GLIBS
03-12-2020
ग्रीन टी, हर्बल टी, लेमन टी टेस्टी भी हेल्दी भी और सबसे बढ़िया यूज्ड बैग भी कई काम के

रायपुर। बाजार में चाय टी-बैग रूप में पिछले कई सालों से ग्रीन टी, लेमन टी, हर्बल टी आदि उपलब्ध हैं। इन टी-बैग को गर्म पानी में डालो और थोड़े समय बाद चाय पी लो लेकिन अधिकतर लोगों को पानी में से टी बैग को निकालकर फेंकना पसंद नहीं होता है। ऐसे में जरूरी भी नहीं है कि टी बैग को फेंका ही जाए। असल में ये उपयोग किए हुए टी-बैग बेहद काम के होते हैं। फ्रिज में से आने वाली बदबू - जब फ्रिज में अलग-अलग तरह का सामान रखा होता है तो उन सब सामानों के मिल जाने से एक अजीब सी गंध फ्रिज से आने लगती है। जब-जब फ्रिज खोलो, तब-तब या गंध पूरे कमरे में फैल जाती है। इसको मिटाने के लिए फ्रिज में एक पानी का बोल रखें जिसमें उपयोग किए हुए टी-बैग डाल दें। ऐसा करने से फ्रीज से सुगंध आने लगेगी।

जिद्दी निशान का इलाज -
खिड़की की जालियों में जमे जाले, कांच और टेबल पर बने जिद्दी निशानों को साफ करने का सबसे अच्छा तरीका होता है कि चायपत्ती से बने घोल से उसकी सफाई हो। ऐसे में पुराने उपयोग किए गए टी बैग आपके काम आ सकते हैं। एक ग्लास उबले पानी में दो पुराने टी बैग डाल दें और इस पानी में कपड़ा भिगोकर आसानी से सफाई करें।

22-11-2020
वायु प्रदूषण करता है फेफड़ों पर हमला और कोरोना काल में ज्यादा घातक होता है, उससे बचने के लिए लीजिए हर्बल टी

रायपुर। शहरों में लोगों को वायु प्रदूषण का सामना करना पड़ता है। इस कोरोना काल में लोगों को बहुत सावधानियां रखना पड़ता है। कोरोना और प्रदूषण दोनों ही फेफड़ों पर हमला करते हैं, ऐसे में आपको अपने खान-पान का ध्यान रखना बेहद जरूरी है। आप अपनी डाइट में पानी और हर्बल टी शामिल कर सकते हैं जो शरीर को प्रदूषण के बुरे असर से बचा सकता है।

पानी- सांसों से शरीर में पहुंचे जहर को बाहर निकालने के लिए पानी बहुत जरूरी है। इसलिए पानी पीना नहीं भूलें। इससे शरीर में ऑक्सीजन की सप्लाई सही बनी रहेगी और वातावरण में मौजूद जहरीली गैसें अगर ब्लड तक पहुंच भी जाएंगी तो कम नुकसान पहुंचाएंगी। 

हर्बल टी- हर्बल टी सेहत के लिए कई तरह से फायदेमंद होती है। इसमें पाए जाने वाले एंटीऑक्सीडेंट्स शरीर में मौजूद टॉक्सिंस को बाहर निकालने में अहम भूमिका निभाते हैं। इसके साथ ही यह प्रदूषण के कारण होने वाली एलर्जी से भी सुरक्षित रखती है। आप घर पर भी तुलसी, अदरक, और नींबू के रस की मदद से हर्बल टी बना सकते हैं।

07-11-2019
एक्सपो मार्ट:  नैचुरल फिटनेस के लिए भा रही छत्तीसगढ़ की हर्बल टी

रायपुर। देश के जैविक खाद्य उत्पादों और प्रसंस्कृत खाद्य पदार्थों के क्षेत्र में उन्नति को प्रदर्शित करने वाला 11वां बायोफैच इंडिया 2019 मेला नई दिल्ली के ग्रेटर नोएडा के एक्सपो मार्ट में 7 से 9 नवंबर तक आयोजित किया जा रहा है। तीन दिवसीय मेले में जैविक खेती से जुड़ी छत्तीसगढ़ की भी विभिन्न संस्थाएँ और उत्पादकों के स्टॉल लगाए गए हैं। मेले में प्रदेश की जैविक चावल, दाल, हर्बल टी, मसाले, बस्तर की इमली, अलसी, मुनगा के विभिन्न उत्पाद कैप्सूल, टैबलेट, पाउडर, तेल, प्रसंस्कृत खाद्य, औषधीय पौधों समेत विभिन्न जैविक उत्पाद उपलब्ध है। इनमें लोगों की सबसे ज्यादा रुचि नैचुरल फिटनेस के लिए हर्बल टी में देखी जा रही है। दिल्लीवासी सबसे ज्यादा हर्बल टी की ही खरीदारी कर रहे हैं। विश्व में जैविक कृषि उत्पादों की मांग लगातार बढ़ रही है। इसे देखते हुये नेपाल, कनाडा, पोलैंड सहित विभिन्न देशों और कंपनियों के प्रतिनिधि भी मेले में पहुँचकर छत्तीसगढ़ के जैविक उत्पादों में रुचि दिखा रहे हैं, वहीं राज्य सरकार के साथ मिलकर काम करने की इच्छा भी जाहिर की है। बायोफैच इंडिया 2019 मेला में अंतरर्राष्ट्रीय खरीदारों के साथ छत्तीसगढ़ के जैविक खाद्य पदार्थों के उत्पादकों को प्रत्यक्ष व्यापार का मौका मिल रहा।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804