ोतरी हुई है जबकि कच्चे तेल में लगातार  गिरावट हुई है।

संक्रमण के दौरान ही लोगों से ज्यादा पैसा वसूला जा रहा है यह मौलिक अधिकार का हनन है। मूल्य नियंत्रण पर सरकार ध्यान दे। उद्योग-धंधे बन्द हैं,बड़ी संख्या में लोग बेरोजगार है। ऐसे में जनता पर यह अतिरिक्त बोझ किसी नाइंसाफी से कम नहीं।जब कांग्रेस की सरकार थी तब तेल की कीमतों में 10 पैसा बढ़ने पर भी जो लोग हाय तौबा मचाते थे,आज वह लोग चुप क्यों है। उन्होंने आरोप लगाया कि मूल्य वृद्धि की सबसे बड़ी वजह उद्योगपतियों को लाभ पहुंचाना। मोदी सरकार अपने चहेते उद्योगपतियों को लाभ पहुंचने के लिए नागरिकों के साथ नाइंसाफी कर रही है।खाद्य मंत्री ने बताया कि एलिफेंट रिजर्व का काम ग्रीन ट्रीब्यूनल में अटका हुआ है।

लेमरू प्रोजेक्ट को भी इसी वजह से आगे नहीं बढ़ाया जा सका है। लेकिन जहाँ प्रतिबंध है वहां भी अडानी को लीज पर जमीन दे दिया गया है। इससे वनक्षेत्र में कमी आई है। केवल भारत सरकार के ग्रीन ट्रिब्यूनल में मामला अटकने के कारण यह स्थिति निर्मित हुई है। इसे भूपेश सरकार ने गंभीरता से लिया और ग्रीन ट्रिब्यूनल में अटके मामले को क्लीयर कर लेमरू प्रोजेक्ट के एलिफेंट कॉरिडोर के काम को तेजी से किया जा रहा है। इससे हाथी-मानव द्वंद को रोका जा सकेगा।

 

25-06-2020
ट्रांसपोर्टरों के साथ बैठक में विधायक ने बनाई आंदोलन की रूपरेखा, केन्द्र सरकार का करेंगे विरोध 

रायपुर। विधायक विकास उपाध्याय ने कोरोना संकट के बीच भारत में तेल के दाम लगातार बढ़ाए जाने का कड़े शब्दों में विरोध किया है। उन्होंने आरोप लगाया है कि मोदी सरकार चीन से चल रही तनातनी का फायदा उठा कर इस आड़ में भारतीयों के भावना के साथ खेल रही है और उसे धोखा दे रही है। गुरूवार को लगातार 18 वें दिन पेट्रोल और डीजल के दामों में इजाफे के कारण सबसे ज्यादा प्रभावित ट्रांसपोर्टर हुए हैं। विधायक ने गुरुवार को ट्रांसपोर्टरों के साथ बैठक कर आंदोलन की रूप रेखा बनाई है। विधायक ने कहा कि तेल के लगातार मूल्य वृद्धि को लेकर  नायाब तरीके से विरोध कर मोदी सरकार को याद दिलाया जाएगा। उनके नेता कभी इस तरह के बढ़ोतरी को लेकर क्या बोला करते थे, उन सभी का वक्तव्य भी लोगों को सुनाया जाएगा। विकास उपाध्याय ने कहा कि अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतों में नरमी के बावजूद घरेलू बाजार में पेट्रोल और डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी जारी रहना इस बात को प्रमाणित करता है की मोदी सरकार आम जनता के प्रबल विरोधी है। ऐसा कर आम जनता को धोखा दे रही है। आज फिर दोनों ईंधनों की कीमतें बढ़ी हैं। पिछले 18 दिनों में पेट्रोल जहां 9 रुपए से भी ज्यादा प्रति लीटर महंगा हुआ है वहीं डीजल की कीमत भी 10.00 रुपए से ज्यादा प्रति लीटर बढ़ गई है। विकास उपाध्याय ने कहा बढ़ते दामों के बीच आलम यह है कि बुधवार-गुरूवार यानी 24-25 जून को डीजल पेट्रोल से महंगा हो गया है। कांग्रेस इसका पुरजोर विरोध करती है और इसके खिलाफ केन्द्र की मोदी सरकार के खिलाफ ट्रांसपोर्टरों के साथ नायाब तरीके से विरोध करेगी।
 

