GLIBS
14-08-2020
डोमनहिल में तोड़ी गई दुकान का मुआवजा दे एसईसीएल

कोरिया। विधायक डॉ. विनय जायसवाल के मार्गदर्शन में महापौर कंचन जायसवाल के नेतृत्व में नगर पालिक निगम चिरमिरी के समस्त एमआईसी एवं पार्षद के साथ जाकर कलेक्टर एसएन राठौर से मुलाकात की और एसईसीएल के द्वारा चिरमिरी डोमनहिल में तोड़ी गई दुकानों से प्रभावित हुए व्यक्तियों को मुआवजे की राशि प्रदान करने की मांग रखी। कांग्रेस नेताओं ने कहा कि जिनकी दुकानें टूटी है उनकी हर संभव मदद की जाएगी। कलेक्टर एसएन राठौर ने मामले की न्यायिक जांच कर मुआवजा दिलाने के लिए एसईसीएल से बात करने का आश्वासन दिया।

 

 

12-08-2020
खाद विक्रय से 80 लाख रूपए का मिला राजस्व

भिलाई। लिक्विड एंड सॉलिड रिसोर्स मैनेजमेंट (एसएलआरएम सेंटर) नगर पालिक निगम प्रशासन के लिए आय का बड़ा स्रोत साबित हो रही है। इससे निगम प्रशासन ने एक, दो, तीन नहीं, पूरे 80 लाख रूपए का राजस्व जुटाया है। घरों से एसएलआरएम सेंटर में पहुंचने वाले गीला कचरे से बनी सोनहा खाद की क्वाॅलिटी इतनी अच्छी है कि रायपुर और जगदलपुर की एजेंसी उसे हाथों-हाथ खरीदने के लिए तैयार है। निगम आयुक्त ऋतुराज रघुवंशी के निर्देश पर दो एसएलआरएम सेंटर भिलाई क्षेत्र के खमरिया और बटालियन के सामने शराब भट्टी के पास तैयार हो रही है! निगम प्रशासन ने शहर की साफ-सफाई का ठेका लेने वाले एजेंसी मेसर्स पीवी रमन के माध्यम से खाद बेचकर सालभर में 80 लाख रूपए का राजस्व जुटाया है।
गीला कचरे से तैयार करते हैं सोनहा खाद
नगर पालिक निगम के लोक स्वास्थ्य एवं स्वच्छता विभाग के अध्यक्ष लक्ष्मीपति राजू का कहना है कि साॅलिड वेस्ट मैनेजमेंट अधिनियम और स्वच्छ भारत मिशन के अंतर्गत गीला कचरे को स्थानीय स्तर पर ही निपटान करना है। इसी के तहत स्वच्छता मित्र घरों से सूखा और गीला कचरा एकत्र करते हैं। गीला कचरे को एसएलआरएम सेंटर तक पहुंचाते हैं। इस तरह के शहर में 8 एसएलआरएम सेंटर थे। जहां महिलाएं कचरे की छंटाई कर गीला कचरे को अलग कर टंकियों में डालने के पश्चात कचरे के उपर बायो डी कंपोज लिक्विड का छिड़काव करके कुछ दिनों के लिए छोड़ दिया जाता है। जब कचरा पूरी तरह से सड़ जाती है तब उसे तार जाली से छानकर खाद को अलग कर लिया जाता है। 1, 5, 10 और 20 से 25 किलो का पैकेट तैयार कर रखा जाता है। निगम के स्वच्छता अधिकारी धर्मेन्द्र मिश्रा ने बताया कि निगम प्रशासन द्वारा शहर की सफाई एवं एसएलआरएम सेंटर का संचालन का ठेका दिया गया था। शर्त के मुताबिक एसएलआरएम सेंटर में माहभर में जितनी मात्रा में खाद तैयार होती है। उसकी प्रति टन की कीमत के बराबर एजेंसी के बिल में से कटौती किया जाता है। उसके बाद ही भुगतान किया जाता है।
सोनहा खाद की नर्सरी में अच्छी डिमांड

