GLIBS
20-11-2020
आबकारी विभाग ने छापामार कार्रवाई में पकड़ी 100 लीटर महुआ शराब

जांजगीर-चांपा। जिले के शिवरीनारायण थाना क्षेत्र के ग्राम कमरीद में कच्ची महुआ शराब को  आबकारी विभाग ने पकड़ा। इंस्पेक्टर दिलीप प्रजापति की टीम ने कमरीद गांव के सबरिया डेरा के बांधा तालाब में छापामार कार्यवाही की। यहां मौके से 100 लीटर कच्ची महुआ शराब बरामद की।इसे तालाब में नष्ट कर किया गया। कच्ची महुआ शराब बनाने की सामग्री को जब्त किया गया।कार्यवाही के दौरान आरोपी फरार हो गए। 

 

02-11-2020
पीडब्ल्यूडी में प्रशासनिक कसावट के लिए कार्यालय राजनांदगांव से दुर्ग स्थानांतरित चला ताम्रध्वज का हंटर

रायपुर। लोक निर्माण विभाग किसी भी राज्य के लिए सबसे महत्वपूर्ण विभाग होता है और इस विभाग में अगर प्रशासनिक कसावट ना हो तो आम आदमी से जुड़ा होने के कारण ये सरकार के लिए किरकिरी का कारण भी बनता है। बहुत दिनों से राजनांदगांव के अफसरों की शिकायत और विवाद लगातार चर्चा में रहे हैं। अब तक शांत बैठे लोक निर्माण विभाग के मंत्री ताम्रध्वज साहू ने इस मामले में कड़ा रवैया अपनाया है। उन्होंने विवादास्पद कार्यपालन अभियंता को तो राजनांदगांव से रायपुर अटैच किया ही साथ ही राजनांदगांव के कार्यपालन अभियंता सेतु संभाग और राजनांदगांव के ही परियोजना प्रबंधक कार्यालय एडीबी प्रोजेक्ट छत्तीसगढ़ सड़क विकास परियोजना लोक निर्माण विभाग का मुख्यालय सीधे-सीधे राजनांदगांव से हटाकर दुर्ग स्थानांतरित कर दिया। इस महत्वपूर्ण प्रशासनिक कसावट को विभाग में गंभीरता से लिया जा रहा है। ताम्रध्वज साहू के सख्त रवैया से विभाग के ढीले ढाले अफसरों में हड़कंप मच गया है। कार्यालय स्थानांतरण के लिए सक्षम अधिकारी से अनुमोदन भी प्राप्त कर लिया गया है। और ऐसा लगता है कि दोनों दफ्तरों के मुख्यालय को दुर्ग स्थानांतरित कर ताम्रध्वज साहू ने अपने गृह जिले में लाकर उन पर कड़ा नियंत्रण रखने का मन बना लिया है। बहरहाल विभाग में इस कार्यालय स्थानांतरण की चर्चा जोरों पर है।

01-11-2020
भूपेश सरकार ने लोक निर्माण विभाग के 17 कार्यपालन अभियंताओं को किया पदोन्नत, आदेश जारी 

रायपुर। राज्य शासन ने लोक निर्माण विभाग के 17 कार्यपालन अभियंताओं को अधीक्षक अभियंता के पद पर पदोन्नत किया है। इस संबंध में विभाग के अवर सचिव केके भूआर्य ने आदेश जारी किया है। जारी आदेश के मुताबिक वेतनबैंड 15600-39100 प्लस ग्रेड वेतन 7600 (वेतन मैट्रिक्स लेवल 14) में पदोन्नत किया गया है। विभाग ने पदोन्नत अधीक्षण अभियंताओं की सूची जारी की है।

29-10-2020
टीएस सिंहदेव ने ली सभाएं, कहा- डॉ.विधायक बनेगा तो स्वास्थ्य विभाग और मजबूत होगा

