GLIBS
07-08-2020
प्रदेश सरकार कोरोना के मोर्चे पर शुरू से लेकर अब तक बुरी तरह विफल : उपासने

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता सच्चिदानंद उपासने ने तेजी से बढ़ रहे कोरोना संक्रमण को रोकने में प्रदेश सरकार की नाकामी को लेकर निशाना साधा है। उपासने ने कहा कि एक तरफ प्रदेश में मिलावटी सैनिटाइजर बेचे जाने की खबरें सुर्खियों में हैं वहीं दूसरी तरफ प्रदेश सरकार का शुक्रवार से खत्म हुआ लॉकडाउन का प्रयोग भी नाकारा साबित हुआ है। यह राज्य सरकार की मिलावटखोरों को संरक्षण और कोरोना की रोकथाम के प्रति सरकार के अविचारित नजरिए का परिचायक है। उपासने ने प्रदेश में इन दिनों सरकार की नाक के नीचे मिलावटी सैनिटाइजर को लेकर प्रदेश सरकार और अफसरशाही की कार्यप्रणाली पर सवाल खड़ा किया है। उपासने ने कहा कि प्रदेश में अब बिना लाइसेंस के सैनिटाइजर बनाने और बेचने का काम खुलेआम चल रहा है और शासन-प्रशासन इस ओर से आँखें मूंदे बैठे हैं। इस सैनिटाइजर में भारी मिलावट कर मापदंड की अनदेखी की जा रही है। उपासने ने दावा किया कि बाजार में बिक रहे इस गैर लाइसेंसी सैनिटाइजर में अल्कोहल निर्धारित मात्रा से आधे से भी कम होने की शिकायत सामने आ रही हैं, जबकि सैनिटाइजर में अल्कोहल की मात्रा 90 फीसदी होना निर्धारित है। इस पर तुरंत रोक लगाई जानी चाहिए। उपासने ने कहा कि पिछले एक पखवाड़े के लॉकडाउन पीरियड में प्रदेश में कोरोना संक्रमितों के रिकॉर्ड मामले सामने आए हैं। यह तथ्य इस बात की तस्दीक कर रहा है कि प्रदेश सरकार कोरोना के मोर्चे पर शुरू से लेकर अब तक बुरी तरह विफल है। हैरत की बात है कि जब लॉकडाउन में कोरोना संक्रमितों का आँकड़ा चिंताजनक स्तर पहुँच चुका है तो फिर लॉकडाउन का मतलब ही क्या रहा?  

 

07-08-2020
बिरगांव और उरला के सामुदयिक स्वास्थ्य केंद्र के स्टॉफ को कोविड जांच के लिए​ किया गया प्रशिक्षित

रायपुर। प्रसव और प्रसव पूर्व जांच करवाने के लिए आने वाली महिलाओं में कोरोना संक्रमण की जांच और टेस्ट करने के लिए बिरगांव के सामुदयिक स्वास्थ्य केंद्र और उरला के हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर के स्टॉफ को प्रशिक्षण दिया गया। यह प्रशिक्षण बिरगांव में डॉ.अंजना कुमार लाल और उरला में डॉ.अंजली राय द्वारा दिया गया। रायपुर में प्रसव के लिए आई गर्भवती और एएनसी जांच कराने वाली महिलाओं का रैपिड एंटीजन टेस्ट किया जा रहा है। शहरी कार्यक्रम प्रबंधक ज्योत्सना ग्वाल ने बताया कोरोना संक्रमण को फैलने से रोकने के लिये विभाग ने गर्भवती महिलाओं की कोरोना वायरस की जांच और रैपिड एंटीजन टेस्ट शुरू किया है। उन्होंने कहा अगर कोई गर्भवती महिला प्रसव के लिए रात में आती है तो प्रशिक्षण न होने के कारण स्टाफ को उसका टेस्ट करने में दिक्कत होती थी।

