GLIBS
16-02-2020
राजधानी में गजानन महाराज के प्रगट दिवस महोत्सव की धूम, पालकी शोभायात्रा सोमवार को 

रायपुर। संत श्री गजानन महाराज (शेगांव) संस्थान तात्यापारा चौक रायपुर की ओर से गजानन महाराज का प्रगट दिवस महोत्सव धूमधाम से मनाया जा रहा है। तात्यापारा स्थित मंदिर की स्थापना के 50 वर्ष पूर्ण होने पर इस वर्ष को स्वर्ण जयंती महोत्सव के रूप में मनाया जा रहा है। 12 फरवरी से शुरू हुए प्रगट दिवस महोत्सव कार्यक्रम में रविवार को महाप्रसाद भंडारा हुआ। बड़ी संख्या में श्रद्धालु शामिल हुए। सोमवार शाम पालकी शोभायात्रा मंदिर परिसर से निकाली जाएगी। 

मंदिर के अध्यक्ष प्रशांत ढवले ने कहा कि शेगांव वाले संत गजानंद महाराज का प्रकट दिवस उत्सव पूर्व वर्षों से इस वर्ष धूमधाम से मनाया जा रहा है। 12 फरवरी से शुरू हुए कार्यक्रमों की कड़ी में शनिवार को गणेश यज्ञ,महाआरती का आयोजन किया गया। रविवार को षोडशोपचार पूजा, सत्यनारायण पूजन, महाआरती और महाप्रसाद (भंडारा) का आयोजन हुआ। महोत्सव के अंतिम दिन सोमवार शाम पालकी शोभयात्रा निकाली जाएगी। उन्होंने कहा कि संस्थान की ओर से प्रतिवर्ष यह महोत्सव मनाया जाता है लेकिन इस वर्ष इसलिए बेहद महत्वपूर्ण है क्योंकि मंदिर की स्थापना हुए 50 वर्ष पूरे हो गए हैं। यह वर्ष स्वर्ण जयंती महोत्सव के रूप में मनाया जा रहा है। स्वर्ण जयंती महोत्सव पिछले माघ सुदी पूर्णिमा से मनाया जा रहा है। स्वर्ण जयंती वर्ष होने के कारण श्रीमद् भागवत कथा का आयोजन, गीत गजानन का प्रोग्राम, जिसमें गजानन महाराज के 21 अध्याय पर आधारित 21 भजन गीत का आयोजन किया गया। 

उन्होंने कहा कि गजानंद महाराज की ओर से प्रदान की गई चरण पादुका तात्यापारा मंदिर पहुंची थी। पादुका पिछले माह मंदिर पहुंची थी,जिस दौरान पादुका को भी शहर भ्रमण कराया गया था। मंदिर में पादुका का पूजन किया गया और भक्तों के दर्शनार्थ यहां रखा गया था। गजानन महाराज का प्रगट दिवस महोत्सव 12 फरवरी को कलश स्थापना से शुरू हुआ। सुबह और शाम पूजा-पाठ व महाआरती हुई। शनिवार को तिथि के अनुसार गजानन महाराज का प्रमुख  प्रगट दिवस रहा, जिस तिथि को गजानन महाराज प्रगट हुए थे। महिलाओं ने महाआरती की, हाथों में सजी थाल को लेकर 500 से अधिक महिला-पुरुष महाआरती में शामिल हुए। रविवार को महाआरती के महाप्रसादी का आयोजन किया गया। सोमवार शाम 5 बजे मंदिर परिसर से पालकी शोभायात्रा निकलेगी। शोभायात्रा मंदिर परिसर से निकलकर तात्यापारा चौक, ब्राह्मणपारा चौक, आजाद चौक,आमापारा होकर वापस आजाद चौक से एचएमटी चौक होते हुए मंदिर परिसर पहुंचेगी।

16-02-2020
राजधानी में 25 मार्च को भव्य चेट्रीचंड्र महोत्सव, 70 सिंधी पंचायतों की हुई बैठक

