GLIBS
14-11-2019
मुख्यमंत्री ने बिरसामुण्डा की जयंती पर किया नमन 

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने महान आदिवासी नेता और स्वतंत्रता संग्राम सेनानी बिरसा मुंडा की जयंती पर उन्हें नमन किया है। मुख्यमंत्री ने अपने संदेश में कहा कि बिरसा मुण्डा आदिवासियों के जननायक थे। उन्होंने तत्कालीन ब्रिटिश साम्राज्य की नीतियों का विरोध किया और आदिवासियों के सामाजिक-आर्थिक उन्नति के लिए जीवन भर काम किया। उन्होंने आदिवासी समुदाय को जल, जंगल और जमीन के बारे में जागरूक किया और उन्हें अपने हक की लड़ाई लड़ने के लिए प्रेरणा दी। उनके क्रांतिकारी विचार और देश प्रेम की भावना आज भी लोगों को प्रेरित करती है।  
 

13-11-2019
चारागाह की जमीन पर अतिक्रमण, मुख्यमंत्री ने दिए जांच के निर्देश 

रायपुर।  मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने बुधवार को अपने निवास पर आयोजित जन -चौपाल, भेंट मुलाकात के कार्यक्रम में बेमेतरा जिले के बेरला तहसील के ग्राम गोड़गिरी में चारागाह की जमीन पर अतिक्रमण की शिकायत को गंभीरता से लिया है। उन्होंने जिला कलेक्टर को इस शिकायत की जांच कर अतिक्रमण हटाने की कार्यवाही तुरंत सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं। ग्रामीणों के प्रतिनिधि मंडल ने मुख्यमंत्री से मुलाकात कर उन्हें बताया कि गांव की चारागाह की जमीन पर अतिक्रमण होने की वजह से पशुओं के लिए गांव में चारागाह नहीं है, इससे ग्रामीणों को परेशानी हो रही है। गांव में दशहरा का त्योहार धूमधाम से मनाया जाता है, लेकिन दशहरा मैदान में भी अतिक्रमण हुआ है। इसी तरह गौठान की जमीन भी अतिक्रमण से अछूती नहीं है। मुख्यमंत्री ने जिला कलेक्टर को इन शिकायतों की जांच करके आवश्यक कार्रवाई के निर्देश जारी किए हैं।
जनचौपाल में जिला मुख्यालय मुंगेली के नवागढ़ रोड स्थित एक गार्डन के निर्माण में भी भ्रष्टाचार की शिकायत सामने आई। नगर वासियों ने मुख्यमंत्री को आवेदन देकर बताया कि इस गार्डन के निर्माण के लिए एक करोड़ 59 लाख रुपए की राशि मंजूर हुई थी। नगर पालिका परिषद द्वारा पूरी राशि आहरित कर ली गई लेकिन गार्डन का पूरा निर्माण कार्य नहीं कराया गया। वर्तमान में गार्डन खंडहर की स्थिति में है। मुख्यमंत्री ने इस शिकायत की जांच भी जिला कलेक्टर को करने के निर्देश जारी किए हैं

24-10-2019
दूसरे की जमीन अपनी बताकर तीन लोगों से 10 लाख की ठगी, चार आरोपी जेल दाखिल

रायपुर। राजधानी पुलिस ने आज जमीन की खरीद-बिक्री में फर्जीवाड़ा उजागर करते हुए चार आरोपियों को गिरफ्तार किया है। इन आरोपियों ने किसी दूसरे की जमीन को अपना बताकर और पंजीयन करा देने का झांसा देकर तीन लोगों सेे 10 लाख रुपए की ठगी की थी। जानकारी के मुताबिक बिलासपुर निवासी प्रार्थी जगदीश बंजारे ने 7 जनवरी को रायपुर के मौदहापारा थाने में आरोपी प्रमोद कुमार जोशी (32), रोशन कुमार जोशी (29), शुभम कुमार जोशी उर्फ छोटू (21) और मनीष कुमार जोशी (25) के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई थी कि उसे धोखा देकर इन लोगों ने 7 लाख रुपए की धोखाधड़ी की है। प्रार्थी ने बताया कि आरोपियों ने रायपुर स्थित किसी दूसरे की जमीन को  अपना प्लाट बताकर और 3-4 दिन में उसकी रजिस्ट्री करा देने की बात कहकर  7 लाख रुपए ले लिए। रुपए लेने के बाद जब रजिस्ट्री के लिए कहा गया गया तो वे टालते रहे और फिर बाद में रजिस्ट्री कराने से ही मना  कर दिया। पुलिस ने जब इस मामले की जांच की तो एक और खुलासा हुआ कि आरोपियों ने उसी जमीन को पवन कुमार वर्मा नामक व्यक्ति को दिखाकर 7 लाख और तुलसीराम धुर्वे नाम के व्यक्ति से भी 3 लाख रुपए हड़प ली है। चारों आरोपियों को गिरफ्तार कर पुलिस ने न्यायालय में पेश किया जहां से जेल दाखिल कर दिया गया है।   

