GLIBS
14-11-2019
डीएमएफ मद के लिए जनप्रतिनिधि दें अपने क्षेत्रों से कार्यों के प्रस्ताव- रविन्द्र चौबे

रायगढ़। कृषि मंत्री रविन्द्र चौबे ने कलेक्टोरेट के सृजन सभाकक्ष में रायगढ़ जिला खनिज संस्थान न्यास के शासी परिषद की बैठक ली। इस अवसर पर उच्च शिक्षा मंत्री उमेश पटेल, विधायक लालजीत सिंह राठिया, प्रकाश नायक, चक्रधर सिदार, उत्तरी गनपत जांगड़े, कलेक्टर यशवंत कुमार, पुलिस अधीक्षक  संतोष कुमार सिंह उपस्थित थे। कृषि मंत्री रविन्द्र चौबे ने कहा कि जिला खनिज न्यास निधि से सभी जनप्रतिनिधि अपने-अपने क्षेत्रों के कार्यों के प्रस्ताव दें। उन्होंने कहा कि खनिज न्यास निधि से होने वाले निर्माण कार्य की पूर्ण जानकारी जनप्रतिनिधि को होनी चाहिए। मुख्यमंत्री की मंशा अनुसार कार्य होना चाहिए। विशेष रूप से स्वास्थ्य, शिक्षा, पेयजल, महिला एवं बाल विकास जैसे महत्वपूर्ण कार्यों पर ध्यान केन्द्रित करते हुए प्रस्ताव बनायें। उन्होंने जिला प्रशासन द्वारा चलाये जा रहे तेजस एवं तेजस्विनी एकेडमी की सराहना की और इसे युवाओं की प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी के लिए जारी रखने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि जनप्रतिनिधि एवं जिला प्रशासन आपसी संवाद एवं सुझाव से प्रस्ताव बनाये। उन्होंने कहा कि स्कूल शिक्षा के लिए शिक्षकों की नियुक्ति करें। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री सुपोषण योजना के तहत जनसहयोग लेते हुए उद्योग एवं डीएमएफ के माध्यम से बड़े कार्य किए जा सकते है। उन्होंने नंदेली में सौर ऊर्जा आधारित सिंचाई योजना के लिए के्रडा को निर्देशित किया। इस अवसर पर कृषि मंत्री ने विभिन्न कार्यों के लिए 31 करोड़ 20 लाख रुपए की राशि का अनुमोदन किया।

इस अवसर पर रायगढ़ जिला खनिज संस्थान न्यास निधि में प्राप्त आय एवं व्यय की जानकारी, रायगढ़ जिला अंतर्गत खनन से संबंधित संक्रियाओं से प्रत्यक्ष रूप से एवं अप्रत्यक्ष रूप से प्रभावित क्षेत्रों की संशोधित सूची का शासी परिषद से अनुमोदन, रायगढ़ जिला खनिज संस्थान न्यास निधि से स्वीकृति हेतु प्राप्त प्रस्तावों पर स्वीकृति के संबंध में चर्चा की गई। रायगढ़ जिला खनिज संस्थान न्यास निधि से न्यास के आकस्मिक व्यय हेतु एक करोड़ रुपए की राशि स्वीकृति की गई। उच्च शिक्षा मंत्री उमेश पटेल ने कहा कि खरसिया के शासकीय चिकित्सालय में गायन्कोलाजिस्ट की भर्ती करें। उन्होंने कहा कि खनन प्रभावित क्षेत्रों में धरमजयगढ़, घरघोड़ा एवं खरसिया क्षेत्र में आयरन तथा तमनार क्षेत्र में फ्लोराइड की अधिकता है, ऐसे स्थानों को चिन्हांकित कर शासकीय स्कूलों में पेयजल के लिए आरो वाटर की व्यवस्था करने के लिए कहा।

इस अवसर पर कलेक्टर यशवंत कुमार ने बताया कि वित्तीय वर्ष 2016-17 से 2019-20 में अक्टूबर तक की अवधि में जिला खनिज न्यास निधि में कुल 192 करोड़ 36 लाख रुपए की राशि प्राप्त हुई। इसमें से इसी अवधि में कुल 550 कार्यों के लिये 161 करोड़ 16 लाख की प्रशासकीय स्वीकृति जारी की गई है। जारी प्रशासकीय स्वीकृति के विरूद्ध अभी 118 करोड़ 74 लाख रुपए का भुगतान किया गया है। महासमुंद जिले एवं जशपुर जिले के लिये न्यास निधि में से 15 प्रतिशत क्रमश: 36 करोड़ 29 लाख एवं 36 करोड़ 29 लाख रुपए की राशि दी गई है।

प्रभारी मंत्री चौबे ने कहा कि दूरस्थ अंचल के जनजातीय क्षेत्र एवं महत्वपूर्ण स्थानों में स्वास्थ्य सुविधाओं की ओर विशेष ध्यान देते हुए कार्य करें। उन्होंने रायगढ़ में डायबिटिज क्लीनिक के लिए सहमति प्रदान की। उन्होंने हाट-बाजार क्लीनिक योजना की जानकारी ली। इस अवसर पर मुख्य स्वास्थ्य एवं चिकित्सा अधिकारी द्वारा प्रस्तुत प्रस्तावों को स्वीकृति प्रदान की गई, जिनमें सिकलिन जांच के लिए इलेक्ट्रोफोरेसिस मशीन, डिजीटल एक्सरे मशीन सहित स्वास्थ्य संबंधी अन्य महत्वपूर्ण उपकरणों को क्रय करने के लिए स्वीकृति प्रदान की गई। प्रभारी मंत्री ने हाथी प्रभावित क्षेत्रों के फेसिंग के लिए किए जा रहे कार्यों की जानकारी ली। नगर निगम आयुक्त ने फागिंग मशीन के लिए प्रस्ताव प्रस्तुत किया, जिस पर प्रभारी मंत्री ने सहमति प्रदान की। उन्होंने नालियों की सफाई कराने के कड़े निर्देश दिए। इस अवसर पर जिला पंचायत सीईओ ऋचा प्रकाश चौधरी, सहायक कलेक्टर संबित मिश्रा, नगर निगम आयुक्त राजेन्द्र प्रसाद गुप्ता, डीएफओ मनोज पाण्डेय, प्रियंका पाण्डेय सहित सभी जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित थे।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804