रायपुर। सिंधी समाज के ईष्ट देव झूलेलाल के जन्मोत्सव पर चेट्रीचंड्र महोत्सव का भव्य आयोजन राजधानी में किया जाता है। सिंधी समाज के प्रमुख पर्व चेट्रीचंड्र महोत्सव की तैयारियों को लेकर रविवार को राजधानी के संत कंवरराम धर्मशाला लाखेनगर में बैठक हुई। सिंधी समाज के 70 पंचायत प्रमुख इस बैठक में शामिल हुए। राजधानी में 25 मार्च को होने वाले चेट्रीचंड्र महोत्सव में महोत्सव की तैयारियों पर विचार-विमर्श कर कार्यक्रम की रूपरेखा तय की गई। प्रवक्ता दिनेश कुमार अठवानी ने बताया कि शोभायात्रा, सांस्कृतिक कार्यक्रमों सहित महाभण्डारा का आयोजन होगा। रायपुर में विगत 52 वर्षों से चेट्रीचंड्र महोत्सव का भव्य आयोजन होता आ रहा है। शोभायात्रा में 50 हजार से अधिक संख्या में श्रद्धालु शामिल होते हैं। यह सिर्फ सिंधी समाज का आयोजन ना होकर सर्वसमाज का आयोजन होता है। एकता और समता की मिसाल यहां से  दी जाती है।

 

19-01-2020
25 जनवरी से महामाया मंदिर पुरानी बस्ती में दिव्य सहस्त्र चंडी महायज्ञ का आयोजन

रायपुर। महामाया मंदिर महामाई पारा पुरानी बस्ती में दिव्य श्री सहस्त्र चंडी महायज्ञ का आयोजन दिनांक 25 जनवरी शनिवार से आयोजित किया जा रहा है। इसके यज्ञ आचार्य भागवत भूषण पंडित राजेंद्र प्रसाद तिवारी है। गुप्त नवरात्रि पर्व में आयोजित इस दिव्य महायज्ञ की शोभायात्रा एवं कलश यात्रा दिनांक 25 जनवरी शनिवार को सुबह  10 बजे से  मातेश्वरी मंदिर के मंदिर प्रांगण से निकलेगी जो दुर्गा चौक, अमीनपारा चौक, लिली चौक, लाके नगर चौक, आमापारा चौक, आजाद चौक, कंकालिन पारा, कंकालिन तलाब होते हुए शीतला मंदिर अमीनपारा से होकर वापस मंदिर प्रांगण पहुंचेगी। प्रतिदिन 61 विद्वान पंडितों के द्वारा श्री दुर्गा सप्तशती का पाठ प्रातः काल किया जायेगा। प्रतिदिन श्री महादेव भगवान का अभिषेक तथा दोपहर 3 बजे के बाद हवन एवं आरती आदि होगा। 3 फरवरी को पूर्णाहुति उपरांत ब्राह्मण भोजन एवं महाप्रसादी वितरण का आयोजन श्री महामाया मंदिर पब्लिक ट्रस्ट कमेटी द्वारा किया जाएगा ।

12-01-2020
धूम-धाम से मनाई गई स्वामी विवेकानंद की 157वी जयंती

बीजापुर। जिला मुख्यालय स्थित सरस्वती शिशु मंदिर में रविवार को स्वामी विवेकानंद जी की 157वी जयंती मनाई गई। स्वामी विवेकानंद जयंती के अवसर में सरस्वती शिशु मंदिर के छात्र छात्राओं ने स्वामी विवेकानंद का स्वरूप धारण कर नगर में शोभायात्रा निकाली। बाल गोपाल समिति व सरस्वती शिशु मंदिर के अध्यक्ष नंद किशोर राना ने छात्र छात्राओं को समोधित करते हुए कहा कि युवाओं का जीवन सफल बनायेंगे ये विचार स्वामी विवेकानंद जी के व्दारा शिकागो में दिए गए ओजस्वी भाषण ही पश्चिमी सभ्यता को भारत की तरफ खींच लाया। स्वामी विवेकानंद आज भी युवाओं के लिए प्रेरणा दायक है। उन्होने देश और समाज को नई और विकासशील दिशा की ओर अग्रसर करने में योगदान दिया स्वामी विवेकानंद युवाओ के प्रेरणास्रोत थे और इसलिए उनकी जयंती देश में राष्टीय युवा दिवस के रुप में मनाया जाता है।

