GLIBS
24-05-2020
कोरोना की चपेट में डॉक्टर, एम्स के कोरोना ऑफिसर के बाद दूसरा मामला

रायपुर/बिलासपुर। एक डॉक्टर की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई है। सिम्स के जूनियर डॉक्टर के पद पर पदस्थ है। रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद अब डाक्टरों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। बता दें कि डॉक्टर की कोविड वार्ड में ड्यूटी लगी थी, जहां वे ओपीडी देख रहे थे। विगत दिनों डॉक्टर का ऐहतियातन सैंपल लिया गया था। उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। डॉक्टर बिलासपुर के मसानगंज एरिया के रहने वाले हैं, वो लगातार ड्यूटी में आ रहे थे। इससे पहले एम्स में एक नर्सिंग आफिसर कोरोना ग्रसित हुआ था। जो कुछ दिन पहले ही स्वस्थ्य होकर लौटे हैं।

23-05-2020
छत्तीसगढ़ में अब कोरोना के एक्टिव केस 152, दो और नए मरीजों की पहचान

रायपुर। छत्तीसगढ़ में अब कोरोना तेजी से पैर पसार रहा है। प्रतिदिन बड़ी संख्या में लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आ रही है। शनिवार देर शाम तक 42 नए केस की पहचान हुई थी। स्वास्थ्य विभाग ने स्पेशल बुलेटिन जारी कर 2 और नए केस की पुष्टि की है। इनमें बिलासपुर से 1 और गौरेला पेड्रा मरवाही से 1 पॉजिटिव मरीज की पहचान हुई है। इस तरह से अब तक एक दिन में टोटल केस की संख्या 44 और एक्टिव केस की संख्या 152 पहुंच चुकी है। शनिवार को अब तक जिन 44 नए कोरोना पॉजिटिव मरीजों की पहचान हुई हैं, इनमें जिला राजनांदगांव से 10, मुंगेली से 9, बिलासपुर से 9, कोरिया व रायगढ़ से 4-4, सरगुजा से 3,गौरेला पेंड्रा मरवाही से 3, बलौदाबाजार व जशपुर से 1-1 मरीज शामिल है। साथ ही शाम को बालोद जिले के 2 मरीज डिस्चार्ज हुए हैं।

23-05-2020
चूने की जगह मिट्टी खरीदने वालों पर कार्रवाई क्यों नही करता निगम प्रशासन : संजय श्रीवास्तव

 रायपुर। भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता एवं पूर्व सभापति नगर निगम संजय श्रीवास्तव ने राजधानी की सड़कों को सैनिटाइज करने के लिए खरीदे गए चूने के सैम्पल के जाँच में अमानक पाए जाने पर निगम महापौर एजाज ढेबर और निगम प्रशासन पर जमकर निशाना साधा है। श्रीवास्तव ने कहा कि कोरोना काल में भी कांग्रेस के लोग भ्रष्टाचार पर आमादा होकर लोगों के जीवन के साथ गंदा खिलवाड़ कर रहे हैं। श्रीवास्तव ने बताया की सैनिटाइजेशन के लिए आए चूने की इन बोरियों में अधिकांश में चूने की जगह मिट्टी भेज दी थी। जब आधे से ज्यादा छिड़काव हो चुका तब इन बोरियों की जाँच के बाद इस भ्रष्टाचार की भांडा फूटा। कोरोना के इस संकटकाल में भी राजधानी के नगर निगम में भ्रष्टाचार का यह खेल होना जनजीवन के साथ क्रूर खिलवाड़ है।

