GLIBS
16-01-2021
गरियाबंद में कलेक्टर ने की कोविड टीकाकरण की शुरुआत, डाटा एंट्री ऑपरेटर लंबोदर महतो को लगा पहला टीका

गरियाबंद। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भाषण के बाद गरियाबंद के जिलाधीश नीलेश क्षीरसागर ने अस्पताल पहुंच कोविड-19 के टीकाकरण का फीता काटकर शुभारंभ किया। टीका डाटा एंट्री ऑपरेटर लंबोदर महतो के साथ ही डाटा अकाउंटेंट प्रशांता महतो,जिला चिकित्सालय के सीएमओ डॉक्टर एनआर नवरत्न,सिविल सर्जन डॉक्टर जीएल टंडन, जिला चिकित्सालय के प्रमुख  चिकित्सक डॉ. चौहान ,डॉ रीना बाला के साथ ही अनेक लोगों लगाया गया। सुबह से ही जिला अस्पताल का स्वरूप कुछ बदला-बदला सा नजर आ रहा था। कोविड-19 का टीकाकरण गरियाबंद जिला स्वास्थ्य केंद्र में प्रारंभ होने जा रहा था। इसकी समस्त तैयारियां पूरी कर ली गई थी। आज विशेष रूप से पहली बार जिला अस्पताल को किसी दुल्हन की तरह सजाया गया। ऐसा लगा कि आज यहां कोई खुशियां या जन्मदिन का कार्यक्रम हो रहा हो। खुशी में पूरे स्वास्थ्य केंद्र को फूल, गुब्बारों और विभिन्न तरह के रंग बिरंगी परदों के साथ सजाया गया। देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के भाषण के बाद कलेक्टर नीलेश क्षीरसागर, जिला पंचायत सीईओ चंद्रकांत वर्मा के साथ ही अनेक प्रमुख अधिकारी जिला अस्पताल पहुंचे। इसके बाद समस्त तैयारियों के साथ सबसे पहला टीका लंबोदर महतो नामक स्वास्थ्य कर्मचारी को दिया गया। इसके बादअस्पताल के विभिन्न अधिकारी कर्मचारियों टीका लगाया गया।

16-01-2021
देश में कोरोना का टीकाकरण शुरू, इन लोगों को नहीं लगेगा टीका

रायपुर/नई दिल्ली। देश में शनिवार को कोरोना टीकाकरण का सबसे बड़ा अभियान शुरू हो गया है। इस बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से संवाद किया। बता दें कि 3006 वैक्सीन सेंटरों पर लोगों की भीड़ दिख रही है। पहली कतार के 3 लाख लोगों को आज कोरोना की वैक्सीन लगाई जानी है। पहले चरण में 1 करोड़ 60 लाख पहली कतार के कर्मचारियों को टीका लगाई जाएगी। टीकाकरण का समय सुबह 9 बजे से शाम के 5 बजे तक है।
टीकाकरण अभियान की खास बातें-  पीएम नरेंद्र मोदी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए सुबह 10.30 बजे टीकाकरण अभियान की शुरुआत करेंगे। बता दें कि 3006 वैक्सीन सेंटरों पर पीएम मोदी के इस कार्यक्रम को लोग लाइव देख पाएंगे।  पहले चरण में 1 करोड़ 60 लाख पहली कतार के कर्मचारियों को टीका लगाई जाएगी। टीकाकरण का समय सुबह 9 बजे से शाम के 5 बजे तक है।

महमारी से संबंधित जानकारी के लिए एक कॉल सेंटर को स्थापित भी किया गया है। 1075 नंबर पर फोन कर आप जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। सरकार द्वारा जारी दिशानिर्देश के मुताबिक कोरोना की वैक्सीन 18 वर्ष या उससे अधिक की आयु वाले लोगों को लगाई जाएगी।  गर्भवती महिलाओं और नवजात को दूध पिला रही महिलाएं टीकाकरण कार्यक्रम में हिस्सा नहीं ले सकेंगी। पहले डोज में जिस वैक्सीन को लिया जाएगा, दूसरे डोज में भी उसी वैक्सीन को दिया जाएगा। इस बीच वैक्सीन बदलने की इजाजत नहीं होगी। कोरोना टीकाकरण के लिए कोविन ऐप के तहत 80 लाख लाभार्थियों के नाम को पहले ही रजिस्टर कर लिया गया है। कोरोना वायरस के टीकाकरण को प्राप्त करने के लिए आपको कोविन ऐप के जरिए खुद को रजिस्टर कराना अनिवार्य है। टीकाकरण कार्यक्रम के दौरान आपके पास आईडी प्रूफ का होना अनिवार्य है। वैक्सीन की पहली डोज और दूसरे डोज के बीच 28 दिनों का ही अंतर होना चाहिए।

