GLIBS
01-07-2020
एलओसी के पास घुसपैठ की कोशिश, सेना के जवानों ने किया एक आतंकवादी को ढेर

जम्मू। जम्मू-कश्मीर में राजौरी जिले के केरी सेक्टर में नियंत्रण रेखा के पास सेना के जवानों ने बुधवार को पाकिस्तान की ओर से घुसपैठ की कोशिश को नाकाम करते हुए एक आतंकवादी को ढेर कर दिया।रक्षा प्रवक्ता ने यहां बताया कि बुधवार को आतंकवादियों के एक समूह ने नियंत्रण रेखा पार कर भारतीय क्षेत्र में घुसते हुए गोलीबारी की। आतंकवादियों को नियंत्रण रेखा पार करते हुए देख भारतीय सेना के सतर्क जवानों ने घुसपैठ को नाकाम करते हुए एक आतंकवादी को मार गिराया।उन्होंने कहा कि मौके से एक एके-47 और दो मैगजीन बरामद की गई है तथा इलाके में तलाश अभियान जारी है।

 

30-06-2020
ताज होटल को मिली बम से उड़ाने की धमकी,मुंबई पुलिस ने बढ़ाई इलाके की सुरक्षा

मुंबई। देश की आर्थिक राजधानी मुंबई के प्रसिद्ध ताज होटल को बम से उड़ाने की धमकी दी गई है। पाकिस्तान से आए धमकी भरे कॉल के बाद होटल और उसके आसपास की सुरक्षा और कड़ी कर दी गई है। मुंबई पुलिस ने एक बयान में बताया कि कल (29 जून) को पाकिस्तान के कराची से एक फोन आया और ताज होटल को बम से उड़ाने की धमकी दी। धमकी मिलने के बाद ताज होटल और इसके आस-पास के इलाकों में सुरक्षा बढ़ा दी गई है। कुछ रिपोर्ट्स में बताया गया है कि सोमवार को आधी रात को पाकिस्तान से आए फोन ने 5-सितारा होटल पर आतंकी हमले की धमकी दी है। कथित तौर पर यह कॉल पाकिस्तानी नंबर से किया गया था। मुंबई पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है और कॉल डिटेल खंगाला जा रहा है। पुलिस ने होटल और आसपास के प्रसिद्ध होटलों के साथ-साथ अन्य महत्वपूर्ण प्रतिष्ठानों की भी सुरक्षा बढ़ा दी है। जबकि धमकी की कॉल को देखते हुए तटीय गश्त और निगरानी भी चौकन्नी कर दी गई है। बता दें कि वर्ष 2008 में मुंबई के ताज होटल में हुए भीषण आतंकी हमले में 166 से अधिक लोग मारे गए थे, जबकि करीब 300 लोग जख्मी हुए थे। तक़रीबन 60 घंटे तक चले इस नृशंस आतंकी हमले में 28 विदेशी नागरिक भी मारे गए थे। 

 

 

29-06-2020
'पाकिस्तान स्टॉक एक्सचेंज' पर आतंकी हमला, चार हमलावर ढेर

नई दिल्ली। पाकिस्तान के कराची शहर में स्थित 'पाकिस्तान स्टॉक एक्सचेंज' पर आतंकवादी हमला हुआ है। इस हमले में दो लोगों की मौत हुई है। वहीं, इस हमले में शामिल आतंकवादियों को मुठभेड़ में मार गिराया गया है। बताया गया है कि इस हमले को चार आतंकवादियों ने अंजाम दिया है। वहीं, हमले के बाद इमारत में फंसे हुए लोगों को बाहर निकाला जा रहा है। मिली जानकारी के अनुसार इस हमले में दो लोग घायल भी हुए हैं, जिनमें एक सुरक्षा गार्ड शामिल है। पुलिस ने कहा है कि इमारत के प्रवेश द्वार पर दो लोग आए और उन्होंने अंदर प्रवेश करने की कोशिश की। हालांकि, सुरक्षा कर्मियों ने उन्हें ऐसा करने से रोक दिया, जिसके बाद उन्होंने सुरक्षा कर्मियों पर हैंड ग्रेनेड फेंक दिया। 

