GLIBS
03-04-2020
स्पिरिट पीकर नशा करने वाले तीसरे युवक ने भी तोड़ा दम, पुलिस स्पिरिट देने वाले की तलाश में

रायपुर। शराब पीने के आदि स्पिरिट पीने वाले तीसरे युवक की भी मौत हो गई। विगत दिनों एक साथ स्पिरिट पीने वाले अन्य दो युवकों की भी मौत हो गई है। बताया गया कि मृतक बांसटाल गोलबाजार का रहने वाला था। शराब नहीं मिलने पर गोलबाजार थाना इलाके में इन तीन युवकों ने स्पिरिट पीकर नशा करने की कोशिश की थी। दो युवकों की पहले ही मौत हो गई वहीं तीसरे युवक ने भी दम तोड़ दिया। गोलबाजार थाना पुलिस स्पिरिट देने वाले की तलाश में है। पुलिस अपराध दर्ज कर मामले में आगे की कार्रवाई कर रही है।

02-04-2020
नोटिस चस्पा करने पहुंची चिकित्सा टीम से महिला ने की बदसलूकी, धारा 188 तहत मामला दर्ज

 दुर्ग। मोहन नगर थाना के अंतर्गत पुलिस को सूचना प्राप्त हुई कि शहर में कुछ लोग आज ही पुणे से पहुंचे हैं। जैसे ही सूचना मिली पूरा प्रशासकीय अमला सतर्क हुआ और आए हुए लोगों की जानकारी लेने पहुंचा। यहां पर मेडिकल टीम द्वारा जब घर पर नोटिस चस्पा करना चाहा गया तो परिवार वालों द्वारा नोटिस को फाड़ दिया। मिली जानकारी के अनुसार उक्त घटना आज शाम की है। जहां शंकर नगर निवासरत एक महिला द्वारा जिला चिकित्सालय की टीम द्वारा कोरोना की रोकथाम के लिए बाहर से आए हुए लोगों को पहचान कर चिन्हित करना है। इस कार्य के दौरान जब टीम स्थल पहुंची और निगम की नोटिस चस्पा करने लगे तो उक्त महिला द्वारा नोटिस को फाड़ दिया गया और वहां उपस्थित लोगों से बहस बाजी करना शुरू कर दी इस बात को पुलिस ने संज्ञान में लेते भारतीय दंड संहिता के अनुसार धारा 188 का मामला दर्ज कर लिया है और सरकारी कार्य में बाधा डालना मानकर अपराध कायम किया है। वहीं इस मामले में जब एसपी अजय यादव से बात की गई तो उन्होंने बताया कि आज ही सुबह पुणे से कुछ लोगों की दुर्ग आने की सूचना मिली और तत्काल कार्रवाई करते हुए पुलिस ने शंकर नगर पहुंचकर वहां के लोगों की जानकारी ली इस पर तुरंत कोरोना की रोकथाम के लिए उन्हें कार्रवाई कर नोटिस चस्पा करना चाहा लेकिन वहां के लोगों ने विरोध करना शुरू कर दिया। इस पर पुलिस ने कार्रवाई करते हुए मामले को अंजाम दिया और प्रतिवेदन उपस्थित होने के बाद कार्रवाई कर आगे विवेचना में मामले को ले लिया है।  

 

02-04-2020
मजदूरी करने वाले पति, पत्नी को अज्ञात हत्यारे ने उतारा मौत के घाट

दंतेवाड़ा। पातररास में 2 मजदूर की हत्या कर दी गई। दोनों मृतक पति-पत्नी थे। पातररास में खेत के बीचों बीच इनका घर था। दोनों पति और पत्नी दैनिक मजदूरी करके गुजारा करते थे। शव देखकर अंदाजा लगाया जा सकता है कि धारदार रॉड से दोनों के सिर पर वार किया गया,जिससे घटनास्थल पर ही दोनों की मौत हो गई। मृतक पति का नाम राजू और मृतिका पत्नी का नाम मुन्नी है। वहीं हत्या का कारण अभी पता नहीं चल सका है।  दंतेवाड़ा कोतवाली पुलिस ने अज्ञात हत्यारे के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर लिया है। शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

02-04-2020
एक तरफ पुलिस लॉकडाउन के निर्देशों का पालन करना सीखा रही,वहीं दूसरी तरफ दे रही मानवता का परिचय....

