GLIBS
18-09-2020
हरसिमरत कौर के इस्तीफे को राष्ट्रपति ने किया मंजूर, तोमर को दिया गया अतिरिक्त प्रभार

नई दिल्ली। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने केंद्रीय कैबिनेट से हरसिमरत कौर के इस्तीफो तत्काल प्रभाव से स्वीकार कर लिया है। राष्ट्रपति ने केंद्रीय मंत्री परिषद से हरसिमरत का इस्तीफा संविधान के अनुच्छेद 75 के खंड (2) के तहत स्वीकार किया है। बताया जाता है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सलाह-मशविरा के बाद राष्ट्रपति ने निर्देश दिया कि कैबिनेट मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर को उनके मौजूदा विभागों के अतिरिक्त खाद्य प्रसंस्कारण उद्योग मंत्रालय का प्रभार भी सौंपा जाए।बता दें कि केंद्र की मोदी कैबिनेट से इस्तीफा की जानकारी हरसिमरत कौर बादल ने ट्वीट कर दी थी। उन्होंने अपने ट्विटर में कहा था कि मैंने किसान विरोधी अध्यादेशों और कानून के विरोध में केंद्रीय मंत्रिमंडल से इस्तीफा दे दिया है। किसानों के साथ उनकी बेटी और बहन के रूप में खड़े होने का गर्व है।

 

18-09-2020
नरेंद्र मोदी ने कहा, हमारी सरकार किसानों को एमएसपी के माध्यम से उचित मूल्य दिलाने के लिए प्रतिबद्ध

नई दिल्ली। लोकसभा में पेश हुए कृषि बिलों पर संसद से लेकर सड़क तक बवाल मचा है। इस हंगामे के बीच शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपनी बात देश के सामने रखी। पीएम मोदी ने कहा, किसानों को मनगढ़ंत बातें बताकर विरोध में उतारा जा रहा है। उन्होंने कहा कि जिन बदलावों को किया जा रहा है उनको दूसरी पार्टी ने खुद अपने घोषणापत्र में जगह दी थी। बिहार में कोसी रेल महासेतु का उद्घाटन करते वक्त प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने खेती से जुड़े तीन विधेयकों पर अपनी बात रखी।पीएम मोदी ने कहा, "मैं देश के किसानों को इन विधेयकों के लिए बधाई देता हूं। किसान और ग्राहक के बीच जो बिचौलिए होते हैं, जो किसानों की कमाई का बड़ा हिस्सा खुद ले लेते हैं, उनसे बचाने के लिए ये विधेयक लाए जाने बहुत आवश्यक थे। ये विधेयक किसानों के लिए रक्षा कवच बनकर आए हैं, लेकिन कुछ लोग जो दशकों तक सत्ता में रहे हैं, देश पर राज किया है, वो लोग किसानों को इस विषय पर भ्रमित करने की कोशिश कर रहे हैं, किसानों से झूठ बोल रहे हैं।पीएम ने कहा, चुनाव के समय किसानों को लुभाने के लिए ये बड़ी-बड़ी बातें करते थे, लिखित में करते थे, अपने घोषणापत्र में डालते थे और चुनाव के बाद भूल जाते थे। आज जब वही चीजें भाजपा-एनडीए सरकार कर रही है, तो ये भांति-भांति के भ्रम फैला रहे हैं। पीएम मोदी ने कहा, जिन एग्रीकल्चर मार्केट के प्रावधानों में बदलाव का वो विरोध कर रहे हैं, उसी बदलाव की बात इन लोगों ने अपने घोषणापत्र में भी लिखी थी।

