GLIBS
10-08-2020
चार बालिकाओं को बोर्ड परीक्षा में उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए प्रशस्ति पत्र देकर किया गया सम्मानित

रायपुर/बेमेतरा। जिला पंचायत सीईओ रीता यादव और अपर कलेक्टर संजय कुमार दीवान ने विश्व आदिवासी दिवस पर जिला पंचायत परिसर मे बोर्ड परीक्षा में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाली अनुसुचित जनजाति की चार बालिकाओं को प्रशस्ति पत्र प्रदान कर सम्मानित किया। उन्हें उज्जवल भविष्य की शुभकामनाएं दी। सम्मानित होने वाली छात्राओं में कक्षा 10वीं की कु. पुष्पा शासकीय हाईस्कूल निनवा एवं कु. डाली रानी शा.उ.मा.वि. देवरबीजा, कु. दामिनी नेताम कक्षा 12वीं एकेडमिक वर्ड उच्चतर माध्यमिक विद्याालय बेमेतरा और कुमार प्रीति पैकरा एलंस पब्लिक स्कूल बेमेतरा शामिल है। इस दौरान आदिमजाति एवं अनुसुचित जाति विकास विभाग की सहायक आयुक्त मेनका चन्द्राकर भी उपस्थित थी।

03-08-2020
लॉक डाउन के बाद सिक्ख समाज प्रतिभावान विद्यार्थियों का करेगा सम्मान

रायपुर। सिक्ख समाज छत्तीसगढ़ लॉक डाउन समाप्ति के बाद राज्य में निवासरत सिक्ख समाज के प्रतिभावान छात्र-छात्राओं का सम्मान करेगा। वे सभी विद्यार्थी, जिन्होंने सत्र 2019-20 में कक्षा 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षाओं में 85 प्रतिशत से अधिक अंक अर्जित किए हैं। सिक्ख समाज छत्तीसगढ़ के संयोजक द्वय सुरेद्र सिंह छाबड़ा और महेंद्र सिंह छाबड़ा ने कहा कि, कोरोना महामारी के कारण फिजिकल डिस्टेंशिंग को ध्यान रखते हुए पदाधिकारी स्वयं प्रतिभावान विद्यार्थियों के के निवास जाकर सम्मानित करेंगे। अपील की गई है कि, मार्कशीट और विद्यार्थी की फोटो, पालकों का मोबाइल नम्बर व निवास का पता 5 अगस्त तक 98261 69000 और 98271 93700 पर वाट्सएप करें।

04-07-2020
मध्यप्रदेश: 10वीं बोर्ड परीक्षा में 15 छात्रों को मिले 300 में से पूरे 300 अंक

भोपाल। माध्यमिक शिक्षा मंडल मध्यप्रदेश ने दसवीं कक्षा के परिणाम जारी किए। प्रदेश में इस बार दसवीं में 62.84 फीसदी छात्र पास हुए हैं। बोर्ड परीक्षा में छात्राओं ने बाजी मारी। कुल 60.59 फीसदी छात्र पास हुए, जबकि छात्राओं के पास होने में ये प्रतिशत 65.87 दर्ज किया गया। इस साल 15 छात्रों ने इस परीक्षा में टॉप किया है, इन सभी को पहला स्थान मिला है। इन सभी छात्रों को 100 फीसदी अंक मिला है। भोपाल के सेमरा कला की रहने वाली कर्णिका मिश्रा ने दसवीं बोर्ड परीक्षा में 300 में से 300 अंक हासिल कर टॉप किया है। वो प्रदेश के उन 15 बच्चों में से एक हैं,जिन्होंने दसवीं बोर्ड की परीक्षा में टॉप किया है। कर्णिका के पिता नहीं हैं और मां प्राइवेट नौकरी करती हैं। इंदौर की महुआ घोष को प्रदेश में तीसरा स्थान मिला है। महुआ को 300 में से 299 अंक मिले हैं। जबलपुर की जिज्ञासा जैन को पांचवा स्थान मिला है।जिज्ञासा ने 300 में से 298 अंक प्राप्त किए हैं।जिलावार प्रदर्शन में नीमच में दसवीं का रिजल्ट 79.13 प्रतिशत रहा, जबकि दूसरे नंबर पर देवास का   रिजल्ट 78 प्रतिशत रहा। मंदसौर 75.53 प्रतिशत के साथ तीसरे, शाजापुर 73.02 फीसदी के साथ चौथे और उज्जैन 71.16 प्रतिशत के साथ पांचवें नंबर पर रहा।

