GLIBS
18-09-2020
Breaking: छत्तीसगढ़ में आज 3842 कोरोना पॉजिटिव मरीज मिले व 3281 हुए स्वस्थ,17 की मौत 

रायपुर। प्रदेश में लगातार दो दिनों से कोरोना की रफ्तार 38 सौ के ऊपर बनी हुई है। गुरुवार को 3809, तो आज शुक्रवार को 3842 कोरोना पॉजिटिव मरीजों की पहचान हुई है। 2614 मरीजों को डिस्चार्ज किया गया है और 667 मरीजों ने होम आइसोलेशन कम्पलीट किया है। 17 मरीजों की मौत हुई है। प्रदेश में अब तक कुल 81617 पॉजिटिव केस सामने आ चुके हैं। 44392 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं। 645 मरीजों की मौत हो चुकी है। एक्टिव केस 36580 हो चुके हैं। स्वास्थ्य विभाग ने रात 10:15 बजे की स्थिति में मेडिकल बुलेटिन जारी की है। प्रदेश में रायपुर जिले से 672 मरीज मिले हैं। इसी तरह। दुर्ग  से 436, जांजगीर-चांपा से 334, राजनांदगांव से 309, बिलासपुर से 302, कोरबा से 185, रायगढ़ से 168, बस्तर से 163, बीजापुर से 145, दंतेवाड़ा से 133, धमतरी से 118, नारायणपुर से 91, बालोद से 90, कबीरधाम से 65, सुकमा व कांकेर से 63-63, बलौदाबाजार, सूरजपुर व सरगुजा से 62-62, बेमेतरा से 56, मुंगेली से 51, कोण्डागांव से 47, कोरिया से 43, गरियाबंद से 38, गौरेला-पेण्ड्रा-मरवाही से 35, जशपुर से 30, बलरामपुर से 15, महासमुंद से 3, अन्य राज्य से 1 मरील मिले है।   मेडिकल बुुलेटिन देखने क्लिक करें   

 

18-09-2020
कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा-मरवाही के विकास पर भाजपा और छजका को पीड़ा क्यों ?

रायपुर। नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक सहित भाजपा और छजका नेताओं की ओर से मरवाही में किए जा रहे विकास कार्यों को लेकर की जा रही आपत्ति पर कांग्रेस ने प्रतिक्रिया दी है। प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता सुशील आनंद शुक्ला ने कहा है कि, मरवाही पेंड्रा के विकास पर भाजपा और छजका को पीड़ा क्यों हो रही है? मरवाही के विकास का अवसर भाजपा और छजका दोनों को मिला था। राज्य में पिछले पंद्रह सालों से भाजपा की सरकार थी। मरवाही की जनता विकास तो दूर सड़क, पानी, बिजली जैसी मूलभूत सुविधाओं से भी अछूती थी। मरवाही पेंड्रा गौरेला की जनता ने जिला बनाने के लिए बार-बार आवाज उठाई। जब राज्य में 9 जिलों का गठन किया गया, उस समय भी जिला बनने की सारी योग्यताओं को पूरा करने के बाद मरवाही पेंड्रा को जिला नहीं बनाया गया। मरवाही से राज्य की राजनीति के बड़ा नाम स्व. अजीत जोगी लगातार प्रतिनिधित्व कर रहे थे। उसके बावजूद मरवाही से विकास कोसो दूर था।
कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा है कि,अदूरदर्शी विकास की सोच में सिर्फ नए राजधानी में 8000 करोड़ खर्च करने के बजाए पूरे प्रदेश के विकास का मैप बनाया होता, तो आज राज्य के दूरस्थ कुछ इलाके पिछड़े नहीं होते। राज्य में कांग्रेस की सरकार बनने के बाद मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने छत्तीसगढ़ में विकास से अछूते मरवाही जैसे इलाकों को विकसित करने का बीड़ा उठाया है। एक वर्ष पहले ही मरवाही पेंड्रा गौरेला को जिला बनाया गया।  नए जिले के लिए जिलाधीश न्यायालय भवन सहित तमाम सरकारी दफ्तर बनाए जा रहे। क्षेत्र में सड़क पुल पुलियों पहुंच मार्ग बनाए जा रहे हैं। राजनैतिक दुर्भावना से ग्रसित भाजपा के नेता इन विकास कार्यों का विरोध कर रहे। कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा है कि, भाजपा के नेता खिसियानी बिल्ली के समान खंभा नोच रहे। प्रदेश की जनता भाजपा और छजका की विकास विरोधी सोच को देख रही और समझ भी रही,आने वाले चुनाव में जनता इसका हिसाब करेगी।