 

14-10-2019
बैंक के पास गिरवी रखी जमीन को दूसरे को बेचकर की धोखाधड़ी, मामला दर्ज

रायपुर। बैंक में गिरवी रखी भूमि को बेचकर धोखाधड़ी किए जाने की रिपोर्ट गोल बाजार थाने में दर्ज की गई है।  जानकारी के अनुसार प्रबंधक एसबीआई बैक शाखा मोतीबाग रायपुर सुशील कुमार चौरे (48) पिता हिरामन  ने रिपोर्ट दर्ज करायी है कि एसबीआई बैंक शाखा गोल बाजार में विकास शर्मा पिता प्रमोद कुमार शर्मा निवासी 203 गोलछा अपार्टमेंट मारुति रेसीडेंस अमलीडीह न्यू राजेंद्र नगर निवासी ने एसबीआई बैंक से आर्गोनिक एग्रो मार्केटिंग के नाम पर बैंक से अपनी जमीन गिरवी रखकर पांच लाख रुपये का लोन लिया व लोन की रकम का किश्त नहीं पटाकर उक्त भूमि को लोन पटाए बिना ही बंधक  19.10.2010 को  राजेश कुमार पिता हरिहर प्रसाद को बेच दिया। घटना की रिपोर्ट पर न्यायालय द्वारा आरोपी के विरुद्ध अपराध किये जाने के तथ्य रिपोर्ट दर्ज कर अन्वेषण करने उपरांत अंतिम रिपोर्ट क्षेत्राधिकार के न्यायालय में प्रस्तुत करने के लिए निर्देशित किया गया है । जमीन को अन्य व्यक्ति को बिक्री कर धोखाधड़ी की है। आरोपी के खिलाफ  धारा 418,420,34  भादवि0 के तहत दण्डनीय पाये जाने से अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना मे लिया गया है।

 

07-10-2019
आधा मकान बनने के बाद टूटी एसईसीएल की नींद, रूकवाया काम...

कोरबा/बांकीमोंगरा। कोयला खनन और अन्य कामकाज के उद्देश्य से एसईसीएल की ओेर से ली गई जमीन के काफी हिस्से अब खाली है। बांकीमोंगरा में ऐसी जमीन पर कई लोगों की नजरें टिकी है। यहां अवैध निर्माण जोरों पर है। ऐसे कुछ मामलों में खबर मिलने के बाद कामकाज रूकवाया गया। यहां तक की पुलिस से भी लिखित शिकायत करायी गई। कोल इंडिया के लगभग सभी कंपनियों में हाल एक जैसा है। कालोनी के आवासों से लेकर कंपनी की जमीन पर कैसे कब्जा किया जाए, इस पर गैर कर्मियों और पूर्व कर्मियों का ध्यान है। चाहकर भी अधिकांश मामलों में अपेक्षित कार्रवाई नहीं हो पा रही है। कोरबा जिले के बांकी मोंगरा की एसईसीएल की कुछ खदानें बंद हो गई है। कर्मियों को अन्य परियोजनाओं में शिफ्ट किया गया है। छहःदशक पहले एनसीडीसी के समय में यहां खनन प्रारंभ हुआ।

