GLIBS
29-12-2020
जिले में खुले और सार्वजनिक स्थलों पर नहीं होंगे कार्यक्रम,कलेक्टर ने जारी किया आदेश

धमतरी। कलेक्टर जयप्रकाश मौर्य ने कोविड-19 के संक्रमण की रोकथाम व नियंत्रण और जिले में कोरोना धनात्मक प्रकरणों की संख्या में लगातार वृद्धि को ध्यान में रखते हुए नया आदेश जारी किया है। जारी आदेश के मुताबिक खुले या सार्वजनिक स्थल में कार्यक्रम के आयोजन, जुलूस, सभा, सांस्कृतिक कार्यक्रम आदि पर प्रतिबंध लगाया है। साथ ही संक्रमण से बचाव के लिए अनेक दिशानिर्देश जारी किए हैं। 

कलेक्टर ने कहा है कि कार्यक्रम का आयोजन खुले व सार्वजनिक स्थल में न किया जाए। कार्यक्रम के दौरान किसी प्रकार के जुलूस, सभा, रैली, सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित नहीं किया जाए। कार्यक्रम स्थल की क्षमता का 50 प्रतिशत या अधिकतम 200 व्यक्ति ही सम्मिलित हो सकेंगे। साथ ही यह भी तय किया जाए कि कार्यक्रम स्थल में प्रवेश व निकासी द्वार अलग-अलग हो। आदेश में कहा गया है कि श्वसन शिष्टाचार का कड़ाई से पालन हो, यानी उपस्थित व्यक्ति खांसते, छींकते समय टिशु पेपर, रूमाल, मुड़ी हुई कोहनी का उपयोग करेंगे। कार्यक्रम के दौरान आयोजन परिसर में सीसीटीवी कैमरे लगाया जाए। वीडियोग्राफी कराई जाए जिससे संक्रमित व्यक्ति के सम्पर्क में आने वाले लोगों की कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग की जा सके। कार्यक्रम रात 12.30 बजे तक समाप्त किया जाए व बिना अनुमति के कार्यक्रम नहीं कराया जाए। छोटे बच्चों एवं अधिक उम्र के बुजुर्ग व्यक्तियों को आयोजन में शामिल नहीं किया जाए। 

आदेश में छत्तीसगढ़ शासन के निर्देश का हवाला देते हुए रात 11:55 से 12:30 बजे तक हरित पटाखों का उपयोग करने की छूट प्रदान की गई है। प्रत्येक कार्यक्रम आयोजक समय-पूर्व सोशल मीडिया में यह जानकारी दें कि कोविड-19 कोरोना के कारण कार्यक्रम वृहद् रूप से आयोजित नहीं किया जाएगा। इससे लोगों की भीड़ एकत्रित ना हो। कार्यक्रम के दौरान किसी प्रकार का मंच या पंडाल नहीं लगाए जाने के भी निर्देश दिए गए हैं। इसी तरह आयोजन में उपस्थित प्रत्येक व्यक्ति को सोशल/फिजिकट डिस्टेंसिंग, मास्क लगाने एवं समय-समय पर सैनिटाइजर का अनिवार्य रूप से उपयोग करने कहा गया है। आयोजन के दौरान डीजे बजाने की अनुमति नहीं होगी। कोलाहल अधिनियम का पालन करते हुए दो छोटे साउण्ड बॉक्स का उपयोग किया जा सकता है। कार्यक्रम स्थल पर सैनिटाइजर, थर्मल स्क्रीनिंग, ऑक्सीमीटर, हैण्डवॉश एवं क्यू मैनेजमेंट सिस्टम की व्यवस्था करनी होगी। थर्मल स्क्रीनिंग से जांच में बुखार पाए जाने अथवा कोरोना से संबंधित कोई भी सामान्य या विशेष लक्षण पाए जाने पर कार्यक्रम में प्रवेश की जिम्मेदारी आयोजनकर्ता की होगी। कार्यक्रम स्थल पर रजिस्टर संधारित कर उपस्थित होने वाले सभी व्यक्तियों के नाम, पता, मोबाइल नंबर आदि दर्ज करने के निर्देश दिए गए हैं। 