18-09-2020
रायपुर में कोरोना हॉटस्पाट बन चुके हैं कई इलाकें, देखिए इलाकों के नाम,बेवजह ना जाने कलेक्टर ने की अपील

रायपुर। कलेक्टर डॉ. एस. भारतीदासन ने कोरोना संक्रमण के रोकथाम एवं नियंत्रण के लिए जिले और शहर में किए जा रहे जोनवार कार्यों की समीक्षा कर आवश्यक निर्देश दिए। उन्होंने आम नागरिकों से अपील की है कि, वे  रायपुर शहर के कोरोना संक्रमण क्षेत्र वाले हॉटस्पाट इलाकों में अनावश्यक  न जाएं। उन्होंने कहा है कि, शहर के सभी जोन में जिला प्रशासन और सामाजिक संगठनों के सहयोग से निशुल्क आयुर्वेदिक काढ़ा का वितरण किया जा रहा है, जो कि कोरोना से बचाव में सहायक साबित हो सकता है। शरीर की प्रतिरक्षा तंत्र को मजबूत बनाने में भी असरकारक हो सकता है। आम नागरिक इस निशुल्क आयुर्वेदिक काढ़ा का सेवन अवश्य करें। कलेक्टर डॉ. भारतीदासन ने शुक्रवार को कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में इंसिडेंट कमांडर और जोन आयुक्त की बैठक ली। इस दौरान उन्होंने जिले में कोरोना से बचाव और रोकथाम की दिशा में कड़े कदम उठाने के निर्देश दिए। उन्होंने जोन आयुक्तों को निर्देशित किया कि ,कोरोना की दवाई का पर्याप्त भण्डारण हो, इसके वितरण में किसी प्रकार की लापरवाही न हो। इसी तरह यह भी ध्यान रखें कि होम आइसोलेशन में रहने वाले मरीजों को दवाई की कोई कमी न हो।