 

11-01-2021
पहले चरण में 3 करोड़ हेल्थ और फ्रंटलाइन वर्कर्स को टीका लगाने का खर्च केंद्र सरकार उठाएगी :नरेंद्र मोदी

नई दिल्ली । कोरोना वैक्सीनेशन के लिए सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों से बात की। उन्होंने कहा कि अगले कुछ महीनों में हमें 30 करोड़ लोगों को टीका लगाना है। राज्यों की जिम्मेदारी है कि कोरोना वैक्सीन को लेकर अफवाहों पर रोक लगाएं। इसके लिए धार्मिक और अन्य संगठनों के साथ चर्चा करके कदम उठाने चाहिए। उन्होंने कहा कि कोविन प्लैटफॉर्म पर कोरोना वैक्सीन प्रक्रिया की निगरानी होगी। पहली डोज के बाद ही लोगों को डिजिटल सर्टिफिकेट देना होगा, दूसरी डोज लगने के बाद फाइनल सर्टिफिकेट दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि राज्यों के साथ चर्चा के बाद ही वैक्सीन में किसे प्राथमिकता दी जाएगी, यह तय की जाएगी। हेल्थ वर्कर्स के बाद फ्रंटलाइन वर्कर्स को दी जाएगी। पहले चरण में 3 करोड़ हेल्थ वर्कर्स और फ्रंटलाइन वर्कर्स को टीका देने का खर्च राज्यों सरकारों को नहीं उठाना पड़ेगा। पीएम ने कहा कि  कोरोना वैक्सीनेशन को लेकर वैज्ञानिक समुदाय की सलाह के आधार पर हम काम करते रहेंगे, हम उसी दिशा में चले हैं। हमें लोगों को जागरूक करते ही रहना पड़ेगा लेकिन ज्यादा जागरूकता की जरूरत वैक्सीनेशन का पहला और दूसरा राउंड पूरा होने के बाद पड़ेगी। 

 

11-01-2021
16 जनवरी से देशभर में कोरोना के खिलाफ वृहद टीकाकरण, पीएम मोदी के साथ मुख्यमंत्रियों की होगी बैठक

रायपुर। देश में कोरोना वायरस के खिलाफ जल्द ही दुनिया का सबसे वृहद टीकाकरण अभियान शुरू होगा। इस अभियान की रूपरेखा को अंतिम रूप देने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों के मुख्यमंत्रियों के साथ सोमवार को बैठक करेंगे। पीएम मोदी के सामने शाम चार बजे निर्धारित बैठक में सभी राज्य टीकाकरण अभियान और अन्य मुद्दों को लेकर चल रही अपनी तैयारियों का ब्योरा पेश करेंगे। 

पीएम के साथ मुख्यमंत्रियों की बैठक वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से होगी और यह उच्च स्तरीय बैठक इसलिए आज अहम है, क्योंकि देश में 16 जनवरी से कोरोना के टीकाकरण अभियान की शुरूआत  हो रही है। भारतीय औषधि महानियंत्रक द्वारा सीरम इंस्टीट्यूट की कोविशील्ड और भारत बायोटेक की कोवैक्सीन के आपातकालीन उपयोग की अनुमति दिए जाने के बाद प्रधानमंत्री की मुख्यमंत्रियों के साथ यह पहली बैठक होगी।

07-01-2021
प्रधानमंत्री मोदी ने की अमेरिका में हुई हिंसा की निंदा, कहा- सत्ता का हस्तांतरण शांति से होना जरूरी