उन्होंने इस बात पर हैरत जताई कि अब तक इस खरीदी के लिए जिम्मेदार और चूना आपूर्ति करने वाली एजेंसी के खिलाफ कोई कारगर कार्रवाई नहीं की गई है,सिर्फ चूने की बोरियाँ ही लौटाकर निगम प्रशासन इस पूरे मामले की लीपापोती में जुटा हुआ है। श्रीवास्तव ने कटाक्ष कर पूछा कि दोषियों पर कार्रवाई न कर महापौर और निगम प्रशासन के लोग कौन-सी रिश्तेदारी निभा रहे हैं?श्रीवास्तव ने सवाल किया कि क्या यह सब महापौर की जानकारी में हुआ है? आखिर चूना भेजने वाली एजेंसी किसकी चहेती एजेंसी है, राजधानी की जनता को यह जानने का अधिकार है। एक तरफ महापौर स्वच्छता रैंक में जगह नहीं मिलने का मलाल जता रहे हैं जबकि दूसरी तरफ उनकी ही नाक के नीचे भ्रष्टाचार की यह गंदगी फैल रही है।

23-05-2020
इंदिरा गांधी कृषि विवि के कर्मचारियों ने मुख्यमंत्री सहायता कोष में दिया एक दिन का वेतन

 

रायपुर। कोरोना संकट काल में सभी वर्ग आगे बढ़ कर योगदान दे रहे हैं। इसी कड़ी में इंदिरा गांधी कृषि विवि रायपुर नोवेल कोरोना वायरस के कारण उत्पन्न संकट की घड़ी में जरूरतमंदों की सहायता करने के लिए विश्वविद्यालय के अंतर्गत संचालित समस्त शासकीय महाविद्यालयों, कृषि संकायों, कृषि विज्ञान केन्द्रों एवं समस्त कार्यालयों में कार्यरत अधिकारियों एवं कर्मचारियों ने मार्च और अप्रैल के वेतन में से स्वेच्छा से एक-एक दिन का वेतन मुख्यमंत्री सहायता कोष में 58 लाख 27 हजार 879 रुपए का सहयोग प्रदान किया।

23-05-2020
कोरोना ने भारत में तोड़े सारे रिकॉर्ड, पिछले 24 घंटे में 6654 नए मामले, 137 की मौत, कुल संक्रमित 125101

नई दिल्ली। पूरी दुनिया में कोरोना वायरस से हाहाकार मचा हुआ है। भारत भी कोविड-19 से बुरी तरह प्रभावित हुआ है। देश में जारी लॉक डाउन के बाद भी कोरोना वायरस संक्रमण तेजी से बढ़ रहा है। देश में कोरोना संक्रमित लोगों की संख्या 1 लाख 25 हजार को पार कर चुकी है। लॉक डाउन 4.0 के दौरान कई तरह की छूट दी गई है, लेकिन चिंता की बात यह है कि कोरोना संक्रमण के मामलों में और तेजी से वृद्धि देखी जा रही है। देश में बीते 24 घंटे में कोरोना वायरस के रिकॉर्ड 6,654 नए मामले सामने आए हैं।

 इसके साथ शनिवार को संक्रमण की कुल संख्या 1,25,101 पर पहुंच गई। इस अवधि में 137 मरीजों की मौत हुई और मृतकों की संख्या बढ़कर 3,720 हो गई। स्वास्थ्य मंत्रालय के बुलेटिन में यह जानकारी दी गई। मंत्रालय के बुलेटिन के मुताबिक फिलहाल देश भर में कुल 69,597 सक्रिय संक्रमितों का इलाज चल रहा है, 51,783 लोग स्वस्थ्य हो चुके हैं और एक मरीज देश से बाहर चला गया। जिन 137 लोगों की मौत हुई है उनमें से महाराष्ट्र में सबसे ज्यादा 63, गुजरात में 29, दिल्ली और उत्तर प्रदेश में 14-14, पश्चिम बंगाल में छह, तमिलनाडु में चार, राजस्थान, आंध्र प्रदेश और मध्यप्रदेश में दो-दो और हरियाणा में एक मरीज की मौत शामिल हैं।

