GLIBS
16-05-2021
भूपेश बघेल ने कहा-जांजगीर-चांपा में बेहतर होंगी स्वास्थ्य सुविधाएं, संसाधनों की नहीं होगी कोई कमी

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा है कि आने वाले समय में जांजगीर-चांपा जिला स्वास्थ्य सुविधाओं और स्वास्थ्य सेवा के क्षेत्र में संपन्न जिला बनेगा। इसके लिए राज्य शासन के स्तर से संसाधनों की कमी नहीं होने दी जाएगी। जिला प्रशासन जिले में स्वास्थ्य सेवाओं के विस्तार के लिए कार्ययोजना तैयार कर शासन स्तर पर भेजे इस कार्ययोजना को मंजूरी दी जाएगी। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार का यह प्रयास होगा कि जांजगीर-चांपा जिले के लोगों को इलाज के लिए बाहर न जाना पड़े। मुख्यमंत्री ने रविवार कं अपने निवास कार्यालय में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए आयोजित कार्यक्रम में जांजगीर-चांपा जिले में कोविड-19 प्रबंधन के लिए 7 नवीन कोविड केयर सेंटरों का उद्घाटन किया। इन सेंटरों में कुल 508 बिस्तर उपलब्ध हैं। इनमें 214 ऑक्सीजन बेड और 294 सामान्य बेड हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि जांजगीर-चांपा जिले में साहस के साथ कोरोना की चुनौतियों का सामना किया। इससे कोरोना का नियंत्रित करने में सफलता मिली है। उद्योगों से लेकर धार्मिक संस्थाओं तक सभी ने कंधे से कंधा मिलाकर इस लड़ाई को लड़ा और एकजुटता की अनूठी मिसाल प्रस्तुत की। इसके परिणाम स्वरूप ही जिले में कोरोना के उपचार के लिए संसाधनों का तेजी से विस्तार हो पाया है। चंद्रहासिनी ट्रस्ट चंद्रपुर से 13, दूधाधारी मठ शिवरीनारायण से 07 और अन्य संस्थाओं से 66 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर प्राप्त हुए हैं।

छत्तीसगढ़ में भी बेहतर रणनीति से कोरोना के संक्रमण को नियंत्रित करने में काफी हद तक सफलता मिली है। प्रदेश में संक्रमण की दर लगातार कम हो रही है। 15 मई की स्थिति में संक्रमण दर 30 से घटकर मात्र 11 प्रतिशत रह गई है। प्रदेश में टेस्टिंग सुविधाओं का भी लगातार विस्तार किया जा रहा है। पहले जहां 30 से 40 हजार टेस्ट रोज किए जाते थे, वही अब प्रतिदिन 70 हजार टेस्ट किए जा रहे हैं। राज्य में ऑक्सीजन, दवाइयों और बिस्तरों की कोई कमी नहीं है। मुख्यमंत्री ने कहा कि देश और प्रदेश अभी कोविड-19 की दूसरी लहर का सामना कर रहा है। हमें तीसरी लहर की चुनौती का सफलतापूर्वक मुकाबला करने के लिए तैयारी रखनी होगी। इसके लिए हमें अभी से जुटना होगा,आईसीयू बेड,सिटी स्केन सुविधा,वेंटिलेटर्स और चिकित्सा विशेषज्ञों की जरूरत होगी। स्वास्थ्य सुविधाओं के विस्तार के लिए जो भी जरूरी होगा किया जाएगा। संसाधनों की कमी नहीं होने दी जाएगी।
विधानसभा अध्यक्ष डॉ.चरणदास महंत ने इस अवसर पर कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में छत्तीसगढ़ में कोरोना संकट का सामना करने के लिए जो व्यवस्थाएं लागू की गई हैं, उनकी पूरे देश में सराहना की जा रही है। उन्होंने लॉकडाउन के दौरान गरीबों की दिक्कतों का ध्यान रखने और उन्हें राहत पहुंचाने की आवश्यकता पर जोर दिया। डॉ.महंत ने जिले में वायरोलॉजी लैब की स्थापना, टेस्टिंग बढ़ाए जाने, कोविड केयर सेंटरों में संसाधन बढ़ाने के लिए राशि की व्यवस्था और सेंटरों में लोगों के मनोरंजन के लिए व्यवस्था करने की आवश्यकता बतायी।

