GLIBS
27-05-2020
नए पदों, होटलों में बैठकें, विदेश यात्रा सहित वाहनों की खरीदी पर रोक, खर्च कम करने सरकार का निर्णय

रायपुर। कोरोना संकट में लॉक डाउन से प्रदेश सरकार को मिलने वाले राजस्व में कमी आई है। इसके साथ ही कोरोना की रोकथाम के लिए अतिरिक्त संसाधनों की व्यवस्था भी सरकार को तत्काल करनी है। इसे ध्यान में रखते हुए भूपेश बघेल सरकार ने विभिन्न अनावश्यक खर्चों पर रोक लगाने का फैसला किया है। सरकार ने शासकीय व्यय के युक्तियुक्तकरण के लिए खर्च कम करने अनेक निर्णय लिए हैं। अब नए पदों का निर्माण, स्थानांतरण, महंगे होटलों में बैठकें, विदेश यात्रा और नए वाहनों की खरीदी पर रोक लगा दी गई है वहीं रिक्त पदों पर भर्ती, पदोन्नति, वार्षिक वेतन वृद्धि में मितव्ययता के संबंध में निर्देश जारी किए गए है। वित्त विभाग की ओर से आदेशजारी किया गया है।राज्य सरकार के वित्त विभाग की ओर से इस संबंध में जारी निर्देश के तहत लोकसेवा आयोग से भरे जाने वाले सीधी भर्ती के रिक्त पदों और अनुकंपा नियुक्ति के पदों को छोड़कर शेष सभी भर्ती के रिक्त पदों को भरने के पहले वित्त विभाग की अनुमति ली जाएगी। जिन पदों के लिए वित्त विभाग से भर्ती की अनुमति प्राप्त हो चुकी है, किन्तु नियुक्ति शेष है उनके लिए भी वित्त विभाग की अनुमति पुन: प्राप्त की जाएगी। ऐसे प्रस्ताव को वित्त विभाग में भेजते समय इन पदों की पूर्ति पर आने वाले वार्षिक वित्तीय भार तथा पदों की पूर्ति की आवश्यकता का औचित्य दर्शाया जाएगा।बताया गया कि अपवाद को छोड़कर राज्य शासन के व्यय पर विदेश यात्राओं पर पूर्ण प्रतिबंध रहेगा।

शासकीय अधिकारियों के बिजनेस क्लास से हवाई यात्रा और प्रथम श्रेणी में रेल यात्रा पर प्रतिबंध रहेगा। स्थानांतरण केवल समन्वय में अनुमोदन के बाद ही किया जाएगा। विभागों को कम से कम बैठक करने कहा गया है। कॉन्फ्रेंस, सेमिनार, शासकीय समारोह के आयोजन, अति आवश्यक बैठक-कार्यक्रम, महंगे होटलों की बजाय शासकीय भवनों में होंगे। इसके साथ ही अन्य खर्चों पर रोक सहित विभिन्न निर्णय सरकार ने लिए हैं।वित्त विभाग की ओर से बताया गया कि विभागों द्वारा नियमित पदोन्नति में निर्धारित प्रक्रिया का पालन किया जाए, किन्तु पदोन्नति के परिणाम स्वरूप होने वाले स्थानांतरण को रोकने के लिए याथसंभव उस पद को उसी स्थान पर आगामी आदेश तक अस्थाई तौर पर उन्नयन (अपगे्रड) कर दिया जाए। पदोन्नति-क्रमोन्नति के फलस्वरूप देयक एरियर्स राशि के भुगतान को वित्त विभाग के आगामी आदेश तक रोका गया है। सभी शासकीय विभागों, सार्वजनिक उपक्रमों, निकायों में नए पर के सृजन पर तत्काल प्रभाव से रोक लगाई गई है। विशेष परिस्थितियों में वित्त विभाग की सहमति से ही नए पदों का सृजन होगा। वित्त विभाग की ओर से जारी यह आदेश राज्य के शासकीय विभागों, कार्यालयों के साथ-साथ सभी निगम, मण्डल, आयोग, प्राधिकरण, विश्वविद्यालय और अनुदान प्राप्त स्वशासी संस्थाओं में भी समान रूप से लागू होंगे। ये निर्देश 31 मार्च 2021 तक लागू रहेंगे। इस संबंध में वित्त विभाग की ओर से आज मंत्रालय से सभी विभागों सहित अध्यक्ष, राजस्व मंडल, संभागीय कमिश्नरों, विभागाध्यक्षों और कलेक्टरों को परिपत्र जारी किया गया है।

