GLIBS
14-07-2020
क्वॉरेंटाइन सेंटर में प्रवासी मजदूर की सर्पदंश से मौत

कोरबा। जिला मुख्यालय कोरबा से 96 किलोमीटर दूर लहंगी के क्वॉरेंटाइन सेंटर में सर्प के काटने से 25 वर्षीय धनसिंह की स्थिति बिगड़ गई। पसान के टीआई राणा ने बताया कि बीती देर रात पीड़ित को पेंड्रा के सरकारी अस्पताल ले जाया गया, जहां उसकी मौत हो गई। यह व्यक्ति 1 जुलाई को उत्तर प्रदेश के झांसी से यहां लौटा था। इसके बाद गांव के क्वारंटाइन सेंटर में रखा गया था। 

 

29-06-2020
क्वॉरेंटाइन सेंटर से भागने के प्रयास में एक का टूटा पैर और दूसरे का हाथ

लखनपुर। लखनपुर जूनाडीह स्थित आईटीआई में बनाए गए क्वारेंटाइन सेंटर से दो मंजिला छत फांद कर भाग रहे दो युवकों में एक का पैर तथा दूसरे का हाथ टूटा गया। दोनों युवकों को पकड़कर जिला रेफर किया गया है। प्राप्त जानकारी के मुताबिक 22 एवं 28 जून को अलग-अलग तिथियों में दो श्रमिकों को क्वारेंटाइन सेंटर में रखा गया था। दोनों युवक भागने का प्रयास कर रहे थे। 

 

09-06-2020
क्वॉरेंटाइन सेंटर में अव्यवस्था से नाराज श्रमिक भाग रहे थे घर, प्रशासन ने वापस रखा सेंटर में

सूरजपुर। जिला मुख्यालय से लगे ग्राम पर्री में स्थित लाइवलीहुड कॉलेज को  कोविड - 19 माहमारी को लेकर प्रवासी मजदूरों के लिए क्वॉरेंटाइन सेंटर बनाया गया है। इस क्वॉरेंटाइन में करीब दर्जन भर से अधिक प्रवासी मजदूर अव्यवस्था से नाराज होकर अपने घरों के लिए बगैर अनुमति लिए चल पड़े,जिसकी सूचना पर प्रशासन समझाइस देकर पुनः क्वॉरेंटाइन में रखने की बात कही जा रही है।
मिली जानकारी के अनुसार ग्राम पर्री में स्थित लाइवलीहुड कॉलेज में बनाये गए प्रवासी मजदूरों के लिए क्वारेंटाइन सेंटर में उस वक्त हंगामा मच गया जब सेंटर में रखे गए दर्जनों भर प्रवासी श्रमिकों ने क्वारेंटाइन सेंटर में अव्यस्थाओं को लेकर अपने घर जाने के लिए निकल गए। इसके बाद प्रशासन भागे गए मजदूरों को रास्ते में समझाइस देते हुए पुनः क्वॉरेंटाइन सेंटर लाया। मजदूर भागने मेँ तो जरूर नाकाम रहे लेकिन क्वॉरेंटाइन सेंटर मेँ व्यवस्था को लेकर बेहद नाराज दिखे। क्वॉरेंटाइन सेंटर जिसकी देख रेख की जिम्मेदारी प्रशासन के आला अधिकारियों की थी। क्लेक्टर ने क्वारनटाईन सेंटर में तैनात दो पटवारी को निलंबित कर दिया है तो वहीं कटेंनमेंट ज़ोन के नोडल ऑफ़िसर और नायब तहसीलदार समेत तीन आरआई को कारण बताओ नोटिस जारी किया है। इस संबंध में सूरजपुर क्लेक्टर रणबीर शर्मा ने कहा कि सभी मजदूरों को समझाइस देकर पुनः क्वॉरेंटाइन सेंटर में भेज दिया गया है। अव्यवस्था के सवाल का जवाब देते हुए कहा कि मैं स्वयं क्वॉरेंटाइन सेंटर का दौरा कर व्यवस्थाओं का जायजा ले रहा हूं। किसी तरह की कोई अव्यवस्था नहीं है।

 

31-05-2020
भूतपूर्व सैनिक संघ कवर्धा ने बांटे क्वॉरेंटाइन सेंटर में फल, जूस, बिस्किट