कलेक्टर ने कहा है कि इन शर्तों के अलावा कोविड-19 के संबंध में भारत सरकार, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय,छत्तीसगढ़ शासन सामान्य प्रशासन विभाग, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग की ओर से समय-समय पर जारी किए गए आदेशों का पालन करना अनिवार्य होगा। शर्तों के उल्लंघन या किसी प्रकार की अव्यवस्था होने पर इसकी पूरी जिम्मेदारी कार्यक्रम के आयोजनकर्ता की होगी। उसके विरुद्ध वैधानिक कार्रवाई की जाएगी। यह निर्देश तत्काल प्रभावशील होगा। निर्देश का उल्लंघन किए जाने पर आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005 सहपठित एपिडेमिक डिसीज एक्ट 1987 यथा संशोधित 2020 एवं भारतीय दंड संहिता 1860 की धाराओं के अंतर्गत विधि अनुकूल कार्रवाई की जाएगी।

25-12-2020
प्रदेश में कोरोना संक्रमण की दर घटी, आईसीयू में हो रही अधिक मौतें चिंता का विषय

रायपुर। प्रदेश में कोविड-19 की संक्रमण दर अभी कम है, लेकिन आईसीयू में मौतें अधिक हो रही है। इससे चिकित्सक भी चिंतित हैं, क्योंकि उनके हर संभव प्रयास के बाद भी कुछ मरीज नहीं बच पा रहे हैं। मेकाहारा के क्रिटिकल केयर विशेषज्ञ डॉ. ओपी सुंदरानी ने बताया कि अभी ग्रामीण क्षेत्रों से ऐसे बहुत केस आ रहे हैं, जिनकी उम्र 60 से अधिक है। अप्रशिक्षित प्रैक्टिशनर से इलाज कराना शुरू करते हैं और जब तकलीफ बहुत बढ़ जाती है तभी शासकीय स्वास्थ्य केन्द्र जाते हैं। कई मामलों में मरीज आईसीयू में भी स्टेबल नहीं हो पाते हैं। डॉ. सुंदरानी ने कहा कि घर के युवा सदस्यों को कोविड अनुकूल व्यवहार करना चाहिए। जैसे मास्क लगाना, भीड़ से बचना आदि। वे यदि संक्रमित हो गए तो उनकी तबीयत ठीक हो सकती है, लेकिन बुजुर्गों को इसके गंभीर परिणाम भुगतने पड़ते हैं। उन्होंने कहा कि बुजुर्गों को यदि मामूली सर्दी, बुखार, शरीर में दर्द, थकान, भूख न लगना, उल्टी दस्त आदि लक्षण दिखे तो तुरंत किसी चिकित्सक से ही जांच करानी चाहिए। जल्दी जांच और इलाज से मरीज के स्वस्थ होने की संभावनाएं बढ़ जाती हैं। अभी दमा और सांस की तकलीफ वाले मरीजों को अत्यधिक सावधानी बरतने की आवश्यकता है। उन्हें ठंड से बचना चाहिए।

 

