GLIBS
09-11-2019
तमिलनाडु से पांच बंधुआ मज़दूरों को कराया गया मुक्त

नारायणपुर। जिले के पांच युवक संतलाल, शंकर, बलिराज, जयलाल और  रजमन जो की तमिलनाडु के नामक्कल जिले में मदलैपट्टी में बोरवेल मशीन पर काम करते थे। जहाँ उन्हें बंधुआ मजदूर के रूप में काम कराया जा रहा था। वहां के जि़ला प्रशासन को सामाजिक कार्यकताओं से जानकारी मिलने पर त्वरित कारवाई कर इन्हें मुक्त कराया। मुक्त मज़दूरों द्वारा निवासी होने की जानकारी देने पर नामक्कल जि़ला प्रशासन ने नारायणपुर कलेक्टर पीएस एल्मा से संपर्क किया। कलेक्टर ने प्रकरण पर तुरंत संज्ञान लेते हुए महिला बाल विकास अधिकारी को तत्काल उचित कारवाई करने को कहा। प्रशासन और महिला बाल विकास ने संबंधित मज़दूरों द्वारा दी गई जानकारी की तहकिकात कराई जो सही निकली आज तमिलनाडु से जिले के अधिकारी बंधक मज़दूरों को साथ लेकर आए। मुक्त मज़दूरों की कलेक्टर से मुलाक़ात करवाई गई। इस दौरान तहसीलदार आशुतोष शर्मा और सरिता वंजारी उपस्थित थीं। चूंकि मुक्त सभी मज़दूरों की उम्र 18 वर्ष से ऊपर होने के कारण कलेक्टर ने महिला एवं बाल विकास अधिकारी रविकांत ध्रुर्वे एवं बाल संरक्षण अधिकारी अजीत सिंह को मामला श्रम विभाग को ट्रांसफर करने के निर्देश दिए।

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804