GLIBS
05-03-2021
इंद्रधनुष सम्मान से सम्मानित हुए एसपी प्रफुल्ल कुमार ठाकुर

महासमुन्द। पुलिस महानिदेशक दुर्गेश माधव अवस्थी ने महासमुंद जिले में विगत वर्ष 2020-21 में कोरोना लॉक डाउन जैसे महामारी में ड्यूटी के दौरान अपराध रोकथाम, अन्तर्राजिय गिरोह को पकड़ने एवं पूरे राज्य में सबसे अधिक गांजा,अवैध ब्राउन शुगर व नशीली टेबलेट,नशीला सिरप ,अन्य कैप्सूल आदि की तस्करी रोकने में सफलता अर्जित करने पर पुलिस महानिरीक्षक रायपुर आनंद छाबड़ा एवं जिला महासमुंद के पुलिस अधीक्षक प्रफुल्ल कुमार ठाकुर की तारीफ की एवं बधाई दी। उन्हें इंद्रधनुष सम्मान से सम्मानित किया।

महासमुंद जिले में पदस्थ अन्य अधिकारी कर्मचारी, जिसमें साइबर सेल प्रभारी उप निरीक्षक संजय सिंह राजपूत,थाना सिंघोडा प्रभारी उपनिरीक्षक चंद्रकांत साहू,जिला विशेष शाखा प्रभारी प्रदीप मिंज व प्रधान आरक्षक मीनेश ध्रुव साइबर सेल,आरक्षक संदीप भोई साइबर सेल,आरक्षक रवि यादव साइबर सेल, आरक्षक संतोष साँवरा थाना कोमाखान,आरक्षक डेविड चंद्राकर थाना कोमाखान, आरक्षक श्रीकांत भोई थाना सिंघोड़ा,आरक्षक सुधीर बेहरा थाना सिंघोडा को भी इंद्रधनुष सम्मान से पुलिस महानिदेशक  दुर्गेश कुमार अवस्थी द्वारा सम्मानित किया गया। महासमुंद पुलिस द्वारा कुल 107 प्रकरण में 185 आरोपी की गिरफ्तारी कर 69.58 क्विंटल गाँजा कीमती लगभग 10 करोड़ रुपये व 56.500 किलोग्राम वजनी गाँजा का पौधा एवम 730 ग्राम ब्रॉउन शुगर कीमती 1.56 करोड़ रुपये व अलग अलग नशीला दवाई ,सिरप, टेबलेट जब्त कर पूरे राज्य में शीर्ष पर है। कार्यक्रम में  विवेकानंद सिन्हा पुलिस महानिरीक्षक दुर्ग रेंज,रतनलाल डांगी पुलिस महानिरीक्षक बिलासपुर रेंज,संतोष सिंह पुलिस अधीक्षक रायगढ़, प्रफुल्ल कुमार ठाकुर पुलिस अधीक्षक महासमुंद, विमल बैंस अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक बेमेतरा, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अभिषेक वर्मा, जिला रायगढ़ डीएसपी पितांबर पटेल आदि उपस्थित थे।

 

22-02-2021
इस राज्य के इन इलाकों में लगा लॉक डाउन और नाइट कर्फ्यू

मुंबई/रायपुर। महाराष्ट्र के कई शहरों में कोरोना की रफ्तार तेजी से बढ़ रहा हैं। इसे ध्यान हुए पुणे में 28 फरवरी तक स्कूल-कॉलेज बंद कर दिए गए हैं। पुणे के अलावा नासिक में रात 11 बजे से सुबह 6 बजे तक आवाजाही पर भी रोक लगा दी गई है। इसके अलावा यवतमाल, अमरावती और अचलपुर में लॉक डाउन की घोषणा की गई है। महाराष्ट्र के अमरावती और अचलपुर में संपूर्ण लॉक डाउन लगाया गया है, जो सोमवार रात 8 बजे से 1 मार्च सुबह 8 बजे तक लागू रहेगा। यवतमाल, अकोला और अकोट में 23 फरवरी सुबह 6 बजे से 1 मार्च की सुबह 6 बजे तक संपूर्ण लॉक डाउन रहेगा। हालांकि इन जिलों में इमरजेंसी सेवाएं चालू रहेगी।