25-12-2020
कोविड प्रोटोकॉल को फॉलो करते हुए घर पर ऐसे सेलिब्रेट करें क्रिसमस

रायपुर। कोरोना ने इस बार सभी त्यौहारों का मजा फीका कर दिया है। चाहे कोई भी त्यौहार हो कोविड-19 की पाबंदियां सभी में लागू कर दी गई है। आज यानी शुक्रवार को क्रिसमस डे है। यह त्यौहार साल के बड़े त्यौहारों में आता है। क्रिसमस के इस सेलिब्रेशन को फीका ना करते हुए हम प्रोटोकॉल फॉलो करते हुए भी इसे यादगार बना सकते हैं। यहां जानिए कुछ ऐसे टिप्स जो आपके इस खास दिन को हमेशा के लिए यादगार बनाने में मददगार साबित हो सकते हैं। पूरे परिवार के साथ वक्त बिताने का मौका आजकल की व्यस्त जिंदगी में कभी कभार ही आ पाता है।  इसलिए इसे जमकर एंजॉय करें। परिवार के लोगों के साथ दिन में गेम खेलें। कौन कौन से गेम खेलने हैं, इसकी लिस्ट अभी से तैयार कर लें। गेम में जीतने वाले के लिए आकर्षक उपहार भी रखें। क्रिसमस के दौरान सबसे ज्यादा क्रेज घर की सजावट और क्रिसमस ट्री का होता है। इस बार घर पर ही क्रिसमस ट्री बनाएं।  इसके लिए घर के आंगन या बगीचे में लगे किसी पेड़ को ट्रिम करें। फिर उस पर रंग बिरंगी लाइट लगाएं। गिफ्ट्स, टॉफियां और चॉकलेट वगैरह लटकाएं। साथ ही घर की सजावट भी लाइट से करें। आप इस मौके पर रंगोली भी बना सकते हैं। पार्टी के लिए खाने पीने की चीजें सुबह से ही तैयार कर लें ताकि एंजॉयमेंट के वक्त किसी को काम में जुटना न पड़े। दिन में परिवार के सदस्यों के साथ आप कोई मूवी देखने की प्लानिंग भी कर सकते हैं। शाम के समय म्यूजिक, डांस वगैरह की व्यवस्था कर सकते हैं। इसके अलावा सभी सदस्यों के लिए बेहतर सा गिफ्ट खरीदें या घर पर तैयार करें।

 

22-12-2020
कोविड-19 में उत्कृष्ट कार्य के लिए धमतरी को मिला राज्यपाल पुरस्कार

धमतरी। राज्यपाल एवं इंडियन रेडक्राॅस सोसायटी छत्तीसगढ़ की अध्यक्ष अनुसुइया उइके ने राजभवन के दरबार हाॅल में आयोजित इंडियन रेडक्राॅस सोसायटी राज्यपाल सम्मान समारोह में धमतरी जिले को कोविड-19 में उत्कृष्ट कार्य के लिए द्वितीय पुरस्कार से सम्मानित किया। पुरस्कार कलेक्टर जयप्रकाश मौर्य की ओर से डिप्टी कलेक्टर डीसी बंजारे ने रविवार 20 दिसम्बर को प्राप्त किया। सम्मान के तौर प्रशस्ति पत्र, प्रतीक चिन्ह एवं 37500 रूपये से सम्मानित किया गया। इसके अलावा जिले के छह वालंटियर्स को उत्कृष्ट कार्य के लिए सम्मानित किया गया है। इस अवसर पर राज्यपाल ने अपने संबोधन में कहा कि रेडक्राॅस सोसायटी ने पूरे विश्व में प्राकृतिक आपदाओं तथा युद्ध जैसी आपातकालीन परिस्थितियों में निस्वार्थ भावना से सेवा कर मानवता का अतुलनीय उदाहरण प्रस्तुत किया है। स्वास्थ्य सुविधाओं सहित अन्य प्रकार की मानव सेवा से संबंधित कार्यों के लिए रेडक्राॅस सोसायटी हमेशा से प्रतिबद्ध रही है। उल्लेखनीय है कि विगत कुछ वर्षो से जिले में रेडक्राॅस सोसायटी उत्कृष्ट कार्य कर रही है।

वर्तमान में जिले में 20 काउंसलर एवं सभी शासकीय एवं अशासकीय स्कूलों, महाविद्यालयों में लगभग 14 हजार रेडक्राॅस वालेंटियर्स पंजीकृत हैं,जो सदैव ही जिले के लिए सहयोग के लिए तत्पर रहते हैं। इसी तारतम्य में वर्ष 2020 में वैश्विक आपदा कोविड-19 के संक्रमण के दौरान जिला रेडक्राॅस सोसायटी एवं सभी वालेंटियर्स और कांउसलर द्वारा इस विषम परिस्थितियों में निस्वार्थ भाव से जनहित में अनेक कार्य एवं गतिविधियां संचालित की गईं। उक्त सम्मान के लिए कलेक्टर ने जिला रेडक्राॅस सोसायटी एवं सम्मानित हुए सभी वालेटियर्स को बधाई एवं शुभकामनाएं दी हैं। रेडक्राॅस के जिला संगठक डाॅ.शैलेन्द्र गुप्ता ने बताया कि जिले में जल्द ही कार्यसमिति एवं सभी काउंसलर्स की कार्यशाला आयोजित कर वर्ष भर की रूपरेखा एवं वार्षिक कार्ययोजना कलेक्टर के निर्देशानुसार तैयार की जाएगी।

