GLIBS
08-03-2021
गोल्ड मेडल जीतने के बाद बजरंग पुनिया बने दुनिया के नंबर एक पहलवान

रोम। टोक्यो ओलंपिक की तैयारियों में लगे भारतीय पहलवान बजरंग पूनिया ने आखिरी 30 सेकेंड में दो प्वॉइंट्स लेकर माटियो पेलिकोन रैंकिंग कुश्ती सीरीज में गोल्ड मेडल जीता। इसके साथ ही उन्होंने अपने खिताब का बचाव भी किया, साथ ही अपने वजन वर्ग में फिर से नंबर एक रैंकिंग हासिल कर ली। मंगोलिया के तुल्गा तुमूर ओचिर के खिलाफ 65 किग्रा के फाइनल में बजरंग अंतिम क्षणों तक 0-2 से पीछे चल रहे थे लेकिन आखिरी 30 सेकेंड में उन्होंने दो प्वॉइंट्स लेकर स्कोर बराबर कर दिया। रविवार को हुए इस मुकाबले में भारतीय पहलवान ने आखिरी प्वॉइंट बनाया था और इस आधार पर उन्हें विजेता घोषित किया गया। बजरंग इस प्रतियोगिता से पहले अपने वजन वर्ग की रैंकिंग में दूसरे स्थान पर थे लेकिन यहां 14 प्वॉइंट्स हासिल करने से वह टॉप पर पहुंच गए। ताजा रैंकिंग केवल इस टूर्नामेंट के परिणाम पर आधारित है और इसलिए गोल्ड मेडल जीतने वाला पहलवान नंबर एक रैंकिंग हासिल कर रहा है।

 

22-02-2021
एड्रियाटिक पर्ल टूर्नामेंट में भारत ने जीते दो गोल्ड मेडल

नई दिल्ली। विनका (60 किग्रा) और टी.सनामाचा चानू (75 किग्रा) ने गोल्ड मेडल जीते,जिससे भारत के युवा मुक्केबाजों ने मोंटेनेग्रो के बुदवा में चल रही 30वें एड्रियाटिक पर्ल टूर्नामेंट में अपना शानदार प्रदर्शन जारी रखा। दो गोल्ड मेडल के अलावा भारतीय मुक्केबाजों ने दो सिल्वर और तीन ब्रॉन्ज मेडल भी जीते। इससे पहले अल्फिया पठान (81 किग्रा से अधिक) ने मौजूदा टूर्नामेंट में भारत के लिए पहला गोल्ड मेडल जीता था। रोहतक की विनका ने फाइनल में मोलदोवा की क्रिस्टीना क्रिपर को 5-0 से हराया जबकि 75 किग्रा वर्ग में ऑल इंडिया फाइनल में मणिपुर की सनामाचा ने राज साहिबा को 5-0 से शिकस्त दी। भारत को दूसरा सिल्वर मेडल महिला 48 किग्रा वर्ग में मिला,जहां गीतिका को कड़ी चुनौती पेश करने के बावजूद फाइनल में उज्बेकिस्तान की फारजोना फोजिलोवा के खिलाफ 1-4 से हार का सामना करना पड़ा। महिला 57 किग्रा सेमीफाइनल में प्रीति को मोंटेनेग्रो की बोजाना गोजकोविच के खिलाफ 1-4 की हार के साथ ब्रॉन्ज मेडल से संतोष करना पड़ा। पुरुष वर्ग में प्रियांशु डबास (49 किग्रा) और जुगनू (91 किग्रा से अधिक) ने ब्रॉन्ज मेडल जीते। दोनों मुक्केबाजों को अपने अपने सेमीफाइनल मुकाबलों में हार का सामना करना पड़ा। प्रियांशु को उज्बेकिस्तान के इशजोनोव इब्रोखिम के खिलाफ करीबी मुकाबले में 2-3 से हार झेलनी पड़ी जबकि जुगनू को एकतरफा मुकाबले में युक्रेन के वेसिल तकाचुक ने 5-0 से हराया।
महिला 64 किग्रा क्वार्टर फाइनल में लकी राणा ने उज्बेकिस्तान के गुलशोदा इस्तामोवा को 3-0 से हराया। वह रविवार को ही होने वाले फाइनल में फिनलैंड के लिया पुकिला से भिड़ेंगे। लकी के अलावा भारत की दो और महिला मुक्केबाज अंतिम दिन गोल्ड मेडल के लिए चुनौती पेश करेंगी। बेबीरोजिसाना चानू (51 किग्रा) और अरूणधति चौधरी (69 किग्रा) भी आज खिताबी मुकाबले में उतरेंगी। बेबीरोजिसाना को उज्बेकिस्तान की सबीना बोबोकुलोवा जबकि अरूणधति को युक्रेन की मारयाना स्टोइको से भिड़ना है।

