GLIBS
18-08-2019
त्रिपुरा का राज्यपाल बनने के बाद पहली बार रायपुर पहुंचे रमेश बैस

रायपुर। त्रिपुरा का राज्यपाल बनने के बाद पहली बार रविवार दोपहर रमेश बैस रायपुर पहुंचे। माना स्थित विमानतल में उनका जोरदार स्वागत किया गया। मीडिया से चर्चा के दौरान उन्होंने कहा कि त्रिपुरा काफी अच्छा राज्य है। वहां का वातावरण बेहद खूबसूरत है। सरकार अच्छा काम कर रही है। बता दें कि श्री बैस यहां कई कार्यक्रमों में शामिल होंगे। सोमवार शाम 4 बजे बार एसोसिएशन के कार्यक्रम में शामिल होंगे। 20 अगस्त को चंद्रनाहू कुर्मी क्षत्रिय समाज की ओर से भिलाई में उनका अभिनंदन किया जायेगा। 21 अगस्त को वे वापस त्रिपुरा लौटेंगे।

17-08-2019
18 अगस्त को त्रिपुरा के राज्यपाल रमेश बैस का रायपुर आगमन

रायपुर। त्रिपुरा के राज्यपाल रमेश बैस 18 अगस्त रविवार को तीन दिवसीय प्रवास पर छत्तीसगढ़ आएंगे। वे इंडिगो के नियमित विमान 6ई-201 से दोपहर 2 बजे रायपुर माना विमानतल पहुंच रहे है। श्री बैस विमानतल से सीधे रविनगर स्थित अपने निवास स्थान जाएंगे। वे 18, 19, 20 अगस्त तीन दिन रायपुर में रहेंगे। श्री बैस 21 अगस्त की सुबह 9 बजे रायपुर से कोलकाता के लिए इंडिगो के नियमित विमान से रवाना होंगे।

 

29-07-2019
रमेश बैस ने ली त्रिपुरा के नए राज्यपाल पद की शपथ

रायपुर। रमेश बैस ने सोमवार को त्रिपुरा के नए राज्यपाल के रूप में शपथ ग्रहण की। त्रिपुरा में आयोजित एक भव्य समारोह में उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश ने उन्हें पद की शपथ दिलाई। पुराना गर्वनर हाउस में हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश संजय करुल ने उन्हें शपथ दिलाई। शपथ ग्रहण समारोह में प्रदेश के पूर्व मंत्री राजेश मूणत, भाजपा नेता केदार गुप्ता, सुभाष राव, लीलाधर चंद्राकर सहित बड़ी संख्या में भाजपा कार्यकर्ता उपस्थित थे।

23-07-2019
कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए भावुक हो गए रमेश बैस

रायपुर। भाजपा कार्यालय एकात्म परिसर में आयोजित समारोह में कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए रमेश बैस ने कहा कि यह सम्मान मैं सम्पूर्ण छत्तीसगढ़वासियों और भाजपा नेतृत्व और कार्यकर्ताओं को सपर्मित करता हूं। मैं आज के बाद संवैधानिक दायित्व निभाने जा रहा हूं इसलिए पार्टी कार्यालय दायित्व रहते तक नहीं आ पाऊंगा। भारतीय जनता पार्टी ने मुझे अपने जीवन के स्वर्णिम अवसर दिए है। एक किसान का बेटा था कभी सपने में भी नहीं सोचा था कि मैं चुनाव लड़ूंगा कभी पार्षद, विधायक, सांसद बनूंगा नहीं सोचा था परन्तु पार्टी के कार्यकर्ताओं ने मेहनत और स्नेह से मुझे लंबे समय तक जनप्रतिनिधि बनाया और आज शीर्ष नेतृत्व ने ऐसा दायित्व दिया है कि मैं इस पार्टी का अहसान कभी जीवन भर नहीं भूल सकता। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने जब मुझे टेलीफोन पर ये कहा कि आपको कोई संवैधानिक दायित्व देने की सोच रहे हैं तब मेरा यही जवाब था कि पार्टी नेतृत्व के फैसले मेरे लिए हमेशा शिरोधार्य रहे हैं। मैं लंबे समय तक आप सब के बीच में काम करता रहा हूं। मैं आप सबके स्नेह को कभी नहीं भुला सकता हूं। मन बहुत भरा-भरा सा लग रहा है। इतना कहते हुए श्री बैस भावुक हो गए और उन्होंने छत्तीसगढ़ वासियों को त्रिपुरा आने का न्यौता भी दिया।