हमले के तुरंत बाद, पुलिस घटनास्थल पर पहुंची और पूरे इलाके की घेराबंदी कर दी। सुरक्षाकर्मी इमारत को खाली करवा रहे हैं। बम निरोधक दस्ता भी घटनास्थल पर पहुंच गया है। बताया गया है कि कुछ लोग अभी भी इमारत में फंसे हुए हैं, जिन तक अभी सुरक्षाकर्मी पहुंच नहीं पाए हैं। वहीं, कुछ लोगों ने अपने दफ्तरों में खुद को बंद कर लिया है। अधिकारियों ने बताया है कि घायल लोगों को अस्पताल में भर्ती करवा दिया गया है। सिटी एसएसपी का कहना है कि इस हमले को चार आतंकवादियों ने अंजाम दिया है और उन्हें मुठभेड़ में ढेर कर दिया गया है

25-06-2020
राम माधव का कांग्रेस पर निशाना, कहा-चीन, पाकिस्तान को किया भूदान

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी के महासचिव राम माधव ने कांग्रेस पर आरोप लगाया है कि उसके शासन काल में 'विपरीत भूदान आंदोलन चलता रहा और चीन एवं पाकिस्तान को देश की ज़मीन दी जाती रही। उन्होंने कहा कि अब केन्द्र में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की सरकार किसी को भी देश की इंच भर ज़मीन हड़पने नहीं देगी। माधव ने पांचजन्य एवं ऑर्गनाइजऱ द्वारा भारत चीन संबंधों पर आयोजित एक वेबिनार में यह बात कही। माधव ने कहा कि भाजपा एकमात्र पार्टी है जिसने एक विचारधारा का अनुसरण किया और देश की अखंडता के लिए बलिदान दिया। उन्होंने कहा कि डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने खंडित भारत की अखंडता के लिए पहला बलिदान दिया था। पार्टी में रणनीतिक महत्व के मुद्दों को देखने वाले भाजपा महासचिव ने कहा कि कांग्रेस के शासनकाल में देश में एक विपरीत भूदान आंदोलन चला। देश की ज़मीन चीन और पाकिस्तान को दे दो। इसी सदी में सियाचिन को भी पाकिस्तान को देने की कोशिश की गयी। वर्ष 2013 में लद्दाख चुमार क्षेत्र में भारत को बेहद अपमानजनक स्थिति का सामना करना पड़ा। भारत का कद एवं स्थिति दयनीय बना दी गयी थी लेकिन आज हम विश्व की अग्रणी पांच अर्थव्यवस्थाओं में से एक हैं। अगले दस साल में हम चीन को पीछे छोड़ देंगे इसलिए हमें उस हैसियत के साथ बर्ताव करना होगा।


