GLIBS
05-12-2020
व्यापारियों ने बताई डाॅ. शिवकुमार डहरिया को समस्या, मंत्री ने निराकरण करने आधिकारियों को दिए निर्देश  

 रायपुर। डूमरतराई औषधि वाटिका में एक प्रतिष्ठान का उद्घाटन करने पहुंचे श्रम मंत्री शिव कुमार डहरिया को कॉन्फेडेरेशन ऑफ फार्मा डीलर्स एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने काम्पलेक्स तक पहुंच मार्ग नहीं होने पर आने जाने में होने वाली समस्याओं के बारे में बताया और एक पहुंच मार्ग की मांग की। मंत्री डहरिया ने उनकी अनुरोध पर तत्काल कार्रवाई करते हुए अधिकारियों से स्टीमेट बनाकर प्रकरण प्रस्तुत करने के निर्देश दिए। मंत्री डहरिया के निर्देश पर जोन कमिशनर क्रमांक 10 ने मौके पर इंजीनियरों को स्थल निरीक्षण के लिए भेजा। जोन कमिशनर ने बताया कि मेडिकल काम्पलेक्स तक सीसी रोड़ बनाने स्टीमेट तैयार किया जा रहा है। जल्दी ही सड़क निर्माण की दिशा में आवश्यक कार्यवाही करेंगे। एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने मंत्री डहरिया के माध्यम से उनकी अनुरोध को गंभीरता से लिए जाने और तत्काल ही अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए जाने पर खुशी जताई है। 

 

 

24-10-2020
प्याज की जमाखोरी और मुनाफाखोरी रोकने जशपुर कलेक्टर महादेव कावरे ने ली व्यापारियों की बैठक

रायपुर/जशपुरनगर। लोगों की सुविधाओं को ध्यान में रखते हुए प्याज का दाम  निर्धारित करने के लिए कलेक्टर  महादेव कावरे ने व्यापारियों की बैठक ली।  उन्होंने व्यापारियों से कहा कि प्याज अधिक दामों पर बिक्री न करें और स्टाॅक पर भी अनावश्यत न रखने के लिए कहा गया है। बैठक में खाद्य अधिकारी ने बताया कि थोक व्यापारी 25 टन ही प्याज रख सकते हैं। फुटकर व्यापारी 2 टन ही स्टाॅक में प्याज रखने की अनुमति है। थोक व्यापारियों ने बताया कि जिले में प्याज रांची, बिलासपुर, अम्बिकापुर से आता है। प्याज का थोक भाव मण्डी के हिसाब से उपर-नीचे होता रहता है। और मण्डी के हिसाब से ही दाप निर्धारित करके विक्रय किया जाता है। व्यापारियों ने बताया कि मार्केट में अभी 70 रुपए के हिसाब से प्याज का विक्रय कर रहे हैं। कलेक्टर ने व्यापारियों से आग्रह किया कि लोगों की सुविधाओं को ध्यान में रखते हुए प्याज का मूल्य निर्धारित करें।

06-08-2020
Video: इस जिले में 8 घंटे खुलेंगी दुकानें, रविवार को सब रहेगा बंद

दुर्ग। कलेक्टर सर्वेश्वर नरेंद्र भूरे ने दुर्ग जिले में 7 अगस्त से दुकानें खोलने के आदेश जारी कर दिया हैं। व्यापारियों के साथ हुई बैठक के बाद दुकानें खोलने का समय तय कर दिया गया है। आदेश 31 अगस्त तक लागू रहेगा। इसमें सब्जी, डेयरी, मटन, मछली के विक्रय के लिए प्रातः 5 बजे से दोपहर 12 बजे तक अनुमति रहेगी। किराना जनरल प्रोविजन एवं अन्य समस्त व्यवसाय प्रातः 11 बजे से सायं 7 बजे तक खुल रहेंगे। रेस्टोरेंट होटल में डाईनिंग सुबह 10 बजे से रात 8 बजे तक खुुले रहेंगे। रेस्टोरेंट/होटल होम डिलीवरी रात्रि 8 बजे से रात्रि 10 बजे तक खुले रहेंगे। ठेले पर खाद्य सामग्री प्रात: 6 बजे से सुबह 9 बजे और शाम 5 से रात 8 बजे तक खुलेंगे। प्रतिदिन 8 घंटे दुकानें खोली जाएगी। सप्ताह में एक दिन रविवार को समस्त व्यवसाय बंद रहेंगे, केवल डेयरी प्रातः 6 बजे से दोपहर 12 बजे तक खुलेगी। आदेश का उल्लघंन करने पर संबंधित संस्थान को सील करने की कार्यवाही की जाएगी। इस दौरान मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग के पालन करने का आदेश कलेक्टर ने दिया है।