23-07-2019
राज्यपाल बनने के बाद रमेश बैस का प्रथम राजधानी आगमन, ढोल-नगाडों के साथ हुआ स्वागत

रायपुर। त्रिपुरा प्रदेश का रज्यपाल बनने के बाद वरिष्ठ नेता रमेश बैस का मंगलवार को एयरपोर्ट पर भाजपा कार्यकर्ताओं ने ढोल नगाड़ों के साथ भव्य स्वागत किया। रमेश बैस के विमानतल क्षेत्र से बाहर निकलने के बाद कार्यकर्ताओं ने फूलमाओं और गुलाल लगाकर स्वागत किया और जिंदाबाद के नारे लगाए। राज्यपाल रमेश बैस का स्वागत करने कार्यकर्ताओं सहित विधायक, पूर्व विधायक भी पहुंचे थे। इसमें रायपुर दक्षिण के विधायक और पूर्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल, पूर्व मंत्री राजेश मूणत, पूर्व आरडीए अध्यक्ष संजय श्रीवास्तव आदि ने रमेश बैस का स्वागत किया।


 

23-04-2019
...जैसे अर्जुन की नजर चिड़िया पर थी वैसे ही मेरा नजर रायपुर लोकसभा सीट पर : रमेश बैस

 

रायपुर। रायपुर लोकसभा सीट से 7 बार के सांसद रहे रमेश बैस ने किया जिला पंचायत बूथ क्रमांक 173 में मतदान किया। वोट डालने के मीडिया से चर्चा में उन्होंने कहा कि जैसे अर्जुन की नजर चिड़िया पर थी वैसे ही मेरा नजर रायपुर लोकसभा पर है और ये सीट हम अवश्य जीत जीतेंगे।

22-04-2019
रमेश बैस जिला पंचायत कार्यालय, बृजमोहन गुजराती स्कूल में करेंगे मतदान 

रायपुर। लोकसभा चुनाव में मतदान के इस महापर्व में मंगलवार को मतदान होगा। इसमें मौजूदा सांसद रमेश बैस सुबह 10 बजे जिला पंचायत कार्यालय में वोट डालने जाएंगे। पूर्व मंत्री राजेश मूणत सुबह 9:30,बजे गुजराती स्कूल एमजी रोड में वोट डालेंगे। पूर्व विधायक श्रीचंद सुंदरानी सुबह 8 बजे आदर्श स्कूल देवेंद्र नगर वोट डालने जाएंगे। भाजपा प्रत्याशी सुनील सोनी सुबह 11:30 बजे महाराणा प्रताप स्कूल नयापारा में मतदान करेंगे। पूर्व मंत्री और विधायक बृजमोहन अग्रवाल दोपहर 12 बजे गुजराती स्कूल में मतदान करेंगे।

 