धमतरी। कोरोना वायरस के संक्रमण के नियंत्रण एवं रोकथाम के लिए लॉक डाउन की कठिन परिस्थिति में पुलिस निगरानी करते हुए आम नागरिकों को प्रशासन की ओर से जारी आदेशों का पालन कर सहयोग करने की हिदायत दे रही है। वही दूसरी तरफ मानवता का परिचय पुलिस दे रही है। गरीब और मजदूरों को आवश्यकताओं के अनुसार सहयोग भी दिया जा रहा है। इसी कड़ी में उप पुलिस अधीक्षक अजाक सारिका वैद्य के नेतृत्व में सूबेदार रेवती वर्मा अपने अन्य पुलिस स्टाफ के साथ महिमा सागर वार्ड टिकरापारा एवं ब्राह्मणपारा वार्ड के मजदूर परिवारों को अनाज दाल-चावल, नमक, तेल व साबुन वितरित किया। इसके अलावा कोरोना संक्रमण से बचाव की भी जानकारी दी। इस प्रकार पुलिस अधीक्षक बीपी राजभानु के निर्देशन एवं अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मनीषा ठाकुर के मार्गदर्शन में धमतरी पुलिस अपने कर्तव्य पालन के साथ-साथ मानवता का परिचय भी दे रही है।

02-04-2020
लॉकडाउन का पालन कराने सड़कों पर निकल रहे कलेक्टर और एसपी, बहानेबाजों को पुलिस वापस भेज रही घर

रायपुर। कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने लॉकडाउन का शहर और उसके आसपास क्षेत्रों में कितना पालन हो रहा है, इसे देखने के लिए कलेक्टर और एसएसपी रोजाना सड़कों पर निकल रहे है। इस दौरान लॉकडाउन का उल्लंघन करने वालों पर कड़ाई बरतने के निर्देश अधिकारियों को दिए गए है। बीते दिन कलेक्टर डॉ.एस भारतीदासन व एसएसपी आरिफ शेख ने पुलिस व प्रशासन के अधिकारियों के साथ तेलीबांधा, सिविल लाइन, लाभांडी और राजेंद्रनगर पुलिस थाना क्षेत्र का निरीक्षण किया। एसएसपी ने अफसरों को गली-मोहल्लों के अलावा मुख्य सड़कों पर बेवजह घूमने वालों पर कार्रवाई करने को कहा है। लॉकडाउन में पुलिस की ढ़िलाई का फायदा उठाकर दोपहिया व चार पहिया वाहनों से लोग बेवजह सड़क पर घूमने से बाज नहीं आ रहे है।

हालांकि चौक-चौराहों पर बेरीकेट्स लगाकर पुलिस के जवान आने-जाने वालों को रोककर पूछताछ करने के बाद जरूरी होने पर ही जाने दे रहे है। बुधवार दोपहर दो से तीन बजे के बीच संतोषीनगर ओवरब्रिज, टिकरापारा, कालीबाड़ी चौक, कोतवाली चौक, जय स्तंभ चौक, शास्त्री चौक पर तैनात पुलिसकर्मियों ने सड़क पर घूमने वालों पर सख्ती दिखाई। कई ऐसे दोपहिया चालकों को घूमते रोका जो पूछने पर यह नहीं बता पाए कि घर से निकले क्यों थे। वहीं कुछ लोगों ने अस्पताल जाने, दवा, राशन दुकान, सब्जी और पेट्रोल लेने के लिए जाने का बहाना बनाया। लेकिन पुलिस कर्मियों ने उनकी एक नहीं सुनी। सभी को घर वापस लौटा दिया।

