GLIBS
14-10-2019
रक्षा मंत्री का आरोप, कांग्रेस नेता इंग्लैंड जाकर कश्मीर का कर रहे अंतरराष्ट्रीयकरण

मुंबई। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने महाराष्ट्र में चुनाव प्रचार के दौरान कांग्रेस पर जमकर हमला बोला। ठाणे में जनसभा को संबोधित करते हुए राजनाथ ने कहा कि चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग भारत आए और उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ अनौपचारिक बैठक की। उन्होंने कहा कि  पीएम मोदी ने जिनपिंग के साथ कश्मीर पर चर्चा नहीं की। आपके नेता इंग्लैंड जाते हैं, हमारे कश्मीर के आंतरिक मामले का अंतरराष्ट्रीयकरण करने का साहस करते हैं और आप इसकी निंदा भी नहीं कर रहे हैं। राजनाथ ने आगे कहा कि दुनिया मानती है कि भारत अब कमजोर देश नहीं है। भारत ऐसा देश नहीं है जो अपने घुटनों पर खड़े होकर किसी से बात करे। भारत आज अपने पैरों पर खड़े होकर और पूरी ताकत से बात करने की स्थिति में है। अनुच्छेद 370 पर कांग्रेस द्वारा सवाल उठाए जाने पर राजनाथ सिंह ने कहा कि कांग्रेस पांच साल से हमारे प्रधानमंत्री के खिलाफ आरोप लगा रही है, फिर भी हमारी पार्टी सुपरसोनिक स्पीड से ऊपर जा रही है और कांग्रेस सुपरसोनिक स्पीड से नीचे आ रही है।

 

 

14-10-2019
सुधार के सामने बाधा बनकर खड़े हो जाते हैं विपक्षी : पीएम मोदी

फरीदाबाद। हरियाणा  विधानसभा चुनाव 2019  के लिए सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बल्लभगढ़ में हुंकार भरी। पीएम मोदी ने जनता को संबोधित करते हुए कहा कि हरियाणा आकर मुझे लगता है, जैसे मैं अपने घर में आया हूं। हरियाणा ने मुझे बहुत कुछ सिखाया है। उन्होंने कहा कि हरियाणा का विकास मेरी प्राथमिकता है। वहीं विपक्षियों पर निशाना साधते हुए पीएम मोदी ने कहा कि बिखरे हुए लोग हरियाणा का विकास नहीं कर सकते है। कांग्रेस अपनी बिगड़ी टीम जोडऩे में मशहूर है। विपक्षियों में स्वार्थ और अहंकार है। पीएम मोदी ने कहा कि मैं देश के विकास के लिए कदम उठा रहा हूं। आपने मुझे 5 साल का समय दिया है। मैंने संकल्प पूरा करना शुरू कर दिया है। पीएम मोदी ने कहा कि देश में हो रहे हर सुधार और हर परिवर्तन के सामने कांग्रेस और उसके जैसे दल दीवार बनकर खड़े हो जाते हैं। आपने देखा है कि कैसे तीन तलाक के खिलाफ कानून को इन लोगों ने हर बार रोका, हर तरह के बहाने बनाकर रोका। राफेल मुद्दे का जिक्र करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि राफेल विमान को लेकर इन्होंने लोकसभा चुनाव के दौरान कैसी हायतौबा मचाई थी? इन लोगों ने पूरा जोर लगा दिया था कि ये विमान समझौता रद्द हो जाए, भारत में नया लड़ाकू  विमान न आने पाए, लेकिन इन लोगों की तमाम कोशिशों के बावजूद भारत को पहला राफेल विमान सौंपा जा चुका है। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि ये कितना भी विरोध करें, कितनी ही साजिशें करें, राष्ट्रीय सुरक्षा और सेना के सशक्तीकरण के लिए भाजपा प्रतिबद्ध है और हम लगातार उसे गति दे रहे हैं। पीएम मोदी ने कहा कि हरियाणा की धरती और यहां के लोगों का सहयोग और समर्थन है, जिन्होंने मनोहर लाल जी और उनकी टीम को ताकत दी है। आपका यही आशीर्वाद हमें लोकसभा चुनाव के दौरान भी मिला है। पीएम ने कहा कि आज आप देख रहे हैं कि कैसे पूरी दुनिया, दुनिया के बड़े-बड़े नेता भारत के साथ खड़े होने के लिए, भारत के साथ आने के लिए दुनियाभर में आतुर नजर आते हैं।

 

 

14-10-2019
8 नवंबर को करतारपुर कॉरिडोर का उद्घाटन करेंगे पीएम मोदी

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 8 नवंबर को बहुप्रतीक्षित करतारपुर कॉरिडोर का उद्घाटन करेंगे। केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल ने यह जानकारी दी। यह कॉरिडोर पाकिस्तान स्थित श्री करतारपुर साहिब को जोड़ेगा। भारत-पाकिस्तान सीमा पर निर्माणाधीन कॉरिडोर के काम का निरीक्षण करने एनएचएआई की टीम पहुंची। टीम का नेतृत्व कर रहे एनएचएआई के चेयरमैन डॉ. एनएन सिन्हा ने बताया कि कॉरिडोर का लगभग 90 फीसदी निर्माण कार्य पूरा कर लिया गया है।

