GLIBS
16-09-2020
कमिश्नर ने कलेक्टरों से कहा- मिल रही कई शिकायतें,इलाज के नाम पर अधिक वसूली होने पर पीड़ित परिवार को राशि वापस दिलाएं 

रायपुर। कमिश्नर रायपुर जीआर चुरेंद्र ने संभाग के सभी जिलों के कलेक्टरों को पत्र लिखकर सुझाव दिया है। उन्होंने कहा है कि, जिला, विकासखंड और अन्य स्तर पर जो भी निजी अस्पताल संचालित है, उनसे सेवा भावना के साथ इलाज का न्यूनतम चार्ज लिए जाने के लिए प्रेरित करें। समुचित कार्यवाही करें, जिससे आम जनता व कोविड बीमारी से पीड़ित परिवारों को राहत मिले। कमिश्नर ने अपने पत्र में ध्यान आकर्षित करते हुए लिखा है कि, जनता व प्रतिनिधियों की ओर से यह शिकायत आ रही है कि कोरोना संक्रमण काल के दौरान निजी अस्पतालों में भी मरीजों का इलाज हो रहा है,लेकिन कोविड टेस्ट के नाम पर विभिन्न बीमारियों से ग्रस्त मरीजों के त्वरित इलाज में विलंब हो रहा,इससे कई बार गंभीर रूप से बीमार व्यक्तियों का निधन भी हो जाता है। निजी अस्पताल संचालकों की ओर से समुचित प्रशासनिक नियंत्रण के अभाव में विभिन्न प्रकार के बीमारियों और कोविड के इलाज के नाम पर बड़ी राशि वसूलने की  शिकायत भी आ रही है।

कमिश्नर ने पत्र में कहा है कि, जिले के अंतर्गत जिन निजी अस्पतालों में कोविड -19 के मरीजों को उपचार करने की सुविधा दी गई है, ऐसे सभी अस्पतालों का सूचीकरण, उनकी ओर से मरीजों के किए जा रहे उपचार या लिए जा रहे उपचार राशि की जानकारी प्रतिदिन लेने की व्यवस्था बनाई जाए। मरीजों के परिवार से भी संपर्क कर इसकी पुष्टि की जाए। यदि कोविड 19 के बीमारी के इलाज के नाम पर अधिक राशि का वसूली की जानकारी प्राप्त होती है, तो वह राशि मरीज के परिवार को वापस कराई जाए। कश्मिर ने कहा है कि, सेवानिवृत्त हो चुके पेंशनधारी ,वरिष्ठ नागरिकों को भी सस्ता - सुलभ इलाज निजी या शासकीय अस्पतालों से कराए जाने की व्यवस्था करें। इसके लिए कलेक्टर की अध्यक्षता में निजी अस्पताल के संचालकों की प्रथम बैठक भी आयोजित करने को कहा है। इससे औचित्यपूर्ण दर पर निजी अस्पतालों से मरीजों की उपचार की व्यवस्था बनाई जाए। कमिश्नर ने कहा है कि, इसके लिए बनाई गई व्यवस्था को क्रियान्वित करने के दृष्टि से जिले स्तर पर एक टीम गठित किया जए, जिसका अध्यक्ष अतिरिक्त जिला दण्डाधिकारी या मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत को रखा जाए। उन्होंने कहा है कि, यह समिति समय -समय पर निजी अस्पतालों में मरीजों के उपचार गतिविधियों का आकलन करने निरीक्षण करेंगें, साथ ही निजी अस्पतालों के संचालकों की आवश्यकतानुसार मासिक बैठक लेकर समीक्षा करेंगें। मरीजों का औचित्यपूर्ण दर पर इलाज की व्यवस्था बनाएंगे। इसी तरह की समिति विकासखंड मुख्यालय या अन्य नगरीय क्षेत्र के लिए भी गठित कराकर कार्य कराने के निर्देश दिए हैं। पत्र पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

05-09-2020
Breaking : भूपेश बघेल कल लेंगे बैठक, कोरोना संक्रमण की रोकथाम करने कई महत्वपूर्ण विषयों पर होगी चर्चा 

