GLIBS
25-04-2020
नकली सॉफ्ट ड्रिंक बनाने वाले के घर छापामारी, निर्माण सामग्री की गई सील, जांच के लिए भेजा सैंपल

कोण्डागांव। केशकाल में एक निजी उद्योग के अंतर्गत लॉक डाउन के बाद भी लगातार सॉफ्ट ड्रिंक निर्माण कार्य निरन्तर चलने की खबर जिला प्रशासन को प्राप्त हुई। इस पर कलेक्टर नीलकंठ टीकाम के मार्गदर्शन पर एसडीएम केशकाल दीनदयाल मंडावी, तहसीलदार राकेश साहू व जिला खाद्य अधिकारी डोमेंद्र ध्रुव, थाना प्रभारी देवेंद्र दर्रो, सीएमओ नामेश कावड़े के द्वारा संयुक्त टीम गठित कर निर्माता के यहां दबिश देकर उक्त निर्माण स्थल को सील कर दिया गया है। ज्ञातव्य है कि केशकाल में बीते दिनों में लगातार शासन प्रशासन के नियमों को अनदेखा कर विभिन्न प्रकार के प्रतिबंधित क्रियाकलाप किये जाने की जानकारी प्राप्त होती रही है, इसी बीच नगर के एक निजी व्यवसायी के द्वारा अपने घर में मशीनों से सॉफ्ट ड्रिंक निर्माण (स्प्रिंट एवं फेंटास) जो स्प्राइट और फेंटा का डुप्लीकेट नाम से बनाने का कार्य किया जा रहा था। ज्ञात हो कि इन नकली नामों वाले पेय पदार्थों को गांवों में खपाया जाता है। ऐसे में जानकारी प्राप्त होने पर जिला खाद्य अधिकारी ने शनिवार को स्थानीय प्रशासन, नगर पंचायत एवं पुलिस की टीम के साथ मौके पर दबिश दी। इस दौरान  निर्माण स्थल पर भारी मात्रा से डुप्लीकेट  सामानों को जब्ती किया गया एवं उन सभी सामानों में  उत्पादन का दिनांक एवं अवशान की तिथि अंकित नहीं की गई थी, जिसके बाद सभी सामग्री व मशीनों को सील कर सैंपल लिया गया। जिला खाद्य अधिकारी ने बताया कि सूचना प्राप्त होते ही स्थानीय प्रशासन की मदद से मौके पर टीम रवाना कर दी गई थी। उस स्थान पर अवैध रूप से सॉफ्ट ड्रिंक का नकली नामों से निर्माण किया जा रहा था। इस पर पूरी टीम, पुलिस बल एवं नगर पंचायत कर्मियों ने साथ मिलकर मौके पर पहुंची एवं सभी सामानों को सील कर उक्त उत्पादों का सैम्पल ले लिया गया है। जांच के बाद आगे की कार्यवाही की जाएगी।

 

20-04-2020
कनाडा: नकली पुलिस बनकर बंदूकधारी ने ली 16 लोगों की जान, घरों को जलाया

नई दिल्ली। नोवा स्कोटिया प्रांत में एक शख्स ने गोलीबारी कर 16 लोगों को मौत के घाट उतार दिया। आरोपी ने पुलिस की वर्दी पहन रखी थी। नकली पुलिस बन बंदूकधारी ने लोगों के घर में घुसकर ताबड़तोड़ फायरिंग की और घरों को भी जला दिया। उसकी गोलीबारी में 16 लोगों की जान चली गई। घटना के बाद इलाके में मातम पसरा है।रविवार को हुए हमले को देश के इतिहास का सबसे घातक हमला बताया जा रहा है। इसमें बंदूकधारी ने 16 लोगों को मौत के घाट उतार दिया। अधिकारियों के मुताबिक संदिग्ध हमलावर मारा गया है। मृतकों में पुलिस का एक अधिकारी भी शामिल है। पुलिस ने बताया कि एक घर के अंदर और बाहर कई शव बरामद किए गए। इसके अलावा अन्य स्थानों पर भी शव मिले हैं। अधिकारियों का कहना है हमलवार ने पहले अपने लक्ष्यों को निशाना बनाया। लेकिन बाद में अंधाधुंध गोलीबारी करने लगा।


पुलिस ने बंदूकधारी की पहचान 51 वर्षीय गैब्रियल वोर्टमैन के तौर पर की है, जो कभी-कभी पोर्टापिक में भी रहता था। अधिकारियों ने बताया कि उसने पुलिस की वर्दी पहनी हुई थी और उसकी कार रोयल कनाडियन माउंटेड पुलिस (आरसीएमपी) की क्रूजर जैसी लग रही थी। पुलिस ने पहले घोषणा की थी कि उन्होंने एनफील्ड इलाके के गैस स्टेशन से वोर्टमैन को गिरफ्तार कर लिया है लेकिन बाद में कहा कि उसे मार दिया गया। नोवा स्कोस्टिया के प्रमुख स्टीफन मैक्नील ने कहा, “यह हमारे प्रांत के इतिहास में हिंसा का सबसे नृशंस कृत्य है।” आरसीएमपी के प्रवक्ता डेनियल ब्रायन ने संदिग्ध के अलावा 16 लोगों के मारे जाने की पुष्टि की।
 

 

30-03-2020
ड्रमों में नीले रंग का घोल बनाकर पैक किए जा रहे थे नकली सैनिटाइजर, खाद्य विभाग की छापामार कार्रवाई

रायपुर। सारी दुनिया के कोरोना से हाहाकार मचा हुआ है। मौत तांडव कर रही और लोग जान बचाने के लिए सब कुछ छोड़कर घरों में दुबके हुए हैं। लेकिन कुछ लालची धन पशु ऐसे में भी मुनाफाखोरी के लिए मिलावट करने से नहीं चूक रहे हैं। ऐसा ही एक घिनौना और इंसानियत को शर्मसार करने वाला मामला पकड़ाया है। रायपुर के खाद्य विभाग ने दलदल सिवनी के एक फैक्ट्री में केमिकल पकड़ा है,जिससे नकली सेनिटाइज़र बनाई जा रही थी। खाद्य एवं औषधि विभाग की टीम ने छापामार कार्रवाई करते हुए दलदल-सिवनी इलाके में संचालित अवैध फैक्ट्री से 5 हजार लीटर सेनिटाइजर के रॉ मटेरियल बरामद किए है। यहां ड्रमों में नीले रंग का घोल बनाकर नकली सैनिटाइजर पैक किए जा रहे थे। प्लास्टिक बोतलों में नकली स्टीकर लगाकर बाजार में इसे खपाने की तैयारी थी।
मिली जानकारी के अनुसार कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए यह नकली रॉ मटेरियल के माध्यम से सेनिटाइजर बनाने का काम धड़ल्ले से जारी था। फिलहाल विभाग की जांच जारी है। विभाग के अधिकारियों का मानना है कि बाजार में बड़ी मात्रा में तैयार सेनिटाइजर खपाया जा चुका है। टीम ने सैकड़ों लीटर अमानक सेनिटाइजर बनाते वक्त छापा मारा है। इंडो जर्मन बायो साइंस कंपनी के संचालक निलेश गुप्ता द्वारा पैसों के लालच में सेनिटाइजर तैयार किया जा रहा था। खाद्य विभाग के लिए बड़ी कामयाबी मानी जा रही है।

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804