GLIBS
14-10-2019
पिता कर रहा था माँ की पिटाई, गुस्से में बेटे ने उठाया खौफनाक कदम

नई दिल्ली। पश्चिम बंगाल में 15 वर्षीय एक लड़के अपने पिता का सिर पत्थर से कुचलकर हत्या कर दी। बताया जा रहा है लड़के का पिता उसकी मां की बुरी तरह से पिटाई कर रहा था। ऐसा देख किशोर को बर्दाश्त नहीं हुआ। वह मां की बेबसी देख आग बबूला हो गया और एक पत्थर से पिता का सिर कुचलकर उसकी हत्या कर दी। घटना के बाद आरोपी किशोर ने थाने में जाकर सरेंडर कर दिया। घटना कोलकाता से महज 20 किमी की दूरी पर 24 परगना जिले के राजरहाट की है। शनिवार की रात को किशोर अपने घर के आंगन में सो रहा था, तभी उसे अपने माता पिता में झगड़ा होने की आवाज सुनाई दी। शोर सुनकर लड़का जब कमरे में जाकर देखा तो पिता उसकी मां की पिटाई कर रहा था।

मां की पिटाई का बदला लेने के उद्देश्य से किशोर कुल्हाड़ी लेकर आया और पिता के सिर पर वार कर दिया। कुल्हाड़ी का वार इतना घातक था वह मौके पर ही गिर गया। इसके बाद अरोपी किशोर ने एक बड़ा पत्थर उठाकर उसका सिर कुलच दिया। घटना से किशोर के पिता की मौके पर ही मौत हो गई। रात किसी तरह से बीती तो करीब 3.20 बजे तड़के ही युवक थाने पहुंच गया और अपने पिता की हत्या का जुर्म कुबूल लिया। लड़का जब थाने पहुंचा तो उसके हाथ ओर कपड़ों में खून लगा था। घटना के बाद से किशोर की मां लापता है। पुलिस ने बताया कि किशोर को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। महिल की तलाश की जा रही है। पुलिस लड़के को घटना स्थल पर लेकर गई तो देखा कि उसकी पिता खून से लथपथ पड़ा है और मौके पर कुल्हाड़ी व पत्थर भी पड़ा है। पुलिस की प्राथमिक जांच में पता चला है कि आरोपी पिता आए दिन अपनी पत्नी की पिटाई करता रहता था। आठ साल पहले उसने एक और महिला से शादी भी की थी।

 

12-10-2019
युवती की अर्धनग्न लाश नदी में तैरते मिली, पुलिस जुटी जांच में, क्षेत्र में सनसनी

अंबिकापुर। सीतापुर थाना क्षेत्र के माण्ड नदी में एक 26 वर्षीय युवती का अर्धनग्न स्थिति में बहते हुए शव मिला है। शव की जानकारी मिलते ही क्षेत्र में सनसनी फैल गई। शव देखकर पुलिस ने हत्या से पहले बलात्कार का अंदेशा जताया है। युवती सीतापुर थाना क्षेत्र के ग्राम ढेलसरा नागवंशी पारा की रहने वाली बताई जा रहती है। शनिवार को कुछ बच्चे माण्ड नदी पर नहा रहे थे। तभी नदी में युवती की बहती हुई अर्धनग्न शव दिखाई दी है, जिस कि जानकारी ग्रामीणों ने पुलिस को दी। मौके पर पहुंचकर सीतापुर पुलिस ने गाँववालों की सहायता से युवती के अर्धनग्न शव को बाहर निकाला है। शव 26 वर्षीय युवती शकुंतला नाग का बताया जा रहा है। मामले में सीतापुर पुलिस घटनास्थल पर पहुँचकर शव का पंचनामा की। फिलहाल सीतापुर पुलिस मामले में कुछ भी कहने से बचते नजर आ रही है और जाँच के बाद ही कुछ कहने की बात कर रही है। वहीं परिजनों का आरोप है कि युवती को बलात्कार कर माण्ड नदी पर फेंका गया है क्योंकि युवती का शव अर्धनग्न स्थिति में बरामद हुआ है। बताया जा रहा है कि युवती ढेलसरा नागवंशी पारा में रहती थी, जो बीते शाम से घर से बाहर थी। फिलहाल सीतापुर पुलिस मामले में मर्ग कायम कर जाँच कर रही है। घटना के बाद से क्षेत्र में सनसनी फैल गई है। 

 

11-10-2019
शहर में बढ़ता जा रहा अपराधों का ग्राफ, राजधानी है या अपराधधानी?