22-05-2020
छत्तीसगढ़ में कोरोना का नया रिकार्ड,एक दिन में 40 पॉजिटिव केस,कोरोना की रफ्तार चौंकाने वाली नहीं डराने वाली

रायपुर। कोरोना ने आज राज्य में नया रिकॉर्ड रचा। एक ही दिन में 40 पॉजिटिव केस मिले है जो हैरान कर देने वाले है। कहां तो राज्य से कोरोना खत्म हो रहा था। कुल 4 केस अस्पताल में भर्ती थे और अब तो एक दिन में ही 40 केस मिल गए है। और अब पॉजिटिव केस का आंकड़ा सैकड़ा पार कर चुका है। 40 केस एक ही दिन में मिलना चौका देने वाला नहीं बल्कि डराने वाला है। जिस छत्तीसगढ़ में भूपेश बघेल सरकार ने शुरुआती दौर में कोरोना को नियंत्रित रखने में शानदार सफलता पाई थी। उसी राज्य में लॉक डाउन 4 में मिली छूट के बाद कोरोना बहुत तेजी से पैर पसार रहा है। कोरोना राज्य में बलौदाबाजार, बालोद, मुंगेली, राजिम, कांकेर जैसे ग्रीन जोन में भी पहुंचकर ताल ठोक रहा है। कांकेर जैसे आदिवासी क्षेत्र में भी कोरोना ने दस्तक दे दी है। अब दक्षिण बस्तर भर बस उसकी पहुंच से बाहर दिख रहा है। तमाम सरकारी सख्ती और एहतियाती प्रशासनिक उपायों के साथ जनता का खुद को घरों में कैद रखना भी अब बेकार होता नजर आ रहा है। छत्तीसगढ़ में भूपेश बघेल सरकार का पुराना मैनेजमेंट तारीफ के काबिल था  लेकिन लॉक डाउन के बाद सारे किए कराए पर पानी फिरता नजर आ रहा है। आज दोपहर तक 19 केस मिले थे जो रात ढलते ढलते 20 और बढ़कर 40 हो गए।  राज्य में आज कोरबा 12, बलौदाबाजार 6, कवर्धा 5, बालोद और कांकेर 4-4, गरियाबंद 3, राजनांदगांव 2 और जांजगीर-बिलासपुर- बेमेतरा और बलरामपुर में 1-1 मरीज मिले है।  इस तरह से राज्य में आज एक दिन में कुल 40 मरीज की पहचान हुई है। छत्तीसगढ़ में अब सक्रिय मरीजों की संख्या 110 पहुंच गई है।ये आंकड़े चौंकाने वाले नही डराने वाले है।

 

 

 

22-05-2020
कोरोना महामारी के संबंध में गलत बयानी कर विक्रम उसेंडी भय फैला रहे : कांग्रेस

रायपुर। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष विक्रम उसेंडी की ओर से राज्य सरकार पर कोरोना की जानकारियां छुपाने के आरोप पर कांग्रेस ने पलटवार किया है। प्रदेश कांग्रेस संचार विभाग के सदस्य सुशील आनंद शुक्ला ने कहा है कि भाजपाध्यक्ष का बयान आपत्तिजनक है। कोरोना जैसी महामारी के संबंध में लोगों की मौत की झूठी बयानबाजी कर विक्रम उसेंडी राज्य की जनता में भय पैदा कर रहे हैं। शुक्ला ने कहा कि ईश्वर का धन्यवाद है प्रदेश में कोरोना से एक भी मौत नहीं हुई है। शुक्ला ने कहा है कि क्वारेंटाइन सेंटरों में दीगर कारणों से हुई मौत को कोरोना से जोड़ कर गैर जिम्मेदाराना बयान के लिए भाजपा का राष्ट्रीय नेतृत्व प्रदेश भाजपा अध्यक्ष के खिलाफ कार्यवाही करें। किसी व्यक्ति की संदिग्ध मौत की जांच की प्रक्रिया को कोरोना से जोड़ कर बयान देने के पहले उसेंडी को मामले और प्रक्रिया की पूरी जानकारी लेनी चाहिए थी। कोरोना के संबंध में कोई भी अधिकृत जानकारी बिना केंद्रीय संस्था भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद(आईसीएमआर) के परीक्षण और सहमति के बाद ही सार्वजनिक की जाती है। कोरोना के संबंध में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय प्रतिदिन शाम को प्रेस कांफ्रेंस कर देश भर के हालात का विस्तृत ब्यौरा देता है। राज्य सरकार की ओर से कोरोना महामारी के संबंध में कोई भी जानकारी छुपाने का न तो कोई प्रश्न है और न ही कोई कारण।