 

20-02-2021
जे. रामालक्ष्मी ने रायपुर रेल मंडल का बढ़ाया मान,नेशनल पावर लिफ्टिंग चैंपियनशिप में जीता गोल्ड मेडल

रायपुर। दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे रायपुर रेल मंडल की आयरन वुमैन जे.रामालक्ष्मी ने सीनियर नेशनल पावर लिफ्टिंग प्रतियोगिता में भारतीय रेल सहित दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे रायपुर मंडल का नाम रोशन किया है। 56 किलोग्राम वर्ग समूह में जे. रामालक्ष्मी ने स्कॉट 175 किलोग्राम, बेंच प्रेस 115 किलोग्राम और डेड लिफ्ट 167.5 किलोग्राम ,कुल 457.5 किलोग्राम वजन उठाकर अपने वजन वर्ग समूह में स्वर्ग पदक जीता है। पावर लिफ्टिंग इंडिया की ओर से सीनियर नेशनल पावर लिफ्टिंग चैंपियनशिप का आयोजन 17 से 21 फरवरी तक कोयंबटूर में किया गया।

प्रतियोगिता में दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे रायपुर मंडल की दो महिला खिलाड़ियों का चयन भारतीय रेल टीम की ओर से किया गया। जे. रामालक्ष्मी का 56 किलोग्राम और संतोषी मांझी 63 किलोग्राम वर्ग समूह में चयन किया गया था। संतोषी मांझी को रिजर्व खिलाड़ी में रखा गया था। संतोषी मांझी भारतीय रेल की प्रथम महिला बॉडी बिल्डर हैं। अंतर्राष्ट्रीय बॉडी बिल्डिंग प्रतियोगिता में रेलवे का नाम रोशन कर चुकी हैं। दोनों महिला खिलाड़ी दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के रायपुर रेल मंडल में कार्यरत हैं । दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे की महिला खिलाड़ी की इस उपलब्धि पर महाप्रबंधक,मंडल रेल प्रबंधक सहित अन्य अधिकारियों ने उज्ज्वल भविष्य की कामना की है।

 

13-03-2020
दुर्ग की बेटी ने यूक्रेन में देश का नाम किया रोशन, पावर लिफ्टिंग चैंपियनशिप में जीता गोल्ड मेडल

दुर्ग। देश का नाम रोशन कर दुर्ग लौटी ऐश्वर्या नंदी का रेलवे स्टेशन में नगर निगम सभापति राजेश यादव एवं शिक्षा विभाग प्रभारी मनदीप भाटिया ने स्वागत किया। ऐश्वर्या नंदी ने 7 मार्च से यूक्रेन में आयोजित अंतरराष्ट्रीय पावर लिफ्टिंग चैंपियनशिप में हमारे देश का नाम रोशन किया। ऐश्वर्या ने चैंपियनशिप में भारत का प्रतिनिधित्व करते हुए देश को पहला स्वर्ण पदक दिलाया। इस अवसर पर जाकिर खोखर, अनीस हाशमी ,रतन यादव और उनके परिवार के लोग उपस्थित थे।