 

17-07-2020
कैट कार्यालय में व्यापारिक संगठनों और व्यापारियों ने जमा किए स्मार्ट फोन, सहयोग राशि

रायपुर। कंफेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) सीजी चैप्टर के प्रदेश कार्यालय में व्यापारिक संगठनों और व्यापारियों ने शुक्रवार को जरुरतमंद बच्चों के लिए स्मार्ट फोन जमा करवाए। कैट के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अमर पारवानी ने कहा कि विगत दिनों कोरोना महामारी के कारण पूरे प्रदेश के स्कूलो में पढ़ाई बंद है। इसे देखते हुए राज्य के शिक्षा बोर्ड ने स्कूलों में पढ़ रहे बच्चों के लिए ऑनलाइन क्लासेस लगाकर पढ़ाना शुरू किया है। ऑनलाइन पढ़ाई बच्चों के लिए वरदान साबित हो रही है, लेकिन मुश्किल यह है कि अधिकांश बच्चों के पास एंड्रायड मोबाइल ही नहीं है। वे आर्थिक रूप से मोबाइल खरीदने के लिए सक्षम नहीं है। इसके कारण जरुरतमंद विद्यार्थी ऑनलाइन पढ़ाई से वंचित रह गए हैं। इसी तारतम्य में कैट सीजी चैप्टर की प्रदेश कार्यकारिणी की बैठक वीडियो कान्फ्रेंस से विगत दिनों हुई थी। सभी ने अमर पारवानी के नेतृत्व में संकल्प लिया था कि जरुरतंमद बच्चों के लिए मोबाइल और आर्थिक सहायता की जाएगी।

इससे स्कूलों में पढ़ रहे जरुरतमंद बच्चों को स्कूल के माध्यम से देने के लिए एक समग्र योजना बनाई गई है। इसी कड़ी में कैट के प्रदेश कार्यालय में रायपुर साइकिल मर्चेन्ट एसोसिएशन, परमानन्द जैन गणेश साइकिल, महेश जेठानी, अमर खटट्र, निलेश मुंदड़ा ने मोबाइल प्रदान किए। इसके साथ छत्तीसगढ़ साबुन एंड डिटेर्जेन्ट निर्माता कल्याण संघ, मेसर्स संजय हार्डवेयर, मेसर्स जय अम्बे हार्डवेयर, राजकुमार बजाज, दिलीप ड्रोलिया, लखविंदर सिंह, विनय ब्रास ने सहयोग राशि जमा करवाई। कैट सीजी चैप्टर के प्रदेश अध्यक्ष अमर पारवानी और प्रदेश संयोजक सुरिन्दर सिंह ने व्यापारिक संगठनों और व्याारियों का आभार व्यक्त किया।

 

 

 

 

19-06-2020
कवर्धा के 275 फुटकर व्यापारियों को फिर से कारोबार शुरू करने वनमंत्री मोहम्मद अकबर ने स्वेच्छानुदान से मदद की

रायपुर/कवर्धा। शासन की ओर से वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के संक्रमण और लॉक डाउन से प्रभावित लोगों को सीधी मदद पहुंचाने के लिए अनेक पहल और उपाय किए जा रहे हैं। प्रदेश के वन, परिवहन मंत्री और कवर्धा विधायक मोहम्मद अकबर ने कवर्धा में आयोजित कार्यक्रम में अपनी स्वेच्छा अनुदान राशि से कवर्धा नगर पालिका अंर्तगत अपनी आजीविका चलाने वाले 275 फुटकर व्यापारियों को फिर से व्यापार और काम-धंधा शुरू करने के लिए 13 लाख 75 हजार रुपए का चेक देकर मदद पहुंचाई। इसके तहत कोरोना संकट प्रभावित प्रत्येक फुटकर व्यापारियों को पुनः व्यापार शुरू करने के लिए पांच-पांच हजार रुपए का चेक प्रदान किया गया। सभी फुटकर व्यापारियों ने आर्थिक संकट के दौर में पांच-पांच हजार रुपए सीधे मदद करने के लिए छत्तीसगढ सरकार और कवर्धा विधायक अकबर के प्रति अभार व्यक्त किया।