02-04-2020
पुलिस को देख कर पहली मंजिल से कूदा जुआरी, घायल, 13 गिरफ्तार 

रायपुर। शहर के शंकर नगर स्थित मकान में लॉक डाउन का फायदा उठाकर घर में जुआ खेल रहे 13 जुआरियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। सिविल लाइन थाना पुलिस ने सभी 13 जुआरियों के खिलाफ जुआ एक्ट के साथ महामारी एक्ट के तहत कार्रवाई की है। पुलिस ने जुआरियों से 11 लाख 11 हजार 800 रुपए बरामद किए हैं। पुलिस की छापामार कारवाई पर एक जुआरी ने पहली मंजिल से छलांग लगा दी, नीचे गिरने के कारण वह घायल हो गया है। फिलहाल उसका उपचार जारी है।

02-04-2020
हैदराबाद में डॉक्टर को पीटा, डॉक्टरों ने सुरक्षा न मिलने पर काम बंद की चेतावनी दी, क्या यही मकसद है कुछ लोगों का

रायपुर/हैदराबाद। कोरोना के एक मरीज की मौत के बाद उसी अस्पताल में भर्ती मृतक के रिश्तेदार मरीजों ने डॉक्टर को पीट दिया और अस्पताल में तोड़फोड़ की। इस बात से नाराज डॉक्टरों ने सुरक्षा की मांग की है। उन्होंने सुरक्षा ना मिलने पर काम बंद कर देने की चेतावनी दी है। इस स्थिति से सारा प्रशासन हिल गया है, मुख्यमंत्री से लेकर गृहमंत्री और स्वास्थ्य मंत्री ने भी इस मामले में दखल दिया है। पुलिस के तमाम बड़े अफसर अस्पताल पहुंच गए हैं। मारपीट करने वाले लोगों को तो फिलहाल अस्पताल में अलग-अलग रखा गया है। उनकी गिरफ्तारी कागजों पर कर ली गई है, चूंकि वे अस्पताल में इलाज करा रहे हैं, इसलिए उन्हें अस्पताल में ही रखा गया है।

फिलहाल अब सवाल यह उठता है कि आखिर डॉक्टरों से मारपीट क्यों की गई? सिर्फ हैदराबाद नहीं इंदौर में भी सैंपल लेने गई जांच टीम पर पथराव किया गया। इसके अलावा देश के कुछ अन्य हिस्सों में भी कोरोना की जांच का विरोध हुआ है और डॉक्टरों पर हमले हुए हैं। क्या यह कोरोना के खिलाफ बेहद सुनियोजित ढंग से जारी जंग को असफल करने की साजिश नहीं? क्या यह कोरोना से लड़ रहे डॉक्टरों को धमकाने की साजिश तो नहीं? क्या ये जांच टीम को जांच से रोकने कि अप्रत्यक्ष धमकी तो नहीं? सारे सवाल कहीं ना कहीं एक षड्यंत्र की ओर इशारा करते हैं, जो देश को स्थिर होता नहीं देख पा रहे हैं। उन्हें अस्थिरता चाहिए। उन्हें देश की मजबूती शायद पसंद नहीं है और संकट की इस घड़ी में जिस तेजी से जिस मजबूती से देश कोरोना के खिलाफ उठ खड़ा हुआ और लड़ रहा है। वह शायद ऐसे तत्वों को पच नहीं रहा है। ऐसे तत्वों के खिलाफ तत्काल कठोर कार्रवाई किया जाना बहुत जरूरी है अन्यथा कोरोना से ज्यादा गंभीर यह गद्दारी की बीमारी अन्य प्रदेशों में भी फैल सकती है।

02-04-2020
आखिर कहां गायब हो गया है मरकज़ का मौलाना? क्या देश को खतरे में डालने वाले को शरण देना जायज है?