स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने कोविड केयर सेंटरों में सुविधाएं बढ़ाने के लिए निजी क्षेत्र, जनप्रतिनिधियों द्वारा किए गए सहयोग के लिए धन्यवाद दिया। जांजगीर-चांपा जिले के कलेक्टर यशवंत कुमार ने जिले में उपलब्ध स्वास्थ्य सुविधाओं की विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने बताया कि जिल के औद्योगिक संस्थानों के 248 और जन सहयोग से 92 ऑक्सीजन सिलेण्डर प्राप्त हुए हैं। सीएसआर मद से 100 और डीएमएफ मद से 150 तथा अन्य संस्थाओं से 86 आॅक्सीजन कंसनट्रेटर प्राप्त हुए हैं। डीएमएफ से 18 वेंटिलेटर्स की व्यवस्था की जा रही है। मुख्यमंत्री ने जांजगीर-चांपा जिले में जिन नवीन कोविड अस्पतालों का शुभारंभ किया उनमें से कोविड केयर सेंटर मड़वा में कुल 100 बिस्तर उपलब्ध हैं,जिनमें से 70 ऑक्सीजन बेड हैं, इसी तरह कोविड केयर केंद्र पामगढ़ में 150 बिस्तरों में 50 बिस्तर ऑक्सीजन बैड हैं, कोविड केयर केंद्र पुलिस लाइन जांजगीर में उपलब्ध कुल 18 बेड में 8 ऑक्सीजन बेड, कोविड केयर केंद्र कुलीपोटा में उपलब्ध 150 बेड में 50 बेड ऑक्सीजन बेड वाले, कोविड केयर केंद्र पीआईएल में उपलब्ध 50 बिस्तरों में 5 बिस्तर ऑक्सीजन बेड, कोविड केयर केंद्र नवागढ़ के सभी 10 बिस्तर ऑक्सीजन बेड और कोविड केयर केंद्र जिला चिकित्सालय जांजगीर में उपलब्ध 30 बेड में 21 ऑक्सीजन बेड हैं। कार्यक्रम में नगरीय प्रशासन मंत्री डॉ. शिवकुमार डहरिया, सांसद गुहराम अजगले, विधायक रामकुमार यादव, नारायण चंदेल और इंदु बंजारे, राज्य गौ सेवा आयोग के अध्यक्ष महंत रामसुंदर दास सहित जिले के अनेक जनप्रतिनिधि वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से जुड़े। विधानसभा अध्यक्ष डॉ.महंत ने कार्यक्रम में जांजगीर-चांपा जिले में स्वास्थ्य सुविधाओं के विस्तार की जरूरत बताई थी।

15-05-2021
31 मई तक जांजगीर-चांपा में आवाजाही रहेगी बंद

जांजगीर-चांपा। कोरोना संक्रमण को नियंत्रण करने कलेक्टर यशवंत कुमार ने जिले में लॉकडाउन को आगे बढ़ा दिया है। कलेक्टर ने आम लोगों की दैनिक जरूरतों को ध्यान में रखते हुए जरूरी व्यावसायिक गतिविधियों में छूट के साथ पूरे जिले को 31 मई की रात 12 बजे तक कंटेनमेंट जोन घोषित किया है। इसके लिए शनिवार को कलेक्टर ने आदेश जारी किया है। जारी आदेश के अनुसार सभी अस्पताल, मेडिकल दुकानें, क्लिनिक, पशु-चिकित्सालय, गैस एजेंसियां एवं पेट्रोल पम्पों को उनके निर्धारित समय में खोलने की अनुमति होगी। सब्जी, फल, अंडा, पोल्ट्री, मटन, मछली एवं किराना सामग्री, ग्रॉसरी की होम डिलीवरी सुबह 6 से दोपहर 2 बजे तक केवल स्ट्रीट वेण्डर्स, ठेले वालों, पिकअप, मिनी ट्रक, अन्य उपयुक्त छोटे वाहन के माध्यम से की जा सकेगी। इस व्यवस्था में संलग्न सभी व्यक्तियों का नियमित अंतराल में कोविड-19 जांच तथा पात्र व्यक्तियों को कोविड-19, वैक्सीनेशन कराना अनिवार्य होगा। होटलों एवं रेस्टोरेंट्स से स्विगी, जोमेटो आदि ऑनलाइन एप्लीकेशन के माध्यम से होम डिलीवरी, ग्राहकों के लिए इन-हाउस डाइनिंग तथा टेक-अवे पूर्णत: प्रतिबंधित रहेगा। 