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल 6 सितंबर को दोपहर एक बजे प्रदेश में कोरोना संक्रमण से बचाव और उपचार की समीक्षा करेंगे। निवास कार्यालय से वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से सभी कमिश्नर, कलेक्टर, आईजी,जिला पंचायतों के सीईओ, नगर निगम के आयुक्तों और मुख्य स्वास्थ्य एवं चिकित्सा अधिकारियों की बैठक लेंगे। मुख्यमंत्री जिलेवार अस्पतालों, कोविड सेंटर और आइसोलेशन केंद्रों में उपलब्ध और ओक्यूपाइड बिस्तरों की संख्या, सिंप्टोमेटिक और एसिंप्टोमेटिक मरीजों की संख्या, जिलेवार प्रतिदिन औसत टेस्ट क्षमता, जांच रिपोर्ट में लगने वाले समय, रैपिड टेस्ट और आरटीपीसीआर टेस्ट की संख्या, पिछले 7 दिनों का दैनिक विवरण, दोनों प्रकार के टेस्टों के परिणामों, आक्सीमीटर की उपलब्धता, आवश्यक दवाओं की उपलब्धता, आईसीयू और वेंटिलेटर की उपलब्धता, कंट्रोल रूम और हेल्पलाइन की कार्यप्रणाली की समीक्षा करेंगे।

02-09-2020
कलेक्टरों से कमिश्नर ने कहा- आप जानते तो होंगे सीएस के निर्देश, फिर लापरवाही क्यों,प्राथमिकता से निपटाएं काम

रायपुर। संभाग आयुक्त जीआर चुरेन्द्र ने मंगलवार को रायपुर संभाग के सभी कलेक्टरों को पत्र भेजकर गिरदावरी के कार्य को गंभीरता से कराने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कलेक्टरों से कहा है कि, वीडियो कांफ्रेसिंग में मुख्य सचिव आरपी मंडल ने कड़े निर्देश दिए हैं, जिससे आप भी वाकिफ हुए हैं। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और मुख्य सचिव की मंशा भी यही है कि, गिरदावरी कार्य शतप्रतिशत हो। सारी प्रविष्टियां मौंके के अनुरूप हो। संभाग आयुक्त ने कहा है कि, उन्होंने तहसील अभनपुर व रायपुर के गिरदावरी कार्य के निरीक्षण के दौरान पाया है कि, कृषि भूमिधारक कुछ किसान कृषि भूमि का दूसरे कार्यों में उपयोग कर रहे हैं। उन्होंने ऐसे मामलों में विशेष ध्यान देकर उचित कार्यवाही करने के निर्देश दिए हैं। संभाग आयुक्त ने कुछ महत्वपूर्ण बिंदूओं में तथ्य देते हुए पूरी गंभीरता के साथ गिरदावरी का ध्यान समय सीमा में कराने के निर्देश दिए हैं।

27-08-2020
नक्सल प्रभावित क्षेत्र सुकमा में पेड़ के नीचे पढ़ रहें बच्चों को देखकर गदगद हुए कमिश्नर और आईजी

रायपुर। बस्तर कमिश्नर अमृत खलखो और आईजी सुंदरराज पी. गुरूवार को सुकमा जिला मुख्यालय के बाढ़ ग्रस्त इलाकों का दौरा करने पहुंचे। उन्होंने झापरा, कुम्हाररास, एनएच 30 बाईपास व वार्ड क्रमांक 13 शबरी नगर में बाढ़ प्रभावित इलाके का जायजा लिया और प्रभावितों से चर्चा करके उनका हाल-चाल जाना। इस दौरान कलेक्टर चंदन कुमार, पुलिस अधीक्षक शलभ सिन्हा सहित अन्य अधिकारी भी उनके साथ थे। शबरी तट पर बसे शबरी नगर में बाढ़ प्रभावितों से मिलने पहुँचे कमिश्नर और आईजी के सामने सुकमा नगर पालिका अध्यक्ष  राजू साहू और उपाध्यक्ष आयशा हुसैन ने वार्ड क्रमांक 3, 6, 11, 12 व 13 में रिटेनिंग वाल बनाने के लिए मांग पत्र कमिश्नर को सौंपा, जिस पर उन्होंने जल्द स्वीकृति देने की बात कही। इस दौरान शबरी नगर के बाढ़ प्रभावितों ने जिला व नगरीय प्रशासन के कार्य की तारीफ की। प्रभावितों ने कहा कि बाढ़ के दौरान कलेक्टर चंदन कुमार व उनकी टीम द्वारा हर संभव मदद उपलब्ध कराया गया, राहत शिविर में भी बेहतर इंतजाम किए गए थे। इसके उपरांत कमिश्नर व आईजी ने सुकमा के कुम्हाररास क्षेत्र में कोविड सेंटर (नवा अभियान) पहुँचकर सेंटर प्रभारियों से चर्चा किए।