इन कोरोना हॉटस्पाट क्षेत्रों में जाने से बचें लोग :
कलेक्टर डॉ. भारतीदासन ने कोरोना हॉटस्पाट क्षेत्र में आने वाले रायपुर शहर के जोन क्रमांक 1- संतोषी नगर, डब्ल्यूआरएस कॉलोनी, खमतराई, शिवानंद नगर सेक्टर 1, 2, झंडा चौक,  जोन क्रमांक 2- देवेन्द्र नगर सेक्टर 1, 2 , पारस नगर, गुढ़ियारी, साहू पारा, मंगल बाजार, जवाहर नगर, राठौर चौक, तेलघानी नाका, नहर पारा। जोन क्रमांक 3- आदर्श नगर, एलआईसी कॉलोनी, अशोका रतन, लोधी पारा, राजीव नगर, खपरा भट्टी, राजा तालाब, न्यू शांति नगर। जोन क्रमांक 4- कंकाली पारा, ब्राम्हण पारा, आजाद चौक ,कोतवाली चौक ब्रिटल चौक छोटापारा, पंडरी, नूरानी चौक। जोन क्रमांक 5- अश्वनी नगर, कुशालपुर, लाखेनगर, चंगोरा भाठा, शिव नगर, डंगनिया, सुंदर नगर, डीडी नगर, रोहनीपुरम। जोन क्रमांक 6- मठपुरैना, दुर्गा पारा, दावदा कॉलोनी, संतोषी नगर, शैलेन्द्र नगर, टैगोर नगर।  जोन क्रमांक 7- भाठागांव ढेबर सिटी, साईं मंदिर, पुलिस लाइन, जनता कॉलोनी, टिकरापारा संजय नगर।  जोनक्रमांक 7 आमानाका, कुकुरबेडा, कोटा, समता कॉलोनी, चौबे कॉलोनी। जोन क्रमांक 8- कबीर नगर, रोटरी नगर, टाटीबंध, अयप्पा मंदिर, शिव मंदिर। जोन क्रमांक 9- मोवा, एकता चौक, दुबे कॉलोनी, शिव नगर, खम्हारडीह, गायत्री नगर। जोन क्रमांक 10- अमलीडीह महावीर नगर के क्षेत्रों में अनावश्यक जाने से बचने की अपील की है। कलेक्टर ने कहा कि, इन हॉटस्पॉट क्षेत्रों में सर्विलांस दलों की ओर से घर-घर जाकर स्वास्थ्य की जानकारी ली जा रही है। विशेष रूप से सैनेटाइजेशन का कार्य भी किया जा रहा है। उन्होंने आम नागरिकों से कोरोना संक्रमण के रोकथाम और नियंत्रण के लिए शासन की ओर से जारी आदेशों का पालन करने की अपील भी की है।


 

आम नागरिक निशुल्क काढ़ा का उठाएं लाभ :

कलेक्टर डॉ. भारतीदासन ने कहा है कि, कोरोना संक्रमण के रोकथाम और नियंत्रण के लिए शहर के सभी जोन में जिला प्रशासन व सामाजिक संगठनों के सहयोग से 41 स्थानों पर निशुल्क आयुर्वेदिक काढ़ा का वितरण किया जा रहा है। यह काढ़ा कोरोना से बचाव में सहायक साबित होने के साथ-साथ शरीर की प्रतिरक्षा तंत्र को मजबूत बनाने में भी असरकारक है। आम नागरिक इस निशुल्क आयुर्वेदिक काढ़ा का सेवन अवश्य करें। काढ़ा का यह वितरण चौक-चौराहों, सड़क किनारे लगने वाले चाय दुकानों सहित महत्त्वपूर्ण स्थानों में स्थाई के साथ चलित वाहनों से भी किया जा रहा है।



 

आपातकालीन सेवा के लिए आमजन जारी नंबर पर करें संपर्क :

कलेक्टर डॉ. भारतीदासन ने कोविड-19 संक्रमण के रोकथाम एवं नियंत्रण के लिए आपातकालीन सेवा के लिए जिला प्रशासन द्वारा जारी हेल्प लाइन  नंबर पर आमजनों को संपर्क करने की अपील की है। उन्होंने कहा कि दवाएं, स्वास्थ्य जांच, परिवहन व किसी भी तरह की आपात स्थितियों के लिए जारी नंबर पर संपर्क किया जा सकता है। होम आइसोलेशन सहायता के लिए 75661-00283,कलेक्टर कार्यालय आपातकालीन सहायता केंद्र 0771-2445785 और दक्ष कमांड सेंटर आपातकालीन सहायता केंद्र 0771-4320202 में आमजन संपर्क कर सकते हैं।

 

18-09-2020
नौकरी लगाने के नाम पर 23 लाख की ठगी,कार भेजकर सरपंच को बुलाया था रायपुर