04-05-2020
किराना दुकान से गुड़, शक्कर, तेल समेत 60 हजार का राशन चोरी, व्यापारी के उड़े होश

दुर्ग। जिले में स्थित इंदिरा मार्केट सब्जी मंडी के पास जय तेल भंडार में बीती रात चोरी हो गई। चोर ने बड़ी ही सफाई से दुकान में लगे ताला तोड़कर लगभग 60 हजार मूल्य के किराना सामान पर हाथ साफ कर दिया। घटना की शिकायत दुकान संचालक तोरण लाल चंद्राकर ने सिटी कोतवाली में की है। लॉक डाउन की वजह से किराना व्यापारी शनिवार दोपहर 2 बजे दुकान को बंद कर घर लौट गया था। रविवार सुबह दुकान संचालक का भतीजा संजय चंद्राकर सुबह 8 बजे दुकान खोलने पहुंचा तो शटर का ताला टूटा मिला।

शटर उठाने पर चोरी की घटना का खुलासा हुआ है। क्षेत्र के दुकान में लगे सीसीटीवी कैमरा से भी कुछ खास जानकारी हासिल नहीं हो पाया है। जय तेल भंडार से कुछ दूरी पर स्थित पारख ज्वेलर्स में लगे सीसी टीवी कैमरा की चोरी तीन दिन पहले हो गई थी। वहीं ज्वेलर्स के ठीक सामने अन्य दुकान का केबल भी काट दिया गया था। घटना का खुलासा सुबह हुआ। जांच के दौरान कैमरा चोरी करने वाले तीन युवक सीसीटीवी कैमरा में रिकॉर्ड हो चुके है। पुलिस उनकी तलाश कर रही है। पुलिस ने मामले को विवेचना में ले लिया है और आगे की कार्रवाई शुरू कर दी है।

17-02-2020
शेयर बाजार में मायूसी,गिरावट के साथ बंद हुआ बाजार

मुंबई। तेल एवं गैस और वित्त क्षेत्र की कंपनी के शेयरों में बिकवाली के बीच सेंसेक्स और निफ्टी सोमवार को लगातार गिरावट के साथ बंद हुए। बीएसई का 30 कंपनियों के शेयरों का सूचकांक सेंसेक्स 202.05 अंक यानी 0.49 प्रतिशत घटकर 41,055.69 अंक पर बंद हुआ।
इसी तरह एनएसई निफ्टी 67.75 अंक यानी 0.56 प्रतिशत टूटकर 12,045.80 अंक पर बंद हुआ। सेंसेक्स में शामिल 19 कंपनियों के शेयर गिरकर बंद हुए। जबकि 11 कंपनियों के शेयर में तेजी का रुख दिखा। सेंसेक्स में शामिल ओएनजीसी, सन फार्मा, एनटीपीसी, बजाज ऑटो और एचडीएफसी के शेयर गिरकर बंद हुए। टाइटन, नेस्ले, टीसीएस, कोटक बैंक और टाटा स्टील के शेयर में उछाल का रुख देखा गया। एशियाई बाजार मिश्रित रुख के साथ बंद हुए।

 

