GLIBS
07-04-2020
भारत सरकार का बड़ा फैसला, हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन दवा के निर्यात पर बैन हटाने को तैयार

 नई दिल्ली। भारत सरकार ने वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के मद्देनजर बड़ा कदम उठाया है। विदेश मंत्रालय ने निर्णय लेते हुए एंटी मलेरिया दवा हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन के निर्यात से आंशिक तौर पर बैन हटा दिया है। विदेश मंत्रालय ने बताया कि भारत अपने सभी पड़ोसी देशों को उचित मात्रा में पेरासिटामोल और हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन का लाइसेंस देगा। साथ ही हम इन आवश्यक दवाओं की आपूर्ति कुछ देशों को भी करेंगे जो विशेष रूप से कोरोना महामारी से बुरी तरह प्रभावित हुए हैं। भारत ने कहा कि घरेलू जरूरतों का हिसाब लगाने के बाद ही कोरोना वायरस महामारी से प्रभावित देशों की मांग पर हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन दवा की आपूर्ति को लेकर फैसला लिया जाएगा। यानी अभी तक यह तय नहीं हो पाया है कि किस देश को कितनी आपूर्ति की जाएगी। यह जानकारी इस मामले से जुड़े लोगों ने दी। बता दें कि अमेरिका के राष्ट्रपति ट्रंप ने पीएम मोदी को फोन कर हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन दवा की आपूर्ति की गुहार लगाई है। दरअसल अमेरिका लगातार भारत से इस दवा की मांग कर रहा है। ट्रंप ने फोन पर पीएम मोदी से कोरोना के मरीजों के इलाज के लिए हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन टैबलेट्स की आपूर्ति की मांग की थी। बता दें कि हाइड्रॉक्सीक्लोरोक्वाइन दवा को कोविड-19 के मरीजों के इलाज के लिए ट्रायल फेज में है। भारत हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन के सबसे बड़े निर्माताओं में से एक है, जिसका उपयोग मलेरिया के लिए किया जाता है। हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन मलेरिया की दशकों पुरानी दवा है। विदेश व्यापार महानिदेशालय (डीजीएफटी) ने 25 मार्च को इस दवा के निर्यात पर रोक लगा दी थी। हालांकि डीजीएफटी ने कहा था कि मानवता के आधार पर मामले-दर-मामले में इसके कुछ निर्यात की अनुमति दी जा सकती है।

15-02-2020
कश्मीर पर तुर्की के राष्ट्रपति को भारत का जवाब, कहा-आंतरिक मामलों में हस्तक्षेप ना करें

नई दिल्ली। भारत ने तुर्की के राष्ट्रपति रजब तैयब एर्दोआन को शनिवार को आंतरिक मामलों में हस्तक्षेप नहीं करने की नसीहत दी। दरअसल, पाकिस्तान दौरे पर पहुंचे तुर्की के राष्ट्रपति ने एक बार फिर भारत के खिलाफ जहर उगला। उन्होंने कश्मीर के मामले में टांग अड़ाते हुए कहा कि तुर्की के लिए भी कश्मीर उतना ही अहमियत रखता है जितना पाकिस्तान के लिए। इस पर विदेश मंत्रालय ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि तुर्की के राष्ट्रपति की ओर से दिए गए सभी संदर्भों को भारत खारिज करता है। साथ ही मंत्रालय ने कहा कि जम्मू-कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है, जो उससे कभी अलग नहीं हो सकता। मंत्रालय ने तैयब एर्दोआन को नसीहत देते हुए कहा कि वे हमारे आंतरिक मामलों में हस्तक्षेप ना करें।

 

 

07-02-2020
भारत की चार दिवसीय यात्रा पर आएंगे पुर्तगाल के राष्ट्रपति

नई दिल्ली। पुर्तगाल के राष्ट्रपति मासेलो रेबेलो डी सूसा 13 से 16 फरवरी तक भारत की चार दिवसीय यात्रा पर आ रहे हैं। विदेश मंत्रालय ने बताया कि इस दौरान वे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ द्विपक्षीय क्षेत्रों और द्विपक्षीय संबंधों में प्रगति की समीक्षा करेंगे। पुर्तगाली राष्ट्रपति के साथ एक उच्चस्तरीय प्रतिनिधिमंडल भी आएगा। इसके पहले वर्ष 2007 में पुर्तगाली राष्ट्रपति ने भारत की यात्रा की थी। विदेश मंत्रालय ने बयान दिया है कि इस यात्रा से दोनों देशों को द्विपक्षीय संबंधों के विभिन्न क्षेत्रों में प्रगति की समीक्षा करने और आपसी सहयोग के नए मार्ग पर चलने और अंतरराष्ट्रीय हितों पर विचार-विमर्श करने का अवसर मिलेगा। यात्रा के दौरान 14 फरवरी को डी सूसा का राष्ट्रपति भवन में औपचारिक स्वागत किया जाएगा।