 

02-03-2020
दीक्षांत समारोह: राष्ट्रपति ने गोल्ड मेडल और पीएचडी की उपाधि से विद्यार्थियों को नवाजा

रायपुर। गुरू घासीदास केन्द्रीय विश्वविद्यालय परिसर बिलासपुर में आज राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने 8वें दीक्षांत समारोह में शिरकत की और 74 उत्कृष्ट विद्यार्थियों को गोल्ड मेडल तथा 75 विद्यार्थियों को पीएचडी की उपाधि प्रदान की। सुबह 11 बजे शुरू हुए इस दीक्षांत समारोह में 9 संकायों के श्रेष्ठ विद्यार्थियों को गोल्ड प्रदान किये गये। इससे पहले दीक्षांत समारोह शोभायात्रा निकाली गई और विद्यार्थियों के साथ राष्ट्रपति कोविंद ने समूह फोटो भी खिंचाई। इस अवसर पर छत्तीसगढ़ की राज्यपाल अनुसुईया उईके, मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल, विश्वविद्यालय के कुलाधिपति अशोक मोडक, कुलपति प्रोफेसर अंजिला गुप्ता और कुलसचिव प्रोफेसर शैलेन्द्र कुमार भी मौजूद रहे।    

सोमवार शुभ दिन दीक्षांत समारोह होना सुखद संयोग

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कहा कि बिलासपुर केन्द्रीय विश्वविद्यालय छत्तीसगढ़ के प्रसिद्ध समाज सुधारक और सतनाम पंथ के संस्थापक गुरू घासीदास जी के नाम पर स्थापित है। गुरूजी के अनुयायियों की मान्यता के आधार पर सोमवार शुभ माना जाता है। ऐसा माना जाता है कि सन् 1756 में सोमवार के दिन ही गुरू घासीदास का अवतरण हुआ था और आज केन्द्रीय विश्वविद्यालय के इस दीक्षांत समारोह का दिन भी सोमवार है। राष्ट्रपति ने इस शुभ दिन पर अपनी पढ़ाई पूरी कर दीक्षांत समारोह में शामिल होने वाले सभी छात्र-छात्राओं को बधाई और शुभकामनाएं दी। 

राष्ट्रपति भवन में लगी है गुरू घासीदास की फोटो
अपने उद्बोधन के दौरान राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने अपने छत्तीसगढ़ के पूर्व प्रवासों को भी याद किया और उनकी स्मृतियां उपस्थित विद्यार्थियों और जनसमुदाय से साझा की। राष्ट्रपति ने कहा कि छत्तीसगढ़ की इस पावन धरा पर पहले भी आया हूं। राष्ट्रपति ने बताया कि वे 6 नवंबर 2017 को गुरू घासीदास की जन्मस्थली गिरौदपुरी धाम भी गये हैं और उन्होंने पवित्र जैतखाम के दर्शन भी किये हैं। राष्ट्रपति ने यह भी बताया कि गुरूजी की एक फोटो पिछले प्रवास के दौरान उन्हें भेंट की गयी थी। जिसे राष्ट्रपति भवन में सम्मान के साथ उचित स्थान पर लगाया गया है। राष्ट्रपति ने कहा कि गुरू घासीदास की यह फोटो उन्हें समरसता के साथ राष्ट्र हित में काम करने की प्रेरणा देती है।

 