माधव ने कहा कि हम कोई युद्ध छेडऩे नहीं जा रहे हैं और न ही युद्धोन्माद पैदा करने का प्रयास कर रहे हैं। हम शांतिपूर्ण ढंग से बातचीत के माध्यम से शांति चाहते हैं लेकिन यह भी सत्य है कि हम श्मशान की शांति नहीं चाहते हैं। उन्होंने कहा कि भारत की प्राथमिकता दो स्तरीय पहल की है। एक, हम कूटनीतिक एवं सैन्य वार्ताएं करके शांतिपूर्ण समाधान निकालने का प्रयास करेंगे और दूसरा सीमा पर हमारी ज़मीन के लिए हम सक्रियता से अपना दावा करते रहेंगे। हमारा प्रयास होगा कि आखिरी इंच जमीन की रक्षा हो। उन्होंने कहा कि भारतीय सीमा पर बीते कुछ दशकों में चीनी गतिविधियों से स्पष्ट है कि चीन की सेना और नेतृत्व अपने विचारक सुन त्जू के सिद्धांत पर चल रहा है कि युद्ध छेड़े बिना भूमि पर अधिकार करते चलो। उन्होंने कहा कि चीन इसीलिए जानबूझ कर वास्तविक नियंत्रण रेखा के स्पष्ट रेखांकन की बात से सदा ही मुकरता आया है। हर पांच साल में सीमा संबंधी एक समझौता अपने कुटिल इरादों को छिपाने के लिए करता आया है। इससे पहले राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के अखिल भारतीय सह संपर्क प्रमुख रामलाल ने कहा कि लद्दाख में सैन्य टकराव भारत एवं चीन की जनता के बीच टकराव नहीं है। यह दरअसल विचारधाराओं का टकराव है। विस्तारवाद एवं अधिनायकवाद पर चलने वाले चीन के गुण उसका झूठ, छल कपट एवं धोखेबाजी है। उन्होंने कहा कि नेतृत्व, सेना एवं समाज, तीनों की एकजुटता एवं सामन्जस्य अच्छा है। समाज जागरूक है और किसी के बहकावे में नहीं आ सकता है।

23-06-2020
भारत करेगा पाकिस्तान उच्चायोग के कर्मचारियों की संख्या आधी 

नई दिल्ली। भारत ने  पाकिस्तान को मंगलवार को करारा झटका दिया है। आतंकी और जासूसी गतिविधियों को लेकर भारत अब नई दिल्ली स्थित पाकिस्तान उच्चायोग के कर्मचारियों की संख्या घटाकर आधी कर देगा। यह जानकारी विदेश मंत्रालय के बयान में कही है। जारी बयान में कहा गया है कि भारत ने पाकिस्तान के उप उच्चायुक्त को तलब कर दिल्ली स्थित उच्चायोग के अधिकारियों की गतिविधियों को लेकर अपनी चिंता जाहिर की है।
 एमईए के अनुसार “भारत ने पाकिस्तान के उपउच्चायुक्त से कहा कि पाक उच्चायोग के अधिकारी जासूसी में लिप्त हैं और आतंकी संगठनों से संबंध रखे हैं। इंडिया ने पाकिस्तान से नई दिल्ली स्थित अपने उच्चायोग से कर्मचारियों की संख्या 50 फीसदी तक कम करने को कहा है। विदेश मंत्रालय के मुताबिक, भारत इसी तरह इस्लामाबाद (पाकिस्तान) स्थित भारतीय उच्चायोग में अपने कर्मचारियों की संख्या में कमी लाएगा। यह फैसला सात दिनों के भीतर प्रभाव में आएगा और इस बारे में पाकिस्तान को सूचित कर दिया गया है। विदेश मंत्रालय के अनुसार, पाकिस्तान इस्लामाबाद में भारतीय उच्चायोग के अधिकारियों को डराने का लगातार अभियान चला रहा है। विदेश मंत्रालय ने एक बयान में इस्लामाबाद में हाल ही में दो भारतीय अधिकारियों का अपहरण होने और उनके साथ किये गये ‘‘बर्बर बर्ताव’’ का भी जिक्र किया गया है। मंत्रालय ने कहा, ‘‘पाकिस्तान और इसके अधिकारियों का बर्ताव वियना संधि तथा राजनयिक अधिकारियों एवं दूतावास अधिकारियों के साथ व्यवहार के बारे में द्विपक्षीय समझौतों के अनुरूप नहीं है। मंत्रालय ने कहा कि इसलिए भारत ने नई दिल्ली स्थित पाकिस्तानी उच्चायोग में कर्मचारियों की संख्या 50 प्रतिशत घटाने का फैसला लिया है। मंत्रालय ने कहा, ‘यह (भारत) भी इसके बदले में इस्लामाबाद में इसी अनुपात में अपनी मौजूदगी घटाएगा। इस फैसले से, जो सात दिनों में क्रियान्वित किया जाएगा, पाकिस्तान के उप उच्चायुक्त को अवगत करा दिया गया है।’