17-02-2021
सामाजिक मुद्दे पर आधारित भोजपुरी फिल्म 'लिट्टी चोखा' 9 अप्रैल को होगी रिलीज

मुंबई/रायपुर। भोजपुरी फिल्म 'लिट्टी चोखा' 9 अप्रैल को रिलीज होगी। बाबा मोशन पिक्चर प्रा.लि. के बैनर तले फिल्म 'लिट्टी चोखा' लॉक डाउन के बाद रिलीज होने वाली खेसारीलाल यादव की पहली बड़ी फिल्म होगी। बता दें कि सामाजिक मुद्दे पर आधारित फिल्म 'लिट्टी चोखा' में मुख्य भूमिका में सुपर स्‍टार खेसारीलाल यादव, मनोज सिंह टाइगर, पदम सिंह, प्रगति भट्ट, प्रीति सिंह, श्रुति राव, उत्कर्ष, देव सिंह, करण पांडे, प्रकाश जैश हैं। फिल्म की सह निर्माता अनीता शर्मा और पदम सिंह हैं। पीआरओ रंजन सिन्हा हैं। फिल्म में सुमधुर संगीत ओम झा का है।

15-02-2021
प्रदेश में लॉक डाउन के बाद 1.92 लाख से अधिक लोगों के बने राशनकार्ड, 2 लाख से अधिक जुड़े नए नाम

रायपुर। कोरोना वायरस से सुरक्षा के लिए लाॅक डाउन के दौरान मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में राज्य सरकार ने छत्तीसगढ़ में सभी को खाद्यान्न सुरक्षा उपलब्ध कराने में सफलता हासिल की है। इस दौरान प्रवासी श्रमिकों, व्यक्तियों को हरसंभव सुविधा मुहैया कराई गई। जरुरतमंदों को चरणपादुका सहित सामुदायिक भोजनालय में भोजन सहित सूखा राशन की व्यवस्था की गई। लाॅक डाउन के दौरान मुख्यमंत्री भूपेश बघेल स्वयं प्रदेश में संचालित क्वारेंटाइन शिविरों, स्वास्थ्य, खाद्यान्न, आवागमन का संज्ञान लेते रहे। छत्तीसगढ़ में कोरोना संक्रमण और लाॅक डाउन के दौरान राज्य के नागरिकों को खाद्य सुरक्षा तय करने के साथ ही प्रवासी श्रमिकों, निराश्रितों और जरूरतमंद लोगों को पर्याप्त भोजन और सूखा राशन उपलब्ध कराने हर संभव उपाय किए गए। लॉक डाउन की अवधि में भी छूटे हुए पात्र परिवारों के नवीन राशनकार्ड जारी किए गए। राज्य में 22 मार्च से जनवरी 2021 तक 1 लाख 92 हजार 338 नए राशनकार्ड बनाए गए। 2 लाख 33 हजार 415 नवीन सदस्यों के नाम भी जोड़े गए। यह प्रक्रिया अभी भी राज्य में जारी है। राज्य शासन ने सार्वभौम पीडीएस लागू होने के बाद वर्तमान में प्रदेेश के 97 प्रतिशत जनसंख्या को खाद्यान्न प्रदान किया जा रहा है।

07-02-2021
जीतो कोविड केयर सेंटर में सेवाओं के लिए कोरोना योद्धाओं का सम्मान, समारोह में शामिल हुए टीएस सिंहदेव

