GLIBS
18-09-2020
कलेक्टर की फेसबुक पर फर्जी आईडी बनाकर ठग मांग रहा लोगों से रुपए, सोशल मीडिया पर दी जानकारी

रायपुर। रायगढ़ कलेक्टर भीम सिंह के नाम से फेसबुक पर फर्जी आईडी बनाकर लोगों से रुपये मांगने के ​मामले में कलेक्टर ने पुलिस में रिपोर्ट दर्ज कराई है। बता दें कि रायगढ़ कलेक्टर भीम सिंह के नाम से फेसबुक में कुछ लोगों से रुपए मांगे गए। संदेह होने पर इसकी जानकारी कलेक्टर को दी गई। तब पूरा मामला सामने आया है। उन्होंने स्वयं आगे आकर लोगों को ठग के बारे में जानकारी दी है। दरअसल कलेक्टर भीम सिंह ने फेसबुक पर जानकारी दी है कि कुछ लोग उनके नाम से रुपए मांग रहे हैं। उन्होंने अपनी फेसबुक पोस्ट में लिखा है कि दोस्तों मेरी फर्जी प्रोफाइल किसी ने बना ली है और कुछ लोगों से रुपए की मांग रहा है। मैंने इसकी रिपोर्ट की और पुलिस में एफआईआर भी दर्ज कराई है। आगे उन्होंने लिखा है कि कोई भी आपसे किसी भी कारण रुपए मांगे तो उस पर विश्वास न करें।

22-07-2020
पैसा चार गुना करने वाले ठग को पुलिस ने गुजरात से पकड़ा,करोड़ों लेकर हुआ था फरार

अंबिकापुर। सरगुजा पुलिस ने ठगी के एक आरोपी को गिरफ्तार किया गया। आरोपी  में पैसा डबल करने के नाम पर कई लोगों से करोड़ों रुपए ठगी कर फरार हो गया था। अभय नारायण पांडे ने कोतवाली थाने में शिकायत दर्ज कराई थी कि कुछ महीने पूर्व अशोक आचार्य नाम के व्यक्ति ने पैसा चार  गुना करने के नाम पर ठगी की थी। पुलिस ने जब इस मामले में छानबीन की तो पता चला कि आरोपी ने सरगुजा क्षेत्र के कई लोगों से पैसा 4 गुना करने के नाम पर एक करोड़ रुपये से अधिक की ठगी कर फरार हो गया है। इस बात की जानकारी जब पुलिस को लगी तो पुलिस के होश उड़ गए। वहीं पुलिस को पता चला की आरोपी बिहार का रहने वाला है। आरोपी कुछ महीने पूर्व अंबिकापुर आया था और शहर के एक निजी होटल में रुका था। यहां से उसने पूरे अपराध की साजिश रची। कम समय में पैसा कमाने के लिए आरोपी ने विस वैलेट नाम का वेवसाइट बनाकर लोगों से पैसा जमा करवाता था। उसने सरगुजा जिले के ऐसे 12 हजार लोगों से संपर्क किया,जो उसके झांसे में आ गए। इसके बाद आरोपी पीड़ितों को पैसा 4 गुना करने का लालच दिया। कम समय में ज्यादा पैसा कमाने की लालच में आकर सरगुजा जिले के 12 हजार लोगों ने एक करोड़ से अधिक रकम आरोपी को दे दिया। करोड़ो रूपये मिलते ही आरोपी गुजरात फरार हो गया। जब इस बात की शिकायत कोतवाली पुलिस को लगी तो पुलिस की टीम ने आरोपी को पकड़ने के लिए एक प्लान बनाया। इसके बाद पुलिस ग्राहक बनकर आरोपी को पकड़ने गुजरात पहुंच गई और आरोपी को वड़ोदरा से गिरफ्तार कर अंबिकापुर लेकर आई। वही पुलिसिया पूछताछ में आरोपी ने अपना जुर्म कबूल किया है। हालांकि पुलिस अब तक आरोपी के पास से ठगी का रकम बरामद नहीं कर सकी है। फिलहाल कोतवाली पुलिस की टीम अन्य आरोपियों की तलाश में जुट गई है।

 

02-04-2020
आपातकाल में भी अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहे ठग,कोरोना से संबंधित लिंकों पर क्लिक न करें