 

14-05-2021
राजेश्री महंत महराज ने लिया कोविड का दूसरा डोज, लोगों से की टीका लगवाने की अपील

जांजगीर-चांपा। जिला के शिवरीनारायण वार्ड नंबर 15 के शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय कोविड वैक्सीनेशन सेंटर में राजेश्री महंत रामसुंदर दास महराज ने टीका का दूसरा डोज लगवाया। उन्होंने लोगों से अपील करते हुए कहा कि  कोरोना महामारी से बचाव के लिए यह टीकाकरण बहुत ही आवश्यक और सुरक्षित है। हर किसी को टीका लगवाना चाहिए। राजेश्री महंत ने कहा कि हम लोग 1 अप्रैल को शिवरीनारायण के वैक्सीनेशन सेंटर में कोरोना का पहला डोज लगवाए थे और 13 मई को पुनः दूसरा डोज लगवाए हैं। राजेश्री महंत ने लोगों को सन्देश देते हुए कहा कि कोरोना की इस जंग में कोविड 19 का टीका ही कारगर है। वैक्सीनेशन को लेकर कई तरह की अफवाहे उड़ाई जा रही है, लेकिन आप किसी के बहकावे में ना आए और अपने व परिवार का वैक्सीनेशन जरूर करवाएं। क्योंकि कोविड महामारी से बचाव के लिए वैक्सीन पूरी तरह सुरक्षित है। उन्होंने कहा कि स्वस्फूर्त निर्भीक एवं निडर होकर टीका अवश्य लगवाएं और शासन प्रशासन की ओर से जारी किए गए नियमों का पालन अवश्य करें।

12-05-2021
दृढ़ इच्छाशक्ति, मनोबल और स्वास्थ्य विभाग की सहायता से बड़ी संख्या में कोरोना मुक्त हो रहे लोग

जांजगीर-चांपा। जिले में रोज बड़ी संख्या में कोरोना मरीज ठीक हो रहे हैं। मरीजों की दृढ़ इच्छाशक्ति, मनोबल और स्वास्थ्य विभाग की टीम की ओर से सामयिक उपचार के फलस्वरूप विगत 10 दिनों में अर्थात 2 से 11 मई तक 8143 कोरोना संक्रमण से मुक्त हो चुके हैं। जिला प्रशासन की ओर से संक्रमितों के समुचित उपचार के लिए पर्याप्त चिकित्सा सुविधा उपलब्ध करवाई जा रही है। चिकित्सकों, स्वास्थ्य कर्मचारी, सफाई कर्मचारी एवं अन्य सहयोगी विभाग के कर्मचारी भी समर्पित भाव से कार्य कर रहे हैं।     स्वास्थ्य विभाग की ओर से बिना लक्षण वाले मरीजों को चिकित्सकों की निगरानी में होम आइसोलेशन की अनुमति दी है। मोबाइल के माध्यम से दिन में 2 बार उनके स्वास्थ की प्रगति की जानकारी ली जाती है। आवश्यकता अनुसार मरीजों को चिकित्सकीय परामर्श भी दिया जा रहा है। होम आइसोलेशन के मरीजों की सुविधा के लिए अलग से कंट्रोल रूम बनाकर 6 काउन्टर बनाए गए हैं।

इस कंट्रोल रूम से किसी भी समय संपर्क कर कोविड से संबंधित आवश्यक जानकारी, मार्गदर्शन प्राप्त किया जा सकता है। जिले के कोरोना संक्रमित गंभीर मरीजों के उपचार के लिए जिला अस्पताल ईसीटीसी और 13 कोविड केयर सेंटर्स में कुल 1,402 बेड और निजी 17 अस्पतालों में 203 बेड की व्यवस्था की गई है। जिला चिकित्सालय परिसर में ईसीटीसी में 9 बेड आईसीयू के और 71 बेड ऑक्सीजन युक्त है। कोविड केयर सेंटर्स के 303 बेड ऑक्सीजन युक्त और निजी अस्पताल के 124 बेड ऑक्सीजन युक्त है। रिक्त बेडों की अद्यतन जानकारी ऑनलाइन उपलब्ध है। प्रतिदिन जारी मेडिकल बुलेटिन के अनुसार  2 से 11 मई तक 8 हजार 143 लोग कोरोना संक्रमण से मुक्त हो चुके हैं।  प्राप्त जानकारी के अनुसार 2 मई को 524, 3 को 989, 4 को 723, 5 को 577, 6 को 609, 7 को 1098, 8 को 786, 9 को 659, 10 को 1208 और 11 मई को 970 मरीज कोरोना संक्रमण से मुक्त हो चुके हैं। प्रशासन की अपील के बाद जनप्रतिनिधि, समाजसेवी और प्रबुद्ध नागरिक भी आम लोगों को कोविड संक्रमण से बचाव और उन्हें इलाज में मदद के लिए आगे आ रहे हैं।