बाद में कोल इंडिया के अस्तित्व में आने के बाद यह काम डब्लूसीएल और फिर एसईसीएल के जिम्मे आया। वर्तमान में यहां की काफी जमीन उपयोग में नहीं है, ऐसा दावा है। इस स्थिति का लाभ अतिक्रमणकर्ता ले रहे है। बांकीमोंगरा के विभागीय अतिथि गृह के पीछे की जमीन पर अवैध निर्माण बड़े स्तर पर कर लिया गया। यह जमीन कंपनी ने पूर्ववर्ती समय में पुरान सिंह से ली थी। अन्य मामलों में भी यही प्रक्रिया अपनाई गई। एसईसीएल को लीज आधार पर यह भूमि दी गई। अब जबकि जमीन की उपयोगिता समाप्त हो गई है, तब इसे लौटाने का काम लंबित है। इसका फायदा अन्य लोग ले रहे है और अवैध निर्माण करने पर उतारू है। जानकारी के मुताबिक गेस्ट हाउस से लेकर कई क्षेत्रों में इस तरह का काम धड़ल्ले से किया जा रहा है। इससे कंपनी को चपत लग रही है और उसे जवाब देते नहीं बन रहा है। ऐसे ही मामले को लेकर गजरा बस्ती राकेश कुमार ने उपक्षेत्रीय प्रबंधक को पत्र लिखकर जानकारी देते हुए कहा है कि किसानों को उनकी भूमि लौटाई जानी चाहिए। ऐसा होने पर किसान भूमि को उपयोगी बना सकेंगे।

इस मामले में सीएम/सुरक्षा प्रभारी विनय झा ने बताया कि गेस्ट हाउस के पीछे कंपनी की जमीन पर एक व्यक्ति द्वारा अवैध निर्माण किए जाने की खबर पर प्रबंधन ने प्राथमिक कार्रवाई की। वहां दिवाल और अन्य हिस्सों का निर्माण हो चुका था। छत ढालने का काम हमारी सक्रियता से रोका गया। इस बारे में बांकीमोंगरा पुलिस को लिखित शिकायत की गई है। साथ ही संबंधित व्यक्ति को खुद निर्माण तोडऩे को कहा गया है। अन्य स्थिति में प्रबंधन सीधे कार्रवाई करेगा।

 

01-09-2019
मैनपाट में होगी चाय की खेती, खाद्यमंत्री भगत ने जमीन का लिया जायजा 

रायपुर। छत्तीसगढ़ के सरगुजा जिले के मैनपाट में चाय की खेती होगी। मैनपाट जनपद के ग्राम ललया में चाय बगान के लिए पांच एकड़ निजी जमीन का चयन किया गया है। खाद्य मंत्री अमरजीत भगत ने अधिकारियों के साथ मैनपाट में चाय बगान के लिए चिन्हित जमीन का जायजा लिया। उन्होंने भू-स्वामी को चाय की खेती करने के लिए प्रेरित किया। भगत ने अधिकारियों को चिन्हित चाय बगान में पौधों की सुरक्षा के लिए तार फेंसिंग कराने, चिन्हित जमीन के समीप बहने वाले नाले में सोलरपंप लगाकर सिंचाई की व्यवस्था करने के निर्देश दिए। खाद्य मंत्री भगत ने मैनपाट के हाथी प्रभावित क्षेत्र ग्राम बरीमा के निवासियों से मुलाकात की और उनके समस्या से अवगत हुए। उन्होंने अधिकारियों को हाईमॉस्क टार्च देने तथा मुआवजा प्रकरण तैयार करने के निर्देश दिए। गांववासियों ने हाथियों द्वारा आलू की फसल को नुकसान पहुंचाने पर शासन द्वारा निर्धारित मुआवजा दर को बढ़ाने की मांग पर भगत ने शासन स्तर पर बढ़ाने के संबंध में विचार करने की बात कही।

 

 