20-12-2020
जिले के उपार्जन केंद्रों में अब तक 26 हजार 339 मेट्रिक टन धान का मिलिंग  

रायपुर/महासमुंद। खरीफ विपणन वर्ष 2020-21 के लिए समर्थन मूल्य पर धान उपार्जन का कार्य अपनी पूर्ण गति से चल रहा है। जिलें में वर्तमान में 138 उपार्जन केंद्रों के माध्यम से 60 हजार 303 किसानों से 1 लाख 96 हजार 202.32 मेट्रिक टन धान की खरीदी की जा चुकी है। जिले में 110 उपार्जन केंद्रो से 84 हजार 860 मेट्रिक टन धान का डीओ जारी किया जा चुका है। इसमें अभी तक जिले में 26 हजार 339.4 मेट्रिक टन धान की उठाव हो चुका है। बाकी धान का उठाव जारी है। इस वर्ष किसानों के माध्यम से बेची गई फसल का भुगतान सीधे पब्लिक फाइनेंसियल मैनेजमेंट सर्विस के माध्यम से किया जा रहा है। इसके अतिरिक्त तकनीकी कारणों से किसानों के रकबा में जो त्रुटि हुई थी, उसका सुधार भी ऑनलाइन माध्यम से किया जा रहा है। अधिकारियों ने बताया कि कोविड-19 के कारण जहां सामान्य जनजीवन प्रभावित हुआ है। सभी औद्योगिक कार्य बंद रहे हैं।

ऐसी स्थिति में भी जिले में धान सुचारू रूप से उपार्जन के लिए पर्याप्त मात्रा में बारदाना की व्यवस्था जिला प्रशासन के माध्यम से विभिन्न माध्यम से की गई है। अधिकारियों ने बताया कि जिले में पर्याप्त मात्रा में बारदाना उपलब्ध है। वहीं धान मिलर्स के माध्यम से भी उपार्जन केंद्रों में बारदाना की नियमित रूप से आपूर्ति की जा रही है। मिलर्स के माध्यम से प्रदाय किए जा रहे बारदानों को पहले सत्यापन किए जाने के बाद ही उपार्जन केंद्रों में भेजा रहा है। उपार्जन केंद्रों के माध्यम से उपार्जित धान का परिवहन का कार्य भी जिले में मिलर के माध्यम से प्रारंभ हो गया है। अगर पूरे प्रदेश की बात करें तो 17 दिसंबर तक 2876554.76 मेट्रिक टन धान की खरीदी हुई है, जिसमें 727639 मेट्रिक टन धान का डीओ जारी किया जा चुका है। 321677.36 मेट्रिक टन धान का अब तक उठाव हुआ है। महासमुंद जिला धान खरीदी के मामले में पूरे छत्तीसगढ़ में तीसरे पायदान पर है।

17-12-2020
24 घंटों में मिले 24010 नए कोरोना पाॅजिटिव, 33291 मरीज हुए रोग मुक्त

नई दिल्ली। देश में कोरोना संक्रमण का प्रकोप थमने का नाम नहीं ले रहा है। लेकिन सक्रिय मामलों में लगातार कमी आ रही हैं और स्वस्थ होने वालों की संख्या भी लगातार बढ़ रही है। पिछले 24 घंटों में कोविड-19 के 24,010 नए मामले सामने आए और 355 लोगों की मौत हुई। केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय की ओर से गुरुवार को जारी आंकड़ों के मुताबिक पिछले 24 घंटे में 24,010 नए मामले सामने आए जिससे संक्रमण का कुल आंकड़ा 99.56 लाख हो गया। इस दौरान 33,291 मरीजों के स्वस्थ होने से कोरोना को शिकस्त देने वालों की संख्या 94.89 लाख तथा रिकवरी दर बढ़कर 95.31 प्रतिशत हो गई है। सक्रिय मामले 9636 कम होकर 3.22 लाख पर आ गए हैं और इसकी दर 3.24 प्रतिशत रह गई। इसी अवधि में 355 मरीजों की मौत होने से मृतकों का आंकड़ा बढ़कर 1,44,451 हो गया है और मृत्यु दर अभी 1.45 फीसदी है।

