GLIBS
24-05-2020
पुलिस करेगी होम क्वॉरेंटाइन किए गए व्यक्तियों को प्रतिदिन चेक

धमतरी। वैश्विक महामारी नोवल कोरोना वायरस के फैलते संक्रमण काल में लॉक डाउन के दौरान संक्रमण से बचाव के लिए शासन के निर्देशानुसार सोशल व फिजिकल डिस्टेंसिंग बनाए रखते हुए आर्थिक-व्यापारिक गतिविधियों को चरणबद्ध तरीके से संचालन किया जा रहा है। साथ ही माइग्रेंट व्यक्तियों एवं श्रमवीरों का अन्य राज्यों से आवागमन निरंतर जारी है। इसी कड़ी में पुलिस अधीक्षक धमतरी बीपी राजभानू के निर्देशानुसार मानव जीवन एवं उसके स्वास्थ्य के प्रति उत्पन्न हुए अदृश्य खतरे के परिप्रेक्ष्य में रविवार को अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मनीषा ठाकुर रावटे के द्वारा पुलिस कार्यालय धमतरी में अधिकारियों एवं सभी थानों में क्राइम एंड क्रिमिनल ट्रैकिंग नेटवर्क एंड सिस्टम्स कार्य के लिए संबंद्ध कर्मचारियों की बैठक की गई। बैठक में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक धमतरी द्वारा निर्देशित किया गया कि स्वास्थ्य विभाग एवं जिला कंट्रोल रूम से प्राप्त सूची के अनुसार सभी थानों में कार्यरत सीसीटीएनएस ऑपरेटर जानकारी संधारित कर अपने थाने के पेट्रोलिंग पार्टी को उपलब्ध कराएंगे, जो होम क्वॉरेंटाइन किए गए व्यक्तियों को प्रतिदिन चेक करेंगे। इसी तरह अन्य राज्यों से धमतरी आने वाले श्रमवीरों को प्रशासन द्वारा उनके गांव में ही बने क्वॉरेंटाइन सेंटर में क्वॉरेंटाइन किये जाने की व्यवस्था की गई है, जिसकी जानकारी प्रतिदिन संबंधित जनपद पंचायत से प्राप्त कर संबंधित थाने की पुलिस पेट्रोलिंग पार्टी द्वारा सतत निगरानी रखी जाकर चेकिंग पश्चात पुलिस नियंत्रण कक्ष को जानकारी उपलब्ध कराई जाए। बैठक के दरमियान उपस्थित अधिकारियों-कर्मचारियों को सुरक्षा संबंधी उपायों के बारे में भी विस्तृत जानकारी दी गई है। उक्त बैठक में उप पुलिस अधीक्षक मुख्यालय अरुण जोशी, थाना प्रभारी सिटी कोतवाली भावेश गौतम, अर्जुनी उमेंद टंडन, रूद्री युगल किशोर नाग, सूबेदार रेवती वर्मा, डीएसबी प्रभारी प्रेम प्रसाद उपाध्याय एवं सभी थानों में सीसीटीएनएस कार्य के लिए संबंद्ध कर्मचारीगण उपस्थित रहे।

 

21-05-2020
राजनांदगांव कलेक्टर हुए होम क्वॉरेंटाइन

राजनांदगांव। राजनांदगांव कलेक्टर जयप्रकाश मौर्य को होम क्वॉरेंटाइन होना पड़ा है। मिली खबरों के अनुसार राजनांदगांव जिले में डोंगरगढ़ के डिप्टी कलेक्टर का ड्राइवर कोरोना वायरस कोविड-19 के संक्रमित निकला। इसके कारण ड्राइवर को इलाज के लिए भेजा गया। वहीं डिप्टी कलेक्टर क्वॉरेंटाइन हो गए। उक्त डिप्टी कलेक्टर और ड्राइवर का राजनांदगांव के कलेक्ट्रेट में आना-जाना बना रहता था। क्वॉरेंटाइन हुए डिप्टी कलेक्टर भी राजनांदगांव कलेक्टर जेपी मौर्य के साथ प्रायः मिलते रहते थे। इसे देखते हुए बतौर सावधानी राजनांदगांव कलेक्टर जेपी मौर्य ने खुद को होम क्वॉरेंटाइन कर लिया है।