लेकिन अब जब एनडीए सरकार ने ये बदलाव कर दिया है, तो ये लोग इसका विरोध करने पर, झूठ फैलाने पर उतर आए हैं।पीएम मोदी ने आगे कहा, ये लोग भूल रहे हैं कि देश का किसान कितना जागृत है। वो ये देख रहा है कि कुछ लोगों को किसानों को मिल रहे नए अवसर पसंद नहीं आ रहे। देश का किसान ये देख रहा है कि वो कौन से लोग हैं, जो बिचौलियों के साथ खड़े हैं।पीएम मोदी ने कहा, अब ये दुष्प्रचार किया जा रहा है कि सरकार के द्वारा किसानों को एमएसपी का लाभ नहीं दिया जाएगा। ये भी मनगढ़ंत बातें कही जा रही हैं कि किसानों से धान-गेहूं इत्यादि की खरीद सरकार द्वारा नहीं की जाएगी। ये सरासर झूठ है, गलत है, किसानों को धोखा है।पीएम मोदी ने कहा, हमारी सरकार किसानों को एमएसपी के माध्यम से उचित मूल्य दिलाने के लिए प्रतिबद्ध है। पहले भी थे, आज भी हैं और आगे भी रहेंगे। सरकारी खरीद भी पहले की तरह जारी रहेगी। कोई भी व्यक्ति अपना उत्पाद, दुनिया में कहीं भी बेच सकता है, जहां चाहे वहां बेच सकता है, लेकिन केवल किसान भाई-बहनों को इस अधिकार से वंचित रखा गया था। अब नए प्रावधान लागू होने के कारण, किसान अपनी फसल को देश के किसी भी बाजार में, अपनी मनचाही कीमत पर बेच सकेगा।

पीएम मोदी ने कहा, किसानों के लिए जितना एनडीए शासन में पिछले 6 वर्षों में किया गया है, उतना पहले कभी नहीं किया गया। किसानों को होने वाली एक-एक परेशानी को समझते हुए, एक-एक दिक्कत को दूर करने के लिए हमारी सरकार ने निरंतर प्रयास किया है। पीएम मोदी ने कहा, मैं आज देश के किसानों को नम्रता पूर्वक स्पष्ट संदेश देना चाहता हूं। आप किसी भी तरह के भ्रम में मत पड़िए। इन लोगों से देश के किसानों को सतर्क रहना है। ऐसे लोगों से सावधान रहें, जिन्होंने दशकों तक देश पर राज किया और जो आज किसानों से झूठ बोल रहे हैं। पीएम ने कहा, वो लोग किसानों की रक्षा का ढिंढोरा पीट रहे हैं लेकिन दरअसल वे किसानों को अनेक बंधनों में जकड़कर रखना चाहते हैं। वो लोग बिचौलियों का साथ दे रहे हैं, वो लोग किसानों की कमाई को बीच में लूटने वालों का साथ दे रहे हैं। ये देश की जरूरत है और समय की मांग भी है। किसान, महिलाएं, नौजवान, राष्ट्र के निर्माण में सभी को सशक्त करना हमारा दायित्व है। आज जितनी भी परियोजनाओं को शुरु किया गया है, वो इसी दायित्व का हिस्सा है।

 

17-09-2020
सेवा सप्ताह के रूप में मनाया गया नरेंद्र मोदी का जन्मदिन, किया गया फल वितरण

बीजापुर। जिला मुख्यालय स्थित भाजपा कार्यालय (अटल सदन) में भाजपा कार्यकर्ताओं ने दीप प्रज्वलित कर व मिठाई खिला कर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का जन्मदिवस मनाया। भाजपा नरेंद्र मोदी के जन्मदिन को सेवा सप्ताह के रूप में मन रही है। कार्यकर्ताओं ने जिले चारों विकासखण्ड में सेवासप्ताह के तहत स्वछता अभियान चला रही है। नरेंद्र मोदी के जन्मदिवस पर फल वितरण किया गया। शुक्रवार को जिले के विभिन्न जगह पर पौधरोपण भी किया जाएगा। इस अवसर पर भाजपा जिला महामंत्री सतेंद्र ठाकुर,जिला कोषाध्यक्ष संजय लूंकंड,जिला कार्यकारिणी सदस्य (पार्षद) घासीराम नाग,जनपद सदस्य प्रवीण पोंदी,मंडल अध्यक्ष भुवन सिंह चौहान,पार्षद संजय गुप्ता,युवा मोर्चा महामंत्री जगार लक्ष्मैया, मीडिया प्रभारी अरविंद पुजारी (छोटू),सुरेश परतागिरी,जिलाराम राणा,गणेश पात्रो,प्रभात तिग्गा,सुन्दर पुजारी,संजय कुड़ियम,लालू कुड़ियम,पोरिया कुड़ियम, मुन्ना कुड़ियम , भामन कल्मुम, कंतैया नक्का, लछिंदर कश्यप में अलावा महिला मोर्चा से पार्वती साहनी, उर्मिला तोकाल,रम्भा झा,विजयलक्ष्मी मोरला एवम् अन्य कार्यकर्ता मौजूद थे।