24-05-2020
भूपेश बघेल सरकार ने पूरा किया किसानों से किए गए वादे : सुमित जैन

धमतरी। कोरोना संकट के समय प्रदेश सरकार के कार्य एवं 21 मई से प्रारंभ हुए राज्य सरकार के महत्वाकांक्षी राजीव गांधी किसान नया योजना को लेकर कांग्रेस के युवा नेता सुमित जैन ने कहा कि राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी एवं पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के मार्गदर्शन एवं प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के कुशल नेतृत्व का परिणाम है कि हमारे हमारी सरकार ने किसानों से किया वादा पूरा किया है आज जब पूरे विश्व में कोरोना संकट का कारण वैश्विक मंदी छाई हुई है लोगों को आर्थिक समस्या का सामना करना पड़ रहा है जहां प्रदेश के अनेको लघु उद्योग व्यवसाय बंद पड़े है ऐसे में राजीव गांधी किसान न्याय योजना से राज्य के किसानों के जीवन में खुशहाली का नया दौर शुरू होगा। उन्होंने कहा कि इस योजना की प्रथम किस्त की राशि 1500 करोड़ रुपए सीधे किसानों के बैंक खाते में सरकार द्वारा अंतरित की गई है। योजना के तहत राज्य में 19 लाख किसानों को इस वर्ष 5750 करोड़ रुपए दिए जाएंगे। इसके अंतर्गत धान की खेती के लिए किसानों को प्रति एकड़ 10000 तथा गन्ना की खेती के लिए प्रति एकड़ 13000 अनुदान सहायता राशि दी जाएगी। सुमित जैन ने कहा है कि प्रदेश सरकार ने अब तक धान खरीदी,कर्ज माफी, फसल बीमा,सिंचाई कर की माफी और प्रोत्साहन राशि को मिलाकर किसानों को 40700 करोड़ रुपए उनके खाद खातों में सीधे अंतरित किया है।

 

22-05-2020
अम्फान तूफान: प्रधानमंत्री ने किया ऐलान, ओेडिशा को केंद्र सरकार देगी 500 करोड़ की मदद

नई दिल्ली। कोरोना संकट के बीच साइक्लोन अम्फान प्रभावित ओडिशा को केंद्र सरकार से 500 करोड़ की अग्रिम मदद का ऐलान शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया। उन्होंने कहा कि सरकार इसके अलावा भी ओडिशा सरकार की सहायता करेगी और तूफान रूपी संकट के बाद की स्थितियों से निपटने में बाकी बंदोबस्त करेगी। यह काम सर्वे पूरा होने और रीहैब प्लान तैयार होने के बाद किया जाएगा।नरेंद्र मोदी ने चक्रवात ‘अम्फान’ से प्रभावित इलाकों के हवाई सर्वेक्षण और ओडिशा के राज्यपाल गणेशीलाल और मुख्यमंत्री नवीन पटनायक के साथ समीक्षा बैठक के बाद यह घोषणा की। प्रधानमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार से विस्तृत रिपोर्ट मिलने के बाद दीर्घकालिक पुनर्वास उपायों के लिए आगे की सहायता दी जाएगी। इन नेताओं ने करीब डेढ़ घंटे तक जगतसिंहपुर, केंद्रपाड़ा, भद्रक, बालासोर, जाजपुर और मयूरभंज जिलों का हवाई मुआयना किया। यहां बीजू पटनायक अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डा परिसर में हुई समीक्षा बैठक में केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान और प्रताप सारंगी भी उपस्थित थे।

