GLIBS
10-06-2021
प्राथमिक और उप स्वास्थ्य केंद्रों का हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर में उन्नयन का काम इस साल पूरा करने का लक्ष्य

रायपुर। प्रदेश के लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण तथा चिकित्सा शिक्षा मंत्री टीएस सिंहदेव ने गुरुवार को वरिष्ठ विभागीय अधिकारियों के साथ स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण, राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन तथा छत्तीसगढ़ मेडिकल सर्विसेस कॉर्पोरेशन (सीजीएमएससी) के कार्यों की समीक्षा की। उन्होंने मंत्रालय (महानदी भवन) में आयोजित बैठक में प्रदेश में कोरोना संक्रमण की स्थिति को नियंत्रण में देखते हुए अस्पतालों में पूर्ण सतर्कता बरतते हुए नॉन-कोविड सेवाओं में तेजी लाने के निर्देश दिए। उन्होंने सरकारी अस्पतालों में ब्लड-बैंकों की संख्या बढ़ाने कहा। उन्होंने नवगठित गौरेला-पेंड्रा-मरवाही के जिला अस्पताल में जल्द से जल्द ब्लड-बैंक की स्थापना के भी निर्देश दिए। स्वास्थ्य विभाग के प्रमुख सचिव डॉ. आलोक शुक्ला और सचिव शहला निगार भी समीक्षा बैठक में मौजूद थीं।


स्वास्थ्य मंत्री सिंहदेव ने समीक्षा बैठक में कोरोना संक्रमण पर नियंत्रण और रोकथाम के लिए विभागीय अमले द्वारा युद्ध स्तर पर किए कार्यों की सराहना की। उन्होंने इस दौरान प्रदेश में चार नए वायरोलॉजी लैबों और ऑक्सीजन प्लांट्स की स्थापना के लिए सीजीएमएससी द्वारा किए गए त्वरित कार्यों की भी प्रशंसा की। स्वास्थ्य मंत्री ने राज्य के ऐसे सभी अस्पतालों जहां शिशु रोग विशेषज्ञ पदस्थ हैं, वहां एसएनसीयू (Special Neonatal Care Unit) स्थापित करने के निर्देश दिए। उन्होंने प्रदेश भर में कुष्ठ रोग उन्मूलन के लिए किए जा रहे कार्यों में तेजी लाने कहा। सिंहदेव ने बरसात के दिनों में पीलिया और डेंगू के खतरों को देखते हुए इनसे बचने के लिए लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग और स्थानीय नगर निगमों व नगर पालिकाओं के साथ समन्वय कर प्रभावी कार्ययोजना तैयार करने के निर्देश दिए।


स्वास्थ्य विभाग के प्रमुख सचिव डॉ. आलोक शुक्ला ने वर्तमान परिस्थितियों के आधार पर अत्यावश्यक दवाईयों की नियमित खरीदी सुनिश्चित करने के लिए ईडीएल (Essential Drug List) को संशोधित करने कहा। उन्होंने उचित दामों पर दवाईयों की आपूर्ति के लिए सीजीएमएससी द्वारा दवा निर्माता कंपनियों के साथ किए जाने वाले दर अनुबंध (Rate Contract) का भी नवीनीकरण करने कहा। स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग की संचालक डॉ. प्रियंका शुक्ला ने बैठक में बताया कि प्रदेश के स्वास्थ्य सूचकांकों में लगातार सुधार हो रहा है। प्रदेश में संस्थागत प्रसवों की संख्या बढ़कर 75 प्रतिशत से अधिक हो गई है। टीकाकरण कार्यक्रम के अंतर्गत 94 प्रतिशत बच्चों को नियमित टीके लगाए जा रहे हैं। राज्य में अभी 3100 हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर्स के माध्यम से लोगों को स्वास्थ्य सुविधाएं मुहैया कराई जा रही हैं। चालू वित्तीय वर्ष 2021-22 के अंत तक सभी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों और उप स्वास्थ्य केंद्रों का हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर के रूप में उन्नयन का कार्य पूर्ण करने का लक्ष्य रखा गया है। उत्कृष्ट स्वास्थ्य सेवाओं के लिए भारत सरकार द्वारा प्रदेश के छह जिला अस्पतालों, छह सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों और दस प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों को राष्ट्रीय गुणवत्ता आश्वासन प्रमाण पत्र प्रदान किया गया है।