 

 

28-06-2020
मेधावी छात्र-छात्राओं का हुआ सम्मान,अभिभावक भी हुए सम्मानित

कोरिया। सरस्वती शिशु मंदिर रामपुर बैकुण्ठपुर में वर्ष 2019-20 में छात्र छात्राओं ने हाईस्कूल  व हायर सेकेण्डरी स्कूल के बोर्ड परीक्षा में उत्कृष्ट प्रदर्शन कर बेहतर परिणाम लाने वाले मेधावी छात्रों को सम्मानित कर शील्ड से नवाजा गया। इस दौरान विद्वार्थियों के साथ साथ अभिभावकों का भी सम्मान किया गया। विद्यालय में मेधावी छात्रों के सम्मानित के लिए कार्यक्रम रखा गया था। इसमें कक्षा 10 वीं और कक्षा 12वीं में अध्यक्षनरत 6 विद्यार्थियों को सम्मान किया गया इसमें कक्षा 10 वीं के विद्यार्थी हेमकृष्णराम साहू को 93.7, अनुराधा साहू को 91.5, अनिक सिंह चौहान 91.16 प्रतिशत एवं कक्षा 12वीं की अनुष्का याुदव 87.4, अनिशा 76.8, नेहा 74.6 प्रतिशत अंक अर्जित करने पर सम्मानित किया गया। कार्यक्रम में स्कूल समिति व्यवस्थापक शैलेष शिवहरे, एल्डरमैन भानुपाल, स्कूल के प्राचार्य सहित स्कूल का स्टाफ उपस्थित था। 

 

26-06-2020
गांधी इंग्लिश मीडियम स्कूल में लगातार पांचवें वर्ष 100% रहा बोर्ड परीक्षा परिणाम

आरंग। गांधी इंग्लिश मीडियम हायर सेकेंडरी स्कूल आरंग का कक्षा दसवीं एवं बारहवीं बोर्ड परीक्षा का परिणाम इस वर्ष भी शत्-प्रतिशत रहा। उल्लेखनीय है कि लगातार 5 वर्षों से कक्षा दसवीं के प्रथम पांच बैच और कक्षा बारहवीं के प्रथम दो बैच 100% परिणाम के साथ उन्नत हुए हैं। सत्र 2019-20 में कक्षा दसवीं की बोर्ड परीक्षा में 44 विद्यार्थी शामिल हुए जिनमें से 42 बच्चे प्रथम श्रेणी में उत्तीर्ण हुए। कक्षा दसवीं में प्रेरणा चंद्राकर 90.5%, प्राची चंद्राकर 90%, मेघा रानी साहू 89.83%, जानवी अग्रवाल 89.5%, वैशाली भोसले 88.67%, आयुषी गुप्ता 88.5%, तरुण कुमार साहू 88.33%, सुधांशु चंद्राकर 87.17%, अनुराग देवांगन 85%, नवीन साहू 83.67%, राहुल निषाद राज 83 %, हर्षिता देवांगन 82.5%, वरूण साहू ने 81% अंक अर्जित किये। प्रेरणा चंद्राकर, प्राची चंद्राकर, जानवी अग्रवाल और वैशाली भोंसले ने सभी विषयों में विशेष योग्यता हासिल की हैं। साथ ही सुधांशु चंद्राकर ने गणित विषय में शत प्रतिशत अंक अर्जित किया है।