 

17-09-2020
Breaking : भूपेश बघेल ने प्रधानमंत्री मोदी को जन्मदिन की दी शुभकामनाएं

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को जन्मदिन की शुभकामनाएं दी है। मुख्यमंत्री ने ट्वीट कर शुभकामना संदेश दिया है। मुख्यमंत्री बघेल ने अपने ट्विटर हैंडल पर लिखा है कि, "माननीय प्रधानमंत्री @narendramodi जी को जन्मदिन की हार्दिक शुभकामनाएं। आपके अच्छे स्वास्थ्य की कामना करता हूँ।"

 

16-09-2020
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्मदिवस पर मेगा ब्लड डोनेशन कैम्प 17 को

रायपुर /सूरजपुर।  भारतीय रेडक्राॅस सोसाइटी की ओर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्म दिवस 17 सितम्बर पर देशव्यापी कार्यक्रम मेगा ब्लड डोनेशन कैम्प का आयोजन किया जायेगा। इसके लिए आम नागरिकों से अपील की गई हैं कि जिला चिकित्सालय सूरजपुर में 17 सितम्बर को समय सुबह 10 बजे से शाम 5 बजे तक अधिक से अधिक संख्या में  कोविड-19 की गाइडलाइन का पालन करते हुए उपस्थित होकर रक्तदान करें।

 

16-09-2020
यह पहला मौका नहीं, जब मोदी सरकार ने बर्दाश्त न होने वाला झूठ बोला है : शैलेश नितिन त्रिवेदी

रायपुर। छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी के संचार विभाग के प्रमुख शैलेश नितिन त्रिवेदी ने केन्द्र की मोदी सरकार को घेरा है। त्रिवेदी ने कहा है कि, केंद्र सरकार का बयान स्वीकार्य नहीं है कि, लॉक डाउन के दौरान घर लौटते गरीब मजदूरों की मौतों का कोई आंकड़ा उपलब्ध नहीं है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को इस गैरजिम्मेदाराना रवैये के लिए देश से माफी मांगनी चाहिए। त्रिवेदी ने कहा है कि, जिस समय मजदूर पैदल घर लौटने को मजबूर हुए, उस समय देश में आपदा प्रबंधन कानून लागू था। केंद्र सरकार हर फैसले खुद ले रही थी। करोड़ों लोगों का रोजगार छिन गया और आज सरकार कह रही है कि, उसके पास कोई जानकारी नहीं है। यह पहला मौका नहीं है, जब नरेंद्र मोदी की सरकार ने ऐसा बर्दाश्त न होने वाला झूठ बोला है।

इससे पहले नोटबंदी में भी सरकार ने देश के करोड़ों लोगों को बैंकों के सामने कतार में खड़ा कर दिया और सैकड़ों लोगों की जानें गईं। प्रधानमंत्री ने कहा था कि, 50 दिन में सब कुछ ठीक न हुआ तो फांसी चढ़ा देना। न कालाधन आया, न आतंकवाद और न नक्सलवाद खत्म हुआ। लाखों व्यापारियों का कारोबार मंदी की चपेट में जरूर चला गया। त्रिवेदी ने कहा है कि, दूसरी आजादी की तरह जश्न मनाकर जीएसटी लागू किया गया, लेकिन आज पता चल रहा है कि दुनिया का सबसे जटिल और निरर्थक जीएसटी लागू करके प्रधानमंत्री ने देश के मंझोले और छोटे उद्योग और कारोबार की कमर तोड़ कर रख दी है। यही वजह है कि, कोरोना के बाद देश की अर्थव्यवस्था 40 प्रतिशत तक सिकुड़ गई है। ऐसा लगने लगा है कि, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अच्छे दिन का वादा करके देशवासियों को सबसे बुरे दिन दिखा रहे हैं।

15-09-2020
भयावह कोरोना संकट में भी सरकार को झूठे दावे और प्रचार कर वाहवाही बटोरने की सूझी है : डॉ. रमन

