GLIBS
23-06-2020
अकोला में महसूस किए गए भूकंप के हल्के झटके

नागपुर। महाराष्ट्र के अकोला में मंगलवार की शाम भूकंप के हल्के झटके महसूस किए गए। राष्ट्रीय भूकंप विज्ञान केंद्र के मुताबिक भूकंप की तीव्रता रिक्टर स्केल पर 3.3 रही। यह भूकंप मंगलवार की शाम 5 बज कर 28 मिनट पर अकोला के दक्षिण में 129 किलोमीटर दूर दर्ज किया गया। देश के विभिन्न हिस्सों में भूकंप के झटके आने का सिलसिला जारी है। ओडिशा के रायगढ़ जिले के काशीपुर में सोमवार शाम को भूकंप के हल्के झटके महसूस किए गए। रिक्टर स्केल पर इसकी तीव्रता 3.6 मांपी गई थी। यह झटके शाम चार बजकर 40 मिनट पर महसूस किए गए।इससे पहले रविवार को भी पूर्वोत्तर भारत के कई राज्यों में रविवार को भूकंप के झटके महसूस किए गए। असम के गुवाहाटी, मेघालय, मणिपुर और मिजोरम में भूकंप के हल्के झटके महसूस किए गए थे। रिक्टर स्केल पर भूकंप की तीव्रता 5.1 मापी गई थी।

 

22-06-2020
ओडिशा में हिली धरती, रिक्टर स्केल पर मापी गई 3.6 तीव्रता

भुवनेश्वर। देश के विभिन्न हिस्सों में भूकंप के झटके आने का सिलसिला जारी है। ओडिशा के रायगढ़ जिले के काशीपुर में सोमवार शाम को भूकंप के हल्के झटके महसूस किए गए। रिक्टर स्केल पर इसकी तीव्रता 3.6 मापी गई है। यह झटके शाम 4 बजकर 40 मिनट पर महसूस किए गए। इससे पहले रविवार को पूर्वोत्तर भारत के कई राज्यों में रविवार को भूकंप के झटके महसूस किए गए। असम के गुवाहाटी, मेघालय, मणिपुर और मिजोरम में भूकंप के हल्के झटके महसूस किए गए। रिक्टर स्केल पर भूकंप की तीव्रता 5.1 मापी गई। मिजोरम के आइजोल को भूकंप का केंद्र बताया जा रहा है। 

 

22-06-2020
सुप्रीम कोर्ट ने पुरी में जगन्नाथ यात्रा निकालने पर दी सहमति, लगाई यह शर्तें

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने पुरी में भगवान जगन्नाथ रथ यात्रा को इजाजत दे दी है। मंदिर कमेटी, राज्य सरकार और केंद्र सरकार के आपसी तालमेल से रथयात्रा का आयोजन किया जाएगा। यात्रा का आयोजन लोगों की सेहत के साथ समझौता किए बिना किया जाएगा। प्रधान न्यायाधीश एसए बोबडे ने पुरी रथ यात्रा के आयोजन को लेकर दायर याचिकाओं पर सोमवार को सुनवाई के लिए तीन न्यायाधीशों की पीठ का गठन किया था।

बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने जगन्नाथ पुरी में 23 जून को होने वाली रथयात्रा को कोरोना महामारी के कारण 18 जून को ही रोक लगा दी थी। लेकिन शीर्ष अदालत के इस फैसले के खिलाफ कई पुनर्विचार याचिकाएं दाखिल हो गईं और कोर्ट से अपने पूर्व के आदेश पर रोक लगाने की मांग की गई है। कोर्ट पुनर्विचार याचिकाओं पर में सुनवाई के लिए शीर्ष अदालत सहमत हो गई है। चीफ जस्टिस एसएस बोबडे के नेतृत्व में 3 जजों की बेंच इसपर सुनवाई की। कोर्ट में केंद्र सरकार ने रथयात्रा का समर्थन किया है। सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि पुरी रथयात्रा स्वास्थ्य मुद्दे से समझौता किए बिना मंदिर समिति, राज्य और केंद्र सरकार के समन्वय के साथ आयोजित की जाएगी। दरअसल केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में जस्टिस अरुण मिश्रा की अध्यक्षता वाली दो जजों की बेंच के सामने भगवान जगन्नाथ रथ यात्रा का मामला रखते हुए कहा था कि बिना भीड़ के धार्मिक रीतियों को पूरा करने की अनुमति दी जानी चाहिए, पूरी सावधानी के साथ यात्रा पूरी की जाएगी। ओडिशा सरकार ने भी इसी तर्ज़ पर यात्रा का समर्थन किया।