कवर्धा। भूतपूर्व सैनिक संघ कवर्धा द्वारा ग्राम पंचायत भागूटोला (कवर्धा) के सरस्वती शिशु मंदिर क्वॉरेंटाइन सेंटर एवं पूर्व माध्यमिक शाला क्वारेंटाइन सेंटर में लगभग 80 श्रमिक परिवार को फल,जूस,बिस्किट तथा खाद्य सामग्री पैकेट का वितरण किया। सेंटर प्रभारी व सहयोगी स्टाफ के माध्यम से सोशल डिस्टेंसिंग के पालन करते हुए वितरण किया गया। इसमें प्रमुख रूप से भारतीय सेना के पूर्व सैनिक सन् 1971 वार का योद्धा खिमनलाल सोनी, सेवानिवृत्त सूबेदार धर्मगुरु घनश्याम प्रसाद साहू, पूर्व वारंट ऑफिसर परमानंद कौशिक, अब्दुल शमीम खान, अब्दुल सईद खान, छोटेलाल वाकरे, होरीराम मेरावी, जितेंद्र कुमार राजपूत, धनेश्वर सिंह राजपूत, चंद्रशेखर सिंह राजपूत,कृष्णकांत सिंह ठाकुर, दिनेशराम साहू, दिनेश कुमार चंद्रवंशी, धर्मेंद्र कुमार चंद्रवंशी, राकेश कुमार चंदेल उपस्थित थे। पूर्व वारंट अफिसर परमानंद कौशिक ने बताया कि इस राष्ट्रीय आपदा कोविड-19 महामारी के समय में हमारे छत्तीसगढ़ राज्य के लगभग 500 पूर्व सैनिक नि:स्वार्थ भाव से अपने-अपने गृह जिला में जिला अधिकारी तथा पुलिस अधीक्षक के दिशा निर्देश अनुसार वालंटियर (एसपीओ) का कार्य कर रहे हैं और करते रहेंगे। सैनिक सेना के कार्य से सेवानिवृत्त होता है सेवा के कार्य से नहीं।

27-05-2020
क्वॉरेंटाइन सेंटर में ड्यूटी कर रहे आरक्षक ने खुद को मारी गोली, स्थिति गंभीर 

बलरामपुर। जिले के सामरी में पदस्थ एक आरक्षक महेश सिंह ने खुद की सर्विस राइफल से अपने आप को गोली मार ली है। गोली की आवाज सुनते ही परिसर में स्थित जवान तत्काल घटनास्थल पर पहुंचे और गंभीर अवस्था में घायल जवान को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र कुसमी में प्राथमिक उपचार के लिए लाया गया। जहां उसकी स्थिति गंभीर होता देख चिकित्सकों ने तत्काल उसे अंबिकापुर मेडिकल कॉलेज रेफर किया गया है। आरक्षक की ड्यूटी क्वॉरेंटाइन सेंटर में लगाई गई थी। क्वॉरेंटाइन सेंटर से वापस वह खाना खाने सामरी थाना परिसर आया था। तभी छत पर चढ़कर आरक्षक ने खुद पर गोली चलाई। मिली जानकारी के अनुसार आरक्षक किसी से फोन पर बात कर रहा था। अचानक उसने खुद पर छत पर चढ़कर रायफल से गोली चला दी। फिलहाल पुलिस आगे की जांच में जुटी हुई है।

25-05-2020
आगरा से लौटे थे मुंगेली में मिले कोरोना मरीज, जिला प्रशासन अलर्ट  

मुंगेली। जिले में कोरोना का कहर बढ़ गया है। 26 संक्रमित मरीजों की पुष्टि की गई है। अब जिले में कुल 39 कोरोना पॉजिटिव की संख्या हो गई है। विगत दिनों पहुंचे आगरा के मजदूरों में से 26 मजदूरों की जांच रिपोर्ट सोमवार को आई। इसमें से सभी पॉजिटिव पाए गए, यह सभी मुंगेली के आसपास के गांवों के प्रवासी मजदूर थे, क्वॉरेंटाइन सेंटर में थे। क्वॉरेंटाइन सेंटर में संबंधित अधिकारी और प्रशासन का अमला जुट गया है और इन पॉजिटिव मरीजों की कोविड 19 स्पेशल अस्पताल भेजने व्यवस्था की जा रही है।

 

18-05-2020
क्वॉरेंटाइन सेंटर के नाम पर सिर्फ खाना पूर्ति कर रही है सरकार : देवजी पटेल

