GLIBS
30-03-2021
च्वाईस सेंटरों में ए.पी.एल. परिवारों का भी बनेगा आयुष्मान कार्ड

कांकेर। आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना और डाॅ. खूबचंद बघेल स्वास्थ्य सहायता योजना अंतर्गत जिले में आयुष्मान कार्ड बनाने का कार्य किया जा रहा है। कलेक्टर चन्दन कुमार ने जिले के नागरिकों से अपील किया है कि योजना का लाभ उठाने के लिए नजदीकी शिविर में उपस्थित होकर आयुष्मान कार्ड अवश्य बनवायें।  उल्लेखनीय है कि योजनांतर्गत बीपीएल परिवारों (सामाजिक, आर्थिक एवं जातीय जनगणना वर्ष 2011 के एस.ई.सी.सी. के पात्र परिवारों) और अन्त्योदय एवं प्राथमिकता राशन कार्डधारी परिवारों को प्रतिवर्ष 05 लाख रूपये और एपीएल परिवारों को 50 हजार रूपये तक निःशुल्क ईलाज की सुविधा आयुष्मान कार्ड से प्राप्त हो रही है। जिले में आयुष्मान कार्ड बनाने का कार्य स्वास्थ्य केंद्रों एवं च्वाईस सेंटरों में किया जा रहा है। च्वाईस सेंटरों में पहले बीपीएल परिवारों का ही आयुष्मान कार्ड बनाने का कार्य किया जा रहा था, लेकिन अब शासन द्वारा दिये गये निर्देशानुसार एपीएल परिवारों का भी पंजीयन आयुष्मान कार्ड बनाने के लिए की जा रही है अर्थात एपीएल परिवार भी च्वाईस सेंटर में आयुष्मान कार्ड बनवा सकते हैं।

पात्रता रखने वाले जिन हितग्राहियों का आयुष्मान कार्ड च्वाईस सेंटरों के माध्यम से नहीं बन पा रहा है अथवा छोटे बच्चे, बुजुर्ग व्यक्ति जिनके अंगूठे या उंगलियों के निशान आधार कार्ड से मिलान नहीं हो पा रहा है, ऐसी स्थिति में वे व्यक्ति अपने परिवार का राशन कार्ड, आधार कार्ड एवं मोबाइल नम्बर साथ में लेकर स्वास्थ्य केंद्रों में आयुष्मान कार्ड बनवा सकते हैं, इसके लिए जिला प्रशासन द्वारा विकासखण्डवार स्थल चिन्हांकित किये गये हैं। कांकेर विकासखंड में जिला चिकित्सालय कांकेर, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र धनेलीकन्हार, ग्राम पंचायत भवन पटौद तथा अंतागढ़ विकासखंड में सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र अंतागढ़, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र आमाबेड़ा और भानुप्रतापपुर विकासखंड में सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र भानुप्रतापपुर, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र कोरर, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र भानबेड़ा और प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र तथा चारामा विकासखंड में सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र चारामा, शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय पुरी, शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय कोटतरा, शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय लखनपुरी, शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय हाराडुला, शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय हल्बा और दुर्गूकोंदल विकासखण्ड में सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र दुर्गूकोंदल, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र कोन्डे, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र कोड़ेकुर्से, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र दमकसा एवं कोयलीबेड़ा विकासखंड में सिविल अस्पताल पखांजूर, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र कोयलीबेड़ा, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र बांदे, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र बड़गांव एवं उप स्वास्थ्य केंद्र चारगांव तथा नरहरपुर विकासखंड में सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र नरहरपुर, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र अमोड़ा, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र सारवंडी एवं प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र सरोना में उपस्थित होकर निःशुल्क आयुष्मान कार्ड बनवा सकते हैं। आयुष्मान कार्ड बनाने के संबंध में अधिक जानकारी के लिए अपने ग्राम पंचायत के सचिव एवं स्वास्थ्य कार्यकर्ता अथवा मितानिन से संपर्क किया जा सकता है।

 

26-03-2021
आयुष्मान कार्ड बनाने की तिथि एक माह बढ़ी, अब 30 अप्रैल तक बनेंगे कार्ड