 

18-06-2020
23 जून को पुरी में नहीं निकलेगी रथयात्रा, सुप्रीम कोर्ट ने लगाई रोक

रायपुर/नई दिल्ली। वैश्विक महामारी कोरोना ने अब ओड़िशा के पुरी में निकलने वाली भव्य रथयात्रा को अपनी चपेट में ले लिया है। इस वर्ष जगन्नाथ पुरी में रथयात्रा नहीं निकलेगी। रथयात्रा पर सुप्रीम कोर्ट ने रोक लगा दी है। सुप्रीम कोर्ट ने 23 जून को जगन्नाथ पुरी धाम में निकलने वाली रथयात्रा पर कोरोना वायरस के कारण रोक लगाई है। गुरुवार को हुई सुनवाई में सुप्रीम कोर्ट ने यह फैसला सुनाया है। सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि कोरोना महामारी के संकट के समय बड़ी संख्या में लोगों को एकत्रित होने नहीं दिया जा सकता है। जनहित और लोगों की सुरक्षा को ध्यान देते हुए इस साल रथ यात्रा की इजाजत नहीं दी जा सकती है।

17-06-2020
श्रमिकों को छोडऩे जा रही बस खेत में घुसी

रायपुर/महासमुंद। सोमवार शाम मजदूरों को उनके गांव छोडऩे जा रही बस अनियंत्रित होकर खेत में जा घुसी। ओडिशा से आए सेवाती कोल्दा, बरगांव और सम्हर के करीब 10 मजदूरों को यह बस छोडऩे जा रही थी कि सेवाती कोल्दा से पहले अनियंत्रित हो गई और बस खेत में जा घुसी। लेकिन, चालक ने गंभीर घटना नहीं होने दी और तत्काल बस को नियंत्रित कर लिया। इससे बड़ी दुर्घटना टल गई। बस में सवार सभी मजदूर सकुशल हैं।

 

13-06-2020
रविवार को फिर भिंगाने आएंगे काले बादल, जानिए अगले 4 दिनों तक आपके जिले में मौसम का हाल

रायपुर। बस्तर और रायपुर में मानसून ने प्रवेश करते ही अच्छी बारिश की शुरुआत हो चुकी है। शुक्रवार रात और शनिवार सुबह भी राजधानी में बारिश हुई। अब मौसम विभाग ने अगले 4 दिनों तक जिलेवार वर्षा के पूर्वानुमान जारी किया है। विशेषकर रविवार 14 जून को प्रदेश के कई स्थानों में मध्यम और उत्तर छत्तीसगढ़ में बारी बारिश की संभावना जताई है। मौसम विज्ञानी एचपी चंद्रा ने कहा है कि निम्न दाब का क्षेत्र खत्म हो गया है, परंतु इसके साथ ऊपरी हवा का चक्रीय चक्रवाती घेरा 7.6 किलोमीटर ऊंचाई तक उत्तर अंदरूनी ओड़िशा और इसके आस-पास स्थित है। एक द्रोणिका उत्तर पश्चिम राजस्थान से उत्तर अंदरूनी ओड़िशा तक, उत्तर मध्य प्रदेश, उत्तर छत्तीसगढ़ होते हुए 1.5 किलोमीटर ऊंचाई तक स्थित है। उपरोक्त मौसमी तंत्र के कारण 14 जून रविवार को प्रदेश के उत्तरी भाग के अधिकांश स्थानों, मध्य भाग के कुछ  स्थान और दक्षिण भाग के अनेक स्थान पर हल्की से मध्यम वर्षा होने की संभावना है। उत्तर छत्तीसगढ़ के एक-दो स्थानों पर भारी वर्षा होने की संभावना है। उन्होंने कहा है कि दक्षिण पश्चिम मानसून और आगे बढ़ते हुए मध्य महाराष्ट्र के कुछ और भाग मराठवाड़ा के अधिकांश भाग और विरार, छत्तीसगढ़ के कुछ और भाग, ओड़िशा के शेष हिस्से, पश्चिम बंगाल ,झारखंड के अधिकांश भाग और बिहार के कुछ भाग तक पहुंच गया है। इसकी उत्तरी सीमा हरनोई, अहमदनगर, औरंगाबाद, गोंदिया, चांपा, रांची और भागलपुर तक है।  जिलेवार वर्षा का पूर्वानुमान देखने यहां क्लिक करें  