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अमेरिका के वाशिंगटन में हुई हिंसा पर चिंता जताई है। उन्होंने गुरुवार को कहा कि सत्ता का हस्तांतरण व्यवस्थित और शांतिपूर्ण तरीके से होना लाजिमी है। अमेरिका में हाल में संपन्न राष्ट्रपति चुनाव में डेमोक्रेटिक पार्टी के जो बिडेन विजयी हुए है और मौजूदा राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की हार हुई है। वहां इसी माह सत्ता का हस्तांतरण होना है। सत्ता बदलाव से पहले बुधवार को वाशिंगटन में हुई हिंसा में एक महिला की मौत हो गई है, जबकि पुलिस के साथ झड़प में कई प्रदर्शनकारी घायल भी हुए हैं। अमेरिका में हजारों की संख्या में ट्रंप समर्थकों ने सीनेट का घेराव करने का प्रयास किया और नारेबाजी करते हुए सीनेट में घुसकर कई क्षेत्रों में कब्जा भी किया है। पीएम मोदी ने वाशिंगटन में हुई हिंसा पर चिंता जताते हुए ट्वीट कर कहा, ‘वाशिंगटन डीसी में उपद्रव और हिंसा के समाचारों से वह व्यथित हुए हैं। सत्ता का हस्तांतरण व्यवस्थित और शांतिपूर्ण तरीके से होना जरूरी है। इस तरह के प्रदर्शनों के जरिए लोकतांत्रिक प्रक्रिया को नुकसान नहीं पहुंचाया जा सकता।’

 

04-01-2021
कैट 2021 को भारतीय व्यापार सम्मान वर्ष के रूप में मनाएगा, देशभर में होंगे कई कार्यक्रम

रायपुर। कंफेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) ने वर्ष 2021 को देशभर में भारतीय व्यापार सम्मान वर्ष के रूप में मनाने की घोषणा की है। इसके अंतर्गत देशभर में बड़े पैमाने पर अनेक कार्यक्रम होंगे। कैट की यह अभियान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लोकल पर वोकल और आत्मिर्भर भारत को गांवों और कस्बों तक मूर्तरूप देने के लिए होगा। यह जानकारी कैट के प्रदेश पदाधिकारियों ने दी है। प्रदेश अध्यक्ष अमर पारवानी ने कहा  कि भारत के 7 करोड़ व्यापारियों ने देश के लोगों को विपरीत परिस्थितियों में बिना किसी सरकारी सहायता के सभी सामान मुहैया कराया। इस देशव्यापी अभियान से देश की अर्थव्यवस्था में व्यापारियों के महत्वपूर्ण रोल को रेखांकित करना है।

कैट से संबंधित देशभर के 40 हजार से ज्यादा व्यापारी संगठन इस अभियान में हिस्सा लेंगे। वर्ष 2021 को भारतीय व्यापार सम्मान वर्ष के रूप में देश भर में बेहद उत्साह से मनाने के लिए विभिन्न कार्यक्रमों की एक बड़ी श्रृंखला तय की गई है। कैट इस वर्ष मुख्य रूप से देश के ई कॉमर्स व्यापार को विदेशी कंपनियों के चंगुल से मुक्त कराने, देश के रिटेल व्यापार को भारतीय सामान पर आधारित रखने का एक बड़ा कार्यक्रम वर्ष भर चलाएगा। 10 जून 2020 से शुरू हुए अपने चीनी सामान बहिष्कार अभियान के अंतर्गत इस वर्ष के अंत तक चीन से भारत आने वाले सामान में 1 लाख करोड़ रुपए के व्यापार की कमी करने के अपने लक्ष्य को पूरा करेगा। उन्होंने कहा कि इसके साथ ही ई कॉमर्स पॉलिसी ,नेशनल रिटेल ट्रेड पॉलिसी, केंद्र व सभी राज्यों में व्यापारी कल्याण बोर्ड का गठन, जीएसटी कर प्रणाली का सरलीकरण और व्यापारियों की उसकी पालना के बोझ को कम करना, व्यापारियों के लिए एक पृथक आय कर स्लैब बनाना। देश के सभी जिलों में अधिकारियों व व्यापारियों की एक संयुक्त समिति का गठन, फूड सेफ्टी स्टैंडर्ड एक्ट को देश की जमीनी हकीकत से जोड़ना आदि विषय इस वर्ष प्रमुखता से उठाए जाएंगे और उन पर निर्णय कराया जाएगा। अमर पारवानी ने बताया कि इस वर्ष देश में अधिक से अधिक महिलाओं को उद्यमी बनाया जाएगा। साथ ही जो महिलाएं पहले से ही उद्यमी हैं, उनकों अपने व्यापार में वृद्धि करने के लिए हर सहयता को उपलब्ध कराना कैट की प्राथमिकता में है। महिला दिवस , मातृ दिवस परअनेक कार्यक्रम होंगे। देश भर में महिला उद्यमियों को सम्मानित किया जाएगा।