22-06-2020
एलओसी पर पाकिस्तान की अंधाधुंध फायरिंग में भारतीय सेना का एक जवान शहीद

श्रीनगर। कोरोना काल में भी पाकिस्तान अपनी नापाक हरकतों से बाज नहीं आ रहा है। एक बार जम्मू-कश्मीर में पाकिस्तान ने सीजफायर का उल्लंघन किया। दरअसल एलओसी के निकट पाकिस्तान ने अंधाधुंध फायरिंग की। इस फायरिंग में सेना का एक जवान शहीद हो गया। जम्मू-कश्मीर की कृष्णा घाटी और नौशेरा में पाकिस्तान ने सुबह करीब 3.30 बजे संघर्ष विराम का उल्लंघन किया। इसके बाद पाकिस्तान ने फिर सुबह करीब 5.30 बजे नौशेरा सेक्टर में संघर्ष विराम का उल्लंघन किया। भारतीय सेना ने भी पाकिस्तान को मुंहतोड़ जवाब दिया है। इस फायरिंग में भारतीय सेना के हवलदार दीपक कार्की शहीद हो गए हैं। एलओसी पर 5 जून के बाद से अब तक चार जवान शहीद हो गए हैं।

पाकिस्तान ने पुंछ और राजौरी जिले के कई सेक्टरों में आज संघर्ष विराम का उल्लंघन किया है। डिफेंस प्रवक्ता ने कहा कि पाकिस्तान ने एलओसी से लगे कृष्णा घाटी सेक्टर में मोर्टार और छोटे हथियारों से गोलाबारी कर संघर्ष विराम का उल्लंघन किया। जिसका भारतीय सेना ने भी जवाब दिया है। इससे पहले हवलदार पी माथियाजगन 4 जून को राजौरी में पाकिस्तानी फायरिंग में शहीद हो गए थे। इस तरह की फायरिंग में 10 जून को तारकुंदी सेक्टर में नायक गुरचरण सिंह शहीद हुए थे। वहीं 14 जून को 29 वर्षयी सिपाही लुंगाबू अबोनमी भी पुंछ जिले में पाकिस्तान की फायरिंग में शहीद हो गए थे। जानकारी के मुताबिक पाकिस्तान ने शनिवार को उड़ी सेक्टर में भी एलओसी के पास फायरिंग की थी, जिसमें पांच नागरिक घायल हो गए। इसके बाद फिर राजौरी सेक्टर में संघर्ष विराम उल्लंघन किया। पाकिस्तान ने राजौरी जिले के नौशेरा में शनिवार की शाम करीब 6.45 बजे भी संघर्ष विराम का उल्लंघन किया था। इस साल पाकिस्तानी सेना ने अब तक करीब 1400 से अधिक बार सीजफायर का उल्लंघन किया है। पिछले साल पाकिस्तान ने 3168 बार और 2 भारत चीन सीमा पर जारी संघर्ष के बीच जम्मू-कश्मीर में एलओसी के निकट पाकिस्तान ने अंधाधुंध फायरिंग की018 में 1629 बार संघर्ष विराम का उल्लंघन किया था।

20-06-2020
पाकिस्तानी ने किया संघर्षविराम का उल्लंघन, उड़ी में की गोलाबारी, 4 नागरिक घायल