सीजीएमएससी के प्रबंध संचालक कार्तिकेय गोयल ने बताया कि कॉर्पोरेशन द्वारा दवा कंपनियों को नए ऑनलाइन सिस्टम से भुगतान किया जा रहा है। इससे भुगतान त्वरित गति से हो रहा है। सीजीएमएससी द्वारा स्वास्थ्य विभाग के लिए निर्माणाधीन विभिन्न भवनों के काम गुणवत्ता सुनिश्चित करते हुए तेजी से पूर्ण किए जा रहे हैं। स्वास्थ्य विभाग के आयुक्त डॉ. सीआर प्रसन्ना, संचालक स्वास्थ्य सेवाएं नीरज बंसोड़, चिकित्सा शिक्षा विभाग के संचालक डॉ. आरके सिंह, खाद्य एवं औषधि प्रशासन विभाग के नियंत्रक केडी कुंजाम और संचालक महामारी डॉ.सुभाष मिश्रा भी बैठक में उपस्थित थे।

 

19-04-2021
प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पहुुंचे जिला पंचायत सदस्य, व्यवस्थाओं की ली जानकारी

राजनांदगांव। जिला किसान कांग्रेस अध्यक्ष एवं जिला पंचायत सदस्य महेंद्र यादव ने डोंगरगांव विधानसभा के ग्राम मुसरा, कसारी, खैरा एवं बिल्हारी के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र एवं उप स्वास्थ्य केंद्रों में दौरा कर कोविड-19 टीकाकरण एवं कोविड-19 टेस्ट के कार्यों का जायजा लिया। कोविड-19 टेस्ट एवं टीकाकरण को सुचारू रूप से चलाने के लिए डॉक्टर एवं स्टाफ नर्स को निर्देश दिए। टेस्टिंग किट की कमी को लेकर सभी स्वास्थ्य केंद्रों में पर्याप्त मात्रा में टेस्ट किट तत्काल उपलब्ध कराने के लिए सीएमएचओ राजनांदगांव डॉ. मिथिलेश चैधरी से दूरभाष पर चर्चा की। डाॅ. चैधरी ंने आश्वस्त किया कि जल्द ही किट उपलब्ध हो जाने की उम्मीद है,जिन्हें तत्काल पूरे जिले में उपलब्ध करा दिया जाएगा। इस पूरे कोरोना काल में विधायक कहीं भी नजर नही आ रहे।

09-04-2021
आरोग्य परियोजना से 22 हजार जरूरतमंदों को मिली प्राथमिक स्वास्थ्य सुविधाएं