रायपुर। प्रदेश की राजधानी रायपुर में लूट, मारपीट, हत्या जैसे संगीन अपराधों में दिनोदिन बढ़ोतरी हो रही है। शहर में अपराध के ग्राफ में वृद्धि होने से आम नागरिक दहशत में है। ताजा मामले में खमतराई थाना क्षेत्र के सरदार टिम्बर मार्केट भनपुरी में मोटरसाइकिल सवार दो युवक बिट्टू गुप्ता को चाकू दिखाकर उसका मोबाइल छीनकर फरार हो गए। घटना की जानकारी बड़े भाई बिट्टू गुप्ता को मिलते ही वह छोटे भाई के साथ युवकों की पहचान करने घटनास्थल पहुंचा। आरोपियों से छोटे भाई का मोबाइल मांगने पर टिक्कू पर आरोपियों ने चाकू से हमला कर दिया। टिक्कू को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है। वहीं भागते समय आरोपियों की मोटरसाइकिल एचएफ डीलक्स क्रमांक सीजी 04 एमटी 8110 को प्रार्थी ने देख लिया। घटना की रिपोर्ट पर पुलिस ने मोटरसाइकिल नंबर के आधार पर आरोपियों के खिलाफ अपराध कायम कर मामला दर्ज कर लिया है। वहीं धरसींवा थाना में ग्राम भड़सेलीटोला करवाही थाना सरई जिला सिंगरौली मध्यप्रदेश निवासी इंद्रबहादुर 30 वर्ष पिता राजाराम गोंड़ ने  रिपोर्ट दर्ज करायी है कि 10 अक्टूबर को रात्रि आठ बजे बिजली आफिस के पास सिलतरा में वह ट्रक को रोड किनारे खड़ा कर नीचे उतरकर मोबाइल फोन से बात कर रहा था। इसी दौरान पीछे से आकर दयानंद वर्मा (19) पिता विजनंदन वर्मा निवासी राजेंद्र नगर मोबाइल फोन लूटकर भागने लगा। चिल्लाने पर आसपास के लोगों ने आरोपी को पकड़कर पुलिस के हवाले कर दिया। इसी तरह बीरगांव उरला निवासी सोहन वर्मा (26) पिता सुरेश वर्मा ने धरसींवा थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई है कि कूंरा शराब दुकान में घुसकर टिकेंद्र धीवर एवं दशरथ धीवर ने पांच बोतल शराब जल्दी देने की बात कहकर पटककर तोड़ दिया। विरोध करने पर आरोपियों ने गाली-गलौज कर जान से मारने की धमकी दी। घटना की रिपोर्ट पर पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ अपराध कायम कर मामला दर्ज कर लिया है।

 

11-10-2019
राहुल गांधी को इस मामले में मिली जमानत, सात दिसंबर को होगी अगली सुनवाई

