GLIBS
08-02-2020
राष्ट्रीय सेवा योजना राष्ट्र निर्माण में सहायक : आलोक सिंह

कोरिया। प्राथमिक शाला नमना में कन्या उमा विद्यालय और बालक विद्यालय प्रेमनगर में राष्ट्रीय सेवा योजना का शिविर हुआ। इसमें 'राष्ट्र निर्माण में एनएसएस की भूमिका' पर बौद्धिक चर्चा हुई। शिविर में मुख्यअतिथि विकासखंड शिक्षा अधिकारी आलोक सिंह थे। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय सेवा योजना का ध्येय वाक्य है'मैं नहीं आप' जिसके माध्यम से स्वयंसेवक प्रजातांत्रिक ढंग से निःस्वार्थ सेवा की आवश्यकता का समर्थन करता है। उन्होंने कहा कि हमें सभी मनुष्यों के कल्याण के लिए कार्य करना चाहिए ताकि मानवता की सेवा की जा सके। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय सेवा योजना राष्ट्र निर्माण में सहायक है। बौद्धिक चर्चा में व्याख्याता विपिन पाण्डेय ने स्वयंसेवकों को जीवन कौशल प्रविधियों के माध्यम से समाज में सकारात्मक योगदान देने के तरीकों से बताया। बौद्धिक चर्चा को आगे व्याख्याता कृष्ण कुमार ध्रुव ने एनएसएस में अपना अनुभव को संबोधित करते हुए कहा की राष्ट्रीय सेवा योजना देश का एकमात्र ऐसा संगठन है, जो सामुदायिक सहभागिता के माध्यम से समाज कल्याण कार्यों को प्रोत्साहित करता है।

यह संगठन विद्यार्थियों के लिए महात्मा गाँधी व स्वामी विवेकानंद के विचारों से अनुप्रमाणित हो सामाजिक कल्याण की भावना को विकसित करता है। राष्ट्रीय सेवा योजना के प्रभारी आरबी सिंह और ललित रात्रे ने कहा की 24 सितम्बर 1969 को राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की जन्मशताब्दी से राष्ट्रीय सेवा योजना का कारवां प्रारंभ हुआ है। वर्तमान में पूरे देश में 40 लाख से ज्यादा स्वयंसेवक सामुदायिक विकास के कार्यों में लगे हैं। उन्होंने स्वयंसेवकों को एनएसएस के अखिल भारतीय स्वरुप,स्थापना के इतिहास, स्वयंसेवकों के लिए आयोजित होने वाले कार्यक्रमों,पुरस्कार सहित उनके दायित्वों और कर्तव्यों आदि के विषय में भी विस्तार से अवगत कराया साथ ही उनसे राष्ट्र निर्माण में अपना योगदान देने का आह्वान किया। बौद्धिक चर्चा की अध्यक्षता करते हुए आई.अंसारी ने स्वयंसेवकों ने आह्वान किया की समाज की भलाई के लिए उनके द्वारा उठाया गया एक भी सकारात्मक कदम देश का रचनात्मक निर्माण करेगा। प्रेमनगर विकास खण्ड परियोजना अधिकारी रमेश जायसवाल ने स्वच्छता के लिए युवाओं को संदेश दिया। इस कार्यक्रम में शिविर प्रभारी रामबरन सिंह, ललित रात्रे,रमेश प्रसाद साहू,कार्यक्रम सहायक विनोद कुमार रावत,धर्मेन्द्र सिंह सिंगरौल, कुंती सिंह,एनएसएस के सभी छात्र छात्राएं एवं नमना ग्रामवासी उपस्थित थे।

 

31-01-2020
नरेंद्र मोदी का बयान, कहा-सीएए पर हमने कुछ गलत नहीं किया,रक्षात्मक होने की जरूरत नहीं

नई दिल्ली। संसद में हुई एनडीए की बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नागरिकता कानून को लेकर बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि नागरिकता कानून पर हमने कुछ गलत नहीं किया, हमें फ्रंट फुट पर रहना चाहिए। रक्षात्मक होने की कोई जरूरत नहीं है। इसके साथ ही पीएम मोदी ने कहा कि मुस्लिम भी इस देश के उतने ही नागरिक हैं, जितने बाक़ी लोग हैं। उनका भी उतना ही हक और कर्तव्य है जितना बाकी नागरिकों का है। एनडीए बैठक में सर्वसम्मति से एक प्रस्ताव पारित किया गया। प्रस्ताव में पीएम मोदी के नेतृत्व में फिर से विश्वास जताते हुए कहा गया कि एनडीए चट्टान की तरह उनके पीछे खड़ा है। प्रस्ताव में कहा गया कि नागरिकता कानून के ज़रिए महात्मा गांधी के सपने को साकार किया गया। इस प्रस्ताव को केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान ने पेश किया था। प्रस्ताव में बोडो समझौता, धारा 370, नागरिकता कानून और करतारपुर का ज़िक्र किया गया।