 

22-05-2020
कोरोना संकट: दुबई की 70 प्रतिशत कंपनियां अगले 6 महीने में हो सकती हैं बंद

नई दिल्ली। दुनिया भर में कोरोना वायरस से हाहाकार मचा हुआ है। विश्व भर में कोरोना वायरस से संक्रमण के मामले 50 लाख के पार हो गए है। वहीं 200 से अधिक देशों में कोरोना फैल चुका है। इस महामारी के कारण के कई देशों में लॉकडाउन लागू है। इसके बावजूद महामारी थमती दिखाई नहीं दे रही है। इस घातक वायरस की वजह से लाखों लोग अपनी जान तो गंवा ही रहे हैं अब लोगों की रोजी-रोटी पर संकट आ गया है।दुनिया कोरोना महामारी के संकट का सामना कर रही है। कोरोना का कहर दुबई में भी जारी है। दुनिया के सबसे अमीर शहरों में शुमार दुबई भी इस महामारी की आंधी में ढहता दिखाई दे रहा है। दुबई चेंबर ऑफ कॉमर्स ने कोरोना संकट के कारण होने वाले असर को लेकर एक सर्वे किया है। सर्वे में कहा गया है कि अगले छह महीने में कोविड-19 महामारी के कारण दुबई के 70 प्रतिशत बिजनेस बंद हो सकते हैं।

छोट और मंझोले बिजनेस तबाह

गुरुवार को जारी इस सर्वे में कहा गया है कि यहां की 90 फीसदी से अधिक कंपनियों को इस साल के पहले तीन महीनों में भारी नुकसान हुआ है। कंपनियों की सेल और टर्नओवर पर बुरा असर पड़ा है। चिंता की बात यह है कि पूरी दुनिया में आर्थिक सुस्ती के हालात पैदा हो गए हैं। इसका सबसे ज्यादा असर छोटे और मंझोले उद्योगों पर पड़ा है।दुबई में हर साल दुनिया भर के लोग घूमने और छुट्टियां बिताने आते हैं। इस वजह से यहां पर्यटन उद्योग काफी बड़ा है। कोरोना वायरस की वजह से पर्यटन पूरी तरह बंद हो गया है और इस क्षेत्र की कंपनियां डूबने के कगार पर हैं। इसके अलावा रियल स्टेट की आधी से ज्यादा कंपनियां, होटस-रेस्त्रां मालिकों और रिटेल बिजनेस का काम पहले ही 70 फीसदी तक कम हो गया है। आने वाले दिनों में हालात और भी खराब होने वाले हैं।

19-05-2020
जून के पहले सप्ताह में आ सकते है 10वीं-12वीं के परिणाम

रायपुर। माध्यमिक शिक्षा मंडल 10वीं-12वीं बोर्ड परीक्षा के परिणाम जून के पहले सप्ताह में जारी करने का दावा किया जा रहा है। परिणाम जारी करने के लिए शिक्षा मंडल समर्पित होकर जुटा हुआ है। कॉपियों का मूल्यांकन भी पूर्णत: पूरा हो गया है। अब केवल डाटा के काम बाकी है। बता दें कि कोरोना संकट काल में लॉक डाउन के कारण प्रदेश में 10वीं-12वीं बोर्ड की शेष परीक्षा अब नहीं होगी। राज्य सरकार ने कुछ विषयों पर बोर्ड के परीक्षार्थियों को आंतरिक मूल्यांकन के आधार पर अंक देने का फैसला लिया है। जो छात्र आंतरिक मूल्यांकन में अनुपस्थित होंगे या अनुत्तीर्ण होंगे या फिर प्राइवेट परीक्षा दे रहे हैं उन्हें भी न्यूनतम अंक देकर उत्तीर्ण कर दिया जाएगा।

 