 

22-05-2020
Breaking : प्रदेश मेें कोरोना का कहर जारी, 16 नए केस आए सामने

रायपुर। प्रदेश में कोरोना के 16 नए मामले सामने आए हैं। मिली जानकारी के अनुसार कोरबा में 12, बेमेतरा में 1 और कांकेर से 3 मरीज कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। इसके साथ ही मरीजों का आंकड़ा बढ़कर 89 पहुंच गया है। इसकी पुष्टि छत्तीसगढ़ स्वास्थ्य विभाग ने की है।

21-05-2020
416 की रिपोर्ट आना बाकी, कहीं धमतरी में न फूट जाए कोरोना बम

धमतरी। कोरोना से अब तक धमतरी भले ही महफूज है पर खतरा अभी टला नहीं है। सबकी नजर पिछले एक सप्ताह में लिए गए सैम्पल की जांच रिपोर्ट आने पर है लेकिन रायपुर एम्स में उन जिलों के सैम्पल की जांच प्राथमिकता के साथ कि जा रही जहां कोरोना पॉजिटिव मरीज मिले है, इसके चलते धमतरी की रिपोर्ट अटक गई। पिछले एक सप्ताह में 416 सैम्पल लिए गए, सभी की रिपोर्ट आना अभी बाकी है। जब थोक में एक साथ रिपोर्ट आएगी तो ऐसा अंदेशा व्यक्त किया जा रहा कि कहीं धमतरी में कोरोना बम न फूट जाए। फिर जिनकी रिपोर्ट आना बाकी है उनमें राजिम की कोरोना पॉजिटिव छात्रा के साथ बस में सफर करने वाले छात्र तथा दूसरे प्रदेशों से आए संदिग्ध लोग शामिल है। सर्विलांस अधिकारी डॉ.विजय फूलमाली ने बताया कि जिले में अब तक 887 लोगों की आरटीपीसीआर जांच की गई है,जिसमें 471 लोगों की रिपोर्ट आई, बाकी की रिपोर्ट का इंतजार किया जा रहा। प्रदेश के अन्य शहरों में लगातार कोरोना के मामले सामने आने के मद्देनजर स्वास्थ्य विभाग पूरी सतकर्ता बरत रहा है।

 

21-05-2020
31 मई को कोरोना के माहौल में 22000 घरों में होंगे गृहे-गृहे यज्ञ

रायपुर। अखिल विश्व गायत्री परिवार, शांतिकुंज हरिद्वार के मार्गदर्शन में रायपुर जिला में लगभग 22000 घरों में 31 मई को गृहे-गृहे यज्ञ होने जा रहा हैं। इसका उद्देश्य- वर्तमान एवं भावी संकटो का समाधान, वातावरण एवं पर्यावरण का परिशोधन, भारतीय संस्कृति व संस्कारों की घर- घर में स्थापना, देश के सीमाओं और स्वास्थ्य सेवाओं में लगे सेनानियों के मनोबल को मजबूत करने, विश्व कल्याण आदि को लेकर किये जा रहे हैं। 31 मई को विश्व के 100 से ज्यादा देशों में करोड़ों लोगों द्वारा लाखों घरों में यज्ञ होने जा रहे हैं।