राष्ट्रपति ने छत्तीसगढ़ की विभूतियों को भी किया याद
राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने छत्तीसगढ़ को विकास पथ पर अग्रसर करने की सोच लेकर उसका निर्माण और जनकल्याण की भावना से काम करने वाले महान विभूतियों और स्वतंत्रता सेनानियों को भी याद किया। उन्होंने अपने उद्बोधन में छत्तीसगढ़ को  जगन्नाथ प्रसाद भानु, माधवराव सप्रे, मुकुटधर पाण्डेय, वीर नारायण सिंह, पदुम लाल पुन्नालाल बक्शी, लोचन प्रसाद पाण्डेय, इंजीनियर राघवेन्द्र राव, रविशंकर शुक्ल, बैरिस्टर छेदीलाल और तीजन बाई की कर्मभूमि बताते हुए उन्हें याद किया।

74 स्वर्ण पदकों में से 44 छात्राओं को, दो पदक पाने वाली क्वीनी बनी क्वीन

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने विश्वविद्यालय के अष्टम दीक्षांत समारोह में 74 विद्यार्थियों को गोल्ड मेडल और 75 विद्यार्थियों को पीएचडी की उपाधियां प्रदान की। उन्होंने 74 गोल्ड मेडल पाने वाले विद्यार्थियों में 44 छात्राओं के शामिल होने पर खुशी जाहिर की। उपस्थित विद्यार्थियों की हौसला अफजाई करते हुए राष्ट्रपति ने कहा कि एक छात्रा ने दो पदक प्राप्त कर यह सिद्ध कर दिया है कि बेटियां किसी से कम नहीं हैं। उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालय के साथ-साथ पदक प्राप्त करने वाले विद्यार्थियों के पालक भी गौरवान्वित होते हैं। राष्ट्रपति ने विश्वविद्यालय के 9 टॉपर विद्यार्थियों को 10 गोल्ड मेडल प्रदान किये। राष्ट्रपति ने बीएससी ऑनर्स गणित संकाय की टॉपर क्वीनी यादव के गुरू घासीदास स्वर्ण पदक एवं विश्वविद्यालय स्वर्ण पदक से सम्मानित किये जाने पर भी छात्रा को बधाई दी और कहा कि इस छात्रा का नाम उसके माता-पिता ने क्वीनी रखा है, परंतु उसने अपने श्रेष्ठ क्षमता प्रदर्शन से दो गोल्ड मेडल जीतकर अपने नाम को चरितार्थ करते हुए क्वीन का दर्जा पा लिया है। राष्ट्रपति के क्वीनी को क्वीन संबोधन पर कार्यक्रम में उपस्थित सभी लोगों ने तालियों की गड़गड़ाहट से उसका उत्साहवर्धन किया। राष्ट्रपति ने कहा कि विश्वविद्यालय के परिणामों और मेडल प्राप्त करने में बेटियों की संख्या को देखते हुए यह निश्चित तौर पर कहा जा सकता है कि बेटियां भी अवसर मिलने पर अपना उत्कृष्ट प्रदर्शन कर सकती हैं। उन्होंने इसे नये भारत की नयी तस्वीर बताया और कहा कि इस नयी तस्वीर को हम आज गुरू घासीदास विश्वविद्यालय के दीक्षांत समारोह में जीवंत होता देख रहे हैं। उन्होंने विद्यार्थियों की इस सफलता का श्रेय उनकी मेहनत के साथ-साथ शिक्षकों और पालकों को भी दिया। उन्होेंने विद्यार्थियों की इस सफलता में योगदान के लिये शिक्षकों और पालकों की भी सराहना की।

 