कोरबा। वेदांता ग्रामीण चिकित्सालय कोविड-19 सहित अनेक बीमारियों की रोकथाम में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है। सामुदायिक विकास परियोजना ‘आरोग्य’ के अंतर्गत ग्राम चुईया और परसाभाठा में स्थापित चिकित्सालयों के जरिए संयंत्र के आसपास स्थित ग्रामीण क्षेत्रों के नागरिकों को कोविड-19 के प्रति जागरूक बनाया जा रहा है। इसके साथ ही इन केंद्रों के जरिए जरूरतमंदों को निशुल्क दवाइयां और चिकित्सकों द्वारा स्वास्थ्य परामर्श दिए जा रहे हैं। वित्तीय वर्ष 2020-21 में ‘आरोग्य परियोजना’ के जरिए लगभग 22000 ग्रामीणों को विभिन्न प्रकार की चिकित्सा सुविधाएं दी गईं। वेदांता ग्रामीण चिकित्सालय आसपास के लगभग 60 हजार नागरिकों के जीवन में उम्मीद की नई रोशनी के रूप में सामने आए हैं। इस केंद्र की स्थापना की बड़ी उपलब्धि यह रही कि अब ग्रामीणों को काफी हद तक झोला छाप नीम-हकीमों से मुक्ति मिल गई है। महत्वपूर्ण यह भी है कि ये चिकित्सालय कोविड-19 के प्रति जागरूकता एवं उसकी रोकथाम में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे हैं। ग्रामीणों को पाम्फलेट के जरिए घर-घर जाकर सोशल डिस्टेंसिंग, बार-बार हाथ धोने के महत्व, सैनिटाइजर के प्रयोग आदि से परिचित कराया जा रहा है।
चिकित्सालयों की स्थापना से ग्रामीणों को प्राथमिक उपचार के लिए बालको, कोरबा जैसे शहरी इलाकों में नहीं जाना पड़ता। उन्हें असुविधा से निजात तो मिली ही, समय की भी बचत होती है। मातृ-शिशु स्वास्थ्य संरक्षण के लिए टीकाकरण जैसे राष्ट्रीय अभियान के संचालन में भी काफी सुविधा हो गई है। बालको के मुख्य कार्यकारी अधिकारी एवं निदेशक अभिजीत पति ने कहा कि कोविड-19 के चुनौतीपूर्ण समय पर यह जरूरी है कि नागरिक स्वयं एवं परिवारजनों के स्वास्थ्य का ध्यान रखें। कोरोना वाइरस के बढ़ते प्रभावों को देखते हुए यह जरूरी है कि इसकी रोकथाम की दिशा में हम सभी पहले से अधिक एकजुट हों। बालको ने सामुदायिक स्वास्थ्य के जिन लक्ष्यों को ध्यान में रखकर ‘परियोजना आरोग्य’ का क्रियान्वयन किया है उस दिशा में प्रबंधन को बड़ी सफलता मिल रही है। 

07-04-2021
प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र खड़गवां को मिला केंद्रीय स्वास्थ्य व कल्याण मंत्रालय का नेशनल क्वालिटी सर्टिफिकेशन

कोरिया। जिले के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र खड़गवां को केंद्र सरकार के स्वास्थ्य व कल्याण मंत्रालय की ओर से नेशनल क्वालिटी सर्टिफिकेशन मिला है। यह सर्टिफिकेशन उत्कृष्ट चिकित्सा सुविधाओं, बेहतरीन प्रबंधन और केंद्रीय स्वास्थ्य व परिवार कल्याण मंत्रालय के अन्य मानकों में श्रेष्ठ पाए जाने पर दिया जा रहा है। इन्हीं के आधार पर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र खड़गवां को प्रतिष्ठित नेशनल क्वालिटी एश्योरेंस स्टैंडर्स सर्टिफिकेट के लिए चुना गया है। प्रदेश के मात्र तीन जनस्वास्थ्य केन्द्रों को इस सर्टिफिकेशन के लिए चुना गया है,जिनमें पीएचसी खड़गवां सहित पीएचसी लुण्ड्रा, सरगुजा तथा पीएचसी देउरबीजा, बेमेतरा शामिल हैं। कलेक्टर एवं अध्यक्ष, जिला स्वास्थ्य समिति एसएन राठौर ने स्वास्थ्य केंद्र खड़गवां के साथ-साथ ज़िले के सभी चिकित्सकों एवं स्वास्थ्य कर्मियों को इस उपलब्धि पर बधाई प्रेषित करते हुए इसी तरह बेहतर काम करने के लिए प्रोत्साहित किया है। उन्होंने कहा कि जिले की समस्त जनता को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध कराने हम निरंतर प्रयासरत हैं। उल्लेखनीय है कि 26 फरवरी 2021 को स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के अंतर्गत व्यापक वर्चूअल निरीक्षण और आकलन करवाया गया,जिसके आधार पर ही प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र खड़गवां को एनक्यूएएस सर्टिफिकेट के लिए चयनित किया गया।

 

