GLIBS
02-12-2020
हृदय में तकलीफ के कारण संजय राउत अस्पताल में भर्ती

मुंबई। शिवसेना के राज्यसभा सांसद संजय राउत को हृदय में तकलीफ होने के बाद मुंबई के लीलावती अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। बताया जा रहा है कि वे पहले से हृदय संबंधित रोग से जूझ रहे हैं और कुछ दिन पहले ही डॉक्टर ने उनका एंजियोप्लास्टी किया था।
इस बार भी हृदय में तकलीफ होने के बाद वे अस्पताल में भर्ती हुए हैं और डॉक्टर ने एक बार फिर से उन्हें एंजियोप्लास्टी की सलाह दी है। हार्ट स्पेशलिस्ट डॉ.मैथ्यू उनका इलाज करेंगे। बता दें कि संजय राउत शिवसेना के मुख्य प्रवक्ता होने के साथ ही पार्टी के राज्यसभा सांसद भी हैं। उन्हें उद्धव ठाकरे का बेहद खास माना जाता है। वह राज्य की हर समस्या को प्रमुखता से उठाने वालों में शुमार हैं। संजय राउत इन दिनों मुंबई की फिल्म सिटी को यूपी ले जाने के मामले से लेकर लव जिहाद और अभिनेत्री कंगना रणौत से हुई जुबानी जंग की वजह से चर्चा में हैं।

 

 

01-12-2020
शादी समारोह में आपसी रंजिश के कारण हुआ विवाद, युवक पर चलाई गोली

रायपुर/गरियाबंद। जिले के अमरतरा गाँव में आपसी रंजिश के कारण शादी समारोह में गोली चलने का मामला सामने आया है। बता दें कि चतुर्वेदी परिवार में लड़के की शादी थी। सुबह करीब 10 बजे रिश्तेदार बारात के लिए निकले थे। इसी दौरान घर पर मौजूद कुछ रिश्तेदारों के बीच आपसी रंजिश को लेकर विवाद हो गया। पुलिस ने बताया कि दोनों पक्षों में 2 साल पहले पुराने विवाद को लेकर बहस हो गई। इसमें एक पक्ष ने देसी कट्टे से गोली दाग दी। आरोपी युवक की पहचान हो गई है, लेकिन वह फरार बताया जा रहा है। वहीं घायल युवक को प्राथमिक उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया था। फिलहाल वह सकुशल बताया जा रहा है।

29-11-2020
कोविड-19 अस्पताल से खिड़की तोड़कर फरार हुआ लूट का आरोपी, पुलिस ने धरदबोचा

धमतरी। कोविड-19 अस्पताल से फरार लूट का आरोपी पुलिस की मुस्तैदी से चंद घंटों में पकड़ा गया। इससे पुलिस और जेल प्रशासन ने राहत की सांस ली। मिली जानकारी के अनुसार नोहर यादव धमतरी का रहने वाला है, जिसे धारा 394 आईपीसी के तहत गिरफ्तार किया गया था। इसके बाद कोरोना पॉजिटिव आने पर आरोपी को 24 नवंबर को इलाज के लिए भर्ती किया गया था। रविवार सुबह खिड़की तोड़कर वह फरार हो गया। सूचना मिलते ही डीएसपी अरुण जोशी, एसआई रमेश साहू सुखराम नायक और जेलर मौके पर पहुंचे थे। एसपी मनीषा ठाकुर ने बताया कि लूट का आरोपी नोहर यादव आज सुबह 11 बजे कोविड-19 अस्पताल से फरार हो गया था।सूचना पर जेल प्रशासन और पुलिस की टीम चारों तरफ पार्टियां रवाना की गई। इसी बीच कोतवाली पेट्रोलिंग को रत्नाबांधा में सूचना मिली कि नोहर इसी तरफ से आया है। पता तलाश करते मुजगहन नहर के पास नोहर को धर दबोचा गया और पुनः अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

25-11-2020
अस्पताल पहुंचने में देर न करें मरीज,स्वास्थ्य विभाग ने की अपील

रायपुर। राज्य में कोरोना संक्रमण के केस बढ़ रहे हैं। इसके पीछे एक बड़ी वजह लोगों की लापरवाही सामने आ रही है। स्वास्थ्य विभाग बार-बार अपील कर रहा है कि लोग जांच कराने और अस्पताल पहुंचने में देरी न करें।  इससे राज्य में मृत्यु दर कम की जा सके। अधिकारियों ने बताया कि जशपुर जिले के 60 वर्ष के पुरूष को 1 नवंबर से कफ और कमजोरी के लक्षण दिख रहे थे। सात नवंबर को उनका रायगढ़ में एंटीजेन टेस्ट कराया गया। टेस्ट में निगेटिव आने पर उन्हें अस्पताल में भर्ती होने के लिए कहा गया, लेकिन वो नहीं माने। वापस जशपुर चले गए। रात को तबीयत बिगड़ने पर अंबिकापुर शासकीय अस्पताल में ले गए लेकिन भर्ती नहीं हुए। 8 नवंबर को फिर रायगढ़ अस्पताल ले जाने के दौरान ही उनकी मृत्यु हो गई। डेथ ऑडिट में यह बात सामने आई कि यह मरीज की लापरवाही के कारण हुआ।  यदि चिकित्सक की सलाह पर वे भर्ती हो जाते तो उनकी जान बच सकती थी।