रायपुर। मरवाही चुनाव के मद्देनजर गुरुवार को पंचायत मंत्री टीएस सिंह देव ने तीन सभाओं को संबोधित किया। मंत्री सिंहदेव ने लालपुर, सिंवनी और कोटमी में सभाओं में शामिल हुए।  उन्होंने अपील की कि मरवाही से कांग्रेस का विधायक बनाकर मुख्य धारा से जुड़े। स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि जिले में स्वास्थ्य सुविधाओं का अभाव नहीं रहेगा। डॉ.विधायक बनेगा तो स्वास्थ्य विभाग और मजबूत होगा। पंचायत के माध्यमों से पंचायतों तक विकास कार्य तेजी से पहुंचेंगे। नल जल योजना घर-घर तक पहुंचाई जाएगी। दक्षिण मरवाही के सिवनी ग्राम में मंत्री टीएस सिंहदेव की सभा हुई। सभा में बड़ी संख्या में सिवनीवासियों ने हिस्सा लिया। मंत्री सिंहदेव ने  जनता से अपील की कि मरवाही की जवाबदारी कांग्रेस को दीजिए साथ मिलकर कार्य करेंगे। सभा में शिक्षा मंत्री प्रेमसाय सिंह टेकाम,सांसद फूलोदेवी नेताम, विधायक शैलेश पाण्डेय,अम्बिका सिंहदेव, पूर्व सांसद इंग्रिड,अध्यक्ष मनोज गुप्ता,जयश्री शुक्ला,सुशील शर्मा, अजरा,विनय शुक्ला,अमित तिवारी,नारायण शर्मा,संजय गुप्ता,सुरेंद्र, बेचूराम, अहिरेश,शंकर कवर,अर्चना पोर्ते, ओमवती पेन्द्रों और कांग्रेस के सिवनी के सभी सेक्टर बूथ के अध्यक्ष और सभी पदाधिकारी और बड़ी संख्या में सिवनी की जनता, किसान और सभी विशिष्टजन उपस्थित थे।

 

21-10-2020
कुपोषण मुक्त छत्तीसगढ़ की परिकल्पना को साकार करने कई विभाग एक साथ,आपसी समन्वय के लिए की चर्चा

रायपुर। छत्तीसगढ़ में विभिन्न विभागों के समन्वित प्रयास से कुपोषण मुक्ति के लिए अभियान चलाया जा रहा है। इन प्रयासों और अधिक प्रभावी बनाने के लिए महिला एवं बाल विकास विभाग के सचिव प्रसन्ना आर. की अध्यक्षता में 21 अक्टूबर को विभिन्न सहयोगी विभागों के मध्य प्रभावी अभिसरण स्थापित कर कुपोषण के स्तर में कमी लाने ऑनलाइन बैठक हुई। बैठक में स्वास्थ्य, स्कूल शिक्षा, पंचायत एवं ग्रामीण विकास, खाद्य, कृषि एवं उद्यानिकी, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी, अनुसूचित जाति एवं जनजाति कल्याण,समाज कल्याण, नगरीय प्रशासन विभाग के नोडल अधिकारियों सहित यूनिसेफ और स्वयं सेवी संगठनों के प्रतिनिधि शामिल हुए। बैठक में संबंधित विभागों के प्रतिनिधियों के बीच छत्तीसगढ़ को कुपोषण एवं एनीमिया मुक्त बनाने के लिए समन्वित प्रयासों, अपसी-तालमेल और सहयोग से लक्ष्य प्राप्ति पर चर्चा की गई।सचिव प्रसन्ना ने कहा कि कुपोषण, एनीमिया और जन्म के समय वजन के स्तर में निर्धारित लक्ष्यों के अनुसार कमी लाने के लिए प्रदेश में पोषण अभियान का संचालन किया जा रहा है।