16-04-2021
शादी समारोह में कोरोना ब्लास्ट, 135 लोग पाए गए पॉजिटिव, गांव हुआ सील

जांजगीर-चांपा। एक शादी समारोह में कोरोना बम फूटा है। पांच सौ की आबादी वाले गांव में अब तक 135 ग्रामीण संक्रमित हो चुके हैं। ग्राम पंचायत ने पूरे गांव को सील कर दिया है। दरअसल जिले के सक्तीगुड़ी गांव में एक से पांच अप्रैल के बीच गांव में एक परिवार के यहां शादी थी। वर व वधु दोनों पक्ष इसी गांव के हैं। गांव के अधिकांश लोग इस शादी में शामिल हुए थे। 7 अप्रैल को गांव में पहला संक्रमित मिला। इसके बाद धीरे-धीरे एक-एक कर लोग संक्रमित होते गए। सरपंच रीना कंवर ने गांव में कोरोना जांच कराने का फैसला लिया। तीन दिन तक कैंप लगाकर जांच की गई। जांच में 135 ग्रामीण संक्रमित पाए गए। सक्तीगुड़ी के सभी संक्रमित होम आइसोलेशन में हैं। पंचायत ने गांव के प्रवेश द्वार में बेरिकेड्स लगाया है। मुनादी भी कराई गई है।

03-04-2021
70 वर्षीय ईश्वरीबाई ने लगवाई वैक्सीन, दूसरों को भी टीका लगवाने किया आग्रह 

जांजगीर-चांपा। राष्ट्रव्यापी कोरोना वेक्सीनेशन के तहत जांजगीर-चांपा जिले में कोविड-19 टीकाकरण के लिए 170 केन्द्र बनाए गए हैं। कलेक्टर यशवंत कुमार के मार्ग दर्शन में जिला चिकित्सालय, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र, प्राथमिक स्वास्थ्य, उप स्वास्थ्य केन्द्रों सहित विभिन्न चिन्हांकित स्थानों पर 45 साल से ऊपर के उम्र के सभी लोगों को टीका लगाया जा रहा है। टीकाकरण के लिए महिला एवं बाल विकास विभाग, शिक्षा, स्वास्थ, पंचायत पुलिस, नगरीय निकाय, पंचायत विभाग के मैदानी अमलों की ड्यूटी लगाई गई है। जिला मुख्यालय में 4 टीकाकरण केन्द्र बनाए गए हैं। जांजगीर चंदनिया पारा की रूपौतिन बाई, योगेश साहू और चीतरपारा की 70 वर्षीय ईश्वरीबाई ने भी अपने परिवार वालो के साथ सांस्कृतिक भवन में बनाए गए टीकाकरण केन्द्र में टीका लगवाने पहुंचे।

उन्होंने बताया कि मीडिया के माध्यम से टीकाकरण की जानकारी मिलने पर परिवार वालो के साथ टीका लगवाने आए है। योगेश साहू ने कहा कि टीका लगने के बाद वे सुरक्षित महसूस कर रहे हैं। वे 45 दिन के बाद दूसरी खुराक भी लगवाएंगे। टीका लगने के बाद भी मास्क पहनने, भीड़-भाड़ से बचने, बार-बार हाथ धोने जैसे निर्देशों का पालन करेंगे। उन्होंने कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने 45 वर्ष से अधिक आयु के सभी नागरिकों को जल्द से जल्द टीका लगवाने का आग्रह किया है।

03-04-2021
Video: विधायक ने लोगों से की अपील, बोले- पात्र हितग्राही जल्द लगवाएं टीका