30-03-2021
प्राथमिक वनोपज सहकारी समितियों के बोर्ड का चुनाव 16 अप्रैल से 

कोरबा। जिला सहकारी यूनियन मर्यादित कोरबा द्वारा प्राथमिक वनोपज सहकारी समितियों के बोर्ड का चुनाव कार्यक्रम जारी कर दिया गया है। बोर्ड के गठन के लिए रिटर्निंग अधिकारी द्वारा बोर्ड के 11 पदों का आरक्षण तय करते हुए निर्वाचन कार्यक्रम जारी किया गया है। जिला वनोपज सहकारी यूनियन द्वारा 38 प्राथमिक वनोपज सहकारी समितियों के बोर्ड का चुनाव तीन चरणों में कराया जाना तय है। पहले चरण में 14 समितियों का चुनाव 16 अप्रैल को, दूसरे चरण में 10 समितियों का चुनाव 18 अप्रैल को एवं तीसरे चरण में 14 समितियों का चुनाव 20 अप्रैल को संपन्न किया जाएगा।
प्रबंध संचालक समन्वयक जिला वनोपज सहकारी यूनियन मर्यादित कोरबा ने बताया कि प्राथमिक वनोपज सहकारी समिति कोरबा, भैंसमा, अजगरबहार, बेला सोहागपुर, सेन्द्रीपाली, चारमार, बेहरचुंवा, सरगबुंदिया, कोटमेर, कुदमुरा, श्यांग, कोल्गा एवं पसरखेत का चुनाव प्रथम चरण में किया जाएगा। इसके लिए नियोजन पत्र प्राप्त करने की तिथि आठ अप्रैल, नियोजन पत्रों की जांच की तिथि 09 अप्रैल, नियोजन पत्रों की वापसी, प्रतीक चिन्हों का आबंटन तथा निर्वाचन लड़ने वाले उम्मीदवारों की अंतिम सूची प्रकाशन की तिथि 10 अप्रैल एवं आमसभा, मतदान एवं मतगणना की तिथि 16 अप्रैल निर्धारित की गई है। इसी प्रकार प्राथमिक वनोपज सहकारी समिति चुईया, विमलतागढ़, लेमरू, करतला, बड़मार, चिकनीपाली, लबेद, बरपाली एवं ठाकुखेता के नियोजन पत्र 10 अप्रैल तक प्राप्त किया जाएगा। नियोजन पत्रों की जांच 11 अप्रैल को की जाएगी। नियोजन पत्रों की वापसी, प्रतीक चिन्हों का आबंटन तथा निर्वाचक लड़ने वाले उम्मीदवारों की अंतिम सूची का प्रकाशन 12 अप्रैल को किया जाएगा। दूसरे चरण का आमसभा मतदान एवं मतगणना 18 अप्रैल को किया जाएगा
प्राथमिक वनोपज सहकारी समिति बुन्देली, रजगामार, बताती, सतरेंगा, जामबहार, उमरेली, नोनबिर्रा, नोनदरहा, रामपुर, कोई, पुरैना, चचिया, गुरमा एवं गिरारी के चुनाव में नियोजन पत्र 12 अप्रैल तक प्राप्त किया जाएगा। नियोजन पत्रों की जांच 13 अप्रैल को की जाएगी। नियोजन पत्रों की वापसी, प्रतीक चिन्हों का आबंटन तथा निर्वाचन लड़ने वाले उम्मीदवारों की अंतिम सूची का प्रकाशन 15 अप्रैल को किया जाएगा। तीसरे चरण का आमसभा, मतदान एवं मतगणना 20 अप्रैल को किया जाएगा।

04-02-2021
प्राथमिक वनोपज सहकारी समिति के 38 समितियों के बोर्ड का चुनाव तीन चरणों में, तिथि घोषित