रायपुर। कोरोना काल के दौरान जब लॉक डाउन में पूरे देशवासी अपने घरों के अंदर सीमित थे, उस समय संक्रमण से जंग लड़ते हुए जिन कोरोना योद्धाओं ने सतत सेवाएं प्रदान की, उनकी जितनी सराहना की जाए वह कम है। आज टीकाकरण के दौर में भी निरंतर सेवा प्रदान करने में जुटे हुए स्वास्थ्यकर्मी वास्तव में कोरोना काल के सच्चे हीरो हैं। इन योद्धाओं का रविवार को जीतो रायपुर जैनम मानस समिति, छत्तीसगढ़ शासन और नगर निगम रायपुर के संयुक्त तत्वावधान में संचालित जीतो कोविड केयर सेंटर में पदत्त सेवाओं के लिए कोरोना योद्धाओं का सम्मान किया गया। कार्यक्रम में विशेष अतिथि स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने कोरोना योद्धाओं को प्रतीक चिन्ह प्रदान कर उनका सम्मान किया। उन्होंने कहा कि अब भी हमें इस संक्रमण के प्रति लापरवाही न बरतते हुए कोविड उपयुक्त व्यवहार का पालन करना है।

मास्क-सामाजिक दुरी जैसे नियमों को अपनाना है। उन्होंने मानस समिति के परिसर का उल्लेख करते हुए कहा कि जब अन्य प्रदेशों से लोग छत्तीसगढ़ लौटने लगे तब यह परिस्थिति निर्मित हुई कि हमारे पास स्वास्थ्य केंद्रों में जगह नहीं थी। तब हमनें विचार किया कि वापिस आने वाले यात्रियों को आइसोलेशन में अलग कहां रखा जाए। ऐसे समय में समाजसेवी संस्थाओं में सबसे पहले जैनम मानस समिति ने हाथ आगे बढ़ाया और यह जिम्मेदारी ली।  इस प्रकार के परिसर आसानी से उपलब्ध नहीं होते लेकिन समिति के लोगों ने इसे शासन को सहज उपलब्ध करवाया। इसके लिए हम सभी छत्तीसगढ़ के निवासी व शासन के प्रतिनिधि इस समिति के बहुत आभारी हैं। उन्होंने आगे कहा कि भगवान महावीर और सभी पुण्य वैश्विक शक्तियों के आशीर्वाद से 300 से अधिक लोग इस स्थान से ठीक होकर लौटे, यह सब इस समिति की पुण्य मानसिकता का फल है। समारोह में विशिष्ठ अतिथि बृजमोहन अग्रवाल (विधायक), प्रमोद दुबे (सभापति),कुलदीप जुनेजा जी (विधायक), जय कुमार बैद ( डायरेक्टर), अशोक बराडिया , मीरा बघेल मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी सहित अन्य उपस्थित थे।

03-02-2021
गेवरा स्टेशन से यात्री ट्रेन संचालन के लिए सैकड़ों नागरिक उतरे सड़कों पर

कोरबा। लॉक डाउन के बाद से कुसमुंडा के गेवरा रोड स्टेशन से बंद पड़ी सभी ट्रेनों को चालू करने की मांग पर बुधवार को माकपा द्वारा आहूत रेल चक्का जाम आंदोलन को आम जनता का समर्थन मिला। सीटू, छत्तीसगढ़ किसान सभा, जनवादी महिला समिति और रेल संघर्ष समिति के साथ ही व्यापारियों और ऑटो चालकों के संगठनों द्वारा इस आंदोलन में भाग लेने के कारण सैकड़ों नागरिक सड़क पर दिखे। रेल प्रशासन ने इस मांग पर सकारात्मक कार्यवाही करने के लिए 15 दिनों की लिखित मोहलत मांगी है।माकपा ने गेवरा से यात्री ट्रेन न चलने देने के लिए एसईसीएल प्रबंधन पर रेल प्रशासन के साथ मिलीभगत का भी आरोप लगाया है। माकपा नेता प्रशांत झा कहना है कि कोरोना संकट की आड़ में ये सब ट्रेनें मात्र इसलिए बंद कर दी गई है कि कोल परिवहन के लिए रास्ता साफ रहे। आम जनता को यह मंजूर नहीं है। प्रशासन को इस क्षेत्र से राजस्व वसूलने पर ही नहीं, नागरिकों की बुनियादी सुविधाओं की ओर भी ध्यान देना होगा, वरना आंदोलन तेज किया जाएगा।