जांजगीर-चांपा। विधायक नारायण प्रसाद चंदेल ने कोरोना का टीका लगवाने आमजनों से अपील की है। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस से सुरक्षा के लिए 45 साल से अधिक आयु वर्ग के लोगों का नि:शुल्क टीकाकरण किया जा रहा है। स्वयं, परिवार, समाज की सुरक्षा के लिए जल्द ही कोविड का टीका अवश्य लगाएं। विधायक ने कहा कि वे स्वयं और परिवार के सदस्यों के साथ टीका लगवा चुके हैं। टीका का कोई शारीरिक दुष्प्रभाव नहीं है।

टीका पूरी तरह सुरक्षित है। 45 साल से अधिक आयु वर्ग के लोग नजदीक के टीकाकरण केंद्र जाकर टीका लगवा सकते हैं। टीकाकरण केंद्र में मास्क लगाना, फिजिकल डिस्टेंसिंग और हाथों की स्वच्छता जैसे निर्देशों का पालन अवश्य करें। उन्होंने कहा कि पात्र हितग्राही स्वयं टीका लगवाएं और अपने आस-पड़ोस के लोगों को भी टीका लगवाने के लिए प्रेरित करें। ताकि जिले में कोरोना वायरस के संक्रमण को प्रभावी रूप से रोका जा सके और हम सब स्वस्थ जीवन जी सकें।

03-04-2021
चोरी के लोहे से भरा ट्रक जब्त, चालक गिरफ्तार

जांजगीर-चांपा। जिले के नैला चौकी क्षेत्रांतर्गत लगातार हो रही चोरी की घटनाओं के रोकथाम एवं नियंत्रण के लिए पुलिस अभियान चला रही है। इस दौरान 2 अप्रैल को रेल्वे फाटक नैला के पास बलौदा की ओर से आ रही एक पिकअप वाहन को चेक किया गया। चेक करने पर वाहन में लोहे का एंगल, प्लेट पट्टा व मशीनरी पार्ट्स भरा मिला। चालक उमेश देवांगन (32) निवासी जांजगीर चांपा को नोटिस देकर वाहन तथा उसमें भरे लोहे का सामान का कागजात पेश करने कहा गया। जब चालक की ओर से कोई कागजात पेश न करने पर पुलिस ने वाहन में भरे लोहे का सामान चोरी की सम्पत्ति होने के संदेह पर वाहन मय लोहे का वजनी 11 क्विंटल कीमती 22,000 रुपए को जब्त कर लिया है। आरोपी चालक को विभिन्न धाराओं के तहत गिरफ्तार कर न्यायिक रिमाण्ड पर भेजा गया।

01-04-2021
45 वर्ष से अधिक के लोगों को टीका लगाने का काम आज से शुरू

जांजगीर-चांपा। राज्य में कोरोना संक्रमण की रफ्तार बढ़ रही है। लेकिन स्वास्थ्य अमले और छत्तीसगढ़वासियों ने ठान लिया है कि कोरोना को हराकर रहेंगे। राज्य में 31 मार्च को एक लाख 22 हजार 384 लोगों ने कोविड-19 टीकाकरण केन्द्र पहुंचकर टीका लगवाया। राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन की संचालक एवं राज्य कोविड टीकाकरण की नोडल अधिकारी डॉ. प्रियंका शुक्ला ने बताया कि 1 अप्रैल से 45 वर्ष से अधिक आयु के सभी लोगों का टीकाकरण किया जाएगा। उन्होंने अपील की है कि इस आयु वर्ग के सभी लोग देर न करते हुए जल्दी ही अपना और अपने परिजनों का टीकाकरण अवश्य कराएं क्योंकि टीकाकरण से कोविड-19 से होने वाले कॉम्प्लिकेशन्स से बचा जा सकता है। कोरोना वैक्सीन की पहली खुराक के 6-8 सप्ताह के बीच दूसरी खुराक लेना अनिवार्य है। सेकंड डोज लेने के दो सप्ताह के अंदर आमतौर पर शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता विकसित होती है। वैक्सीनेशन के बाद भी कोविड अनुरूप व्यवहार करना, मास्क लगाना, दूरी रखना एवं हाथों की सफाई आवश्यक है। इससे कोरोना के खतरे को कम किया जा सके।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804