GLIBS
23-10-2020
प्याज की अनियंत्रित कीमतों पर काबू करने केंद्र सरकार ने लागू किए नियम,विक्रेताओं के लिए की भंडारण सीमा तय

नई दिल्ली। केंद्र सरकार ने प्याज की जमाखोरी रोकने तथा इसके मूल्य को नियंत्रित करने के लिए तुरंत प्रभाव से भंडारण सीमा निर्धारित कर दी है। उपभोक्ता मामलों की सचिव लीमा नंदन ने शुक्रवार को संवाददाता सम्मेलन में कहा कि प्याज के थोक विक्रेताओं के लिए भंडारण सीमा 25 टन और खुदरा विक्रेताओं के लिए यह सीमा दो टन निर्धारित की गई है। उन्होंने कहा कि पिछले डेढ माह से प्याज की कीमतें बढ रही थी। भंडारण सीमा निर्धारित किये जाने से प्याज की जमाखोरी करने वाले के साथ आवश्यक कार्रवाई की जा सकेगी। उल्लेखनीय है कि कुछ स्थानों पर प्याज का खुदरा मूल्य करीब 70 रुपये प्रति किलो तक पहुंच गया है। उन्होंने कहा कि प्याज के मूल्य को नियंत्रित करने के लिए इसका निर्यात रोक दिया गया और इसका आयात करने का निर्णय लिया गया है। इसके साथ ही प्याज के एक लाख टन के बफर स्टाक से राज्यों को उनकी मांग के हिसाब से इसकी आपूर्ति की जा रही है। राज्यों को 25 रुपये प्रति किलो के हिसाब से प्याज दिया जा रहा है। बफर स्टाक में अब भी करीब 25 हजार टन प्याज बेचा है। केरल और असम को बफर स्टाक से प्याज की आपूर्ति की गई है। इसके अलावा तमिलनाडु, आन्ध्र प्रदेश और तेलंगना ने भी प्याज की मांग की है। उन्होंने बताया कि इस बार भारी वर्षा से कुछ स्थानों में प्याज की खरीफ फसल को नुकसान हुआ है जबकि महाराष्ट्र और मध्य प्रदेश में प्याज की पैदावार में कमी आयी है। महाराष्ट्र और मध्य प्रदेश में 43 लाख टन प्याज उत्पादन का अनुमान था जो घटकर 37 लाख टन हो गया है। उपभोक्ता मामलों की सचिव ने कहा कि पिछले दस साल के दौरान प्याज का उत्पादन 150 लाख टन से बढकर 261 लाख टन हो गया है। वर्ष 2019-20 के दौरान रिकार्ड 261 लाख टन प्याज का उत्पादन हुआ था। इस वर्ष करीब 15 लाख टन प्याज का निर्यात किया गया है । अब एमएमटीसी और कुछ निजी कम्पनियां प्याज आयात करने की प्रक्रिया में है।

21-04-2020
थोक सब्जी मंडी में फुटकर सब्जी बेचने वाले विक्रेताओं पर लगाया गया जुर्माना

भिलाई। बैकुंठधाम के थोक सब्जी मंडी में फुटकर सब्जी बेचने वाले विक्रेताओं पर जुर्माना लगाया गया। यहां पर केवल थोक व्यापारियों को विक्रय करने की अनुमति दी गई है,जिन्हें पहचान पत्र भी जारी किया गया है। फुटकर सब्जी व्यापारियों के यहां पर सब्जी बेचने से भीड़ बढ़ने की संभावना ज्यादा हो जाती है, जिसको व्यवस्थित करने के लिए कार्यवाही की जा रही है। नगर निगम की उड़नदस्ता टीम ने सुपेला बाजार, चूड़ी लाइन, आकाशगंगा, स्मृतिनगर, केम्प-1, पाॅवरहाउस क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले व्यवसायिक प्रतिष्ठानों का निरीक्षण किए। लाॅक डाउन का उल्लंघन करने वालों पर उड़नदस्ता टीम ने जुर्माना लगाया। शासन के आदेश की अवहेलना करते हुए कुछ दुकानदार गैर आवश्यक सेवा वाले दुकानदार भी दुकान खोले थे। निगम की टीम ने निरीक्षण के दौरान भीड़ पाए जाने वाले दुकान के संचालकों को समझाईश दी।