नई दिल्ली। उड़ी में नांबला सेक्टर में पाकिस्तानी सेना ने संघर्षविराम का उल्लंघन किया है। एलओसी पार से की जा रही गोलाबारी में 4 नागरिक घायल हो गए हैं। घायलों को उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पाकिस्तानी सैनिक नियंत्रण रेखा से सटे नांबला गांव पर गोले बरसा रहे हैं। घायलों की पहचान अहमद शेख उम्र 60 वर्ष, मकबूल मंग्राल उम्र 20 वर्ष के रूप में हुई है। दो अन्य भी घायल हुई है, जिनकी पहचान अभी नहीं हो पाई है। वहीं भारतीय सेना पाकिस्तान की इस नापाक हरकत का जवाब दे रही है। पाकिस्तान ने सीमांत जिले कुपवाड़ा के करनाह सेक्टर में मोर्टार से अग्रिम चौकियों को निशाना बनाया। इसके साथ ही टंगधार सेक्टर में भी कई चौकियों पर गोले दागे। गांवों में भी गोलाबारी की। इससे ग्रामीण दहशत में आ गए। सैन्य सूत्रों ने बताया कि सेना की जवाबी कार्रवाई में पीओके में पाकिस्तानी सेना को नुकसान होने की सूचना है। इससे पहले पाकिस्तान ने शुक्रवार को भी एलओसी पर भारी गोलाबारी की थी। कश्मीर में टंगधार व करनाह सेक्टर और राजोरी में नौशेरा सेक्टर में अग्रिम चौकियों के साथ ही रिहायशी इलाके को निशाना बनाकर गोले दागे थे। जिसका सेना ने भी मुंहतोड़ जवाब दिया था।

 

20-06-2020
बीएसएफ के जवानों ने मार गिराया पाकिस्तानी ड्रोन, भारतीय सीमा में घुसकर कर रहा था जासूसी

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर के कठुआ में स्थित पनसार में सीमा सुरक्षा बल के जवानों ने पाकिस्तानी जासूसी ड्रोन को गोली मारकर गिरा दिया है। अधिकारियों ने बताया कि बीएसएफ के एक गश्ती दल ने सुबह करीब 5 बजकर 10 मिनट पर सीमा चौकी पंसार के क्षेत्र में आसमान में एक ड्रोन को मंडराते देखा। फिर बीएसएफ जवानों ने 9 गोलियां चलाकर ड्रोन को भारतीय क्षेत्र में 250 मीटर अंदर की ओर मार गिराया। वहीं ड्रोन को गिराए जाने के बाद जब इसकी जांच की गई तो इसमें से कुछ हथियार भी बरामद हुए हैं। पाकिस्तान अपनी घिनौनी साजिशें चलने से बाज नहीं आ रहा है। उसने ये ड्रोन भारतीय सीमा में रेकी करने के मकसद से भेजा था। ऐसा माना जा रहा है कि ये ड्रोन पाकिस्तान ने बीएसएफ की तैनाती पर नजर रखने के लिए भेजा, ताकि आतंकियों की घुसपैठ हो सके।

15-06-2020
पाकिस्तान में भारतीय उच्चायोग में काम करने वाले 2 अधिकारी लापता

इस्लामाबाद। भारत और पाक में बढ़ते तनाव के बीच पाकिस्तान के इस्लामाबाद से एक बड़ी खबर आ रही है। यहां स्थित भारतीय उच्चायोग में काम करने वाले दो कर्मचारी सोमवार को लापता हो गए हैं। सूत्रों ने बताया कि ये दोनों साआईएसएफ जवान या फिर ड्राइवर है। उनसे संपर्क नहीं हो पा रहा है। ऐसी रिपोर्ट है कि पिछले करीब दो घंटे से ज्यादा वक्त से उन दोनों ही कर्मचारियों के साथ संपर्क नहीं किया जा सका है। आशंका जताई जा रही है कि उनका अपहरण किया गया हो सकता है। कुछ दिन पहले ही पाकिस्तान में राजनयिकों को परेशान करने का मामला भारत ने सख्ती के साथ उठाया गया था। एक वीडियो सामने आया था,जिसमें यह देखा जा रहा था कि पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई के एजेंट भारतीय राजनयिक गौरव अहलूवालिया की गाड़ी का बाइक से पीछा कर रहे थे जबकि कुछ लोग उनके आधिकारिक आवास के बाहर गाड़ियों में थे। इसके बाद इस्लामाबाद में भारतीय दूतावास के अधिकारियों के उत्पीड़न की शिकायतों पर भारत ने सख्त रवैया अपनाते हुए पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय को नोटिस जारी कर चेताया था और उनसे राजनयिकों को पर्याप्त सुरक्षा सुनिश्चित करने को कहा था।