11-06-2020
पति-पत्नी क्वारेंटाइन सेंटर से फरार, पुलिस ने किया मामला दर्ज

महासमुंद। ओडिशा से आए पति-पत्नी क्वारेंटाइन सेंटर से भाग निकले। इसका खुलासा तब हुआ जब पंचायत प्रतिनिधि क्वारेंटाइन सेंटर पहुंचे। इसकी शिकायत होने के बाद दोनों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। मिली जानकारी के अनुसार ग्राम कोमा में डिगेश्वर कुर्रे पिता बाबुलाल कुर्रे उम्र 22 वर्ष एवं नीलम कुर्रे पति डिगेश्वर कुर्रे उम्र 20 वर्ष निवासी कोमा ओड़िशा से आने के कारण कोरोना वायरस से होने वाले संक्रमण एवं महामारी की रोकथाम व ग्रामीणों की सुरक्षा के लिए क्वारेन्टाइन सेंटर शासकीय मिडिल स्कूल कोमा में क्वारेंटाइन में रखा गया था। लेकिन निर्धारित अवधि को पूरा करने से पहले दोनों भाग निकले। ग्राम पंचायत प्रतिनिधि सविता गोस्वामी सरपंच, जती निषाद पंच, लाला राम पंच, रोजगार सहायिका सुभाषिणी सोनी, दुबेलाल कोटवार, राधा बाई दीवान पंच, मितानीन टोमिन दीवान आदि के समक्ष क्वारंटाइन सेंटर का ताला खोलकर देखा गया तो दोनों के भागने का खुलासा हुआ। इसके बाद इसकी शिकायत थाने में की गई। पुलिस ने दोनों के खिलाफ धारा 188, 269, 270, 34 का मामला दर्ज किया है।

08-06-2020
अमित शाह ने कहा, कोरोना से लड़ने में हमसे कुछ चूक हुई होगी,लेकिन विपक्ष ने क्या किया

नई दिल्ली। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने सोमवार को वर्चुअल जन संवाद रैली के माध्यम से ओडिशा की जनता और पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि कोरोना से लड़ने में हमसे कुछ चूक हुई होगी, लेकिन विपक्ष ने क्या किया यह भी बताए।अमित शाह ने कहा कि ओड़िशा में अभी अम्फान चक्रवात आया तब अपनी जान को जोखिम में डालकर नरेन्द्र मोदी ओड़ियावासियों के साथ चट्टान की तरह खड़े दिखे। अम्फान चक्रवात में हुए नुकसान की भरपाई के लिए 500 करोड़ रुपये प्राथमिक तौर पर दिए।उन्होंने कहा, 'विपक्ष के कुछ वक्र दृष्टा आज हम पर सवाल उठाते हैं तो मैं उन्हें पूछता हूं कि उन्होंने क्या किया? कोई स्वीडन में, कोई अमेरिका में लोगों से बात करता है, इसके अलावा और क्या किया आपने? पीएम मोदी ने कोरोना में त्वरित सहायता के लिए 1.7 लाख करोड़ रुपये जरूरतमंदों के लिए दिए हैं।