एसएलआर सेंटर का संचालन करने वाले मेसर्स पीवी रमन का कहना है कि सोनहा खाद की क्वाॅलिटी अच्छी है। इस वजह से जगदलपुर फारेस्ट विभाग और रायपुर एयरपोर्ट की नर्सरी में अच्छी डिमांड है। डिमांड के अनुसार खाद की सप्लाई किया जाता है। इसके अलावा जैविक खाद बनाने वाले कुछ एजेंसी को खाद सप्लाई किया जाता है। पहले निगम क्षेत्र में 8 एसएलआरएम सेंटर थे। अविभाजित भिलाई निगम में 8 एसएलआरएम सेंटर था। इनमें से तीन एसएलआर सेंटर रिसाली निगम के गठन के बाद अलग हो गया है। इन्ही एसएलआर सेंटर से 1 मार्च 2019 से अप्रेल 2020 तक 4 हजार टन सोनहा खाद तैयार हुआ।

 

 

10-08-2020
सफाई कामगारों को स्वरोजगार स्थापित करने का मौका,आवेदन 25 अगस्त तक होंगे मान्य

रायपुर। सफाई कामगारों के लिए वित्तीय वर्ष 2020-21 में शासन की ओर से विभिन्न योजनाओं का संचालन किया जा रहा है। मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला अंत्यावसायी सहकारी विकास समिति रायपुर ने कहा कि इसमें  स्कीम अपटू इकाई लागत 1 लाख, महिला अधिकारिता, इकाई लागत 1.00 लाख, महिला समृद्धि, इकाई लागत 50 हजार और माइक्रो क्रेडिट, इकाई लागत 50 हजार, ई-रिक्शा, इकाई लागत, 2 लाख 16 हजार व गुड्स कैरियर योजना इकाई लागत 6 लाख 26 हजार शामिल हैं। उन्होंने कहा कि, ऋण लेने के इच्छुक सफाई कामगारों से संबंधित युवक-युवतियां की उम्र 18 से 50 वर्ष के बीच होना चाहिए। सफाई कामगार होने का प्रमाण-पत्र नगर पालिक निगम, ठेकेदार, शासकीय, अर्धशासकीय संस्था के प्रमुख और अन्य जहां कार्य करते हों, वहां का प्रमाण-पत्र मान्य होगा। इसके साथ ही सक्षम अधिकारी से प्रदत्त मूल निवास प्रमाण-पत्र और आय प्रमाण-पत्र, जिसमें ग्रामीण क्षेत्र में 98 हजार और शहरी क्षेत्र में 1 लाख 20 हजार व  एक फोटोग्राफ लगाना अनिवार्य होगा।

मुख्य कार्यपालन अधिकारी ने ऋण लेने के इच्छुक आवेदकों को अवगत कराया है कि, ऋण स्वीकृत किए जाने की स्थिति में आवेदक को ऋण के बराबर का जमानत लगाना होगा। यह ऋण 3, 5 और 6 वर्ष में ब्याज दर 4, 5  और 6 प्रतिशत वार्षिक दर प्रतिमाह किश्त के रूप में वसूली की जाएगी। जो सफाई कामगार किसी भी शासकीय योजनांतर्गत लाभ ले लिया हो, उन्हें योजना का लाभ नहीं दिया जायेगा। इन योजनाओं के लिए पात्र हितग्राहीं आगामी 25 अगस्त तक कार्यालय कलेक्टर परिसर जिला अंत्यावसायी सहकारी विकास समिति रायपुर कक्ष क्रमांक-34 में निर्धारित अवधि में आवेदन प्राप्त व जमा कर सकते हैं।

 

 

10-08-2020
भाग संख्या के अनुसार तैयार करेंगे निर्वाचक नामावली, प्राधिकृत अधिकारियों को मास्टर ट्रेनर ने दिया प्रशिक्षण