इस दिक्क्त को दूर करने के लिये उरला और बिरगांव के स्टॉफ को रैपिड एंटीजन टेस्ट करने के लिए प्रशिक्षण दिया कोरोना वायरस की गाइड लाईन का पालन करने पर भी प्रशिक्षण दिया गया, ग्वाल ने बताया कि एंटीजन टेस्ट किट से ऑन द स्पॉट जांच कराई जा सकती है और 20 से 30 मिनट के भीतर रिजल्ट आ जाता है। डॉ अंजना कुमार लाल और डॉ.अंजली राय ने बताया बिरगांव की 7 स्टॉफ नर्स और उरला की एक नर्स और 4 सहयोगी स्टाफ को प्रशिक्षण दिया गया। प्रशिक्षण के दौरान उन्हें सैंपल लेने के दौरानसावधानियों का ध्यान रखना, गाइड लाइन का पालन करना और पालन न करने की परिस्थिति में संक्रमण के खतरे के बारे में बताया गया।

07-08-2020
इन शर्तो के साथ अब खुले बाजार और दुकानें, कलेक्टर ने जारी किया अनलॉक का आदेश

रायपुर/बेमेतरा। कोरोना संक्रमण के बढ़ते खतरे को ध्यान में रखते हुए कलेक्टर शिव अनंत तायल ने लॉक डाउन आदेश सम्पूर्ण बेमेतरा जिले में कल तक प्रभावशील घोषित किया था। अब इस अवधि में प्रतिबंध से मुक्त दुकानों/बाजारों आदि के संचालन का समय सुबह 6 बजे से 10 बजे तक निर्धारित किया गया था।उपरोक्त आदेश की अवधि कल मध्य रात से समाप्त हो गई है। राज्य शासन द्वारा जारी नवीन दिशा-निर्देशों के अनुसार जिले में पूर्ण लॉक डाउन उपरोक्त अवधि 6 अगस्त की मध्य रात्रि से समाप्त किये जाने के निर्देश दिये गये है तथा जिलों में सोशल डिस्टेंसिंग व मास्क के उपयोग एवं सैनिटाइजेशन की मान्य प्रक्रिया (एसओपी) को अपनाते हुये सामान्य काम-काज के संचालन की अनुमति दी गई है। इस प्रक्रिया में कन्टेंमेंट जोन में मान्य प्रोटोकॉल के आधार पर कार्यवाही किये जाने तथा कन्टेंमेंट जोन में लागू प्रावधानों को कड़ाई से पालन के निर्देश दिये गये है। वर्तमान तक लॉक डाउन की अपनाई गयी प्रक्रिया के जारी रहते हुये कोरोना पॉजिटिव प्रकरणों में कुछ कमी परिलक्षीत हो रही है।

जारी आदेश मे कहा गया है कि पूर्व में आदेश 30 जुलाई 2020 में जारी प्रतिबंधों से संबंधित आदेश में संशोधन करते हुये सम्पूर्ण बेमेतरा जिला में निम्नानुसार व्यवस्था पूर्ववत प्रारंभ करने के आदेश दिये जाते हैः-जिले के नगरीय क्षेत्रों में संचालित परिवहन सेवायें, जिनमें टैक्सी, ऑटो, ई-रिक्शा आदि के परिचालन की अनुमति 7 अगस्त 2020 से प्रभावशील की जाती है। इन वाहनों में सोशल डिस्टेंसिंग की शर्तो का पालन करते हुये बहाल की जाती है। निजी वाहनों, जो आवश्यक वस्तुओं/सेवाओं के परिवहन कार्य से जुड़े है, में भी सोशल डिस्टेंसिंग, मास्क आदि के उपयोग की शर्ते अनिवार्य रूप से शामिल होगी। आवश्यक वस्तुओं से जुड़े वाहनों (मेडिकल ईमरजेंसी, वाणिज्यिक कार्गो) के परिवहन की अनुमति सम्पूर्ण जिले हेतु जो प्रतिबंध लगाये गये थे उसे इस आदेश द्वारा निष्प्रभावी घोषित किया जाता है।