25-01-2020
अब गर्भवती महिलाओं को नहीं मिलेगा अमेरिकी वीजा, 24 जनवरी से प्रभावी हुआ नियम

नई दिल्ली। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने आव्रजन के विरुद्ध लड़ाई में नया मोर्चा खोल दिया है। अब वीजा को लेकर अमेरिका में पाबंदियां लगाना राष्ट्रपति ट्रंप का यह मुख्य एजेंडा रहा है। तथाकथित बर्थ टूरिज्म के नाम पर अमेरिका में प्रवेश पाने वाली गर्भवती महिलाओं को वीजा मिलना अब बंद हो जाएगा। व्हाइट हाउस ने इसके लिए नया नियम लागू कर दिया है जो शुक्रवार से प्रभावी हो गया है। व्हाइट हाउस ने कहा है कि गर्भवती महिलाएं बच्चों को जन्म देने के लिए अमेरिका आती हैं ताकि उनके बच्चों को यहां की नागरिकता मिल सके। अमेरिकी संविधान के तहत वहां जन्म लेने वाले को स्वत: ही यूएस नागरिकता मिल जाती है, भले ही वह किसी भी देश का हो। नया नियम लागू होने के बाद अब गर्भवती महिलाओं को अमेरिका की यात्रा करने के लिए कोई दूसरा ठोस कारण बताना होगा।

व्हाइट हाउस प्रवक्ता स्टेफनी ग्रिशम ने कहा, अमेरिकियों की सुरक्षा व राष्ट्रीय हितों की अखंडता को सुरक्षित करना जरूरी है। अब गर्भवती महिलाओं को अस्थायी बी-1 और बी-2 यात्री वीजा जारी नहीं किया जाएगा। बर्थ टूरिज्म से अस्पतालों की सुविधाओं पर भारी असर पड़ा था और इससे आपराधिक गतिविधियां बढ़ गई थीं। इस पाबंदी से अमेरिकी करदाताओं की कमाई भी सुरक्षित होगी, जिसका फायदा विदेशी गर्भवती महिलाएं उठाती थीं।

रूस-चीन की महिलाएं उठाती रही हैं लाभ

वैसे तो दुनिया भर से महिलाएं अमेरिका में बर्थ टूरिज्म का लाभ उठाती रही हैं लेकिन रूस और चीन से बड़ी संख्या में महिलाएं अपने बच्चों को जन्म देने के लिए यहां पहुंचती हैं। सेंटर फॉर इमिग्रेशन स्टडीज के मुताबिक, अकेले 2012 में ही 36 हजार से ज्यादा विदेशी महिलाओं ने अमेरिका में बच्चों को जन्म दिया था।

71 लाख रुपये तक वसूलते हैं ऑपरेटर

अधिकारियों ने बताया कि ‘बी’ वीजा के जरिए अमेरिका पहुंचकर हर साल बच्चों को जन्म देने वाली महिलाओं की संख्या लगातार बढ़ रही थी। अमेरिकी विदेश मंत्रालय के मुताबिक, अमेरिकी धरती पर बच्चों को जन्म दिलाने के लिए ऑपरेटर एक महिला से एक लाख डॉलर (करीब 71 लाख रुपये) तक वसूलते रहे हैं। 2016 के मध्य से लेकर 2017 के मध्य तक बर्थ वीजा के जरिए 33 हजार बच्चों का जन्म हुआ।

21-01-2020
ब्राजील के राष्ट्रपति बोलसोनारो होंगे गणतंत्र दिवस समारोह के मुख्य अतिथि