रायपुर। पूर्व विधायक देवजी भाई पटेल ने कहा कि क्वॉरेंटाइन सेंटर के नाम पर अनाप-शनाप खर्च प्रतिदिन प्रति व्यक्ति सिर्फ कागजों पर किया जा रहा है। उन्होंने आरोप लगाया कि क्वॉरेंटाइन सेंटरों में प्रतिदिन भोजन के नाम पर कहीं प्रति व्यक्ति खर्च अलग अलग दिखाया जा रहा है। पटेल ने राज्य सरकार की इस रवैया को बड़ा ही हास्यास्पद बताते हुए कहा कि प्रदेश में 16700 से अधिक क्वारेंटाइन सेंटर मजदूरों के लिए बनाए गए हैं। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि गांव में रोजगार की गंगा बहाने के बयान देने वाली राज्य सरकार आज खुद मान रही है कि गांव से लोग पलायन कर बाहर थे। प्रदेश सरकार राज्य के मजदूरों के लिए क्वॉरेंटाइन सेंटर नहीं बल्कि रस्म अदायगी कर रही है।

14-05-2020
बाहर से आए हुए 7 मजदूरों को रखा गया क्वॉरेंटाइन सेंटर में

भिलाई। नगर पालिक निगम भिलाई के मंगल भवन खुर्सीपार को क्वॉरेंटाइन सेंटर बनाया गया है। यहां पर 7 मजदूर बाहर से आकर इस क्वॉरेंटाइन सेंटर में रुके हुए हैं। 3-4 दिनों पूर्व विभिन्न क्षेत्रों से आए मजदूरों को यहां पर रखा गया है,जिन्हें सुबह चाय, नाश्ता एवं दोनों टाइम का भोजन उपलब्ध कराया जा रहा है। मंगल भवन स्थित क्वॉरेंटाइन सेंटर के लिए कार्यपालन अभियंता संजय बागड़े को नोडल अधिकारी नियुक्त किया गया है। ठहरे हुए मजदूरों/श्रमिकों के समय व्यतीत करने के लिए कैरम बोर्ड की व्यवस्था की गई है, इन मजदूरों में से दो दुर्ग के हैं और तीन खुर्सीपार क्षेत्र के हैं, अभी पांच लोग यहां पर रह रहे हैं। इस भवन से लगे हुए कमरे में पुलिस बल मौजूद है जो इनकी निगरानी रख रही है ताकि यह कहीं बाहर न जा सके, निगम की टीम भी मौजूद रहकर साफ सफाई, सैनिटाइजिंग का कार्य कर रही है।

 

10-05-2020
23 मजदूरों के फरार होने के बाद सीआरपीएफ संभालेगी क्वॉरेंटाइन सेंटर की जिम्मेदारी

दंतेवाड़ा। जिले के अरनपुर क्षेत्र में स्थित बालक आश्रम क्वॉरेंटाइन सेंटर में आंध्रप्रदेश से आये आसपास के 46 मजदूरों को क्वॉरेंटाइन किया गया था। मौके का फायदा देखते हुए 23 मजदूर फरार हो गए। हालांकि 3 दिनों बाद ग्राम सचिव और स्वास्थ्य अमले ने गांव पहुंचकर फरार ग्रामीणों की तलाश कर उन्हें होम क्वारेंटाइन कर दिया गया। अब अरनपुर क्वारेंटाइन सेंटर की जिम्मेदारी सीआरपीएफ 111 वीं बटालियन ने ली है।सीआरपीएफ अब क्वारेंटाइन सेंटर में ग्रामीणों की देख रेख करेगी और उनका ख्याल रखेगी ताकि अब सेंटर से कोई फरार न हो सके। सीआरपीएफ के जवानों ने बालक आश्रम के क्वारेंटाइन सेंटर को सैनीटाइज भी किया। सीआरपीएफ ने ग्रामीणों को राहत सामग्री का वितरण किया।
सीआरपीएफ एक सौ ग्यारहवीं बटालियन के उप कमांडेंट विकास कुमार सिंह ने लोगों को क्वारेंटाइन का महत्व बताते कोरोना की रोकथाम के बारे में समझाया एवं परेशानी होने पर उन्हें दूर करने का आश्वासन भी दिया। इस दौरान 111वीं बटालियन के सहायक कमांडेंट अमित सिंह ,अविनाश कुमार,विजय कुमार उपस्थित थे।

 