कोरबा। जिला वनोपज सहकारी समिति मर्यादित कोरबा के अंतर्गत 38 प्राथमिक वनोपज सहकारी समितियों के बोर्ड का चुनाव तीन चरणों में होगा। प्रथम चरण में 14, द्वितीय में 10 तथा तृतीय चरण में 14 समितियों के बोर्ड का चुनाव किया जाएगा। प्रथम चरण में प्राथमिक वनोपज सहकारी समिति कोरबा, भैंसमा, अजगरबहार, बेला, सोहागपुर, सेंदईपाली, चारमार, बेहरचुआ, सरगबुंदिया, कोटमेर, कुदमुरा, श्यांग, कोलगा एवं पसरखेत के लिए सदस्यता सूची का प्रकाशन 11 फरवरी को किया जाएगा। सदस्यों से आपत्ति 19 फरवरी तक ली जाएगी। आपत्तियों का निराकरण एवं अंतिम सदस्यता सूची का प्रकाशन 20 फरवरी को किया जाएगा। प्रबंध संचालक जिला वनोपज सहकारी यूनियन मर्यादित कोरबा ने बताया कि द्वितीय चक्र में प्राथमिक वनोपज सहकारी समिति चुईया, विमलता, गढ़, लेमरू, करतला, बड़मार, चिकनीपाली, लबेद, कुदमुरा एवं पसरखेत के लिए सदस्यता सूची का प्रकाशन 13 फरवरी को किया जाएगा। सदस्यों से आपत्ति 21 फरवरी तक प्राप्त की जाएगी एवं आपत्तियों का निराकरण एवं अंतिम सदस्यता सूची का प्रकाशन 22 फरवरी को किया जाएगा। इसी प्रकार तृतीय चक्र में प्राथमिक वनोपज समिति बंुदेली, रजगामार, बताती, सतरेंगा, जामबहार, उमरेली, नोनबिर्रा, नोनदरहा, रामपुर, कोई, पुरैना, चचिया, गुरमा एवं गिरारी के लिए सदस्यता सूची का प्रकाशन 15 फरवरी को किया जाएगा। सदस्यों से आपत्ति 23 फरवरी तक ली जाएगी एवं आपत्तियों का निराकरण एवं अंतिम सदस्यता सूची का प्रकाशन 24 फरवरी को किया जाएगा।

 

07-11-2020
बलरामपुर के प्राथमिक व उप स्वास्थ्य केंद्रों के विकास के लिए 1 करोड़ 54 लाख मंज़ूर

रायपुर/बलरामपुर। प्राथमिक व उप स्वास्थ्य केन्द्रों में विभिन्न कार्य के लिए 1 करोड़ 54 लाख रुपए की प्रशासकीय स्वीकृति किए गए हैं। राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन रायपुर के निर्देशानुसार वित्तीय वर्ष 2020-21 में जिले के प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र व उप स्वास्थ्य केन्द्र को हेल्थ एंड वेलनेस सेन्टर के रूप में संचालित किया जाएगा। कलेक्टर श्याम धावड़े ने जिले के विभिन्न प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र एवं उप स्वास्थ्य केन्द्रों के जीर्णोधार, पेंटिग व ब्राडींग कार्य करने 1करोड़ 54 लाख 77 हजार रुपए की प्रशासकीय स्वीकृति प्रदान की है। इससे दुर्गम व दूरदराज क्षेत्रों और उप स्वास्थ्य केन्द्रों में बेहतर स्वास्थ्य सुविधा मिलेगी। कलेक्टर से जारी आदेशानुसार विकासखण्ड बलरामपुर के प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र पस्ता में जीर्णोंधार, पेंटिग एंव ब्राडींग कार्य के लिए 4 लाख रुपए, उप स्वास्थ्य केन्द्र अमडण्डा, चंदौरा, जाबर, कृष्णनगर, सारंगपुर के लिए क्रमशः 3 लाख 50 हजार, उप स्वास्थ्य केन्द्र बड़कीमहरी के लिए 3 लाख 8 हजार रुपए की स्वीकृति दी गई है। इसी प्रकार विकासखण्ड राजपुर के प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र बरियों के लिए 4 लाख 13 हजार, गोपालपुर के लिए 3 लाख 53 हजार, रेवतपुर के लिए 3 लाख 68 हजार रुपए, आरा के लिए 4 लाख 28 हजार रुपए, उप स्वास्थ्य केन्द्र अलखडीहा, बदौली, भिलाईखुर्द, चैरा, जिगड़ी, ककना, नरसिंहपुर, सिधमा के लिए क्रमशः 3 लाख 50 हजार रुपए, उप स्वास्थ्य केन्द्र करजी के लिए 3 लाख 8 हजार, कोदौरा के लिए 3 लाख 19 हजार रुपए की प्रशासकीय स्वीकृति प्रदान की गयी है। विकासखण्ड कुसमी के उप स्वास्थ्य केन्द्र धनेशपुर, डुमरखोली, घुटरीडीह, कमलापुर, शाहपुर के लिए क्रमशः 3 लाख 50 हजार, विकासखण्ड रामचन्द्रपुर के प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र जामवंतपुर के लिए 4 लाख रुपए, उप स्वास्थ्य केन्द्र देवीगंज, मरमा, भाला, पुरानडीह के लिए क्रमशः 3 लाख 50 हजार रुपए, विकासखण्ड वाड्रफनगर के प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र बरतीकला एवं चलगली के लिए क्रमशः 3 लाख 85 हजार रुपए, पण्डरी के लिए 3 लाख 91 हजार, सुलसुली के लिए 4 लाख उप स्वास्थ्य केन्द्र कारीमाटी के लिए 3 लाख 45 हजार, महुली के लिए 3 लाख 22 हजार, रजखेता के लिए 3 लाख 40 हजार एवं पशुपतिपुर के लिए 1 लाख 93 हजार रुपए तथा विकासखण्ड शंकरगढ़ के प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र भरतपुर के लिए 3 लाख 99 हजार, घुघरीकला के लिए 2 लाख 45 हजार रुपए, गिरजापुर के लिए 2 लाख 46 हजार रुपए, जोकापाट के लिए 2 लाख 33 हजार रुपए, रेहड़ा के लिए 3 लाख 45 हजार रुपए एवं उप स्वास्थ्य केन्द्र उमको के लिए 2 लाख 51 हजार रुपए की स्वीकृति दी है। कलेक्टर ने कार्यपालन अभियंता ग्रामीण यांत्रिकी सेवा संभाग बलरामपुर को उक्त निर्माण कार्यों के लिए निर्माण एजेन्सी नियुक्त किया है।