उक्त कार्यक्रम में नगर के युवा नीलेश पानके, अरविंद पुजारी, सहित सरस्वती शिशु मंदिर के दीदी श्रीमती मोनिका सिंह दाऊ, कु.नागलक्ष्मी अनमुल, सत्यनारायण यालम संतोषी साहू, रमशीला टेकाम, भावना पैकरा, कु. पूजा झाडी, कु.ज्योति कुम्मा, कु. ललिता तेलम, सावित्री यालम एवं समस्त विद्यालय परिवार के आचार्य/दीदियॉ सम्मिलित हुए। यह झॉकी विद्यालय प्रॉगण से मुख्य मार्ग से नया बस स्नातक तक संचालित हुआ। इसकी एक झलक सरस्वती शिशु मंदिर बीजापुर के प्रधानाचार्य संतोष गोरला एवं विद्यालय समिति के अध्यक्ष नंदकिशोर राना के मार्गदर्शन में नगर में झॉकी निकाल कर जयंती मनाया गया।

 

11-01-2020
सुरभि जनजागरण सेवा समिति 26 से करेगी श्रीमद भागवत कथा का आयोजन

रायपुर। आगामी 26 जनवरी से दो फरवरी 2020 के मध्य बीटीआई ग्राउंड शंकर नगर में श्रीमद भागवत कथा ज्ञान यज्ञ सप्ताह का आयोजन सुरभि जनजागरण सेवा समिति द्वारा किया जाएगा। उक्त भागवत कथा का समय दोपहर 2 बजे से 6 बजे तक होगा। भागवत कथा समारोह का सीधा प्रसारण टीवी के 150 चैनलों द्वारा लाइव किया जाएगा। भागवत कथा ज्ञान यज्ञ सप्ताह यज्ञ के कथाकार कथा व्यास संत पुराण मनीषी पूज्य आचार्य कौशिक महाराज वृंदावन धाम होंगे। उक्त जानकारी समिति के मीडिया प्रभारी अतुल श्रीवास्तव, अजय भगत, उमाकांत मिश्रा, अशोक तलबले, कृष्णा पाठक, प्रमोद खरे, रामकृष्ण बाजपेयी एवं अजीत प्रजापति ने संयुक्त रूप से दी। कथा यज्ञ के प्रचार प्रसार का दायित्व साध्वी विभाश्री के द्वारा विभिन्न धर्म के गुरुओं के द्वारा संत वाणी के जरिए सदप्रवचन उक्त अवधि में आयोजित किए गए हैं। श्रीवास्तव ने बताया कि भागवत कथा का मुख्य उद्देश्य गौमाता की सेवा है। शुभारंभ अवसर पर 26 जनवरी को दोपहर 12 बजे जगन्नाथ मंदिर गायत्री नगर से शोभायात्रा निकाली जाएगी। शंकर नगर से शोभायात्रा आयोजन स्थल पर पहुंचेगी। श्रीवास्तव ने बताया कि समापन अवसर पर दो फरवरी को महा भंडारे का आयोजन किया गया है। प्रतिदिन कथा अध्याय समाप्त होने पर श्रद्धालुओं के मध्य खिचड़ी का प्रसाद वितरित किया जाएगा। आचार्य कौशिक एवं उनके 25 सदस्यीय टीम द्वारा भजन कीर्तन के माध्यम से भक्ति की गंगा भक्तों के मध्य प्रतिदिन बहेगी।

 

28-12-2019
29 दिसंबर को संत गजानन महाराज कि चरण पादुका का आगमन

रायपुर। संत गजानन महाराज कि चरण पादुका का आगमन 29 दिसंबर को राजधानी रायपुर में होगा। इसमें सुबह 8 बजे कोतवाली चौक से शोभायात्रा प्रारंभ होगी। शोभायात्रा सदर बाजार, आजाद चौक होते हुए मन्दिर परिसर तात्यापारा पहुंचेगी। इसके बाद पूजा, अभिषेक, सामूहिक महाआरती होगी। इसके पश्चात चरण पादुका को दर्शन के लिए रखा जाएगा। 4 जनवरी को शाम 7.30 बजे से गीत गजानन का आयोजन मंदिर परिसर तात्यापारा में होगा। इसे सप्त सुर म्यूजिकल ग्रुप द्वारा प्रस्तुत किया जाएगा।  

 

27-12-2019
आदिवासी सहित सभी वर्गों को जोड़कर ही निकलेगा देश की तरक्की का रास्ता : राहुल गांधी

