GLIBS
13-11-2019
राष्ट्रीय क्रीड़ा स्पर्धा के लिए डीएवी मुख्यमंत्री पब्लिक स्कूल से 3 छात्रों का चयन

दंतेवाड़ा। डीएवी मुख्यमंत्री पब्लिक स्कूल जावंगा से तीन छात्र कार्तिक कुमार शाह, राजमनी हपका एवं प्रमीना मिंज डीएवी हुडको(भिलाई)जोनल स्तर खेल प्रतिस्पर्धा खो-खो में शानदार प्रदर्शन करते हुए डीएवी राष्ट्रीय क्रीड़ा प्रतिस्पर्धा पानीपत हरियाणा के लिए चयनित हुए और विद्यालय परिवार को गौरवान्वित किया। संस्था प्रमुख डॉ आर कृष्णमूर्ति ने उनके उज्ज्वल भविष्य की कामना की है।

 

26-10-2019
ओपन टेबल टेनिस स्पर्धा में भारतीय  खिलाड़ियों ने जीते 7 पदक

नई दिल्ली। भारत के युवा टेबल टेनिस खिलाडिय़ों ने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अपना शानदार प्रदर्शन जारी रखते हुए मस्कट में आयोजित ओमान जूनियर एवं कैडेट ओपन टूर्नामेंट में एक स्वर्ण सहित कुल सात पदक जीते। इस आईटीटीएफ प्रीमियम जूनियर सर्किट प्रतियोगिता में लड़कियों के कैडेट वर्ग में भारत की बी टीम ने चीनी ताइपे-एक को हराकर स्वर्ण पदक जीता। भारतीय टीम में काव्या श्री भास्कर और निश्चिमा सरकार शामिल थी। काव्या ने अपने दोनों एकल मैच जीते। तनीशा एस. कोटेचा और सुहाना सैनी की इंडिया ए टीम को सेमीफाइनल में इसी वर्ग में इंडिया बी टीम से हार मिली। लड़कों के कैडेट वर्ग में दोनों भारतीय टीमों को सेमीफाइनल में हार मिली। इन दोनों टीमों को कांस्य पदक मिला। लड़कियों के जूनियर वर्ग के मुकाबले राउंड रोबिन आधार पर खेले गए और इसमें इंडिया-ए टीम में शामिल स्वस्तिका घोष और अनाग्र्या मंजूनाथ ने सात अंक जुटाते हुए दूसरा स्थान हासिल किया। इस तरह इन दोनों को रजत पदक मिला। श्रेयांस गोयल और एच. जेहो की इंडिया बी टीम को ईरान के हाथों 1-3 से हार मिली और इस तरह यह टीम कांस्य पदक जीतने में सफल रही।

23-10-2019
राष्ट्रीय जूनियर बास्केटबॉल चैंपियनशिप में छग की बालिकाएं फाइनल में, गोल्ड की प्रबल दावेदार

रायपुर। 70 वीं राष्ट्रीय जूनियर बास्केटबॉल प्रतियोगिता में छत्तीसगढ़ बालिका टीम फाइनल में प्रवेश कर चुकी है। छत्तीसगढ़ की टीम सेमीफाइनल मुकाबले में शानदार प्रदर्शन करते हुए उत्तर प्रदेश को 69-46 अंकों से पराजित किया।
राष्ट्रीय जूनियर बास्केटबॉल में छत्तीसगढ़ की बालिकाए गोल्ड मैडल  जीतने की  प्रबल दावेदार है। बास्केटबॉल चैंपियनशिप में प्रदेश की बालिकाओं के शानदार प्रदर्शन पर छग बास्केटबॉल संघ के उपाध्यक्ष अनिल पुसदकर, रायपुर जिला बास्केटबॉल संघ के सचिव भगवान सिंह चंदेल, रायपुर नगर निगम बास्केट बॉल संघ के अध्यक्ष अविनाश शर्मा (चाचू )व सचिव प्रमोद ठाकुर ने हर्ष व्यक्त किया है और स्वर्ण पदक जीतने के लिए शुभकामनाएं दी है।

22-10-2019
जूनियर नेशनल बास्केटबॉल स्पर्धा में छग की बालिका टीम का शानदार प्रदर्शन

रायपुर। 70 वीं जूनियर नेशनल के क्वार्टर फाइनल मुकाबले में छत्तीसगढ़ की बालिका टीम ने शानदार प्रदर्शन करते हुए पंजाब को शिकस्त दी और सेमीफाइनल में प्रवेश किया। छत्तीसगढ़ बास्केटबॉल संघ के उपाध्यक्ष अनिल पुसद्कर, रायपुर जिला बास्केटबॉल संघ के महासचिव प्रमोद ठाकुर, भगवान सिंह चंदेल, अविनाश शर्मा चाचू आदि ने विजयी टीम को बधाई दी है और स्वर्ण पदक जीतकर लाने के लिए शुभकामनाएं दी है।