दिल्ली/रायपुर। मरकज के मौलाना का अता पता नहीं मिल रहा है। पुलिस के जुर्म दर्ज करते ही मौलाना अचानक कहीं गायब हो गया, पता नहीं उसे जमीन खा गई या आसमान निगल गया। ऐसे समय में जब सारे शहरों की सीमाएं सील है, रेल बंद है, बस बंद है, हवाई जहाज की उड़ाने बंद है, तब मौलाना का इस तरह गायब हो जाना अच्छे संकेत नहीं देता है। सारे न्यूज़ चैनल उसकी तस्वीर और उसके बारे मैं खबर बता चुके हैं।

उस पर दर्ज हुए जुर्म की जानकारी दे चुके हैं, फिर भी कहीं से कोई सुराग ना मिलना और पुलिस की जगह-जगह छापेमारी का बेकार हो जाना इस बात का सबूत है कि मौलाना को कहीं सुरक्षित ठिकाने पर शरण मिली हुई है। यह बेहद चिंताजनक विषय है और इसे किसी भी सूरत में देश के प्रति प्रेम तो माना ही नहीं जा सकता। देश में कोरोना जैसी घातक बीमारी के खतरे को और बढ़ाने में जिसकी भूमिका पाई गई उसको इस तरह शरण मिलना देश के लिए प्रेम और देश के प्रति चिंता का परिचायक नहीं है। पुलिस जगह-जगह छापे मार रही है। लेकिन उसका इस तरह गायब हो जाना और पुलिस के हाथ नहीं आना बेहद शर्मनाक है और यह कतई पढ़े लिखे और समझदार होने का सबूत भी नहीं है।

02-04-2020
VIDEO: पुलिस परिवार को कोरोना से बचाने सुग्ग्घर योजना का एसपी पटेल ने किया शुभारंभ

गरियाबंद। कोरोना वायरस के डर से जहां एक ओर पूरा भारत घरों में कैद हो गया है वही अपने कर्तव्य को निभाने पुलिस जवान जोखिम भरी ड्यूटी कर रहे हैं क्योंकि रोज सैकड़ों लोगों से मिल रहे हैं इसलिए इन्हें भी करोना संक्रमित होने का खतरा बना हुआ है दूसरी ओर एसपी ने जब देखा कि पुलिस परिवार की महिलाएं सामान लेने 1 किलोमीटर दूर गरियाबंद के दुकानों तक पहुंच रही हैं तो एसपी भोजराम पटेल ने पुलिस परिवारों को राहत पहुंचाने के लिए सुग्गघर योजना का निर्माण मात्र 1 दिन में किया। इसके तहत अब पुलिस लाइन के दो अलग-अलग कालोनियों में मौजूद 200 से अधिक परिवारों में से किसी को भी सामान खरीदने दुकानों तक जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी। दो वाहनों में चार चार जवानों की ड्यूटी पुलिस परिवारों तक राशन पहुंचाने के लिए लगाई गई है। यह जवान सुबह सामान की पर्ची लेकर जाएंगे और 2 घंटे के भीतर सामान लाकर सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन करते हुए एक एक परिवार को अलग-अलग बुलाकर उनके द्वारा मंगाया गए सामान लाकर देंगे।

गरियाबंद के पुलिस अधीक्षक भोज राम पटेल तथा एडिशनल एसपी सुखनंदन राठौर ने बुधवार को इस योजना का शुभारंभ न्यू पुलिस लाइन कालोनी में किया। अधिकारियों ने सोशल डिस्टेंस के नियमों का पालन करते हुए कालोनी के सभी रहवासियों को बताया कि आज शाम से ही इस योजना का पालन शुरू हो जाएगा। इसमें सुबह आपको सामान की पर्ची देना है और दो घंटे बाद सामान आपके घर के सामने आपको मिलेगा। इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक भोज राम पटेल ने 400 से अधिक आरक्षक तथा उनके परिवारों कोरोना वायरस के प्रति जागरुक करते हुए कहा कि ऐसे समय में जब पूरा देश घरों में कैद है पुलिस जवान अपना कर्तव्य निभा रहा है। इसलिए कई प्रकार की सावधानियां आप लोगों को बरतनी होगी। हमारे इन जवानो के प्रयासों से ही कोरोना वायरस से संक्रमित एक भी व्यक्ति गरियाबंद जिले में नहीं मिला है। क्योंकि हमने बाहर के लोगों को यहां प्रवेश प्रतिबंधित कर रखा है। अब हमें यह देखना है कि हमारे परिवार के लोगों को इस से बचाना है। इसके लिए कई जरूरी सावधानियां बरतनी पड़ेगी।