पोषण अभियान के अंतर्गत अभिसरण एक मुख्य घटक है। सभी विभागों के साथ मिलकर काम करने से कुपोषण की दर में अपेक्षानुसार लक्ष्य प्राप्त किया जा सकता है। इसके लिए सभी विभागों के मध्य डाटा और सूचनाओं के आदान प्रदान,संसाधनों का प्रभावी उपयोग और योजनाओं के समन्वित प्रयास की जरूरत है। उन्होंने सभी नोडल अधिकारियों से योजनाओं के साथ क्रियान्वयन और समन्वय पर चर्चा की। उन्होंने प्रदेश के 10 आकांक्षी जिलों पर विशेष ध्यान दिए जाने के लिए कहा। उन्होंने पोषण और स्वास्थ्य की प्रगति आधारित मासिक स्वास्थांक भी तैयार करने के निर्देश दिए जिससे कलेक्टर अपने जिले की मासिक समीक्षा कर सकें।सचिव प्रसन्ना ने कहा कि शिक्षा विभाग के अधिकारियों, प्रचायत प्रतिनिधियों के लिए पोषण और स्वास्थ्य के मुद्दों पर ओरिएंटेशन प्रोग्राम करने और ग्राम सभाओं में पोषण संबंधी जानकारी देने और बुकलेट के माध्यम से जानकारी पहुंचाना तय किया जाना चाहिए। कुपोषण मुक्त पंचायत बनाने के लिए हमें उन्हें मोटिवेट करना पड़ेगा। उन्होंने मनरेगा से जुड़ी महिलाओं को उचित खान-पान की जानकारी देने कहा, जिससे पोषण संबंधी स्थायी व्यवहार परिवर्तन लाया जा सके। लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग को सभी आंगनबाड़ियों में पेयजल और शौचालय के लिए कार्यवाही करने के लिए कहा गया।

उन्हें शहरी इलाकों की बस्तियों और रेल्वे ट्रैक के आसपास की जगहों में अधिक फोकस करने कहा गया जिससे डिसेन्ट्री और डायरिया जैसी बीमारियों के होने का अधिक खतरा रहता है। उद्यानिकी विभाग को सभी आंगनवाड़ियों में शत प्रतिशत पोषण वाटिका निर्माण के लक्ष्य को पूरा करने को कहा गया।खाद्य विभाग के नोडल अधिकारी ने कहा कि कोंडागांव जिले से पायलट प्रोजेक्ट के रूप में फोटीफाइड चावल वितरण की योजना शुरू की जानी है। इसे जिले के आंगनबाड़ियों में भी दिया जाएगा। सचिव प्रसन्ना ने कहा कि महिला एवं बाल विकास विभाग की ओर से महिलाओं और बच्चों को दिए जाने वाले पोषक आहार की पौष्टिकता में वृद्धि करने रागी,कोदो,कुटकी जैसे मिलेट्स मिलाने का भी निर्णय लिया गया है। उन्होंने कृषि विभाग को मिलेट्स उपलब्ध कराने कहा है।बैठक में पोषण अभियान के नोडल अधिकारी नंदलाल चौधरी ने कहा कि कन्वर्जेंस के आधार पर 31 दिसंबर और उसके बाद 31 मार्च तक लक्ष्यों को निर्धारित कर कार्ययोजना बनाई जाएगी। योजनाओं के उचित क्रियान्वयन के लिए स्वास्थ्य और महिला एवं बाल विकास विभाग की टीम का साथ घर-घर विजिट और मॉनिटरिंग पर फोकस किया जाएगा। विभागों के मध्य डाटा के आदान-प्रदान से कमियों को दूर करने में मदद मिल सकती है। इसके लिए नियमित समीक्षा बैठक पर बल दिया जाएगा। इस दौरान यूनिसेफ और स्वयं सेवी संगठनों के प्रतिनिधियों ने भी प्रभावी अभिसरण के लिए अपने विचार रखे।

 

06-10-2020
आबकारी विभाग में तबादले के बाद भी अधिकारी टिके हुए

धमतरी। जिले के आबकारी विभाग में कुछ अधिकारी तबादले के बाद भी अपनी जगह पर जमे हुए हैं। सूत्रों की माने तो आबकारी विभाग में कार्य का विभाजन भी ठीकठाक तरीके से नहीं किया जा रहा है। एक ही अधिकारी को जिले के ज्यादातर कार्यों का प्रभार सौंप दिया गया है। दो अधिकारियों को कार्य दायित्व नहींं सौंपा गया है। यह भी चर्चा में है कि आबकारी विभाग के एक अधिकारी का तबादला गरियाबंद जिले में हो चुका है लेकिन अभी तक जिले में ही टिके हुए। इस संबंध में जिला आबकारी अधिकारी मोहित जायसवाल से चर्चा का प्रयास किया गया मगर उनसे संपर्क नहीं हो पाया है।