देश भर में अपनी शक्ति से बड़ा व्यापार खड़ा करने वाले व्यापारियों को जीरो से हीरो सम्मान, विभिन्न क्षेत्रों में उल्लेखनीय काम करने वाले व्यापारियों को भामाशाह सम्मान, विभिन्न राज्यों में सबसे अधिक टैक्स देने वाले व्यापारियों को अर्थव्यवस्था प्रहरी, सामाजिक क्षेत्र में उल्लेखनीय कार्य करने वाले व्यापारियों को समाज नायक सम्मान जैसे अनेक कार्यक्रम होंगे।
कैट इस वर्ष इसके साथ ही व्यापारियों को पेंशन योजना को अधिक तर्कसंगत बनाना, व्यापारियों व उनके कर्मचारियों के लिए रियायती दर पर बीमा योजना, सरकार की मुद्रा योजना को देश के कोने कोने तक पहुंचा कर आसानी से व्यापारियों को मुद्रा ऋण मिलना,व्यापारियों को बैंकों से कम दर पर आसानी से वित्तीय सहायता का मिलना आदि विषय प्रमुखता से लिए जाएंगे। दिल्ली में व्यापारियों को सीलिंग से बचाने के लिए एक एमनेस्टी स्कीम को लागू करना, मास्टर प्लान 2041 में दिल्ली व एनसीआर में मार्केटों में व्यापक सुविधाएं उपलब्ध कराना, दिल्ली के व्यापार में वृद्धि के लिए विशेष कदम उठाए जाने पर जोर देना, दिल्ली नगर निगम, दिल्ली सरकार, एनडीएमसी , डीडीए व अन्य निकायों से संबंधित व्यापारियों को समस्याओं को हल करना प्रमुख रूप से शामिल है।

04-01-2021
कोरोना वैक्सीन के संबंध मेें नरेंद्र मोदी कहा- देश में होगा दुनिया का सबसे बड़ा कोविड-19 टीकाकरण कार्यक्रम

नई दिल्ली। केंद्रीय औषधि मानक नियंत्रण संगठन (डीसीजीआई) ने रविवार को देश में दो टीकों के सीमित आपात इस्तेमाल को मंजूरी दे दी थी। इसे लेकर सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि देश में कोरोना वायरस को काबू करने के लिए दुनिया का सबसे बड़ा टीकाकरण अभियान शुरू होने वाला है। उन्होंने ने कहा, भारत में दुनिया का सबसे बड़ा कोविड-19 टीकाकरण कार्यक्रम शुरू होगा। इसके लिए देश को अपने वैज्ञानिकों एवं तकनीशियनों के योगदान पर गर्व है। मोदी ने राष्ट्रीय माप पद्धति सम्मेलन में वैज्ञानिकों को संबोधित करते हुए कहा कि यह सुनिश्चित करना होगा कि ‘भारत निर्मित’’ उत्पादों की न केवल वैश्विक मांग हो, बल्कि उनकी वैश्विक स्वीकार्यता भी हो। उन्होंने कहा कि किसी उत्पाद की गुणवत्ता उसकी मात्रा जितनी ही महत्वपूर्ण है। ‘आत्मनिर्भर भारत’ के लक्ष्य को हासिल करने की दिशा में कदम बढ़ाने के साथ-साथ हमारे मानक भी ऊंचे होने चाहिए। बता दें कि भारत के औषधि नियामक ने सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया द्वारा निर्मित ऑक्सफोर्ड कोविड-19 टीके ‘कोविशील्ड’ और भारत बायोटेक के स्वदेश में विकसित टीके ‘कोवैक्सीन’ के देश में सीमित आपात इस्तेमाल को रविवार को मंजूरी दे दी, जिससे व्यापक टीकाकरण अभियान का मार्ग प्रशस्त हो गया है।