सेंटर में कोविड संक्रमण को रोकने के लिए किए जा रहें प्रयासों के बारें जानकारी ली गई । कमिश्नर और आईजी जिला प्रशासन के अधिकारियों के साथ राम वन गमन पथ के प्रमुख स्थलों में से एक सुकमा के रामाराम मंदिर के विकास कार्यों का अवलोकन करने रामाराम पहुंचे थे। तभी गांव में नेटवर्क नहीं होने के कारण पेड़ के नीचे पढ़ रहें बच्चों पर उनकी नजर पड़ी, उन्होंने बच्चों के पास जाकर उनसे चर्चा की जिस पर बच्चों ने बताया कि पढ़ाई तुंहर द्वार के तहत उनकी ऑनलाइन क्लासेज चल रही हैं वो रोज इसी तरह यहां आकर पढ़ते हैं। नक्सल क्षेत्र में शिक्षा के लिए बच्चों में इस प्रकार की ललक देखकर कमिश्नर और आईजी सहित अन्य अधिकारी अभिभूत हुए। सुकमा प्रवास में  कमिश्नर खलखो और आईजी सुन्दरराज ने सुकमा के प्रमुख पर्यटन केन्द्र तुंगल डेम में बाढ़ के समय उत्कृष्ट कार्य करने वाले जिला बल और नगर सेना के 51 अधिकारी-कर्मचारी को सम्मानित किए।

 

18-08-2020
कमिश्नर ने बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का लिया जायजा, अधिकारियों से कहा-प्रभावितों की करे सहायता

बीजापुर। जिले की विषम परिस्थितियों की चुनौती को स्वीकार कर इस दूरस्थ इलाके के लोगों को बेहतर सेवाएं सुलभ कराएं। इस दिशा में सभी विभागों के अधिकारी आपसी समन्वय कर टीम भावना के साथ दायित्व निर्वहन करें। जिले में अनवरत् हो रही बारिश से निर्मित बाढ़ आपदा की स्थिति के कारण बाढ़ से प्रभावित लोगों को समुचित सहायता दी जाये। वहीं क्षति का आंकलन कर बाढ़ पीड़ित लोगों को त्वरित आर्थिक सहायता अनुदान उपलब्ध कराया जाये। उक्त निर्देश कमिश्नर बस्तर संभाग अमृत कुमार खलखो ने जिले के बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का जायजा लेने के पश्चात कलेक्टोरेट में बाढ़ आपदा प्रबंधन स्थिति की समीक्षा करते हुए दी। बैठक में कलेक्टर रितेश कुमार अग्रवाल, सीईओ पोषणलाल चन्द्राकर सहित विभिन्न विभागों के जिला स्तरीय अधिकारी और जिले में पदस्थ एसडीएम,तहसीलदार,सीईओ जनपद पंचायत तथा नगरीय निकायों के सीएमओ मौजूद थे।