केंद्रीय मंत्री हरसिमरत ने बताया कि करतारपुर साहिब में पीएम मोदी भारतीय सरजमीं पर एकीकृत चेक पोस्ट का उद्घाटन करेंगे। उन्होंने ट्वीट किया कि गुरु नानकदेव जी के आशीर्वाद से आखिरकार सिख पंथ को श्री करतारपुर साहिब के ‘खुले दर्शन दीदार’ का सौभाग्य मिल रहा है। 8 नवंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा करतारपुर साहिब कॉरिडोर के उद्घाटन के साथ ही इतिहास रचा जाएगा। जो काम कांग्रेस के 72 साल के शासन में संभव नहीं हो सका, प्रधानमंत्री मोदी ने उसकी गलती को अब सुधारा है। पिछले हफ्ते पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को करतारपुर कॉरिडोर के खोले जाने और गुरु नानकदेव के 550वें प्रकाश पर्व में शामिल होने के लिए आमंत्रित किया था। श्री करतारपुर साहिब पाकिस्तान के नरोवाल जिले में है। यह डेरा बाबा नानक श्राइन से करीब चार किलोमीटर दूर है।

पिछले साल नवंबर में भारत और पाकिस्तान करतारपुर कॉरिडोर बनाए जाने पर सहमत हुए थे। यह कॉरिडोर करतारपुर में स्थित श्री दरबार साहिब को पंजाब के गुरदासपुर में स्थित डेरा बाबा नानक श्राइन को जोड़ेगा। डेरा बाबा नानक पहुंचे एनएचएआई के चेयरमैन सिन्हा ने कंस्ट्रक्शन कंपनी के जतिंदर सिंह से कॉरिडोर निर्माण कार्यों को लेकर चर्चा की। इसके अलावा कॉरिडोर पर निर्माणाधीन विभिन्न प्रकार की बिल्डिंगों का निरीक्षण भी किया। इस अवसर पर चेयरमैन सिन्हा ने मौके पर पौधे भी लगाए। डॉ. सिन्हा ने निर्माण कार्यों पर संतुष्टि जताते हुए कहा कि कॉरिडोर का लगभग 90 फीसदी निर्माण कार्य पूरा कर लिया गया है। महज 10 फीसदी काम बाकी रह गया है और वो भी फिनिंशिग का है। फुटपाथ पर सिर्फ 500 मीटर का काम और रह गया है। इसके अलावा बनाए गए पुल पर लेयरिंग पर काम हो रहा है। उन्होंने बताया कि 15 से 20 दिन का काम बाकी रह गया है।

 

 

13-10-2019
राष्ट्रपति कोविंद और उनकी पत्नी ने पीएम मोदी की मां हीराबा से की मुलाकात

गांधीनगर। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने गुजरात के गांधीनगर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मां से रविवार सुबह मुलाकात की। अपने गुजरात दौरे के दूसरे दिन राष्ट्रपति पत्नी सविता कोविंद के साथ प्रधानमंत्री की मां हीराबा से रायसन गांव स्थित उनके घर पर मिलने पहुंचे। इस मुलाकात की तस्वीर को ट्विटर पर शेयर करते हुए राष्ट्रपति भवन ने ट्विटर पर लिखा-राष्ट्रपति कोविंद ने गुजरात के गांधीनगर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मां हीरा बा से मुलाकात की। राष्ट्रपति ने उन्हें अच्छे स्वास्थ्य के लिए शुभकामनाएं दीं। यहां उन्होंने लगभग आधा घंटा बिताया। इसके बाद कोविंद अपनी पत्नी के साथ कोबा के पास स्थित महावीर जैन अराधना केंद्र पहुंचे। जहां उन्होंने आचार्य श्री पद्मासागरसुरुजी का आशीर्वाद लिया। राष्ट्रपति का मुख्यमंत्री विजय रुपाणी ने स्वागत किया। इससे पहले शनिवार को राष्ट्रपति अपनी पत्नी के साथ अहमदाबाद पहुंचे थे। उनका राजभवन में राज्यपाल आचार्य देव व्रत ने उनका स्वागत किया। वह शनिवार रात को राजभवन में ही रुके।