शिक्षा का उद्देश्य अच्छा इंसान बनना, केवल डिग्री प्राप्त करना नहीं
  राष्ट्रपति कोविंद ने दीक्षांत समारोह में कहा कि शिक्षा का उद्देश्य केवल डिग्री प्राप्त करना नहीं, बल्कि एक अच्छा इंसान बनना होना चाहिये। उन्होंने कहा कि एक अच्छा इंसान अपने व्यक्तिगत, सामाजिक और व्यवसायिक सभी क्षेत्रों में श्रेष्ठ होगा। अच्छा इंसान यदि डॉक्टर बनेगा तो अच्छा डॉक्टर बनेगा, यदि इंजीनियर बनेगा तो अच्छा इंजीनियर बनेगा। राष्ट्रपति ने यह भी कहा कि अच्छा इंसान सामाजिक जीवन में भी अपना श्रेष्ठ देता है। वह अच्छा बेटा, अच्छा भाई, अच्छा पति, अच्छा पिता बनता है तो वही बेटियां अच्छी बेटी, अच्छी बहन और अच्छी पत्नी, अच्छी मां बनकर देश और समाज के विकास में सहभागी होती है। उन्होंने कहा कि विद्या में नैतिक मूल्यों का समावेश बहुत जरूरी है क्योंकि नैतिक मूल्यों के बिना प्राप्त विद्या समाज के लिये कल्याणकारी नहीं हो सकती।
 

अगले दस वर्षों में गुरू घासीदास विश्वविद्यालय देश के सर्वश्रेष्ठ विश्वविद्यालयों में हो शामिल

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने छत्तीसगढ़ के बिलासपुर के इस केन्द्रीय विश्वविद्यालय द्वारा अब तक शिक्षा और शोध के क्षेत्र में किये जा रहे कार्यों और नवाचारों की सराहना की और कहा कि विश्वविद्यालय को आगे बढ़ने के लिये कुछ लक्ष्य निर्धारित करने चाहिये। विस्तृत कार्ययोजना बनाकर उन लक्ष्यों को पाने का प्रयास करना चाहिये। राष्ट्रपति ने कहा कि इस गुरू घासीदास विश्वविद्यालय को आने वाले 10 वर्षों में देश के सर्वोत्तम विश्वविद्यालयों में शामिल होने का लक्ष्य निर्धारित करना चाहिये। राष्ट्रपति ने कहा कि लक्ष्य ऊँचा हो, संकल्प मजबूत हो तो लक्ष्य को प्राप्त करने के लिये अपने आप ही प्रयास तेज हो जाते हैं और ऐसे कामों में निश्चित सफलता मिलती है।

 

संसाधनों से अधिक युवाओं की प्रतिभा पर विश्वास जताने की जरूरत: मुख्यमंत्री  बघेल

दीक्षांत समारोह को छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने भी संबोधित किया। उन्होंने इस समारोह में स्वर्ण पदक एवं उपाधि प्राप्त करने वाले सभी विद्यार्थियों को बधाई दी।  बघेल ने कहा कि युवाओं की जितनी जरूरत नये संसाधनों की है, उससे अधिक जरूरत उनकी प्रतिभा पर विश्वास जताने की है। मुख्यमंत्री ने कहा अच्छी पढ़ाई का अपना अलग महत्व है। लेकिन गुण, कौशल, विशेषतायें भी युवाओं के लिये कई रास्ते खोलती हैं, जिससे उन्हें अपने आप को सिद्ध करने का अवसर मिलता है।  मुख्यमंत्री ने कहा कि छत्तीसगढ़ के चार चिन्हारी नरवा, गरूवा, घुरूवा, बाड़ी की परिकल्पना पर उच्च शिक्षा के साथ-साथ हर एक विद्यार्थी को अपने गांव के विकास, पशुधन संरक्षण और कृषक जीवन के विषय को अध्ययन, अध्यापन से जोड़ने की जरूरत है, ताकि उच्च शिक्षा जीवन के सभी पहलुओं से जुड़ सके और हमारे विद्यार्थी छत्तीसगढ़ की संस्कृति और अस्मिता को विश्व पटल पर नई पहचान दिलाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकें। मुख्यमंत्री ने बताया कि प्रदेश के महाविद्यालयों में लगभग 1500 शैक्षणिक और खेल अधिकारी के पदों पर भर्ती की जा रही है। खेल प्रतिभाओं को संवारने के लिये छत्तीसगढ़ खेल प्राधिकरण बनाया गया है। हर ग्राम पंचायत में राजीव गांधी युवा मितान क्लब बनाये जा रहे हैं। खेल एवं विभिन्न विधाओं की प्रतिभाओं को गांव से लेकर राज्य तक चिन्हांकित करने के लिये पिछले दिनों युवा महोत्सव का आयोजन किया गया था और अब यह आयोजन हर साल होगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि युवाओं के प्रेरणास्त्रोत स्वामी विवेकानंद के रायपुर प्रवास की स्मृतियों को सहेजने के लिये उनके प्रवास स्थल को स्मारक के रूप में विकसित किया जा रहा है।