पूरे प्रदेश में कवर्धा नगर पालिका परिषद् प्रदेश का पहला नगर पालिका है, जहां अपने फुटकर पथ विक्रेताओं को पुनः व्यापार संचालित करने के लिए सीधे तौर पर आर्थिक मदद पहुंचाई गई है। वन, परिवहन मंत्री औरकवर्धा विधायक मोहम्मद अकबर अपने उद्वबोधन में कहा कि छत्तीसगढ़ सरकार गांव-गरीब, किसानों, युवाओं की सरकार है। राज्य सरकार द्वारा कोरोना संकट के इस वैश्विक महामारी और लॉक डाउन से प्रभावित प्रदेश के किसानों से लेकर अंतिम व्यक्ति को हर संभव मदद पहुंचाने के लिए विशेष प्रयास किए जा रहे है। उन्होंने कहा है कि किसानों से लेकर व्यापारियों में आत्मविश्वास तभी आता है जब उनके पास खेती-बाड़ी और व्यापार शुरू करने के लिए पर्याप्त पैसे हो। नगर पालिका अध्यक्ष ऋषि कुमार शर्मा ने कहा कि ऐसे समय में मंत्री अकबर द्वारा पुनः व्यवसाय प्रारंभ करने के लिए पांच-पांच हजार रूपये का सहयोग राशि प्रदान किया है, जो उनके व्यवसाय के लिए संजीवनी साबित होगा। उन्होंने सभी हितग्राहियों को चेक वितरण करते हुए कहा कि सहायता राशि का सदुउपयोग करते हुए पुनः व्यवसाय प्रारंभ कर स्वालंबी बने तथा परिवार का सही ढंग से भरण-पोषण करें।

15-06-2020
व्यापारियों का बंद से इनकार, कहा-यह समस्या का हल नहीं, लॉक डाउन की बातें अफवाह

रायपुर/नई दिल्ली। देश में कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच व्यापार जगत से बड़ी खबर आ रही है। दिल्ली के व्यापारियों ने व्यापार बंद करने से इनकार कर दिया है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक रविवार को 275 व्यापारी नेता वीडियो कॉन्फ्रेंस में शामिल हुए। निर्णय लिया गया है कि फिलहाल बाजार खुले रहेंगे। बैठक में चांदनी चौक, कश्मीरी गेट, चावड़ी बाजार, नया बाजार, खारी बावली, सदर बाजार, कमला नगर, कनॉट प्लेस, नेहरू प्लेस, सरोजनी नगर, राजौरी गार्डन, गांधी नगर, खान मार्केट, शाहदरा, मायापुरी, लाजपत नगर, रोहिणी, पीतमपुरा, तिलक नगर, मालवीय नगर, ग्रीन पार्क, ग्रेटर कैलाश, चावड़ी बाजार, गांधी नगर, नया बाजार समेत कई व्यापारिक संगठनों ने हिस्सा लिया। भारतीय उद्योग व्यापार मंडल ने दिल्ली के बाजार खोलने को लेकर व्यापारियों की राय ली। बैठक में दिल्ली के थोक और खुदरा व्यापारियों के 78 एसोसिएशन ने हिस्सा लिया। बैठक में व्यापारियों ने बेबाकी से अपनी राय रखी। 95 प्रतिशत व्यापारियों ने कहा कि व्यापार बंद करना कोई समस्या का समाधान नहीं है। बाजार बंद करने से व्यापार पटरी से उतर जाएगा।
 
दिल्ली में फिर से लॉक डाउन लगने और बाजार बंद होने की आशंका को व्यापारियों ने अफवाह करार दिया है। व्यापारियों ने साफ तौर पर कहा है कि दुकानें खुली रहेंगी। बाजार बंद होने के अफवाहों के बीच व्यापारियों के संगठन चैंबर ऑफ ट्रेड एंड इंडस्ट्री (सीटीआई) ने वीडियो कॉन्फेंसिंग से बैठक की। इसमें 170 बड़ी व्यापारिक संस्थाओं ने हिस्सा लिया। सीटीआई के अलावा कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) ने भी कहा है कि दिल्ली के बाजार फिलहाल खुले रहेंगे। सीटीआई के मुताबिक 170 में से 157 व्यापारिक संगठनों का कहना है कि दिल्ली में कोरोना के केस बढ़ रहे हैं लेकिन बाजार और दुकानें खुली रहनी चाहिए। 13 संस्थाओं का सुझाव था कि बाजार बंद होने चाहिए। कुछ एसोसिएशन का कहना था कि काफी मजदूर पहले ही अपने घर जा चुके हैं। अगर दुकानें दोबारा बंद हो गईं तो बाकी मजदूर भी चले जाएंगे। काम नहीं मिलने पर ज्यादा दिनों तक मजदूरों को रोक पाना संभव नहीं होगा। लाजपत राय मार्केट और कमला नगर के व्यापारियों ने कहा कि एहतियात के साथ दुकानें खुलनी चाहिए।