13-10-2019
इन अहम मुद्दों पर हुई मोदी-जिनपिंग की चर्चा, पढ़े पूरी खबर

नई दिल्ली। अनौपचारिक शिखर वार्ता के दूसरे दिन ऐतिहासिक तटीय शहर में भारत-चीन के बीच आपसी सहयोग का नया अध्याय शुरू हुआ। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने शनिवार को आतंकवाद सहित कई द्विपक्षीय मुद्दों पर विस्तार से चर्चा की। इस दौरान दोनों देश मतभेदों को विवेकपूर्ण ढंग से सुलझाने, एक दूसरे की चिंताओं के प्रति संवेदनशील रहने और उन्हें विवाद का रूप नहीं देने पर सहमत हुए। दो दिन में करीब सात घंटे की इस वन-टू-वन वार्ता के दौरान मुख्य मुद्दा द्विपक्षीय व्यापार, निवेश और आपसी विश्वास और मजबूत करना रहा। व्यापारिक रिश्ते और निवेश बढ़ाने के लिए दोनों देशों के बीच मंत्रिस्तरीय तंत्र बनाने का फैसला हुआ। वहीं, भारत की कूटनीतिक सफलता यह रही कि इस दौरान कश्मीर मुद्दा नहीं उठा। विदेश सचिव विजय गोखले ने बताया, दो दिनों में मोदी और जिनपिंग के बीच कई सत्रों में बातचीत हुई। वुहान शिखर सम्मेलन के बाद की प्रगति पर केंद्रित यह वार्ता खुले माहौल में सौहार्द्रपूर्ण रही। प्रतिनिधिमंडल स्तर की वार्ता में पीएम मोदी ने कहा, चेन्नई कनेक्ट के जरिये दोनों देशों के बीच दोस्ती का नया युग शुरू होने जा रहा है। गोखले ने बताया कि चीनी राष्ट्रपति ने शानदार मेहमाननवाजी के लिए आभार जताते हुए अगली अनौपचारिक शिखर वार्ता के लिए पीएम मोदी को चीन आने निमंत्रण दिया, जिसे पीएम ने स्वीकार कर लिया। इसका कार्यक्रम बाद में घोषित होगा। इससे पहले मोदी-जिनपिंग के बीच 90 मिनट की वन-टू-वन वार्ता हुई। दोनों नेताओं ने महसूस किया कि दोनों देशों को महत्वपूर्ण क्षेत्रीय और वैश्विक मुद्दों पर सहयोग करना चाहिए।

'ड्रैगन' और 'हाथी' के लिए कदमताल सही विकल्प : जिनपिंग

चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने भारत-चीन संबंधों को विकसित करने के लिए दीर्घकालीन योजना का आह्वान करते हुए कहा कि द्विपक्षीय मतभेदों का असर दोनों देशों के सहयोग पर नहीं पड़ना चाहिए। उन्होंने कहा कि ‘ड्रैगन’ और ‘हाथी’ की कदमताल ही सही विकल्प है। पीएम मोदी के साथ मामल्लापुरम में अनौपचारिक शिखर वार्ता के बाद चीनी समाचार एजेंसी शिन्हुआ ने अपनी रिपोर्ट में विस्तार से लिखा। चीनी राष्ट्रपति जिनपिंग ने कहा, हमें दोनों देशों के बीच मूल हितों के मुद्दों को सावधानीपूर्वक हल करना चाहिए। हमें ठीक से उन समस्याओं या मुद्दों का प्रबंधन करना चाहिए, जिन्हें समय रहते हल नहीं किया जा सकता। दोनों देशों का साथ मिलकर चलना बेहद जरूरी है। जिनपिंग ने वुहान शिखर सम्मेलन का जिक्र करते हुए कहा कि भारत और चीन के संबंध स्थायी विकास के नए युग में प्रवेश कर चुके हैं और बैठक के सकारात्मक प्रभाव लगातार दिख रहे हैं। हमें एक दूसरे के विकास को सही नजरिये से देखना चाहिए और रणनीतिक पारस्परिक विश्वास बढ़ाना चाहिए।  

अगले कुछ साल दोनों देशों के लिए अहम

चीनी राष्ट्रपति ने कहा कि आने वाले कुछ साल दोनों देशों के लिए काफी अहम होंगे। भारत और चीन को निश्चित रूप से दोस्ताना सहयोग के रास्ते पर चलना चाहिए। सीमा विवाद पर उन्होंने कहा कि समझौते के तहत सीमा मुद्दे का उचित समाधान तलाशेंगे, जो दोनों पक्षों को स्वीकार्य हो। इसके साथ ही जिनपिंग ने दोनों देशों के बीच सैन्य सुरक्षा स्तर पर सहयोग में सुधार की बात कही।

व्यापार घाटा कम करने पर चीन गंभीर

प्रतिनिधिमंडल स्तर की वार्ता में भारत ने 2018-19 में चीन के साथ 53 अरब डॉलर के व्यापार घाटे का मुद्दा उठाया। चीन ने कहा कि वह इस मुद्दे पर गंभीरता से चर्चा करने और ठोस कदम उठाने को तैयार है। दोनों देशों ने व्यापार, निवेश तथा सेवा संबंधी मुद्दों के लिए मंत्रिस्तरीय तंत्र स्थापित करेंगे। चीन से उप प्रधानमंत्री हु छुन ह्वा और भारत से वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण इसका नेतृत्व करेंगी। इसकी रूपरेखा राजनयिक चैनलों के जरिए तय होगी। दोनों के बीच विनिर्माण क्षेत्र के संबंध बढ़ाने पर भी बात हुई। जिनपिंग ने आईटी और फार्मा क्षेत्र में भारतीय निवेश का स्वागत किया। दोनों नेताओं ने अपने अधिकारियों को इस संदर्भ में नए तंत्र के तहत पहली वार्ता शुरू करने को कहा।