भिलाई। नगर पालिक निगम आम निर्वाचन के अंतर्गत मतदाता सूची तैयार करने के लिए प्राधिकृत अधिकारियों को निगम मुख्यालय के सभागार में दो पाली में प्रशिक्षण दिया गया। अनुविभागीय अधिकारी खेमलाल वर्मा एवं निगम उपायुक्त अशोक द्विवेदी की उपस्थिति में मास्टर ट्रेनर ने प्राधिकृत अधिकारियों को भाग संख्या के अनुसार निर्वाचक नामावली/मतदाता सूची तैयार करने, प्रारंभिक सूची का प्रकाशन और मतदाताओं से प्राप्त दावा-आपत्ति से लेकर निराकरण की प्रक्रिया की विस्तार से जानकारी दी। प्रथम पाली में मास्टर ट्रेनर अंजय तिवारी ने 41 प्राधिकृत अधिकारियों को निर्वाचक नामावली की वर्किंग शीट के आधार पर कार्य की प्रक्रिया की जानकारी दी। प्रथम पार्ट में तीन अधिकारी/कर्मचारियों का समूह बनाकर अपने वार्ड की भाग संख्या के अनुसार निर्वाचक नामावली पर मार्किंग कर सूची बनाने कहा। निर्धारित प्रारूप में प्रत्येक वार्ड की भाग संख्या के अनुसार मतदाता सूची का पीडीएफ तैयार करने के लिए कहा। त्रुटि रहित निर्वाचक नामावली तैयार करने के लिए सूची की जांच करने की बात कही। निर्वाचक नामावली की सूची में किसी भी प्रकार की त्रुटि होने पर साफ्टवेयर के माध्यम से सुधारवाने के बाद ही सूची के पीडीएफ को प्रारंभिक प्रकाशन के लिए अपने सहायक रजिस्ट्रीकरण अधिकारी के माध्यम से जिला निर्वाचन कार्यालय में जमा करने कहा गया। प्रशिक्षण के अंतर्गत प्रारंभिक मतदाता सूची को वार्डों में सार्वजनिक करना, मतदाताओं से दावा’-आपत्ति प्राप्त करने से लेकर निराकरण की प्रक्रिया को निर्धारित समय-सीमा के अंदर पूर्ण करने पर जोर दिया। वहीं द्वितीय पाली में मास्टर ट्रेनर हेमंत उपाध्याय ने प्रशिक्षण दिया। सहायक नोडल अधिकारी चंद्रपाल हरमुख ने प्राधिकृत अधिकारियों को किसी भी मतदाताओं का नाम, एक ही वार्ड में दो स्थानों पर अथवा उसी नगर पालिक निगम के एक से अधिक वार्डों में दर्ज न हो इस बात का विशेष ध्यान रखने कहा।  

मंगलवार को भी दो पाली में दिया जाएगा प्रशिक्षण

11 अगस्त को भी दो पाली में प्राधिकृत अधिकारियों को प्रशिक्षण दिया जाएगा। प्रथम पाली में सुबह 11 बजे 44 कर्मचारियों को प्रशिक्षण दिया जाएगा। द्वितीय पाली में 42 कर्मचारियों का प्रशिक्षण होगा। उल्लेखनीय है कि वार्डवार मतदाता सूची तैयार करने के लिए 217 कर्मचारियों को प्राधिकृत अधिकारी नियुक्त किया है।

 

 

08-08-2020
आकाश गंगा के 28 कब्जाधारियों को निगम ने जारी किया नोटिस, 5 दिन के अंदर कब्जा हटा लेने की दी चेतावनी