08-05-2020
विधायक ने की शहर के बीच से क्वॉरेंटाइन सेंटर हटाने की मांग

दुर्ग। विधायक अरूण वोरा और महापौर धीरज बाकलीवाल ने संभागायुक्त जीआर चुरेन्द्र से मुलाकात की। उन्होंने शहर की घनी आबादी के बीच क्वारेंटाइन सेंटर और आश्रय स्थल को हटाने की मांग की। रैन बसेरा, कुशाभाऊ ठाकरे भवन का स्थल परिवर्तन करने कहा। वहां कार्यरत निगम कर्मियों का दल अलग करने की मांग की। वोरा ने दूसरे राज्यों के लिए पास जारी करने की अनुमति देने बने केन्द्र में अव्यवस्था की शिकायत भी की।वोरा ने कहा कि अलग-अलग राज्यों के लिए अलग-अलग अधिकारियों की नियुक्ति होना चाहिए। दूसरे राज्यों से आने वाले लोगों को हो रही परेशानी का समाधान करने की मांग भी की। वोरा ने संभागायुक्त से कहा कि भीषण गर्मी में शहर के अधिकांश तालाबों का जल स्तर निरंतर कम हो रहा है। तालाबों के आस-पास रहने वाले लोगों को निस्तारी की समस्या हो रही है।वोरा ने कहा कि बीज निगम के आसपास तालपुरी, बोरसी, पोटिया वार्ड की सीवरेज नालियों का गंदा पानी नहर के माध्यम से तालाबों में पहुंच रहा है। प्रदूषित पानी तालाबों में भरा जाना जनता के जीवन के साथ खिलवाड़ है। फिल्टर प्लांट से शुद्ध पेयजल की सप्लाई के लिए लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के अधिकारियों की मॉनिटरिंग कराना आवश्यक है। संभागायुक्त ने सभी समस्याओं का निदान करेन का भरोसा दिया। इस दौरान कांग्रेस नेता राजेश शर्मा व नंदू महोबिया भी मौजूद थे।

 

18-04-2020
1 हजार 343 सैंपलों की हुई जांच, लगभग बारह सौ से अधिक की रिपोर्ट नेगेटिव, 17 परिवारों को भेजा गया क्वॉरेंटाइन सेंटर

कोरबा। कोरोना के संक्रमण से हॅाट स्पॅाट बने कटघोरा से संक्रमित कोर एरिया के 17 परिवारों को सावधानीवश विभिन्न क्वॉरेंटाइन सेंटरों में रहने के लिए भेजा गया। गुरुवार देर शाम इसी क्षेत्र के तीन नये लोगों की कोरोना जांच पॉजिटिव आने के बाद उन्हें एम्स रायपुर इलाज के लिए भेजा गया। वहीं शुक्रवार को इसी क्षेत्र की एक मरीज इलाज के बाद पूरी तरह स्वस्थ्य होकर वापस लौट आई जिसे होम क्वॉरेंटाइन में रखा जाएगा। पिछले 48 घंटों में कोरबा के 11 मरीज कोरोना मुक्त होकर वापस लौट आए हैं। स्वस्थ्य होकर वापस लौटी 27 वर्षीय महिला का इलाज कोरोना की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद एम्स रायपुर में चल रहा था। महिला की लगातार दो रिपोर्ट नेगेटिव आई है, जिसके बाद उसे अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिया गया है। इसके पहले कटघोरा के 10 मरीज भी पिछले तीन दिनों में ठीक होकर वापस लौट आये हैं जिन्हें स्वास्थ्य विभाग की निगरानी में रखा गया है।

कोरबा जिले से अभी तक कुल 1 हजार 343 सैंपल जांच के लिए एम्स रायपुर भेजे जा चुके हैं, जिसमें से 1 हजार 233 की जांच रिपोर्ट प्राप्त हो गई है। एक हजार 205 सैंपलों की रिपोर्ट नेगेटिव आई है। केवल 28 लोग इस जांच में कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। अभी तक 110 सैंपलों की जांच रिपोर्ट आना बाकी है। रायपुर एम्स में वर्तमान में कटघोरा के 12 कोरोना संक्रमितों का ईलाज चल रहा है। 16 कोरोना पीड़ित इलाज के बाद स्वस्थ्य होकर अपने घर लौट आए हैं। कटघोरा के 110 लोगों को दर्री और कटघोरा के क्वॉरेंटाइन सेंटरों में भेजा गया। यह सभी कोरोना संक्रमितों के परिवारों और उनके संपर्क में आए लोग हैं, जिन्हें सावधानीवश आगे अन्य परिवारों में कोरोना के फैलाव को रोकने के लिए आइशोलेट किया जाना जरूरी था। चौबीस लोगों को ग्रीन पार्क होटल दर्री, 24 अन्य को कस्तूरबा गांधी बालिका आश्रम कटघोरा और 13 लोगों को प्री मैट्रिक छात्रावास कटघोरा में पहुंचाया जा चुका है। अन्य लोगों को रिलेक्स इन होटल उरगा में पहुंचाया जा रहा है। क्वॉरेंटाइन सेंटरों में इन सभी लोगों के रहने, खाने की पूरी व्यवस्था जिला प्रशासन द्वारा पहले से ही कर ली गई है।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804