 

01-01-2021
नए साल के पहले दिन प्रधानमंत्री मोदी ने रखी लाइट हाउस प्रोजेक्ट्स की नींव

नई दिल्ली। नए साल के पहले दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देशवासियों को शुभकामनाएं देते हुए लाइट हाउस प्रोजेक्ट्स की आधारशिला रखी। प्रोजेक्ट में त्रिपुरा, झारखंड, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, गुजरात और तमिलनाडु में जीएचटीसी-इंडिया इनिशिएटिव के तहत पक्के मकान बनेंगे। लाइट हाउस प्रोजेक्ट देश के हर नागरिक को पक्का मकान मुहैया कराने की योजना का हिस्सा है। प्रधानमंत्री ने कहा- बीतों वर्षों में अपने घरों को लेकर लोगों का भरोसा टूटता जा रहा था। पैसे देने के बाद भी घर कागजों पर ही रहता था, मिलता नहीं था। लोगों को भरोसा नहीं था कि लोग घर खरीद पाएंगे। वजह बढ़ती कीमत और कानून पर भरोसे में कमी था। बीते 6 सालों में जो कदम उठाए गए उसने एक सामान्य आदमी को यह भरोसा लौटाया है कि उसका अपना घर हो सकता है।

 

28-12-2020
देश में अब बिना ड्राइवर के चलेगी मेट्रो ट्रेन, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया शुभारंभ

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को दिल्ली मेट्रो की मेजेंटा लाइन पर देश की पहली चालकरहित मेट्रो ट्रेन का वीडियो कांफ्रेंसिग के जरिए शुभारंभ किया। पीएम मोदी ने इसके साथ ही एयरपाेर्ट एक्सप्रेस लाइन पर नेशनल कामन मोबिलिटी कार्ड सेवा की भी शुरुआत की। दिल्ली मेट्रो की मेजेंटा लाइन पर चालकरहित ट्रेन की शुरुआत से दिल्ली मेट्रो रेल कार्पोरेशन ( डीएमआरसी) विश्व के उन सात प्रतिशत मेट्रो नेटवर्क में शामिल हो गई, जहां बिना चालक ट्रेन चलाई जा रही है। इन सेवाओं के प्रारंभ होने से राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र के निवासियों के लिए सुखद यात्रा और उन्नत मोबिलिटी के एक नए युग की शुरुआत हो गई। दिल्ली मेट्रो के मुताबिक करीब 37 किलोमीटर लंबी मेजेंटा लाइन (जनकपुरी पश्चिम – बॉटनिकल गार्डन) पर बिना चालक वाली ट्रेन सेवा की शुरुआत से एक अन्य प्रमुख कॉरिडोर, 57 किमी लंबी पिंक लाइन (मजलिस पार्क – शिव विहार) पर भी वर्ष 2021 के मध्य से चालक रहित ट्रेन ऑपरेशन शुरू हो जाएगा। इसके उपरांत, दिल्ली मेट्रो के लगभग 94 किलोमीटर लंबे नेटवर्क पर बिना ड्राइवर के काम हो सकेगा, जो विश्व के कुल बिना चालक वाले मेट्रो नेटवर्क का लगभग नौ प्रपतिशत होगा।