गायत्री परिवार के जिला समन्वयक लच्छुराम निषाद ने बताया कि रायपुर जिले के अभनपुर, आरंग, तिल्दा, धरसींवा, महानगर रायपुर के कार्यकर्ता मोबाइल द्वारा घर-घर सम्पर्क करके यज्ञ करने के लिए प्रेरित कर रहे हैं। 31 मई को सभी अपने-अपने घरों में यज्ञ करेंगे। यज्ञ करने के लिए सरल पूजा की पुस्तक या मोबाईल पंडित को भेजा जा रहा हैं। यज्ञ में विशेष औषधि घी, कपूर, गिलोय, तुलसी, चंदन, देवदारु, नागरमोथा, आदि के साथ गायत्री मंत्र, महामृत्युंजय मंत्र, सूर्य मन्त्र, रुद्र मन्त्र, कृमि नाशक मन्त्र, कृमि सुरक्षा मन्त्र आदि से आहुतियां प्रदान किए जाएंगे।

20-05-2020
लॉक डाउन 4 के साथ ही रिओपन हो गया कोरोना का अकाउंट, कहां तो कोरोना फ्री हो रहे थे और अब डर लगने लगा है

रायपुर। आज दिन भर में इन पंक्तियों के लिखे जाने तक कोरोना के 14 नए पॉजिटिव केस मिल चुके है। इसी के साथ ही कोरोना के कुल केस की संख्या 56 पहुंच गई है। 14 मई को महज 4 एक्टिव केस थे कोरोना के और सिर्फ एक सप्ताह में आज वो संख्या बढ़कर 56 हो गई है। कहां तो छत्तीसगढ़ कोरोना मुक्त होने वाला था और अब कोरोना की संख्या बढ़ते देख डर लगने लगा है। लॉक डाउन 4 के शुरू होने के बाद जिस तेजी से कोरोना ने पैर पसारे हैं वैसी तेजी कोरोना ने शुरुआती दिनों में भी नहीं दिखाई थी। फिर कोरोना के नए-नए सेंटर सामने आ रहे हैं। राजिम बालोद बलौदाबाजार बिलासपुर मुंगेली रायगढ़ में कोरोना की दस्तक हैरान कर देने वाली है। कोरोना की अचानक तेज हुई रफ्तार चौंकाने वाली नहीं है। यह सभी को पता है कि लॉक डाउन 4  के बाद से मजदूरों का भी छत्तीसगढ़ वापस आना तेज हुआ है और उसके साथ ही दिल्ली और महाराष्ट्र से आने वाले मजदूरों के साथ चिपक कर कोरोना भी छत्तीसगढ़ में फैल रहा है। इसमें मजदूरों का कोई दोष नहीं है। कहीं ना कहीं जांच में चूक हुई है। प्रशासनिक लापरवाही शुरू से ही सामने आई है। मजदूरों का रेला का रेला चला आता रहा लेकिन उस पर रोक लगाने की बजाए उसे अनदेखा किया जाता रहा अब वही समस्या विकराल रूप लेती जा रही है। शुरुआत से ही दूसरे प्रदेशों से खासकर दिल्ली और महाराष्ट्र से आ रहे मजदूरों की ढंग से जांच होती तो स्थिति कुछ और हो सकती थी। लेकिन उस समय अपनी बला टालने के लिए हर जिले वाला मजदूर को अपने जिले की सीमा पार कर दूसरे जिले की और धकेल देता था। मजदूर तो जिम्मेदारी से बचने के लिए की गई हुई इस लापरवाही का फायदा उठाकर अपनी मंजिल तक पहुंचता रहा लेकिन उनके साथ ही जाने अनजाने कोरोना संक्रमित भी वहां तक पहुंच गए। और अब उसके दुष्परिणाम सामने आ रहे हैं जो चौंकाने वाले नहीं डराने वाले हैं।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804