सम्पूर्ण बेमेतरा जिले में दिनांक 7 अगस्त 2020 से सुबह 7 बजे से 4 बजे तक सभी व्यवसायिक प्रतिष्ठान/संस्थान/दुकान एवं बाजार खुले रहेंगे। सम्पूर्ण बेमेतरा जिले के राजस्व सीमा क्षेत्र में स्थित सभी दुकानों, जो दी गयी छूट की सीमा में शामिल नहीं है। व्यवसायिक प्रतिष्ठान, वाहनों के शो-रूम, गोदाम तथा बाजार आदि की जो गतिविधियां प्रतिबंधित की गयी थी उसे इस आदेश द्वारा इस आधार पर शिथिल किया जाता है कि सभी प्रतिष्ठानों/संस्थानों/दुकानों में सोशल डिस्टेंसिंग की मान्य प्रक्रिया को अपनाये जाने, हैण्ड सैनिटाइजर व मास्क का उपयोग अनिवार्य रूप से इन संस्था के प्रमुखों द्वारा अपनाया जायेगा तथा बगैर मास्क के किसी भी ग्राहक को इन संस्थानों जिसमें पेट्रोल पम्प, मेडिकल स्टोर्स, गैस ऐजेन्सी की दुकानें सम्मिलित है, सेवायें प्रदान नहीं किया जावेगा तथा इन आदेशों का उल्लंघन होने पर संबंधित व्यक्ति/संस्था के विरूद्ध वैधानिक कार्यवाही की जा सकेगी। शहरी व ग्रामीण क्षेत्रों के अंतर्गत शासन के विभिन्न विभागीय, सार्वजनिक/असार्वजनिक, श्रम/निर्माण कार्य, मनरेगा आदि योजनाओं के अंतर्गत संचालित कार्य पूर्ववत जारी रहेंगे, परंतु इनमें सोशल डिस्टेंसिंग व मास्क का उपयोग करना अनिवार्य होगा। धार्मिक संस्थाओं में भी सैनिटाईजेशन, थर्मल स्केनर आदि की व्यवस्था के उपरांत ही भीतर प्रवेश की अनुमति होगी। इन संस्थानों में बारी-बारी से प्रवेश व निकासी की व्यवस्था की निगरानी रखी जाएगी तथा इन संस्थाओं में सी.सी.टी.वी. कैमरा आदि भी इन्स्टाल कराया जावेगा एवं आने-जाने वाले दर्शनार्थियों का ब्यौरा रखा जाना अनिवार्य होगा तथा एक बार में अधिकतम 5 व्यक्ति के प्रवेश की अनुमति होगी।

शाम 7 बजे से सुबह 5 बजे तक अनावश्यक रूप से घरों से बाहर न निकला जावे और इस अवधि में कोई व्यवसाय संचालित नहीं होंगे। 65 वर्ष से अधिक उम्र के व्यक्ति, गर्भवती महिला व 10 वर्ष से कम उम्र के बच्चों को घर से बाहर मेडिकल ईमरजेंसी के अलावा निकलने की अनुमति नहीं होगी। दुग्ध संयंत्र/डेयरी में दुग्ध संग्रहण का कार्य शाम 4 बजे तक किया जा सकेगा। पेट्रोल पम्प, मेडिकल स्टोर्स और गैस एजेन्सी पूर्ववत खुले रहेंगे। सभी शासकीय/अर्द्धशासकीय कार्यालय, बैंक एवं अन्य वित्तीय संस्थान अपने निर्धारित कार्यालयीन समय अनुसार खुले रहेंगे। उक्त सभी स्थानों में सामाजिक दूरी एवं आवश्यक सुरक्षा व्यवस्था सुनिश्चित करने की जिम्मेदारी कार्यालय प्रमुख की होगी। आम जनता को आवश्यक होने पर ही शासकीय कार्यालयों में प्रवेश की अनुमति होगी। बिजली, पेयजल आपूर्ति, नगर पालिका सेवायें, पोस्टल सेवायें, जेल, अग्निशमन सेवायें, एटीएम, टेलीकॉम/इंटरनेंट सेवायें, आई.टी आधारित सेवायें, स्वास्थ्य सेवायें, खाद्य आपूर्ति परिवहन सेवायें, प्रिंट इलेक्ट्रानिक मीडिया, से संबंधित सेवायें निर्बाध रूप से जारी रहेंगे। होटल, रेस्टारेंट खुले रहेंगे, लेकिन केवल टेक अवे की सुविधा होगी। होटल/रेस्टोरेंट आदि में बैठकर खान-पान नहीं किया जा सकेगा। साप्ताहिक हाट-बाजार, ठेला, गुमटी, खोमचे सामाजिक दूरी का पालन करते हुये लगाए जा सकेंगे। जिम भारत सरकार स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण, मंत्रालय के द्वारा जारी मानक प्रक्रिया (एसओपी) का पालन करते हुये खोले जा सकेंगे। सिनेमा हॉल, शॉपिंग मॉल, स्वीमिंगपूल, मनोरंजन पार्क, क्लब, थिएटर, ऑडिटोरियम, असेम्बली हॉल, स्पोटर्स कॉम्पलेक्स एवं स्टेडियम पूर्ववत बंद रहेंगे। कोरोना संक्रमित मरीज पाये जाने की स्थिति में कन्टेंमेंट जोन में पूर्व की भांति सभी गतिविधियां प्रतिबंधित रहेंगी।      