कोरबा। पांच लाख रूपए तक के सालाना मुफ्त इलाज के लिए आयुष्मान कार्ड बनाने की तिथि एक महीना बढ़ा दी गई है। अब यह कार्ड 30 अप्रैल 2021 तक बनेंगे। राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण द्वारा पहले हितग्राहियों के आयुष्मान कार्ड बनाने की तिथि 31 मार्च निर्धारित की गई थी। आयुष्मान भारत-प्रधानमंत्री जनआरोग्य योजना के तहत यह कार्ड नजदीकी च्वाइस सेंटर या काॅमन सर्विस सेंटर में निःशुल्क बनाया जा रहा है। कार्ड बनाने के लिए हितग्राहियों को राशनकार्ड के साथ अपना आधार कार्ड लेकर च्वाइस सेंटर जाना होगा। परिवार की पात्रता के आधार पर क्रियाशील अंत्योदय कार्ड, प्राथमिकता राशन कार्डधारी परिवार और सामाजिक-आर्थिक संगणना 2011 से चयनित परिवारों को पांच लाख रूपए तक ईलाज के लिए सालाना सुविधा इन कार्डों से मिलेगी। इसी प्रकार शेष राशनकार्ड धारी परिवारों को सालाना 50 हजार रूपए तक का निःशुल्क इलाज पंजीकृत शासकीय एवं निजी चिकित्सालयों में आयुष्मान कार्ड के द्वारा मिलेगा। जिले में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ.बीबी बोडे ने जिलेवासियों से नजदीकी च्वाइस सेंटर जाकर 30 अप्रैल के पहले आयुष्मान कार्ड बनवाने की अपील की है ताकि आवश्यकता पड़ने पर पूरे साल उनका निःशुल्क ईलाज हो सके।

 

25-03-2021
Video: शिविर में बनाए गए आयुष्मान कार्ड, वार्डवासियों की समस्याओं का हुआ समाधान

गरियाबंद। नगर पालिका अध्यक्ष गफ्फार मेमन,उपाध्यक्ष,सभापति एवं पार्षदों के विशेष प्रयास से गरियाबंद में आयुष्मान कार्ड एवं समस्या निवारण शिविर का आयोजन किया गया है। इसके तहत वार्ड नंबर 11,12 एवं 13 में समस्या निवारण शिविर तथा आयुष्मान कार्ड निर्माण शिविर का आयोजन किया गया। शिविर में सैकड़ों लोग अपनी समस्या लेकर पहुंचे,जिनका त्वरित निराकरण करवाया गया। शिविर में 1 विकलांग बालक निलेश यादव भी उपस्थित हुआ,जिसे नगरपालिका के द्वारा तत्काल ट्राईसाइकिल प्रदान किया कर उसे राहत पहुंचाई गई। राशन कार्ड के आधार पर लोगों का आयुष्मान स्वास्थ्य कार्ड का भी निर्माण किया गया।

इस अवसर पर विशेष रूप से इस अवसर पर विशेष रूप से गफ्फार मेमन अध्यक्ष नगर पालिका परिषद गरियाबंद, सुरेंद्र सोनटेके उपाध्यक्ष नगर पालिका परिषद गरियाबंद, आसिफ मेमन सभापति नगर पालिका परिषद गरियाबंद,  वंशगोपाल सिन्हा,  प्रहलाद सिंह ठाकुर ,नगर पालिका अधिकारी संध्या वर्मा  इंजीनियर  जितेंद्र जागडे ,अश्वनी वर्मा,मंजुला मिश्रा,आकाश तिवारी, अख्तर अली,भूपेन्द्र कश्यप,कन्हैया साहनी,गोपाल उपस्थित रहे।कार्यक्रम में पहुंचे लगभग 300 से अधिक नगरवासियों ने अपनी समस्याएं नगर पालिका अध्यक्ष गफ्फार मेमन के सामने रखी। किसी ने बीपीएल और एपीएल कार्ड बनवाने की मांग की तो किसी ने नया नल कनेक्शन मांगा। खास बात यह रही कि लोगों को आयुष्मान कार्ड बनाने में दिक्कत ना आए अधिक समय ना लगे इसलिए एक दो नहीं बल्कि 7 अलग-अलग काउंटर आयुष्मान कार्ड बनाने के लिए लगाए गए थे। इंटरनेट की व्यवस्था भी रखी गई। इस अवसर पर पालिका अध्यक्ष गफ्फार मेमन तथा अन्य पार्षदों एवं सभापति ने लोगों को मास्क वितरित किया तथा बच्चों उपहार दिए। 