01-05-2020
तेलंगाना से मज़दूर पैदल चलकर रायपुर पहुंच गए,भला हो डॉ काम्बले का जिन्होंने उन्हें रोका और पुलिस को खबर की

रायपुर। आज तड़के मॉर्निंग वॉक पर निकले डॉक्टर काम्बले ने एम्स के सामने मजदूरों का एक समूह पैदल जाते देखा। उन्होंने मज़दूरों को तत्काल रोका और उनसे पूछताछ की। वे सभी बलौदा बाजार के रहने वाले हैं और तेलंगाना से पैदल चलकर यहां तक आ पहुंचे।डॉ काम्बले ने उन्हें रोका और आगे जाने देने के बजाय उन्हें टाटीबंध के गुरुद्वारे में रुकवाया और पुलिस को सूचना दी। डॉक्टर काम्बले ने लॉक डाउन के शुरुआती दिनों में भी मुंबई से टैक्सी से रांची जाने वाले लोगों को टाटीबंध चौक पर गाड़ी नम्बर देखकर रोका था और पुलिस को सूचना दी थी।

उनके पास जो दस्तावेज थे उसमें साफ लिखा हुआ था होम क्वॉरेंटाइन इसके बावजूद भी वे सीमा पार कर रायपुर तक आ पहुंचे थे। डॉक्टर काम्बले का कहना है कि कोरोना के संक्रमण में माइग्रेशन बहुत बड़ा खतरा है। और प्रवास करने वाले कोरोना के कैरियर साबित हो सकते हैं। ऐसी स्थिति में मजदूरों को या जो भी लोग घर लौट रहे हैं उन्हें इस तरह से खुलेआम सफर करते देखना और उन्हें नहीं रोकना यह भी लापरवाही का ही प्रमाण हैं। उन्होंने कहा कि हर नागरिक को अपनी जिम्मेदारी का निर्वहन करते हुए पुलिस को सूचना देना चाहिए। इसमें कोई शक नहीं डॉक्टर काम्बले ने एक जिम्मेदार नागरिक होने का परिचय दिया और सब काम छोड़कर उन्हें टाटीबंध गुरुद्वारे में रुकवाया और पुलिस को सूचना दी। इससे पहले भी वैसा कर चुके हैं लेकिन डॉक्टर कामले का सवाल बहुत बड़ा है इस तरह लोग कैसे इतने दूर तक पैदल सफर कर कर जिलों व राज्यों की सीमा पार कर अपनी मंजिल तक पहुंच रहे है।

09-04-2020
अब होम क्वॉरेंटाइन की निगरानी करेगा रक्षक सर्वर सॉफ्टवेयर,हर गतिविधियों की मिलेगी जानकारी

रायगढ़। होम क्वॉरेंटाइन का उल्लंघन कर लोगों के जीवन को खतरे में डालने वाले लोगों पर निगरानी के लिए जिला पुलिस नए रक्षक सर्वर सॉफ्टवेयर की मदद लेगी। इस सॉफ्टवेयर से जिले के होम क्वॉरेंटाइन में रखे गए करीब 4500 व्यक्तियों को जोड़ा गया है। पिछले कुछ दिनों से थाना प्रभारियों द्वारा फिजीकल रूप से चेक करने के अलावा शेयर माय लोकेशन एप्प की मदद से भी ऐसे होम क्वॉरेंटाइन को चेक किया जा रहा था किन्तु क्वॉरेंटाइन के बाहर घूमकर अन्य लोगों को भी संक्रमित करने की सम्भावना रहती है। खरसिया में एक व्यक्ति द्वारा होम क्वॉरेंटाइन का उल्लंघन किया गया था,जिस पर कार्यवाही की गई है। इसे देखते हुए यह सॉफ्टवेयर ऐसे लोगों की निगरानी में काफी मददगार साबित होगा। इस सॉफ्टवेयर के द्वारा हर 1 घंटे में होम क्वॉरेंटाइन में रहने वाला व्यक्ति अपनी सेल्फी साइबर सेल में बने कंट्रोल रूम में भेजेगा। उसके लोकेशन को चेक किया जाएगा,जीपीएस आधारित यह सॉफ्टवेयर होम आइसोलेटेड के 200 मीटर के दूर जाने पर कंट्रोल रूम को अलर्ट करेगा। इससे होम क्वॉरेंटाइन का करंट लोकेशन पुलिस को पता चल जायेगा,जिससे उस पर कार्यवाही की जाएगी। इसके अलावा होम क्वॉरेंटाइन व्यक्तियों के घर आसपास ड्रोन कैमरे से निगरानी रखी जा रही है। उनके घर आसपास भीड़ इकट्ठे होने पर उनकी पहचान कर उन पर भी कार्यवाही की जावेगी ।