उपरोक्त वर्णित गतिविधियों में संशय उत्पन्न होने पर जिला दण्डाधिकारी का निर्णय अंतिम होगा। महामारी रोग अधिनियम 1897 एवं इसके संदर्भ में शासन द्वारा जारी पत्र के संदर्भ में इस कार्यालय द्वारा जारी समस्त आदेशों का अधिक्रमित करते हुये यह आदेश जारी किया जा रहा है। दाण्डिक प्रावधान - उपरोक्त प्रतिबंधात्मक आदेशों एवं दिशा-निर्देशों का उल्लंघन करते हुये पाये जाने पर आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005 की धारा 51 से 60 भारतीय दण्ड संहिता 1860 की धारा 188 तथा महामारी एक्ट एवं अन्य सुसंगत विधिक प्रावधानों जो लागू हो के अंतर्गत दोषी व्यक्ति कार्यवाही के भागीदार होंगे। बेमेतरा जिला में हॉट-स्पॉट व कंटेनमेंट जोन घोषित होने वाले स्थानों में शासन द्वारा सम्पूर्ण प्रतिबंध के संबंध में जारी निर्देश पूर्ववत प्रभावी होंगे तथा इन अतिरिक्त गतिविधियों के संचालन की अनुमति हॉट-स्पॉट व कंटेनमेंट जोन में कदापि नहीं होगी।

07-08-2020
देश में एक दिन में सर्वाधिक 62537 कोरोना संक्रमित पाए गए, 886 की मौत

नई दिल्ली। देश में कोरोना संक्रमण का प्रकोप लगातार बढ़ता ही जा रहा है। पिछले 24 घंटों में कोविड-19 के 62,537 नए मामले सामने आए और 886 लोगों की मौत हुई। केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक, पिछले 24 घंटे में 62,537 नए मामले सामने आए हैं और 886 लोगों की मौत हुई है। संक्रमितों की कुल संख्या 20,27,075 हो गई तथा 886 लोगों की मौत होने से मृतकों की संख्या 41,585 के पर पहुंच गई है। मंत्रालय के अनुसार स्वस्थ होने वालों की दर 67.98 प्रतिशत पर पहुंच गई है और मृत्यु दर 2.05 प्रतिशत है।

06-08-2020
कैट ने व्यापारियों और आम नागरिकों से की अपील,सुरक्षा का रखें ध्यान और बाजार खुलते ही ना बढ़ाएं भीड़