विद्यालय के 44 बच्चों में से 42 बच्चों ने अंग्रेजी विषय में विशेष योग्यता हासिल की हैं। विद्यालय के कक्षा बारहवीं का परीक्षा परिणाम लगातार दूसरे वर्ष शत- प्रतिशत रहा है। विज्ञान संकाय में खुशी गुप्ता 75.2%, सौम्या चंद्राकर 73.8% एवं वाणिज्य संकाय से आर्य गुप्ता 74.8%, पोषण यादव ने 72.8% अंक अर्जित किए हैं। बच्चों और विद्यालय की विशेष सफलता के लिए विद्यालय प्रबंधक ने बच्चों, पालकों एवं शिक्षकों को शुभकामनाएं दी है साथ ही उच्चतम अंक प्राप्त करने वाले मेधावी छात्रों के लिए प्रोत्साहन राशि की घोषणा की है।

23-06-2020
भूपेश बघेल ने टॉपर बच्चों और उनके परिजनों से की बात,होनहारों ने कहा-बनना चाहते हैं आईएएस,इंजीनियर और डॉक्टर

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने बोर्ड परीक्षा के टॉपर बच्चों और उनके परिजनों से फोन पर चर्चा की। मुख्यमंत्री ने शिक्षा मंत्री डॉ.प्रेम साय सिंह टेकाम की मौजूदगी में मंगलवार शाम अपने निवास कार्यालय से 10वीं और 12वीं की परीक्षा के टॉपर विद्यार्थियों को मोबाइल कॉल कर शाबाशी दी। सफलता के इस क्रम को आगे बनाए रखने के लिए बच्चों का हौसला-अफजाई किया। बच्चों और उनके परिजनों को सफलता की बधाई और शुभकामनाएं दी। मुख्यमंत्री ने कहा कि जीवन में उन्नति के लिए शिक्षा एक प्रभावी माध्यम है। अच्छी शिक्षा से परिवार, समाज और देश का निर्माण होता है। उन्होंने उम्मीद जताई कि सभी आगे चलकर छत्तीसगढ़ का नाम देश दुनिया में रोशन करेंगे।मुख्यमंत्री ने 12 बोर्ड परीक्षा में राज्य में सर्वश्रेष्ठ स्थान हासिल करने पर टिकेश वैष्णव को बधाई और शुभकामनाएं दी। टिकेश से उसकी पढ़ाई-लिखाई और पारिवारिक पृष्ठभूमि के बारे में भी जानकारी ली। मुख्यमंत्री ने टिकेश के पिता शिव कुमार वैष्णव और माता शकुंतला वैष्णव से भी बातचीत की। उन्हें उनके बेटे की गौरवपूर्ण उपलब्धि के लिए बधाई और शुभकामनाएं दी। मुख्यमंत्री ने कहा कि टिकेश की सफलता से प्रदेश गौरवान्वित हुआ है। टिकेश के पिता ने बताया कि मुंगेली जिले के गीदहा गांव में उनकी छोटी सी पान दुकान है। थोड़ी सी खेती भी है। मुख्यमंत्री को टिकेश ने बताया कि वह रोजाना चार घंटे पढ़ाई करता था। उसकी इच्छा इंजीनियर बनने की है। सरस्वती शिशु मंदिर हायर सेकेंडरी स्कूल मुंगेली के छात्र टिकेश ने 12 वीं बोर्ड की परीक्षा में 97.80 प्रतिशत अंक अर्जित कर मेरिट सूची में प्रथम स्थान हासिल किया है।


