GLIBS
28-07-2020
Breaking: पुरानी बस्ती, खपराभट्टी, त्रिमूर्ति नगर, देवेन्द्र नगर और अमलीडीह में कोरोना जांच के निशुल्क शिविर

रायपुर। कोविड-19 के बढ़ते मामलों को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग द्वारा राजधानी रायपुर के पांच वार्डों में कोरोना वायरस के निशुल्क जांच के लिए शिविर लगाए जा रहे हैं। बुखार, सर्दी, खांसी, सांस लेने में दिक्कत तथा स्वाद और सुनने की क्षमता में कमी महसूस होने पर ऐसे लोग इन शिविरों में आकर सैंपल दे सकते हैं। स्वास्थ्य विभाग द्वारा 29 जुलाई को सवेरे साढ़े 11 बजे से पुरानी बस्ती, वार्ड क्रमांक-44 में कोरोना जांच के लिए शिविर लगाया जाएगा। यहां लिली चौक के पास सरस्वती स्कूल में सैंपल कलेक्शन किया जाएगा। 29 जुलाई को ही दोपहर दो बजे से खपराभट्टी, काली माता वार्ड, वार्ड क्रमांक-11 में कोरोना वायरस की जांच की जाएगी। यहां सामुदायिक भवन में स्वास्थ्य विभाग की टीम जांच के लिए मौजूद रहेगी।
30 जुलाई को सवेरे 11 बजे त्रिमूर्ति नगर, वीरांगना अंवति बाई वार्ड, वार्ड क्रमांक-6 के इंदिरा आवास में कोरोना की जांच के लिए शिविर आयोजित है। यहां सामुदायिक भवन में जांच की जाएगी। इसी दिन दोपहर तीन बजे से देवेन्द्र नगर, सेक्टर-1, शहीद हेमू कालाणी वार्ड, वार्ड क्रमांक-28 में भी सामुदायिक भवन में कोरोना वायरस की जांच के लिए सैंपल लिए जाएंगे। 31 जुलाई को दोपहर 12 बजे से अमलीडीह में कोविड-19 के संभावित मरीजों के सैंपल लिए जाएंगे। यहां पानी टंकी के पास जोन-10 के कार्यालय में स्वास्थ्य विभाग की टीम सैंपल कलेक्शन के लिए मौजूद रहेगी। स्वास्थ्य विभाग ने नगर निगम एवं जांच दल में शामिल अधिकारियों को लोगों की व्यक्तिगत जानकारी और लक्षणों से संबंधित फॉर्म को पहले से ही भरवाकर रखने के निर्देश दिए हैं, जिससे कि लैब तकनीशियनों के आने के बाद जल्दी से ज्यादा से ज्यादा लोगों के सैंपल लिए जा सकें।

 

24-06-2020
रिंग रोड ओवरब्रिज के नीचे जल जमाव, लोग परेशान 

रायपुर। मानसून की दो दिनों की झमाझम बारिश के बाद छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में आज रिंग क्रमांक-2 पर संतोषीनगर ओवरब्रिज के नीचे जल जमाव का नजारा। उल्लेखनीय है कि इस ओवरब्रिज के साथ-साथ इसी रिंग रोड पर पचपेढ़ी नाका ओवरब्रिज के नीचे भी हर साल बरसात में ऐसा ही जल जमाव हो जाता है, लेकिन सर्वाधिक जल जमाव संतोषीनगर आवेरब्रिज के नीचे होता है। इसकी वजह से वाहन चालकों और राहगीरों को काफी परेशानियों का सामना पड़ता है। मानसून पिछले एक सप्ताह से छत्तीसगढ़ में सक्रिय है और राजधानी में इस मानसून की पहली बारिश विगत दो दिनों में दर्ज की गई है।

09-06-2020
पार्षद पर गांजा तस्करी का आरोप, झांसी से गिरफ्तार

रायपुर। राजधानी रायपुर से अलग होकर बन नए निगम बीरगांव के वार्ड 21 के कांग्रेस पार्षद को गांजा तस्करी के आरोप में उत्तरप्रदेश के झांसी से गिरफ्तार किया गया है। मिली जानकारी के मुताबिक पार्षद संजय सिंह पर गांजा तस्करी का आरोप है। वहीं ब्लॉक कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष ने संजय सिंह को कांग्रेस से निष्कासित कर दिया है।