17-04-2019
जातिगत राजनीति को हमारा समर्थन नहीं : रमेश बैस

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ सांसद रमेश बैस ने बुधवार को भाजपा कार्यालय में पत्रकारवार्ता लेकर कहा कि जातिगत राजनीति को हमारा कभी समर्थन नहीं है। हम पार्टी की राजनीति करते हैं और पार्टी ने जो काम दिया है, उसे पूरी इमानदारी के साथ निभाया है। उन्होंने कहा कि सांसद बनने के बाद सबसे पहले मैंने छत्तीसगढ़ का निर्माण करवाया। पत्रकारों के सवालों का जवाब देते हुए बैस ने कहा कि टिकट कटने से मैं नाराज नहीं हूं। मैं पार्टी का एक छोटा-सा कार्यकर्र्ता हूं। मैं लगातार जनता के बीच रहा और सात बार भाजपा से सांसद बना। इस वर्ष चुनाव में छत्तीसगढ़ में सभी सीटों पर परिवर्तन किया गया है। हम छत्तीसगढ़ की सभी 11 सीटों पर जीत हासिल करेंगे। उन्होंने कहा कि रायपुर से अपना प्रत्याशी सुनील सोनी भारी बहुमत से जीत रहे हैं। सांसद रमेश बैस ने अपनी उपलब्धियां गिनाते हुए कहा कि मेरे कार्यकाल में रेलवे स्टेशन को मॉडल बनाया गया है। एम्स अस्पताल खुलवाया गया। अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा बनाया गया। रायपुर में कई नई ट्रेनों की शुरुआत की गई। इसके अलावा और भी विकास और निर्माण कार्य हुए हैं।

16-04-2019
एकजुटता ही भाजपा की ताकत, प्रचंड मतों से जीतेंगे रायपुर लोकसभा : रमेश बैस

रायपुर। लोकसभा चुनाव की दृष्टि से प्रदेश भाजपा प्रभारी अनिल जैन की अध्यक्षता में भारतीय जनता पार्टी के प्रमुख पदाधिकारियों की बैठक एकात्म परिसर में संपन्न हुई। इस बैठक को संबोधित करते हुए सांसद रमेश बैस ने कहा कि केंद्र कि हमारी सरकार ने विकास के साथ-साथ एक विश्वास की राजनीति का सूत्रपात किया है। वर्षों बाद जनता के भीतर एक विश्वाश का भाव जगा है कि कोई सरकार अपने देश की अस्मिता और स्वाभिमान के लिए कुछ भी कर गुजरने को तैयार है। समाज के अंतिम पंक्ति में खड़े व्यक्ति की बेहतरी की बात हो या युवाओं के उज्जवल भविष्य बनाने की हर दिशा में केंद्र की मोदी सरकार काम कर रही है। हमारे लिए राजनीतिक माहौल बेहतर है ऐसे में रायपुर लोकसभा प्रचंड मतों से जीतना है। इस बैठक में वरिष्ठ भाजपा नेता व सांसद रमेश बैस पूर्व मंत्री रायपुर दक्षिण विधायक बृजमोहन अग्रवाल जिला भाजपा अध्यक्ष राजीव अग्रवाल रायपुर लोकसभा प्रत्याशी सुनील सोनी, प्रदेश भाजपा उपाध्यक्ष मोतीलाल साहू, आरडीए के पूर्व अध्यक्ष संजय श्रीवास्तव, पूर्व विधायक श्रीचंद सुंदरानी, नंदे साहू,अशोक पांडे,  सुभाष तिवारी, सुभाष राव आदि मौजूद रहे। चुनाव की आगामी रणनीतियों के संबंध में अनिल जैन ने अपनी बात रखी और सभी का मार्गदर्शन किया। देर रात तक रायपुर की चारों विधानसभा सीटों की बैठक लेकर रणनीति को अंतिम रूप दिया। बृजमोहन अग्रवाल ने सुनील सोनी के महापौर कार्यकाल के दौरान किए गए विकास कार्यों का ब्यौरा भी रखा और जनता के सामने किन मुद्दों को लेकर जाना है इन बातों पर विस्तार से अपनी बात रखी। सांसद रमेश बैस ने मार्गदर्शन करते हुए कहा कि यह चुनाव देश का चुनाव है। ऐसे में हमें छोटी-मोटी बातों को नजरअंदाज करते हुए एकजुटता के साथ इस चुनावी समर में उतरना होगा। हमारी एकजुटता ही हमारी असली ताकत है। जनता ने भारतीय जनता पार्टी की राष्ट्रवादी विचारधारा अपना समर्थन दिया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कि विकास परके सोच से भी जनता प्रभावित है। साथ साथ राष्ट्रीय सुरक्षा का मुद्दा भी इस चुनाव में महत्वपूर्ण है। एक तरफ भारत के टुकड़े करने वालों के समर्थक हैं दूसरी तरफ अखंड भारत का सपना संजोए हुए हम भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ता। 23 अप्रैल तक हमें कमर कस कर चुनावी मैदान में डटे रहना है और ज्यादा से ज्यादा वोट कमल फूल में पड़े इसके लिए घर घर जाकर समर्थन जुटाना है।