मुख्यमंत्री भूपेश बघेल में 12वीं बोर्ड के मेरिट में राज्य में द्वितीय स्थान अर्जित करने वाली रायपुर की श्रेया अग्रवाल, उनके पिता सुधीर अग्रवाल और माता रूबी अग्रवाल को बधाई और शुभकामनाएं दी। देशबंधु इंग्लिश हायर सेकेण्डरी स्कूल रायपुर की छात्रा श्रेया ने 12वीं बोर्ड 97 प्रतिशत अंक अर्जित कर मेरिट में द्वितीय स्थान अर्जित किया है। श्रेया की इच्छा आईआईटी में दाखिला लेकर इंजीनियरिंग करने की है।इसी तरह मुख्यमंत्री ने 10वीं बोर्ड परीक्षा की टॉपर हायर सेकेंडरी स्कूल जरहागांव, मुंगेली की छात्रा प्रज्ञा कश्यप को परीक्षा में 600 नंबर में से पूरे 600 नंबर हासिल कर राज्य में सर्वोच्च स्थान पाने पर विशेष रूप से बधाई और शुभकामनाएं दी। मुख्यमंत्री से बातचीत के दौरान प्रज्ञा ने बताया कि उसकी इच्छा आईएएस बनने की है। मुख्यमंत्री ने प्रज्ञा के पिता शिव कुमार कश्यपऔर माता लता कश्यप को भी बधाई और शुभकामनाएं देते हुए कहा कि आपकी बिटिया बहुत मेधावी है। शत-प्रतिशत अंक लाना सामान्य बात नहीं है। प्रज्ञा की उपलब्धि गौरवपूर्ण है। उन्होंने प्रज्ञा के माता-पिता को प्रज्ञा को खूब पढ़ाने के लिए उनका हौसला बढ़ाया।मुख्यमंत्री ने दसवीं बोर्ड की द्वितीय टॉपर ज्ञानोदय पब्लिक स्कूल बेमेतरा की छात्रा प्रशंसा राजपूत को बधाई और शुभकानाएं दी। प्रशंसा ने दसवीं बोर्ड में 596 नंबर अर्जित कर 99.33 प्रतिशत हासिल किया है। मुख्यमंत्री से चर्चा के दौरान प्रशंसा ने बताया कि उसके पिता व्यवसायी हैं। वह पढ़ लिखकर डॉक्टर बनना चाहती है।

23-06-2020
मुंगेली जिले के छात्र ने 12वीं और छात्रा ने 10वीं बोर्ड में किया टॉप, कलेक्टर ने दी शुभकामनाएं

रायपुर/मुंगेली। मुंगेली जिले ने फिर परचम लहराया। छत्तीसगढ़ माध्यमिक शिक्षा मंडल की ओर से आयोजित कक्षा दसवीं और बारहवीं की बोर्ड परीक्षा में मुंगेली के दो विद्यार्थियों ने अपना कमाल दिखा दिया। छत्तीसगढ़ माध्यमिक शिक्ष मंडल में 10वीं एवं 12वीं बोर्ड परीक्षा के घोषित टॉप-10 की सूची मे मुंगेली जिले के बालक और बालिका ने प्रथम स्थान प्राप्त कर जिले को गौरवान्वित किया। सरस्वती शिशु मंदिर उच्चतर माध्यमिक विद्यालय मुंगेली के छात्र टिकेश वैष्णव ने 97.80 प्रतिशत अंक प्राप्त कर 12वीं बोर्ड परीक्षा के टॉप-10 की सूची में प्रथम स्थान प्राप्त किया। जबकि शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय जरहागांव की छात्रा प्रज्ञा कश्यप ने कक्षा 10वीं के टॉप-10 के सूची मे 600 मे से 600 अंक अर्थात् शतप्रतिशत अंको के साथ प्रथम स्थान प्राप्त किया।

कलेक्टर पीएस एल्मा ने टिकेश वैष्णव को 12वीं के टॉप-10 मे प्रथम स्थान और कुमारी प्रज्ञा कश्यप को 10वीं के टॉप-10 में प्रथम स्थान प्राप्त करने पर दोनों छात्रों को उनके उज्जवल और सुनहरे भविष्य की कामना करते हुए उन्हें अपनी बधाई और शुभकामनाएं दी है। उन्होंने कहा है कि बोर्ड परीक्षाओ के परीक्षा परिणाम में टॉप-10 में प्रथम स्थान प्राप्त करना जिले के लिए गौरव की बात तो है ही, बल्कि टॉप-10 मे प्रथम स्थान प्राप्त करना उनके माता-पिता, स्कूल, गांव-शहर के साथ-साथ राज्य के लिए भी गौरव की बात है। कलेक्टर एल्मा ने टॉप-10 मे प्रथम स्थान प्राप्त करने पर उनके माता-पिता और स्कूल के शिक्षा-शिक्षिकाओं को भी अपनी बधाई व शुभकामनाएं दी। उन्होंने आने वाले सत्र में भी बोर्ड परीक्षा के लिए जिले के बच्चों को पक्का इरादा के साथ लगन और कडी मेहनत के साथ अध्ययन करने की सलाह दी है।