रायपुर। राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव के शुभारंभ में छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर पहुंचे राहुल गांधी ने कार्यक्रम का शुभारंभ करने के बाद सभा को संबोधित करते हुए कहा कि आदिवासियों और सभी वर्गों को जोड़कर ही देश की तरक्की का रास्ता निकलेगा। सभी वर्गों और लोगों को जोड़ना और सभी को साथ लेकर चलना हमारी सांस्कृतिक पहचान है और यही भावना इस महोत्सव में दिख रही है। इस महोत्सव में आदिवासी संस्कृति और इतिहास को जानने और समझने का बेतहर मौका मिल रहा है। यह महोत्सव हमारी विविधता में एकता को भी दर्शाता है। लोक सभा सांसद राहुल गांधी ने शुक्रवार को यहां साइंस कालेज मैदान में तीन दिनों तक चलने वाले राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव का विधिवत शुभारंभ किया। समारोह की अध्यक्षता मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने की। इस महोत्सव में 25 राज्यों, 3 केन्द्रशासित राज्यों और बांग्लादेश, युगांड़ा, मालदीप, बेलारूस, थाईलैण्ड तथा श्रीलंका के लगभग 18 सौ लोक कलाकार शामिल हुए हैं। शुभारंभ समारोह में राहुल गांधी ने कहा कि छत्तीसगढ़ में आदिवासी, किसान, माताओं और बहनों सबको साथ लेकर ही अर्थव्यवस्था को आगे बढ़ा रहे हैं। यह महोत्सव भी सबको जोड़ने की भावना का परिणाम है। जब तक आदिवसियों, दलितों, मजदूरों, किसानों, महिलाओं और समाज के सभी वर्गों को नही जोड़ेंगे तब तक देश की अर्थव्यवस्था में सुधार नहीं ला सकते। कोई भी व्यवस्था इन वर्गो से ही चलती  हैं। भाई से भाई को लड़ाकर देश का भला नहीं हो सकता। सबको जोड़कर ही देश को तरक्की के रास्ते पर ले जाया जा सकता है। यहीं इस महोत्सव का भी मकसद है।  

राहुल गांधी ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा किए जा रहे कार्यों की प्रशंसा करते हुए कहा कि आदिवासी समुदाय की बेहतरी के लिए राज्य सरकार ने उनकी जमीन वापस की है, तेन्दूपत्ते की पारिश्रमिक दर भी बढ़ाई है। कुपोषण को दूर करने के लिए सुपोषण अभियान और मुख्यमंत्री हाट बाजार क्लीनिक योजना चलाई जा रही है। इसके सुखद परिणाम मिल रहे हैं। छत्तीसगढ़ में हिंसा में कमी आयी है क्योंकि सरकार लोगों की आवाज सुन रही है। यहां की विधानसभाओं में भी सभी की आवाज सुनाई दे रही है।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने इस अवसर पर कहा कि हम आदिवासियों की कला संस्कृति, परम्परा और धरोहर को संरक्षित करने का प्रयास कर रहे हैं। अनेकता में एकता हमारी पहचान है और ताकत भी। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी ने उनसे कहा था कि ऐसा कार्य होना चाहिए कि सब लोगों को लगे कि हमारी सरकार है। सोनिया गांधी और राहुल गांधी के मार्गदर्शन में हमारी सरकार हर वर्ग के आंसू पोछने का काम कर रही है। हमने किसानों का विश्वास जीता, आदिवासियों की लोहण्डीगुड़ा में उनकी जमीन वापस की। बस्तर अंचल में सुपोषण अभियान की शुरूआत की। उनके स्वास्थ्य के लिए हाट बाजार में क्लिनिक योजना की शुरूआत की। आज हमारी सरकार के कार्यों से छत्तीसगढ़ में सर्वत्र शांति व्याप्त है।

मांदर की थाप पर थिरके राहुल गांधी और अतिथि

राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव के शुभारंभ मौंके पर पहुंचे राहुल गांधी का आदिवासियों ने परंपरागत वाद्य यंत्रों और नृत्य से स्वागत किया। शुभारंभ अवसर पर छत्तीसगढ़ के लोक नृत्य दल के द्वारा जब मुख्य मंच पर प्रस्तुति दी जा रही थी तब राहुल गांधी भी खुद को रोक नहीं पाए और मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के साथ मुख्य मंच पर पहुंचे। वे एक कलाकार का मांदर लेकर खुद बजाने लगे और बाकी कलाकारों के साथ लय मिलाकर जमकर थिरके। उनके साथ मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और अन्य अतिथियों ने भी नृत्य कर नर्तक दलों का उत्साहवर्धन किया।