इससे पहले, नई दिल्ली स्थित पाकिस्तान उच्चायोग के 2 अधिकारियों को रंगे हाथ जासूसी के आरोप में दिल्ली पुलिस ने पकड़ा था। इसके बाद भारत ने “निषिद्ध व्यक्ति” घोषित करते हुए उन्हें 24 घंटे के भीतर उन्हें देश छोड़ने का आदेश दिया था। पकड़े गए दोनों व्यक्तियों की पहचान आबिद हुसैन और मोहम्मद ताहिर के तौर पर हुई थी। दोनों को दिल्ली पुलिस ने उस वक्त गिरफ्तार किया जब वे रुपयों के बदले एक भारतीय नागरिक से भारतीय सुरक्षा प्रतिष्ठानों से संबंधित संवेदनशील दस्तावेज हासिल कर रहे थे। इसके बाद विदेश मंत्रालय ने एक बयान में कहा था, एक कूटनीतिक मिशन के सदस्य के तौर पर अपने दर्जे से परस्पर विरोधी गतिविधियों में शामिल होने के आरोप में सरकार ने दोनों अधिकारियों को निषिद्ध घोषित किया है और उनसे 24 घंटे के अंदर देश छोड़कर वापस जाने को कहा।” हालांकि, पाकिस्तान ने इसके ऊपर आपत्ति जाहिर की थी। उसके बाद भारतीय राजनयिक गौरव अहलूवालिया इस्लामाबाद में परेशान करने का मामले सामने आया था। 

14-06-2020
पाकिस्तान ने किया सीजफायर उल्लंघन, गोलीबारी में एक जवान शहीद, 2 घायल

नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर के पुंछ में पाकिस्तान की ओर से की जा रही गोलीबारी की चपेट में आकर भारतीय सेना का एक जवान शहीद हो गया है। गोलीबारी में दो अन्य जवान घायल हो गए। पुंछ के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक रमेश कुमार अनगरल ने कहा कि 29 वर्षीय लुंगबुई अबोनमली गोलीबारी में शहीद हो गए। इसके अलावा दो अन्य घायल हुए हैं। उन्होंने बताया कि घायल हुए जवानों को एयरलिफ्ट करके उद्धमपुर के कमांड अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां पर दोनों का इलाज जारी है। पाकिस्तान लगातार सीजफायर का उल्लंघन कर घुसपैठ करने की कोशिश में जुटा है। पाक ने शनिवार को भी गोलियों और मोर्टार से भारतीय ठिकानों को निशाना बनाने की कोशिश की, लेकिन भारत की ओर से पाकिस्तान को इसका भरपूर जवाब मिला। हालांकि गोलीबारी की चपेट में आकर एक सैनिक शहीद हो गया।

 

11-06-2020
आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा के तीन मददगार गिरफ्तार, 21 किलो हेरोइन, 1.75 करोड़ रुपए जब्त