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा है कि, प्रदेश सरकार कोरोना के खिलाफ जारी जंग विफल हो रही है। न तो संसाधन जुटाकर उपलब्ध करा पा रही है, न संक्रमण के फैलाव को रोक पा रही है, न अस्पतालों में कोई व्यवस्था कर पा रही है, न मरीजों को इलाज के लिए अस्पतालों में बिस्तर दिला पा रही है। प्रदेश सरकार के रवैए से संत्रस्त प्रदेश का हर वर्ग अब कोरोना काल में अपनी जान दांव पर लगाकर रोज हजारों की संख्या में सड़क पर आंदोलन करने उतर रहा है। इससे संक्रमण का खतरा और फैलाव प्रदेश स्तर पर होने की आशंका बलवती होती जा रही है। प्रदेश सरकार अब इन आंदोलनों को भी रोक नहीं पा रही है। डॉ. सिंह ने कहा है कि, प्रदेश ने देश और राजधानी ने देश के कई बड़े शहरों को कोरोना संक्रमण के फैलाव में पीछे छोड़ दिया है। ऐसी भयावह स्थिति में भी प्रदेश सरकार को झूठे दावे और  प्रचार करके वाहवाही बटोरने की सूझी पड़ी है। भाजपा की पूर्ववर्ती प्रदेश सरकार और केंद्र में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली भाजपानीत राजग सरकार अपने पहले कार्यकाल में स्वास्थ्य सुविधा देते हुए क्रमश: स्मार्ट कार्ड और आयुष्मान भारत योजना के तहत जरुरतमंद मरीजों को निशुल्क इलाज दे रही थी। प्रदेश सरकार ने 50 हजार रुपए तक और केंद्र सरकार ने 5 लाख रुपए तक के इलाज को निशुल्क कर दिया था।  सत्ता में आने के बाद मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने राजनीतिक प्रतिशोध की ओछी मानसिकता का परिचय देकर इन दोनों ही योजनाओं को बंद कर दिया। यदि प्रदेश सरकार ने जनकल्याण की इन योजनाओं को जारी रखा होता,तो आज प्रदेश के लोगों को कोरोना समेत अन्य बीमारियों के इलाज में राहत मिलती।

14-09-2020
चीन की नापाक हरकत, राष्ट्रपति-प्रधानमंत्री सहित बड़ी हस्तियों की कर रहा जासूसी

नई दिल्ली। चीन की नापाक हरकत को लेकर एक और खुलासा हुआ है। बताया गया है कि चीन की कुछ कंपनियों द्वारा भारत में जासूसी की जा रही है। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय मंत्री तक, मुख्यमंत्री से लेकर सेना के वरिष्ठ अफसरों तक की जासूसी की जा रही है। इसके अलावा, देश के प्रमुख उद्योगपतियों से लेकर वरिष्ठ अधिकारी भी चीन के निशाने पर हैं।  एक अंग्रेजी अखबार ने अपनी एक रिपोर्ट में दावा किया है कि शेनजेन बेस्ड चीनी कंपनी 'झेनझुआ डाटा इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी कंपनी लिमिटेड' भारत में करीब दस हजार लोगों की निगरानी कर रही है। इस कंपनी का चीन की सरकार और चीन की कम्युनिस्ट पार्टी से सीधा संबंध है। इस चीनी कंपनी की करीब दस हजार भारतीयों पर नजर है, जिसमें प्रधानमंत्री से लेकर एक मेयर तक शामिल है। 

इन लोगों की हो रही जासूसी

रिपोर्ट में बताया गया है 'झेनझुआ डाटा इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी कंपनी लिमिटेड' की ओर से जिन भारतीयों पर नजर रखी जा रही है। उनमें राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी, मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, अशोक गहलोत, अमरिंदर सिंह, उद्धव ठाकरे, नवीन पटनायक और शिवराज सिंह शामिल हैं।  इसके अलावा, केंद्रीय मंत्री राजनाथ सिंह, रविशंकर प्रसाद, निर्मला सीतारमण, स्मृति ईरानी और पीयूष गोयल सहित अन्य लोग शामिल हैं। वहीं, सीडीएस बिपिन रावत और सेना, नौसेना और वायुसेना के 15 पूर्व प्रमुख समेत आला अधिकारी भी चीन की निगरानी में हैं।  बीजिंग की तरफ से कंपनी के माध्यम से मुख्य न्यायाधीश शरद बोबडे, जज एएम खानविल्कर, लोकपाल जस्टिस पीसी घोष और नियंत्रक और महालेखा परीक्षक जीसी मुर्मू तक की जासूसी करवाई जा रही है। वहीं, भारत पे के संस्थापक निपुण मेहरा, रतन टाटा और गौतम अडानी सरीखे लोग भी चीन की नापाक निगरानी पर है। रिपोर्ट में बताया गया है कि चीन के निशाने पर नेताओं के अलावा सचिन तेंदुलकर जैसे खिलाड़ी, फिल्म डायरेक्टर श्याम बेनेगल, सोनल मानसिंह जैसे लोग भी हैं। इस सूची में ऐसे लोग भी शामिल हैं, जिनका भारत में क्राइम का रिकॉर्ड है। ये सूची और भी बड़ी है, जिसमें 10 हजार के करीब प्रमुख लोग शामिल हैं। 