आदिवासी लोक नृत्य दलों ने निकाली शोभायात्रा

महोत्सव में देश-विदेश से आए नृत्य दलों ने शोभायात्रा भी निकाली। राहुल गांधी, मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और अन्य अतिथियों ने मांदर की थाप पर लोक नृत्य दलों का साथ दिया।

मुख्य अतिथि ने छत्तीसगढ़ शासन के केलेण्डर का किया विमोचन

मुख्य अतिथि राहुल गांधी ने शुक्रवार को राष्ट्रीय आदिवासी नृत्य महोत्सव के मुख्य मंच से छत्तीसगढ़ शासन के वर्ष 2020 के नये केलेण्डर का विमोचन किया। गढ़बो नवा छत्तीसगढ़ की थीम पर आधारित इस केलेण्डर में छत्तीसगढ़ के राज्य गीत की विभिन्न पंक्तियों को समाहित किया गया है। इस मौके पर भारत में यूनाइटेड नेशन की मिशन चीफ रेनटा लोक डेसालियन, पूर्व लोक सभा अध्यक्ष मीरा कुमार, पूर्व केन्द्रीय मंत्री कांतिलाल भूरिया, पूर्व केन्द्रीय मंत्री  भक्त चरण दास, राज्य सभा सांसद बी.के. हरिप्रसाद, पी.एल.पूनिया, चंदन यादव, विधानसभा अध्यक्ष डॉ. चरण दास महंत, उपाध्यक्ष मनोज मण्डावी सहित मंत्रीमंडल के सभी सदस्य, अनेक विधायक, सांसद और विभिन्न देशों और राज्यों से आए लोक कलाकार और बड़ी संख्या में आम नागरिक उपस्थित थे।

25-12-2019
प्रकाशमुनि नाम साहब के आगमन पर निकलेगी भव्य शोभायात्रा, शामिल होगें प्रदेश के मुखिया

बेमेतरा। जिला मुख्यालय से लगभग 5 किमी की दूरी पर स्थित ग्राम लोलेसरा बैजी में मेला प्रारंभ होने जा रहा है। मेले में प्रतिदिन लगभग 1 लाख से भी अधिक लोगों के शामिल होने का अनुमान लगाया जा रहा है, जिसकी तैयारी पूर्ण हो चुकी है। यह मेला प्रतिवर्ष समस्त कबीर पंथ समाज जिला बेमेतरा द्वारा गुरु गोसाई डॉ भानुप्रताप साहेब के संरक्षण व पंथश्री प्रकाशमुनि नाम साहेब के सानिध्य में लगाई जाती है, जहां बेमेतरा जिले सहित अन्य जिले के लोग भी भारी संख्या में पहुंचते हैं। पंथश्री प्रकाशमुनि नाम साहब के आगमन को लेकर बुधवार दोपहर लगभग ढाई बजे नगर मे भव्य शोभायात्रा निकाली जाएगी, जिसमें 1500 मोटरसाइकिल के साथ 700 महिलाएं सिर पर कलश लिए शामिल रहेंगे। वहीं इस शोभायात्रा में कर्मा, सुआ, गड़वा बाजा, बैंड पंथी व अन्य का कार्यक्रम पर भी लोग थिरकते नजर आएंगे। शोभायात्रा पुराना बस स्टैंड से प्रारंभ होकर मेला स्थल पर समाप्त होगा। पश्चात स्वागत सभा का कार्यक्रम चलेगा और शाम लगभग 5:30 बजे पंथश्री प्रकाशमुनि नाम साहब का आशीर्वचन होगा।

आज शोभायात्रा में छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल होंगे शामिल