कमिश्नर बस्तर संभाग अमृत कुमार खलखो ने बैठक के दौरान जिले में बाढ़ से हुई क्षति का आंकलन कर प्रभावितों को त्वरित सहायता प्रदान किये जाने कहा उन्होंने इस दिशा में जनहानि,पालतू मवेशियों की हानि,फसल एवं मकान क्षति आदि के लिए राजस्व पुस्तक परिपत्र 6-4 के तहत् आर्थिक सहायता अनुदान प्रदान किये जाने के निर्देश अधिकारियों को दिये। वहीं क्षतिग्रस्त शासकीय परिसंपत्तियों सड़क, पुल-पुलिया, स्कूल, आश्रम-छात्रावास भवनों, आंगनबाड़ी केन्द्र, स्वास्थ्य केन्द्र भवनों आदि का मरम्मत करने के लिए आपदा मोचन निधि के तहत् कार्ययोजना तैयार कर राज्य शासन को प्रेषित किए जाने के निर्देश अधिकारियों को दिये। उन्होंने बाढ़ से क्षतिग्रस्त सड़क,पुल-पुलिया को अतिशीघ्र मरम्मत किये जाने कहा। वहीं विद्युत लाइनों के सुधार सुनिश्चित किये जाने के निर्देश अधिकारियों को दिए। कमिश्नर बस्तर खलखो ने बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में स्थापित राहत शिविरों में लोगों के लिए खाद्य सामग्री, पेयजल, कपड़े-कम्बल आदि व्यवस्था सुनिश्चित करने कहा। इसके साथ ही राहत शिविरों में विद्युत व्यवस्था, केरोसीन ईत्यादि की सुलभता सुनिश्चित किये जाने के निर्देश अधिकारियों को दिये। उन्होने जिले में जारी लगातार बारिश के मद्देनजर नदी-नाले और बाढ़ की स्थिति पर सतत् निगरानी रखे जाने के निर्देश दिए। 

 

07-07-2020
यातायात व्यवस्था दुरुस्त करने सीएसपी और कमिश्नर संग निकले, रास्ता जाम करने वालों पर की कार्रवाई

दुर्ग। शहर की बदहाल यातायात व्यवस्था को दुरुस्त करने की पहल सीएसपी विवेक शुक्ला द्वारा प्रारंभ की गई है। मंगलवार को सीएसपी,नगर निगम कमिश्नर के साथ शहर के बाजार क्षेत्र के मार्ग पर निकले। इस दौरान उनके निर्देश पर आवागमन को बाधित करने वाले दुकानदारों को समझाइश दी। साथ ही सड़क पर कब्जा कर व्यवसाय करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की गई। बता दें कि शहर के प्रमुख मार्गों पर अवैध कब्जों की भरमार हो गई। इससे प्रायः जाम की स्थिति निर्मित होती रहती है। इसका खामियाजा जनता भोगना पड़ रहा है। वहीं निगम प्रशासन इस ओर से बेपरवाह है। शहर के बेतरतीब होती व्यवस्था को दुरुस्त करने सीएसपी ने निगम अमले के साथ इंदिरा मार्केट क्षेत्र का भ्रमण किया गया। इस दौरान सड़क पर कब्जा करने वाले कारोबारियों के सामान की जब्ती की गई। वहीं जुर्माना वसूल किया गया। सीएसपी ने दुकानदारों को सड़क को बाधित कर व्यवसाय न करने की समझाइश भी दी। सीएसपी शुक्ला ने बताया कि व्यवस्था सुधारने के लिए आगे भी व्यवस्था सुधारने के लिए ऐसी कार्यवाही संयुक्त रूप से लगातार की जाएगी।

 

20-05-2020
क्वारेंटाइन केंद्रों का कमिश्नर ने किया निरीक्षण, अधिकारियों को दिए आवश्यक निर्देश