15-12-2020
देश में कोरोना के नए मामलों में कमी आई कमी, अब तक 94 लाख मरीज हुए ठीक

नई दिल्ली। देश में कोरोना संक्रमण का प्रकोप थमने का नाम नहीं ले रहा है। लेकिन सक्रिय मामलों में लगातार कमी आ रही हैं। पिछले 24 घंटों में कोविड-19 के 22,065 नए मामले सामने आए और 354 लोगों की मौत हुई। केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय की ओर से जारी आंकड़ों के मुताबिक पिछले 24 घंटे में 22,065 नए मामले सामने आए जिससे संक्रमण के कुल मामले 99.06 लाख हो गए। इस दौरान 34,477 मरीजों के स्वस्थ होने से कोरोनामुक्त होने वालों की संख्या 94.22 लाख तथा रिकवरी दर बढ़कर 95.12 प्रतिशत हो गई है। सक्रिय मामले 12,766 कम होकर 3.39 लाख पर आ गए हैं और इसकी दर 3.43 प्रतिशत रह गई। इसी अवधि में 354 मरीजों की मौत होने से मृतकों का आंकड़ा बढ़कर 1,43,709 हो गया है और मृत्यु दर अभी 1.45 फीसदी है।

12-12-2020
सर्वेदल असाक्षरों के चिन्हांकन के लिए घर-घर देगा दस्तक,स्कूल शिक्षा मंत्री ने की अपील

रायपुर। पढ़ना लिखना अभियान के तहत प्रदेशव्यापी असाक्षरों के चिन्हांकन और सर्वे का कार्य 14 से 19 दिसंबर तक किया जाएगा। यह अभियान 116 विकासखंड और100 नगरीय निकाय के वार्डों में चलाया जाएगा। इसके साथ-साथ सर्वेदल कक्षा संचालन के लिए स्वयंसेवी शिक्षक का भी चिन्हांकन करेंगे। इस कार्य के लिए सर्वे टीम के सदस्य कोविड-19 के नियमों का पालन करते हुए घर-घर दस्तक देंगे। 15 वर्ष से अधिक असाक्षरों की खोज करेंगे। सर्वेदल पूरी तन्मयता के साथ मैचिंग-बैचिंग कार्य अर्थात कौन-किसको-कहां पढ़ायेगा को भी पूरा कर लिया जाएगा। ग्राम पंचायत एवं मोहल्ला-पारा में असाक्षरों के साथ-साथ उनके अभिभावक भी शिकरत करेंगे। असाक्षर को साक्षर करने में पढ़ना-लिखना और अंक ज्ञान को मापदण्ड निर्धारित किया गया है। प्रदेश के स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रेमसाय सिंह टेकाम ने असाक्षरों को खोजने के लिए 14-19 दिसंबर के सर्वे अभियान को सफल बनाने की शुभकामनाएं दी हैं। उन्होंने प्रदेशवासियों से अपील की है कि आपके क्षेत्रो में पहुंचे दल के सदस्यों का सहयोग करें।  असाक्षरों को ढूंढ़ने में वहां के निवासीगण मदद करें। मंत्री डॉ. टेकाम ने कहा कि प्रदेश का हर एक बुद्धिजीवी और शिक्षित वर्ग असाक्षर को शिक्षित कर सकता है, इस कार्य में सहयोग के लिए स्वयंसेवी शिक्षक को राज्य स्तर पर सम्मानित भी किया जाएगा।

10-12-2020
वर्चुअल मैराथन में पंजीयन के लिए अंतिम दिन आज, 46 हजार प्रतिभागियों ने अब तक कराया पंजीयन