 

02-02-2021
3 फरवरी को माकपा करेगी रेल चक्का जाम, कई संगठनों ने दिया समर्थन

कोरबा। लॉक डाउन के बाद से कुसमुंडा के गेवरा रोड स्टेशन से बंद पड़ी सभी ट्रेनों को चालू करने की मांग पर कल 3 फरवरी को माकपा द्वारा आहूत रेल चक्का जाम आंदोलन को आम जनता का व्यापक समर्थन मिल रहा है। सीटू, छत्तीसगढ़ किसान सभा, जनवादी महिला समिति और रेल संघर्ष समिति के साथ ही व्यापारियों और ऑटो चालकों के संगठनों ने भी इस आंदोलन में भाग लेने की घोषणा की है।इधर इस आंदोलन को टालने के लिए माकपा नेताओं के साथ रेल प्रशासन ने बैठक कर उनसे आंदोलन स्थगित करने का अनुरोध किया। बैठक में शामिल कोरबा के क्षेत्रीय रेल प्रबंधक मनीष अग्रवाल का कहना था कि गेवरा से रेल इसलिए नहीं चलाई जा सकती, क्योंकि राज्य शासन इसकी अनुमति नहीं दे रहा है।

उनका कहना था कि राज्य सरकार की अनुमति मिलते ही गेवरा से ट्रेन चलनी शुरू हो जाएंगी और इसलिए आंदोलनकारियों को थोड़ा धैर्य रखना चाहिए। माकपा की ओर से वार्ता में शामिल नेताओं प्रशांत झा, वी एम मनोहर, जनाराम कर्ष, जवाहर सिंह कंवर,सजी जॉन,एके गोस्वामी आदि ने रेल प्रशासन के इस तर्क को ठुकरा दिया। उनका कहना था कि रेल विभाग केंद्र सरकार के अधीन काम करता है और इसलिए रेल परिचालन संबंधी समस्याओं के लिए राज्य सरकार को कोरबा रेल प्रबंधन द्वारा दोषी ठहराना शरारतपूर्ण है। माकपा नेताओं द्वारा इस संबंध में दस्तावेज दिखाने की मांग किये जाने पर रेल प्रशासन निरूत्तर रहा।

 

24-01-2021
लॉक डाउन पर बनने जा रही है फिल्म ‘इंडिया लॉक डाउन’, मधुर भंडारकर दिखाएंगे खास कहानी

रायपुर/मुंबई। फिल्म ‘इंडिया लॉक डाउन’ की शूटिंग कुछ दिन पहले ही शुरू हो गई है। फिल्म लॉक डाउन के बारे में है। फिल्ममेकर मधुर भंडारकर इस फिल्म को लेकर आ रहे हैं। इसमें प्रतीक बब्बर, सई ताम्हणकर, आहना कुमरा, श्वेता बसु प्रसाद जैसे कलाकार मुख्य भूमिकाओं में होंगे। अभिनेत्री आहना कुमरा का इस फिल्म में एक पायलट का किरदार है। उनका किरदार तो एक घूमने फिरने वाली और लगातार सफर करते रहने वाली कामकाजी महिला का है। लेकिन, जब देश में कोरोना वायरस की वजह से लॉक डाउन लागू किया जाता है तो वह महिला भी अपने घर में कैद होने के लिए मजबूर हो जाती है। अपने किरदार के बारे में आहना ने खुद बताया है कि वह फिल्म में एक पायलट का किरदार निभा रही हैं जो लॉक डाउन के समय मुंबई स्थित अपने घर में फंस जाती है।