आतंकवाद पर मिलकर लड़ेंगे दोनों देश

दोनों नेता इस बात पर सहमत हैं कट्टरता भारत-चीन सहित दुनिया के लिए बड़ी चुनौती है और इससे साथ मिलकर निपटा जाना चाहिए, ताकि कट्टरवाद और आतंकवाद दोनों देशों के बहु सांस्कृतिक, बहु जातीय, बहु धार्मिक समाजों को प्रभावित नहीं कर पाए।

आरसीईपी पर बताई भारत की चिंता

पीएम मोदी ने क्षेत्रीय समग्र आर्थिक भागीदारी (आरसीईपी) पर भारत की चिंताओं से अवगत कराया और कहा, कारोबार, सेवा-निवेश में संतुलन होना चाहिए। इस पर जिनपिंग ने कहा, इन चिंताओं पर ध्यान दिया जाएगा। चीन असंतुलन कम करने को तैयार है।

सीमा विवाद में विश्वास बहाली

प्रतिनिधिमंडल वार्ता में सीमा विवाद का मुद्दा भी उठा। दोनों देश इस मुद्दे के शांतिपूर्ण समाधान के लिए आपसी विश्वास बहाली को और मजबूत करने पर सहमत हुए। जिनपिंग ने रक्षा क्षेत्र में संबंध बढ़ाने की बात कही। इससे दोनों देशों की सेनाओं में विश्वास बढ़ेगा। रक्षामंत्री जल्द चीन का दौरा करेंगे।

सांस्कृतिक संबंध, हर हफ्ते कार्यक्रम

अगले साल भारत-चीन के बीच रिश्तों के 70 साल पूरे होंगे। इस मौके पर 70 कार्यक्रम किए जाएंगे। इनमें आधे भारत और आधे चीन में होंगे। इस दौरान हर सप्ताह भारत या चीन में इससे जुड़ा एक कार्यक्रम होगा।

कश्मीर पर बात नहीं, इमरान का जिक्र

कश्मीर मुद्दे पर चर्चा के बारे में पूछे जाने पर गोखले ने कहा कि दोनों नेताओं के बीच इस मुद्दे पर कोई बात नहीं हुई। भारत स्पष्ट कर चुका है कि यह हमारा आंतरिक मामला है। इस सवाल पर कि क्या दोनों नेताओं ने सीमापार आतंकवाद पर चर्चा की, गोखले ने कहा कि दोनों देशों के बीच संबंधों में केवल यही मुद्दा नहीं है। जिनपिंग ने मोदी को पाकिस्तानी पीएम इमरान खान के हालिया चीन दौरे के बारे में बताया, जिसे उन्होंने ‘सुन लिया’।

पर्यटन और कैलाश मानसरोवर पर चर्चा

प्रधानमंत्री मोदी ने पर्यटन बढ़ाने का प्रस्ताव रखा। दोनों नेताओं के बीच कैलाश मानसरोवर यात्रा पर भी बातचीत हुई। प्रधानमंत्री ने तमिलनाडु और चीन के फुचियान के बीच संबंध बढ़ाने पर जोर दिया। फुचियान में हाल ही में तमिल कलाकृतियां मिली थीं। प्रधानमंत्री दक्षिण भारत और चीन के बीच रिश्ते आगे बढ़ाने के लिए इससे अहम माना।

प्रियंका सोहानी ने गिराई मोदी-जिनपिंग के बीच भाषाई दीवार

पीएम मोदी और चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग के बीच अनौपचारिक शिखर वार्ता के दौरान एक महिला ने सभी का ध्यान अपनी ओर खींचा। दो दिवसीय वार्ता के दौरान यह महिला साये की तरह पीएम मोदी के साथ मौजूद रही और जिनपिंग से मुलाकात में काफी अहम भूमिका निभाई। यह महिला थीं आईएफएस अधिकारी प्रियंका सोहानी, जिन्होंने पीएम मोदी की बातों को मंदारिन (चीनी भाषा) में अनुवाद कर जिनपिंग तक पहुंचाया। इसी तरह जिनपिंग ने मंदारिन में जो कहा, उसे पीएम मोदी को हिंदी में बताया। सोहनी के रहते ही दोनों नेताओं को एक-दूसरे की बात समझने में कोई परेशानी नहीं हुई। मुलाकात के दौरान जब चीनी राष्ट्रपति ने कई स्मारकों और भारतीय संस्कृति के बारे में जानना चाहा तो प्रियंका ने उन्हें समझाने में मदद की। सोहानी 2012 बैच की आईएफएस अधिकारी हैं और उन्हें विदेश मंत्रालय के बेस्ट ट्रेनी ऑफिसर का गोल्ड मेडल मिल चुका है। उनके बेहतरीन प्रदर्शन को देखते हुए उन्हें तत्कालीन विदेश सचिव सुजाता सिंह ने बिमल सान्याल पुरस्कार से सम्मानित किया था।  