चीन के साथ मिलकर हो रहा नापाक काम

अखबार की रिपोर्ट में दावा किया गया है कि चीनी कंपनियों द्वारा सभी प्रमुख लोगों की निजी जिंदगी को उनके सोशल मीडिया प्लटेफॉर्म द्वारा फॉलो किया जा रहा है। इनकी नजर में परिजन से लेकर समर्थक तक हैं। चीनी कंपनियों द्वारा इन लोगों का रियल टाइम डाटा इकट्ठा किया जा रहा है, जिसे चीनी सरकार के साथ साझा किया जा रहा है। बताया गया है कि इस पूरी जासूसी के लिए 'झेनझुआ डाटा इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी कंपनी लिमिटेड' ने चीनी सरकार और कम्युनिष्ट पार्टी के साथ मिलकर विदेशों से सूचनाओं को इकट्ठा करने के लिए एक डाटा बेस तैयार किया है, जिसके तहत इस नापाक मंसूबे को अंजाम दिया जा रहा है। कंपनी की तरफ से इकट्ठा किए जा रहे डाटा को 'हाइब्रेड वॉर' की संज्ञा दी गई है, जिसमें किसी के बारे में जानकारी जुटाने के लिए उसकी निजी जिंदगी की जानकारी को खंगाला जाता है। एक तरफ जहां चीन के साथ सीमा पर तनाव है और चीनी सेना घुसपैठ की कोशिश कर रही है, दूसरी तरफ चीन भारत के प्रमुख लोगों पर आंखें गड़ाए हुए है। 

13-09-2020
नरेंद्र मोदी ने बिहार में विधानसभा चुनाव के पहले एलपीजी पाइपलाइन परियोजना और दो बॉटलिंग संयंत्रों की दी सौगात

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये बिहार में एलपीजी पाइपलाइन परियोजना के एक खंड और दो बॉटलिंग संयंत्रों का उद्घाटन किया। इन परियोजनाओं में पारादीप-हल्दिया-दुर्गापुर पाइपलाइन परियोजना का दुर्गापुर-बांका खंड और बांका और चंपारण जिले में दो एलपीजी बॉटलिंग संयंत्र शामिल हैं। प्रधानमंत्री ने इस अवसर पर कहा कि गैस पाइपलाइन परियोजना से बिहार में उर्वरक, बिजली और इस्पात क्षेत्र के उद्योगों को बढ़ावा मिलेगा और सीएनजी आधारित स्वच्छ यातायात प्रणाली का भी लाभ होगा और रोजगार के नए अवसर पैदा होंगे।

इस मौके पर बिहार के राज्यपाल फागू चौहान, राज्य के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार तथा केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान भी मौजूद थे। सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनी इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन (आईओसी) द्वारा निर्मित 193 किलोमीटर की दुर्गापुर-बांका पाइपलाइन खंड पारादीप-हल्दिया-दुर्गापुर पाइपलाइन विस्तार परियोजना का हिस्सा है। प्रधानमंत्री ने 17 फरवरी, 2019 को इसका शिलान्यास किया था। दुर्गापुर-बांका खंड मौजूदा 679 किलोमीटर की पारादीप-हल्दिया-दुर्गापुर एलपीजी पाइपलाइन का बांका में नई एलपीजी बॉटलिंग संयंत्र तक विस्तार है। यह पाइपलाइन पश्चिम बंगाल, झारखंड तथा बिहार से गुजरती है।

12-09-2020
प्रधानमंत्री का नारा 'जब तक दवाई नहीं तब तक ढिलाई नहीं' देश के साथ एक और क्रूर मजाक : कांग्रेस