 

06-10-2020
महिला एवं बाल विकास विभाग के कर्मचारी की कोरोना से मौत

रायपुर/कांकेर। जिले के पखांजुर में महिला एवं बाल विकास विभाग के 45 वर्षीय कर्मचारी की कोरोना से पहली मौत हुई है। जिस कार्यालय में कर्मचारी कार्यरत था, कार्यालय को सील कर दिया गया है। एसडीएम कार्यालय, सिविल कोर्ट के आसपास 200 मीटर तक के इलाके को सील कर कंटेनमेंट जोन घोषित कर दिया गया है। प्राप्त जानकारी के अनुसार इस बार मृतक बाल विकास विभाग के 45 वर्षीय कर्मचारी पखांजुर में ही संक्रमित हुए और होम आइसोलेशन पर रह कर अपना इलाज करा रहे थे। अधिकारीयों ने बताया कि फिलहाल कोरोना की गंभीरता को देखते हुए एसडीएम कार्यालय, सिविल कोर्ट के आसपास 200 मीटर तक के इलाके को सील कर कंटेनमेंट जोन घोषित कर दिया गया है। सभी जगहों को सैनिटाइज किया जाएगा, तथा सभी एतिहात के बाद ही आम लोगों के लिए कार्यालय खोला जाएगा। विदित हो कि इससे पहले बांदे में कोरोना से एक मौत हुई थी, संक्रमित मृतक रायपुर से लौटा था।

05-10-2020
Breaking:  भूपेश सरकार ने आईएएस अधिकारियों के विभागों में फेरबदल कर दिया अतिरिक्त प्रभार

रायपुर। भूपेश सरकार ने 5 आईएएस अधिकारियों के विभागों में फेरबदल किया है। सरकार ने इसके साथ ही अधिकारियों को अतिरिक्त जिम्मेदारी भी सौंपी है। इस संबंध में सामान्य प्रशासन विभाग के सचिव डॉ. कमलप्रीत सिंह ने आदेश जारी किया है।

03-10-2020
मछली पालन के नाम पर हो रही ठगी, विभाग ने सावधान रहने की अपील

रायपुर। संचालक मछली पालन छत्तीसगढ़ ने राज्य के मत्स्य पालक कृषकों से मछली पालन के नाम पर होने वाली ठगी से सावधान रहने की अपील की है। संचालक मछली पालन ने कहा है कि प्रदेश में कुछ अशासकीय संस्थाओं और फर्मों की ओर से मत्स्य कृषकों की भूमि पर तालाब निर्माण करवाकर मछली पालन का व्यवसाय करने के संबंध में प्रलोभन दिए जाने की शिकायत विभाग को मिली है। इन संस्थाओं की ओर से मत्स्य कृषकों से एक बड़ी राशि लेकर उनकी भूमि पर मत्स्य पालन का व्यवसाय करने और उन्हें एक निश्चित मासिक आय का भी लालच दिया जा रहा है।

कांट्रेक्ट फार्मिंग या राशि दोगुना करने का प्रस्ताव अशासकीय संस्थाओं और फर्मों की ओर से कृषकों को दिया जा रहा है। संचालक मछली पालन ने कहा है कि छत्तीसगढ़ शासन के मछली पालन विभाग अथवा छत्तीसगढ़ शासन की ओर से ऐसी किसी भी योजना को प्रमाणित नहीं किया गया है। मत्स्य कृषकों से अपील की गई है कि इस तरह के प्रलोभन से बचें। अशासकीय संस्थाओं/फर्मों की किसी भी योजना में स्वयं विचार कर, वैधानिक एवं आर्थिक पक्षों को भली-भांति समझ-बूझ कर ही राशि का निवेश करें अन्यथा शासन या मछली पालन विभाग इसके लिए किसी भी तरह से जिम्मेदार नहीं होगा।

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804