03-06-2020
संबित पात्रा को पुलिस ने किया नोटिस जारी 

रायपुर। प्रदेश की राजधानी रायपुर के थानों में लिखित शिकायत के बाद रायपुर पुलिस ने भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा को नोटिस जारी कर 8 जून को पेश होने कहा है। बता दें कि दो पूर्व प्रधानमंत्री के बारे में अशोभनीय ट्वीट के मामले में उनके खिलाफ एफआईआर कराया गया था। इस मामले में कांग्रेसियों ने थानों में पहुंचकर एफआईआर दर्ज कराया था।

02-06-2020
गाइडलाइन का पालन करने वाले ही खोल पाएंगे ठेले और गुमटी 

रायपुर। अनलॉक-1 की गाइडलाइन जारी होने के बाद राजधानी रायपुर समेत प्रदेशभर में सिटी बसें चलेंगी। शहर में अब नगर निगम ने चौपाटी और खाने-पीने के ठेले और गुमटियां खोलने की अनुमति भी दे दी है। सोमवार से शनिवार तक सुबह 7 बजे से शाम साढ़े 6 बजे तक इन ठेलों पर लोग सिर्फ पार्सल से ही खाने-पीने की चीजें ले सकेंगे। ठेले के सामने खाने वालों के खिलाफ धारा 188 के तहत अपराध दर्ज किया जाएगा। दो ठेलों के बीच 20 फीट की दूरी बनानी अनिवार्य है यदि कोई इसका पालन नहीं करेगा तो उसके लिए नगर निगम के जोन कमिश्नर कार्रवाई करेंगे।

साबुन और सैनिटाइजर रखना होगा अनिवार्य :
गुपचुप, चाट, भेल आदि खाने के लिए जो भी पार्सल लेने जाएगा इसके पहले वह अपना हाथ सैनिटाइज करेगा। इसकी व्यवस्था गुमटी और ठेले वाले खुद करेंगे। साबुन और सैनिटाइजर रखना अनिवार्य होगा। ठेलों के पास मुंह धोना, थूकना, गंदगी फैलाना सख्त मना है। यहां पर शराब, पान, गुटखा, तंबाकू का प्रयोग बैन रहेगा। गाइडलाइन का पालन नहीं करने पर कार्रवाई होगी।

26-05-2020
प्रदूषण नियंत्रण के उपायों पर प्रभावी अमल हो: मो. अकबर

रायपुर। वन, आवास एवं पर्यावरण मंत्री मो.अकबर ने मंगलवार को राजधानी रायपुर स्थित अपने निवास कार्यालय में विभागीय अधिकारियों की बैठक ली। इसमें उन्होंने उद्योगों में दूषित जल उपचार संयंत्र की स्थापना और नदियों में मिलने वाले नालों पर सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट की प्रगति की समीक्षा की। उन्होंने इस दौरान पर्यावरण विभाग के अधिकारियों को प्रदूषण नियंत्रण के उपायों पर प्रभावी अमल के लिए सख्त निर्देश दिए। साथ ही जरूरत के मुताबिक नदियों में मिलने वाले नालों में दूषित जल उपचार संयंत्रों के अधिक से अधिक स्थापना की कार्यवाही सुनिश्चित करने के लिए निर्देशित किया।बैठक में पर्यावरण विभाग द्वारा बताया गया कि राज्य में वर्तमान में जल प्रदूषणकारी उद्योगों में से दूषित जल उपचार संयंत्र स्थापित नहीं करने वाले 107 विभिन्न उद्योगों के खिलाफ कठोर कार्रवाई की गई है। इसके तहत पर्यावरण विभाग द्वारा इन सभी उद्योगों को जल अधिनियम की धारा के तहत उत्पादन बंद कराया गया है। इनमें से क्षेत्रीय कार्यालय रायपुर के अंतर्गत 65 उद्योग, भिलाई के अंतर्गत 2, रायगढ़ के अंतर्गत 8 और बिलासपुर के अंतर्गत 32 उद्योग शामिल है। इस अवसर पर आवास एवं पर्यावरण विभाग की सचिव संगीता पी.,पर्यावरण संरक्षण मंडल के सदस्य सचिव आरपी तिवारी सहित समस्त क्षेत्रीय अधिकारी पर्यावरण संरक्षण मंडल उपस्थित थे।रायपुर क्षेत्रीय कार्यालय के सीमा क्षेत्र के अंतर्गत खारून नदी में 21 नाले मिलते हैं।