25-11-2019
आधुनिक जीवनशैली से महिलाओं में बढ़ रही पीसीओएस की समस्या

रायपुर। शासकीय खुदादाद डूंगाजी आयुर्वेदिक अस्पताल के प्रसूति एवं स्त्री रोग विशेषज्ञ एमएस डॉ. सीए घाटगे का कहना है कि आधुनिक रहन-सहन, खानपान और भागदौड़ भरी जिंदगी में महिलाएं अपने स्वास्थ्य की अनदेखी कर देती हैं, जिस का खमियाजा उन्हें बाद में भुगतना पड़ता है। जीवनशैली में बदलाव के साथ ही पार्टी व होटलों में जंकफूड से लेकर तेल, घी, मीठा व ज्यादा भोजन खाना महिलाओं के लिए कई बीमारियों का कारण बन रहा है। इसमें भी देर रात सोने और आरामदायक जीवन के साथ शारीरिक सक्रियता व व्यायाम नहीं करने से महिलाओं को कई समस्याएं हो रही हैं। किशोर अवस्था  में लड़कियों को माहवारी शुरू होने के बाद अपने स्वास्थ्य पर खासतौर से ध्यान देने की आवश्यकता होती है। मासिक धर्म के दौरान स्ववच्छता पर भी ध्यान रखना चाहिए। अनियमित माहवारी की वजह से महिलाओं के चेहरे पर बाल उग आना, बारबार मुहांसे होना, पिगमैंटेशन और गर्भधारण में मुश्किल होती है। इस समस्या के होने पर महिलाओंमें उच्च रक्तचाप, मोटापा, डायबिटीज और हृदय से जुड़े रोगों के होने का खतरा भी बढ़ जाता है। डॉ. घाटगे ने बताया कि आयुर्वेदिक अस्पताल  के स्त्री  रोग विभाग के ओपीएस में प्रतिदिन 15 से 20 मरीज इलाज कराने आती हैं। इनमें से 2 से 3 मरीज पीसीओडी की शिकार होती हैं। इन महिलाओं को उम्र 17 से 32 साल तक की है।

डॉ . घाटगे के बताया कि ऐसी महिलाओं को 2 से 3 महीनों तक पीरियड नहीं आने की शिकायत रहती है। डॉ . घाटगे के बताया कि ऐसी महिलाओं को 2 से 3 महीनों तक पीरियड नहीं आने की शिकायत रहती है, जिसकी सबसे बड़ी वजह है कि फूटे अंडे ओवरी में ही रहते हैं और एक के बाद एक उनसे सिस्ट बनती चली जाती हैं। लगातार सिस्ट बनते रहने से ओवरी भारी लगनी शुरू हो जाती है। इसी ओवरी को पोलीसिस्टिक ओवरी कहते हैं। आज करीब 20प्रतिशत महिलाएं इस बीमारी से ग्रस्त हैं। पीसीओएस की शिकार महिलाओं में बार-बार गर्भपात के आसार ज्यादा होते हैं। मातृ-शिशु जिला अस्पताल कालीबाड़ी की स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉ. निर्मला यादव ने बताया कि पीसीओडी की बीमारी एक हार्मोनल डिसऔर्डर है।  पीरियड्स के पहले और बाद में महिलाओं के शरीर में बहुत तेजी से हार्मोन में बदलाव आते हैं ।जो कई बार इस बीमारी का रूप ले लेते हैं। डा. यादव की मानें तो हर महीने महिलाओं की दाईं और बाईं ओवरी में पीरियड्स के बाद दूसरे दिन से अंडे बनने शुरू हो जाते हैं। ये अंडे 14-15 दिनों में पूरी तरह से बन कर 18-19 मिलीमीटर साइज के हो जाते हैं। इस के बाद अंडे फूट कर खुद फेलोपियन ट्यूब्स में चले जाते हैं और अंडे फूटने के 14वें दिन महिला को पीरियड शुरू हो जाता है लेकिन कुछ महिलाओं, जिन्हें पीसीओएस की समस्या है, में अंडे तो बनते हैं पर फूट नहीं पाते जिस की वजह से उन्हें पीरियड नहीं आता।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804