रायपुर। सरपंच को अपर कलेक्टर के नाम से सरकारी नौकरी लगाने की बात कहकर झांसे में लेकर 23 लाख 65 हजार रुपए ठगी किए जाने की रिपोर्ट पण्डरी थाने में दर्ज की गई है। पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार सिकरीमा थाना फरसाबहार जशपुर निवासी सर्वेश्वर साय ने रिपोर्ट दर्ज कराई है कि प्रार्थी वर्तमान में ग्राम सिकिरमा थाना फरसाबहार जशपुर का सरपंच है। अप्रैल 2020 में पीडि़त के मोबाइल फोन पर कॉल कर स्वयं को अपर कलेक्टर बताते हुए छग राज्य के विभिन्न जिलों के लिए 1380 पद स्वीकृत हुआ है,जिसमें अंबिकापुर, बलरामपुर, सरगुजा एवं जश्पुर जिले में डाटा एंट्री आपरेटर, क्लर्क, भृत्य एवं वाहन चालक का पद पर सीधी भर्ती किया जाना है। स्वयं को अपर कलेक्टर बताये जाने से पीड़ित उसकी बातों में आकर अपने घरवालों एवं दोस्तों से सलाह करके पत्नी,बहनों एवं अन्य रिश्तेदारों को भृत्य एवं क्लर्क पद के लिए तथा डाटा एंट्री आपरेटर के लिए एक व्यक्ति एवं दो व्याख्याताओं के ट्रांसफर कराने के नाम पर फोन पर फर्जी अधिकारी से बात की।

अधिकारी ने बताया कि उपरोक्त रकम तुम्हें रायपुर में देना है और आने जाने के लिये कार बुक करा दी। पीड़ित ने बताया कि संपूर्ण राशि की व्यवस्था नहीं है तब उनके कहने पर कि जितना नकद है उतना ले आओ एवं शेष राशि के लिये एटीएम कार्ड ले आना कहने पर 13 जून की शाम सिकिरमा से रायपुर के लिए निकला एवं 14 जून को रायपुर पहुंचने पर मोवा ब्रिज के आगे एफसीआई रोड में आने को कहा, वहां पहुंचने पर अपने भतीजे को भेज रहा हूं  पैसे दे देना कहने पर उसे 9 लाख,20 हजार रुपए व बाकी रकम एटीएम से निकाल लेने की बात कहकर पिन कोड बताते हुए दे दिया। पैसा एवं एटीएम कार्ड देते समय ठग स्वयं नही आया। उसने कॉल करके कहा कि सभी लोगों की भर्ती हो जाएंगी कहकर कुल 23,65,207.75/- ले लिए। बाद में कॉल करने पर मंत्रालय जाने की बात कहकर गुमराह किया। घटना की रिपोर्ट पर पुलिस ने मोबाइल नंबर के आधार पर आरोपी के खिलाफ 420 के तहत अपराध कायम कर मामला दर्ज कर लिया है। 

 

18-09-2020
फर्जी कंपनी का सेल्स मैनेजर बनकर की लाखों की ठगी,मामला दर्ज

रायपुर। फर्जी कंपनी का एरिया सेल्स मैनेजर बनकर लाखों की ठगी करने की रिपोर्ट डीडीनगर थाने में दर्ज की गई है। पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार रायपुर निवासी अभिषेक मिश्रा ने रिपोर्ट दर्ज कराई है कि उसके डीडी नगर स्थित आफिस में सुदेश मिश्रा ने मुलाकात। खुद को एक कंपनी के एरिया सेल्स मैनेजर बताया। उसने कहा कि कंपनी ने आफर दिया और कंपनी के मैनेजर से मोबाइल से बात कराई। उसके बाद माल मंगवाने के लिये आर्डर किया था। इसका 5 लाख 50 हजार रुपए आरोपी के खाते में जमा करा दिया था। 22 जुलाई से 17 सितंबर के मध्य आरोपी ने माल का डिलवरी नहीं किया। संदेह होने पर उसे कॉल किया तो माल पिथौरा तक पहुंच चुका है कहकर गुमराह किया। बिल्टी व ट्रक नंबर मांगने पर आरोपी ने फोन उठाना बंद कर दिया है। घटना की रिपोर्ट पर पुलिस ने आरोपी के खिलाफ अपराध कायम कर मामला दर्ज कर लिया है। 