रायपुर। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा दिये गए नारे 'जब तक दवाई नहीं तब तक ढिलाई नहीं' के नारे को कांग्रेस ने एक बड़ा मजाक बताया है ।प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता सुशील आनंद शुक्ला ने कहा कि रोज रोज अनलॉक के बहाने क्लब सिनेमाघर,मल्टीप्लेक्स आदि को खोलने का आदेश देकर सोशल डिस्टेंसिग की धज्जियां उड़वाने वाली केंद्र सरकार के मुखिया इस प्रकार का बयान दे कर देश की जनता को भुलावे में न डाले। प्रवक्ता सुशील शुक्ला ने का कि देश में अब तक 47 लाख से अधिक लोग कोरोना से संक्रमित हो चुके हैं। पिछले चौबीस घण्टे में 97654 लोग कोरोना पॅाजिटिव हो चुके हैं। देश मे अब तक 77472 लोगो की कोरोना से दुखद मौत हो चुकी है। दुनिया में सर्वाधिक संक्रमण के नए केस अब भारत मे आ रहे हैं। भारत कोरोना मरीजों के मामले में दुर्भाग्यपूर्ण रूप से ब्राजील से भी आगे निकल कर अमेरिका के बराबर पहुँच रहा है।

कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि बड़े पैमाने पर हुए जन हानि और हाहाकार के बाद भी हमारे प्रधानमंत्री अभी तक कोरोना के मामले न गम्भीर हुए है और न अपनी जिम्मेदारी को समझ रहे हैं। प्रधानमंत्री और भाजपा कोरोना की तबाही को गम्भीरता से लेने को तैयार ही नही है। केंद्र सरकार पूरे देश मे कोरोना से लड़ते दिखाई ही नहीं दे रही है।  कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि भाजपा की केंद्र सरकार कोरोना से निपटने में उदासीन बनी हुई है और राज्य में भारतीय जनता पार्टी के नेता कोरोना संकट को एक अवसर के रूप में देख रहे हैं। छत्तीसगढ़ भाजपा का हर नेता सिर्फ राज्य सरकार कोसने को ही अपना कर्तब्य समझ रहा है। राज्य से भारतीय जनता पार्टी की केंद्रीय मंत्री है, 9 सांसद है, तीन राष्ट्रीय पदाधिकारी लेकिन किसी ने भी दलीय भावना से ऊपर उठ कर केंद्र सरकार को राज्य की मदद के लिए न कभी पत्र लिखा न कोई दबाव बनाया। 

04-09-2020
नरेंद्र मोदी ने आईपीएस अधिकारियों को किया संबोधित, कहा- महामारी के दौरान पुलिस ने किया बेहतर काम

हैदराबाद। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को सरदार वल्लभभाई पटेल राष्ट्रीय पुलिस अकादमी में परिवीक्षाधीन आईपीएस अधिकारियों को ऑनलाइन संबोधित किया। अपने संबोधन में उन्होंने कहा कि वैश्विक महामारी कोविड-19 के दौरान देश में पुलिस का ‘मानवीय’ पक्ष सामने आया है। उन्होंने कहा कि इस दौरान पुलिस ने बेहतर काम किया। जम्मू-कश्मीर में युवकों को शुरुआत से ही आतंकवाद की राह पर जाने से रोकने के लिए महिला पुलिस अधिकारियों से वहां की महिलाओं की मदद लेने की अपील की।एक महिला परीवीक्षाधीन अधिकारी के सवाल का जवाब देते हुए मोदी ने केन्द्र शासित प्रदेश के लोगों की प्रशंसा करते हुए कहा कि वे ‘प्यारे’ लोग हैं।

उन्होंने कहा, ‘ मैं इन लोगों के साथ बहुत जुड़ा हुआ हूं। वे आपके साथ बेहद प्यार से पेश आते हैं। हमें गलत राह पर जाने वालों को रोकना होगा। महिलाएं ऐसा कर सकती हैं।’’ प्रधानमंत्री ने कहा, ‘ (जम्मू-कश्मीर में) हमारी माएं ऐसा कर सकती हैंं। अगर हम शुरू में ही ऐसा करें तो बहुत अच्छा होगा।’’ उन्होंने यह भी कहा कि योग और प्राणायाम तनाव दूर करने के लिए बहुत फायदेमंद हैं।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804