01-10-2020
सभी एसडीएम प्राथमिक और सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों का निरीक्षण कर देंगे साप्ताहिक रिपोर्ट : कलेक्टर

धमतरी। कलेक्टर जयप्रकाश मौर्य ने गुरुवार को समय-सीमा की बैठक लेते हुए विभिन्न महत्वपूर्ण योजनाओं की प्रगति की समीक्षा की। कलेक्टर ने सभी अनुविभागीय अधिकारी राजस्व को प्राथमिक और सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों का दौरा कर साफ-सफाई, दवाइयों की उपलब्धता, बैठक व्यवस्था इत्यादि का निरीक्षण कर हर सप्ताह रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश दिए हैं। इसके अलावा उन्हें खण्ड चिकित्सा अधिकारियों की बैठक लेने कहा है, ताकि संस्थागत प्रसव, नियमित टीकाकरण और चार बार गर्भवती की एएनसी जांच सुनिश्चित की जा सके। साथ ही निर्देशित किया कि वे हर 15 दिन में तहसील कोर्ट का निरीक्षण कर वहां सुचारू और गुणवत्तापूर्वक तरीके से प्रकरणों का निपटारा हो रहा, यह सुनिश्चित करेंगे।

बैठक में यह भी निर्देशित किया गया कि गिरदावरी शुद्ध हो इसके लिए दो अक्टूबर को आयोजित होने वाले ग्राम सभा में किसानों की सूची पटवारी जाकर वाचन करेंगे, जिससे कि किसानों के फसल और उसके खसरे की जानकारी को क्रॉस चेक करने में सुविधा हो और समय पर दावा-आपत्ति मंगाई जा सके। यह भी निर्देशित किया कि समर्थन मूल्य में खरीफ विपणन वर्ष 20-21 में धान खरीदी की तैयारी के लिए सभी एसडीएम क्षेत्र में बोरे की उपलब्धता की खाद्य निरीक्षक के साथ बैठक ले यह देखेंगे कि राइस मिलर्स से मिलने वाली बोरी और शासकीय उचित मूल्य दुकानों में उपलब्ध बोरी की समीक्षा हो सके। बताया गया कि मई से सितम्बर तक उचित मूल्य दुकानों से 8,93,706 के विरूद्ध 7,00,845 नग बोरी मिली है। इसके अलावा मिलर्स से अब तक 37,47,335 बोरी मिल चुकी है।