20-08-2019
सीएम बघेल ने छात्रों के साथ जमीन पर बैठकर चखा मध्याह्न भोजन 

धमतरी। देश के पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की 75वें जन्म दिवस के अवसर पर नगरी विकासखण्ड के ग्राम दुगली में आयोजित ग्राम सुराज एवं वनाधिकार मड़ई तथा सद्भावना दिवस कार्यक्रम में आज प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने एक अरब 34 करोड़ 52 लाख रुपए के कुल 121 निर्माण कार्यों का लोकार्पण एवं भूमिपूजन किया। इसके पहले मुख्यमंत्री बघेल ने आदिम जाति विकास विभाग द्वारा संचालित शासकीय बालक आश्रम का घूमकर अवलोकन किया। यहां अध्ययनरत विद्यार्थियों ने उनका स्वागत गुलाब फूल भेंट कर किया। इस दौरान बताया गया कि पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के द्वारा 14 जुलाई 1985 को दुगली प्रवास के दौरान इसका अवलोकन किया गया। यह आश्रम भी उसी साल से संचालित है, जो कि जिले का सर्वप्रथम आवासीय आश्रम है। इसके उपरांत मुख्यमंत्री एवं अन्य वरिष्ठ मंत्रियों व अतिथियों ने आश्रम के विद्यार्थियों के साथ जमीन पर बैठकर भोजन किया। मुख्यमंत्री को अपने बीच पाकर तथा उनके साथ आम आदमी की भांति सहज ढंग से जमीन पर बैठकर भोजन ग्रहण करने पर विद्यार्थी गद्गद् हो गए। मध्याह्न भोजन के तौर पर मुख्यमंत्री एवं अन्य अतिथियों को दाल, चावल, रोटी के अलावा खेक्सी, आलू-बरबट्टी, लौकी की सब्जी परोसी गई। इस दौरान मुख्यमंत्री ने कक्षा चौथी के रौशन कमार, रविशंकर कमार तथा सूरज कमार से पूछा कि रोज ऐसा ही भोजन मिलता है, जिस पर बच्चों ने उत्तर दिया कि यहां प्रतिदिन मीनू के अनुसार स्वादिष्ट भोजन परोसा जाता है। खाना खाते समय उन्होंने बच्चों से उनके लक्ष्य के बारे में भी पूछा, तो किसी ने शिक्षक, किसी ने डॉक्टर और किसी ने इंजीनियर बनने की इच्छा प्रकट की।

 

18-08-2019
पाक अधिकृत कश्मीर में जमीन धंसी,  सात लोगों की मौत

नई दिल्ली। पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) में भारी बारिश के कारण जमीन धंसने से एक ही परिवार के सात लोगों की जान चली गई। मरने वालों में पांच बच्चे हैं। पुलिस अधिकारी राजा जुल्करनैन ने रविवार को बताया कि अजीरा गांव स्थित उनका मकान शनिवार को ढह गया था। दो अन्य मकान भी क्षतिग्रस्त हुए हैं। यह गांव रावल कोट जिले में नियंत्रण रेखा के पास स्थित है। जुल्करनैन ने बताया कि ग्रामीणों की मदद से बचाव दल ने शव बरामद किए। मानसून के दौरान भूस्खलन और अचानक बाढ़ के दौरान पाकिस्तान में ऐसे हादसे आम हैं। हर साल अनेक लोग इनमें मारे जाते हैं। 

 

 

14-08-2019
जमीन व सूखा पेड़ काटने के विवाद पर भाई की हत्या

सूरजपुर। ग्राम पकनी में सोमवार सुबह सूखे पेड़ काटने को लेकर हुए विवाद में एक युवक की हत्या के मामले पर सनसनी फैली हुई थी। उक्त घटना में जांच में जुटी पुलिस टीम ने एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। उक्त घटना चेंद्रा पुलिस चौकी क्षेत्र अंतर्गत आने वाले ग्राम पकनी की है। यहां के करमचंद राजवाड़े ने रिपोर्ट दर्ज कराई कि उसके छोटे भाई छऊवा राजवाड़े सुबह हल लेकर खेत जुताई के लिए निकला था जिसकी हत्या किसी ने धारदार हथियार से कर दीहै । सूचना मिलते ही घटना की जांच में जुटी पुलिस के सामने यह जानकारी आई कि मृतक छऊवा का उसके सगे भाई रामरतन राजवाड़े के साथ जमीन संबंधी विवाद चल रहा था। इसके अलावा हाल में ही पुराने सूखे आम  पेड़ को काटकर अपने घर ले गया था। इस वजह से भी दोनों के बीच विवाद हुआ था। इसकी शिकायत मृतक ने पुलिस से की थी। इन सभी घटनाओं से आक्रोशित आरोपी रामरतन राजवाड़े ने तलवार लेकर छऊवा राम के गले एवं सिर पर लगातार प्रहार कर दिया इससे उसकी घटना स्थल पर ही मौत हो गई।  सख्ती से पूछताछ करने पर आरोपी ने हत्या करना कबूल कर लिया। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। इस कार्रवाई में चौकी प्रभारी दीपक साहू, एएसआई मिरे, सुशील मिश्रा, पूरन राजवाड़े, पवन सिंह, संतोष जायसवाल, मनोज जायसवाल सहित अन्य सक्रिय रहे।

 

09-08-2019
हर गरीब को, जो जहां काबिज है, दिया जाएगा जमीन का पट्टा-राजस्व मंत्री जयसिंह अग्रवाल