 

23-06-2020
टॉप टेन में नहीं लगा जिले का नम्बर, 10वीं में 82.15 प्रतिशत और 12वीं का 84.91 प्रतिशत रहा रिजल्ट

कवर्धा। माध्यमिक शिक्षा मंडल ने आज 10वीं 12वीं की बोर्ड परीक्षा का रिजल्ट जारी किया। लेकिन इस बार टॉप टेन में कही भी जगह नहीं बना सकी। जबकि हर वर्ष टॉप टेन में जगह बना लेते थे। वही जिले में मिशन 90 प्रतिशत का लक्ष्य भी दिखाई नहीं दिया। कबीरधाम जिले में 10वीं का रिजल्ट 82.15 प्रतिशत रहा है। यह पिछले वर्ष से मात्र 1.5 प्रतिशत अधिक है। वही 12वीं का रिजल्ट 84.91 प्रतिशत रहा है। यह रिजल्ट पिछले साल से मात्र 10 प्रतिशत अधिक रहा है। इस प्रकार इस बार जिले पूरे राज्य में पिछड़ते हुए नजर आ रहा है।

23-06-2020
बोर्ड परीक्षाओं की प्रावधिक प्रावीण्य सूची जारी, देखिए होनहारों को...

रायपुर। छत्तीसगढ़ माध्यमिक शिक्षा मण्डल की ओर से आयोजित हाई स्कूल और हायर सेकेण्डरी सर्टिफिकेट मुख्य परीक्षा वर्ष 2020 के परिणाम मंगलवार को घोषित किए गए। नतीजों की घोषणा के करने के साथ ही कक्षा 10वीं और 12वीं परीक्षा की प्रावधिक प्रावीण्य सूची भी जारी की गई। हाई स्कूल परीक्षा की प्रावीण्य सूची में 42 विद्यार्थी और हायर सेकेण्डरी परीक्षा की प्रावीण्य सूची में 16 विद्यार्थी शामिल है। हाई स्कूल की प्रावीण्य सूची देखने क्लिक करें...हायर सेकेंडरी की प्रावीण्य सूची देखने क्लिक करें...

23-06-2020
भूपेश बघेल ने बोर्ड परीक्षाओं में सफल विद्यार्थियों को दी शुभकामनाएं, शिक्षकों और पालकों को बधाई

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने छत्तीसगढ़ माध्यमिक शिक्षा मंडल की ओर से मंगलवार को जारी कक्षा दसवीं, बारहवीं की परीक्षा में प्रावीण्य सूची में स्थान प्राप्त करने वाले विद्यार्थियों के साथ-साथ सभी सफल विद्यार्थियों को शुभकामनाएं और बधाई दी है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने हाई स्कूल सर्टिफिकेट मुख्य परीक्षा वर्ष 2020 और हायर सेकेण्डरी स्कूल सर्टिफिकेट मुख्य परीक्षा 2020 के साथ-साथ हायर सेकेण्डरी व्यावसायिक परीक्षा 2020 के सभी सफल विद्यार्थियों के उज्जवल और सुनहरे भविष्य की मंगलकामना की है। उन्होंने कहा है कि जिस तरह विद्यार्थियों ने इन बोर्ड परीक्षाओं के माध्यम से जिन्दगी के एक अहम चरण में सफलता अर्जित की है, उसी तरह भविष्य में भी वे जिन्दगी के हर क्षेत्र में सफलता अर्जित करें। अपने स्कूल, गांव, शहर के साथ-साथ प्रदेश और देश का नाम रोशन करें। मुख्यमंत्री ने परीक्षा में अपेक्षित परिणाम प्राप्त नहीं कर सकने वाले छात्र-छात्राओं को बिना निराश हुए पूरे धैर्य, हिम्मत और मेहनत के साथ निरन्तर अध्ययन करने की समझाइश दी। उन्होंने कहा कि वे नई ऊर्जा और उत्साह के साथ तैयारी का संकल्प लें। उन्हें परीक्षा सहित जीवन में सफलता निश्चय मिलेगी। मुख्यमंत्री नेे इस वर्ष बेहतर परिणाम के लिए शिक्षकों और पालकों को भी बधाई और शुभकामनाएं दी है।