'रैली को संबोधित करते हुए उन्होंने कोरोना महामारी से लेकर राम मंदिर निर्माण और 14वें वित्त आयोग के तहत ओडिशा को दिए गए फंड का भी उल्लेख किया। अमित शाह ने कहा कि 13वें वित्त आयोग में कांग्रेस सरकार ने 79,000 करोड़ रुपये ओड़िशा के लिए दिए थे। मोदी सरकार 2.11 लाख करोड़ रुपये 14वें वित्त आयोग के तहत ओड़िशा के विकास के लिए दिए। उन्होंने कहा, 'राम जन्मभूमि का विवाद वर्षों से चल रहा था। करोड़ों लोग राह देखते थे कि कब राम जन्मभूमि पर भव्य राम मंदिर बनेगा। मोदी सरकार को आपने दोबारा बहुमत दिया, सटीक तरीके से अपना पक्ष रखा गया और सुप्रीम कोर्ट ने राम जन्मभूमि के पक्ष में फैसला दिया।'

 

08-06-2020
बड़ा हादसा : ओडिशा के ढेंकनाल में प्रशिक्षण विमान दुर्घटनाग्रस्त, ट्रेनी पायलट सहित दो की मौत

नई दिल्ली। ओडिशा में सोमवार को एक बड़ा हादसा हो गया है। ढेंकनाल जिले के कामाख्यानगर क्षेत्र के पास एक प्रशिक्षण विमान दुर्घटनाग्रस्त हो गया है। मिली जानकारी के अनुसार हादसे में ट्रेनी पायलट सहित इंस्ट्रक्टर की मौत हो गई है। बताया जा रहा है दुर्घटना उस समय हुई जब प्रशिक्षु जिले के कंकड़बड़ा पुलिस सीमा के तहत बिरसाला में सरकारी विमानन प्रशिक्षण संस्थान (गति) में उड़ान प्रशिक्षण ले रहे थे।
 
दुर्घटना की होगी जांच :

घटना की पुष्टि करते हुए ढेंकनाल के जिलाधिकारी बीके नायक ने कहा कि दोनों को कामाख्यानगर के नजदीकी अस्पताल ले जाया गया। जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। घटनास्थल पर वरिष्ठ पुलिस और जिलाधिकारी मौजूद हैं और वे घटना की जांच करेंगे। अधिकारियों का कहना है कि दुर्घटना तकनीकी खामी या खराब मौसम के कारण हुई।

उड़ान भरने के बाद जमीन पर गिर गया विमान :
 
कामाख्यानगर पुलिस स्टेशन के इंस्पेक्टर इंचार्ज ए दलुआ ने कहा कि ट्रेनर पुरुष था जबकि प्रशिक्षक की पहचान नहीं हो पाई है। हालांकि कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में कहा जा रहा है कि मरने वालों में एक महिला शामिल है। सूत्रों के अनुसार उड़ान भरने के बाद विमान अचानक जमीन पर गिर गया जिससे उसके अंदर मौजूद दोनों लोगों की मौत हो गई।

30-05-2020
प्रवासी मजदूरों को बंगाल ले जा रही बस ओडिशा में पलटी, सात घायल

नई दिल्ली। केरल से पश्चिम बंगाल के प्रवासी लोगों को लेकर लौट रही एक बस ओडिशा के बालासोर जिले में पलट गई, जिससे कम-से-कम सात लोग घायल हो गए हैं। एक पुलिस अधिकारी के हवाले से बताया कि कोलकाता जा रही इस बस में 38 यात्री सवार थे जब ये बालासोर शहर के पास दुर्घटनाग्रस्त हो गई। अधिकारी ने बताया कि पश्चिम बंगाल के अलग-अलग हिस्सों के रहने वाले ये लोग लॉक डाउन की वजह से केरल में फंस गए थे। अधिकारी के अनुसार घायलों की स्थिति स्थिर है। बाकी यात्रियों को एक अस्थायी शिविर में सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का ध्यान रखते हुए ठहरवाया गया है। उन्हें एक अन्य बस से कोलकाता पहुंचाने का इंतजाम किया जा रहा है।

24-05-2020
ओडिशा में प्रवासियों के लिए 14 दिनों का क्वारंटाइन अनिवार्य, इन राज्यों में भी है जरूरी