19-05-2020
कोरोना संकट: सोनिया गांधी की अध्यक्षता में बैठक करेंगे कई दिग्गज नेता

नई दिल्ली। पूरे देश में कोरोना संक्रमण के मामले तेजी से बढ़ रहे है। यही कारण है कि इस गंभीर मामले पर चर्चा करने के लिए पहली बार विपक्ष की लगभग 15 पार्टियां ऑनलाइन वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए बैठक करने जा रही है। शुक्रवार को शाम 3 बजे होने वाले इस मीटिंग में ममता बनर्जी, उद्धव ठाकरे व शरद पवार सहित कई दलों के दिग्गज नेता शामिल होंगे।रिपोर्ट के अनुसार, इस बैठक की अध्यक्षता कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी करेंगी। यह संभव है कि इस बैठक में लॉक डाउन को लेकर मोदी सरकार द्वारा उठाए गए कदमों के बारे में बात हो सकती है और सरकार की तरफ से राज्य सरकारों के साथ किए जा रहे व्यवहार पर चर्चा की जाएगी। 

 

18-05-2020
पीलिया से एक और मौत, 74 मरीजों का उपचार जारी, सप्ताह भर बाद आई मेडिकल बुलेटिन

रायपुर। कोरोना संकट के मध्य रायपुर में फैले पीलिया ने एक और जान ले ली है। यह जानकारी छत्तीसगढ़ शासन स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग ने सोमवार को जारी मेडिकल बुलेटिन में दी है। इससे पहले 11 मई को जारी बुलेटिन में दो लोगों की मौत की पुष्टि की गई थी। वर्तमान में पीलिया के शासकीय चिकित्सालयों में 27 मरीज और निजी चिकित्सालयों में 47 मरीज भर्ती हैं। इस प्रकार कुल 74 पीलिया मरीजों का उपचार जारी है। रायपुर में अब तक पीलिया परीक्षण के लिए 219 सत्रों का आयोजन किया गया है। अब तक पीलिया के लिए 23132 घरों की संख्या का परीक्षण किया गया है। अब तक 3437 व्यक्तियों का रक्त परीक्षण किया जा चुका है। इनमें कुल 664 वायरस हेपेटाइटिस मरीज मिले हैं। अब तक शासकीय अस्पतालों से 45 और निजी अस्पतालों से पीलिया के 35 मरीजों को डिस्चार्ज किया गया है। बता दें कि पीलिया की स्थिति को लेकर स्वास्थ्य विभाग ने सप्ताह में एक बार मेडिकल बुलेटिन जारी करने का निर्णय लिया है।मेडिकल बुलेटिन देखने के लिए यहां क्लिक करें...  

 

18-05-2020
अन्य राज्यों से वापस आए प्रवासी व्यक्तियों को मई-जून माह में मिलेगा 5 किलो खाद्यान्न

धमतरी। नोवेल कोरोना वायरस कोविड-19 से प्रभावित अन्य राज्यों से छत्तीसगढ़ आए प्रवासी व्यक्ति को माह मई और जून 2020 में प्रति सदस्य पांच किलो के मान से खाद्यान्न दिया जाएगा। उक्त संबंध में कलेक्टर रजत बंसल ने आदेश जारी कर संबंधित अधिकारियों को डाटा प्रविष्टि का कार्य शीघ्र पूर्ण करने के निर्देश दिए हैं। आदेश में यह उल्लेख किया गया है कि इस योजना के तहत अन्य राज्यों से वापस आए छत्तीसगढ़ के ऐसे प्रवासी व्यक्ति को ही राशन सामग्री के लिए पात्रता होगी,जिनके नाम पर राज्य में कोई राशनकार्ड जारी नहीं किया गया हो या किसी भी अन्य राशन कार्ड में इनका नाम सदस्य के रूप में दर्ज न हों। इसके लिए जनपद पंचायतों के मुख्य कार्यपालन अधिकारी, नगरीय निकायों में आयुक्त नगरपालिक निगम तथा मुख्य नगरपालिका अधिकारी नगर पंचायत को अपने-अपने प्रभार वाले क्षेत्रांतर्गत अन्य राज्यों से वापस आए ऐसे पात्र प्रवासी व्यक्तियों की पहचान कर उन्हें ग्राम पंचायत या वार्डवार सूचीबद्ध करने के निर्देश दिए गए हैं। साथ ही श्रम पदाधिकारी के द्वारा प्रवासी व्यक्तियों से संबंधित डाटा संबंधित जनपद पंचायत या नगरीय निकायों को साझा किया जाएगा तथा अनुविभागीय अधिकारी राजस्व उक्त विभागों के बीच समन्वय स्थापित करेंगे।