भिलाई। नगर पालिक निगम प्रशासन ने आकाश गंगा सब्जी मंडी के 28 कब्जाधारियों को नोटिस जारी कर पांच दिनों के अंदर स्वयं से कब्जा हटाने लेने कहा है। कब्जा हटाने के बाद चबूतरे का फोटोग्राफ दस्तावेज के साथ जोन-1 आयुक्त के समक्ष प्रस्तुत करने के निर्देश दिए हैं। निर्धारित अवधि में कब्जा नहीं हटाने की स्थिति में नगर पालिक निगम भिलाई द्वारा जेसीबी मशीन के माध्यम से शेड को गिराने और बेदखली की कार्रवाई में होने वाले व्यय की राशि कब्जाधारी से वसूल किए जाने की चेतावनी दी है। तोडफ़ोड़ की कार्रवाई से होने वाले नुकसान के लिए कब्जाधारी स्वयं जिम्मेदार होंगे। दो दिन पहले ही नेहरू नगर जोन की टीम ने आकाशगंगा सब्जी मंडी में बेदखली अभियान चलाया था। कब्जाधारियों को मौखिक रूप से शेड को हटाने का समय दिया गया था। नेहरू नगर जोन.1 आयुक्त सुनील अग्रहरि के निर्देश पर 28 कब्जाधारियों को लिखित में नोटिस जारी कर अवैध कब्जे को पांच दिनों के भीतर स्वयं से हटाकर जोन कार्यालय में सूचना देने कहा गया है। 

07-08-2020
नक्सल हिंसा से पीड़ित परिवारों को आमचो बस्तर कैंटिन से मिला रोजगार का अवसर

रायपुर/जगदलपुर। राज्य सरकार की ओर से नक्सल हिंसा से पीड़ित परिवारों को पुनर्वास नीति के तहत मुआवजा राशि और रोजगार के अवसर मुहैया कराया जाता है। इसी प्रयास में जिला प्रशासन बस्तर ने जिले में नक्सल हिंसा से पीड़ित परिवार के सदस्यों को रोजगार का अवसर प्रदान किया है। आमचो बस्तर कैंटिन के नाम से चलित कैंटिन संचालन करने का दायित्व उनको दिया गया है। नगर निगम के द्वारा स्वास्थ्य विभाग की कंडम हुई एंबुलेंस को मॉडीफाई कर मोबाइल कैंटिन के रूप बनाया। इस मोबाइल कैंटिन को संचालन का दायित्व नक्सल प्रभावित परिवार के सदस्यों को समूह के रूप में दिया गया है। इस आमचो बस्तर कैंटिन को शहर के मध्य स्थित चौपाटी में स्थानीय व्यंजनों का विक्रय करने के लिए जगह दी गई।

नक्सल हिंसा से पीड़ित परिवारो ने गांव छोड़कर शहर की ओर रूख किए उनमे जीने की ललक और रोजगार की चाहत को देखते हुए जिला प्रशासन की ओर से कैंटिन संचालन के लिए इस समूह को प्रशिक्षण दिया गया है। इसमें लगभग 10 सदस्यों का समूह है। कैंटिन संचालन करने वाले समूह में छिंदगुर के माधव, कापानार की सोमारी कवासी, कोलेंग की शांति सेठिया, मरदापाल की सुशीला मानीकपुरी ने बताया कि वे पहले माओवाद से पीड़ित होकर जान बचाने शहर आ गए थे, जीवन यापन की चिंता सताए जा रही थी। प्रशासन व पुलिस विभाग के समक्ष रोजगार के लिए उन्होंने आवेदन दिया था। कैंटिन संचालन से अब उन्हें लग रहा है कि उनकी जिंदगी उन्नति की ओर अग्रसर होगा। नगर पालिक निगम की ओर से जिला प्रशासन के मार्गदर्शन में स्वास्थ्य विभाग की खराब पड़ी करीब 10 ऐसी एबुंलेस गाड़ियों को अलग-अलग जगह, अलग-अलग व्यवसाय के लिए तैयारी किया जा रहा है।