 

25-11-2020
कांग्रेस को बड़ी क्षति, अहमद पटेल का निधन

रायपुर। कांग्रेस पार्टी के कद्दावर नेता अहमद पटेल का बुधवार सुबह निधन हो गया। वे कोरोना पॉजिटिव होने के कारण एक माह से अस्पताल में भर्ती थे। उनके बेटे ने मीडिया को निधन की जानकारी दी।

24-11-2020
बड़े अस्पतालों को पछाड़कर मेकॉज पहुंचा दूसरे पायदान पर, स्वास्थ्य सुविधाओं को लोगों ने सराहा

जगदलपुर। मेकॉज में संचालित कोरोना केयर हॉस्पिटल ने कोविड पेंशेंट फीडबैक रिपोर्ट में बेहतरीन स्वास्थ्य सुविधाओं के आधार पर पूरे प्रदेश में दूसरा रैंक हासिल किया है। बस्तर कलेक्टर रजत बंसल की ओर से कोरोना की रोकथाम व नियंत्रण के लिए उनके दिशानिर्देश से सफलता मिली है। राज्य शासन के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग की ओर से 8 नवंबर से 14 नवंबर के मध्य संस्थावार की गई इस रैंकिग में बस्तर जिले के डिमरापाल में स्थित कोविड केयर हॉस्पिटल को 94.64 प्रतिशत सकारात्मक फीडबैक के साथ पूरे प्रदेश में दूसरा रैंक मिला है।

फीडबैक सर्वे प्रश्नावली के आधार पर यह रैंकिंग तय की गई है। बताया जा रहा है कि 104 हेल्पलाइन नंबर के जरिए किए गए इस टेलीफोनिक फीडबैक सर्वे में कोरोना से बचाव और इलाज के संबंध में जिले के कोविड अस्पताल में उपलब्ध स्वास्थ्य सुविधा एवं चिकित्सा को शामिल किया गया है। साथ ही भोजन और पेयजल आपूर्ति, मास्क व सोशल डिस्टेंसिंग का पालन और सैनिटाइजेशन का कार्य शामिल है। डिमरापाल मेडिकल कॉलेज के कोविड केयर सेंटर को दूसरे स्थान तक पहुंचाने में कोविड इंचार्ज डॉ. नवीन दुल्हानी व उनकी स्वास्थ्य टीम की मुख्य भूमिका रही है।

19-11-2020
पूर्व आबकारी अधिकारी समुद्र सिंह गिरफ्तार, निजी अस्पताल में कराया गया भर्ती

रायपुर। पूर्व आबकारी अधिकारी समुद्रराम सिंह को ईओडब्ल्यू और एसीबी ने गिरफ्तार किया है। फरार चल रहे पूर्व आबकारी अधिकारी पर 10 हजार रुपए का इनाम घोषित किया गया था। ईओडब्ल्यू और एसीबी ने बोरियाकला स्थित निवास से गिरफ्तार किया है। गिरफ्तारी के लिए दोनों एजेंसियों की टीमों ने अलग-अलग जगह छापा मारा। आखिरकार घर से गिरफ्तार करने में टीम को सफलता मिली। पकड़ में आने के बाद समुद्र सिंह ने तबीयत खराब होने की बात कही। इस पर उन्हें निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। स्वास्थ्य में सुधार होते ही आगे की कार्रवाई शुरू की जाएगी। पूर्व अधिकारी पर आबकारी विभाग में करोड़ों के भ्रष्टाचार का आरोप है। मामले की जांच शुरु होने के बाद समुद्र सिंह ने इस्तीफा दे दिया था। करीब डेढ़ साल से फरार चल रहे थे। इसक बाद से खोजबीन जारी थी। रायपुर के साथ ही मध्यप्रदेश में भी कई ठिकानों पर छापेमारी की गई, लेकिन कुछ पता नहीं चल पाया 

19-11-2020
मुख्यमंत्री शहरी स्लम स्वास्थ्य योजना : झुग्गी बस्तियों में रहने वाले गरीब परिवारों का इलाज हुआ आसान