बता दें कि नागरिकता कानून को लेकर बीते दिनों में भाजपा ने जनसंपर्क अभियान चलाया। देशभर में बीजेपी के नेताओं ने जनता से संपर्क स्थापित किया और ये समझाने की कोशिश की कि सीएए नागरिकता देने का कानून है, इसमें किसी की भी नागरिकता लेने का प्रावधान नहीं है। खुद अमित शाह गृहमंत्री ने कई रैलियों को संबोधित किया। उन्होंने विपक्ष को इस कानून पर बहस करने की चुनौती दी। दिल्ली चुनाव में भी इस मुद्दे को भुनाने की कोशिश हो रही है।
वहीं विपक्ष इस कानून को संविधान के खिलाफ बताकर सरकार को घेर रही है। देश के कई हिस्सों में इसको लेकर अभी भी विरोध प्रदर्शन जारी है। खासकर दिल्ली का शाहीन बाग सुर्खियों में है जहां एक महीने ज्यादा समय से नागरिकता कानून के खिलाफ विरोध प्रदर्शन जारी है। जैसे जैसे समय बीत रहा है दिल्ली के शाहीन बाग का प्रदर्शन भी चुनाव का मुद्दा बनता जा रहा है। 

31-01-2020
दिल्ली का गोली कांड नफरत फैलाने की राजनीति का परिणाम : त्रिवेदी

रायपुर। महात्मा गांधी की समाधि राजघाट जा रहे प्रदर्शनकारियों पर गोली चलाने की प्रदेश कांग्रेस के महामंत्री एवं संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने निंदा की है। त्रिवेदी ने कहा कि 30 जनवरी के दिन नाथूराम गोड़से ने महात्मा गांधी की हत्या की थी। फिर से दिल्ली में निहत्थे प्रदर्शनकारियों पर गोड़से की ही विचारधारा से ताल्लुक रखने वालों ने गोली चलाई है। यह विचारधारा लगातार धर्म से धर्म को लड़ाने में ही लगी रही। आज भी देश में परस्पर सद्भाव और भाईचारे को नुकसान पहुंचाने में यही लोग लगे हैं। त्रिवेदी ने कहा कि नफरत फैलाने की राजनीति देशहित में नहीं है। बेरोजगारी मंहगाई आर्थिकमंदी से ध्यान हटाने के लिये जबरिया नागरिकता कानून लाकर भाजपा ने चाल चली है। दिल्ली पुलिस की उपस्थिति में शांतिपूर्ण तरीके से महात्मा गांधी की समाधि राजघाट जा रहे निहत्थे प्रदर्शनकारियों पर गोली चलाने की घटना से सब कुछ आइने की तरह साफ हो गया है। भाजपा के अनुराग ठाकुर पहले ही गोलीमारो ही कह चुके है। यह गोली कांड देश भर में फैलाई जा रही नफरत का नतीजा है। ऐसी नफरत भड़का कर और भाई को भाई से लड़ाकर राजनैतिक लाभ प्राप्त किया जा सकता है लेकिन ऐसी राजनीति देश हित में नहीं है।

 

30-01-2020
सीएए प्रदर्शनः जामिया में एक युवक ने प्रदर्शन के दौरान चलाई गोली, कहा- दूंगा आजादी

नई दिल्ली। जामिया से राजघाट तक नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ छात्रों ने महात्मा गांधी की पुण्यतिथि पर मार्च निकाला है। इस मार्च के दौरान उस वक्त हड़कंप मच गया जब एक युवक ने प्रदर्शन के दौरान गोली चला दी, जिससे एक प्रदर्शनकारी घायल हो गया है। वहीं पुलिस ने गोली चलाने वाले युवक को गिरफ्तार कर लिया। आरोपी की पहचान गोपाल के रूप में हुई है। पुलिस उससे पूछताछ कर रही है और इस बात की जानकारी कर रही है कि वह प्रदर्शन के दौरान हथियार लेकर क्यों आया था। वहीं जो छात्र हमले में घायल हुआ है उसकी पहचान जामिया के मास कॉम के छात्र शादाब आलम के रूप में हुई है। एक चश्मदीद ने घटना का ब्योरा देते हुए कहा कि हमारा मार्च चल रहा था कि एक युवक अचानक दूसरी दिशा से सामने आया और हवा में पिस्तौल लहराते हुए बोला कि आओ मैं तुम्हें आजादी देता हूं और फिर उसने गोली चला दी।

पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है और उससे पूछताछ कर रही है। इससे पहले दिल्ली पुलिस ने जामिया से राजघाट तक मार्च करने की अनुमति नहीं दी थी। इसके बाद भी स्थानीय लोग प्रदर्शन करने के लिए सड़कों पर उतर गए।

30-01-2020
वायनाड रैली : राहुल गांधी का आपत्तिजनक बयान, गोडसे से की नरेंद्र मोदी की तुलना

नई दिल्ली। राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तुलना महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे से की है। राहुल गांधी ने वायनाड रैली में कहा कि नाथूराम गोडसे और नरेन्द्र मोदी की विचारधारा एक ही है। राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर हमला बोलते हुए कहा कि वह भारतीयों से भारतीय होने का सबूत मांग रहे हैं। बता दें कि राहुल गांधी गुरुवार को वायनाड में 'संविधान बचाओ' मार्च की अगुवाई करते हुए संबोधित कर रहे थे। इससे पहले राहुल इसी हफ्ते जयपुर में भी रैली को संबोधित कर चुके हैं।

राहुल गांधी ने केरल के कलपेट्टा में एक सभा को संबोधित करते हुए कहा कि नाथूराम गोडसे ने महात्मा कांगधी को सिर्फ इसलिए मारा क्योंकि उसे खुद पर ही विश्वास नहीं था। उसे किसी से प्यार नहीं था,उसे किसी से सरोकार नहीं था, उसे किसी में विश्वास नहीं था। अब यही हाल प्रधानमंत्री का है, वे सिर्फ खुद से प्यार करते हैं, केवल खुद पर ही विश्वास करते हैं। नरेंद्र मोदी में यह कहने की हिम्मत नहीं है कि वह गोडसे में विश्वास करते हैं।

30-01-2020
स्वरा भास्कर का ट्वीट हो रहा वायरल,कही यह बात.....

 

मुंबई। महात्मा गांधी की पुण्यतिथि पर बॉलीवुड एक्ट्रेस स्वरा भास्कर ने ट्वीट किया है, जो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है। अपने ट्वीट में स्वरा भास्कर ने महात्मा गांधी की एक पेंटिंग भी शेयर की है, जिसमें महात्मा गांधी को गोली लगी नजर आ रही है। जहां उनके चारों और बैठे लोग रोते नजर आ रहे हैं। इस पेंटिंग को शेयर करते हुए स्वरा भास्कर ने लिखा, "जिस विचारधारा ने महात्मा गांधी की हत्या की, वह आज भी हमारे बीच है। गांधी को मारने वाली विचारधारा आज भी हमारे बीच जीवित है। 

30-01-2020
सीएए के विरोध में दिल्ली में बड़े प्रदर्शन की तैयारी, जामिया से राजघाट तक निकलेगा मार्च

नई दिल्‍ली। नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ गुरुवार को बड़ा प्रदर्शन होने वाला है। सीएए और एनआरसी के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे प्रदर्शनकारी महात्मा गांधी की समाधि राजघाट पर मानव श्रृंखला बनाएंगे। इसके साथ ही जामिया से राजघाट तक मार्च भी निकाला जाएगा। हालांकि, दिल्ली पुलिस की ओर से अभी तक ऐसे किसी भी कार्यक्रम की अनुमति नहीं दी गई है। हालांकि, पुलिस ने सभी को बस से राजघाट जाने का ऑप्शन दिया है। जानकारी के मुताबिक जन एकता जन अधिकार आंदोलन की अगुवाई में करीब 109 संगठन शांति वन से राजघाट तक मार्च निकालेंगे। हनुमान मंदिर, लाल किला, जामा मस्जिद और दिल्ली गेट होते हुए यह मार्च निकाला जाएगा। इस विरोध मार्च के साथ ही 60 छात्र संघ गुरुवार को राजघाट तक मानव श्रृंखला बनाएंगे। यह श्रृंखला शाम 5.10 बजे से शाम 5.17 बजे तक बनाई जाएगी। इसी वक्त में राष्ट्रपिता की हत्या कर दी गई थी। वहीं यशवंत सिन्हा की गांधी शांति यात्रा भी गुरुवार को ही राजघाट पर संपन्न होगी।