रायपुर। कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंड़िया ट्रेडर्स (कैट) ने व्यापारियों और आम नागरिकों से कोरोना संक्रमण से बचने सुरक्षात्मक उपाय अपनाने की अपील की है। राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अमर पारवानी ने कहा कि 7 अगस्त से बाजार खुलते ही भीड़ ना बढ़ाएं और संक्रमण से बचने के प्रत्येक निर्देशों का गंभीरता से पालन करें। उन्होंने बताया कि गुरुवार को कलेक्टर डॉ.एस.भारतीदासन की अध्यक्षता में जिला प्रशासन द्वारा रेडक्रास भवन में एक बैठक बुलाई गई। इसमें पुलिस अधीक्षक अजय यादव, नगर निगम आयुक्त सौरभ कुमार,एडीएम विनित नंदनवार,नगर निगम उपायुक्त पुलक भट्टाचार्य उपस्थित और अतिरिक्त पुलिस अधिक्षक तारकेश्वर पटेल शामिल थे। अमर पारवानी ने बताया कि बैठक में कलेक्टर ने व्यापारियों के सुझावों सुना और सकारात्मकता के साथ विचार करते हुए बैठक में उपस्थित सभी अधिकारीयों से चर्चा की। इसके बाद कल से कुछ नियम एवं शर्तों के साथ दुकान और व्यापार संचालन की अनुमति दी। जारी हुई नई गाइडलाइन के मुताबिक इस अनलॉक में इस बार दुकाने और व्यापार सप्ताह में 6 दिन संचालित किए जाएंगे। रविवार को व्यापार पूर्णत: बंद रखना होगा। इस बार व्यवसाय और दुकानों को 5 अलग-अलग वर्ग में बांटा गया है तथा उसी के अनुरूप उन व्यवसायों की समय सीमा तय की गई है, जिसमें दुकान खोलने और बंद करने का समय तय किया गया है।

सभी दुकानदारों और व्यापारियों को अपने दुकान और संस्थान के बाहर एक बोर्ड या पोस्टर लगाकर रखना होगा,जिसमें उसके व्यापार की श्रेणी और व्यापार संचालन का समय लिखा होगा। ताकि जिला प्रशासन की टिम अगर पहुंचती है तो बाहर से ही पता चल जाये। इस बार व्यापारी को अपने व्यापार से संबधित वस्तुओं के अलावा 50 मास्क रखना भी अनिवार्य होगा। ताकि जब कोई ग्राहक आये तो उन्हे वो मास्क तुरंत दे सकें। साथ ही सावधानियां जो हर एक व्यवसायी और दुकानदार को बरतनी को कही गई है। यह कि निश्चित समय-समय में खुद को एवं दुकान सैनिटाइज करें। परवानी ने कहा कि 7 अगस्त से राजधानी रायपुर अनलॉक हो रहा है। रायपुर में व्यापार पिछले 16 दिनों से बंद था किंतु अब दुकानों और व्यापार के आरंभ होने से अर्थव्ययस्था को गति मिलेगी और प्रदेश के राजस्व में वृद्धि होगी। कैट रायपुर की आम जनता से भी आवहन करती है क्योंकि रायपुर में कल से बहुत लंबे समय के बाद दुकानें और बाजार प्रारंभ होने जा रहा है, ऐसे में आपसे निवेदन है कि 16 दिनों से जो भी वस्तुए लेनी होगी उसे लेने एक ही दिन में लेने के लिए दुकानों एवं बाजारों में भीड़ ना लगाएं। आपकी सुविधा के लिए अब से सभी दुकानें और बाजार सप्ताह में पूरे 6 दिन खुला रखेंगे।

 

06-08-2020
जिले में कोरोना के 5 नए मामले आए सामने

कांकेर। जिले में गुरूवार को कोरोना संक्रमण के 5 मामले सामने आए हैं। इसमें दुर्गूकोंदल के दो बीएसएफ जवान, भानुनुप्रतापपुर स्वास्थ्य कर्मी के परिवार के दो सदस्य और नरहरपुर से एक एसएसबी का जवान कोरोना संक्रमण की चपेट में आने की पुष्टि जिला स्वास्थ्य अधिकारी जेएल उइके ने की है। इस तरह जिले में अब तक कोरोना संक्रमण के कुल मरीजों की संख्या 240 तक पहुँच गई है।

06-08-2020
लॉक डाउन की मियाद नहीं बढ़ेगी आगे, सुबह 8 से शाम 5 बजे तक खुलेंगी दुकानें