आदेश में कहा गया है कि खाद्य अधिकारी अपने माॅड्यूल में जिले की जनपद पंचायतों के सीईओ, नगरीय निकायों के आयुक्त/सीएम.ओ. के नाम मोबाइल नंबर की एंट्री कर उनके लिए आईडी तैयार करेंगे तथा एंट्री किए गए मोबाइल नंबर से उन्हें पासवर्ड प्राप्त होगा। पात्र प्रवासी व्यक्तियों की डाटा एंट्री में उनका नाम, पिता/पति का नाम, प्रवास से वापस आए उनके परिवार के सभी सदस्यों के नाम, आधार नंबर एवं न्यूनतम एक सदस्य के मोबाइल नंबर की प्रविष्टि अनिवार्य रूप से की जाएगी। खाद्यान्न प्राप्त करने वाले पात्र प्रवासी व्यक्ति अपने आईडी नंबर एवं एक पहचान पत्र के साथ उचित मूल्य की दुकान में उपस्थित होकर पात्रतानुसार खाद्यान्न प्राप्त करेंगे। पीडीएस सेंटर के दुकानदार द्वारा प्रवासी व्यक्तियों के लिए प्राप्त खाद्यान्न का पृथक् स्टाॅक पंजी एवं वितरण पंजी का अनिवार्य रूप से संधारण किया जाएगा। कलेक्टर ने पात्र प्रवासी व्यक्तियों/परिवारों को चिन्हांकित कर उनकी डाटा एंट्री प्राथमिकता से पूर्ण करने के निर्देश दिए हैं, जिससे उन्हें मई माह में ही खाद्यान्न उपलब्ध कराना सुनिश्चित किया जा सके।

 

18-05-2020
लॉक डाउन का असर श्मशान घाट पर भी, शवों की संख्या में आई भारी गिरावट

रायपुर। कोरोना संकट काल में इन दिनों मृत्युदर में गिरावट आई है। दिनचर्या में परिवर्तन के साथ ही स्वच्छ आबोहवा में लोगों का स्वास्थ्य सुधर गया है। प्रदेशभर में श्मशान घाटों में इन दिनों शवों की संख्या में भारी गिरावट आई है। श्मशान घाट के व्यवस्था प्रभारियों के अनुसार लॉक डाउन के पहले दिन से ही शवों में कमी देखने को मिली। राजधानी की बात करे तो मारवाड़ी श्मशान घाट में रोजाना 5 शव जाते थे। लेकिन इन दिनों दो—तीन दिन में एक शव जा रहा है। इसी तरह महादेवघाट, तेलीबांधा, न्यू राजेंद्र नगर, देवेंद्र नगर, कोटा मुक्तिधाम में भी शवों की संख्या में भारी गिरावट आयी है। लॉक डाउन में सड़क दुर्घटना में कमी आई है। राजधानी में करीब 10 लोगों की सड़क हादसों में मौत हुई है। शहर में लावारिस लाश एक-दो ही मिली है। पहले जिले में एक से तीन दिन में लावारिस लाश मिल जाती थी, अब ऐसी लाशों की संख्या नहीं के बराबर है।

18-05-2020
केंद्रीय विद्यालय में जून में ऑनलाइन  एडमिशन, अध्ययनरत बच्चों की फीस 22 मई को जमा होगी 