अहमदाबाद। अमित शाह को हत्यारोपी कहने के मामले में राहुल गांधी को अहमदाबाद की कोर्ट से जमानत मिल गई है। अब इस मामले की अगली सुनवाई सात दिसंबर को होगी। बता दें कि गुरुवार को 'सभी मोदी चोर' कहने के मामले में अहमदाबाद के एक कोर्ट में पेश होने के बाद राहुल ने खुद को निर्दोष बताया था। वह तीन मामलों में कोर्ट में हाजिर होने के लिए गुरुवार से अहमदाबाद में हैं। राहुल गांधी ने जबलपुर में एक रैली के दौरान अमित शाह को हत्या का आरोपी बताया था। जिसके बाद उनके खिलाफ भाजपा पार्षद कृष्णवदन ब्रह्मभट्ट ने मानहानि का मुकदमा दायर किया है। इस मामले में अहमदाबाद की मजिस्ट्रेट कोर्ट ने राहुल को मई में समन जारी किया था। बता दें कि सोहराबुद्दीन शेख एनकाउंटर मामले में शाह 2015 में बरी हो चुके हैं। दूसरा मामला जिसमें अभी राहुल गांधी की पेशी होनी है वह अहमदाबाद जिला सहकारी बैंक से जुड़ा है। राहुल ने आरोप लगाया था कि नोटबंदी के समय एडीसी बैंक में पांच दिन में 750 करोड़ रुपए को बदला गया। बता दें कि अमित शाह इस बैंक के निदेशक हैं। राहुल ने दावा किया था कि इसमें अमित शाह की संलिप्तता है। इसके बाद बैंक के अध्यक्ष ने राहुल के खिलाफ मानहानि का केस दायर किया था।
 

08-10-2019
दो बेटियों और बेटे सहित महिला की लाश बरामद, पति लापता

झालावाड़। जिले के सुनेल थाना क्षेत्र के ढाबलाखींची गांव में एक दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है। इस घटना में एक कमरे में एक ही परिवार के चार सदस्यों के शव  मिले हैं। मृतकों में एक महिला और उसके तीन बच्चे शामिल हैं। महिला का पति रात से ही घर से लापता बताया जा रहा है। पुलिस इसे हत्या का मामला मानकर जांच में जुटी है. सुनेल थाना पुलिस  के अनुसार इलाके के ढाबला खींची गांव मे एक घर में महिला व तीन बच्चों के शव मिले हैं। मृत बच्चों में दो लड़कियां हैं जबकि एक लड़का है। सभी बच्चे किशोरवय के लगते हैं. मृतकों में महिला जाहिदा, दो लड़कियां मुस्कान व अल्फिया व लड़का अल्फेज शामिल हैं। दो मृतकों के मुंह से झाग निकले पाए गए। दो मृतकों के गले पर रस्सी से गला घोंटने के निशान मिले हैं। पुलिस प्रथम दृष्टया इसे हत्या से जुड़ा मामला मान कर जांच कर रही है। पूरे मामले में शक की सुई घर के मुखिया व महिला के पति की ओर घूम रही है, जो सोमवार की रात से लापता बताया जा रहा है। मामले की जानकारी मिलने पर सुनेल थाना पुलिस व पुलिस के आला अधिकारी मौके पर पहुंच गए हैं। झालावाड़ से पुलिस अधीक्षक राममूर्ति जोशी व फारेंसिक टीम भी घटनास्थल के लिए रवाना हो गई है। अब पुलिस गहनता से सारे मामले की जांच में जुटी है कि आखिर इतनी बड़ी वारदात के पीछे की वजह क्या थी?

 

07-10-2019
जमीन विवाद को लेकर चचेरे भाइयों ने की हत्या

कोरबा। जमीन विवाद को लेकर दो चचेरे भाइयों ने अधेड़ की हत्या कर दी। घटना सोमवार की दोपहर को गोबरघोरा गांव में घटी। दोनों आरोपी घटना को अंजाम देकर मौके से फरार हो गए हंै। दीपका थाना अंतर्गत ग्राम गोबरघोरा निवासी रोन्हा रोहिदास (50) का जमीन को लेकर अपने चचेरे भाइयों से विवाद लंबे समय से चला आ रहा था। सोमवार की दोपहर 3 बजे रोन्हा का अपने चचेरे भाई मूरित और सुरित रोहिदास से विवाद हुआ। उस दौरान रोन्हा खेत में काम कर रहा था। दोनों भाई रॉड और टंगिया लेकर खेत में पहुंचे थे। विवाद बढऩे पर उन्होंने रोन्हा पर वार किया जिससे मौके पर ही उसकी मौत हो गई। घटना की सूचना मिलते ही दीपका पुलिस मौके पर पहुंची । पुलिस शव का पंचनामा कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। इस मामले में दोनों भाई के खिलाफ  हत्या के मामला पंजीबद्ध कर विवेचना की जा रही है।