आरंग। रायपुर संभाग के कमिश्नर जीआर चुरेन्द्र ने बुधवार को आरंग क्षेत्र के क्वारेंटॉइन सेंटर का निरीक्षण करने पहुचे। इस दौरान उन्होंने नगर पालिका क्षेत्र के अंतर्गत आईटीआई कालेज में बने क्वारेंटॉइन सेंटर और जनपद पंचायत आरंग के ग्राम पंचायत खमतराई के क्वारेंटाइन सेंटर का निरीक्षण किया और वहां रह रहे मजदूरों को मिल रही सुविधाओं का जायजा लिया। इस दौरान उपस्थित अधिकारियों ने बताया कि कोरेंटाईन सेंटर में नियमित रूप से मजदूरों को सुबह योगा कराया जाता है। वहीं ग्राम खमतराई क्वारेंटाइन में प्रत्येक श्रमिक के लिए साबुन, ज्ञान वर्धक कहानी पुस्तक उपलब्ध कराये जाने की जानकारी सचिव, सरपंच के द्वारा दी गई।  कमिश्नर ने मजदूरों को मास्क, सेनेटाईजर से हाथ धोने व सोशल डिस्टेसींग का पालन करने का निर्देश दिया। इस दौरान कमिश्नर के साथ अनुविभगीय अधिकारी विनायक शर्मा, तहसीलदार नरेंद्र बंजारा, सरपंच पोषण साहू, सचिव कल्याण डहरिया, डिगेशवर साहू पटवारी, अश्वनी साहू रोजगार सहायक, रोमन साहू पंच धर्मेन्द्र साहू अध्यक्ष शाला प्रबंधन समिति हाई स्कूल, कर्मचारी विनोद यादव और शशी लहरी उपस्थित थे।

 

12-05-2020
फुटकर व्यवसायियों ने निगम कमिश्नर को सौंपा ज्ञापन,कहा -हमें व्यवसाय की अनुमति दे

रायपुर। व्यवसाय से वंचित फुटकर व्यवसायियों ने मंगलवार को निगम कमिश्नर से मिलकर गुमटी खोलने की अनुमति मांगी। फुटकर व्यापारी संघ के बैनर तले प्रतिनिधिमंडल ने जिला प्रशासन और निगम से मांग की है। नियम व शर्तो के साथ उन्हें भी गुमटी खोलने की अनुमति दी जाए। अध्यक्ष दिलीप चौहान के नेतृत्व में फुटकर व्यापारियों ने निगम प्रशासन को ज्ञापन सौंपा है। प्रतिनिधिमंडल में राजू सोनी, जावेद, जितेंद्र समोदिया, संतोष, सलीम अन्य शामिल थे।

 

22-04-2020
कोरोना प्रभावितों की सहायता के लिए कमिश्नर ने कलेक्टर को दी राशन सामग्री

रायपुर। इंडोर स्टेडियम पहुंचकर रायपुर संभाग के कमिश्नर जीआर चुरेन्द्र ने बुधवार को डोनेशन आन व्हील्स के लिए 115 खाद्यान्न पैकेट कलेक्टर रायपुर डॉ.एस. भारती दासन को प्रदान किए। यह राशन सामग्री कमिश्नर कार्यालय के सभी अधिकारी-कर्मचारियों की ओर से एकत्रित 32 हजार रुपए से प्रदान की गई है। कलेक्टर ने कोरोना प्रभावितों की सेवा एवं सहायता के लिए मिली इस सहायता पर आभार व्यक्त किया है। उन्होंने बताया कि पूरे रायपुर जिले में विभिन्न विभागों की ओर से सहायता पहुंचाई जा रही है। इस दौरान अपर आयुक्त, उपायुक्त सरिता तिवारी, जिला पंचायत मुख्य कार्यपालन अधिकारी डॉ.गौरव सिंह भी उपस्थित थे।

 

 

11-04-2020
राहत शिविर में 17 मजदूरों से मिलने पहुंचे कमिश्नर, झारखंड से पलायन कर पहुंचे थे

रायपुर। कमिश्नर रायपुर संभाग जीआर चुरेन्द्र ने शनिवार को जिले के आरंग विकासखंड के ग्राम कुरूद में संचालित राहत शिविर का निरीक्षण किया। इस शिविर में झारखंड से पलायन कर पहुंचे 17 मजदूरों के लिए लॉक डाउन में फंसे होने के कारण रहने और खाने की व्यवस्था की गई है। कमिश्नर ने इन मजदूरों से बातचीत की। मजदूरों ने व्यवस्था को सराहा। शिविर में एहतियातन समय-समय पर उनकी चिकित्सकीय जांच भी की जा रही है।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804