नई दिल्ली। गणतंत्र दिवस समारोह में बतौर विशेष अतिथि शामिल होने के लिए ब्राजील के राष्ट्रपति जेयर बोलसोनारो शुक्रवार को चार दिवसीय दौर पर भारत आएंगे। राष्ट्रपति पद का कार्यभर संभालने के बाद बोलसोनारो की यह पहली भारत यात्रा होगी। बोलसोनारो सात मंत्रियों, शीर्ष अधिकारियों और एक बड़े व्यापारिक प्रतिनिधिमंडल के साथ यहां पहुंचेंगे। विदेश मंत्रालय ने ट्वीट कर इस बात की जानकारी दी है। ट्वीट में लिखा,'प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के निमंत्रण पर ब्राजील के राष्ट्रपति जेयर बोलसोनारो 24 से 27 जनवरी तक भारत दौरे पर रहेंगे। वह 26 जनवरी को भारत की 71वीं गणतंत्र दिवस परेड में विशेष अतिथि होंगे।' राजपथ पर गणतंत्र दिवस 2020 परेड की रिहर्सल के चलते 17,18,20 और 21 जनवरी को कई मार्गों पर वाहन प्रतिबंधित रहेंगे। दिल्ली ट्रैफिक पुलिस के मुताबिक विजय चौक-राजपथ- इंडिया गेट (सी-हैक्सागन) परेड की रिहर्सल का रूट रहेगा। इस दौरान सुबह 9 बजे से दोपहर 12 बजे तक रफी मार्ग, जनपथ, मानसिंह रोड पर वाहन प्रतिबंधित रहेंगे। नई दिल्ली स्टेशन के लिए सरदार पटेल मार्ग, बुलीवर मार्ग, शंकर रोड, पार्क स्ट्रीट मंदिर मार्ग से जा सकते हैं।

 

18-01-2020
पाक में हिंदू लड़कियों के अपहरण पर भारत चिंतित, पाकिस्तानी अधिकारी तलब

नई दिल्ली। पाकिस्तान में हिंदू लड़कियों के हाल में हुए अपहरण की घटनाओं पर भारत के विभिन्न नागरिक समाज ने भारी चिंता जताई है। बताया जा रहा है कि अल्पसंख्यक हिंदू समुदाय की 2 नाबालिग लड़कियों शांति मेघवाड़ और सरमी मेघवाड़ का 3 दिन पहले 14 जनवरी को सिंध प्रांत के एक गांव से अपहरण कर लिया गया था।

पाकिस्तान में लंबे समय से अल्पसंख्यक हिंदुओं और सिख समुदाय की लड़कियों के साथ अत्याचार की खबरें आती रही हैं। महीने की शुरुआत में पाकिस्तान स्थित ननकाना साहिब गुरुद्वारे पर भीड़ द्वारा हुई हिंसा की घटना हुई थी जिस पर भारत की ओर से चिंता जताई गई थी। नाबालिग लड़कियों के अपहरण पर कड़ा विरोध दर्ज कराने के लिए विदेश मंत्रालय ने शुक्रवार को दिल्ली स्थित पाकिस्तान उच्चायोग के एक वरिष्ठ अधिकारी को तलब किया है। भारत की ओर से इन घटनाओं की कड़ी निंदा की गई है, और लड़कियों को उनके परिवारों तक तत्काल सुरक्षित वापस लाने के लिए कहा गया है।

 

28-12-2019
सेना ने मार गिराए 10 पाकिस्तानी सैनिक, दो चौकियां की तबाह, लगातार हो रहे संघर्ष विराम उल्लंघन का दिया करारा जवाब

नई दिल्ली। पाकिस्तान की ओर से नियंत्रण रेखा (एलओसी) पर लगातार हो रहे संघर्ष विराम उल्लंघन का भारतीय सेना ने करारा जवाब दिया है। पुंछ के कृष्णा घाटी और मनकोट में गोलाबारी के खिलाफ जवाबी कार्रवाई में भारतीय सेना ने 10 पाकिस्तानी सैनिकों को मार गिराया। इस हमले में पाकिस्तान के कब्जे कश्मीर (पीओके) के बट्टल में दो चौकियां तबाह हो गईं, जबकि कई अन्य को भारी नुकसान पहुंचा है। बृहस्पतिवार को भी सेना ने उड़ी सेक्टर में पाकिस्तान के दो सैनिकों को मार गिराया था। बीते दो दिन में पाकिस्तान के 12 सैनिक मारे गए हैं। सूत्रों के अनुसार सीमा पार मरने वाले सैनिकों की संख्या ज्यादा भी हो सकती है।