22-01-2021
गर्मियों में अपने घरों में कैद रहेंगे इस देश के लोग, जाने कारण

रायपुर/नई दिल्ली। कोरोना वायरस के मद्देनजर लगभग सभी देशों ने लॉक डाउन कि घोषणा की गई थी। लेकिन अब बहुत से देशों ने लॉक डाउन हटा दिया है। इसी कड़ी में एक देश ऐसा भी है जिसने अब तक लॉक डाउन नहीं हटाया है। ऐसा ही एक देश है ब्रिटेन। ब्रिटेन अब तक कोरोना के दहशत से उबार नहीं पाया है। ब्रिटेन में कोरोना वायरस के मद्देनजर लागू तीसरे लॉक डाउन के जल्द खत्म होने के संकेत नहीं दिख रहे हैं। सरकार ने चेतावनी दी है कि प्रतिबंधों को इतनी जल्दी हटाना खतरनाक साबित हो सकता है। प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन और गृह मंत्री प्रीति पटेल ने अपने पिछले आश्वासनों को नहीं दोहराया है, जिसमें कहा गया था कि अप्रैल तक ब्रिटेन में हालात सामान्य हो जाएंगे। गौरतलब है कि अभी ब्रिटेन में बड़े पैमाने पर वैक्सीनेशन का प्रोग्राम चालू है, ताकि 50 लाख लोगों को वैक्सीन लगाई जा सके।

पीएम और गृह मंत्री दोनों ही ने वर्तमान प्रतिबंधों को कड़ा करने पर जोर दिया है। यहां गौर करने वाली बात ये है कि प्रतिबंधों के बाद भी बड़ी संख्या में लोग नियमों की धज्जियां उड़ा रहे हैं। इससे वायरस पर काबू करना कठिन होता जा रहा है। गृह मंत्री पटेल ने कहा कि हाउस पार्टियों में शामिल होने पर लगने वाले जुर्माने को बढ़ाकर 800 पाउंड (लगभग 80 हजार रुपए) कर दिया गया है। वहीं जब उनसे सवाल किया गया कि क्या लोगों को गर्मियों की छुट्टियों की तैयारी करना चाहिए तो उन्होंने कहा कि फिलहाल सभी को घरों में रहने की सलाह दी जाती है। इससे अनुमान लगाया जा सकता है की इस बार गर्मियों में लॉक डाउन हटना मुश्किल है।

27-12-2020
धारावी से कोरोना के नए केस न आने से एक्टर अजय देवगन खुश, कहा खुशियां लेकर आया है क्रिसमस

रायपुर/मुंबई। एक्टर अजय देवगन ने लॉक डाउन के दौरान लोगों की आर्थिक मदद की और साथ ही प्रधानमंत्री राहत कोष में भी योगदान देकर तारीफें पाई थी। अब अजय देवगन इस महामारी से जुड़ी एक खबर पाकर काफी खुश है। मुंबई के धारावी इलाके में कोरोना वायरस महामारी के मामले शून्य हो चुके हैं। इस बात पर बॉलीवुड अभिनेता अजय देवगन ने खुशी जाहिर की है। उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा, 'क्रिसमस खुशी लेकर आया है। धारावी में कोविड-19 केस जीरो हो चुका है'। खबरों के अनुसार स्वास्थ्यकर्मियों ने कहा है कि एशिया की सबसे बड़ी झुग्गी बस्ती धारावी में शुक्रवार को कोविड-19 के मामलों की संख्या शून्य तक पहुंच चुकी है। 1 अप्रैल में यहां कोरोना का साया पड़ने के बाद यह पहली बार है, जब यह जगह कोरोना के प्रकोप से मुक्त हो चुका है।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804