रायपुर/बलौदाबाजार। कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिये जिले में जारी लॉक डाउन की मियाद 6 तारीख के बाद आगे नहीं बढ़ाई जाएगी। दुकानें और व्यापारिक प्रतिष्ठान कल 7 तारीख से कोरोना  की रोकथाम के नियमों का पालन करते हुये संचालित हो सकेंगी। दुकानें सवेरे 8 बजे से लेकर शाम 5 बजे तक खुली रह सकती हैं। जिला कलेक्टर सुनील कुमार जैन ने बताया कि कोरोना महामारी का संकट अभी टला नहीं है। रोजाना बड़ी संख्या में प्रकरण सामने आ रहे हैं। इसलिये हम सभी को पहले से और ज्यादा सजग और सावधान रहने की जरूरत है। संक्रमण की रोकथाम में सामुदायिक भागीदारी की अहम भूमिका है। सभी को मास्क पहनने और सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन करना अनिवार्य है। कोरोना से बचाव का यही एक प्रभावी उपाय है। लोगों में कोरोना के बचाव से सम्बंधित तमाम उपायों के बारे में पर्याप्त जागरूकता हो चुकी है। बावजूद इसके पालन नहीं किये जाने पर जान बुझकर कानून की अवज्ञा किये जाने के आरोप में कठोर कार्रवाई की जायेगी। उन्होंने व्यापारियों को भी बगैर मास्क पहने सामान लेने आये ग्राहकों को सामग्री नहीं बेचने के निर्देश दिए हैं।

06-08-2020
देश में पिछले 24 घंटे में 52050 नए कोरोना मरीज सामने आए, संक्रमितों की संख्या 19 लाख 64 हजार के पार

नई दिल्ली। देश में कोरोना संक्रमण का प्रकोप लगातार बढ़ता ही जा रहा है। पिछले 24 घंटों में कोविड-19 के 52,050 नए मामले सामने आए। केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय की ओर से गुरुवार को जारी आंकड़ों के मुताबिक पिछले 24 घंटों में 52,050 लोगों के संक्रमित होने से संक्रमितों की संख्या 19,64,537 हो गई। राहत की बात यह रही कि इस दौरान 46,121 लोग संक्रमणमुक्त भी हुए हैं, जिससे स्वस्थ होने वालों की संख्या 13,28,337 हो गई है। मंत्रालय के अनुसार स्वस्थ होने वालों की दर 67.62 प्रतिशत पर पहुंच गई है और मृत्यु दर 2.07 प्रतिशत है।

06-08-2020
सरगुजा संभाग के सभी जिलों में कोरिया में सबसे कम एक्टिव केस, कलेक्टर ने कहा - सतर्कता और जागरूकता से होंगे कामयाब

कोरिया। सरगुजा संभाग के अंतर्गत कोरिया जिले में कोविड-19 केस अन्य की अपेक्षा कम हैं। वर्तमान में सबसे कम 22 एक्टिव केस हैं जबकि आज की स्थिति में अंबिकापुर में 25 एक्टिव केस, सूरजपुर में 34 केस, जशपुर 37 केस और बलरामपुर में 34 एक्टिव केस हैं। साथ ही आज जिले में एक भी पॉजिटिव केस नहीं मिला है।सरगुजा संभाग के अंतर्गत अम्बिकापुर मेडिकल कॉलेज के बाद कोरिया जिले में ही दूसरा कोविड केअर हॉस्पिटल प्रारंभ किया गया गया। यहां जिले में ही कोरोना के मरीजों का इलाज किया जा रहा है। इसके अतिरिक्त सरगुजा संभाग में कोरिया पहला जिला है जहां ट्रू-नाट टेस्टिंग लैबोरेट्री प्रारंभ की गई।

इस विधि से एक से डेढ़ घण्टे में ही कोरोना संक्रमण की रिपोर्ट प्राप्त हो जाती है। आम जनता को कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के लिए जिला प्रशासन की ओर से जागरूक किया जा रहा है। साथ ही नियमों का उल्लंघन करने वालों पर चालानी कार्यवाही भी राजस्व व पुलिस टीम के साथ की जा रही है। कलेक्टर ने जिले की समस्त जनता से अपील करते हुए कहा है कि प्रशासन की सतर्कता और जनता की जागरूकता से ही कोरिया जिला जरूर ही यह जंग जीतने में कामयाब होगा। सभी बचाव नियमों का पालन अवश्य करें।

06-08-2020
प्रदेश में लॉक डाउन का आज अंतिम दिन, कलेक्टरों के हाथों में अंतिम निर्णय