गुरूवार रात कार्रवाई के बाद शुक्रवार सुबह पाकिस्तानी सेना की दर्जनों एंबुलेंस को बट्टल में सैनिकों के शव ले जाते देखा गया। पाकिस्तानी सेना ने बट्टल क्षेत्र में आम लोगों को घरों में रहने का निर्देश दिया है, ताकि भारतीय सेना की कार्रवाई में हुए नुकसान की खबर बाहर न निकल सके। जवानों की मौत से बौखलाए पाकिस्तान ने दोपहर बाद राजौरी के नौशेरा सेक्टर में गोलाबारी की। अग्रिम चौकियों के साथ रिहायशी इलाकों को निशाना बनाया। कलाल व डींग में भी गोलाबारी की। गोलाबारी से डींग में ग्रेफ विभाग की बैरक और मशीन क्षतिग्रस्त हो गईं। वहां ड्यूटी पर तैनात चौकीदार व अन्य ने पास बने बंकर में छिपकर जान बचाई। धमाके नौशहरा कस्बे तक सुने गए। दोपहर एक बजे शुरू हुई गोलाबारी 2:30 बजे तक जारी रही। राजौरी के सुंदरबनी में पाकिस्तान ने मोर्टार दागे। वहीं, सिलिकूट, हथलंगा, मोथल, सोवरा, बालकोट, चुरंडा और आस-पास इलाकों को निशाना बनाने से ग्रामीणों में दहशत है। शुक्रवार को भी लोग घरों से निकलने में डरते रहे।

लगातार गोलाबारी से तनाव

पिछले कुछ दिनों से पाकिस्तान की ओर से लगातार की जा रही गोलाबारी से एलओसी पर तनाव है। जवानों को अतिरिक्त सतर्कता बरतने की हिदायत दी गई है। बुधवार को पाकिस्तान की गोलाबारी में उड़ी सेक्टर में एक जेसीओ शहीद हो गए थे और चुरंडा गांव में एक महिला की मौत हुई थी। सिलिकूट, हथलंगा, मोथल, सोवरा, बालकोट के रिहायशी इलाकों को निशाना बनाने से ग्रामीणों में दहशत है।

आईबी पर रातभर गोलाबारी, ड्रोन से निगरानी

भारत-पाकिस्तान अंतरराष्ट्रीय सीमा (आईबी) पर भी संघर्ष विराम का उल्लंघन जारी है। बृहस्पतिवार रात साढ़े नौ बजे से हीरानगर सेक्टर की चांदवां पोस्ट पर जारी गोलाबारी शुक्रवार अलसुबह साढ़े पांच बजे तक जारी रही। इस दौरान रिहायशी इलाकों को भी निशाना बनाया गया। इसमें दो टीन शेड और पानी टंकी को नुकसान पहुंचा। सेना ने इलाके में ड्रोन से निगरानी की।

तीन हजार बार संघर्ष विराम उल्लंघन कर चुका है पाक

इस साल अब तक पाकिस्तान की तरफ से करीब 3 हजार बार युद्धविराम का उल्लंघन कर चुका है। पाकिस्तान की तरफ से ये फायरिंग एलओसी पर आतंकियों की घुसपैठ और बॉर्डर एक्शन टीम (बैट) की कार्रवाई के इरादे से की जाती है, लेकिन सैन्य सूत्रों ने साफ कर दिया कि पाकिस्तानी सेना को किसी भी कीमत पर फायदा नहीं उठाने दिया जाएगा।

इधर, चीन की अपील, तनाव रोकने के लिए संयम बरतें भारत-पाक

नियंत्रण रेखा पर गोलाबारी की खबरों पर चीन ने पाकिस्तान और भारत से शुक्रवार को अपील की है कि तनाव बढ़ने से रोकने के लिए दोनों देशों को संयम से काम लेना चाहिए। चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता गेंग शुंग ने कहा, हमने संबंधित रिपोर्ट देखी और हम हालात पर नजर रखे हुए हैं। उन्होंने कहा, भारत और पाकिस्तान दोनों का पड़ोसी होने के नाते हम दोनों पक्षों से अपील करते हैं कि कार्रवाई करने में संयम बरतें जिससे तनाव नहीं बढ़े। दोनों देश बातचीत के जरिये विवादों का शांतिपूर्ण समाधान करें और संयुक्त रूप से क्षेत्रीय शांति और स्थिरता को बनाए रखें। पाकिस्तान बुधवार से संघर्षविराम का उल्लंघन कर रहा है।