 

18-09-2020
सिलाई-कढ़ाई का प्रशिक्षण लेने वाली प्रथम दस महिलाओं को मिलेंगी दुकानें: डॉ. शिवकुमार डहरिया

रायपुर। शहर के गली-मुहल्लों में घूम-घूम कर कचरा इकट्ठा करने वाली 30 महिलाएं अब सम्मान जनक कारोबार से जुड़ने जा रही हैं। श्रम मंत्री डॉ. शिवकुमार डहरिया ने इन महिलाओं को सिलाई-कढ़ाई का रोजगार अपनाने के लिए निःशुल्क सिलाई मशीन वितरित की। राजधानी रायपुर के तेलीबांधा स्थित शहीद वीर नारायण सिंह कौशल उन्नयन केन्द्र में इन महिलाओं को सिलाई मशीन के साथ-साथ उनके तात्कालिक खर्च के लिए एक-एक हजार रूपए की अग्रिम राशि भी दी। 

    श्रम मंत्री डॉ. डहरिया ने महिलाओं का उत्साहवर्धन करते हुए कहा कि पुराने काम काज के बदले में नया सम्मानजनक कार्य से उनके जीवन में सकारात्मक परिवर्तन आएगा। उन्होंने कहा कि कौशल विकास केन्द्र में सभी महिलाएं दिल से काम सीखें और आत्मनिर्भर बनकर दूसरी महिलाओं को भी प्रेरित करें। उन्होंने कहा कि कौशल प्रशिक्षण में अच्छे तरीके से काम सीखने वाली दस महिलाओं को शहरी स्लम विकास योजना के अंतर्गत दुकानें उपलब्ध करायी जाएंगी। श्रम मंत्री डॉ. डहरिया ने बताया कि राज्य सरकार द्वारा गरीबी, अशिक्षा और जागरूकता के अभाव में शहरों, गलियों में इधर-उधर घूम-घूमकर कचरा बिनने वाली युवतियों की दयनीय स्थिति को भांपते हुए ऐसी युवतियों, महिलाओं को समाज की मुख्य धारा में लाने, उनकेे लिए स्थायी रोजगार की व्यवस्था कर बेहतर विकल्प तैयार करने करने के निर्देश अधिकारियों को दिए हैं। कार्यक्रम में मुख्य सचिव आर.पी. मण्डल ने कहा कि महिलाएं जीवन के हर संघर्ष में सफल होती हैं। उन्हें केवल दिशा देने की जरूरत होती है। कौशल विकास प्रशिक्षण के माध्यम से महिलाओं को सिलाई-कढ़ाई का प्रशिक्षण दिया जा रहा है, निश्चित रूप से उनकी जिन्दगी को बेहतर बनाएगा। उन्होंने कहा कि सभी महिलाओं को पूरे मन से प्रशिक्षण लेना है। यदि कोई काम पूरे मन से किया जाए तो निश्चत रूप से जीवन में सफलता मिलती है। 

      श्रम विभाग के अधिकारियों ने बताया कि कचरा बीनकर जीवन यापन करने वाली युवतियों को श्रम विभाग में पंजीकृत कर उन्हें सिलाई-कढ़ाई का प्रशिक्षण प्रदान किया जा रहा है। प्रशिक्षण में शामिल होने से कचरा बिनने के कार्य छूटने से होने वाले वेतन नुकसान की भरपाई के रूप ऐसे हितग्राहियों को प्रति दिन तीन सौ रूपए की मान से स्टायफंड भी दिया जा रहा है। इससे अब इन युवतियों को काम का नुकसान भी नहीं होगा और प्रशिक्षण भी प्राप्त कर लेंगी। प्रशिक्षण कार्यक्रम 45 दिन ही है। अधिकारियों ने बताया कि महिलाएं प्रशिक्षण समय के बाद भी अपने घर में सिलाई का अभ्यास  करेंगी। सिलाई-कढाई के सम्मानजनक रोजगार से उनकी आमदनी भी बढ़गी। इस अवसर पर छत्तीसगढ़ श्रम कल्याण मण्डल के अध्यक्ष  शफी अहमद खान, श्रमायुक्त एलेक्स पॉल मेनन, सहायक श्रमायुक्त सविता मिश्रा,  अजितेष पाण्डेय, नगर निगम रायपुर के अपर आयुक्त लखेश्वर साहू सहित अन्य संबंधित अधिकारी और हितग्राही उपस्थित थे।