 

30-01-2020
राजीव भवन में महात्मा गांधी को दी गई श्रद्धांजलि

रायपुर। महात्मा गांधी की पुण्यतिथि पर गुरुवार को प्रदेश कांग्रेस कार्यालय राजीव भवन में श्रद्धांजलि कार्यक्रम हुआ। प्रदेश कांग्रेस पदाधिकारियों ने महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि दी गई। इस अवसर पर कांग्रेस महामंत्री और संचार विभाग अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी, प्रदेश महामंत्री गिरीश देवांगन, राजेन्द्र तिवारी, साक्षी सिरमौर सहित अन्य पदाधिकारियों ने पुष्प अर्पित कर श्रद्धांजलि दी। कांग्रेस की ओर से आज प्रदेश के सभी जिलों में महात्मा गांधी की पुण्यतिथि पर विभिन्न आयोजन किए जा रहे हैं।

30-01-2020
बापू की हत्या करने वालों का पर्दाफाश करना है : गिरीश देवांगन

रायपुर। महात्मा गांधी की पुण्य तिथि 30 जनवरी को कांग्रेस पार्टी साम्प्रदायिक सद्भाव और सर्वधर्म समभाव के रूप में मना रही है। प्रदेश कांग्रेस के प्रभारी महामंत्री गिरीश देवांगन ने कहा कि गुरुवार को हमारे देश में कुछ संगठित गिरोह राष्ट्रीय एकता का विध्वंस करने में जुटे हुए हैं। महात्मा गांधी की 30 जनवरी 1948 को साम्प्रदायिक ताकतों के हाथों क्रूर हत्या कर दी गई थी। इस बलिदान दिवस पर हमें बापू के साम्प्रदायिक एवं सर्वधर्म-समभाव के संदेश को घर-घर तक पहुंचाना है तथा उन तत्वों का पदार्फाश करना है, जिन्होंने बापू की हत्या की और आज भी साम्प्रदायिक सद्भाव एवं सर्वधर्म-समभाव को निरंतर नष्ट करने का प्रयास कर रहे हैं। गिरीश देवांगन ने कहा कि राष्ट्रपिता का बलिदान दिवस 30 जनवरी कांग्रेस पार्टी साम्प्रदायिक सद्भाव तथा सर्वधर्म समभाव के रूप में मनाएगी। उन्होंने बताया कि कांग्रेस संगठन के जिला, शहर, नगर, ब्लाक मुख्यालयों पर दिनांक 30 जनवरी को महात्मा गांधी की प्रतिमा पर विनम्र श्रद्धांजली अर्पित की जायेगी। मोहल्लों में साफ-सफाई तथा स्थानीय आवश्यकतानुसार अन्य कार्यक्रम होंगे। महात्मा गांधी के जीवन विचार और संदेश को नई पीढ़ी तक संपूर्णता और गहराई से पहुंचाने के लिये कार्यक्रम होंगे।

30-01-2020
कैबिनेट की बैठक में महात्मा गांधी को दी गई श्रद्धांजलि

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की अध्यक्षता में आज गुरुवार को मुख्यमंत्री निवास में मंत्रिपरिषद की बैठक शुरू हुई। बैठक शुरु होने के पहले राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के शहादत दिवस पर दो मिनट का मौन धारण कर उन्हें तथा अन्य शहीदों को श्रंद्धाजलि दी गई। स्वतंत्रता आंदोलन में शहीदों के योगदान का स्मरण किया गया। इस अवसर पर मंत्री टीएस सिंहदेव, मंत्री ताम्रध्वज साहू, मंत्री मोहम्मद अकबर, मंत्री जयसिंह अग्रवाल, अमरजीत भगत, रविन्द्र चौबे, मंत्री डॉ प्रेमसाय सिंह टेकाम भी मौजूद रहे।