16-12-2019
समुद्री जहाज से 20 भारतीय नागरिकों का अपहरण, नाईजीरिया के पास की घटना

नई दिल्ली। अफ्रीका के पश्चिमी तट पर नाईजीरिया के पास एक मालवाहक जलयान पर सवार 20 भारतीय नागरिकों का अपहरण कर लिया गया है। यह नागरिक एमटी-ड्यूक पर सवार थे, जो गहरे समुद्र में चल रहा था। विदेश मंत्रालय के अनुसार यह घटना रविवार को हुई। इस वर्ष इस क्षेत्र में भारतीय नागरिकों के अपहरण की यह तीसरी घटना है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार के अनुसार अबुजा में स्थित भारतीय उच्चायोग नाईजीरिया सरकार के संपर्क में है ताकि इन बंधकों को रिहा कराया जा सके। भारतीय राजनयिक आसपास के देशों के संपर्क में भी हैं।

 

16-12-2019
रामकृष्ण शांति मिशन को मिला सम्मान

रायपुर। बेलुड मठ में रामकृष्ण शांति मिशन की 11वीं वार्षिक आम बैठक हुई। बैठक में उपस्थित सभी लोगों ने प्रस्तुत की गई विषय वस्तु की संक्षिप्त जानकारी दी। यह जानकारी स्वामी देवभवानंद ने देते हुए बताया की बैठक के दौरान उत्कृष्ट कार्य करने वालों के लिए सम्मान समारोह भी हुआ। इसमें भारत सरकार के विदेश मंत्रालय द्वारा रामकृष्ण मिशन दक्षिण अफ्रीका में उनके उत्कृष्ट सेवा कार्य के लिए प्रवासी भारतीय सम्मान पुरस्कार प्रदान किया गया।

06-12-2019
सरकार ने किया भगोड़े नित्यानंद का पासपोर्ट रद्द, हाई कमीशनों को किया आगाह

नई दिल्ली। भारत सरकार ने देश छोड़कर फरार हुए रेप आरोपी नित्यानंद का पासपोर्ट रद्द कर दिया है। साथ ही उसकी ओर से दी गई नए पासपोर्ट की अर्जी को भी खारिज कर दिया है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने शुक्रवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर ये जानकारी दी है। रवीश कुमार ने बताया कि मंत्रालय ने विदेशों में स्थित सभी हाई कमीशन को भी नित्यानंद के बारे में सतर्क कर दिया है। उनको जानकारी दे दी गई है कि किस तरह के गंभीर अपराध के मामले उसके खिलाफ चल रहे हैं। गुजरात पुलिस ने पिछले दिनों बताया था कि स्वयंभू बाबा नित्यानंद देश छोड़कर भाग गया है। बताया गया है कि उसने दक्षिण अमेरिका महाद्वीप के मध्य में इक्वाडोर के पास एक द्वीप को खरीदकर उस पर एक नया देश हिंदू राष्ट्र कैलाश बसा दिया है। 

28-11-2019
16 साल बाद पाकिस्तान की जेल से लौटा बेटा, माँ ने कहा - शुक्र है अल्लाह दा

नई दिल्ली। शुक्र है अल्लाह दा, देर नाल ही सही पर मेरा पुत्त घर मुड़ आया। कुछ ऐसा ही कहना था मालेरकोटला के मोहल्ला चाने लौहारां में रहने वाली 80 वर्षीय सदीकन का, जो 16 साल से अपने बेटे के घर वापस आने की राह देख रही थी। पिछले करीब 16 साल से पाकिस्तान की जेल कोटलखपत में बंद मालेरकोटला के मोहल्लाचाने लौहारां के रहने वाले गुलाम फरीद बुधवार को सही सलामत घर लौट आया। अपने बेटे के इंतजार में माता सदीकन का रो-रोकर बुरा हाल था। बुधवार को अपने बेटे से मिलकर उसकी आंखों में चमक साफ दिखाई दे रही थी। बातचीत करते हुए गुलाम फरीद ने बताया कि वह 2003 में अपने रिश्तेदारों को मिलने के लिए पाकिस्तान गया था। लेकिन वहां उसका पासपोर्ट एक्सपायर हो गया और पाकिस्तान सरकार ने 13 साल के लिए जेल भेज दिया। इस दौरान उसका अपने घर वालों के साथ कोई संपर्क नहीं हुआ। ऐसे में उसे लगने लगा कि शायद वह अपने घर कभी जिंदा नहीं लौट पाएगा। लेकिन अमृतसर से सांसद गुरजीत सिंह औजला और मालेरकोटला के कांग्रेस के पूर्व ब्लाक अध्यक्ष बेअंत किंगर के प्रयास से वह अपने परिवार से मिल पाया।