रायपुर। प्रदेश में गुरुवार को लॉक डाउन खत्म होने वाला है। इसलिए अब दुकानों और बाजारों को फिर से खोलने की तैयारी हो रही है। सीएम भूपेश बघेल ने इस सबंध में मंत्रिमंडल की बैठक बुलाई थी। बैठक के दौरान सभी जिलों में संक्रमण की स्थिति को लेकर चर्चा हुई, फिर तय किया गया है कि जिलों में लॉक डाउन का अं​तिम निर्णय कलेक्टर के हाथों में होगा। दुकानदारों और व्यापारिक संगठनों को इस बात के सख्त निर्देश दिए जाएंगे कि वे लॉक डाउन और सोशल डिस्टेंस के नियमों का कड़ाई से पालन करें। 

बता दें कि दुर्ग कलेक्टर नरेंद्र भूरे ने भी शहर के व्यापारिक संगठनों की बैठक बुलाई है। इस दौरान वे भी सभ तथ्यों पर चर्चा कर दुकानों को खोलने के समय का फैसला करेंगे। वहीं बिलासपुर कलेक्टर सारांश मित्तर ने लॉक डाउन खोलने को लेकर कहा कि यदि 7 अगस्त तक कोरोना संक्रमण को लेकर अप्रत्याशित स्थिति नहीं हुई तो दुकानें सामान्य तरीके से खुलेंगी। यदि दुकानों को खोलने के समय में कोई बदलाव की आवश्यकता हुई तो व्यापारिक संगठनों से बात कर फैसला लिया जाएगा।

05-08-2020
राज्य में कोई नहीं रहे भूखा,9 हजार 982 जरूरतमंदों को मिला निशुल्क भोजन व खाद्यान्न पैकेट

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के मंशानुरूप राज्य के सभी जिलों में गरीबों एवं निराश्रित लोगों को निशुल्क भोजन व खाद्यान्न पैकेट उपलब्ध कराए जाने का सिलसिला जारी है। कोरोना संक्रमण के समय सहायता के तौर पर बुधवार को 9 हजार 982 जरूरतमंद लोगों को मास्क, सैनिटाइजर एवं दैनिक जरूरत का सामान जिला प्रशासन तथा स्वयंसेवी संस्थाओं की सहयोग से मुहैया कराया गया। जिलों से प्राप्त रिपोर्ट के अनुसार स्वयंसेवी संस्थाओं की मदद से मास्क एवं सैनिटाइजर,साबुन आदि का वितरण भी जरूरतमंदों को किया गया है। यह उल्लेखनीय है कि जिलों में प्रशासन द्वारा समाजसेवी संस्थाओं के सहयोग से छत्तीसगढ़ राज्य में अब तक 1 करोड़ 14 लाख 19 हजार 248 लोगों को निशुल्क भोजन एवं खाद्यान्न पैकेट उपलब्ध कराया गया है। स्वयंसेवी संस्थाओं के सहयोग से कोरोना संक्रमण के बचाव के लिए अब तक 50 लाख 23 हजार 985 मास्क सैनिटाइजर एवं अन्य सामग्री का निशुल्क वितरण किया गया है।

 

05-08-2020
धमतरी में मिले 10 कोरोना पॉजिटिव, मरीजों की संख्या 50 के पार

धमतरी। जिले में अब तक कोरोना संक्रमण की रफ्तार धीमी थी, एक दिन में अधिकतम 8 केस ही सामने आए थे, बुधवार को रिकॉर्ड 10 मरीज सामने आए हैं। इधर स्वास्थ विभाग की टीम पॉजिटिव मरीजों को अस्पताल में दाखिला कराने की कार्यवाही के लिए रवाना हो गयी है। सीएमएचओ डॉ डीके तुर्रे ने इसकी पुष्टि की है। उन्होंने बताया कि झुरानवागांव में 4, सौराबांधा 1, भोथीपार में 2, रांवा 1, मगरलोड में 2 मरीजों की रिपोर्ट पॉजिटिव आयी है, इनमें ज्यादातर का सैम्पल प्राथमिक सम्पर्क के आधार पर लिया गया था। जिले में पॉजिटिव मरीजों की संख्या अब 54 हो गयी है।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804