बिना चालक वाली ट्रेनें पूर्णतया स्वचालित होंगी जिनमें न्यूनतम मानवीय हस्तक्षेप की आवश्यकता होगी, इससे मानवीय भूलों की आशंकाएं समाप्त हो जाएंगी। दिल्ली मेट्रो यात्रियों की सुविधा के लिए प्रौद्योगिकी युक्त विकल्पों की शुरुआत में अग्रणी रही है और इस दिशा में यह अगला कदम है। एयरपोर्ट मेट्रो पर पूरी तरह संचालित होने वाला नेशनल कॉमन मोबिलिटी कार्ड भी एक अन्य प्रमुख उपलब्धि है। इसमें हाल ही में पिछले 18 महीनों में देश के किसी भी भाग के 23 बैंकों (वित्तीय सेवा विभाग, भारत सरकार के निदेशानुसार ये सभी एनसीएमसी का पालन करते हैं) द्वारा जारी रुपे – डेबिट कार्ड धारक कोई भी व्यक्ति उस कार्ड के इस्तेमाल से एयरपोर्ट एक्सप्रेस लाइन पर यात्रा कर सकेगा। यह सुविधा वर्ष 2022 तक संपूर्ण दिल्ली मेट्रो नेटवर्क पर उपलब्ध हो सकेगी। वर्तमान में दिल्ली मेट्रो लगभग 390 किमी लंबे नेटवर्क पर ट्रेन संचालन कर रही है, इसमें 11 कॉरिडोरों (नोएडा-ग्रेटर नोएडा सहित) पर 285 स्टेशन हैं। दिल्ली मेट्रो नेटवर्क पर कोविड संक्रमण से पूर्व प्रतिदिन लगभग 60 लाख यात्राएं पूरी की जाती रही थीं जिससे यह नेटवर्क राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र के जन परिवहन की रीढ़ बन गया है।

27-12-2020
मन की बात सुनने आमजनों व किसानों के बीच बघेरा पहुंची सरोज पांडेय

दुर्ग। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का इस साल की आखिरी मन की बात का कार्यक्रम भाजपा द्वारा चंडी शीतला मंडल के अंतर्गत आने वाले वार्ड क्रमांक 56 बघेरा में लाइव प्रोजेक्टर के माध्यम से सुनने का कार्यक्रम आयोजित किया गया। इसमें मुख्य रूप से राज्यसभा सांसद डॉ. सरोज  पाण्डेय उपस्थित रही। उनके साथ भाजपा प्रदेश मंत्री उषा टावरी,भाजपा जिला अध्यक्ष डॉ.शिवकुमार तमेर, पूर्व महापौर चंद्रिका चंद्राकर,वरिष्ठ भाजपा नेता कांतिलाल बोथरा,जिला मंत्री संतोष सोनी,किसान मोर्चा जिला अध्यक्ष रत्नेश चंद्राकर,निगम के नेता प्रतिपक्ष अजय वर्मा,पार्षद कुमारी साहू,मनीष साहू सहित बड़ी संख्या में किसान व भाजपा भाजयुमो सहित महिला मोर्चा कार्यकर्ताओं ने उपस्थित होकर
सरोज पाण्डेय ने कहा कि यह साल तो हमारा कोरोना वैश्विक महामारी के चलते यूं ही खत्म हो गया ।

कईयों ने अपनों को खोया और कईयों ने अपने आप को बचाकर इस बीमारी से रखा किंतु प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मन की बात कार्यक्रम में उन्होंने किसान अन्नदाता भाइयों के खेत के बारे में भी अपनी बातें रखी। उन्होंने बताया कि कैसे अन्नदाता भाईयों के लिए लाए गए तीन कृषि बिल के चलते आज देश के किसान खुशहाल है। उन्होंने कहा निश्चित तौर पर यह बिल अन्नदाता भाइयों के जीवन स्तर को ऊंचा उठाने वाला है। कार्यक्रम में मंडल अध्यक्ष लुकेश बघेल, दीपक चोपड़ा,विनायक नातू ,कुमुद बघेल,बानी सोनी,संजय सिंह, जिला महामंत्री युवा मोर्चा नितेश साहू मुकेश साहू, राकेश पटेल,शुभम साहू, तोमेश साहू, नीतीश साहू सहित बड़ी संख्या में आम जनमानस में भाजपा कार्यकर्ता उपस्थित थे।

 

27-12-2020
थाली और ताली बजाकर छत्तीसगढ़ में किसान संगठनों ने किया पीएम मोदी के मन की बात का विरोध

रायपुर। प्रदेश के किसान संगठनों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 'मन की बात' कार्यक्रम का थाली और ताली बजाकर विरोध प्रदर्शन किया। किसानों ने कहा कि हमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मन की बात नहीं सुननी है। मोदी किसानों के मन की बात नहीं सुनते तो हम भी इसका विरोध कर रहे हैं। किसान संगठनों ने केंद्र सरकार की ओर से लाए गए तीनों कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग की है।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804