उन्होंने महिला एवं बाल विकास विभाग को निर्देशित किया कि ग्रामीण क्षेत्र के आंगनबाडियों में गरम पका भोजन खाने आने वाले बच्चों का आंकलन कर लें, अगर वह आंकड़ा 50 प्रतिशत से कम हो, तो अभिभावकों से सहमति ले लें। इस आधार पर उन आंगनबाड़ियों के बच्चों को सूखा राशन अगले एक माह के लिए दिया जाए। साथ ही कुपोषण मुक्ति की दिशा में सतत् प्रयास करने पर भी कलेक्टर ने बल दिया। बैठक में कलेक्टर ने प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना की गारंटी अवधि की सड़कों को हर हाल में 15 नवंबर तक संधारित कराने के निर्देश दिए हैं। कार्यपालन अभियंता प्रधानमंत्री ग्राम सड़क को दिए हैं। इसके बाद एसडीएम उन सड़कों की गुणवत्ता की जांच करेंगे। अतः प्राथमिकता से सड़क सुधार के कार्य को करने पर कलेक्टर ने जोर दिया।

बैठक में कलेक्टर ने कोविड 19 से बचाव के लिए अनिवार्य रूप से मास्क लगाने, नियमित तौर पर हाथ को धोते रहने और कार्यालय को भी समय-समय पर साफ कराते रहने पर जोर दिया। उन्होंने निर्देशित किया कि सभी अधिकारी नियमित तौर पर शासकीय काम करेंगे, ताकि योजनाओं को मैदानी स्तर पर सही तरीके से क्रियान्वित करने में सहूलियत हो। बैठक में अन्य विषयों पर भी चर्चा की गई। इस मौके पर मुख्य कार्यपालन अधिकारी, जिला पंचायत नम्रता गांधी, वनमण्डलाधिकारी अमिताभ बाजपेई, अपर कलेक्टर दिलीप अग्रवाल सहित जिला स्तरीय अन्य अधिकारी मौजूद रहे। साथ ही ब्लॉक स्तर के अधिकारी वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए बैठक से जुड़े रहे।

29-09-2020
दिव्यांगों को छात्रवृत्ति योजना के लिए आवेदन आमंत्रित

रायपुर/रायगढ़। समाज कल्याण विभाग द्वारा दिव्यांगजन अध्ययनरत छात्र-छात्राओं से दिव्यांगजन छात्रवृत्ति योजना के लिए आवेदन आमंत्रित किया गया है। पात्रता रखने वाले छात्र-छात्राओं से आग्रह किया गया है कि वे अपना आवेदन यथाशीघ्र अपने विद्यालय के माध्यम से प्रस्तुत कर सकते हैं।ज्ञात है कि छत्तीसगढ़ शासन समाज कल्याण विभाग द्वारा प्राथमिक, माध्यमिक, उच्चतर माध्यमिक एवं महाविद्यालय मेें अध्ययनरत दिव्यांगजन छात्र-छात्राओं को दिव्यांगजन छात्रवृत्ति योजना अंतर्गत छात्रवृत्ति प्रदाय किया जाता है।

छात्रवृत्ति की पात्रता के लिये दिव्यांगजन छात्र का 40 प्रतिशत या उससे अधिक के दिव्यांग होने संबंधी जिला चिकित्सा मण्डल द्वारा जारी चिकित्सा प्रमाण-पत्र, छत्तीसगढ़ का निवासी होने का प्रमाण-पत्र, गत वर्ष परीक्षा में उत्तीर्ण होने का प्रमाण-पत्र, आय प्रमाण-पत्र, आधार कार्ड की छायाप्रति, बैंक खाता पासबुक की प्रथम पृष्ट की छायाप्रति के साथ आवेदन पत्र संबंधित विद्यालय के प्राचार्य/प्रधान पाठक के अनुशंसा सहित प्रस्तुत करना होगा।जिले के अधिक से अधिक अध्ययनरत दिव्यांगजन छात्र-छात्राओं को योजना अंतर्गत छात्रवृत्ति का लाभ दिलाये जाने हेतु आवेदन पत्र प्रस्तुत करने के लिये जिले के जिला शिक्षा अधिकारी, जिला परियोजना समन्वयक राजीव गांधी शिक्षा मिशन, सर्व जनपद पंचायत, विकासखण्ड शिक्षा अधिकारी सहित, सर्व विकासखण्ड स्त्रोत समन्वय को पत्र निर्गमित किया गया है।

28-09-2020
कांग्रेस की प्राथमिक में केवल प्रस्तावित प्रदर्शन, इसलिए हटाया लॉक डाउन: कौशिक