30-01-2020
नरेंद्र मोदी, सोनिया गाँधी ने दी राजघाट पर बापू को श्रद्धांजलि

नई दिल्ली। महात्मा गांधी की पुण्यतिथि पर आज पूरा देश नमन कर रहा है। बापू की पुण्यतिथि पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राजघाट पहुंच कर उन्हें श्रद्धांजलि दी। साथ ही दिल्ली में कांग्रेस अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने राजघाट पर महात्मा गांधी को उनकी पुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि अर्पित की और ट्वीट कर लिखा कि महात्मा गांधी की पुण्यतिथि पर हम उनके और अनगिनत अन्य बहादुर भारतीयों के बलिदानों का सम्मान करने के लिए शहीद दिवस मनाते हैं।  रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, पूर्व उपप्रधानमंत्री लालकृष्ण आडवाणी ने श्रद्धांजलि दी। साथ ही चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत, आर्मी चीफ जनरल एम.एम. नरावने, नेवी चीफ एडमिरल करमबीर सिंह, और आईएएफ चीफ एयर चीफ मार्शल आर.के.एस. भदौरिया ने राजघाट पर महात्मा गांधी की पुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि दी। इस मौके पर राजधाट पर प्रार्थना सभा का आयोजन किया गया।

29-01-2020
सीएम की पाठशाला में भूपेश बघेल ने कहा, धरना-प्रदर्शन, हड़ताल में बंद नहीं होंगे स्कूल-कॉलेज

रायपुर। राजधानी रायपुर के विभिन्न स्कूलों के बच्चों ने बुधवार को सीएम की पाठशाला कार्यक्रम में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से सफलता, शिक्षा, सफल लीडर, गुणवत्तापूर्ण तकनीकी शिक्षा,परीक्षा के डर से उबरने जैसे विषयों पर रोचक सवाल पूछे। मुख्यमंत्री ने रोचक शैली और सहज-सरल भाषा में विद्यार्थियों के प्रश्नों के जवाब दिए। कार्यक्रम की समाप्ति के बाद भी छात्र-छात्राओं में मुख्यमंत्री से प्रश्न पूछने की होड़ लगी रही। मुख्यमंत्री ने विद्यार्थियों से कहा कि आप लोगों में सवाल पूछने की उत्सुकता है। यह जानकर मुझे अच्छा लगा। सवाल पूछने से ही व्यक्ति का विकास होता है। विद्यार्थियों को चाहिए कि जब तक उनके प्रश्न का जवाब ना मिल जाए तब तक कोशिश करते रहें।

कार्यक्रम में एक छात्र ने मुख्यमंत्री से पूछा कि रायपुर में धरना, प्रदर्शन और बंद के दौरान स्कूलों में व्यवधान न हो। इसके लिए सरकार ने क्या व्यवस्था की है? मुख्यमंत्री ने बताया कि जिला प्रशासन को निर्देश दिए गए हैं कि धरना,प्रदर्शन और हड़ताल के दौरान स्कूल-कॉलेजों में पढ़ाई में व्यवधान नहीं आए और विद्यार्थियों को असुविधा न हो। जबरदस्ती स्कूल-कॉलेज बंद कराने वालों के विरूद्ध कड़ी कार्रवाई की जाएगी। एक छात्रा के प्रश्न के जवाब में मुख्यमंत्री ने कहा कि शासकीय स्कूलों के साथ-साथ निजी स्कूलों के विद्यार्थियों को जिला स्तर पर आयोजित होने वाली खेल-कूद प्रतियोगिताओं में शामिल होने का अवसर मिलेगा। मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि नवा रायपुर के शहीद वीर नारायण सिंह अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम में वन-डे और इंटरनेशनल क्रिकेट मैच आयोजित करने की पहल की जाएगी। अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम का बच्चों को भ्रमण भी कराया जाएगा। स्कूलों की छुट्टी के समय लगने वाले जाम के संबंध में प्रश्न के जवाब में मुख्यमंत्री ने कहा कि शाला प्रबंधन और जिला प्रशासन को स्कूलों की छुट्टी के समय कुछ अंतराल रखने के लिए व्यवस्था के निर्देश दिए जाएंगे।