रायपुर। कोरोना पीड़ितों की मदद करने ऑनलाइन पेमेंट कर रहे है लोग सावधान हो जाए क्योंकि अब ठगों ने फर्जी वेबसाइट तैयारकर सेंधमारी शुरू कर दी है। इसके अलावा फ्री रिचार्ज के लिए भी लिंक भेजे जा रहे। पुलिस ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट के माध्यम से लोगों को ठगी का शिकार होने से सचेत रहेने के लिए सतर्क रहने की सलाह दी है। सायबर एक्सपर्ट का कहना है कि एनरॉयड मोबाइल के प्ले स्टोर में कई ऐसे एप्प आ गए हैं, जो कोरोना व कोविड के नाम से उपलब्ध हैं। एप्प में कोरोना वायरस से निपटने के लिए आवश्यक सुझाव के दावे है। जाने-अनजाने में वायरस से निपटने की जानकारी के लिए जैसे ही लोग इन एप्प को डाउनलोड करते है वैसे ही मोबाइल हैक हो जाएगा। वहीं मोबाइल को सामान्य कराने के लिए आपको अच्छे खासे रुपए चुकाने पड़ सकते हैं। इतना ही नहीं इंटरनेट पर कई वेबसाइट हैं, जो कोरोना पीड़ितों की मदद के नाम पर आवेदन करवा रही हैं। ऐसी वेबसाइट पर विश्वास न करें। ऑनलाइन ठगी को अंजाम देने वाले ठग पूरी तरह मुस्तैद है, ​आपकी एक गलती और उनका मुनाफा। कोरोना वायरस को लेकर जागरूकता के संबंध में अनजान स्त्रोत से अलग-अलग जानकारियों के बारे में कई तरह के लिंक भेजे जा रहे हैं। इस तरह का कोई लिंक यदि आपके मोबाइल नंबर पर आए तो भूलकर भी लिंक पर क्लिक न करें। लिंक क्लिक करने पर आपके बैंक अकाउंट से संबंधित निजी जानकारियां सायबर ठगों के पास चले जाने का खतरा होता है।

28-11-2019
सरकारी नौकरी दिलाने के एवज में ठग लिए साढ़े 5 करोड़, एक आरोपी गिरफ्तार

रायपुर। राजधानी रायपुर में जॉब कंसल्टेंसी खोलकर छत्तीसगढ़  के 500 से ज्यादा बेरोजगारों को सरकारी विभागों में नौकरी लगाने के एवज में करोड़ों रुपए ठगने के मामले में पुलिस ने एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है वहीं दो फरार आरोपियों की तलाश जारी है। बताया जा रहा है कि पंडरी थाना क्षेत्र में गेट सेट गो जॉब कंसल्टेंसी खोलकर बेरोजगारों से करीब साढ़े 5 करोड़ रुपए लेकर संचालक फरार हो गए थे। पीडि़त कई लोगों ने साढ़े 21 लाख रुपए की ठगी करने की शिकायत रायपुर एसएसपी से की थी। इस मामले में गुरुवार को मुजगहन थाना पुलिस ने सूरजपुर निवासी आरोपी रविशंकर पांडे को गिरफ्तार कर लिया है वहीं दो आरोपी अम्बिकापुर निवासी नयन चटर्जी  और रायपुर के बीरगांव निवासी सन्तोष करण यादव अब भी फरार हैं जिनकी तलाश जारी है।

06-11-2019
ब्रांडेड कंपनी के नाम पर बेचता था नकली इंजन आयल, और भी किए कई कारनामे

रायगढ़। पुलिस चौकी जुटमिल अन्तर्गत छातामुड़ा के पास स्थित रावण ऑटो दुकान पर कैस्ट्रॉल इंडिया नई दिल्ली की टीम ने नकली इंजन आयल बिक्री करने की सूचना पर छापा मारा। कैस्ट्रोल इंडिया लिमिटेड कंपनी नई दिल्ली से रविंद्र सिंह पिता चंद्र सिंह की टीम जांच के लिए रायगढ़ आई थी। जूटमिल पुलिस स्टाफ के सहयोग से दिल्ली की टीम ने आरोपी बंटी साहू की दुकान रावण ऑटो सेंटर पर छापेमारी कर 90 कैस्ट्रॉल आयल के नकली डिब्बे बरामद किए। नकली इंजन आयल की कीमत करीब 31,250 रुपए हैं। रविंद्र सिंह की रिपोर्ट पर चौकी जुटमिल में आरोपी के खिलाफ अपराध पंजीबद्ध किया गया है।

इसी प्रकार जालसाज बंटी साहू ने अपने आप को छड़-सीमेंट का थोक विक्रेता बताकर व बाजार से सस्ते दाम में माल सप्लाई करने की बात कहकर ग्राम बरमूडा थाना कोतरारोड निवासी डमरूधर पटेल से एडवांस 44,000 रुपए ले लिए और आज तक सामान की डिलीवरी नहीं की। इसी तरह आरोपी ने  ग्राम हरदी थाना सारंगढ़ निवासी रोशन वर्मा से भी 1,25,000 रुपए ठग लिया और सामान की डिलीवरी देने से मुकर गया। सिर्फ इतना ही नहीं, आरोपी ने सेकंड हैंड बाइक बिक्री करने के लिए एक पुरानी एवेंजर बाइक को ग्राम गुडेली थाना सारंगढ़ निवासी प्रेम सिंह यादव पिता चौकी लाल यादव को  दिखाया और उसे 65000 में सौदा तय कर 30,000 रुपए बतौर एडवांस ले लिया और आज तक उसे बाइक नहीं दी। सभी पीडि़तों ने इसकी शिकायत जूटमिल चौकी में की थी। जूटमिल पुलिस ने आरोपी बंटी साहू पिता संतराम साहू (33) निवासी एफसीआई गोदाम छातामुड़ा नाका जूटमिल को उपरोक्त सभी अपराधों में गिरफ्तार कर रिमांड पर भेजा है।


 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804