रायपुर। बसंत देख चुकी वृद्धा इंदिरा मनवानी को क्या मालूम था कि एक दिन अस्पताल और इलाज उसके घर के द्वार तक आ जाएगी। वह तो अस्पताल का मतलब घर से बहुत दूर और इलाज व दवा का मतलब लंबी लाइन और जमीन, जायदाद गिरवी ही समझती आई है। पेट और सिर दर्द से जूझ रही मनवानी अस्पताल जाने का विचार कर ही रही थी कि मुख्यमंत्री शहरी स्लम स्वास्थ्य योजना से प्रदेश में शुरू हुई मोबाइल मेडिकल यूनिट की टीम उसके द्वार पर आ पहुंची। यहां जांच पड़ताल के बाद मुफ्त में दवा भी मिली। डाक्टरों के सलाह और दवा ने इंदिरा की तकलीफे पल में दूर कर दी। अब इंदिरा मनवानी खुश है। कुछ ऐसी ही कहानी 55 साल की ललिता गुप्ता की है। कुछ दिनों से सिर में दर्द की शिकायत थी और उल्टी जैसा लग रहा था। अपने घर के पास मोबाइल मेडिकल यूनिट की शिविर लगी तो उन्होंने भी अपना निःशुल्क उपचार कराया और दवाई के साथ उन्हें राहत मिल गई। प्रदेश में मोबाइल मेडिकल यूनिट टीम के माध्यम से झुग्गी बस्तियों के लोगों का निःशुल्क स्वास्थ्य जांच और इलाज होने से छोटी-छोटी बीमारी से जूझने वाले असंख्य परिवारों में खुशी की एक नई लहर है।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और नगरीय प्रशासन विकास मंत्री डॉ शिवकुमार डहरिया की सोच का ही परिणाम है कि स्लम एरिया में रहने वाले परिवारों को उनके ही घरों के आसपास इलाज की सुविधा मिल रही है और प्रदेश में मुख्यमंत्री स्लम स्वास्थ्य योजना के तहत संचालित मोबाइल मेडिकल यूनिट हर गली, हर द्वार पहुंचने लगी है। नगरीय प्रशासन विकास मंत्री डॉ डहरिया ने अपने प्रभार जिले अंबिकापुर नगर निगम को 8 मोबाइल मेडिकल यूनिट की सौगात दी है। यहां पहली यूनिट के पहुचते ही चिन्हांकित स्लम एरिया में शिविर लगाकर डाक्टरों की टीम द्वारा इलाज भी प्रारंभ कर दिया गया है। खास बात यह भी है कि महज 5 दिन में स्लम एरिया के 400 लोगों ने अपना निःशुल्क इलाज कराया है। इस योजना के तहत स्लम क्षेत्र के निवासियों के स्वास्थ्य का जांच, उपचार, दवा वितरण एवं स्वास्थ्य परामर्श सुविधा निःशुल्क दिया जा रहा है। यूनिट में ओपीडी, प्रयोगशाला जांच के साथ दवा वितरण और लैब में 41 प्रकार के स्वास्थ्य जांच की सुविधा उपलब्ध है। निगम क्षेत्र के इमलीपारा निगम काम्प्लेक्स के पास जब शिविर लगाया गया तो खजूरपारा निवासी इंदिरा मनवानी और ब्रम्हरोड निवासी ललिता गुप्ता ने अपना इलाज कराया। इलाज से राहत महसूस कर रही मनवानी और गुप्ता ने स्लम स्वास्थ्य योजना के तहत मोबाइल मेडिकल यूनिट जैसी पहल की बहुत प्रशंसा की और झुग्गियों में रहने वाले गरीब परिवारों का उपचार आसानी से होने की बात कहीं। मुख्यमंत्री शहरी स्लम स्वास्थ्य योजना के अंतर्गत 30 नगरीय निकायों के स्लम इलाकों में नागरिकों एवं श्रमिकों को स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध कराने के उद्देश्य से हॉस्पिटल सह लैबोटरी बस (मोबाइल मेडिकल यूनिट) का शुभारंभ किया गया है।

16-11-2020
प्रदेश के 3 जिलों से एक भी मरीज नहीं, 9 जिलों में संख्या 10 तक ही सिमटी, कुल 530 केस व 16 मौतें

रायपुर। छत्तीसगढ़ में पिछले 24 घंटे में 530 कोरोना पॉजिटिव मरीजों की पहचान हुई है। प्रदेश के तीन जिलों में राहत की बात है कि एक भी केस नहीं मिले हैं। 623 मरीज स्वस्थ हुए हैं। इनमें 44 मरीज अस्पताल से डिस्चार्ज हुए हैं और 579 मरीजों ने होम आइसोलेशन कंप्लीट किया है। 16 मरीजों की मौत हुई है। प्रदेश में अब एक्टिव केस 19087 है। अब तक 2578 मरीजों की मौत हो चुकी है। यह जानकारी मेडिकल बुलेटिन में मिली है।

प्रदेश में दुर्ग जिले से 26, राजनांदगांव से 39, बालोद से 46, बेमेतरा से 0, कबीरधाम से 10, रायपुर से 50, धमतरी से 7, बलौदाबाजार से 3, महासमुंद से 20, गरियाबंद से 3, बिलासपुर से 0, रायगढ़ से 58, कोरबा से 27, जांजगीर चांपा से 65, मुंगेली से 7, गौरेला पेंड्रा मरवाही से 0, सरगुजा से 22, कोरिया से 13, सूरजपुर से 1, बलरामपुर से 15, जशपुर से 22, बस्तर से 10, कोंडागांव से 16, दंतेवाड़ा से 29, सुकमा से 13, कांकेर से 15, नारायणपुर से 1, बीजापुर से 10 और अन्य राज्य से 2 मरीजों की पहचान हुई है। विस्तृत जानकारी के लिए यहां क्लिक करें

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804