 
इन्हें मिला गोल्ड मेडल

 क्वीनी यादव बीएससी ऑनर्स गणित 94.49 प्रतिशत अंक, अर्पिता नायक एमएससी जुलाजी 92.3 प्रतिशत अंक, चंद्रिका बीएससी ऑनर्स भौतिक शास्त्र 92 प्रतिशत अंक, दबारून दास भौमिक बीटेक मैकेनिकल 90.1 प्रतिशत अंक, किशोर कुमार कोठारी एमए अर्थशास्त्र 90.1 प्रतिशत अंक, पूजा पटेल बीकॉम ऑनर्स 90 प्रतिशत अंक, विनोद कुमार खुंटे एमलिब 89.8 प्रतिशत अंक, आयुषी सिंह डीफार्मा 88.1 प्रतिशत अंक, माधुरी मरकाम बीकॉम एलएलबी 83 प्रतिशत अंक। क्वीनी यादव को विश्वविद्यालय में सभी संकायों में से सर्वाधिक अंक प्राप्त करने के लिये गुरू घासीदास पदक से भी नवाजा गया।  

02-03-2020
गुरु घासीदास विश्वविद्यालय के 8वें दीक्षांत समारोह में शामिल हुए राष्ट्रपति

रायपुर। गुरु घासीदास विश्वविद्यालय के 8वें दीक्षांत समारोह में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद शामिल हुए। बतौर मुख्य अतिथि राष्ट्रपति ने विश्वविद्यालय के मेधावी छात्रों को गोल्ड मेडल और उपाधि प्रदान की। राष्ट्रपति ने कहा कि मुझे आपके बीच आकर बहुत खुशी हुई। सभी के उज्जवल भविष्य की कामना की। समारोह में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि स्वर्ण पदक और उपाधि प्राप्त करने वाले सभी युवा साथियों को बधाई। उनको भी बधाई जो मेरिट में नहीं आ पाए। सभी के लिए कुछ ना कुछ बेहतर करने का अवसर रहता है। आप तय करते हैं कि आपका लक्ष्य क्या। जब आप ठान लेते हैं तो कोई आपको रोक नहीं सकता। विद्यार्थियों की उपलब्धियों से सभी गौरवांवित हैं। गुरु घासीदास ने समाज सुधार और मनखे मनखे एक समान की अलख जगाई थी। गुरु घासीदास का अनुसरण करते हुए सभी प्रदेश को नई उचाईयों पर लेकर जाएंगे। शिक्षा से श्रेष्ठ व्यक्ति का निर्माण होता है। छात्रों को सफल नागरिक बनाना है। सभी को चरित्र निर्माण और राष्ट्रीय एकता को बनाए रखने स्वयं को समर्पित करना होगा। युवाओं को साधनों के साथ-साथ खुद को पहचानने की जरूरत है। विभिन्न क्षेत्रों से आ रही मांगों पर मानव संसाधन उपलब्ध कराना है। स्थानीय संसाधनों का बेहतर उपयोग विसंगतियों को दूर करना होगा। छत्तीसगढ़ की संस्कृति का सम्मान कर जनता और प्रदेश का विकास हम कर सकते हैं।

01-03-2020
दीक्षांत समारोह की रिहर्सल के बाद लॉ की छात्रा लापता, भाई ने लगाई मदद की गुहार