इनमें रायपुर शहर के अंतर्गत निमोरा, भाटागांव, चंदनीडीह तथा कारा में 4 सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट निर्माणाधीन है और धमतरी में एक सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट प्रस्तावित हैै। रायपुर के मुख्य नाला छोकरा नाला तथा अछोली नाला एवं 9 अन्य नाले उरकुरा, दलदल सिवनी, आमासिवनी, तेलीबांधा, सड्डू, लाभांडी, जोरा, फुन्डहर तथा अमलीडीह नाला सहित कुल 11 नालों के लिए निमोरा में 90 एमएलडी क्षमता, भाटागांव के पास 6 एमएलडी क्षमता, ग्राम चंदनीडीह में 75 एमएलडी क्षमता और कारा में 35 एमएलडी क्षमता का सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट निर्माणाधीन है। इनके निर्माण कार्य पूर्ण होने का समय मार्च 2021 निर्धारित है। इसके अलावा धमतरी में एक सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट प्रस्तावित है।इसी तरह महानदी में 16 नाले मिलते हैं। इनमें गोबरा नवापारा और राजिम में एक-एक सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट प्रस्तावित है। इसके अलावा शिवनाथ नदी में 2 नाले मिलते हैं। इनमें सिमगा में एक सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट प्रस्तावित है। भिलाई क्षेत्रीय कार्यालय के अंतर्गत राजनांदगांव के ग्राम मोहड़ में 6.2 एमएलडी के एसटीपी निर्माणाधीन है तथा दुर्ग शहर और कवर्धा के लिए एसटीपी प्रस्तावित है। जगदलपुर क्षेत्रीय कार्यालय के अंतर्गत बालीकोंटा में 76 करोड़ रूपए की राशि से 25 एमएलडी क्षमता का एसटीपी निर्माणाधीन है। इसका वर्तमान में लगभग 20 प्रतिशत कार्य पूर्ण हो गया है। साथ ही कांकेर तथा दंतेवाड़ा में भी एसटीपी का निर्माण प्रस्तावित है।

25-05-2020
लॉक डाउन-4 में दिल्ली से पहली फ्लाइट रायपुर पहुँची

रायपुर। दो महीने बाद आज राजधानी रायपुर स्थित स्वामी विवेकानंद अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्‌डे में पहली फ्लाइट पहुंची। लॉक डाउन-4 में देश में सोमवार से घरेलू उड़ान सेवा की शुरुआत हो चुकी है। कोलकाता की फ्लाइट कैंसल हो जाने के कारण दिल्ली से पहली फ्लाइट रायपुर पहुंची।

06-04-2020
गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू निकले राजधानी की कानून व्यवस्था देखने

रायपुर। लॉक डाउन में कानून व्यवस्था के संबंध में शिकायत मिलने के बाद गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू ने खुद व्यवस्था का जायजा लिया। राजधानी में लॉक डाउन के बीच 48 घंटे की कड़ाई का निर्णय लिया गया है, इस दौरान शहर के विभिन्न इलाकों में पुलिस की तैनाती हुई है। गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू ने एसएसपी आरिफ शेख के साथ शहर में सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया। एसएसपी ने उन्हें प्रत्येक चौक-चौराहों सहित विभिन्न सड़कों का भ्रमण किया।

