GLIBS
22-04-2020
आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं की कर्मठता से हारेगा कोरोना, घर घर जाकर रही सूखा राशन वितरित

 रायपुर/बैकुंठपुर। नौनिहालों को स्वस्थ्य करने की बात हो या पढाई देने की, यह महिलाएं धूप-छांव नहीं देखती हैं। बस अपनी जिम्मेदारियां निभाती जाती हैं। कोरोना वायरस के संक्रमण से उत्पन्न इस संकट से भी न डरने वाले यह योधा सुरक्षा के सभी उपायों को अपनाती हुई काम पर निकल पड़ती हैं| बात हो रही है आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं की।अपने दायित्व को पूरा करते हुए आंगनबाड़ी कार्यकर्ता छोटे बच्चों को कविता-कहानी के माध्यम से जरूरी शिक्षा घर पर देने के लिए अभिभावकों को भी निरंतर प्रेरित कर रही हैं। इसके साथ ही कोरोना से बचाव के सुरक्षा उपायों के प्रति भी जागरूक कर रही हैं।इसकी जानकारी देते हुए जिला समेकित बल विकास योजना के कार्यक्रम अधिकारी मनोज खलखो ने बताया, 25 मार्च से 14 अप्रैल 2020 के मध्य लॉक डॉउन अवधि में जिले के 3004 शिशुवती एवं 15 से 49 वर्ष की 12, 570 एनीमिक महिलाओं को मिलाकर कुल 15574 महिलाओं को डोर-टू-डोर सूखा राशन का वितरण किया गया है। इस विकट परिस्थिति में जिले में यह लक्ष्य पूरा कर पाना आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं की कर्मठता से ही संभव हुआ है।उन्होंने बताया लॉक डाउन अवधि बढ़ने पर सभी हितग्राहियों के घर आगामी 3 मई तक के लिए निरंतर डोर-टू-डोर राशन वितरण का कार्य किया जा रहा है। मुख्यमंत्री सुपोषण अभियान अंतर्गत 15 से 49 वर्ष के चिन्हांकित महिलाओं को महतारी जतन योजना अंतर्गत पौष्टिक आहार का वितरण किया जाता है जिससे उनके दैनिक पोषण आहार की पूर्ति हो सके।

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804