09-05-2020
सीबीएसई की 10वीं-12वीं बोर्ड परीक्षाओं की नई तारीखों की घोषणा, 1 से 15 जुलाई के बीच होंगी परीक्षाएं  

नई दिल्ली। आखिरकार लंबे इंतजार के बाद केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की बची हुई परीक्षाओं की तारीखों की घोषणा हो गई है। लॉक डाउन के कारण टाली गई सीबीएसई की 10वीं-12वीं बोर्ड परीक्षाओं की नई तारीखें का ऐलान हो गया है। इसकी जानकारी मानव संसाधन विकास मंत्री डॉ. रमेश पोख‍रियाल निशंक ने खुद दी। उन्होंने बताया कि यह परीक्षाएं 1 जुलाई से 15 जुलाई के बीच होंगी। सीबीएसई ने 83 विषयों की परीक्षाएं रोक दी थीं। बता दें कि सीबीएसई बोर्ड की 10वीं और 12वीं की अब करीब 29 विषयों की परीक्षा होंगी। परीक्षा सिर्फ मुख्य विषयों की होगी जो अगली क्लास में प्रमोट करने के लिए जरूरी है। बचे हुए पेपर में से मुख्य पेपर की परीक्षा होगी। वहीं 10वीं की परीक्षा दंगा प्रभावित उत्तर पूर्वी दिल्ली के छात्रों के लिए होगी, बाकी के लिए नहीं। वहीं 12वीं की परीक्षा पूरे देश के छात्रों के लिए होगी।

1 से 15 जुलाई के बीच होगी परीक्षा :

एमएचआरडी मंत्री निशंक ने ट्वीट कर लिखा 'लंबे समय से सीबीएसई 10वीं और 12वीं की बची हुई परीक्षाओं की तिथि का इंतज़ार था। आज इन परीक्षाओं की तिथि 1.07.2020 से 15.07.2020 के बीच में निश्चित कर दी गई है। मैं इस परीक्षा में भाग लेने वाले सभी विद्यार्थियों को अपनी शुभकामनाएं देता हूं। बता दें कि बोर्ड परीक्षाओं को लेकर निशंक ने कहा कि सीबीएसई की 10वीं और 12वीं बोर्ड के शेष बचे 83 पेपरों में से 29 विषयों की परीक्षा आयोजित होगी। बाकी ऑप्‍शनल विषयों के मार्क्‍स उनके इंटरनल असेसमेंट के आधार पर जुड़ेंगे।
 