रायपुर। बिलासपुर के गुरुघासीदास केंद्रीय विश्वविद्यालय के अष्टम दीक्षांत समारोह के दौरान एक छात्रा के लापता होने की खबर सामने आ रही है। बता देें कि लॉ की छात्रा को राष्ट्रपति कल 2 मार्च को गोल्ड मेडल से सम्मानित करने वाले थे। दीक्षांत समारोह के रिहर्सल के बाद लौटते समय छात्रा लापता हो गई। वहीं छात्रा के परिजनों ने उसके अपहरण की आशंका जताई है। छात्रा के भाई ने ट्वीट कर लोगों से मदद की गुहार लगाई है। बिलासपुर की सिविल लाइन थाना पुलिस ने केस दर्ज कर छात्रा की तलाश में जुट गई हैं। विदित हो कि राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद अपने दो दिवसीय छत्तीसगढ़ पर आज राजधानी रायपुर पहुंचे हुए हैं। एयरपोर्ट से वे सीधे बिलासपुर रवाना हो गए। 2 मार्च को दीक्षांत समारहो में रामनाथ कोविंद शामिल होंगे। इसके बाद वे वापस रायपुर आएंगे।

26-02-2020
पं. रविशंकर विवि के दीक्षांत समारोह में 151 को पीएचडी, 63 विद्यार्थियों को गोल्ड मेडल

रायपुर। पंडित रविशंकर शुक्ल विश्वविद्यलय के 25वें दीक्षांत समारोह में आज 151 शोधार्थियों को पीएचडी की उपाधि, 1 को डिलीट और  63 विद्यार्थियों को गोल्ड मेडल प्रदान किया गया। यह जानकारी देते हुए विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. केशरीलाल वर्मा ने कहा कि इन सभी सम्मानित प्रतिभावान विद्यार्थियों ने विश्वविद्यालय का नाम रोशन किया है। इन्हें आज उपाधि और मेडल प्रदान होने से विश्वविद्यालय की गतिविधियां सही मायनों में सबके सामने आई हैं। उन्होंने कहा कि दीक्षांत समारोह में आज छत्तीसगढ़ की प्रतिभा का सम्मान हुआ है।

एक तरह से विश्वविद्यालय में 151 पीएचडी का होना विश्वविद्यालय की बहुत बड़ी उपलब्धि है। इसके माध्यम से हम अपनी अन्य गतिविधियों को भी प्रदर्शित कर सकते हैं कि शिक्षा की गुणवत्ता में विश्वविद्यालय क्या कर रहा है। हमारा निरंतर यह प्रयास रहता कि लोगों को समय में डिग्री प्रदान करें, मेडल प्रदान करें ताकि बच्चों में कुछ उत्साह बना रहे। अन्य विद्यार्थी भी उन्हें देखकर अपना लक्ष्य निर्धारित करें। उन्होंने कहा कि आज का दीक्षांत समारोह कुलाधिपति राज्यपाल अनुसुईया उइके, मुख्यमंत्री भुपेश बघेल, उच्च शिक्षा मंत्री उमेश पटेल, समारोह के मुख्य वक्ता अशोक वाजपेयी सहित जनप्रतिनिधियों, संकाय के अध्यक्षों, कार्य और विद्यार्थी परिषद के सदस्यों और शिक्षकों, विद्यार्थियों और उनके अभिभावकों की उपस्थिति में सफल हुआ।

 