 

20-03-2021
दूरस्थ क्षेत्र पामेड़ में लगा आयुष्मान कार्ड बनाने शिविर

बीजापुर। प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना और डाॅ. खूबचंद स्वास्थ्य सहायता योजनान्तर्गत अधिक से अधिक हितग्राहियों को लाभान्वित करने के उद्देश्य से केन्द्र सरकार एवं छत्तीसगढ़ सरकार के द्वारा आपके द्वार आयुष्मान अभियान 31 मार्च 2021 तक चलाया जा रहा है। इस अभियान के तहत् जिला अस्पताल बीजापुर सहित सभी सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों तथा प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रो और समस्त च्वाईस सेंटर्स में आयुष्मान कार्ड बनाया जा रहा है। इस महत्ती योजनान्तर्गत जिले के सर्वाधिक दूरस्थ उसूर ब्लाक अंतर्गत पामेड़ ईलाके के हितग्राहियों को लाभान्वित करने के लिए कलेक्टर रितेश कुमार अग्रवाल के पहल पर पामेड़ में 19 मार्च से आयुष्मान कार्ड बनाने शिविर लगाया गया है। शिविर पामेड़ में आगामी 25 मार्च तक आयोजित होगा। पामेड़ शिविर के सुचारू संचालन के लिए प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र आवापल्ली से कम्प्यूटर ऑपरेटर विलास मोरला को भेजा गया है।

 

09-03-2021
जिले के 669 च्वाइस और काॅमन सर्विस सेंटरों में निशुल्क बन रहे आयुष्मान कार्ड

कोरबा। सभी को ईलाज की निःशुल्क और बेहतर सुविधा उपलब्ध कराने के लिए राज्य शासन द्वारा प्रदेशवासियों के आयुष्मान कार्ड निःशुल्क बनाये जा रहे हैं। कोरबा जिले के कार्यरत् 669 च्वाइस और काॅमन सर्विस सेंटरों में यह कार्ड 31 मार्च तक निशुल्क बनेंगे। आयुष्मान कार्ड बन जाने से बीमार होने पर कार्ड धारक या उसके परिवार के सदस्य को आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना और डाॅ.खूबचंद स्वास्थ्य सहायता योजना के तहत निशुल्क इलाज की सुविधा मिलेगी। आयुष्मान कार्ड से प्राथमिकता एवं अंत्योदय वाले राशन कार्डधारी परिवारों को प्रति वर्ष पांच लाख रूपये एवं अन्य राशन कार्ड धारी परिवारों को 50 हजार तक की चिकित्सा सुविधा प्राप्त होगी। कार्डधारक राज्य के किसी भी पंजीकृत निजी एवं शासकीय चिकित्सालय में अपना इलाज पात्रतानुसार सीमा तक निःशुल्क करा सकेंगे। आपके द्वार आयुष्मान अभियान के सफल क्रियान्वय के लिए जिला कलेक्टर किरण कौशल द्वारा समस्त अनुविभागीय अधिकारी, आयुक्त नगर पालिका निगम समस्त मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत एवं समस्त खण्ड चिकित्सा अधिकारियों को भी व्यापक सहयोग के निर्देश दिए गए हैं। कलेक्टर ने  ग्राम, वार्ड स्तर पर माइकिंग, मुनादी कराने एवं अभियान हेतु स्थानीय कार्यकर्ताओ ग्राम पंचायत सचिव रोजगार सहायक एएनएम, बहुउद्देशीय स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं एवं मितानिन के माध्यम से प्रचार-प्रसार करने के लिए निर्देशित किया है।

 