कोरबा। प्रदेश के राजस्व, आपदा प्रबंधन, पुनर्वास, वाणिज्यिक कर (मुद्रांक एवं पंजीयन) मंत्री जयसिंह अग्रवाल ने शुक्रवार को कहा है कि हर उस गरीब व्यक्ति को जो जहां पर काबिज है तथा घर बनाकर रह रहा है, उसे पट्टा दिया जाएगा एवं जिसके पास पूर्व से पट्टा है, उसे उसका मालिकाना हक मिलेगा। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार गरीबों, मजदूरों, किसानों, मरूरतमंदों तथा समाज के सभी वर्गो के हितों की रक्षा के लिए पूर्ण रूप से प्रतिबद्ध है।  
उक्त बातें राजस्व मंत्री जयसिंह अग्रवाल ने नगर पालिक निगम कोरबा के विभिन्न विकास कार्यो के भूमिपूजन हेतु आयोजित भूमिपूजन कार्यक्रम के दौरान कही। नगर पालिक निगम कोरबा द्वारा 38 लाख 96 हजार रूपये की लागत से दर्री रोड अग्रसेन तिराहा का विकास कार्य कराया जाना हैं। इसी प्रकार वार्ड क्र.3 राताखार अंतर्गत 19 लाख 76 हजार रूपये की लागत से लोचन घर से टावर एवं धनजी घर से मंगलू घर तक सीसी रोड का निर्माण, वार्ड क्र. 3 राताखार के अंतर्गत ही 19 लाख 87 हजार रूपये की लागत से राजनारायण भट्ठा से सोसायटी तक एवं खान मोहल्ला में रोड चौड़ीकरण कार्य, वार्ड क्र. 3 राताखार अंतर्गत 32 लाख 92 हजार रूपये की लागत से खान मोहल्ला से आंगनबाड़ी कलवर्ट तक आर.सी.सी.नाली निर्माण एवं वार्ड क्र.3 राताखार अंतर्गत विभिन्न गलियों में 24 लाख 73 हजार रूपये की लागत से सी.सी. रोड का निर्माण कराया जाना हैं। इसी प्रकार वार्ड क्र.2 गेरवाघाट में 30 लाख 97 हजार रूपये की लागत से आर.सी.सी.नाली एवं सी.सी. रोड का निर्माण, वार्ड क्र. 14 अंतर्गत नहर के किनारे 29 लाख रूपये की लागत से आर.सी.सी.नाला का निर्माण, वार्ड क्र. 14 अंतर्गत मैगजीनभांठा में 18 लाख 12 हजार रूपये की लागत से सी.सी. रोड एवं आर.सी.सी. नाली का निर्माण तथा वार्ड क्र. 14 के अंतर्गत ही मैंगजीनभांठा में चर्च के पास 17 लाख 14 हजार रूपये की लागत से आर.सी.सी. नाली का निर्माण भी निगम द्वारा कराया जाना हैं। आज विभिन्न वार्डो में राजस्व मंत्री जयसिंह अग्रवाल के मुख्य आतिथ्य तथा महापौर रेणु अग्रवाल की अध्यक्षता में आयोजित भूमिपूजन कार्यक्रम के दौरान इन सभी विकास कार्यो का भूमिपूजन उनके करकमलों से सम्पन्न हुआ।
 