पंथश्री प्रकाशमुनि नाम साहब के आगमन को लेकर निकाली गई शोभायात्रा में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल भी शामिल रहेंगे जिसके लिए जिला प्रशासन की तैयारी पूर्ण हो चुकी है। वहीं मुख्यमंत्री मेला स्थल के भी कार्यक्रम मे शामिल रहेंगे। मेले का आयोजन लगातार चार दिन तक चलेगा जिसमें प्रथम दिन बुधवार को शोभायात्रा के बाद निशान पूजा के साथ कार्यक्रम का शुभारंभ होगा। तत्पश्चात स्वागत सभा के बाद शाम लगभग 5:30 बजे पंथश्री प्रकाशमुनि नाम साहब का आशीर्वचन होगा। 26 दिसंबर को दोपहर महिला मंडल की विशेष सभा के बाद लगभग 4 बजे साहब का आशीर्वचन होगा। इस दिन के कार्यक्रम में छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री डॉक्टर रमन सिंह भी शामिल होंगे। 27 दिसंबर को 4 बजे पंथश्री प्रकाशमुनि नाम साहब का आशीर्वचन होगा। 28 दिसंबर को गुरु महिमा पाठ पश्चात सात्त्विक यज्ञ चौका आरती के साथ कार्यक्रम का समापन होना है।मेला स्थल पर बने पंडाल में लगभग 30 हजार लोगों की बैठने की व्यवस्था की गई है। पूर्व में इस पंडाल पर 20 हजार लोग बैठ पाते थे किंतु इस वर्ष पंडाल का चौड़ीकरण किया गया है, जिसमें अब 30 हजार लोग बैठ सकते हैं। साथ ही श्रद्धालु के प्रतीक्षालय के लिए लोलेसरा, बैजी प्राथमिक व मिडिल स्कूल पर व्यवस्था की गई है, वही अस्थाई तौर पर लगभग 50 टेंट लगाए गए।

इस वर्ष स्वच्छता पर दिया जाएगा विशेष ध्यान

प्रतिवर्ष देखा गया हैं कि मेला स्थल पर लगाए गए दुकानदारों द्वारा भारी मात्रा में कचरा फैला दिए जाते हैं, जिसे उनके द्वारा साफ नहीं किया जाता है। इस बार मेला समिति द्वारा दुकानदारों से अपील की गई है कि वह अपने अपने दुकान में डस्टबिन रखें ताकि कचरे को इधर-उधर फैलने से बचाया जा सके।

 

18-12-2019
गुरु घासीदास के बताए रास्ते पर ही समाज, प्रदेश व देश उन्नति कर सकता है: आहीरे

गरियाबंद। संत गुरु घासीदास बाबा की जयंती समारोह बुधवार को सतनाम भवन रावणभाटा में मनाया गया। इस अवसर पर कार्यक्रम के मुख्यअतिथि पुलिस अधीक्षक एमआर आहिरे, अध्यक्षता अलखराम कोसले, विशिष्ट अतिथि आरके खुंटे,एलआर कुर्रे,केएल सलमानी,उमा देवी सांग,दूजलाल बंजारे थे। मजरकट्टा स्थित जैतधाम से शोभायात्रा निकाली गई, जो विभिन्न मार्गो से होते हुए सतनाम भवन रावण भाटा पहुंची।। यहां अतिथियों ने अपना उद्बोधन देते हुए बाबा के बताए हुए रास्तों पर चलकर समाज के साथ ही दिन दुनिया और दुखी लोगों के साथ सभी समाज का भला करने का आवाहन किया। इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक एमआर आहीरे ने कहा की संत बाबा गुरु घासीदास के बताए हुए मार्ग पर जब तक हम चलते रहेंगे हमारा समाज उन्नति और विकास की ओर बढ़ता रहेगा। उनके बताए रास्ते पर ही प्रदेश वा देश उन्नति और विकास की ओर बढ़ सकता है। सभी समाज के साथ कंधे से कंधा मिलाकर हमें चलना है। बाबा ने कहा था समाज की सेवा करो,दीन दुखियों की सेवा करो,सब मिलकर चले यही समाज के उन्नति का सच्चा मार्ग है। आरके खूटे ने कहा कि आज के इस युग में बाबा का संदेश और बाबा का ज्ञान प्रकाश दिखाता है। आज दुनिया में जो हिंसा है उसे  सिर्फ बाबा का संदेश ही दूर कर सकता है। आज बाबा के बताए रास्ते काफी प्रासंगिक है। इस अवसर पर रावण भाटा सतनाम समाज में जैतखंभ  पर पाला चढ़ाया गया। पंथी नृत्य, गीत के साथ ही अनेक आकर्षक प्रस्तुति दी गई। सतनाम समाज के लोगों ने बाबा के  दिए गए संदेश को पालन करने की शपथ ली। इस अवसर पर सतनाम समाज के हजारों लोग उपस्थित हुए। 

 