09-03-2021
निशुल्क इलाज के लिए च्वाइस सेंटरों में बनाए जा रहे आयुष्मान कार्ड

कांकेर। कलेक्टर चन्दन कुमार ने जिले के सभी नागरिकों से आयुष्मान कार्ड बनवाने की अपील करते हुए कहा कि गरीबी रेखा के नीचे जीवन-यापन करने वाले परिवारों (एसईसीसी के परिवारों) तथा अंत्योदय एवं प्राथमिकता वाले राशन कार्डधारी परिवारों को प्रतिवर्ष 5 लाख रूपए तथा एपीएल राशन कार्डधारी परिवारों को प्रतिवर्ष 50 हजार रूपए तक निशुल्क इलाज की सुविधा शासन द्वारा आयुष्मान कार्ड के माध्यम से उपलब्ध कराई जा रही है। जिले में 1 मार्च से सामाजिक, आर्थिक एवं जातीय जनगणना (एसईसीसी) वर्ष 2011 के अंतर्गत आने वाले परिवारों एवं अंत्योदय तथा प्राथमिकता वाले राशन कार्डधारी परिवारों का च्वाइस सेंटर (सीएससी) में निशुल्क आयुष्मान कार्ड बनाया जा रहा है।

इसी प्रकार एपीएल राशन कार्डधारी परिवारों का पंजीकृत स्वास्थ्य केन्द्रों में निशुल्क आयुष्मान कार्ड बनाया जा रहा है। इस योजनांतर्गत परिवार के प्रत्येक सदस्य का पृथक-पृथक आयुष्मान कार्ड बनाया जा रहा है। इसके लिए सभी विकासखण्डों में रूटचार्ट बनाये गये है तथा विकासखण्ड चिकित्सा अधिकारी, जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी, तहसीलदार व संबंधित क्षेत्र के एसडीएम के मार्गदर्शन में सीएससी द्वारा आयुष्मान कार्ड बनाने का कार्य किया जा रहा है। कलेक्टर चन्दन कुमान ने जिले के नागरिकों से अपील किया है कि वे इस अवसर का लाभ उठाऐ और पात्रता अनुसार परिवार के प्रत्येक व्यक्ति का आयुष्मान कार्ड बनवाये। उन्होंने बताया कि जिले के 226 च्वाईस सेंटरों के माध्यम से अब तक 37 हजार 823 परिवारों का पंजीयन आयुष्मान कार्ड बनाने के लिए किया जा चुका है। 

 

03-03-2021
राशन कार्ड और आयुष्मान कार्ड के लिए दर-दर भटक रहे लोग : अजय वर्मा

दुर्ग। नगर निगम के नेता प्रतिपक्ष अजय वर्मा एवं भाजपा पार्षद दल ने प्रेस विज्ञप्ति जारी करते हुए कहा कि महापौर की रुचि नहीं होने एवं विधायक के लगातार हस्तक्षेप के कारण दुर्ग नगर निगम की प्रशासनिक व्यवस्था चरमरा गई है। गरीबों को अंतिम संस्कार के लिए मिलने वाली सहायता राशि का बिल भुगतान विगत 1 माह से नहीं हो रहा है । साथ ही राशन कार्ड बनाने के लिए निगम को 3 माह से ज्यादा समय लग रहा है। आयुष्मान कार्ड बनाने के लिए राशन कार्ड अनिवार्य है, अतः लोग राशन कार्ड बनाने के लिए निगम का चक्कर लगा लगा कर थक चुके हैं।

भाजपा पार्षद दल के नेता प्रतिपक्ष अजय वर्मा सहित गायत्री साहू,काशीराम कोसरे ,  चंद्रशेखर चंद्राकर,  नरेंद्र बंजारे,  देवनारायण चंद्राकर, चमेली साहू , लीना देवांगन , मनीष साहू , नरेश तेजवानी , अजीत वैद्य,  ओमप्रकाश,राकेश सेन, पुष्पा वर्मा, शशि साहू, कुमारी साहू एवं हेमा शर्मा ने संयुक्त रूप से कहा कि नगर निगम दुर्ग विधायक के मार्गदर्शन में कंप्यूटर युग से बैलगाड़ी युग की ओर जा रहा है। 20 वर्ष पहले राशन कार्ड 3 दिन में बनता था। वर्तमान समय में 3 माह के पहले जमा हुए आवेदनों के भी राशन कार्ड आज दिनांक तक नहीं बन पाए हैं। यह खुल्लम-खुल्ला लोक सेवा गारंटी अधिनियम का उल्लंघन है।
नेता प्रतिपक्ष अजय वर्मा ने आगे कहा कि आयुष्मान कार्ड प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के स्वस्थ भारत के सपने का आधार है,किंतु दुर्ग नगर निगम के द्वारा व्यवस्था नहीं कर पाने के कारण लोग आयुष्मान कार्ड बनाने दर-दर भटक रहे हैं। भाजपा पार्षद दल ने आयुक्त से ज्ञापन सौंपकर इन सभी समस्याओं का निराकरण करने को कहा। आयुक्त ने भाजपा पार्षद दल को शीघ्र अतिशीघ्र इन समस्याओं के निराकरण का आश्वासन दिया।