नई दिल्ली। पुलिस ने पाकिस्तान प्रायोजित नार्काे-टेरर माड्यूल का भंडाफोड़ किया है। इस दौरान लश्कर-ए-तैयबा के तीन मददगारों को गिरफ्तार किया गया है। पकड़े गए आतंकियों के मददगार पाकिस्तान में बैठे अपने आकाओं के संपर्क में थे। इनके पास से 21 किलो हेरोइन, 1.75 करोड़ रुपये की भारतीय मुद्रा बरामद हुई है।एसपी हंदवाड़ा डॉ.जीवी सुदीप चक्रवर्ती ने बताया कि यह पाकिस्तान प्रायोजित नार्काे-टेरर माड्यूल था,जिसका आज पर्दाफाश हुआ है। पकड़े गए लश्कर आतंकियों के मददगारों से पूछताछ की जा रही है। कई अहम खुलासे होने की संभावना है।पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार गुरुवार को हंदवाड़ा पुलिस को उत्तरी कश्मीर में सक्रिय बहुत बड़े पाकिस्तान प्रायोजित नार्काे-टेरर मॉड्यूल के बारे में जानकारी मिली। सूचना के आधार पर पुलिस ने टीम गठित की। एसएसपी हंदवाड़ा जीवी संदीप चक्रवर्ती ने बताया कि सूचना के आधार पर मारे गए छापे के दौरान उनकी टीम ने लश्कर-ए-तैयबा के तीन आतंकी साथियों को गिरफ्तार किया और उनके कब्जे से 21 किलोग्राम हेरोइन और 1.75 करोड़ रुपये मूल्य की भारतीय मुद्रा भी जब्त की गई।

एसपी हंदवाड़ा ने कहा कि तीनों की पहचान कर ली गई है। मुख्य आरोपी इफ्तिखार इंद्राबी है,जो एक कुख्यात ड्रग तस्कर है। उसके खिलाफ कई एफआईआर दर्ज हैं। दूसरा आदमी उसका दामाद मोमिन पीर और तीसरा इकबाल उल है। इस माड्यूल में और गिरफ्तारियां होने जा रही हैं।उन्होंने आगे बताया कि गिरफ्तार किए गए लोग पाकिस्तानी हैंडलर के संपर्क में थे। ये जम्मू कश्मीर में लश्कर-ए-तैयबा के आतंकवादियों की आर्थिक मदद के लिए ड्रग के धंधे में शामिल थे। इनकी पहचान हो गई है। इससे आने वाले पैसों का इस्तेमाल ये जम्मू-कश्मीर में आतंकवादी गतिविधियों के लिए करते थे।

 

11-06-2020
पाकिस्तान की नापाक हरकतें जारी, सीमा पर कर रहा गोलीबारी, जवान शहीद

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर में आतंकियों के सफाए से बौखलाया पाकिस्तान सीमा पर गोलाबारी कर रहा है। पाक आए दिन संघर्षविराम का उल्लंघन कर आतंकियों को घुसपैठ कराने की नापाक कोशिशें कर रहा है। इसी क्रम में राजौरी जिले में लाइन ऑफ कंट्रोल (एलओसी) पर पाकिस्तान की ओर से भारी गोलाबारी में सेना का एक जवान शहीद हो गया है। पाकिस्तानी सेना ने मंजाकोट सेक्टर में गोलाबारी की है। इस गोलाबारी की चपेट में आने से एक जवान शहीद हो गया है। वहीं एक अन्य जवान और स्थानीय नागरिक घायल हुआ है।

पाकिस्तान की इस नापाक हरकत का भारतीय सेना माकूल जवाब दे रही है। उधर, जवान के पार्थिव शरीर को मेडिकल और कानूनी औपचारिकताओं के लिए राजोरी के सिविल अस्पताल में भेजा गया है। एक अधिकारी ने बताया कि जम्मू-कश्मीर के राजोरी जिले में पाकिस्तानी गोलीबारी में गुरुवार को सेना का एक जवान शहीद हो गया। इसके साथ ही एक अन्य जवान और नागरिक घायल हुआ है। जिन्हें उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है। आधिकारी ने बताया कि कल रात लगभग 10 बजे, पाकिस्तान की सेना ने राजोरी के तरकुंडी इलाके और मंजाकोट में भी गोलीबारी की थी जिसका भारतीय सेना ने माकूल जबाव दिया था।

आतंकियों के सफाए में जुटी सेना :

जम्मू-कश्मीर में सेना आतंकियों के सफाए में जुटी हुई है। पिछले पांच दिनों में सुरक्षा बलों ने आतंकवाद के गढ़ रहे शोपियां जिले में 14 आतंकवादियों को मार गिराया है। कल भी 5 आतंकवादी मारे गए हैं।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804