08-04-2019
Exclusive : सांसद रमेश बैस और पूर्व मंत्री चंद्रशेखर साहू की गोपनीय बैठक से गरमाई भाजपा की राजनीति 

रायपुर। छत्तीसगढ़ में भाजपा के लिए लगभग सारी लोकसभा सीटों में चुनौतियां बनी हुई हैं। इसकी एक नहीं कई वजह हैंं, उसमें सबसे बड़ी वजह इस समय राज्य में कांगे्रस की सरकार होना है। कांगे्रस की सरकार के रहते भाजपा के लिए लोकसभा की सीट निकालना राजनीतिक गलियारों में चर्चा का विषय बना है। उसमें भी रायपुर लोकसभा सीट को लेकर हर दिन नए समीकरण सामने आ रहे हैं। इस सीट पर सबसे वोट फैक्टर पिछड़े वर्ग का है। इसी पिछड़े वर्ग के वोट को साधकर अब तक सात बार सांसद रहे रमेश बैस अपनी जीत दर्ज कराते रहे हैं, लेकिन इस बार टिकट नहीं मिलने से समर्थकों में नाराजगी है। भाजपा के लिए बिना बैस के पिछड़े वर्ग के वोटरों को साधना आसान नहीं होगा।

इसी बीच खबर आ रही  है कि रविवार की रात को पिछड़े वर्ग के वोटरों में पैठ रखने वाले दो बड़े नेताओं की गोपनीय बैठक हुई है। इस बैठक की खबर अब जैसे-जैसे भाजपा के बड़े नेताओं को लग रही है उससे नई हलचल दिखाई दे रही है। ये दो नेता कोई और नहीं सांसद रमेश बैस और पूर्व मंत्री चंद्रशेखर साहू हैं। सूत्रों  के अनुसार दोनों नेताओं के बीच लंबी बातचीत हुई है। इसमें पिछड़े वर्ग के वोटों को लेकर बात करना बताया जा रहा है। दोनों ही भाजपा के पुराने नेताओं में शामिल हैं और दोनों ही समाजिक वोटों में खासा दखल रखते हैं। ऐसे में दोनों नेताओं के बीच गोपनीय बैठक होना नए समीकरण को जन्म दे रहा है। फिलहाल भाजपा के अंदर की राजनीति गरम है और अब दोनों नेताओं को कैसे साधा जाए इसे लेकर बात होने लगी है। 

ग्रामीण क्षेत्रों में दोनों नेताओं का दखल 

सांसद रमेश बैस और पूर्व मंत्री चंद्रशेखर साहू का ग्रामीण इलाकों में खासा दखल है। दोनों ही नेताओं से भाजपा के बड़े नेताओं ने दूरियां सी बना रखी हैं। लेकिन इस बैठक के बाद अब जो हलचल हो रही है उसमें इन नेताओं को साधने की  कोशिश होने लगी है। 
पूर्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल की प्रतिष्ठा दांव पर 
भाजपा ने रायपुर लोकसभा सीट से पूर्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल के सबसे करीबी सुनील सोनी को टिकट दिया है। सोनी को शहरी नेताओं में गिना जाता है। उन्हें जीत के लिए पिछड़े वर्ग के और ग्रामीण इलाकों में दखल रखने वाले नेताओं को साधना होगा। रायपुर सीट पर यूं भी पूर्व मंत्री अग्रवाल की प्रतिष्ठा दांव पर लगी है। ऐसे में बैस और साहू की इस गोपनीय बैठक के कई मायने भी निकाले जा रहे हैं।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804