चीन में भारतीय दूतावास में हैं तैनात

प्रियंका सोहानी महाराष्ट्र से यूपीएससी में सफल होने वाले लोगों में तीसरे नंबर पर थीं। उन्होंने यूपीएससी परीक्षा में 26 रैंक हासिल की थी। वह साल 2016 से चीन में भारतीय दूतावास में तैनात हैं। सोहानी का मानना है कि विदेश नीति का यह दौर काफी व्यापक और तेजी से बदल रहा है, जिसमें अधिकारियों को कदम से कदम मिलाकर चलने की जरूरत है।

भारत ने चीनी पर्यटकों को ई-वीजा नियमों में दी ढील

भारत ने ज्यादा से ज्यादा चीनी पर्यटकों को आकर्षित करने के लिए ई-वीजा नियमों में ढील देने की घोषणा की है। भारतीय दूतावास ने शनिवार को बताया, भारत ने चीनी सैलानियों के लिए एकाधिक प्रवेश सुविधाओं के साथ पांच साल के टूरिस्ट ई-वीजा की घोषणा की। इससे दोनों देशों के बीच लोगों का लोगों से संपर्क बढ़ेगा और इससे पर्यटन स्थल के तौर पर चीनी पर्यटक भारत को चुनने को प्रोत्साहित होंगे।

पिछले साल भारत आए 2.5 लाख चीनी पर्यटक

गौरतलब है कि भारत पहले से ही चीनी पर्यटकों को ई-वीजा की सुविधा उपलब्ध करा रहा है। फिर भी, चीनी पर्यटकों की संख्या में कुछ खास इजाफा नहीं हुआ है। पिछले साल सिर्फ ढाई लाख चीनी सैलानी भारत आए थे, जबकि भारत से साढ़े सात लाख पर्यटक चीन गए थे। अब फिर चीनी नागरिकों के लिए ई-वीजा सुविधा में ढील दी गई है।  

महाबलीपुरम चुनने के लिए पलानीस्वामी ने पीएम मोदी को दिया धन्यवाद

तमिलनाडु के मुख्यमंत्री के. पलानीस्वामी ने चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग के साथ अनौपचारिक बैठक के लिए मामल्लापुरम (महाबलीपुरम) का चयन करने को लेकर पीएम नरेंद्र मोदी को धन्यवाद दिया। उन्होंने पीएम को विश्व के नेताओं के बीच ‘बड़ा नेता’ करार दिया। पलानीस्वामी ने शनिवार को कहा, सबसे पहले मैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का इस शिखर वार्ता के लिए ऐतिहासिक मामल्लापुरम का चुनाव करने के लिए तमिलनाडु के लोगों की ओर से धन्यवाद देता हूं। दुनिया के नेताओं के बड़े नेता मोदी ने इस ऐतिहासिक शहर का चुनाव कर वैश्विक परिदृश्य में तमिलनाडु का कद ऊंचा कर दिया है। इससे दुनिया का ध्यान राज्य की ओर गया है।

चेन्नई एयरपोर्ट पर पहली बार उतरे दो जंबो जेट

चेन्नई एयरपोर्ट ने पहली बार कोड एफ श्रेणी के दो जंबो जेट विमानों की अगवानी की। चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग और उनका प्रतिनिधिमंडल इन दो विमानों में शुक्रवार को चेन्नई पहुंचा था। एयरपोर्ट की ओर से शनिवार को ट्वीट किया गया, चेन्नई एयरपोर्ट के लिए यह ऐतिहासिक और गौरवशाली मौका था, जब पहली बार दो बोइंग 747 व 800 जंबो यात्री विमान यहां उतरे। इसके साथ ही एयरपोर्ट की ओर से एयर चाइना के विमानों की तस्वीरें भी साझा की गईं।