 

01-03-2021
आयुष्मान आपके द्वार मुहिम आज से शुरू, आसानी से बना सकते हैं आयुष्मान कार्ड

रायपुर। प्रदेश में सोमवार से 'आपके द्वार आयुष्मान' अभियान की शुरुआत होगी। इस ​अभियान के तहत एक माह तक आयुष्मान कार्ड बनाया जाएगा। इसके लिए हितग्राही अपने नजदीक के चॉइस सेंटर्स पर संपर्क कर सकते हैं। यहां मुफ्त में आयुष्मान कार्ड बनाए जाएंगे। अभियान में किसी तरह की गड़बड़ी ना हो, इसके लिए मॉनिटरिंग की जिम्मेदारी जिलों में कलेक्टर को दी गई है। इसके अलावा जिला पंचायत सीईओ अपने स्तर पर टीम गठित करके अभियान की निगरानी करेंगे।

28-02-2021
1 से 31 मार्च तक बनेगा निशुल्क आयुष्मान कार्ड,पंजीकृत निजी और शास.अस्पताल में मिलेगी फ्री इलाज की सुविधा

जांजगीर चांपा। प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना/डाॅ. खूबचंद स्वास्थ्य सहायता योजनांतर्गत अधिक से अधिक हितग्राहियों को लाभ देने के उद्वेश्य से केन्द्र सरकार एवं राज्य सरकार के द्वारा आपके द्वार आयुष्मान योजना का क्रियान्वयन 1 से 31 मार्च तक किया जा रहा है। शासन के निर्देशानुसार जिले के  च्वाइस सेंटरो में हितग्राहियों को निशुल्क आयुष्मान कार्ड उनकी पात्रता के आधार पर बनाकर दिया जावेगा। ज्ञात हो कि आयुष्मान भारत-प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना/डाॅ.खूबचंद बघेल स्वास्थ्य सहायता योजनांतर्गत बीपीएल एवं प्राथमिकता वाले राशन कार्ड में प्रतिवर्ष 5 लाख रूपये एवं सामान्य राशन कार्डधारी परिवारों को 50 हजार रूपये तक कि मुफ्त चिकित्सा सुविधा राज्य के किसी भी पंजीकृत निजी एवं शासकीय चिकित्सालयों में प्रदान की जाती है। अधिक से अधिक हितग्राहियों को लाभ दिलाने के उदे्श्य से शासन के द्वारा आपके द्वार आयुष्मान अभियान का शुभारंभ किया गया है, जिसमें जिले के समस्त च्वाइस सेंटरों के द्वारा हितग्राहियों को निशुल्क आयुष्मान भारत का कार्ड बनाकर दिया जावेगा। कार्ड बनवाने के लिए हितग्राहियों को राशन कार्ड, आधार कार्ड,मोबाइल नंबर सहित च्वाइस सेंटरो मेंं जाना होगा। च्वाइस सेंटर के द्वारा हितग्राहियों को उनकी पात्रता के आधार  आयुष्मान कार्ड निःशुल्क बनाया जाएगा।

अभियान के दौरान् च्वाॅइस सेंटरों पर सर्वप्रथम हितग्राहियों को कागज में आयुष्मान कार्ड प्रदान किया जाएगा, कुछ दिनों उपरांत च्वाइस सेंटर के केंद्रीय कार्यालय से इन हितग्राहियों के प्लास्टिक कार्ड संबंधित च्वाइस सेंटर को प्रेषित किए जाएंगे। च्वाइस सेंटर द्वारा प्लास्टिक कार्ड प्राप्त होने की सूचना हितग्राहियों को दी जाएगी। हितग्राही च्वाइस सेंटर से ही पुनः बायोमेट्रिक अथेंटीकेसन उपरांत पीव्हीसी  आयुष्मान कार्ड प्राप्त कर सकेंगे। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी ने अपील करते हुए कहा है कि समस्त हितग्राही अभियान के अंतर्गत कार्ड बनवा लें।