01-08-2020
शहरी गौठान में समन्वय समिति की महिलाओं को दिया गया प्रशिक्षण

भिलाई। गोधन न्याय योजना के बेहतर क्रियान्वयन के लिए नगर पालिक निगम के कोसानगर स्थित शहरी गौठान में समन्वय समिति की महिलाओं को दो चरण में प्रशिक्षण दिया गया। पहले सत्र में मौखिक प्रशिक्षण के अंतर्गत निगम उपायुक्त अशोक द्विवेदी और पीआईयू हरीश ठाकुर ने स्व सहायता समूह/ समन्वय समिति के सदस्यों को शासन की गोधन न्याय योजना के तहत गोबर खरीदी और भुगतान के बारे में विस्तार से जानकारी दी। पशुपालकों का पंजीयन, सेंटर में गोबर की खरीदी, हर दिन की खरीदी का रिकाॅर्ड पंजी बनाने और पंजीकृत हितग्राहियों को बैंकों के माध्यम से भुगतान की प्रक्रिया को विस्तार से बताया। दूसरे सत्र में प्रायोगिक प्रशिक्षण हुआ। इसमें दुर्ग जिला के वरिष्ठ कृषि अधिकारी एलबी जैन, कामधेनु कृषि विज्ञान केन्द्र अंजोरा के कार्यक्रम समन्वयक व वैज्ञानिक डाॅ.एसके थापक, सहायक संचालक सुष्मिता पाठक और एडीओ सुचित्रा दरबारी की टीम ने वर्मी कंमोस्ट और वर्मी वाॅश बनाने के तरीके बताएं। कृषि अधिकारी जैन ने बताया कि गोबर और केंचुआ खाद बनाने के दौरान पानी निकलता है। उसमें कई तरह के माइक्रो तत्व होते हैं, जिसका फसल में छिड़काव कर अच्छा उत्पादन लिया जा सकता है। उन्होंने वर्मी वाॅश को पाइप के जरिए एक टैंक में एकत्र करने, कम समय में वर्मी कंपोस्ट बनाने के लिए कचरे और गोबर को जल्द डी कंपोज करने के तरीके भी बताएं। शहरी गौठान के शेड का निरीक्षण कर गोबर से केंचुआ खाद बनने की प्रक्रिया तक जरूरी सावधानी जैसे टंकी की सतह को जमीन से निर्धारित ऊंचाई पर रखने की बात कही। टंकी में पर्याप्त छाया, केंचुए की सुरक्षा के लिए टंकी के चारो तरफ नाली बनाकर पानी भरने कहा। ताकि चींटी आदि केंचुएं को नुकसान न पहुंचा सके! जोन-1 आयुक्त सुनील अग्रहरि ने वित्तीय व्यवस्था के बारे में बताया। सहकारी साख समिति के माध्यम से शहरी गौठान के उत्पाद, जैविक खाद सहित अन्य वस्तुओं का मार्केटिंग और सेलिंग करना बताया। प्रशिक्षण कार्यक्रम में जोन-2 की आयुक्त पूजा पिल्ले, जोन-3 की आयुक्त प्रीति सिंह, जोन-4 के आयुक्त अमिताभ शर्मा, जोन-5 के आयुक्त महेन्द्र पाठक, लेखा अधिकारी जितेन्द्र ठाकुर, सूडा के अभिनव ठोकने, एआरओ शरद दुबे, संजय वर्मा, परमेश्वर चंद्राकर, मलखान सिंह शोरी और स्वच्छता निरीक्षक मौजूद रहे।

31-07-2020
एसएलआरएम सेंटर में गोबर खरीदी शुरू, गोबर विक्रय के लिए पशुपालक करा रहे हैं पंजीयन

भिलाई। नगर पालिक निगम के जोन-4 वीर शिवाजी नगर के अंतर्गत संचालित एसएलआरएम सेंटर में गोबर खरीदी शुरू हो गई है। गोबर विक्रय के इच्छुक पशुपालक गोधन न्याय योजना के अंतर्गत अपना पंजीयन करा रहे हैं। छत्तीसगढ़ शासन के गोधन न्याय योजना के तहत 2 रूपए किलोग्राम की दर से गोबर बेच सकते हैं। जोन-4 के आयुक्त अमिताभ शर्मा ने बताया कि महापौर व विधायक देवेन्द्र यादव और निगम आयुक्त ऋतुराज रघुवंशी के निर्देश के मुताबिक पशुपालकों का पंजीयन किया जा रहा है और गोबर खरीदी की जा रही है। जोन-1 के आयुक्त सुनील अग्रहरि ने बताया कि जोन क्षे़त्र के 113 पशुपालकों ने पंजीयन कराया है। उनसे अब तक 59.82 क्विंटल गोबर खरीद चुके हैं। इसी प्रकार से निगम क्षेत्र के अन्य एसएलआरएम सेंटर में पंजीकृत पशुपालकों से गोबर खरीदा जा रहा है। बैंक खाता के माध्यम से पशुपालकों को भुगतान किया जाएगा।