विद्यार्थियों ने सफलता की परिभाषा के संबंध में प्रश्न पूछे। मुख्यमंत्री ने कहा कि लक्ष्य निर्धारित करना और उसे हासिल करना ही सफलता है। लक्ष्य आप स्वयं निर्धारित करें। एक बार फेल होने पर कोई असफल नहीं होता। अपनी सफलता आपको खुद निर्धारित करनी चाहिए। सफलता के लिए जरूरी गुणों के संबंध में उन्होंने कहा कि सफलता के लिए स्व-अनुशासन जरूरी है। जब शारीरिक रूप से मजबूत रहेंगे, तभी स्वस्थ्य तन में स्वस्थ मन का वास होगा और अच्छे विचार आएंगे। सफलता के लिए समय का सदुपयोग आवश्यक है। उन्होंने कहा कि कड़ी मेहनत का कोई विकल्प नहीं है। मेहनत विवेकपूर्ण तरीके से समर्पण के साथ की जानी चाहिए। भूपेश बघेल ने शिक्षा के संबंध में कहा कि शिक्षा विद्यार्थियों को हुनरमंद बनाने वाली और उनकी प्रतिभा को निखारने वाली होनी चाहिए। शिक्षा विद्यार्थियों को व्यापक दृष्टिकोण देने वाली होनी चाहिए। मुख्यमंत्री ने सफल लीडर के संबंध में पूछे गये प्रश्न के सवाल में कहा कि जो समाज को दिशा दे, समाज सुधार के लिए जीवन समर्पित करे दे,जिसका समाज निर्माण में योगदान हो,जो समाज को जोड़कर रखे और जो समाज को आगे बढ़ाए। वही सही मायने में लीडर है। महात्मा गांधी और सुभाषचन्द्र बोस ने देश की सेवा की। वे हमारे लीडर हैं।

एक छात्रा ने पूछा कि स्टूडेंट लाइफ में आप एक्जाम के टेंशन से कैसे उबरते थे। मुख्यमंत्री ने जवाब में कहा कि अपने डर को आप स्वयं दूर कर सकते हैं। कोई दूसरा नहीं। सभी लोगों को किसनी ना किसी चीज से डर लगता है। राजनीतिज्ञ को चुनाव आने पर डर लगने लगता है, लेकिन डर के आगे ही जीत है। आप बुद्धि के साथ मेहनत करेंगे तो सफलता निश्चित मिलेगी और आत्मविश्वास बढ़ेगा। जब आत्मविश्वास आएगा तो कोई भी आपको पराजित नहीं कर सकेगा। उन्होंने कहा कि जब कोई समस्या आए तो घबराए नहीं उसके निदान के बारे में सोचें और जो सबसे अच्छा विकल्प है उस पर आगे बढ़ें। उन्होंने कहा कि आपको जिन चीजों से डर लगता है उसकी सूची बनाएं और रोज सोने के पहले संकल्प लें कि मैं नहीं डरूंगा ऐसा करने पर आप अपने डर के बारे में सोचेंगे और उसे दूर करने का उपाय करेंगे। आपके डर का कारण आप ज्यादा बेहतर जानते हैं। इसलिए डर से उबरने में आपसे बढ़ि़या दूसरा सहयोगी नहीं हो सकता।

बच्चों ने मुख्यमंत्री से कुछ व्यक्तिगत प्रश्न भी पूछे। एक छात्रा ने पूछा कि आपको संघर्ष से सफलता मिली कैसा महसूस करते हैं। हम विद्यार्थी इससे क्या सीख सकते हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि मैंने कभी सोचा नहीं था कि मैं इस पद पर आऊंगा। यह मेरा लक्ष्य भी नहीं था। मेरा लक्ष्य जनसेवा, किसानों,गरीबों की सेवा था। मुझे जिम्मेदारी मिलती गई और मैं इस मुकाम तक पहुंचा। उन्होंने विद्यार्थियों को बताया कि राजनीति हो या शिक्षा,व्यवसाय या उद्योग हो इसमें शार्टकट नहीं होता। हम जिस क्षेत्र में हो वहां कठोर परिश्रम करना चाहिए। एक प्रश्न के जवाब में उन्होंने बताया कि ना तो मेरे माता-पिता ने मुझे डाक्टर,इंजीनियर बनने के लिए दबाव डाला और ना ही मैंने अपने बच्चों पर। विद्यार्थियों को स्वयं तय करना चाहिए कि आगे क्या बनना है। पं.दीनदयाल उपाध्याय ऑडिटोरियम में आयोजित इस कार्यक्रम लगभग डेढ़ हजार विद्यार्थियों ने हिस्सा लिया। मुख्यमंत्री ने नरवा, गरूवा, घुरवा, बारी योजना के संबंध में कहा कि इससे नदी-नाले रिचार्ज होंगे, गौठानों में पशुओं के लिए चारा-पानी की व्यवस्था होगी। दुग्ध उत्पादन को बढ़ावा मिलेगा। पशुओं के गौठानों में रहने से फसल चराई और सड़क दुर्घटना जैसी समस्याओं से निजात मिलेगी। यह योजना पर्यावरण संरक्षण और ग्लोबल वार्मिंग को रोकने में भी सहायक होगी।

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804