 

26-02-2021
1 मार्च से कॉमन सर्विस सेंटर पर बनेंगे निशुल्क आयुष्मान कार्ड

रायपुर। नेशनल हेल्थ ऑथोरिटी तथा कॉमन सर्विस सेंटर के बीच एमओयू पर हुए हस्ताक्षर के बाद अब बिहार सहित देश के 10 राज्यों में आयुष्मान कार्ड निशुल्क बनाया जा सकेगा। केंद्र  सरकार की ओर से जारी विज्ञप्ति में कहा गया है कि यह सुविधा 1 मार्च से प्रारंभ होगी। आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के तहत इन रज्यों के लाभुकों को पीवीसी (पोलिविनाइल क्लोराइड) आयुष्मान कार्ड निशुल्क दिए जाएंगे. इसको लेकर यह प्रक्रिया पहले चरण में 10 राज्यों व संघ शासित प्रदेशों में शुरू की जा रही है,जिसमें बिहार सहित मणिपुर, उत्तरप्रदेश, हरियाणा, त्रिपुरा, नागालैंड, चंडीगढ़, पुदूचेरी, छत्तीसगढ़ तथा मध्यप्रदेश आदि शामिल हैं। अन्य प्रदेशों में भी निशुल्क पीवीसी आयुष्मान कार्ड वितरण की तिथि जल्द ही घोषित की जायेगी।
नेशनल हेल्थऑथोरिटी तथा कॉमन सर्विस सेंटर—ई गर्वेंनेंस द्वारा आपसी सहमति के बाद हुए करार के बाद पीवीसी आयुष्मान कार्ड निशुल्क बनाया जाना है। पूर्व में आयुष्मान कार्ड बनवाने के लिए कॉमन सर्विस सेंटर पर 30 रुपये का शुल्क देना पड़ता था। आयुष्मान योजना के तहत सूचीबद्ध किये गये अस्पतालों में इलाज के लिए बनाये जाने वाले आयुष्मान कार्ड को अब बिना किसी शुल्क के जेनेरेट किया जाना है।
इस नई व्यवस्था के तहत पहले पेपर आधारित कार्ड दिया जायेगा। इसके बाद एक पीवीसी प्रिंट किया हुआ कार्ड दिया जायेगा। पीवीसी आयुष्मान कार्ड किसी भी कॉमन सर्विस सेंटर से प्राप्त किया जा सकेगा। आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जनआरोग्य योजना के तहत  स्वास्थ्य सुविधाएं प्राप्त करने व इलाज आदि के लिए आयुष्मान कार्ड आवश्यक रूप से हो ऐसा नहीं है, बल्कि यह लाभुकों को चिन्हित करने की प्रक्रिया है। साथ ही इसकी मदद से स्वास्थ्य सेवाओं के मुहैया कराने में होने वाली गड़बड़िया व धोखेबाजी को रोकना है।
भारत सरकार द्वारा स्वास्थ्य सेवा मुहैया कराये जाने की दिशा में आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जनआरोग्य योजना एक मुख्य कार्यक्रम है। इस योजना के तहत सालाना प्रति परिवार प्रति 5 लाख रुपये का इलाज की सुविधा दी गयी है, जिसमें 10.74 करोड़ लाभुकों यानी लगभग 53 लाख परिवारों को दूसरे एवं तीसरे स्तर की चिकित्सकीय सुविधा उपलब्ध कराने के लिए चिन्हित किया गया है।  आयुष्मान भारत योजना के लाभुक को स्वास्थ्य सेवा प्राप्त करने के लिए कैश या पेपर आदि नहीं होने के बावजूद सुविधाएं मुहैया कराती है। के इलाज की सभी सुविधाएं मुहैया कराता है। इस योजना के तहत 937 हेल्थ पैकेज हैं। योजना के तहत देश के 32 प्रदेशों के 24000 से अधिक सरकारी व गैरसरकारी अस्पतालों को सूचीबद्ध किया गया है। 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804