 

31-05-2019
पांच महीने में ही राजिम की जनता के दिलों में खिल गया ‘कमल’

राजिम। छत्तीसगढ़ में लोकसभा चुनाव के अप्रत्याशित परिणाम ने चुनावी पंडितों को आश्चर्यचकित कर दिया है। खासकर महासमुन्द लोकसभा क्षेत्र के राजिम विधानसभा में भाजपा ने शानदार प्रदर्शन किया है। हाल में हुए विधानसभा चुनाव में अमितेश शुक्ला को 58000 मतों की बढ़त हुई थी जो गुम होती नजर आ रही है। राजिम नगर में भी भारतीय जनता पार्टी ने करीब 4000 मतों की बढ़त दर्ज की है। इससे राजनीतिक पंडितो के अनुमान धरे के धरे रह गए। पिछले विधानसभा चुनाव में राजिम विधानसभा में ऐतिहासिक जीत दर्ज की थी। जिसका जिक्र यदा-कदा विधायक अमितेष शुक्ल के भाषणों में दिखाई देता रहता है। मात्र चार से पांच महीने में ही कांग्रेस करीब 12000 मतों से पिछड़ गई और अब कांग्रेस कार्यकर्ताओं में इस्तीफा देने की होड़ मची हुई है।

पदाधिकारी इस्तीफा देकर अपनी जिम्मेदारी से पिंड छुड़ा रहे हैं कि स्वयं को शहीद कर रहे हैं जबकि इस मौके पर जिला कांग्रेस अध्यक्ष वैशाखूराम साहू और ब्लॉक कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष भावसिंह साहू अभी तक अपना इस्तीफा नहीं दिए हैं। जिसका कार्यकर्ताओं में विरोध भी शुरू हो गया है। पिछले दिनों स्थानीय विश्रामगृह में विधायक अमितेष शुक्ल ने कार्यकर्ताओं की बैठक बुलाई गई। जिसमें सभी ने अपने-अपने तर्क रखे। कहा जा रहा है कि लोग अमितेष शुक्ल को मंत्रीमंडल में शामिल नहीं करने से नाराज होकर कांग्रेस के खिलाफ वोट दिए हैं। जबकि ग्राउंड जीरो पर ज्ञात हुआ कि दरअसल कांग्रेस अपने मिसमैनेजमेंट की शिकार हुई है। कार्यकर्ताओं के पास बुनियादी प्रचार के संसाधन उपलब्ध नहीं थे। कार्यकर्ताओं में वह उत्साह नहीं दिखाई दिया   जो विधानसभा चुनाव में देखा गया था । कार्यकर्ताओं के पास सही दिशा-निर्देश नहीं थे ।

वह भी भ्रमित रहे। क्या कारण था कि विधानसभा चुनाव वाला उत्साह पार्टी में नहीं दिखाई दिया । यह शोध का विषय बन सकता है। सही मायने में कांग्रेस पार्टी और स्वयं धनेन्द्र साहू ने भी भाजपा के उम्मीदवार चुन्नीलाल साहू को कमजोर आंका। चुन्नीलाल साहू को भी यह सफलता सिर्फ और सिर्फ नरेंद्र मोदी के नाम पर मिली है, क्योंकि भाजपा के चुनाव संचालन से राजिम के कार्यकर्ता असंतुष्ट दिखाई दिए। किंतु चुन्नीलाल साहू को नरेंद्र मोदी के साथ नवापारा में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सभा का भी सहारा मिला। परन्तु 58000 के मतों की जीत से गदगद अमितेष शुक्ल भूल गए कि राजिम की जनता कही न कही उनसे नाराज है। यहां तक कि कार्यकर्ताओं में भी यह नाराजगी देखी गई। दरअसल अमितेष शुक्ल कुछ खास कार्यकर्ताओं की बातो पर  तवज्जो देते है। जिसका असर अन्य कार्यकर्ताओं पर पड़ता है।  अगर देखा जाए तो महासमुन्द लोकसभा चुनाव में सर्वाधिक बढ़त राजिम से मिली। जिसमें 58000 मतों के गड्ढे को पाट कर 12000 मतों की बढ़त दर्ज की गई। अगर दोनों को जोड़कर देखे तो यह लगभग 70000 की बढ़त है। और यह अमितेष शुक्ल के लिए चिंता और चिंतन दोनों का विषय होना चाहिए। कांग्रेस को सोचने की जरूरत है कि क्या कारण है कि लोग कर्ज माफ को भूल गए, 2500 धान खरीद को भूल गए। बिजली बिल आधा को भूल गए। धनेन्द्र साहू पुराने और अनुभवी नेता हैं। उन्हे चुनाव लड़ने का खासा अनुभव है, पर उनसे कहां चूक हो गई शायद वे स्वयं ही नहीं समझ पाए। कांग्रेस को इस विषय पर गंभीरता से मंथन करना है।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804