18-09-2020
बच्चों को जहर खिलाने के बाद माता-पिता ने खाया जहर...

रायपुर। शहर के खरोरा क्षेत्र में केसला गांव में एक दर्दनाक घटना सामने आई है। मां-पिता ने बच्चों को जहर दे दिया। बच्चों को जहर खिलाने के बाद पति-पत्नी ने भी जहर खा लिया। कोरोना काल में परिवार आर्थिक तंगी से जूझ रहा था। परिवार में एक बच्चे की हालत स्थिर है। बाकि चारों की हालत गंभीर बनी हुई है। बहरहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है।

18-09-2020
दो लड़कियों का शव एक साथ फांसी पर झूलता मिला

रायपुर/कोंड़ागांव। दो नाबालिग बालिकाओं का शव पेड़ में फांसी के फंदे पर लटकते हुए मिली है। मामला जिले के फरसगांव थाना क्षेत्रान्तर्गत ग्राम छिंदली मुंडापारा का है। दो नाबालिग बालिकाओं का शव संदिग्ध परिस्थितियों में घर से दूर खेत के एक पेड़ में फांसी के फंदे पर झूलते हुए मिली है। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंच गई है। पुलिस ने शव को बरामद कर पोस्टमार्टम लिए भेज दिया है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट तथा पुलिस जांच के बाद ही मौत के कारण का खुलासा हो पायेगा।

17-09-2020
Breaking: प्रदेश में गुरुवार को 5 हजार से अधिक मरीज हुए स्वस्थ, 3809 नए केस व 17 की मौत

रायपुर। छत्तीसगढ़ में गुरुवार को राहत की खबर के साथ डरावने आंकड़े भी हैं। राहत की बात है 2019 कोरोना मरीज डिस्चार्ज किए गए हैं और  3207 मरीजों ने होम आइसोलेशन कंप्लीट किया है। इस तरह 5 हजार से अधिक मरीज एक दिन में ठीक हुए हैं। साथ ही भयावह आंकड़े भी आज सामने आए हैं। प्रदेश से 3809 नए कोरोना मरीजों की पहचान हुई है। 17   मरीजों की मौत हुई है। प्रदेश में कोरोना केस और मौत की रफ्तार थमने का नाम नहीं ले रही है। स्वास्थ्य विभाग ने रात 10: 30 बजे की स्थिति में मेडिकल बुलेटिन जारी की है। रायपुर जिले से आज 1109 मरीजों की पहचान हुई है। इसी तरह रायगढ से 329, दुर्ग से 322, बिलासपुर से 247, बस्तर से 225, धमतरी से 166, बलौदाबाजार से 145, बालोद से 112, जांजगीर-चांपा से 100, कोरबा से 82, गरियाबंद से 80, दंतेवाड़ा व नारायणपुर से 76-76, कोरिया व सुकमा से 74-74, महासमुंद से 72, बेमेतरा से 71, मुंगेली से 65, राजनांदगांव से 58, सरगुजा से 51, कबीरधाम व कांकेर से 47-47, सूरजपुर से 45, कोण्डागांव से 44, बलरामपुर से 27, बीजापुर से 23, जशपुर से 21, गौरेला-पेण्ड्रा-मरवाही से 20, अन्य राज्य से 1 मरीज मिले है। मेडिकल बुलेटिन देखने क्लिक करें   


 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804