कक्षा 12 के लिए, शेष पेपरों में व्यावसायिक अध्ययन, भूगोल, हिंदी (कोर), हिंदी (वैकल्पिक), गृह विज्ञान, समाजशास्त्र, कंप्यूटर विज्ञान (पुराना), कंप्यूटर विज्ञान (नया), सूचना अभ्यास (पुराना), सूचना अभ्यास (नया) शामिल हैं। बता दें कि कुछ दिन पहले मंत्री ने स्पष्ट किया कि 10वीं की लंबित बोर्ड परीक्षा केवल उत्तर पूर्व दिल्ली के लिए आयोजित की जाएगी। पूरे देश के लिए नहीं। सीबीएसई बोर्ड के एक अधिकारी ने बताया कि हमने पहले ही अप्रैल में घोषणा की थी कि 10वीं और 12वीं कक्षाओं की बोर्ड की लंबित 29 महत्वपूर्ण विषयों की परीक्षाएं ही ली जाएगी, लेकिन 10वीं कक्षा में केवल वैकल्पिक विषयों की परीक्षाएं ही ली जानी शेष थी और इन्हें नहीं लिया जाएगा। गौरतलब है कि कोरोना वायरस की वजह से देश में लॉक डाउन लागू किया गया है। इसकी वजह से सभी परीक्षाएं स्थगित कर दी गई थी। सीबीएसई की 10वीं और 12वीं की परीक्षाएं भी रद्द होने की वजह से अधूरी रह गई थीं, जिससे छात्र बेहद परेशान थे। लेकिन अब लॉक डाउन के तीसरे चरण में मानव संसाधन विकास मंत्री की ओर से तारीखों का ऐलान कर दिया गया है।

06-05-2020
केंद्र का बड़ा फैसला...दिल्ली के इस जिले को छोड़कर पूरे देश में नहीं होंगे 10वीं की बोर्ड परीक्षा

नई दिल्ली। देश में कोरोना वायरस का कहर जारी है। कोविड-19 के कारण देश में दसवीं और बारहवीं की परीक्षा स्थगित कर दी गई है। ऐसे में अभिभावक और बच्चों के मन में परीक्षा की तारीखों को लेकर कई तरह के सवाल उठ रहे हैं। इन परीक्षाओं को दोबारा से कराने के लिए सभी राज्य की सरकारें और केंद्र सरकार प्रयास कर रही हैं। लेकिन बार-बार लॉक डाउन बढ़ने के कारण यह संभव नहीं हो पा रहा है। इसी बीच केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने ट्वीट कर दसवीं क्लास की परीक्षा के बारे में एक बड़ी जानकारी दी है। उन्होंने कहा कि दिल्ली के नॉर्थ ईस्ट जिले के अलावा देश में कहीं भी सीबीएसई की दसवीं बोर्ड की परीक्षा नहीं होगी। उन्होंने कहा कि देश में कहीं भी दसवीं की परीक्षा नहीं होगी, सिर्फ नॉर्थ ईस्ट दिल्ली के छात्रों के लिए छूटी हुई परीक्षा आयोजि‍त की जाएगी।

ट्वीट में एमएचआरडी मंत्री ने कहा है कि परीक्षाओं से पहले छात्रों को तैयारी के लिए दस दिन का वक्त दिया जाएगा। उन्होंने कहा ये परीक्षाएं उन छात्रों के लिये आयोजित की जा रही है जो कानून एवं व्यवस्था की स्थिति के कारण निर्धारित कार्यक्रम के दौरान परीक्षा नहीं दे पाए थे। नए कार्यक्रम की घोषणा एक-दो दिनों में की जाएगी। गौरतलब है कि कोविड-19 के कारण पूरे देश के स्कूल, विश्वविद्यालय 16 मार्च से बंद हैं और परीक्षाएं टाल दी गई है। इसके बाद 24 मार्च को देशव्यापी लॉक डाउन की घोषणा की गई और इसे बढ़ाकर 17 मई तक कर दिया गया है। सीबीएसई बोर्ड के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि हमने पहले ही अप्रैल में घोषणा की थी कि 10वीं और 12वीं बोर्ड की लंबित 29 महत्वपूर्ण विषयों की परीक्षाएं ही ली जायेंगी, लेकिन 10वीं कक्षा में केवल वैकल्पिक विषयों की परीक्षाएं ही ली जानी शेष थी और इनका आयोजन नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा कि कानून एवं व्यवस्था की स्थिति के कारण उत्तर पूर्व दिल्ली में कुछ महत्वपूर्ण विषयों की परीक्षा टाल दी गई थी और इनका यहां आयोजन किया जाएगा।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804