नई दिल्ली। कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए देशभर में लॉक डाउन घोषित है। लॉक डाउन की वजह से जहां-तहां फंसे प्रवासियों वापस अपने घरों की ओर लौटने का सिलसिला जारी है। 25 मई यानी कि सोमवार से सरकार घरेलू विमानों का संचाल भी शुरू करने जा रही है। इसके कारण कई राज्य सरकारों ने वापस आ रहे लोगों के लिए 14 दिनों का क्वारंटाइन जरूरी कर दिया है। अब ओडिशा सरकार ने फैसला लिया है कि जो भी विमान से राज्य वापस आएगा उसे क्वारंटाइन रहना होगा। ओडिशा सरकार के अनुसार ओडिशा में वापसी पर 14 दिनों का क्वारंटाइन अनिवार्य होगा। ग्रामीण क्षेत्रों में 7-दिनों का संस्थागत और 7-दिनों का होम क्वारंटाइन होना होगा। वहीं, शहरी क्षेत्रों में 14 दिनों का अनिवार्य होम क्वारंटाइन रहेगा। वहीं, पंजाब, अंडमान-निकोबार, कर्नाटक, केरल, असम, उत्तर प्रदेश और आंध्र प्रदेश ने भी कहा है कि विमान से आने वाले यात्रियों को 14 दिन होम क्वारंटाइन होना होगा।

योगी सरकार ने नियम तय किए :

उत्तर प्रदेश में 25 मई से शुरू होने वाली हवाई उड़ानों का प्रोटोकॉल तैयार कर लिया गया है। इनमें जो प्रदेश के बाहर के निवासी आएंगे उन्हें क्वारंटाइन में रखा जाएगा। जो यात्री एक-दो दिन के लिए अपने काम से आएंगे, उन्हें अपने रिटर्न टिकट का पूरा ब्योरा देना होगा। यह भी बताना होगा कि वह कहां रुकेंगे। किस काम से आए हैं।

जम्मू-कश्मीर में जांच रिपोर्ट आने तक पृथकवास जरूरी :

प्रशासन ने कहा कि अगले हफ्ते से राज्य में आने वाले यात्रियों को कोविड-19 जांच कराना अनिवार्य होगा। जांच रिपोर्ट आने तक उन्हें संस्थागत पृथकवास में रहना होगा। प्रशासन ने कहा कि सड़क, रेल और हवाई मार्ग से आने सभी यात्रियों या प्रदेशवासियों के लिए कोविड-19 जांच अनिवार्य है। जांच रिपोर्ट आने तक उन्हें 14 दिनों के लिए संस्थागत पृथकवास में रहना होगा। रिपोर्ट निगेटिव आने पर उन्हें गृह पृथकवास में भेजा जाएगा।

पंजाब ने भी लिया फैसला :

पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने कहा कि राज्य में विमान, ट्रेन या बस से आने वाले सभी यात्रियों को अनिवार्य तौर पर 14 दिन के होम क्वारंटाइन में जाना होगा। अंडमान-निकोबार प्रशासन ने कहा कि सभी यात्रियों की थर्मल स्क्रीनिंग होगी। उन्हें 14 दिन के लिए होम क्वारेंटाइन में जाना होगा।

23-05-2020
अम्फान तूफान के बाद अपने संसदीय क्षेत्र पहुंचीं नुसरत जहां, राहत सामग्री कराई उपलब्ध

नई दिल्ली। कोरोना महामारी के साथ साथ पश्चिम बंगाल और ओडिशा में अम्फान तूफान ने तबाही मचा दी है। ऐसे में अभिनेत्री और टीएमसी सांसद नुसरत जहां अपने चुनाव क्षेत्र में स्थिति जायजा लेने पहुंचीं। इस दौरान नुसरत ने न सिर्फ लोगों से बात की बल्कि पूरे इलाके का अच्छे से जायजा लिया। इसके साथ ही इस दौरान नुसरत ने यहां राहत सामग्री और खाने-पीने का सामना भी लोगों को मुहैया कराया है। अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर नुसरत जाहं ने लिखा- 'मैं चुनाव क्षेत्र बशीरहाट के बुरी तरह से प्रभावित इलाके में गईं। लोगों से मिलीं और उन्हें शेल्टर होम पहुंचाया। इसमें हम सब साथ हैं।नुसरत ने आगे लिखा- 'कोरोना वायरस से बचने और इस प्राकृतिक आपदा से लड़ने के लिए हमें जरूरी सावधानियां बरतने की जरूरत है, हम इस पर काबू पाएंगे।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804