 

 

04-04-2020
राज्य में 70 हजार 456 लोग होम क्वॉरेंटाइन में,स्वास्थ्य सचिव ने की नियमों के पालन करने की अपील

रायपुर। राज्य में कोरोना वायरस (कोविड-19) के संक्रमण की रोकथाम तथा समुदाय स्तर इसे संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए स्वास्थ्य विभाग की सचिव निहारिका बारिक सिंह ने होम क्वॉरेंटाइन में रखे गए लोगों से नियम का कड़ाई से पालन सुनिश्चित करने की अपील की है। स्वास्थ्य सचिव ने कहा है कि बीते 28 दिनों में अंतर्राष्ट्रीय एवं अंतर्राज्यीय यात्रा से छत्तीसगढ़ आए लोगों को एहतियात के तौर पर होम क्वॉरेंटाइन में रखे जाने का आदेश दिया गया है तथा उनके घर के सामने दरवाजों पर स्टीकर भी लगाये गए है। होम क्वॉरेंटाइन में रखने तथा स्टीकर लगाने का उद्देश्य इस महामारी से बचने के लिए लोगों को जागरूक करना तथा सोशल डिस्टेंसिंग का पालन सुनिश्चित कराना है। होम क्वॉरेंटाईन में रखे गए कई लोग अपने घरों के सामने लगाए स्टीकर को हटा दे रहे है, यह स्थिति ठीक नहीं है। उन्होेंने कहा है कि होम क्वॉरेंटाइन में रखे गए लोगों की यह जिम्मेदारी है कि वह अपने घर परिवार के लोगों, चिरपरिचितों, मित्रों तथा मोहल्ले के लोगों को इस महामारी से बचाने के लिए दूरी बनाए रखे, घर से बाहर न निकले। स्वास्थ्य सचिव ने पुलिस महानिदेशक को पत्र प्रेषित कर क्वॉरेंटाईन में रखे गए लोगों को क्वॉरेंटाईन नियम का कड़ाई से पालन सुनिश्चित कराने हेतु संबंधित थाना प्रभारियों को निर्देशित करने का आग्रह किया है। 

31-03-2020
कोरोना का आठवां पॉजिटिव केस मिला छत्तीसगढ़ में, ये भी लंदन से लौटा था

रायपुर। प्रदेश में कोरोना पॉजिटिव का आठवां केस सामने आया है। बता दें कि यह युवक भी लंदन से लौटा था।  युवक कोरबा का रहने वाला है, जिसे होम क्वॉरेंटाइन में रखा गया था, जिसकी दोनो रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। फिलहाल युवक को हम क्वॉरेंटाइन से रायपुर एम्स लाया जा रहा है, जिसकी हालत स्थिर बनी हुई है। कल युवक को एम्स मे भर्ती किया जाएगा।

18-03-2020
लंदन से लौटीं सांसद मिमी चक्रवर्ती, अब रहेंगी होम क्वॉरेंटाइन

नई दिल्ली। तृणमूल कांग्रेस के सांसद मिमी चक्रवर्ती खुद को होम क्वॉरेंटाइन में रखेंगी। मिमी चक्रवर्ती बुधवार को लंदन से वापस भारत लौटी हैं। सरकार ने विदेश से लौटने वाले व्यक्तियों को 14 दिन के लिए होम क्वॉरेंटाइन में रखने का नियम बनाया है। सरकार के नियमों के मुताबिक जो लोग उन देशों से आ रहे हैं,जहां पर कोरोना वायरस का असर ज्यादा है उन व्यक्तियों को खुद को होम क्वॉरेंटाइन में रखना होगा। बता दें कि प. बंगाल की अभिनेत्री मिमी चक्रवर्ती जादवपुर से लोकसभा सांसद हैं। 

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804