 

07-10-2019
भाजपा नेता समेत पांच लोगों को बदमाशों ने उतारा मौत के घाट

 

नई दिल्ली। महाराष्ट्र में कुछ दिनों बाद विधानसभा चुनाव होने है। लेकिन विधानसभा चुनाव से पहले ही भाजपा नेता समेत पांच लोगों की हत्या कर दी गयी। मामला जलगांव के भुसावल का है जहां भाजपा पार्षद रवींद्र खरात, उनके परिवार के तीन सदस्यों और बेटे के दोस्त की तीन अज्ञात हमलावरों ने उनके घर के बाहर हत्या कर दी। पुलिस ने बताया कि बदमाशों ने खरात और अन्य पर गोलियां चलाईं और चाकू से हमला किया। मामले में पुलिस ने तीनों हमलावरों को गिरफ्तार किया है। जांच चल रही है। घटना रविवार देर रात हुई जब पार्षद रवींद्र (55) और उनके परिजन अपने घर में थे। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि देशी पिस्तौल और चाकू लिए हमलावर रवींद्र के घर में दाखिल हुए और गोलियों की बरसात कर दी। हमले को अंजाम देने के बाद हमलावर वहां से भाग गए लेकिन बाद में उन्होंने आत्मसमर्पण कर दिया।  पुलिस ने बताया कि हमले में इस्तेमाल किए गए हथियार बरामद कर लिए गए हैं। घायलों को पास के अस्पताल ले जाया गया लेकिन, इलाज के दौरान सभी की मौत हो गई। हमले में खरात के अलावा उनके भाई सुनील (56), बेटे प्रेमसागर (26) और रोहित (25) समेत एक अन्य व्यक्ति गजरे की मौत हो गई। वारदात के पीछे की असल वजह अभी पता नहीं चल सकी है।

06-10-2019
जमीन विवाद को लेकर नशेड़ी पुत्र ने की पिता की हत्या, छप्पर से बरसाए ईंट और पत्थर

कोरबा। कटघोरा थाना इलाके के पुटुवा गांव में एक नशेड़ी पुत्र ने अपने ही पिता की निर्ममता से हत्या कर दी। पिता-पुत्र के बीच जमीन को लेकर विवाद चल रहा था। यह वारदात शनिवार दोपहर की बताई जा रही है। ग्राम पुटुवा निवासी दयाराम यादव पिता बुधराम को पहले उसके छोटे बेटे रमेश ने घर पर बंद कर दिया और फिर छप्पर पर चढ़कर उस पर पत्थर और ईंट से ताबड़तोड़ हमला कर दिया। घटना की सूचना मिलते ही मृतक के दूसरे बेटे ने अपने पिता को कटघोरा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया। इलाज के दौरान दयाराम ने दम तोड़ दिया। आरोपी घटना के बाद से फरार है। बताया जा रहा है कि आरोपी नशेड़ी था। वह अक्सर दयाराम के साथ मारपीट करता था। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए रवाना कर दिया है। आरोपी पुत्र के खिलाफ हत्या की धाराओं के तहत मामला पंजीबद्ध कर जांच शुरू कर दी है। 

05-10-2019
चाकू मारकर अधेड़ की हत्या, आरोपी गिरफ्तार

रायपुर। राजधानी के पंडरी थाना इलाके में अधेड़ की चाकू मारकर हत्या का मामला सामने आया है। पंडरी निवासी रघुनाथ 65 वर्ष का विवाद अपने साथी सोना से हुआ। आरोपी ने सरेराह रघुनाथ पर चाकू से हमला कर दिया। पंडरी थाना प्रभारी ने कहा कि आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है। वहीं शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। पुलिस मामले में आगे की कार्रवाई कर रही है।

05-10-2019
नरबलि कांड में आया सुप्रीम कोर्ट का फैसला 'तांत्रिक दंपति' को मिली फांसी की सज़ा रहेगी बरकरार