22-03-2020
मास्क की कालाबजारी दुकानदार पर गिरी गाज, दुकान निलंबन का प्रस्ताव

बलौदाबाजार। कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव में काम आने वाले मास्क की कालाबाज़ारी करते हुऐ कसडोल के एक मेडिकल दुकान पकड़ा गया। तहसीलदार शंकरलाल सिन्हा के नेतृत्व में पुलिस एवं ड्रग इंस्पेक्टर की संयुक्त टीम ने निर्धारित दर से ज्यादा कीमत पर मास्क बेचते हुए दुकान मालिक को पकड़ लिया। मेडिकल दुकान के लाइसेंस निलम्बन की अनुशंसा सहित प्रस्ताव राजधानी रायपुर स्थित उच्च कार्यालय भेजा जा रहा है। तहसीलदार सिन्हा ने बताया कि कलेक्टर कार्तिकेया गोयल द्वारा दवाई दुकानों की जांच के लिए संयुक्त टीम बनाई गई है। टीम को तहसील मुख्यालय कसडोल के कॉलेज रोड स्थित आकाश मेडिकल स्टोर्स के खिलाफ ज्यादा दर पर मास्क बेचने की शिकायत मिल रही थी। दुकान के प्रोपराइटर उमेश साहू हैं। शुरुआत में उन्होंने दुकान में मास्क नहीं होना बताया। बाद में कड़ाई बरतने पर उन्होंने बताया कि 30 मास्क उन्होंने 7800 रुपये में खरीद कर लाये थे। इनमें से कुछ का अपने पारिवारिक सदस्यों के उपयोग के लिए है। गहराई से पूछताछ और पुख्ता प्रमाण  प्रस्तुत किये जाने पर 350 रुपये प्रति नग के हिसाब से मास्क बेचे जाने की बात स्वीकार की गई। दुकान से 4 नग मास्क बरामद भी किया गया। ड्रग इंस्पेक्टर किशोर ठाकुर और नमूना सहायक रूखमणी कंवर द्वारा भी नमूना लिया गया। उनके द्वारा प्रकरण तैयार के दुकान के लाइसेंस निरस्तीकरण का प्रस्ताव रायपुर भेजा गया है। टीम ने इसके बाद सर्वा, छाँछी, सेल, कटगी के मेडिकल दुकानों की भी जांच की। सेल के मुकेश मेडिकल स्टोर्स का मालिक दुकान खुला छोड़ कर नदारद था। उसे भी शो कॉज़ नोटिस जारी की गई है। जांच टीम में टीआई दीनबन्धु ध्रुव, एएसआई बंजारे, ड्रग इंस्पेक्टर किशोर ठाकुर,पटवारी ऋषिकेश मिश्रा, नोहर साहू, आरक्षक लोमश साहू और मिलन साहू शामिल थे।

 

15-03-2020
रिंग रोड पर यातायात व्यवस्था सुधारने की मांग, कांग्रेस ने किया प्रदर्शन

रायपुर। राजधानी में रिंग रोड नम्बर एक हाइवे पर हो रहे लगातार हादसे को लेकर शहीद भगत सिंह ब्लॉक कांग्रेस कमेटी ने एक दिवसीय प्रदर्शन किया। ब्लॉक अध्यक्ष अशोक ठाकुर ने कहा कि सरोना रिंग रोड पर आए दिन हादसे हो रहे हैं। यहां व्यवस्था सुधारने, ब्रेकर और सिग्नल लगाने की मांग लगातार की जाती रही है लेकिन कभी काम नहीं हुआ। उन्होंने कहा कि यदि शासन प्रशासन की ओर से ध्यान नहीं दिया गया तो आने वाले दिनों में बड़ा आंदोलन किया जाएगा। प्रदर्शन में ब्लॉक कांग्रेस सहित स्थानीय नागरिक शामिल थे।    
 

06-03-2020
30 साल से जर्जर मकानों में रहने वाले 55 परिवारों को मिला पक्का मकान

रायपुर। राजधानी के टिकरापारा स्वीपर कॉलोनी में 30 साल से जर्जर मकानों में रहने वाले 55 परिवारों को अब नया पक्का मकान मिल गया है। रायपुर नगर निगम ने टिकरापारा स्वीपर कॉलोनी के ब्लॉक 4 के 32 मकानों में रहने वाले 45 परिवारों और समीप में झोपड़ियां बनाकर रहने वाले 10 परिवारों को मोर मकान मोर चिन्हारी के तहत मठपुरैना में पक्के मकानों में व्यवस्थापित कराया। निगम अपर आयुक्त पुलक भट्टाचार्य ने कहा कि मोर मकान मोर चिन्हारी योजना के तहत टिकरापारा में 30 साल से निवासरत प्रभावित परिवारों को साढे 6 लाख की लागत से निर्मित पक्के मकान में व्यवस्थापित किया गया है। इस मकान के लिए उन्हें 70 हजार रुपए किश्तों में जमा करने होंगे। योजना में प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत मोर मकान मोर चिन्हारी में रायपुर नगर निगम के माध्यम से लगभग 20 हजार मकान बनाए जा रहे हैं। इसमें लगभग 12 हजार मकान विभिन्न स्थानों पर तेजी के साथ निमार्णाधीन है।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804