रायपुर। नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने कहा कि प्रदेश में कोरोना की गति अभी कम नही हुई है। इन सबके बाद भी कांग्रेस को केवल अपने प्रस्तावित कार्यक्रम की चिंता है। इसलिए ही लॉक डाउन हटाया जा रहा है ताकि अपनी आला कमान दिल्ली को खुश किया जा सके। विपदा के समय जनभावनाओं के अनुरूप अब तक लगे लॉक डाउन की समीक्षा होनी चाहिये कि प्रदेश में स्थिति को बेहतर कैसे किया जाये। इसकी चिंता होती तो कोरोना के मसले पर प्रदेश सरकार संवेदनशीलता से काम करती लेकिन सरकार की प्राथमिकता में कोरोना नहीं,प्रदर्शन करना है। यदि प्राथमिकता रहती तो छत्तीसगढ़ को भगवान के भरोसे छोड़ कर मुख्यमंत्री नागपुर नहीं जाते और स्वास्थ्य मंत्री पटना नहीं जाते। उन्होंने कहा कि पूरे प्रदेश को बदहाली में छोड़कर प्रदेश की सरकार केवल दिल्ली दरबार को खुश करने में लगी है। नेता प्रतिपक्ष कौशिक ने कहा कि पहले दिन से ही कोरोना को लेकर प्रदेश की सरकार अनिणर्य  की स्थिति में रही है। प्रदेश सरकार गंभीर होती तो स्थिति ऐसी नही होती। उन्होंने कहा कि इस समय पर संवेदनशीलता के साथ सही फैसला लेने का समय है पर इस ओर दूर-दूर तक कहीं भी प्रदेश सरकार की नीयत साफ नहीं दिखती है।

 

11-07-2020
उत्कृष्ट अंग्रेजी माध्यम विद्यालय में संविदा पदों पर भर्ती के लिए 21 तक आवेदन आमंत्रित

नारायणपुर। जिले के उत्कृष्ट अंग्रेजी माध्यम विद्यालय शासकीय उच्चतर माध्यमिक उत्कृष्ट विद्यालय सिंगोड़ीतराई में व्याख्याता, प्रधान पाठक पूर्व माध्यमिक/प्राथमिक, शिक्षक, व्यायाम शिक्षक, कम्प्यूटर शिक्षक, सहायक शिक्षक, प्रयोग शाला सहायक, सहायक ग्रेड-2 ग्रंथपाल, सहायक ग्रेड 3, भृत्य एवं चौकीदार के संविदा पदों के लिए 21 जुलाई तक आवेदन पत्र आमंत्रित किए गए हैं। इस पद के लिए इच्छुक एवं पात्र अभ्यर्थी विज्ञापन में उल्लेखित शर्तों एवं आर्हता के साथ निर्धारित प्रारूप में कार्यालय जिला शिक्षा अधिकारी जिला नारायणपुर के पते पर पंजीकृत डाक एवं स्पीड पोस्ट के माध्यम से अपना आवेदन पत्र निर्धारित तिथि तक प्रस्तुत कर सकते हैं। आवेदन पत्र का प्रारूप एवं विज्ञापन के संबंध में विस्तृत जानकारी जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय के सूचना पटल पर एवं जिलें की वेबसाईट www.narayanpur.gov.in  (डब्ल्यूडब्ल्यूडब्ल्यूडॉटनारायणपुरडॉटजीओव्हीडॉटइन) और www.zpnarayanpur.gov.in डब्ल्यूडब्ल्यूडब्ल्यूडॉटजेडपीनारायणपुरडॉटजीओव्हीडॉटइन पर देखी जा सकती है।

22-05-2020
प्रीतपाल बेलचंदन ने भाजपा की प्राथमिक सदस्यता से दिया इस्तीफा      

दुर्ग। भाजपा के वरिष्ठ नेता प्रीतपाल बेलचंदन ने शुक्रवार को भाजपा की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे दिया है। देर शाम हुए घटनाक्रम में उन्होंने निरंतर भाजपा से अपना मोहभंग होते हुए कारणों को ध्यान में रखकर अपनी पार्टी से इस्तीफा दिया है।

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804