19-02-2020
ओलंपिक होगा इस बार टोक्यो में, इन पांच एथलीट्स से होगी पदक की उम्मीद

नई दिल्ली। खेलों का 'महाकुंभ' ओलंपिक इस बार जापान की राजधानी टोक्यो में होने जा रहा है। ओलंपिक इस बार करीब 206 देशों के बीच 33 खेलों में 339 प्रतियोगिताओं का आयोजन होना है। टोक्यो ओलंपिक में इस बार तकनीकी का बोलबाला होने वाला है। 200 से ज्यादा ज्वालामुखी वाला देश जापान लोगों को आकर्षित करने के लिए खेलों में तकनीक का गजब इस्तेमाल करने जा रहा है। इस साल विनेश फोगाट (कुश्ती), बजरंग पूनिया (कुश्ती मैरीकॉम), मुक्केबाजी पीवी सिंधु (बैडमिंटन), मनु भाकर (शूटिंग) इन एथलीट्स से पदक की उम्मीद है। आजादी के बाद से भारत ने पांच बार गोल्ड मेडल ही जीते थे, लेकिन निजी तौर पर भारत के किसी खिलाड़ी ने कोई गोल्ड मेडल नहीं जीता था।

09-02-2020
अबराम ने जीता गोल्ड मेडल, शाहरुख खान हुए इमोशनल

मुंबई। शाहरुख खान के बेटे अबराम ने ताइक्वांडो में गोल्ड मेडल जीता है। इसकी कई तस्वीर शाहरुख खान ने अपने सोशल मीडिया हैंडल में शेयर की हैं। शाहरुख खान ने अबराम खान की तस्वीर शेयर करते हुए कहा कि इस मेडल के साथ मुझे लगता है कि मेरे बच्चों के पास मुझसे ज्यादा अवॉर्ड हैं। शाहरुख ने अपने ट्विटर पर इमोशनल पोस्ट लिखा है। इस पोस्ट में उन्होंने बताया है की उन्होंने अपनी जिंदगी में जितने अवॉर्ड नहीं जीते है, उससे ज्यादा उनके बच्चों ने जीते हैं। शाहरुख ने लिखा 'मुझे लगता है मेरे बच्चों के पास मुझसे ज्यादा अवॉर्ड हैं। ये बहुत अच्छी बात है, अब मुझे और ट्रेनिंग की जरूरत है।  

 

05-01-2020
कुडो,कराटे व मतसोगी राष्ट्रीय चैंपियनशिप में बेमेतरा जिले के 6 बच्चों ने पदक हासिल कर जिले का नाम रौशन किया

बेमेतरा। 65वीं राष्ट्रीय शालेय कुडो प्रतियोगिता सागर (एमपी) में हुआ। प्रतियोगिता में अंडर 17 के दो छात्राओ ने हिस्सा लिया था। जिसमे कु. नेहा वर्मा व कु. प्रसंशा राजपूत ने कास्य पदक हासिल किया व 5वीं राष्ट्रीय कराटे प्रतियोगिता में पहुंचे जिला कराटे संघ बेमेतरा के 3 छात्र विकल्प शर्मा ने गोल्ड मेडल, दीपांशु पटेल ने सिल्वर व चिराग वर्मा ने कास्य पदक  शानदार कराटे का प्रदर्शन करते हुए हासिल किये तथा बिलासपुर में आयोजित 15वीं राष्ट्रिय मतसोगी डू चैंपियनशिप में प्रांजल पाटिल ने जबरदस्त प्रदर्शन करते हुए गोल्ड मेडल प्राप्त कर जिले का नाम रौशन किया। प्रतियोगिता पश्चात नगर आगमन पर स्थानीय लोगो ने विजयी बच्चों का आतिसबाजी करते व पुष्पमाला पहना कर जोरदार स्वागत किया। वही कोच अजय वर्मा ने कहा कि सभी बच्चों को प्रतिदिन बेसिक स्कूल मैदान में लगभग 2 घण्टे तक अभ्यास करवाया जाता है और हमारे नगर के लिए गौरव की बात है कि इन बच्चों को उचित सुविधाये आजतक नही मिल पाई है, बावजूद बच्चे अपने लगन और मेहनत से सुविधाओ के अभाव में भी जिले का नाम रौशन कर रहे है।

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804