उड़नदस्ता की टीम ने व्यवसायिक प्रतिष्ठान, बाजार व अन्य भीड़-भाड़ वाले स्थानों का भ्रमण करते हुए लोगों को एक जगह एकत्र न होने की समझाईश दी। निगम की उड़नदस्ता टीम ने आकाशगंगा में लालचंद, राज कुमार एवं मुन्ना द्वारा सब्जी विक्रय करने पर प्रत्येक से 5000 रुपए जुर्माना, बैकुंठ धाम मे फुटकर सब्जी बेचने पर देवनाथ लहसुन चिल्लर विक्रेता से 1000 रूपए, विजय कुमार गुप्ता केम्प-1 वृन्दानगर द्वारा थोक बाजार में चिल्हर बेचे जाने पर 1000 रूपए, मुमताज चूड़ी लाइन में अनावश्यक दुकान खोलने पर 900 रूपए, उमाशंकर चौधरी द्वारा थोक सब्जी मंडी में चिल्हर सब्जी बेचने पर 1000 रूपए, धनंजय कुमार द्वारा बैकुंठधाम में चिल्हर सब्जी बेचने पर 1000 रूपए जुर्माना वसूल किया गया। उड़नदस्ता की टीम ने व्यापारियों को बताया कि लाॅक डाउन में बिना मास्क लगाए ग्राहकों सामान नहीं देना है तथा अधिक दाम पर सामान बेचने की शिकायत पर सख्त कार्यवाही की जाएगी।

 

08-04-2020
महुआ विक्रेताओं के जिला प्रशासन ने की छापामार कार्रवाई  

धमतरी। कोरोना लॉकडाउन में राज्य शासन के निर्देश पर कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी धमतरी द्वारा प्रसारित आदेश के अनुपालन में जिले के सभी मदिरा केंद्रों को सीलबंद किया गया है। उक्त स्थिति का फायदा उठाने की मंशा से रामपुर-कोपेडीह में अत्यधिक मात्रा में हाथ भट्टी महुआ शराब के निर्माण की शिकायतें निरन्तर प्राप्त हो रही थी। जिला दण्डाधिकारी के निर्देश पर  राजस्व,पुलिस एवं आबकारी विभाग की संयुक्त टीम ने कार्यवाही करते हुए इन ग्रामों के महुआ विक्रेताओं के यहाँ छापामार कार्रवाई की। ग्राम रामपुर थाना भखारा के विनोद शर्मा से 53 कट्टी एवं ग्राम पचेड़ी के बहुरसिंह साहू के आधिपत्य से 35 कट्टी महुआ प्रत्येक कट्टी में 40 किलो महुआ भरा हुआ, कुल वजनी 35 क्विंटल 20 किलो महुआ जब्त कर वैधानिक कार्यवाही की गई। 

 

25-03-2020
थोक फल-सब्जी मंडी का नियमित रूप से होगा संचालन

धमतरी। नोवल कोरोना कोविड 19 के संभावित संक्रमण की जिले में रोकथाम एवं नियंत्रण को लेकर कृषि उपज मंडी समिति ने सोशल डिस्टेंसिंग (सामाजिक दूरी) को ध्यान में रखते हुए मुख्य मंडी प्रागंण परिसर में फल-सब्जी विक्रेता एवं क्रेताओं के बीच दूरी बनी रहे। इसके लिए स्थल चिन्हांकित किया गया है। वहीं धारा 144 लागू होने के कारण फल-सब्जी के परिवहन एवं विक्रेताओं की आवाजाही के दौरान चेक प्वाइंट में होने वाली परेशानियों को ध्यान में रखते हुए फल-सब्जी के परिवहन के लिए वाहनों सहित विकेताओं को पास प्रदान किए गए हैं। इससे धमतरी श्यामतराई थोक फल-सब्जी संघ द्वारा पूर्व की भांति प्रतिदिन सुबह 9 बजे से नियमित रूप से फल-सब्जी का विक्रय किया जा सकेगा।

03-02-2020
सीमेंट के दामों में उछाल, दरों को लेकर असमंजस में वितरक

रायपुर। मकान बना रहे लोगों को सीमेंट के दामों में हुई वृद्धि के कारण करारा झटका लगा है।  सूत्रों का कहना है कि सीमेंट के दामों में प्रति बोरी 20 रूपए से अधिक की वृद्धि की गई है। उनकी माने तो आगे भी सीमेंट के दामों में वृद्धि होने की संभावना है। वर्तमान समय की बात करे तो 220-230 रूपए प्रति बोरी बिक रहे सीमेंट की कीमत अब 240 से 250 रुपए के करीब पहुंच गई है। सीमेंट की दरों में आई अचानक उछाल के कारण आम आदमी का बजट गड़बड़ा गया है। सीमेंट के दामों में 4 दिन में प्रति बोरी 20 से 30 रुपए की वृद्धि हुई है। यही कारण है कि चिल्हर बाजार में विक्रेताओं को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। बहरहाल मार्केट में उठाव की स्थिति निर्मित होती नहीं दिख रही है। सीमेंट की दरों में वृद्धि का कारण आम आदमी की समझ से परे हैं।

यामिनी दुबे की रिपोर्ट

 

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804