 

28-07-2020
प्रशासन हुआ सख्त,सोशल डिस्टेसिंग का पालन नहीं होने पर साप्ताहिक बाजार को कराया बंद

भिलाई। नगर पालिक निगम और पुलिस प्रशासन की टीम ने सोशल डिस्टेसिंग का पालन नहीं होने पर दो स्थानों के साप्ताहिक बाजार को बंद कराया गया। लोगों को सोशल डिस्टेसिंग का पालन करते हुए पसरा लगाने एवं सब्जी भाजी की खरीददारी करने की अपील की। जोन-1 नेहरू नगर के अंतर्गत प्रत्येक मंगलवार को वार्ड-9 मंगल बाजार कोहका और वार्ड-70 शहीद कौशल यादव में बाजार लगता है। हर सप्ताह की तरह इस मंगलवार को भी दोनों जगहों पर सुबह 6 बजे से बाजार लग चुका था। पुलिस बल के साथ जोन-1 के राजस्व विभाग की टीम सुबह 8 बजे मंगल बाजार कोहका पहुंची तो पाया कि लोग यहां बिना मास्क के बाजार में घूम रहे हैं। सोशल डिस्टेसिंग का पालन भी नहीं कर रहे हैं। एक व्यापारी के पास 5 से 6 लोग सब्जी भाजी खरीदने के लिए खड़े हुए हैं। एक दूसरे से टकरा रहे हैं। इस तरह की स्थिति को देखते हुए उपायुक्त अशोक द्विवेदी एवं जोन आयुक्त सुनील अग्रहरि के निर्देश पर सहायक राजस्व अधिकारी शरद दुबे की टीम ने लगभग आधा घंटा लोगों को दूरी बनाकर खरीददारी करने की अपील की। फुटकर व्यापारियों को दूरी बनाकर पसरा लगाने की समझाइश देने का प्रयास भी किया। इसके बावजूद लोग नहीं माने। तब पुलिस बल और निगम की टीम ने व्यापारियों को अपना सामान समेटने की चेतावनी देते हुए बाजार को बंद कराया। इसी तरह की कार्रवाई हुडको में भी की गई। वहीं रोड के किनारे बैठे फुटकर सब्जी विक्रेताओं को निर्धारित समय तक दुकान लगाने की चेतावनी दी गई। कार्रवाई के दौरान वार्ड प्रभारी यातराम चंद्राकर, सुरेश निसार, ओमप्रकाश चंद्राकर, मोहन वर्मा, राजेश गुप्ता, सुपेला थाना और सिटी कोतवाली पुलिस के जवान मौजूद रहे।

आईटीआई ग्राउंड में लग रहा है बाजार

आईटीआई ग्राउंड पावर हाउस में बाजार लगना शुरू हो गया है। यहां लोग सोशल डिस्टेसिंग का पालन करते हुए सब्जी भाजी की खरीददारी कर रहे हैं। वहीं जोन-3 और जोन-4 के राजस्व विभाग की टीम सोशल डिस्टेसिंग के साथ बाजार की साफ-सफाई और पार्किंग की व्यवस्था में जुटे हुए हैं। कलेक्टर डाॅ सर्वेश्वर नरेन्द्र भुरे ने कोरोना के संक्रमण को ध्यान में रखते हुए नेताजी सुभाषचंद्र बोस सब्जी मार्केट को बंद कर अन्य व्यवस्था करने के निर्देश दिए थे। कलेक्टर के निर्देश के मुताबिक आईटीआई ग्राउंड में सब्जी भाजी और छावनी थाना के पीछे के मैदान में हाथ ठेला एवं फल दुकानों की व्यवस्था की गई है।

 

Advertise, Call Now - +91 76111 07804