01-04-2020
पुलिस अधीक्षक पहुंचे पुलिस लाइन,आरक्षकों के परिजनों से मिले, बच्चों से की पढ़ाई के संबंध में पूछताछ

गरियाबंद। नवनियुक्त पुलिस अधीक्षक भोजराम पटेल ने बुधवार को पुलिस लाइन पहुंचे। यहां आरक्षकों के परिवार की महिला एवं बच्चों से भेंट कर उन्हें कोरोना वायरस से सुरक्षा के उपाय समझाए। पुलिस अधीक्षक ने कई आरक्षक के परिवारों से घर में जाकर मुलाकात की। साथ ही उनके बच्चे और पत्नियों से व्यक्तिगत चर्चा कर उनकी समस्याओं को समझा और जाना। उन्होंने बच्चों की पढ़ाई लिखाई व अन्य दिक्कतों को लेकर भी प्रश्न किए। आरक्षकों की पत्नियों ने व्यवस्थाओं से संतुष्टि जताई तो वहीं कुछ पुलिस कॉलोनी की महिलाओं ने पेयजल को लेकर दिक्कतें बताई। एसपी भोजराम पटेल ने तत्काल अपने स्टाफ को सारी व्यवस्थाओं को ठीक करने का निर्देश दिया। बच्चों ने गार्डन को अच्छा बनाने की मांग की,जिस पर पुलिस अधीक्षक ने तत्काल अपने अधीनस्थों को निर्देशित किया कि गार्डन की समुचित देखरेख की जाए। इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक के साथ अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सुखनंदन सिंह राठौर,सूबेदार उमेश राय आदि अधिकारी व कर्मचारी उपस्थित थे।

01-04-2020
महुआ शराब बनाने वालों पर पुलिस और आबकारी टीम ने की कार्रवाई

आरंग। आरंग थानांतर्गत ग्राम चिखली में आरंग पुलिस और आबकारी की संयुक्त टीम ने छापा मारकर अवैध रूप से महुआ शराब बनाने वाले 3 लोगों को गिरफ्तार किया है। थाना प्रभारी लेखधर दीवान ने बताया कि टीम लॉकडाउन का मुआयना करने ग्रामीण क्षेत्र की ओर निकली हुई थी। यहां ग्राम चिखली में सूचना पर गांव के ही गंगाराम गेन्द्रे, पवन निषाद और चद्रशेखर बारले को लगभग 7 लीटर महुआ शराब और शराब बनाने की सामग्री के साथ गिरफ्तार किया गया। तीनों आरोपियों के खिलाफ आबकारी एक्ट की धारा 34(1)(क) के तहत कार्रवाई की गई है।

 

01-04-2020
बिना अनुमति गाड़ी में मुर्गियां भरकर ले जा रहा ड्राइवर पुलिस देखकर हुआ फरार, लोग ले गए मुर्गियां

रायपुर। शहर के कालीबाड़ी चौक के पास गांधी नगर मैदान में मुर्गे से भरी गाड़ी छोड़कर फरार चालक के खिलाफ कोतवाली थाना पुलिस ने जुर्म दर्ज कर लिया है। बता दें कि टेलीफोन पर सूचना मिली कि मुर्गे से भरी गाड़ी क्रमांक सीजी 08 एएम 0334 को गांधी नगर मैदान के पास खड़ी कर चालक गायब हो गया है। इससे वहां पर भीड़ जुट गई और लोग खुद गाड़ी से मुर्गा लेकर घर जाने लगे। बिना प्रशासन की अनुमति के सार्वजनिक स्थल पर जानबूझकर गाड़ी खड़ी करने से मानव जीवन के स्वास्थ्य, सुरक्षा के लिए खतरा और जारी आदेश का उल्लंघन के मामले में पुलिस ने वाहन चालक के खिलाफ अपराध पंजीबद्ध किया है।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804