13-10-2019
पीएम मोदी की भतीजी से स्नैचिंग मामले में एक आरोपी गिरफ्तार

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री मोदी की भतीजी का पर्स छीनकर भागे बदमाशों को दिल्ली पुलिस ने पकड़ लिया है। शनिवार को दिल्ली पुलिस ने सिविल लाइंस में पीएम मोदी की भतीजी दमयंती का पर्स बदमाश छीन कर भाग गए थे। इसके बाद दिल्ली पुलिस ने तुरंत कार्रवाई करते हुए सीसीटीवी फुटेज खंगाले थे और बस 24 घंटों के अंदर ही बदमाश को पुलिस ने धर दबोचा है। बता दें कि नरेंद्र मोदी की भतीजी का पर्स छीनकर भागने वाले बदमाश की पहचान बादल उर्फ नोनू बताया जा रहा है, जिसे पुलिस ने नबी करीम इलाके से गिरफ्तार किया है।. दिल्ली पुलिस ने 24 घंटे के अंदर ही दमयंती का पर्स बरामद कर लिया है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की भतीजी दमयंती बेन शनिवार को दिल्‍ली में स्नेचिंग की वारदात हो गई थी। बदमाश दमयंती बेन का पर्स छीनकर रफूचक्‍कर हो गए। दमयंती बेन ने बताया कि पर्स में कैश के साथ-साथ कई कागजात थे। यह वारदात दिल्ली के पॉश इलाकों में से एक सिविल लाइन्स हुई थी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भाई की बेटी दमयंती बेन मोदी शनिवार सुबह अमृतसर से दिल्ली लौटीं थीं। सिविल लाइन्स इलाके के गुजराती समाज भवन में उनका कमरा बुक था। पुरानी दिल्ली रेलवे स्‍टेशन से ऑटो से दमयंती बेन परिवार के साथ गुजराती समाज भवन पहुंचीं। गेट पर पहुंचकर वो ऑटो से उतर ही रही थीं कि स्कूटी सवार दो बदमाश उनका पर्स छीनकर फरार हो गए। जब तक हल्‍ला मचाया जाता, बदमाश नौ दो ग्‍यारह हो चुके थे।

 

12-10-2019
पीएम मोदी और चिनफिंग ने माना दुनिया में आतंकवाद की चुनौतियों से निपटना महत्वपूर्ण

चेन्नई। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग के बीच बैठक समाप्त हो गई है। विदेश सचिव विजय गोखले ने शनिवार को बैठक के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि पीएम मोदी और चिनफिंग ने इस बात पर सहमति जताई कि दुनिया में आतंकवाद और कट्टरता की चुनौतियों से निपटना महत्वपूर्ण है। गोखले ने प्रेस कांफ्रेंस के दौरान कहा,'दोनों नेताओं ने इस बात पर सहमति जताई है कि दुनिया में आतंकवाद और कट्टरता की चुनौतियों से निपटना जरुरी है। दोनों ऐसे देशों के नेता हैं, जो न केवल क्षेत्रों और आबादी के मामले में बड़े हैं, बल्कि विविधता के मामले में भी बड़े हैं।'
उन्होंने कहा, 'चर्चाएं बहुत खुली और सौहार्दपूर्ण थीं। कट्टरता दोनों के लिए एक प्रमुख चिंता का विषय है और दोनों इस चुनौती का मिलकर सामना करेंगे। गोखले ने कहा,'दोनों नेताओं ने व्यापार पर भी चर्चा की। यह मुद्दा भी बेहद जरुरी था। राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने पीएम मोदी की बात सुनने के बाद आश्वासन दिया कि चीन इस संबंध में ईमानदारी से कदम उठाने और व्यापार में नुकसान को कम करने को लेकर गंभीरता से चर्चा करने के लिए तैयार है।' इसके अलावा दोनों नेताओं ने अर्थव्यवस्था से संबंधित मामलों पर भी चर्चा की। दोनों नेताओं ने एक साथ पांच घंटे बिताए। गोखले ने बताया कि भारत और चीन ने बड़े स्तर पर व्यापार, निवेश और सेवाओं पर चर्चा करने के लिए एक नया मैकेनिजम स्थापित करने का निर्णय लिया है। बता दें कि दोनों नेताओं के बीच करीब एक घंटे तक बैठक हुई।
दो दिवसीय भारत-चीन अनौपचारिक शिखर सम्मेलन को समाप्त करने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार को चेन्नई हवाई अड्डे से दिल्ली के लिए रवाना हो गए हैं। वहीं, कुछ देर पहले चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग भी अपने नेपाल दौरे के लिए चेनई से रवाना हो गए हैं। गोखले ने बताया कि प्रधानमंत्री ने चीन में तीसरे अनौपचारिक शिखर सम्मेलन के लिए राष्ट्रपति शी के निमंत्रण को भी स्वीकार किया है।

12-10-2019
वर्ल्ड बॉक्सिंग चैंपियनशिप : सेमीफाइनल में मैरीकॉम को करना पड़ा हार का सामना

नई दिल्ली। भारतीय महिला मुक्केबाज मैरीकॉम वर्ल्ड बॉक्सिंग चैंपियनशिप 2019 में इतिहास रचने से चूक गयी। मैरीकॉम तुर्की की यूरोपियन चैंपियन बुसेनाज साकिरोग्लू के खिलाफ 51 किलोग्राम भारवर्ग में सेमीफाइनल का मुकाबला हारकर विश्व चैंपियनशिप 2019 से बाहर हो गईं। दूसरी वरीयता प्राप्त तुर्की की मुक्केबाज से 1-4 के अंतर से हारने का साथ ही वह विश्व महिला मुक्केबाजी चैंपियनशिप में अपने सातवें गोल्ड मेडल से भी चूक गईं। हालांकि, इस घटना के तुरंत बाद, मैरीकॉम ने इस फैसले पर सवाल उठाने शुरू कर दिए। इसके लिए उन्होंने सोशल मीडिया का सहारा लिया, उन्होंने ट्विटर पर केंद्रीय खेल मंत्री किरेन रिजिजू और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को टैग करते हुए लिखा कि कैसे और क्यों, दुनिया को बताएं कि निर्णय कितना सही और गलत है।
 