भिलाई। दिल दहला देने वाले नरबलि कांड में सुप्रीम कोर्ट ने दोनों मुख्य आरोपियों सहित 7 को दी गई फांसी की सजा को बरकरार रखा है। तांत्रिक दंपति सहित मामले के 7 आरोपियों को दुर्ग न्यायालय ने साल 2014 में फांसी की सजा सुनाई थी। दो साल के बच्चे चिराग राजपूत की बलि चढ़ाने वाले दोषी इश्वर लाल यादव और उसकी पत्नी किरण बाई के प्रकरण की सुनवाई के दौरान मानवीय दृष्टिकोण और रिकाॅर्ड में लाए गए साक्ष्यों के आधार अदालत ने इसे रेयरेस्ट ऑफ रेयर केस मानते हुए ये फैसला दिया गया। घटना 23 नवंबर 2011 की है। आरोपी दंपति खुद को तांत्रिक बताते थे। कथित तांत्रिक इश्वर यादव और उसकी पत्नी किरण इस घटना में शामिल थे।

साथ मे उनके चेले भी शामिल थे। मिली जानकारी के अनुसार दंपति ने अपने  शिष्यों के साथ मिलकर योजना बनाई और अपने पड़ोस में रहने वाले पोषण सिंह के दो साल के बेटे का अपहरण कर उसकी हत्या कर दी। साक्ष्य छिपाने आरोपियों ने बच्चे के शव को दफना कर दिया। पुलिस ने शक के आधार पर जब आरोपी दंपति से कड़ी पूछताछ की तब पूरे मामले का खुलासा हुआ। वहीं पुलिस की जांच में एक और बच्ची की हत्या की बात सामने आई। दुर्ग कोर्ट में चल रहे इस मामले का फैसला साल 2014 में आया, जिसे एक एतिहासिक फैसला बताते हुए सभी वर्गो ने स्वागत किया। मामले में न्यायालय ने सभी आरोपियों को फांसी की सजा सुनाई थी। जिसे देश की सुप्रीम कोर्ट ने भी सही मानते हुए अपनी मोहर लगा दी।

 

03-10-2019
तो क्या एक बाप अपने बेटे की हत्या होते देखता रहे, उसे बचाना गुनाह है क्या?