06-06-2020
व्यापारियों को ग्राहकों और आगंतुकों की रखनी होगी जानकारी, लापरवाही बरतने वालों के खिलाफ होगी कार्रवाई

आरंग। प्रदेश में बढ़ रहे कोरोना संक्रमण के मामलों के मद्देनजर आरंग में शनिवार से व्यापारियों को उनके प्रतिष्ठानों में आने वाले ग्राहकों की जानकारी रखना अनिवार्य होगा। इसके लिए अनुविभागीय अधिकारी विनायक शर्मा ने नगर के व्यावसायिक संगठनों को निर्देश दिया है। आरंग के पास महासमुंद और मंदिरहसौद में कोरोना मरीजों के मिलने के बाद नगर में प्रशासन ने व्यापारियों से एहतियात बरतने की अपील की है। आरंग में आसपास के गांवों से लोग कई प्रकार की सामग्री खरीदने के लिए बाजार और व्यावसायिक प्रतिष्ठान आते हैं। जिनका नाम, पता और मोबाइल नंबर की जानकारी रजिस्टर में रखने थोक और चिल्हर व्यवसायियों को कहा गया है। व्यापारियों को ग्राहकों के अलावा आगंतुकों और बाहर की गाड़ियों से आए माल लोड-अनलोड करने वालों की भी जानकारी रजिस्टर में रखनी होगी। ताकि कोरोना संक्रमण की स्थिति में लोगों की हिस्ट्री प्रशासन को प्राप्त हो सके। प्रशासन ने जारी निर्देश का कड़ाई से पालन करने व्यापारियों से अपील की है। वहीं प्रतिष्ठानों के रजिस्टर की प्रशासन द्वारा रोजाना जांच की जाएगी। रजिस्टर नहीं रखने वाले और लापरवाही बरतने वाले व्यापारियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई भी की जाएगी।

17-04-2020
ऑनलाइन व्यापार को छूट देना लघु उद्योग,छोटे कारीगरों और व्यापारियों  के साथ धोखा : राजेंद्र जग्गी

 

रायपुर। ऑनलाइन व्यापार को छूट देने का छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी व्यापार प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष राजेंद्र जग्गी ने विरोध किया है। जग्गी ने कहा कि ऑनलाइन व्यापार के आदेश को तुरंत वापस  लेना चाहिए। सरकार ने ऑनलाइन व्यापार को जो छूट दी है, वह लघु उद्योग, छोटे कारीगरों और देश के शहर से लेकर गांव तक बसने वाले व्यापारियों के साथ धोखा है। उन्होंने कहा कि वर्तमान में पूरे देश में गर्मी अपना रंग दिखा रही है। देश के छोटे और मध्यम परिवारों को लिए कूलर इस गर्मी में बहुत महत्वपूर्ण है और इसकी तैयारी के लिए पूरे देश में छोटे-छोटे लघु उद्योग कूलर का निर्माण करते हैं। छोटे उद्योग और छोटे व्यापारी हाथ से बनाने वाले कारीगरों को पैसा देकर यह माल तैयार करते हैं। यह तैयारी दिसंबर से शुरू हो जाती है और इसकी बिक्री मार्च से जून के बीच होती है। उन्हें बेचने की अनुमति ना देकर केंद्र सरकार ऑनलाइन कारोबारियों को छूट देकर टीवी,फ्रिज,कूलर जैसी चीजें ऑनलाइन बेचने के लिए तैयार कर रहा है। यह पूरे देश के साथ छोटे उद्योगों कारीगरों और छोटे व्यापारियों के साथ सरासर अन्याय है। सरकार को अगर छूट देनी है तो अरबों, खरबों रुपया जो छोटे लघु उद्योगों और व्यापारियों का फंसा है उन्हें यह सामान बेचने की अनुमति देकर उन्हें अनुग्रहित करना चाहिए। इससे जिससे लाखों -लाखों कारीगर को रोजगार मिलेगा।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804