इससे पहले मैरी कॉम ने पहले दौर में जवाबी हमला करते हुए बढ़त हासिल कर ली थी, लेकिन दूसरे दौर में काकरोग्लू ने उन्हें मात दे दी। बता दें कि सेमीफाइनल में पहुंचते ही मैरी कॉम महिला विश्व चैम्पियनशिप के इतिहास की सबसे सफल मुक्केबाज बनीं थीं, जब उन्होंने सेमीफाइनल में पहुंचकर आठवां पदक पक्का किया था। मैरीकॉम ने क्वार्टरफाइनल में कोलंबिया की इंगोट वालेंसिया को 5-0 से मात देते हुए सेमीफाइनल में पहुंचने के साथ ही 36 वर्षीय इस मुक्केबाज ने अपना कांस्य पदक सुनिश्चित कर लिया था।

12-10-2019
पीएम मोदी ने की बीच की सफाई, आज फिर करेंगे चीनी राष्ट्रपति से मुलाक़ात

नई दिल्ली। स्वच्छ भारत अभियान की शुरुआत करनेवाले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को खुद इसमें योगदान दिया। अपने ममल्लापुरम दौरे के दौरान मोदी ने वहां के एक बीच की साफ-सफाई की। पीएम ने खुद इसका विडियो ट्वीट किया और जानकारी दी। विडियो में मोदी बीच पर फैला कचरा उठाकर एकत्र करते दिख रहे हैं। विडियो के साथ मोदी ने लिखा, 'आज सुबह ममल्लापुरम के बीच पर साफ-सफाई की। यह काम करीब आधे घंटे किया। अपनी तरफ से एकत्र किए कचरे को मैंने जयराज को दिया, जो होटल स्टाफ का हिस्सा हैं।' मोदी ने आगे लिखा, 'चलिए यह पक्का करें कि हमारे सार्वजनिक स्थल साफ-सुथरे रहेंगे। यह पक्का करते हैं कि हम फिट और हेल्थी रहेंगे।'

बता दें कि पीएम मोदी वहां चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग से मिलने के लिए गए हुए हैं। चीनी राष्ट्रपति दो दिन के भारत दौरे पर हैं। दोनों शीर्ष नेताओं के बीच शुक्रवार शाम को मीटिंग हुई थी। रात को मोदी और चिनफिंग ने डिनर पर करीब ढाई घंटे तक चर्चा की थी। इस मीटिंग में आतंकवाद, व्यापारिक संतुलन पर बात हुई थी। शी चिनफिंग की मेजबानी के लिए पीएम मोदी ने तमिलनाडु की पारपंरिक वेशभूषा ‘वेष्टि’ (धोती), सफेद कमीज और अंगवस्त्रम पहना था। वहां मोदी ने शी को इस प्राचीन शहर की विश्व प्रसिद्ध धरोहरों ‘अर्जुन तपस्या स्मारक’, ‘नवनीत पिंड’ (कृष्णाज बटरबॉल), ‘पंच रथ’ और ‘शोर मंदिर’ के दर्शन कराए थे।

आज फिर मोदी-चिनफिंग की मुलाकात

आज चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग के दौरे का दूसरा दिन है। दोनों देशों के बीच कई महत्वपूर्ण ऐलान किए जा सकते हैं। कल महाबलीपुरम में पीएम मोदी और शी ने अनौपचारिक मुलाकात की थी।

11-10-2019
...तो चूड़ी भेजना भी राजद्रोह, एनएसयूआई ने दर्ज कराई स्मृति ईरानी के खिलाफ शिकायत