कोरबा निगम क्षेत्र समस्याविहीन होने के नजदीक

राजस्व मंत्री जयसिंह अग्रवाल ने विभिन्न वार्डो में आयोजित भूमिपूजन कार्यक्रम के दौरान दिए गए उद्बोधन में आगे कहा कि महापौर रेणु अग्रवाल के विगत साढे़ 4 वर्षो के कार्यकाल के दौरान किए गए कार्यो की बदौलत नगर पालिक निगम कोरबा क्षेत्र समस्याविहीन क्षेत्र होने के नजदीक पहुंच चुका है तथा निगम क्षेत्र की समस्याएं लगभग समाप्ति की ओर है। उन्होने कहा कि कोरबा शहर बालको क्षेत्र सहित सम्पूर्ण कोरबा पूर्वी क्षेत्र की पेयजल समस्या का सम्पूर्ण समाधान कर लिया गया है, वहीं कोरबा पश्चिम क्षेत्र के 25 वार्डो की पेयजल समस्या के दीर्घकालिक समाधान हेतु पेयजल आवर्धन योजना भाग-2 का कार्य अंतिम चरण में है, शीघ्र ही इस योजना का लोकार्पण प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के द्वारा कराया जाएगा। उन्होंने आगे कहा कि निगम क्षेत्र के सभी विद्युतविहीन बस्तियों, पारों, मोहल्लों एवं गली-गली में स्ट्रीट लाईट व घर-घर में बिजली जैसी आवश्यक सुविधा पहुंचा दी गई है। सड़क, नाली, सामुदायिक भवन, मंच सहित विभिन्न सुविधाओं से संबंधित कार्य व्यापक रूप से कराए गए हैं, जो अभी भी निरंतर जारी हैं। 
भूमिपूजन कार्यक्रमों के दौरान निगम के सभापति धुरपाल सिंह कंवर, जिला कांग्रेस कमेटी के शहर अध्यक्ष राजकिशोर प्रसाद, एम.आई.सी.सदस्य दिनेश सोनी, रामगोपाल यादव, मनकराम साहू, देवीदयाल सोनी, सीताराम चैहान, पार्षद रवि महाराज, रविसिंह चंदेल, विकास अग्रवाल, महेन्द्र सिंह चौहान, जिला पंचायत के उपाध्यक्ष अजय जायसवाल, जिला उद्योग संघ के अध्यक्ष श्रीकांत बुधिया, अग्रवाल सभा के अध्यक्ष राजकुमार अग्रवाल, श्यामसुंदर सोनी, पूर्व पार्षद महेश अग्रवाल, देवी प्रसाद केडिया, वरिष्ठ कांग्रेस नेत्री कुसुम द्विवेदी, सपना चैहान, गीता गभेल, उमा बंसल, जयराम बंसल, एस.मूर्ति, राजेन्द्र सिंह ठाकुर, संतोष लांझेकर, राजकुमार अग्रवाल श्वेता, सुभाष अग्रवाल, मोहनलाल अग्रवाल, गोपाल केडिया, राजकुमार सोनी, राजकुमार मोदी, संतसेवक गुप्ता, मुर्तजा अंसारी, रफीक अहमद, चन्द्रशेखर पाण्डेय, मोहन चन्द्रा आदि के साथ काफी संख्या में नागरिकगण उपस्थित थे। 

 

09-08-2019
हमारी सरकार ने आदिवासियों की जमीन बचाने का काम किया : मुख्यमंत्री भूपेश बघेल

रायपुर। विश्व आदिवासी दिवस पर राजधानी रायपुर में कार्यक्रम के बाद मीडिया से मुखातिब होकर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि छत्तीसगढ़ सरकार ने विश्व आदिवासी दिवस पर शासकीय अवकाश घोषित किया है, जिससे राज्य में खुशी की लहर है। राजधानी स्थित इंडोर स्टेडियम में बड़ा आयोजन सरकार की ओर से किया गया। प्रदेश के अन्य जिलों में भी इस प्रकार के आयोजन किए गए हैं। जहां तक सरकार की बात है प्रदेश में आदिवासियों की जमीन बचाने का काम, उनको पट्टा देने का काम, तेंदूपत्ता खरीदी में मूल्य वृद्धि की गई है, कुपोषण के खिलाफ जंग लडऩे का ऐलान किया गया है। 2 अक्टूबर तक आकांक्षी जिलों में कुपोषित बच्चों, माताओं को गर्म भोजन देने का फैसला किया है, आगे इन आकांक्षी जिलों का विस्तार किया जाएगा। जाति प्रमाणपत्र के संबंध में मुख्यमंत्री ने कहा कि अब तक लोग जाति प्रमाण पत्र के लिए भटकते थे लोगों को अब जन्म के साथ ही जाति प्रमाण पत्र दे दिया जाएगा। जाति प्रमाण पत्र बनाने में बहुत परेशानी होती है इसमें सरलीकरण करने के लिए वरिष्ठ विधायक रामपुकार सिंह की अध्यक्षता में एक कमेटी बनाई गई है। जैसे ही रिपोर्ट मिलेगी समीक्षा कर निर्णय लिया जाएगा। फर्जी जाति प्रमाण पत्र के आधार पर जो लोग नौकरी कर रहे हैं इस संबंध में एक महीने के अंदर जांच कर निराकरण करने का निर्देश दिया गया है।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने इस अवसर पर समारोह में आदिवासी समाज के प्रतिभावान छात्र-छात्राओं का सम्मान किया। उन्होंने देश के विभिन्न आईआईटी, एनआईटी मेडिकल कॉलेज में अध्ययनरत 51 छात्रों को लैपटॉप प्रदान किया। मुख्यमंत्री बघेल ने समारोह में युवा कैरियर निर्माण योजनांतर्गत विभिन्न शासकीय सेवाओं में चयनित प्रतिभागियों को स्मृति चिन्ह प्रदान कर उन्हें सम्मानित किया। इस मौके पर गरियाबंद, कांकेर, जशपुर के सांस्कृतिक दलों ने मनमोहक प्रस्तुति दी। कार्यक्रम में आदिवासी समाज के लोगों को अपनी सभ्यता-संस्कृति के संरक्षण के लिए संकल्प भी लिया। मुख्यमंत्री जब विद्यार्थियों को लैपटॉप और प्रमाण पत्र प्रदान कर सम्मानित कर रहे थे तभी एक छात्रा ने उनके साथ सेल्फी लेने का आग्रह किया। मुख्यमंत्री ने छात्रा के हाथ से मोबाइल लेकर उनके साथ सेल्फी लेकर उत्साहवर्धन किया। मुख्यमंत्री ने समारोह में एकलव्य आदर्श आवासीय विद्यालय के राष्ट्रीय स्तर स्वर्ण, कास्य पदक 7 विजेता-प्रतिभागियों को सम्मानित किया। खेल के क्षेत्र में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले विद्यार्थियों को सम्मानित किया गया। इसी प्रकार विभागीय योजनाओं से मेरिट में स्थान प्राप्त करने वाले विद्यार्थियों, पी.एच.डी. के शोध विद्यार्थी, आदर्श अधीक्षक तथा अंत्यावसायी विभाग की योजनाओं में हितग्राहियों को सामग्री का वितरण किया गया। कार्यक्रम में आदिवासी विकास विभाग द्वारा विश्वविद्यालयों एवं संस्थाओं के प्रतिभागी छात्रों को सम्मानित कर पुरस्कृत किया गया।