गुलाम फरीद की माता सदीकन ने अपने पुत्र की घर वापसी पर खुशी जाहिर करते हुए कहा कि उन्हें तो ऐसा लगता था कि शायद उसका पुत्र इस दुनिया में है ही नहीं, लेकिन जैसे ही पता चला कि वह पाकिस्तान जेल में बंद है तो उनकी खुशी का कोई ठिकाना न रहा। उसने कहा कि पहले उसे पुत्र की जुदाई में भूख नहीं लगती थी और अब पुत्र के मिलने की खुशी में उसकी भूख मर गई है। कांग्रेस नेता बेअंत किंगर ने बताया कि उन्हें जब केस के बारे में पता लगा तो उन्होंने अमृतसर से सांसद गुरजीत सिंह औजला के साथ संपर्क किया, जिन्होंने उनकी बैठक विदेश मंत्रालय के साथ कराई और मामले का समाधान हो पाया। उन्होंने बताया कि गुलाम की सभी सरकारी कार्रवाई पूरी होने के बाद उसे पाकिस्तान सरकार की तरफ से 5 अगस्त 2019 को जीरो लाइन पर हिंद सरकार को सौंपने के लिए लाया गया था, लेकिन बदकिस्मती से उस दिन कश्मीर में से धारा 370 हटाए जाने के कारण गुलाम फरीद को दोबारा पाकिस्तान वापस कर दिया गया। गुलाम फरीद की घर वापसी की सूचना मिलते ही उसके रिश्तेदारों, दोस्तों और मोहल्ला निवासियों का उसके घर तांता लगा था। 

11-11-2019
पाकिस्तान की जेल में बंद है छत्तीसगढ़ का युवक, गृह मंत्री बोले करेंगे हरसंभव मदद

रायपुर। प्रदेश के जांजगीर-चांपा जिले का युवक पाकिस्तान की इस्लामाबाद जेल में कैद है, इस बात का पता चलते ही युवक के परिवार वालों ने रिहाई के लिए विदेश मंत्रालय में गुहार लगानी शुरू कर दी है। इस संबंध में सोमवार को मिलिये मंत्री से कार्यक्रम में राजीव भवन पहुंचे छत्तीसगढ़ के गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू ने मीडिया से चर्चा के दौरान एक सवाल के जवाब में कहा कि यह दूसरे देश का मामला है, इसे हमारे देश का विदेश मंत्रालय देखेगा और इस पर प्रयास भी करेगा। इस संबंध में हमारे लायक या हमसे जो सहयोग युवक के परिवार को चाहिए, हमारी सरकार मदद करने के लिए सदैव तैयार रहेगी। बता दें कि जांजगीर-चांपा जिले के मालखरौदा क्षेत्र के पिहरीद गांव के सम्मेलाल जाटवर, अपने परिवार के साथ वर्ष 2014 में जम्मू के नवाशहर के ईंट भट्ठे में रोजगार के लिए गया था। इस दौरान सम्मेलाल का 19 साल का बेटा घनश्याम जाटवर 14 अप्रैल 2014 को लापता हो गया था। युवक की काफी खोजबीन की गई, लेकिन उसका कहीं पता नहीं चला था। उस दौरान युवक के बगैर ही परिवार वापस अपने गांव लौटा था। परिवार को जानकारी मिली थी कि युवक को अमृतसर में बॉर्डर के पास फौजियों ने पकड़ा था और उसे कैंप में रखा गया। परिजन जब वहां पहुंचे तो कैंप से बताया गया कि बॉर्डर पार जाने के संदेह में उसे पकड़ा गया था, लेकिन बाद में पूछताछ कर छोड़ दिया गया था।
परिवार को जब पता चला कि युवक अमृतसर के रास्ते बॉर्डर पार कर पाकिस्तान चला गया, तब से पूरा परिवार सदमे में आ गया। युवक के परिवार को करीब तीन माह पूर्व मालखरौद थाने से जानकारी मिली थी कि घनश्याम पाकिस्तान की इस्लामाबाद जेल में बंदी है। इस खबर को पाकर परिवार के चेहरे में जहां एक ओर खुशियां लौटी तो वहीं दूसरी ओर बेटे के पाकिस्तान की जेल में कैद होने की खामोशी। बहरहाल परिवार अपने बेटे की रिहाई के लिए हरसंभव प्रयास कर रहा है। इसको लेकर स्थानीय सांसद से भी मिल चुका है, सांसद ने विदेश मंत्रालय को चिठ्ठी भी लिखी, लेकिन अभी तक जवाब नहीं मिला है।

Advertise, Call Now - +91 76111 07804