रायपुर। एनएसयूआई के राष्ट्रीय सचिव गुलजेब अहमद के नेतृत्व में एक प्रतिनिधिमंडल ने सिविल लाइन थाने में केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी के खिलाफ राजद्रोह का मामला दर्ज करने आवेदन दिया। पुलिस ने आवेदन स्वीकार कर शीघ्र न्यायसंगत कार्रवाई के लिए आश्वस्त किया है। गुलजेब अहमद ने बताया कि विगत दिनों मुजफ्फरपुर बिहार में रामचन्द्र गुहा, मणिरत्नम और अपर्णा सेन समेत 49 नामी हस्तियों के खिलाफ भारतीय दंड संहिता  के तहत राजद्रोह, धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने, शांति भंग करने 124 ए, 153 बी, 290, 297 एवं 504 जैसी धाराएं लगाकर मामला दर्ज किया गया है। जिन नामी हस्तियों के खिलाफ मामला दर्ज हुआ इनका अपराध केवल यह था कि इन्होंने देश में हो रही जातिगत हिंसा एवं हत्या के विरोध में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एक खुला पत्र लिखा और उस पत्र का समर्थन करते हुए उसमें हस्ताक्षर किया । इस मामले में शिकायतकर्ता ने कहा कि खुले पत्र के माध्यम से वर्तमान प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की छवि धूमिल करने का प्रयास किया गया है। इसलिए इन 49 नामी हस्तियों के खिलाफ मामला दर्ज हुआ । गुलजेब ने कहा कि ऐसी ही घटना कुछ साल पहले भी हुई, जब सन 2013 में इंदौर की एक जनसभा के दौरान भाजपा नेत्री स्मृति ईरानी ने तत्कालीन प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को चूड़ी भेजने की बात कही थी। अगर प्रधानमंत्री को पत्र लिखना राजद्रोह के अंतर्गत आता है तो 2013 में तत्कालीन प्रधानमंत्री को चूड़ी भेजना भी राजद्रोह के अंतर्गत आता है। स्मृति ईरानी के इस कथन ने तत्कालीन प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की छवि को धूमिल किया। साथ ही चूड़ी जो कि देश की महिलाओं के आभूषण का अभिन्न अंग है उसको कमजोरी का पर्याय बताते हुए महिला शक्ति का अपमान किया । इसलिए एनएसयूआई ने आज केंद्रीय मंत्री भाजपा नेत्री स्मृति ईरानी के खिलाफ भारतीय दंड संहिता  की धारा 124 ए (राजद्रोह) एवं 504 (जानबूझकर अपमान) के तहत अपराध पंजीबद्ध करने की मांग की। प्रतिनिधिमंडल में शेख शफीक, कमलेश मिश्रा, बबलू रजा, सजल शर्मा, रिजवान खान, शिवम शुक्ला, मोहम्मद आसिफ, आर्य ठाकुर, हैदर अली, अरविंद यादव, जीशान हाशमी, सुशांत धराई, शब्बीर खान, अनिल यादव, कैलाश ठाकुर, सोहेल सुल्तान, सतीश सिंह, हाशिम खान, रमन ठाकुर, रमीज कुरैशी, कपिल रावत, नुरुल चांगल आदि कांग्रेस पदाधिकारी उपस्थित थे ।

10-10-2019
मोदी-चिनफिंग वार्ता 11 अक्टूबर से, अभेद्य किले में तब्दील हुआ ये शहर...

नई दिल्ली। तमिलनाडु की राजधानी चेन्नई के नजदीक तटीय शहर मामल्लापुरम में चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बीच 11 और 12 अक्टूबर को होने जा रहे दूसरी अनौपचारिक शिखर बैठक को लेकर पूरे शहर को अभेद्य किले में तब्दील कर दिया गया है। शहर के पास तटरक्षक के जहाज ने लंगर डाल दिया है। तमिलनाडु के विभिन्न हिस्सों से आए पांच हजार से अधिक पुलिसकर्मियों की यहां तैनाती की गई है। उच्च सुरक्षा के मद्देनजर दो शीर्ष पुलिस अधिकारियों की तैनाती करने के साथ-साथ दर्जनों अस्थायी पुलिस चौकियां बनाई गई है। शहर में 800 सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं, जिसके जरिये सड़कों और अन्य रास्तों की 24 घंटे निगरानी की जा रही है। एसपीजी और बम निरोधक दस्ते के जवान शहर के विभिन्न इलाकों की निगरानी कर रहे हैं। दो दर्जन के करीब खोजी श्वान को तैनात किया गया है।

10-10-2019
मानहानि मामला: सूरत कोर्ट में पेश हुए राहुल, 10 दिसंबर को होगी अगली सुनवाई

सूरत। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के उपनाम 'मोदी' को लेकर दिए गए विवादास्‍पद बयान को लेकर किए गए मानहानि के मामले में कांग्रेस नेता राहुल गांधी गुरुवार को सूरत कोर्ट में पेश हुए। अब इस मामले की अगली सुनवाई 10 दिसंबर को होगी। बता दें कि लोकसभा चुनाव प्रचार के दौरान राहुल गांधी ने अपने बयान में कहा था कि सभी चोरों के उपनाम मोदी क्यों हैं ? जुलाई में हुई सुनवाई के दौरान अदालत ने राहुल गांधी को व्यक्तिगत पेशी से छूट दे दी थी और मामले की अगली सुनवाई के लिए 10 अक्टूबर की तारीख तय की थी। इससे पहले मुख्य न्यायिक मैजिस्ट्रेट बीएच कपाड़िया ने मई में गांधी को समन जारी किया था। अदालत ने भारतीय जनता पार्टी के विधायक पुरनेश मोदी की भारतीय दंड संहिता की धारा 499 और 500 के तहत शिकायत को स्वीकार कर लिया था। यह धारा आपराधिक मानहानि के मामले से संबंधित है।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804