रायपुर। कल रात एक हिस्ट्रीशीटर ने बाप बेटे पर चाकू से हमला किया। बेटे को बचाने के लिए बाप ने हिस्ट्रीशीटर पर गोली चलाई जिससे उसकी मौत हो गई और सारे जानकार लोगों ने उसे हत्या करार दे दिया। सब ने लिखा हिस्ट्रीशीटर की गोली मारकर हत्या। अब सवाल यह उठता है कि क्या एक बाप अपने बेटे को बचाने के लिए? अपनी आत्मरक्षा के लिए गोली नहीं चला सकता? और अगर वह अपने बेटे को बचाने के लिए गोली चलाता है और किसी को गोली लगती है तो क्या यह हत्या करना है? हत्या और गैर इरादतन हत्या दोनों के बीच का फर्क तो समझना ही होगा। वैसे भी सरकार अगर हथियार रखने का लाइसेंस देती है तो वह उसे शो पीस बनाकर रखने के लिए नहीं बल्कि कठिन परिस्थितियों में अपनी जान बचाने के लिए देती है, और अगर कोई अपने बेटे की जान अपनी जान बचाने के लिए गोली चलाता है तो उसे हत्यारा तो नहीं कहा जा सकता। बहरहाल आधी रात को पेट्रोल पंप पर हुई दुर्भाग्य जनक घटना में घायल बेटा अस्पताल में भर्ती है और उसे बचाने की कोशिश में गोली चलाने वाला पिता जेल में है। सवाल अब यह खड़ा होता है कि क्या वह पिता अपने बेटे को एक हिस्ट्रीशीटर के हाथों मरने देता ? चुपचाप खड़ा तमाशा देखता? या फिर कठिन परिस्थितियों के लिए खरीदी गई लाइसेंसी पिस्तौल का इस्तेमाल करता? जहां तक कानून का सवाल है वह अपना काम कर रहा है और उसे अपना काम करने दिया जाना चाहिए। कानून भी गोली चलाने वाले को, हत्या करने वालों को, बिना जांच बिना सबूत, बिना उसका पक्ष जाने हत्यारा करार नहीं देता मगर जल्दबाजी में सारे अखबारों ने बेटे को बचाने के लिए गोली चलाने वाले बाप को हत्यारा करार दे दिया। किसी के पास इस इस वारदात का माननीय पहलू बखान करने का समय नहीं था। किसी ने उस आदतन अपराधी के चाकू चलाने और एक युवक को घायल करने को प्रमुखता नहीं दी। नाही प्रतिक्रिया स्वरूप गोली चलाई जाने का मार्मिक पक्ष सामने रखा। फिर सवाल आता है परिस्थितियों का, तो क्या एक अनजान वहशी को चाकू से अपने बेटे पर आधी रात को प्राण घातक हमला करता देख, पिता के पास गोली चलाने के अलावा कोई और विकल्प था? क्या वंहा उसकी मदद के लिए कोई आगे आया था? क्या वो खामोश खड़ा खड़ा किसी अनजान वहशी को अपने बेटे को चाकू से गोद कर जान से मारने देता? सवाल ये महत्वपूर्ण है कि उन परिस्थितियों में वो क्या कर सकता था? फिर पुत्र को बचाने के लिए गोली चलाने जैसा कठिन निर्णय लेने वाले पिता ने तो कानून का पूरा पूरा सम्मान किया। वो स्वंय गया पुलिस के पास और उसने सारी जानकारी दी। यदि वो अपराधी होता तो खुद चलकर थाने क्यो जाता? परिस्थियों पर गौर किये बिना, मृतक के आपराधिक रिकार्ड को जानते हुए भी पुत्र प्रेम से ओतप्रोत एक पिता को साफ साफ हत्यारा ठहरा देना कहीं से भी जायज नहीं कहा जा सकता है और ना ही यह पत्रकारिता के उच्च मापदंड स्थापित करता है। बहरहाल कानून जब बेटे को बचाने के लिए गोली चलाने वाले के प्रकरण पर फैसला देगा तब देगा लेकिन आज तो अखबारो ने तो उसे हत्यारा करार देने में कहीं कोई कसर नहीं छोड़ी। 

 

02-10-2019
नाबालिग लड़की को चाकू से गोदा, अभनपुर से पकड़ा गया फरार आरोपी

धमतरी। धमतरी शहर में चाकूबाजी की वारदात थमने का नाम नहीं ले रही है। मंगलवार रात हटकेशर वार्ड में फिर एक वारदात हो गई जिसमें एक युवक ने नाबालिग लड़की को चाकू से गोद डाला। बुरी तरह से घायल लड़की को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है। बता दें कि करीब दस दिन पहले ही एक ऑटो चालक की चाकू से गोदकर हत्या कर दी गई थी। यह वारदात लोगों के जेहन से उतरा ही नहीं था कि शहर के हटकेशर वार्ड में एक युवक ने नाबालिग लड़की को चाकू से गोद डाला। बताया जा रहा है कि दोनों में किसी बात को लेकर विवाद हुआ था। शाम को जब लड़की घर से किसी काम से निकली तभी मोहल्ले के ही धर्मेंद्र गायकवाड़ नामक युवक ने उस पर चाकू से ताबड़तोड़ वार कर दिया। इस हादसे में बुरी तरह से घायल लड़की को इलाज के लिए मसीही अस्पताल ले जाया गया जहां उसकी गंभीर स्थिति को देखते हुए रायपुर रिफर किया गया है। इधर वारदात को अंजाम देने के बाद आरोपी युवक मौके से फरार हो गया। सूचना मिलते ही पुलिस की अलग-अलग टीम तलाश में जुट गई। करीब 6 घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद आरोपी को अभनपुर से उसके रिश्तेदार के घर से गिरफ्तार किया गया। विवाद किस बात को लेकर हुआ था इसका खुलासा पुलिस नहीं कर रही है। फिलहाल आरोपी युवक को रिमांड पर जेल भेज दिया गया है। 
 

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804