रायपुर। प्रदेश में कांग्रेस शासन के 2 साल पूरे होने पर पहली बार आयोजित होने वाले वर्चुअल मैराथन दौड़ के लिए अब तक 46 हजार प्रतिभागियों का ऑनलाइन पंजीयन किया जा चूका है। वर्चुअल मैराथन में भाग लेने के लिए गुरुवार को आखिरी दिन है। वर्चुअल मैराथन का आयोजन 13 दिसम्बर को होगा। खेल एवं युवा कल्याण विभाग ने प्रदेशवासियों से कोविड-19 के नियमों का पालन करते हुए वर्चुअल मैराथन दौड़ के सफल आयोजन में सहभागी बनने की अपील की है। प्रतिभागी घर, उद्यान, मैदान, सड़क या अन्य किसी सुरक्षित स्थान पर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते दौडेंगे और दौड़ते हुए कुछ सेकेण्ड का वीडियो अथवा फोटो 13 दिसम्बर को सुबह 6 बजे से 11 बजे तक हैशटैग #runwithchhattisgarh के साथ फेसबुक व ट्वीटर पर अपलोड कर सकेंगे। राज्य के प्रत्येक जिले में प्रथम 300 से 500 तक पंजीयन करने वाले प्रतिभागियों को टीशर्ट प्रदान कर प्रोत्साहित किया जाएगा। राज्य के इच्छुक प्रतिभागी खेल एवं युवा कल्याण विभाग तथा जनसम्पर्क विभाग की वेबसाइट http://www.sportsyw.cg.gov.in एवं http://jansamprak.cg.gov.in और http://dprcg.gov.in में 10 दिसम्बर तक पंजीयन करा सकते हैं।

09-12-2020
देश में 32080 नए मरीज मिले, 402 की मौत

नई दिल्ली। देश में कोरोना संक्रमण का प्रकोप थमने का नाम नहीं ले रहा है। लेकिन सक्रिय मामलों में लगातार कमी आ रही हैं। पिछले 24 घंटों में कोविड-19 के 32,080 नए मामले सामने आए और 402 लोगों की मौत हुई। केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय की ओर से बुधवार को जारी आंकड़ों के मुताबिक पिछले 24 घंटे में 32,080 नए मामले सामने आए जिससे संक्रमण के कुल मामले 97.35 लाख हो गए। इस दौरान 36,635 मरीजों के स्वस्थ होने से कोरोना को शिकस्त देने वालों की संख्या 92.15 लाख हो गई है तथा सक्रिय मामले 4957 की कमी से 3.78 रह गए हैं। इसी अवधि में 402 मरीजों की मौत होने से मृतकों का आंकड़ा बढ़कर 1,41,360 हो गया है। देश में कोरोना मामलों की रिकवरी दर 94.66 और सक्रिय मामलों की दर 3.89 प्रतिशत हो गई है जबकि मृत्यु दर अभी 1.45 फीसदी है।

08-12-2020
देश में 26567 नए मामले आए, कुल संक्रमितों का आंकड़ा 97 लाख के पार

नई दिल्ली। देश में कोरोना संक्रमण का प्रकोप थमने का नाम नहीं ले रहा है। लेकिन सक्रिय मामलों में लगातार कमी आ रही हैं। पिछले 24 घंटों में कोविड-19 के 26,567 नए मामले सामने आए और 385 लोगों की मौत हुई। केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय की ओर से मंगलवार को जारी आंकड़ों के मुताबिक पिछले 24 घंटे में 26,567 नए मामले सामने आए जिससे संक्रमण के कुल मामले 97.03 लाख हो गये। इस दौरान 39,045 मरीजों के स्वस्थ होने से रिकवरी दर बढ़कर 94.69 प्रतिशत हो गई तथा सक्रिय मामलों में 12,863 की कमी से इसकी दर 3.96 प्रतिशत पर आ गई है। कोरोना को शिकस्त देने वालों की संख्या अब 91.78 लाख हो गई है वहीं सक्रिय मामले 3.83 लाख रह गए हैं। इसी अवधि में 385 मरीजों की मौत होने से मृतकों का आंकड़ा बढ़कर 1,40,958 हो गया है और मृत्यु दर अभी 1.45 फीसदी है।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804