 

22-07-2019
श्मशान घाट की जमीन दे दी दीगर समाज को,  आंदोलन पर अड़ा सर्व हिंदू समाज

सूरजपुर।  हिन्दू मुक्तिधाम में ईसाई समुदाय को कब्रिस्तान के लिए भूमि आबंटन के मामले में सर्व हिन्दू समाज के बैनर तले हुई बैठक व प्रदर्शन के बाद आज कलेक्टर से सर्व हिन्दू समाज के प्रतिनिधि मण्डल ने मुलाकात कर  आबंटन निरस्त करने की मांग की। कलेक्टर ने तत्काल मामले का शीघ्र निराकरण करने का आश्वासन दिया। कलेक्टर के आश्वासन पर नगर बंद सहित अन्य आन्दोलन सर्व हिन्दू समाज ने स्थगित कर दिया है। जानकारी के अनुसार नगर से लगे ग्राम नमदगिरी में हिन्दू मुक्ति धाम के लिए लगभग 11 एकड़ भूमि शासन द्वारा आबंटित की गई थी। उसी भूमि में से ही शासन द्वारा गोपनीय तरीके से 2 एकड़ भूमि ईसाई समुदाय के लिए आबंटित कर दी गई और इसके बाद शासन ने ईसाई समुदाय के कब्रिस्तान के लिए 20 लाख रुपए स्वीकृत कर चारदीवारी निर्माण का कार्य ग्राम पंचायत नमदगिरी को दिया। चारदीवारी निर्माण का हिन्दू समाज को पता चला तो विरोध प्रारम्भ हो गया। गत दो दिनों से पुन: निर्माण प्रारम्भ होने से सर्व हिन्दू समाजने उग्र प्रदर्शन किया व एक बैठक आयोजित कर प्रशासन से बातचीत करने के बाद सकारात्मक परिणाम नहीं मिलने पर चरणबद्ध तरीके से आन्दोलन करने रणनीति बनाई गई। आज सर्व हिन्दू समाज के प्रतिनिधिमण्डल ने कलेक्टर दीपक सोनी से मुलाकात की। कलेक्टर ने तत्काल उच्चाधिकारियों के नेतृत्व में टीम गठित कर शीघ्र कार्यवाही का आश्वासन दिया। प्रशासनिक कार्यवाही तत्काल व सकारात्मक नहीं होने पर पुन: चरणबद्ध आन्दोलन  करने की बात कही गई है।

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804