11-12-2019
बाबा गुरू घासीदास जयंती पर 17 दिसंबर को शोभायात्रा, डॉ. शिव डहरिया और गुरू रूद्रकुमार होंगे शामिल

रायपुर। गुरू घासीदास बाबा की 263वीं जयंती के उपलक्ष्य पर 17 दिसम्बर को रायपुर जिले के मंदिर हसौद में भव्य शोभायात्रा का आयोजन किया जाएगा। नगरीय प्रशासन एवं श्रम मंत्री डॉ. शिवकुमार डहरिया और ग्रामोद्योग एवं लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी मंत्री गुरू रूद्रकुमार शोभायात्रा में शामिल होंगे। शोभायात्रा का आयोजन प्रमुख रूप से छत्तीसगढ़ सतनाती युवा महासंगठन के तत्वाधान में होगा। महासंगठन के प्रातांध्यक्ष भानुप्रताप डहरिया के नेतृत्व में संगठन के प्रतिनिधिमंडल द्वारा मंत्रियों से सौजन्य मुलाकात शोभायात्रा में शामिल होने के लिए आमंत्रित किया गया। बाबा गुरू घासीदास के संदेश को जन-जन तक पहुंचाने के लिए सात संतों के समूह श्वेत ध्वज लेकर शोभायात्रा का अगुवानी करेंगे। इस दौरान भव्य झांकी निकाली जाएगी। प्रदेश भर से आए पंथी दल, अखाड़ा दल, मंगल भजन दल कला और शौर्य प्रदर्शन करेंगे। शोभायात्रा के दौरान आयोजित कार्यक्रम की अध्यक्षता वरिष्ठ समाजसेवी नारायण कुर्रे, बेदराम मनहरे करेंगे। विशिष्ट अतिथि के रूप में गुरू खुशवंत साहेब, पूर्व विधायक संजय ढ़ीढ़ी, नवीन मारकण्डेय, जिला पंचायत सदस्य पीयूष कोसरे, पूर्व जिला पंचायत सदस्य परमानंद जांगड़े, मंदिरहसौद की सरंपच धनपत गायकवाड़ शामिल होगे। शोभायात्रा क समन्वयक कुंजबिहारी बोस, मोहनलाल टोडरे, नोहर बांधे, राजेश बंजारे होंगे। शोभायात्रा में समाज के संत-महात्मा, भंडारी, सांटीदार, समाज के विद्वजन सहित बड़ी संख्या में सभी समाज के महिला पुरूष एवं बच्चे शामिल होंगे। छत्तीसगढ़ सतनामी युवा महासंगठन के अध्यक्ष भानुप्रताप डहरिया ने शोभायात्रा में शामिल होने प्रदेशवासियों से अपील की है।    

 

02-12-2019
गुरु घासीदास जयंती पर बाइक रैली 13 को, 16 को निकलेगी शोभायात्रा

रायपुर। गुरु घासीदास के 263वे जन्मोत्सव पर राजधानी में चार दिवसीय कार्यक्रम होंगे। रविवार को न्यू राजेंद्र नगर स्थित सांस्कृतिक भवन में सतनामी समाज की बैठक हुई जिसमें कार्यक्रम को अंतिम रूप देते हुए जिम्मेदारियां सौप कर पंपलेट पोस्टर का वितरण किया गया। गुरु घासीदास साहित्य एवं संस्कृति अकादमी के अध्यक्ष एवं प्रवक्ता ने बताया कि 13 दिसंबर को कमाडी स्थित सतनाम भवन से युवाओं द्वारा बाइक रैली निकाली जाएगी और 16 दिसंबर को गुरु घासीदास की शिक्षाओं को प्रदर्शित करती झांकियां के साथ आवारा प्लाजा से भव्य शोभायात्रा निकाली जाएगी। 17 दिसंबर को बच्चों, युवतियों और महिलाओं के सांस्कृतिक कार्यक्रम सहित कई स्पर्धा होंगी। वहीं 18 दिसंबर को जयंती दिवस पर पंथी नृत्य, संगोष्ठी अलंकरण समारोह जैसे कार्यक्रम होंगे।  जयंती कार्यक्रम के मुख्य अतिथि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल होंगे। कार्यक्रम की अध्यक्षता नगरीय प्रशासन एवं श्रम कल्याण मंत्री शिव डहरिया करेंगे।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804