रायपुर। जून में केंद्रीय विद्यालय में प्रवेश के साथ ही 22 मई से वर्तमान में अध्ययनरत बच्चों की फीस जमा की जाएगी। राजधानी में संचालित तीन केंद्रीय विद्यालयों में दाखिले के लिए ऑनलाइन मौका मिलेगा। रायपुर में केवी एक, दो के अलावा नया रायपुर में केवी विद्यालय तीन खोला गया है। केवी एक में दो पाली चल रही है, जहां पर 320 सीट, केवी दो में 82, केवी तीन नया रायपुर में 42 सीटों पर दाखिला लिया जाएगा। फीस ऑनलाइन माध्यम से ही जमा होगी। केवी फिलहाल अभिभावकों से पहले क्वार्टर (अप्रैल मई-जून) की फीस ले रहा है। अभिभावक 21 जून तक बिना किसी विलंब शुल्क के फीस जमा कर सकते हैं।

कोरोना संकट काल में घरों में बैठे बच्चों को पढ़ाने के लिए स्कूलों ने भले ही ऑनलाइन माध्यम अपनाया था। लेकिन उसके सामने प्रैक्टिकल जैसी गतिविधियों को जारी रखने की एक चुनौती बनी हुई थी। स्कूलों ने अब इसका रास्ता भी निकाल लिया है। केंद्रीय विद्यालय संगठन ने इसे लेकर एक बड़ी पहल की है। इसके तहत घर बैठे छात्रों को अब वर्चुअल तरीके से प्रैक्टिकल कराया जाएगा। इसका पूरा प्लान तैयार कर लिया गया है। इसे जल्द ही संगठन से जुड़े देश भर के स्कूलों में आजमाया जाएगा।

18-05-2020
कोरोना संकट के बीच पीएम मोदी फिर करेंगे 'मन की बात', ट्विटर पर लोगों से मांगे सुझाव

नई दिल्ली। कोरोना संकट के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस महीने की 31 तारीख को देश से अपने मन की बात करेंगे। कोरोना संकट के बीच पीएम मोदी का यह संवाद काफी अहम माना जा रहा है। इससे पहले भी प्रधानमंत्री ने मार्च और अप्रैल महीने में 'मन की बात' की थी। प्रधानमंत्री ने सोमवार को ट्विटर के जरिए लोगों से इस कार्यक्रम को लेकर सुझाव मांगे। उन्होंने कहा कि मैं आप सभी के सुझावों का इंतजार करूंगा। देश में जारी कोरोना संकट के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 31 मई को रेडियो कार्यक्रम मन की बात के जरिए देशवासियों को संबोधित करेंगे। प्रधानमंत्री ने ट्वीट कर लिखा '31 मई को होने वाले मन की बात कार्यक्रम के लिए मैं आपके सुझावों का इंतजार करूंगा। इसके लिए आप 1800-11-7800 पर संदेश रिकॉर्ड करके भेज सकते हैं। साथ ही नमो एप या माईगॉव पर भी लिखकर भेज सकते हैं। बता दें कि कोरोना महामारी के मद्देनजर देश में जारी लॉक डाउन के बीच प्रधानमंत्री तीसरी बार देशवासियों को मन की बात के जरिए संबोधित करेंगे।

16-05-2020
कोरोना संकट काल में बुजुर्गों का रखे विशेष ध्यान : डब्ल्यूएचओ

रायपुर। यूनिसेफ,एनएचएम और डब्ल्यूएचओ ने मार्गदर्शिका जारी कर कहा है कि 60 वर्ष से अधिक उम्र के लोग, ह्रदय रोग, उच्च रक्तचाप, किडनी की बीमारी, कैंसर या मधुमेह जैसी समस्याओं से ग्रसित लोगों का विशेष ध्यान रखे। इन्हें घर से बाहर जाने न दें। मार्गदर्शिका के मुताबिक उनका विशेष ध्यान रखा जाना चाहिए।

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804